Featured Posts

रावण कह रहा तुम मुझे यूँ जला ना पाओगे!रावण कह रहा तुम मुझे यूँ जला ना पाओगे! फर्रुखाबाद:श्रीराम लीला द्वारा मंचन चल रहा है| जिसके तहत विजय दशमी को रावण के वध के साथ ही उसका पुतला दहन होना है| पुतला बनाने वालों ने पुतले बनाकर तैयार कर मेला मैदान में लगा भी दिये है| बीते कई दिनों से कानपुर के ठेकेदार के द्वारा बनाये जा रहे रावण, कुम्भकरण व मेघनाथ के विशालकाय...

Read more

जिला जेल में सियाराम का हुआ वनवासजिला जेल में सियाराम का हुआ वनवास फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)बीते लगभग पांच दिनों से जिला जेल में चल रही राम लीला जनपद में चर्चा का विषय बनी हुई है| आपराधिक मानसिकता के लोगों में अध्यात्म की गंगा बहाने का काम किया जा रहा है| जिसके चलते यह जिला जेल में पहली अनोखी पहल है| जो बंदियों में सकारात्मक ऊर्जा का संचार...

Read more

450 वर्षों के बाद इलाहाबाद को मिला अपना पुराना नाम450 वर्षों के बाद इलाहाबाद को मिला अपना पुराना नाम नई दिल्‍ली:संगम नगरी इलाहाबाद को 450 वर्षों के बाद आखिरकार अपना पुराना नाम वाप‍स मिल गया। कभी मुगल शासक सम्राट अकबर ने इसका नाम बदलकर प्रयागराज से इलाहाबाद (अल्‍लाहबाद) किया था। पुराणों में प्रयागराज का कई जगहों पर जिक्र मिलता है। रामचरित मानस में इलाहाबाद को प्रयागराज...

Read more

सीएमओं ने खड़े होकर जलवा दी लाखों की दवाएंसीएमओं ने खड़े होकर जलवा दी लाखों की दवाएं फर्रुखाबाद:सीएमओ कार्यालय के निकट परिवार नियोजन से सम्बन्धित करोड़ो रूपये की दवा व प्रचार सामिग्री सीएमओं अरुण उपाध्याय की मौजूदगी में आग के हवाले कर दी गयी| इस काम को अंजाम सीएमओ कार्यालय के पूर्व शोध अधिकारी अनिल कटियार निवासी नेकपुर चौरासी ने दिया| अनिल कटियार ने बताया...

Read more

पति के दोस्तों ने नकदी जेबरात चोरी कर महिला की इज्जत लूटीपति के दोस्तों ने नकदी जेबरात चोरी कर महिला की इज्जत लूटी फर्ररूखाबाद:बीती रात एक सनीखेज मामला सामने आया है| घर आये पति के दोस्तों ने महिला के साथ गैंग रेप कर उसके घर से नकदी व जेबरात चोरी कर लिये| घटना के सम्बन्ध में पुलिस को तहरीर दी गयी| पुलिस ने जाँच पड़ताल शुरू कर महिला को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया| थाना मऊदरवाजा क्षेत्र...

Read more

खड़े होकर पानी पीते हैं? तो जान लीजिए गंभीर नुकसानखड़े होकर पानी पीते हैं? तो जान लीजिए गंभीर नुकसान डेस्क: यह तो हम सभी जानते हैं कि पूरे दिन में 8 से 10 गिलास पानी पीना हमारे अच्छे स्वास्थ्य के लिए कितना जरूरी होता है। लेकिन आपको यह नहीं पता होगा कि जिस पोजीशन में आप पानी पीते हैं उसका भी आपकी सेहत पर असर पड़ता है। आपके बड़े-बुजुर्ग हमेशा से कहते आए होंगे कि बैठ कर शांति से पानी...

Read more

करवाचौथ पर शुक्र अस्त होने के कारण इस बार नहीं होगा व्रत का उद्यापनकरवाचौथ पर शुक्र अस्त होने के कारण इस बार नहीं होगा व्रत का... नई दिल्ली:वर्ष करवाचौथ 27 अक्टूबर को है। कार्तिक कृष्ण चतुर्थी को करवाचौथ का व्रत किया जाता है। सुहागिन महिलाओं के लिए इस व्रत का विशेष महत्व है। करवाचौथ के दिन विवाहित महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं। कई संप्रदायों में कुवांरी कन्याएं भी अच्छे पति की...

Read more

पुलिस की पिटाई से बीजेपी समर्थक की मौत पर बबाल,लगाया जामपुलिस की पिटाई से बीजेपी समर्थक की मौत पर बबाल,लगाया जाम फर्रुखाबाद: साथी के साथ गये युवक से पुलिस ने युवक से मारपीट कर दी| जिससे उसकी मौत हो गयी| आक्रोशित भीड़ ने परिजनों के साथ जाम लगाकर जमकर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की| मौके पर पंहुचे एएसपी ने कार्यवाही का भरोसा दिया| जिसके बाद जाम खोला जा सका| शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला दरीवा...

Read more

स्कूल बैन की गैस से मासूम छात्रों की हालत बिगड़ीस्कूल बैन की गैस से मासूम छात्रों की हालत बिगड़ी फर्रुखाबाद:(मेरापुर/नबावगंज) विधालय बच्चो को लेकर जा रही बैन की गैस निकलने से उसमे बैठे कई मासूम छात्र-छात्राओं की हालत बिगड़ गयी| ग्रामीणों का आक्रोश देख बैन का चालक मौके से खिसक गया| जिसके बाद मौके पर पंहुचे एसपी ने जाँच पड़ताल कर कार्यवाही के निर्देश दिये|जिसके बाद विधालय...

Read more

श्रीराम की बारात में श्रद्धालु हुये भावविभोरश्रीराम की बारात में श्रद्धालु हुये भावविभोर फर्रुखाबाद:श्री राम विवाह की शोभायात्रा में सभी बरातियो ने जमकर लुफ्त उठाया| वही राम-सिया के विवाह मंचन से बारात तक के कार्यक्रम में सभी मनोहारी झाँकियो को देख कर श्रद्धालु भावविभोर हो गये| राम बारात में जैसे ही श्री राम के गले में सीता जी ने वरमाला डाली तो रामचरित मानस...

Read more

समाजवादी पार्टी का जनाधार खिसकते देख बौखला रहे अखिलेश:शिवपाल

0

Posted on : 19-10-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BJP

इटावा:समाजवादी पार्टी से किनारा करने के बाद समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन करने वाले शिवपाल सिंह यादव ने निर्वाचन आयोग में अपनी नई पार्टी का पंजीकरण कराया है। इनकी पार्टी का पंजीकरण प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के नाम से हो गया है। अब शिवपाल सिंह यादव ने प्रदेश में अपनी जिला इकाइयों का गठन भी शुरू कर दिया है।
इटावा में शिवपाल सिंह यादव ने आज सेक्युलर मोर्चा कार्यालय का उद्घाटन किया। इस दौरान सपा अध्यक्ष तथा पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के समाजवादी सेक्युलर मोर्चा को भाजपा की बी पार्टी बताने पर शिवपाल ने कहा कि वह खिसियाहट में बौखलाए हुए हैं। उनका तो जनाधार खिसक रहा है, सभी वर्ग के लोग हमारे साथ है। शिवपाल सिंह यादव इतने पर ही नहीं रुके। उन्होंने कहा नेता जी मुलायम सिंह यादव को पहले कोई नहीं पूछ रहा था। अब तो उन्हें सम्मान मिलने लगा है।
शिवपाल ने इस दौरान अमर सिंह और आजम खान पर टिप्पणी करने से मना किया। उन्होंने कहा कि वह लोग स्वतंत्र है, हमारी सीधी लड़ाई तो भाजपा से है। भाजपा से बड़ी-बड़ी मदद मिलने पर शिवपाल ने कहा कि कहा कि अभी तक भाजपा ने कोई मदद नहीं की है।
प्रदेश में तो सिर्फ सेक्युलर मोर्चा ही भाजपा से लड़ रहा है इसलिए हम पर इस तरह का आरोप लग रहा है। भविष्य में महागठबंधन में शामिल होने पर उन्होंने कहा कि अगर हमारे पास ऑफर आता है तो इस पर हम जरूर विचार करेंगे।दशहरा के दिन आज पार्टी के ऑफिस का उद्घाटन करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि बुराई पर अच्छाई की जीत के दिन आज कार्यालय के शुभारंभ किया है। हम सभी साथियों को बुराई से लडऩा है। शिवपाल यादव ने कहा कि उनकी पार्टी का रजिस्ट्रेशन हो गया है पार्टी का नया नाम प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) होगा। अगले लोकसभा चुनाव में बगैर हमारे केंद्र में कोई सरकार नहीं बन पाएगी। 2022 में प्रदेश में हमारी सरकार बनेगी हर आदमी को न्याय दिलाया जाएगा।

यूपी व उत्तराखंड के पूर्व सीएम एनडी तिवारी का जन्मदिन के दिन ही निधन

0

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी का निधन हो गया| नारायण दत्त तिवारी का निधन दिल्ली के मैक्स अस्पताल में हुआ| वह 93 साल के थे| एनडी तिवारी बीते एक साल से बीमार चल रहे थे| वह तीन बार उत्तरप्रदेश और एक बार उत्तराखंड के सीएम रहे| वह आंध्र प्रदेश के राज्यपाल भी रह चुके हैं| इसके अलावा वह केंद्र में वित्त और विदेश मंत्री भी रह चुके हैं. आज ही एनडी तिवारी का जन्मदिन भी था. एनडी तिवारी का जन्म 18 अक्टूबर 1925 को हुआ था और संयोगवश उनका निधन भी 18 अक्टूबर को ही हुआ. वह इकलौते ऐसे शख्स थे, जो दो राज्यों के मुख्यमंत्री पद पर रह चुके हैं. डॉक्टरों ने बताया कि एनडी तिवारी का निधन दोपहर दो बजकर 50 मिनट पर हुआ. उन्हें 26 अक्टूबर को अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में भर्ती कराया गया था. वह बुखार और निमोनिया से पीड़ित थे.
कौन हैं एनडी तिवारी
एनडी तिवारी ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से राजनीतिशास्त्र में एमए किया. उन्होंने एमए की परीक्षा में विश्वविद्याल में टॉप किया था. बाद में उन्होंने इसी विश्वविद्यालय से एलएलबी की डिग्री भी हासिल की. 1947 में आजादी के साल ही एनडी तिवारी इस विश्वविद्यालय में छात्र यूनियन के अध्यक्ष चुने गए. यह उनके सियासी जीवन की पहली सीढ़ी थी. आजादी के बाद 1950 में उत्तर प्रदेश के गठन और 1951-52 में प्रदेश के पहले विधानसभा चुनाव में तिवारी ने नैनीताल (उत्तर) सीट से सोशलिस्ट पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर हिस्सा लिया.
1965 में कांग्रेस के टिकट पर जीते
कांग्रेस की हवा के बावजूद वे चुनाव जीत गए और पहली विधानसभा के सदस्य के तौर पर सदन में पहुंच गए. यह बेहद दिलचस्प है कि बाद के दिनों में कांग्रेस की सियासत करने वाले तिवारी की शुरुआत सोशलिस्ट पार्टी से हुई. 431 सदस्यीय विधानसभा में तब सोशलिस्ट पार्टी के 20 लोग चुनकर आए थे. कांग्रेस के साथ तिवारी का रिश्ता 1963 से शुरू हुआ. 1965 में वह कांग्रेस के टिकट पर काशीपुर विधानसभा क्षेत्र से चुने गए और पहली बार मंत्रिपरिषद में उन्हें जगह मिली. कांग्रेस के साथ उनकी पारी कई साल चली.
1976 को पहली बार सीएम बने
1968 में जवाहरलाल नेहरू युवा केंद्र की स्थापना के पीछे उनका बड़ा योगदान था. 1969 से 1971 तक वे कांग्रेस की युवा संगठन के अध्यक्ष रहे. एक जनवरी 1976 को वह पहली बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने. यह कार्यकाल बेहद संक्षिप्त था. 1977 के जयप्रकाश आंदोलन की वजह से 30 अप्रैल को उनकी सरकार को इस्तीफा देना पड़ा. तिवारी तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे. वह अकेले राजनेता हैं जो दो राज्यों के मुख्यमंत्री रह चुके हैं. उत्तर प्रदेश के विभाजन के बाद वे उत्तरांचल के भी मुख्यमंत्री बने. केंद्रीय मंत्री के रूप में भी उन्हें याद किया जाता है.
प्रधानमंत्री पद की भी थी दावेदारी
1990 में एक वक्त ऐसा भी था जब राजीव गांधी की हत्या के बाद प्रधानमंत्री के तौर पर उनकी दावेदारी की चर्चा भी हुई. आखिरकार कांग्रेस के भीतर पीवी नरसिंह राव के नाम पर मुहर लग गई. बाद में तिवारी आंध्रप्रदेश के राज्यपाल बनाए गए, लेकिन यहां उनका कार्यकाल बेहद विवादास्पद रहा.
आपत्तिजनक वीडियो से हुई थी छीछालेदर
वर्ष 2009 में जब एनडी तिवारी आंध्र प्रदेश के राज्यपाल थे, उस दौरान उनका एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में थे. इस पर काफी किरकिरी होने पर कांग्रेस ने एनडी तिवारी को हाशिए पर डाल दिया. तिवारी इकलौते ऐसे नेता रहे, जिन्हें दो राज्यों का मुख्यमंत्री बनने का मौका मिला. यूपी से जहां तीन बार तो उत्तराखंड के पहले मुख्यमंत्री रहे.
जब बना ली थी अलग पार्टी
इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रसंघ अध्यक्ष बनने के बाद से राजनीति में उतरे नारायण दत्त तिवारी ने लंबा राजनीतिक सफर तय किया. उद्योग, वाणिज्य, पेट्रोलियम और वित्त मंत्री रहने के साथ योजना आयोग के उपाध्यक्ष भी रहे. केंद्र सरकार में लंबी भूमिकाएं निभाईं. वर्ष 1995 में नाराजगी के चलते एनडी तिवारी ने कांग्रेस छोड़कर अलग पार्टी बना ली थी. हालांकि सफल न होने पर दोबारा उन्होंने घर वापसी की.
केस होने पर माना बेटा
वर्ष 2008 में रोहित शेखर ने उन्हें जैविक पिता बताते हुए कोर्ट में मुकदमा कर दिया था. जिस पर कोर्ट ने डीएनए टेस्ट कराने का आदेश दिया तो एनडी तिवारी ने अपना नमूना ही नहीं दिया. बाद में कोर्ट के आगे नतमस्तक होते हुए एनडी तिवारी ने जहां रोहित को अपना कानूनी रूप से बेटा मानते हुए संपत्ति का वारिस बनाया, वहीं उज्जवला से 88 साल की उम्र में शादी की. दरअसल उज्जवला से एनडी तिवारी के पुराने प्रेम संबंध रहे, मगर उन्होंने शादी नहीं की थी.
89 साल की उम्र में उज्ज्वला से की शादी
पितृत्व विवाद में फंसने के बाद रोहित शेखर को अपना बेटा मानने वाले उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वरिष्ठ कांग्रेस नेता नारायण दत्त तिवारी ने रोहित की मां उज्ज्वला शर्मा से विधिवत विवाह कर लिया. तिवारी के स्टाफ के एक सदस्य ने नाम उजागर न करने की शर्त पर आज यहां बताया कि 89 वर्षीय तिवारी ने लखनऊ स्थित अपने आवास पर उज्ज्वला से विधिवत विवाह कर लिया. उज्ज्वला रोहित शेखर की मां है, जिन्होंने तिवारी से पितृत्व के दावे को लेकर अदालत की लड़ाई लड़ी थी और उसमें उन्हें जीत हासिल हुई थी. उसके बाद तिवारी ने रोहित को सार्वजनिक रूप से अपना बेटा मान लिया था. पितृत्व विवाद सुलझने के बाद उज्ज्वला शुरुआती गतिरोध के बाद हाल में तिवारी के लखनउ स्थित घर में रहने लगी थीं| तिवारी तीन बार उत्तर प्रदेश के जबकि एक बार उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री रह चुके हैं. वह विदेश मंत्री का पद भी संभाल चुके हैं. वर्ष 2007 से 2009 के बीच आंध्र प्रदेश के राज्यपाल भी रहे, लेकिन सेक्स स्कैंडल में फंसने के बाद उन्हें पद छोड़ना पड़ा था.

शिवपाल का सरकारी आवास में विधिवत पूजन कर गृह प्रवेश

0

Posted on : 17-10-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa

लखनऊ:समाजवादी सेकुलर मोर्चा के संयोजक शिवपाल सिंह यादव ने आज महाष्टमी के मौके पर अपने परिवार और समर्थकों समेत नए सरकारी आवास 6 लालबहादुर शास्त्री पर में गृह प्रवेश किया। इससे पहले शिवपाल ने सरकार की तरफ से आवंटित आवास पर पूजा-अर्चना की। शिवपाल अपने इस बंगले का इस्तेमाल पार्टी दफ्तर के तौर पर करेंगे। शिवपाल बड़ी संख्या में पंथ निरपेक्ष, समाजवादी, गांधीवादी, लोहियावादी और चौधरी चरण सिंह की विचारधारा वाले छोटे-छोटे दलों के संपर्क में हैं।
समान विचारधारा वाले दलों से संपर्क
इस मौके पर शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता का विश्वास बहुत से दलों से उठ गया है। इसलिए हमने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाया है। इसी बंगले से बैठकर हम काम करेंगे और यहीं पर हम लोगों से मिलेंगे। उन्होंने कहा कि समान विचारधारा वाले दलों से हमारा संपर्क हो चुका है। जिन लोगों को भी सम्मान नहीं मिल रहा है और चुपचाप घरों में बैठे हैं। बहुत से लोग समाजवादी विचारधारा के हैं। बहुत से गांधी विचारधारा के हैं। बहुत से लोहिया की विचारधारा के हैं। कोई चौधरी चरण सिंह की विचारधारा का हैं। उन सब से हम संपर्क कर रहे हैं। महागठबंधन के सवाल पर शिवपाल यादव ने कहा कि महागठबंधन में शामिल होने के लिए हम विचार करेंगे। अगर गठबंधन में हमें शामिल किया जाएगा तो हम उस पर जरूर विचार करेंगे।
भतीजे पर भी निशाना
शिवपाल यादव ने भतीजे अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी बनाने में मेरा उनसे ज्यादा योगदान है। हम ही समाजवादी पार्टी हैं और हम सेकुलर भी हैं। समाजवादी सेकुलर मोर्चा को भाजपा की बी टीम कहे जाने पर शिवपाल ने कहा कि जहां-जहां चुनाव हो रहे हैं वहां समाजवादी पार्टी की हैसियत क्या है पता चल जाएगा।
नेताजी का आशीर्वाद सदा साथ रहेगा
शिवपाल यादव ने दावा किया कि उन्होंने मुलायम सिंह यादव के आशीर्वाद से ही समाजवादी सेकुलर मोर्चा बना बनाया है। नेताजी का आशीर्वाद हमारे साथ हमेशा रहा है और आगे भी रहेगा। शिवपाल यादव ने दावा किया कि 2019 के लोकसभा चुनाव में समाजवादी सेकुलर मोर्चा के बिना केंद्र में कोई सरकार नहीं बनेगी। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव में हमारा जलवा दिखेगा।

प्रभारी मंत्री का जनपद भ्रमण कार्यक्रम निरस्त

0

फर्रुखाबाद:जनपद में बुधवार को प्रभारी मंत्री का कार्यक्रम आयोजित होने वाला था| जिसके चलते उनके द्वारा ही जिला ओडीएफ घोषित किया जाता| लेकिन अचानक उनका कार्यक्रम आयोजित होने से पूर्व ही निरस्त हो गया|
सूबे की योगी सरकार के खेल मंत्री व जिले के प्रभारी मंत्री चेतन चौहान का जनपद में कार्यक्रम आ गया था| जिसके तहत 10:15 बजे सुबह 17 अक्टूबर को निरीक्षण भवन जाना था| जिसके बाद आयुष्मान योजना के तहत वह लाभार्थियों को कार्ड का वितरण करना था| जिसके बाद वह समीक्षा बैठक भी लेते| लेकिन अचानक मंगलवार शाम को मंत्री का पत्र जिला मुख्यालय पर आ गया| जिसमे उन्होंने कार्यक्रम में ना आ पाने की पुष्टि की है|

सेक्युलर मोर्चा से फर्क नहीं,कई है भाजपा की एबीसी पार्टी

0

Posted on : 15-10-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa

कानपुर:चाचा शिवपाल यादव के सेक्युलर मोर्चा व राजा भैया के दूसरी पार्टी बनाने की सक्रियता पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सीधे तो नहीं बोले लेकिन इशारों इशारों में बहुत कुछ कह गए। कहा कि भाजपा की अभी कितनी बी, सी और डी पार्टियां आएगी लेकिन हम इसकी परवाह नहीं करते हैं। बिहार में यशवंत सिंहा और शत्रुघ्न सिन्हा संपूर्ण क्रांति की बात कह रहे है। यही स्थिति जेपी आंदोलन के समय भी थी और तबभी महंगाई व बेरोजगारी चरम पर थी। तब संपूर्ण क्रांति का नारा दिया गया था लेकिन इस बार
कानपुर में सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम के बेटे के विवाह समारोह में पत्रकारों से वार्ता में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि गंगा सफाई पर केवल तारीख पर तारीख सरकार बदल रही। स्वामी सानंद को गंगा सफाई के लिए सरकार को जगाते हुए अपने प्राण देने पड़े लेकिन भाजपा सरकार सो ही रही है। सपा शासनकाल में लखनऊ में गोमती रिवर फ्रंट बना और गोमती को साफ किया गया।
यहां भी सपा सरकार की ऐसी योजना थी लेकिन भाजपा सरकार आने के बाद से कुछ न हुआ। बिना सहायक नदियों को साफ किए और नालों का गंगा में गिरना बंद किए, इसे साफ नहीं किया जा सकता है। गंगा सफाई के नाम पर केवल भाजपा सरकार उद्योगों को बंद कर रही। उद्योग बंद कर गंगा सफाई की बात की जा रही है। उद्योग व व्यापार आज चौपट हो चुका है।
गोबर वाला स्मार्ट सिटी बना कानपुर
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि कानपुर शहर केवल गोबर वाला स्मार्ट सिटी बनकर रह गया है। भाजपा सरकार ने शहर का बेड़ागर्क करके रखा है। सपा सरकार ट्रांस गंगा सिटी बना रही थी लेकिन भाजपा सरकार ने शहर में स्मार्ट सिटी बना दी वह भी अजब गजब। हर तरफ गोबर, गंदगी, गडढे नजर आते है, ट्रैफिक तो यहां चलता ही नहीं। धूल और धुंआ हर तरफ उड़ता है। शहर में गंगा सबसे ज्यादा मैली है लेकिन भाजपाइयों को नजर नहीं आता है। लखनऊ में मेट्रो सपा सरकार ने बनाई यहां भी शुरुआत की थी लेकिन भाजपा सरकार आने के बाद मेट्रो का काम ठंडा पड़ा है।
अद्र्धकुंभ को बता दिया कुंभ
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार ने तो इलाहाबाद में कुंभ को ही बदल दिया। अद्र्धकुंभ को कुंभ बता दिया है। भाजपा ने तो सिर्फ धोखा दिया, किस किसको धोखा देंगे। कन्नौज के राजा ने कुंभ में सबसे बड़ा योगदान दिया था लेकिन भाजपा ने कुंभ में उनके नाम के लिए कुछ नहीं सोचा।
चीन से ला रहे पटेल प्रतिमा बनाने को लोहा
सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि गुजरात में बनाई गई सरदार पटेल की प्रतिमा चीन से लाए लोहे से बनाई गई है। एक तरफ चीन हमपर आंख तरेर रहा और उससे मुकाबले की बात करते हैं लेकिन दूसरी तरफ चीन से ठेकेदार के साथ ही सामान आ रहा है। भाजपा ने देशभर में प्रतिमा के नाम पर लोहा एकत्र किया लेकिन लोहा चीन से मंगाया गया। गुजरात में उत्तर भारतीयों को भगाया जा रहा है और प्रधानमंत्री मोदी चुप्पी साधे हुए हैं।

[bannergarden id="12"]