Featured Posts

सियासी आकाओं की परिक्रमा में जुटे टिकट के दावेदार! फर्रुखाबाद:लोक सभा की चुनावी आहट शुरू होने के साथ ही सियासी सरगर्मियां बढ़ गई है। जिले का सांसद बनने का सपना देखने वाले लोग अपने राजनैतिक आकाओं की परिक्रमा करने में जुट गये है। वैसे तो सपा,भाजपा,बीएसपी आदि के बैनर तले कई लोग चुनाव लड़ने के इच्छुक है मगर सबसे बड़ी फेहरिस्त...

Read more

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

भूमध्‍य सागर ने फिर लील लीं 170 जिन्दगीं

0

Posted on : 20-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, राष्ट्रीय, सामाजिक

नई दिल्‍ली:भूमध्‍य सागर में एक बार फिर से अच्‍छी जिंदगी की आस रखकर दूसरे देश जाने वालों को अपने आगोश में ले लिया है। दो अलग अलग घटनाओं में करीब 170 लोगों के लापता हो गए हैं। इनमें से नौका मोरक्‍को तो एक लीबिया से थी। इटली की नौसेना के हेलीकॉप्‍टर ने तीन लोगों को सुरक्षित बचा लिया है, वहीं तीन के शव भी समुद्र से निकाल लिए गए हैं, लेकिन अन्‍यों का अभी कोई पता नहीं चला है। बचाए गए तीनों लोगों को हाइपोथर्मिया की शिकायत के बाद अस्‍पताल में भर्ती करा दिया गया है। बचाए गए तीनों लोग लीबिया के हैं। इनकी नौका शुक्रवार को समुद्र में डूब गई थी जबकि दूसरी नौका के साथ शनिवार को हादसा हुआ था।
इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ माइग्रेशन के मुताबिक जिस नौका में यह सवार थे उसमें करीब 120 लोग सवार थे। करीब ग्‍यारह घंटों तक ठंडे पानी में रहने के बाद धीरे धीरे लोगों की सांसे थमने लगीं। लापता हुए लोगों में दस महिलाएं, दो बच्‍चे और एक दो माह का नवजात भी शामिल है। इटली की तरफ से नौका के डूबने की जानकारी लीबिया को दे दी गई है। वहां से एक मर्चेंट शिप के मौके पर पहुंचने की जानकारी दी गई है। दूसरी घटना में करीब 53 मोरक्‍को नागरिक भी लापता हैं। इनकी नौका पश्चिमी भूमध्‍य सागर में डूबी थी। इस हादसे में करीब 47 लोगों को जिंदा भी बचा लिया गया है।
आपको बता दें कि अच्‍छी जिंदगी की चाहत में इस वर्ष की शुरुआती दो सप्‍ताह में करीब 4449 लोग समुद्र के रास्‍ते इटली पहुंचे हैं। पिछले वर्ष इनकी संख्‍या करीब तीन हजार थी। पिछले वर्ष करीब 2300 लोगों की मौत भूमध्‍य सागर में नौका पलटने की वजह से हुई थी। जबकि करीब सवा लाख लोगों ने यूरोप के अलग-अलग देशों में शरण ली थी। जहां तक भूमध्‍य सागर में नौका से होने वाले हादसों की बात है तो यह सागर हर वर्ष सैकड़ों लोगों को लील लेता है।
जनवरी 2018 में लीबिया तट के पास भूमध्यसागर में एक अस्थायी नौका के डूबने से 90 से 100 प्रवासी लापता हो गए थे। इस नौका में 150 से अधिक लोग सवार थे। बचावकर्ता इनमें से कुछ महिलाओं सहित केवल 17 लोगों को ही बचा पाए थे। मदद पहुंचने से पहले ये लोग कई घंटों तक नाव से लटके रहे। नौका लीबिया की राजधानी से पूर्व में करीब 100 किलोमीटर दूर स्थित खम्स शहर के पास डूबी थी। इसके अलावा इसी दौरान एक दूसरे हादसे में लीबियाई नौसेना ने त्रिपोली के पश्चिम में जाविया के पास से करीब 267 प्रवासियों को बचाया था। इनमें से अधिकतर अफ्रीकी नागरिक थे। कासिम ने बताया कि बचाए गए लोगों में महिलाएं और 17 बच्चे शामिल हैं। फरवरी 2017 में लीबिया की राजधानी से लगे भूमध्य सागर के पश्चिमी तट पर करीब 74 प्रवासियों के शव बरामद किए गए। इसके अलावा मार्च 2017 में लीबिया के पास भूमध्य सागर में दो नौकाओं के डूबने से करीब 250 लोगों की मौत हो गई थी।
जून 2016 में भूमध्य सागर यूनानी द्वीप क्री के निकट एक नौका पलट गई थी जिस पर 700 से अधिक लोग सवार थे। इटली के बचावकर्ताओं ने करीब 300 लोगों को जीवित बचा लिया था जबकि अन्‍यों का कोई पता नहीं चल सका था। मई 2016 में लीबिया के जुवारा से 35 समुद्री मील की दूरी पर एक शरणार्थी नौका के पलटने से 20 से 30 लोगों की मौत हो गई थी। जबकि 135 को जीवित बचा लिया गया था। इसके अलावा इसी वर्ष नवंबर में नौका के पलटने से करीब 240 लोगों की जान चली गई थी। बचावकार्य के दौरान करीब 140 लोगों को बचा लिया गया था जिसमें करीब 20 महिलाएं थीं। यह सभी खुशहाल जिंदगी की चाह में लीबिया से निकले थे।
अप्रैल 2015 में करीब 700 प्रवासियों को लेकर जा रही नौका के लीबिया के उत्तरी भाग में डूब जाने से कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई थी। इस नौका में जरूरत से ज्‍यादा लोग सवार थे। संतुलन बिगड़ने से यह नौका बीच समुद्र में पलट कर डूब गई थी।

100 सीसी टू-व्हीलर के इंश्योरेंस पर दें सिर्फ इतने पैसे, सरकार बदल चुकी है नियम

0

Posted on : 20-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, राष्ट्रीय, सामाजिक

नई दिल्ली:इंश्योरेंस को लेकर नए नियम बीमा नियामक इरडा (इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी) लागू कर चुकी है। इस नए नियम के चलते कार या टू-व्हीलर्स खरीदते समय ही 3 या 5 साल के लॉन्ग टर्म थर्ड पार्टी इंश्योरेंस को लेना अनिवार्य हो चुका है। यानी अब वाहन खरीदते समय खरीदारों को ज्यादा पैसे चुकाने होंगे। कई बार ऐसा होता है कि एजेंट गतल जानकारी देकर पॉलिसी बेच देते हैं।
ऐसे में अगर आपको कोई गलत जानकारी दे या फिर एक्स्ट्रा चार्ज ले तो आप उसकी शिकायत सीधे इरडा में कर सकते हैं। आज हम आपको अपनी इस खबर में थर्ड पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है वह तो आपको बताएंगे ही इसके साथ ही यह भी बताएंगे की नई गाड़ी खरीदते समय आपको कितने रुपये देने होंगे। साथ ही आप शिकायत कैसे कर सकते हैं।
क्या होता है थर्ड पार्टी इंश्योरेंस?
मोटर वाहन कानून के तहत थर्ड पार्टी बीमा का प्रावधान काफी पहले ही लागू किया गया है। इसे थर्ड पार्टी लायबिलिटी कवर के नाम से भी जाना जाता है। जैसा कि नाम से ही स्पष्ट पता चलता है कि यह तीसरे पक्ष के बीमा से संबंधित है। जब मोटर वाहन से कोई दुर्घटना होती है तो कई बार इसमें बीमा कराने वाला व बीमा कंपनी के अलावा एक तीसरा पक्ष भी शामिल होता है, जो प्रभावित होता है। यह प्रावधान इसी तीसरे पक्ष यानी थर्ड पार्टी के दायित्वों को पूरा करने के लिए बनाया गया है।
बाइक के लिए कितना होगा खर्चा?
75 cc इंजन तक की बाइक के लिए 1045 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
75 से 150 cc इंजन वाली बाइक के लिए 3285 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
150 से 350 cc इंजन वाली बाइक के लिए 13034 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
कार के लिए कितना होगा खर्चा?
नई पॉलिसी लागू होने के बाद 1000cc वाले इंजन की कार के इंश्योरेंस के लिए 5286 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
1000-1500 cc वाले इंजन की कार के लिए 9534 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
1500 cc से ज्यादा कैपेसिटी वाली इंजन की गाड़ी के लिए 24305 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
बता दें कि फोर-व्हीलर के लिए जहां इंश्योरेंस तीन साल का है, वहीं टू-व्हीलर के लिए यह 5 सालों का है।
कहां कर सकते हैं शिकायत
एजेंट द्वारा दी गई गलत जानकारी देकर पॉलिसी खरीदने के बचने के लिए आप इरडा में इसकी शिकायत कर सकते हैं। ऐसे में सबसे पहले आपको बीमा कंपनी के शिकायत निवारण अधिकारी से संपर्क जरूर करना चाहिए। यहां से समाधान न होने पर आप इरडा के शिकायत निवारण सेल के टोल फ्री नंबर – 155255 पर भी शिकायत कर सकते हैं। डॉक्युमेंट्स के साथ इरडा की email id – complaints@irdai.gov.in पर भी शिकायत भेज सकते हैं। यहां से भी अगर समस्या का हल न हो तो आप बीमा लोकपाल तक अपनी शिकायत पहुंचा सकते हैं।

बुजुर्ग और बच्चे आधार कार्ड से कर सकेंगे नेपाल और भूटान की यात्रा

0

नई दिल्ली:भारत के 15 वर्ष से कम और 65 वर्ष से अधिक के नागरिक नेपाल और भूटान की यात्रा के लिए आधार कार्ड को वैध यात्रा दस्तावेज के रूप में इस्तेमाल कर सकेंगे। हालांकि इन दोनों वर्गों के अलावा अन्य भारतीय दोनों पड़ोसी देशों की यात्रा के लिए आधार कार्ड का प्रयोग नहीं कर सकेंगे।
हाल ही में गृह मंत्रालय द्वारा जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई है। बता दें कि दोनों देशों की यात्रा के लिए वीजा की आवश्यकता नहीं होती है। विज्ञप्ति में कहा गया है कि भारतीय नागरिकों के पास यदि वैध पासपोर्ट, भारत सरकार द्वारा जारी फोटो पहचान पत्र या चुनाव आयोग द्वारा जारी पहचान पत्र है तो उन्हें नेपाल और भूटान जाने के लिए वीजा की जरूरत नहीं है। इससे पहले इन दोनों देशों की यात्रा के लिए 65 वर्ष से अधिक और 15 वर्ष से कम आयु के लोगों को अपनी पहचान साबित करने के लिए पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, केंद्र सरकार स्वास्थ्य सेवा (सीजीएचएस) कार्ड या राशन कार्ड दिखाना पड़ता था, लेकिन ये लोग आधार कार्ड का इस्तेमाल नहीं कर सकते थे।
गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आधार कार्ड को अब इस सूची में जोड़ दिया गया है। अधिकारी ने बताया, ‘भारतीय नागरिकों के लिए भारतीय दूतावास, काठमांडू द्वारा जारी पंजीकरण प्रमाण पत्र भारत और नेपाल के बीच यात्रा के लिए स्वीकार्य यात्रा दस्तावेज नहीं है।
हालांकि नेपाल में भारतीय दूतावास द्वारा जारी किया गया आपातकालीन प्रमाण पत्र और पहचान प्रमाण पत्र भारत वापसी की केवल एक यात्रा के लिए मान्य होगा।’ अधिकारी ने कहा कि 15 से 18 साल के किशोरों को उनके स्कूल के प्रधानाचार्य द्वारा जारी पहचान प्रमाण पत्र के आधार पर भारत और नेपाल के बीच यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी। वहीं भूटान की यात्रा करने वाले भारतीय नागरिकों के पास छह महीने की न्यूनतम वैधता के साथ या तो भारतीय पासपोर्ट या निर्वाचन आयोग द्वारा जारी मतदाता पहचान पत्र होना चाहिए। यात्रा के लिए दस्तावेज भारतीय नागरिकों के पास यदि वैध पासपोर्ट, भारत सरकार द्वारा जारी फोटो पहचान पत्र या चुनाव आयोग द्वारा जारी पहचान पत्र है तो उन्हें नेपाल और भूटान जाने के लिए वीजा की जरूरत नहीं है।

आइएएस बी चंद्रकला और सपा एमएलसी रमेश मिश्रा के खिलाफ मुकदमा

0

Posted on : 17-01-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, Politics, राष्ट्रीय

लखनऊ:खनन घोटाले में सीबीआइ की एफआइआर को आधार बनाकर ईडी ने आइएएस अधिकारी बी चंद्रकला और सपा एमएलसी रमेश मिश्रा समेत 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आरोपितों को नोटिस भेजकर पूछताछ की तैयारी की जा रही है। ईडी ने सीबीआइ की प्राथमिकी में उल्लिखित कुछ नौकरशाहों और राजनेताओं के खिलाफ धनशोधन (मनी लांड्रिंग) रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत जल्द मामला दर्ज किया है।
एफआइआर में सपा-बसपा नेताओं के नाम
सीबीआइ ने भारतीय दंड संहिता और भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनियम के तहत कुछ जाने-माने व कुछ अज्ञात सरकारी कर्मचारियों व अन्य सहित 11 लोगों के खिलाफ दो जनवरी को एक मामला दर्ज किया था, जिसके बाद यह जानकारी सामने आई है। एजेंसी ने आइएएस अधिकारी बी. चंद्रकला, खनिक आदिल खान, भूवैज्ञानिक/खनन अधिकारी मोइनुद्दीन, समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता रमेश कुमार मिश्रा, उनके भाई दिनेश कुमार मिश्रा, राम आश्रय प्रजापति, हमीरपुर के खनन विभाग के पूर्व क्लर्क संजय दीक्षित, उनके पिता सत्यदेव दीक्षित और रामअवतार सिंह के नाम प्राथमिकी में शामिल हैं। संजय दीक्षित ने 2017 विधानसभा चुनाव बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के टिकट पर लड़ा था।

भाजपा को सपा-बसपा नहीं हटा सकते:शिवपाल

0

Posted on : 14-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, राष्ट्रीय

इटावा:प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा है कि भाजपा का मुकाबला सपा और बसपा नहीं कर सकते हैं। भाजपा को हटाने के लिए सभी सेक्युलर लोगों को एकजुट होना पड़ेगा। पीएसपी, बहुजन मुक्ति पार्टी और 45 सेक्युलर दल हमारे साथ हैं, ये सभी मिलकर लोकसभा चुनाव में भाजपा को टक्कर देंगे। कांग्रेस से हमारी बातचीत और फैसला होने के बाद आप सबको पता चल जाएगा।
इटावा में पत्रकारों से वार्ता के दौरान एक सवाल को लेकर रामगोपाल के फिरोजाबाद में दिये बयान पर पलटवार करते हुए शिवपाल ने कहा कि वे हमारे बड़े भाई हैं, पिटवा सकते हैं और पीट सकते हैं। उन्होंने ऐसी ही बातें करके समाजवादी आंदोलन को पलीता लगाया है। समाजवादी आंदोलन को खत्म करने वालों में ऐसे लोग बहुत हैं।
खनन घोटाले में अखिलेश यादव पर जांच को लेकर शिवपाल ने कहा कि चुनाव का वक्त है। गड़बडिय़ां हुई हैं तो जांच करवा लें, वैसे तो पूरा प्रदेश जनता है कि खनन के लिए जनता परेशान रही है और अब भाजपा के राज में भी परेशान है। गिट्टी-बालू बहुत महंगी मिल रही है, गरीब आदमी अपना घर नहीं बनवा पा रहा है। मायावती पर हमला बोलते हुए शिवपाल ने कहा कि हमारे बढ़ते जनाधार और बड़ी-बड़ी रैलियों को देखकर वह घबराई हुई हैं।

[bannergarden id="12"]