Featured Posts

नगर में जगह-जगह पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलिनगर में जगह-जगह पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि फर्रुखाबाद: पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजेपयी की मौत की खबर से पूरा देश शोक में है| जिसके चलते उनके चाहने वालों ने जगह-जगह अपने तरीके से श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया| कुछ कार्यकर्ताओं ने रेत पर अटल आकृति को उकेर कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की| भाजपा युवा मोर्चा के द्वारा...

Read more

पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने एम्स में ली अंतिम सांसपूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने एम्स में ली अंतिम सांस नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया है। वह 93 साल के थे। अटल जी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वाजपेयी को सांस लेने में परेशानी, यूरीन व किडनी में संक्रमण होने के कारण 11 जून को एम्स में भर्ती किया गया था। 15 अगस्‍त को उनकी तबीयत काफी बिगड़ गई थी, जिसके...

Read more

पीएम मोदी का 72वें स्‍वतंत्रता दिवस पर पूरा भाषण पढ़ेपीएम मोदी का 72वें स्‍वतंत्रता दिवस पर पूरा भाषण पढ़े नई दिल्‍ली:72 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री ने कई सारी बातें कहीं। इनमें से कुछ आपको याद रह गई होंगी तो कुछ को अाप भूल गए होगे। लेकिन यहां पर हम आपको उनका दिया पूरा भाषण दे रहे हैं। आज देश एक आत्‍मविश्‍वास से भरा हुआ है। सपनों को संकल्‍प...

Read more

स्वतंत्र रहने के लिये स्वास्थ्य व स्वच्छ होना जरूरी: डीएमस्वतंत्र रहने के लिये स्वास्थ्य व स्वच्छ होना जरूरी: डीएम फर्रुखाबाद:पूरे जनपद में स्वतन्त्रता दिवस बड़ी ही धूमधाम के साथ मनाया गया| सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों में ध्वजारोहण कर मिष्ठान वितरण किया| जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट व एसपी अतुल शर्मा ने पुलिस ने ध्वजारोहण किया| जिलाधिकारी ने कहा की स्वतंत्रता के साथ ही साथ हमे स्वास्थ्य...

Read more

यूपी में शिक्षक भर्ती परीक्षा में 68500 पदों में 41556 अभ्यर्थी उत्तीर्ण इलाहाबाद:परिषदीय स्कूलों की सहायक अध्यापक भर्ती 2018 की लिखित परीक्षा का परिणाम सोमवार को जारी हो गया है। इसमें 41556 अभ्यर्थी सफल घोषित हुए हैं। यह परिणाम सामान्य व पिछड़ा वर्ग के लिए 45 और अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति के लिए 40 फीसद उत्तीर्ण प्रतिशत के आधार पर जारी किया गया...

Read more

15 दिसंबर के बाद गंगा नदी में नहीं गिरेगा कोई नाला: सीएम योगी15 दिसंबर के बाद गंगा नदी में नहीं गिरेगा कोई नाला: सीएम योगी कानपुर:देश की जीवन दायिनी गंगा नदी को स्वच्छ तथा निर्मल बनाने का काम प्रदेश के साथ केंद्र सरकार की प्राथमिकता में है। आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कानपुर में नमामि गंगे के तहत हो रहे काम की समीक्षा की। इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ...

Read more

बेलपत्र आपके लिये देता सात गुणकारी लाभ पढ़ेंबेलपत्र आपके लिये देता सात गुणकारी लाभ पढ़ें फर्रुखाबाद: बिल्वपत्र जिसे बेलपत्र का प्रयोग खास तौर से भगवान शिव के पूजन अभिषेक में किया जाता है। लेकिन अगर इसे औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाए तो यह आपकी कई सेहत समस्याओं का बेहतरीन इलाज साबित हो सकता है। यकीन नहीं आता तो बेलपत्र से होने वाले सेहत के इन 5 फायदों को जरूर...

Read more

स्वतंत्रता दिवस के रंग में रंगा तिरंगे का बाजारस्वतंत्रता दिवस के रंग में रंगा तिरंगे का बाजार फर्रुखाबाद:स्वतंत्रता दिवस को लेकर लोगों में उत्साह देखते ही बनता है। हर कोई आजाद हिन्द के इस गौरवमयी शौर्य दिवस को धूमधाम से मनाने को आतुर है। बाजार भी स्वतंत्रता दिवस से पहले रंग बिरंगे रूप में सजा हुआ है। शहर का परंपरागत बाजार में आकर्षक रूप में दिखाई दे रहा है। छोटी...

Read more

राजू पाण्डेय हत्याकांड में जाँच के लिये एसटीएफ ने डाला डेराराजू पाण्डेय हत्याकांड में जाँच के लिये एसटीएफ ने डाला डेरा फर्रुखाबाद:बीती 10 अगस्त की सराफा व्यापारी राजू पाण्डेय की हत्या किये जाने के मामले में पुलिस अभी तक किसी ठोस नतीजे पर नही पंहुच सकी है| पुलिस सीसीटीवी फुटेज को वायरल कर आरोपियों तक पंहुचने का प्रयास कर रही है| वही घटना को लेकर पूरे जिले में खौफ का माहौल बना हुआ है| पता चला...

Read more

राजू पाण्डेय हत्याकांड: दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज,एक का सीसीटीवी फुटेज जारीराजू पाण्डेय हत्याकांड: दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज,एक का सीसीटीवी... फर्रुखाबाद: बीती रात गोली मारकर मौत के घाट उतारे गये सराफा व्यापारी का शनिवार को पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया| वही देर रात ही पुलिस ने दो अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर एक आरोपी का सीसीटीवी फुटेज भी जारी कर दिया है| पुलिस उसकी तलाश में जुटी है| शहर कोतवाली क्षेत्र...

Read more

15 दिसंबर के बाद गंगा नदी में नहीं गिरेगा कोई नाला: सीएम योगी

0

Posted on : 13-08-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, LUCKNOW, Politics, Politics-BJP, जिला प्रशासन

कानपुर:देश की जीवन दायिनी गंगा नदी को स्वच्छ तथा निर्मल बनाने का काम प्रदेश के साथ केंद्र सरकार की प्राथमिकता में है। आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कानपुर में नमामि गंगे के तहत हो रहे काम की समीक्षा की। इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्त तेवर दिखाए और साफ कहा कि 15 दिसंबर के बाद गंगा नदी में कोई भी नाला नहीं गिरेगा। सूबे में कहीं से भी इस मामले में शिकायत मिलने पर कोई भी दोषी छोड़ा नहीं जाएगा।
कानपुर में गंगा नदी के सफाई का हाल जानने आज प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी आज कानपुर में थे। सीएम योगी आदित्यनाथ और भूतल परिवहन एवं जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने भैरोघाट पर सीसामऊ नाले को टैप करने के कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने जल निगम के अफसरों से प्रोजेक्ट के बारे में जाना। मुख्यमंत्री ने महाप्रबंधक से कहा वे हर हाल में निर्धारित अवधि में नाले को टैप कर दें। किसी भी कीमत पर 15 दिसंबर के बाद गंगा नदी में कोई भी नाला नहीं गिरना चाहिए। कुंभ का पहला स्नान 15 जनवरी को प्रयागराज में होगा। देश व दुनिया से करोड़ों लोग यहां आएंगे। सभी के स्वागत के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। उसके लिए हम सुनिश्चित करेंगे कि गंगा जी से जुड़ी सभी परियोजनाओं को समय से पूरा कर लिया जाए।
सीएम ने कहा कि अन्य नालों को भी टैप करने का कार्य अतिशीघ्र शुरू करा दें। इससे पहले उन्होंने गंगा बैराज पर नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत हो रहे घाट के निर्माण का कार्य देखा। इस समय गंगा नदी का जलस्तर बढ़ जाने के कारण वहां काम रुका पड़ा है। इस अवसर पर उनके साथ औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना भी उपस्थित रहे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही भूतल परिवहन एवं जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने भैरोघाट पर सीसामऊ नाले को टैप करने के कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने जल निगम के अफसरों से प्रोजेक्ट के बारे में जाना। शहर में नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत कुल कितने नाले टैप हो रहे हैं इसकी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि अन्य नालों को भी टैप करने का कार्य अतिशीघ्र शुरू करा दें।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी कानपुर पहुंचे। उन्होंने गंगा बैराज पर नमामि गंगे के कार्य का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में थोड़ा बदलाव किया गया है पहले उन्हें जनसभा को संबोधित करना था लेकिन सबसे पहले गंगा बैराज पहुंचे। नमामि गंगे प्रोजेक्ट की समीक्षा में कानपुर, इलाहाबाद, वाराणसी, मुरादाबाद, और गाजियाबाद के अधिकारी भाग लेंगे। समीक्षा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व नितिन गडकरी के साथ उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना और सांसद डॉ. मुरली मनोहर जोशी भी होंगे। यहां गंगा स्वच्छता में सहभागिता के लिए नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा के तहत गठित की गई सेना की गंगा टास्क फोर्स की लांचिंग की जाएगी। यहां जनसभा भी होगी, जिसमें पांच हजार लोगों के बैठने का इंतजाम किया गया है।
सीएसए में आयोजित जनसभा से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने गंगा स्वच्छता टास्क फोर्स का शुभारंभ किया। इस टास्क फोर्स में सेना के जवान शामिल किए गए हैं जो गंगा की स्वच्छता के लिए कार्य करेंगे। उनमें पड़ने वाला कचरा निकालेंगे। साथ ही विभिन्न शहरों में जन जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को गंगा की निर्मलता के प्रति जागरूक करेंगे। मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री ने नमामि गंगे योजना के तहत बने घाटों का लोकार्पण किया। शहर के लोगों को गंगा की स्वच्छता के लिए आगे आने की अपील मुख्यमंत्री ने की।
उधर मुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाने की तैयारी कर रहे सपा नेताओं को पुलिस ने उनके घरों में ही कैद कर लिया। सपा विधायक अमिताभ बाजपेयी को भी पुलिस ने नजरबंद किया। कुछ सपा कार्यकर्ता काले झंडे लेकर कानपुर विकास प्राधिकरण तक पहुंचे हालांकि पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया।

राजभवन के सामने दिनदहाड़े कैश वैन से 20 लाख लूट,गार्ड की हत्या

0

Posted on : 30-07-2018 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, LUCKNOW, POLICE, जिला प्रशासन

लखनऊ:मुख्यमंत्री आवास तथा राजभवन से चंद कदम की दूरी पर आज लखनऊ में बदमाशों ने बड़ी वारदात को अंजाम दिया। पॉश तथा सुरक्षित माने जाने वाले राजभवन के सामने से बैंक कैश वैन से 20 लाख रुपए लूटकर गार्ड की हत्या कर दी गई। बड़ी लूट तथा हत्या की सूचना पर डीजीपी ओपी सिंह के साथ सभी बड़े पुलिस अधिकारी मौके पर हैं।
राजभवन के सामने महात्मा गांधी मार्ग पर आज दिन में करीब चार बजे एक्सिस बैंक के सामने कैश वैन खड़ी थी। इसी बीच बाइक सवार बदमाशों ने कैश वैन चालक धर्मेंद्र और गार्ड को गोली मारकर 20 लाख रुपया लूट लिया। गोली लगने से कैश वैन चालक धर्मेंद्र की मौत हो गई जबकि गार्ड घायल है। यह लोग दो बैग में रुपया लेकर वैन में रख रहे थे। गोली लगने से कैश वैन चालक धर्मेंद्र की मौत हो गई जबकि गार्ड घायल है। यह लोग दो बैग में रुपया लेकर वैन में रख रहे थे।
राजधानी के महात्मा गांधी मार्ग पर राजभवन के कालोनी में सुरक्षा व्यवस्था काफी मुस्तैद रहती है। बंदरियाबाग में कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक का भी आवास है। उनके आवास के सामने सड़क पार एक्सिस बैंक प्रांगण में कैश वैन से लूट में सफेद रंग की बाइक का प्रयोग हुआ है। मौके पर एक जिंदा कारसूत भी मिल है। बदमाशों ने इस लूट के दौरान कैशियर के पैर में भी गोली मारी थी। कैशियर उमेश के पैर में लगी गोली है।
बदमाशों की बाइक का नंबर ट्रेस हुआ। बदमाश UP 32 जीके 7022 सफेद रंग की अपाचे पर सवार थे। अफसरों ने बदमाशों को पकड़ने वाले को 50 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की।वैन ड्राइवर को गोली मार कर हुई लूट के मामले में फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची।

यूपी में एक-एक अधिकारी के पास हैं 20-20 विभाग,107 आईएएस की भारी कमी

0

लखनऊ:इसे सरकार की उलटबांसी ही कहा जाएगा कि उत्तर प्रदेश में जिन दो बड़े विभागों को संभालने के लिए दो उप मुख्यमंत्री हैं, उनकी जिम्मेदारी सिर्फ एक ही आइएएस पर है। लोक निर्माण विभाग उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के पास है तो माध्यमिक तथा उच्च शिक्षा डॉ. दिनेश शर्मा के पास। इनके लिए योजना और क्रियान्वयन के लिए महज एक अपर मुख्य सचिव संजय अग्रवाल हैं। यह भी अजब विडंबना है कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. प्रभात कुमार के पास अपने अधीनस्थ खुद ही 20 विभाग हैं लेकिन, उन्हें बेसिक शिक्षा जैसे बड़े विभाग का काम भी देखना पड़ रहा है। और तो और प्रदेश के मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय इस पद के साथ ही अवस्थापना और औद्योगिक विकास आयुक्त का पद भी संभाल रहे हैं।
प्रमुख अफसरों पर अधिक जिम्मेदारी
अनूप चंद्र पांडेय – मुख्य सचिव, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त
संजय अग्रवाल – अपर मुख्य सचिव लोक निर्माण विभाग, अपर मुख्य सचिव मा. शिक्षा, उच्च शिक्षा
डॉ. प्रभात कुमार – कृषि उत्पादन आयुक्त, यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण, अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा विभाग का अतिरिक्त प्रभार
कल्पना अवस्थी – प्रमुख सचिव आबकारी, वन एवं पर्यावरण विभाग का अतिरिक्त प्रभार
रेणुका कुमार – अपर मुख्य सचिव महिला कल्याण, अपर मुख्य सचिव राजस्व विभाग, भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग का अतिरिक्त प्रभार
आलोक सिन्हा – अपर मुख्य सचिव वाणिज्य कर एवं मनोरंजन कर, अपर मुख्य सचिव आइटी एवं इलेक्ट्रानिक्स का अतिरिक्त प्रभार
आलोक कुमार – प्रमुख सचिव ऊर्जा, अध्यक्ष पावर कॉरपोशन
अपने काम में सामंजस्य कैसे बैठाएं
बड़े पदों पर काबिल अफसरों की कमी प्रदेश की एक बड़ी समस्या बनती जा रही है। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इस बात को स्वीकार किया है कि उनके पास अच्छे अधिकारियों की कमी है। उधर पदों पर बैठे अधिकारियों की सबसे बड़ी समस्या यह है कि वह अपने काम में सामंजस्य कैसे बैठाएं। रिजल्ट देने वाले अधिकारियों की कमी से उनके पास कई-कई विभागों का बोझ है। कुछ अधिकारियों के पास तो इतने महत्वपूर्ण पदों की जिम्मेदारी है कि उन्हें दम लेने भर की फुर्सत नहीं। मसलन कृषि उत्पादन आयुक्त (एपीसी) डा. प्रभात कुमार का ही उदाहरण लें। एपीसी होने के साथ ही उनके पास यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की तो जिम्मेदारी है ही, बेसिक शिक्षा जैसा बड़ा विभाग भी देखना पड़ रहा है।
107 आइएएस अधिकारियों की कमी
उत्तर प्रदेश में आइएएस संवर्ग में 621 पद हैं। इनमें 433 पद प्रत्यक्ष भर्ती के हैं जबकि 188 प्रमोशन से भरे जाते हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी स्वीकार करते हैं कि अफसरों की कमी से काम पर असर पड़ा है। रिजल्ट देने वाले अधिकारियों की क्षमता भी काम के बोझ की वजह से प्रभावित होती है। प्रदेश में 107 आइएएस अधिकारियों की कमी है। विभागीय पदोन्नति से भी बहुत असर नहीं पड़ने वाला, क्योंकि हाल-फिलहाल बड़ी संख्या में आइएएस सेवानिवृत्त हो चुके हैं। पिछले जनवरी माह से ही अब तक 24 अधिकारी रिटायर हो चुके हैं, जबकि एक आइएएस की सेवाकाल में मृत्यु हो चुकी है। अफसरों की कमी को देखते हुए ही योगी सरकार ने प्रतिनियुक्ति से कुछ अधिकारियों को बुलवाया है लेकिन, इससे कुछ खास फर्क नहीं पड़ने जा रहा, क्योंकि एक दर्जन अधिकारी प्रतिनियुक्ति के इंतजार में भी हैं।
समस्या दूसरी भी है
संयोजक लोक प्रहरी सेवानिवृत्त आइएएस एसएन शुक्ला का कहना है कि अधिकारियों के पास अधिक विभाग होने से काम पर असर होना स्वाभाविक है। समस्या दूसरी भी है। पिछले कुछ दशकों से सत्ता प्रतिष्ठानों ने अपने चहेते अफसर तय करने शुरू किए हैं। नियमानुसार आइएएस अपने संवर्ग में विभागाध्यक्ष का एक से अधिक पद नहीं रख सकता लेकिन, इसकी अनदेखी की जाती है।

मुख्यमंत्री का प्रर्दशनकारी बीटीसी अभ्यर्थियों को भरोसा, सात दिन में नियुक्ति पत्र

Comments Off on मुख्यमंत्री का प्रर्दशनकारी बीटीसी अभ्यर्थियों को भरोसा, सात दिन में नियुक्ति पत्र

Posted on : 16-03-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, LUCKNOW, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

लखनऊ:शिक्षक भर्ती समेत कई मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे बीटीसी अभ्यर्थियों से मुख्यमंत्री ने एक सप्ताह में नियुक्ति पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है। जिसके बाद बीटीसी अभ्यर्थियों ने प्रदर्शन खत्म करने का ऐलान किया। बताते चलें कि बीटीसी अभ्यर्थियों का पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल बेसिक शिक्षा मंत्री के साथ सीएम से मिला। मुख्यमंत्री ने अभ्यर्थियों को आश्वासन दिया कि जल्द ही उनकी भर्ती होगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने शिक्षक भर्ती मामले पर प्रमुख सचिव राजप्रताप सिंह पर नाराजगी जताई। मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षक प्रदर्शन नहीं करें और स्कूल में पढ़ाएं एेसी व्यवस्था की जाये। उन्होनें 12460 लोगों को तुरंत नियुक्ति पत्र जारी करने का आदेश दिया है।
इसके पहले नियुक्ति पर लगी रोक को हटाने की मांग को लेकर बीटीसी अभ्यर्थियों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ हल्ला बोल दिया। राजधानी में शुक्रवार को भारी संख्या में बीटीसी अभ्यर्थी योगी सरकार में बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल के आवास का घेराव करने पहुंचे। प्रदर्शन कर सरकार विरोधी नारेबाजी की। मौके पर पुलिस बल भी तैनात है।हमारी सरकार सकारात्मक है, हम इस मामले पर विचार करेंगे,धरना बंद करने का दिया आदेश, सभी अभ्यर्थी संतुष्ट है
गौरतलब हो कि बीते दिन यानी गुरुवार को भी बीटीसी अभ्यर्थियों ने भाजपा मुख्यालय के सामने हजारों की संख्या में सरकार विरोधी नारेबाजी की थी। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों पर लाठियां भांजी थी। इसमें कई अभ्यर्थियों को चोटें भी आई। वहीं, सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्र का कहना था कि अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज नहीं किया गया है। अभ्यर्थियों को अपर मुख्य सचिव से वार्ता कराने के लिए कहा गया था, लेकिन उन्होंने इंकार कर दिया। इस पर उन्हें गिरफ्तारी देने के लिए कहा गया।
करीब 35 अभ्यर्थियों को हिरासत में लेकर पुलिस हजरतगंज कोतवाली ले गई थी, जहां उन्हें बाद में निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया। 12460 पदों की बहाली की माग पर अड़े बीटीसी अभ्यर्थी बीटीसी अभ्यर्थी राकेश विश्वकर्मा का कहना है कि दिसंबर 2016 में 12460 सहायक अध्यापक भर्ती का शासनादेश हुआ।मार्च में काउंसिलिंग प्रक्रिया पूरी हो गई। वहीं प्रत्येक जिलों का कट ऑफ भी आ गया। 31 मार्च 2017 को नियुक्ति पत्र मिलना था। मगर प्रदेश में बीजेपी सरकार बनते ही इस पर रोक लगा दी गई। ऐसे में बीटीसी अभ्यर्थियों का भविष्य दांव पर हैं।

योगी सरकार पहली सालगिरह पर दे सकती है नौकरियों की सौगात

Comments Off on योगी सरकार पहली सालगिरह पर दे सकती है नौकरियों की सौगात

Posted on : 16-03-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, LUCKNOW, Politics, Politics-BJP, सामाजिक

लखनऊ:अगले साल आम चुनाव होने हैं। इस लिहाज से प्रदेश की अहमियत को देखते हुए योगी सरकार अपनी सालगिरह पर नौकरियों का पिटारा खोल सकती है। विपक्ष अक्सर केंद्र सरकार के उस वादे की आलोचना जुमला कह कर करता रहा है, जिसमें हर साल युवाओं को एक करोड़ नौकरियां देने की बात कही गई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा की चुनावी रैलियों में इस वादे को कई बार दोहराया था। नौकरियां तो मिली नहीं उलटे नोटबंदी और जीएसटी से कारोबार में आई मंदी से कइयों की नौकरियां चली गईं। एक कारोबारी के अनुसार जिसका सालाना कारोबार पांच करोड़ रुपये का था वह घटकर दो करोड़ पर आ गया। उसी अनुपात में रोजगार भी घटे हैं।
मुख्य सचिव राजीव कुमार ने खाली पदों को लेकर पिछले दिनों सभी विभागों के अपर सचिव, प्रमुख सचिव और सचिव को निर्देश जारी किया है। निर्देश के अनुसार सरकार सभी जरूरी और महत्वपूर्ण पदों को भरने के लिए दृढ़ संकल्पित है। लिहाजा आपसे अपेक्षा है कि अपने अधीनस्थ सभी अनिवार्य खाली पदों की औपचारिकताओं को पूर्ण करते हुए इससे संबंधित अधियाचन आयोगों और प्रमुख सचिव कार्मिक को 16 मार्च तक अवश्य उपलब्ध करा दें। सरकार प्राप्त सूचना के आधार पर ही अपने साल भर पूरे होने के अवसर पर नई नौकरियों की घोषणा कर सकती है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद बार-बार युवाओं को नौकरियां देने पर जोर देते रहे हैं। उनके मुताबिक सरकार छह लाख युवाओं को नौकरी देने जा रही है। कुछ की प्रक्रिया शुरू हो चुकी हैं और कुछ की होने वाली है। सरकारी नौकरियों के अलावा कौशल विकास के जरिये युवाओं को हुनरमंद बनाकर बड़े पैमाने पर उनको रोजगार दिलाने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता जता चुकी है।
सालगिरह पर उपलब्धियों के साथ कार्ययोजना भी बताएंगे
सरकार की सालगिरह पर 19 मार्च को मुख्यमंत्री लोकभवन में पत्रकारवार्ता के दौरान साल भर की उपलब्धियां बताने के साथ विभागवार अगले साल की कार्ययोजना भी बता सकते हैं। शासन की मंशा है कि वर्ष 2018-19 के लिए पेश बजट में जिन योजनाओं के क्रियान्वयन की बात कही गई है, उसकी स्पष्ट रूपरेखा तैयार कर शासन को उपलब्ध कराएं। अधिकांश विभाग अपनी कार्ययोजना शासन को भेज भी चुके हैं।

[bannergarden id="12"]