Featured Posts

सियासी आकाओं की परिक्रमा में जुटे टिकट के दावेदार! फर्रुखाबाद:लोक सभा की चुनावी आहट शुरू होने के साथ ही सियासी सरगर्मियां बढ़ गई है। जिले का सांसद बनने का सपना देखने वाले लोग अपने राजनैतिक आकाओं की परिक्रमा करने में जुट गये है। वैसे तो सपा,भाजपा,बीएसपी आदि के बैनर तले कई लोग चुनाव लड़ने के इच्छुक है मगर सबसे बड़ी फेहरिस्त...

Read more

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

49 भूमाफियाओं से आजाद करायी दो हजार बीघा भूमि

Comments Off on 49 भूमाफियाओं से आजाद करायी दो हजार बीघा भूमि

Posted on : 19-12-2018 | By : JNI-Desk | In : POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(राजेपुर) बीते कई वर्षो से भूमाफियाओं के चंगुल में फंसी तकरीबन दो हजार बीघा भूमि को एसडीएम ने कब्जा मुक्त करा दिया| पूर्व में इसी भूमि पर अबैध कब्जे को लेकर 49 भूमाफियाओं पर पूर्व में मुकदमा भी दर्ज कराया गया था| लेकिन जाँच कछुआ की चाल चल रही थी|
तहसील अमृतपुर के ग्राम भवानीपुर में लगभग दो हजार बीघा सरकारी भूमि पर तकरीबन 49 लोग अबैध रूप से कब्जा करकर फसल खड़ी किये थे| जिसके चलते गाँव के प्रधान अशोक मिश्रा ने थाना राजेपुर में 49 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था| मुकदमा दर्ज होने के बाद यह लगा था कि अब सरकार की मंशा के अनुरूप पुलिस कार्य करेगी और भूमि पर से कब्जा हटाया जायेगा| लेकिन यह नही हुआ| मुकदमा दर्ज होने के बाद भी भूमाफिया उस भूमि पर कब्जा जमाये रहे|
बुधवार को एसडीएम अमृतपुर ईशान प्रताप सिंह ने गाँव भवानीपुर में अबैधकब्जे की भूमि को देखा और ट्रैक्टर से सभी भूमि की जुताई करा दी| जिससे तकरीबन दो हजार बीघा भूमि कब्जा मुक्त हो गयी है| इस दौरान लेखपाल विकास,सतेंद्र, कानूनगो मनोज दीक्षित. हरि किशन,राजेपुर थाने के दरोगा दीपक त्रिवेदी आदि रहे|

रिश्वतखोरी से तंग आकर विधालय प्रबन्धक ने दी जान!

Comments Off on रिश्वतखोरी से तंग आकर विधालय प्रबन्धक ने दी जान!

Posted on : 19-12-2018 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(मोहम्मदाबाद)विधालय प्रबन्धक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली| मृतक की पत्नी ने पुलिस ने गाँव के ही कई लोगों के साथ ही साथ प्रधान पति व लेखपाल के खिलाफ तहरीर दी| पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया|
कोतवाली क्षेत्र के ग्राम कटैया निवासी सरिता पत्नी शैलेन्द्र सिंह ने पुलिस को तहरीर दी| जिसमे कहा है कि उसका विधालय मदनपुर में आरपीएस पब्लिक स्कूल के नाम से है| जिसमे गाँव के ही सुरेश चन्द्र शर्मा,विनोद शर्मा पुत्र सोनेलाल शर्मा,व प्रधानपति हरगोविंद सिंह उर्फ़ पिंटू यादव निवासी बैराम नगर कब्जा किये है| लेखपाल सौरभ पाण्डेय निवासी फर्रुखाबाद गलत नापकर विधालय जबरन कब्जा कराए है| लेखपाल 10 हजार रूपये की अतिरिक्त मांग कर रहा है| वही आरोपी जान से मारने की धमकी भी दे रहे है| जिससे आहत होकर शैलेन्द्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली| इसी दौरान मृतक शैलेन्द्र के भाई सत्येन्द्र सिंह ने भी पुलिस को शव का पोस्टमार्टम कराये जाने की तहरीर दी| पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया|
प्रभारी निरीक्षक डीबी तिवारी ने जेएनआई को बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है| तहरीर के आधार पर जाँच कर अग्रिम कार्यवाही की जायेगी|

टीवी देखना 29 दिसंबर से महंगा पड़ेगा,चुकाने पड़ सकते हैं चार गुना तक पैसे

Comments Off on टीवी देखना 29 दिसंबर से महंगा पड़ेगा,चुकाने पड़ सकते हैं चार गुना तक पैसे

नई दिल्ली:टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने हाल ही में निर्देश जारी किए हैं जिसके बाद ब्रॉडकास्ट सेक्टर को अपने कंज्यूमर को चैनल सेलेक्ट करने और उसी के पैसे देने का ऑप्शन उपलब्ध कराना होगा। इसके बाद खबरें आ रहीं थीं कि डीटूएच और केबल के माध्यम से टीवी देखना सस्ता होगा। लेकिन वास्तव में ऐसा है नहीं। ट्राई के इस आदेश के बाद अब चैनल्स ने अपने दाम तय किए हैं और इसे देखते हुए यह साफ नजर आता है कि 29 दिसंबर से घर में टीवी देखना सस्ता नहीं बल्कि महंगा होने वाला है।
ट्राई जो गाइडलाइन लागू करने जा रहा है वो एक जनवरी से लागू होगी और इससे पहले आपको यह तय करना होगा कि आप क्या देखना चाहते हैं और क्या नहीं। इतना ही नहीं आपको हर चैनल के लिए ज्यादा खर्च करना पड़ सकता है। साथ ही अब तक जो चैनल्स फ्री में उपलब्ध थे उनके लिए भी आपको कम से कम 130 रुपए महीना देना होगा।
पेड चैनल्स बढ़ाएंगें बिल
इसी तरह नई गाइडलाइन्स के अनुसार यूजर को अब सिर्फ उस चैनल के पैसे देने होंगे जो वो देखना चाहता है। इसके तहत अगर आप स्टार, जी टीवी, कलर और सोनी सब का एक-एक चैनल भी देखना चाहते हैं तो आपको हर चैनल के लिए हर महीने 19 रुपए हर देने होंगे। जबकि स्टार भारत के लिए 10 रुपए और एंड टीवी के 12 रुपए हर महीने लगेंगे। इस हिसाब से लगभग 200 रुपए इन चैनल्स के और 130 रुपए उन 100 चैनल्स के जो आप अब तक मुफ्त में देखते आ रहे थे। कुल मिलाकर हुए 330 रुपए और उसके ऊपर 18 प्रतिशत जीएसटी लागू होगा।
यह हैं ट्राई के नए नियम
– ट्राई द्वारा लागू किए जा रहे नए नियमों के अनुसार दर्शक जितने चैनल देखना चाहेंगे, उनको उतना ही पैसा देना होगा।
– डीटीएच और केबल ऑपरेटर्स को प्रत्येक चैनल के लिए तय एमआरपी की जानकारी अपनी यूजर गाइड में देनी होगी।

आधार कार्ड अब जबरन मांगने पर एक करोड़ जुर्माना और 10 साल तक की होगी सजा!

Comments Off on आधार कार्ड अब जबरन मांगने पर एक करोड़ जुर्माना और 10 साल तक की होगी सजा!

नई दिल्ली:अब आपको सिम कार्ड लेने या बैंक खाता खुलवाने के लिए आधार कार्ड नहीं देना होगा। सुप्रीम कोर्ट ने पहले ही आधार कार्ड की गोपनीयता को देखते हुए इसके बैंक व टेलिकॉम कंपनियों द्वारा इसका उपयोग करने पर रोक लगा दी थी। अब केंद्र सरकार ने इसे कानून का रूप देने के लिए प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट और भारतीय टेलिग्राफ ऐक्ट में संशोधन को मंजूरी प्रदान कर दी है।
संशोधन के तहत पहचान और पते के प्रमाण के तौर पर आधार कार्ड के लिए दबाव बनाने पर बैंक और टेलिकॉम कंपनियों को एक करोड़ रुपये तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है। साथ ही आधार कार्ड मांगने वाले कर्मचारी अथवा जिम्मेदार व्यक्ति को तीन से 10 सात तक की कैद की सजा भी हो सकती है। आधार कार्ड की जगह अब पासपोर्ट, राशन कार्ड या कोई अन्य मान्य दस्तावेज लिए जा सकेंगे। अब ये पूरी तरह से उपभोक्ता पर निर्भर होगा कि वह सिम कार्ड या बैंक खाते के लिए आधार कार्ड देना चाहता है या नहीं।
केंद्र सरकार ने आधार कार्ड की अनिवार्यता खत्म करने के लिए प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट और भारतीय टेलिग्राफ ऐक्ट में संशोधन को सोमवार को मंजूरी प्रदान कर दी थी। संशोधन के तहत ही इसमें जुर्माने और सजा का प्रावधान शामिल किया गया है। केंद्र सरकार के इस संशोधन को हाल में आधार कार्ड की अनिवार्यता से जुड़े एक मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए आदेश के अनुपालन के तौर पर देखा जा रहा है। इस आदेश में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि यूनिक आइडी (आधार कार्ड) को सिर्फ सरकारी जनहित योजनाओं के लिए ही इस्तेमाल किया जा सकता है।
डेटा मिसयूज पर भी जुर्माने व सजा का प्रावधान
संशोधन में आधार का सत्यापन करने वाली संस्था की भी जिम्मेदारी तय की गई है। इसके मुताबिक अगर आधार का सत्यापन करने वाली कोई संस्था डेटा लीक के लिए जिम्मेदार पायी जाती है तो उस पर भी 50 लाख रुपये तक का जुर्माना और 10 साल तक की सजा हो सकती है। संशोधन में कहा गया है कि केवल राष्ट्रहित में ही इन गोपनीय जानकारियों व डेटा का प्रयोग किया जा सकता है। इन संशोधनों को अभी संसद से मंजूरी मिलना बाकी है।

जनता को राफेल मामले में गुमराह कर रहे राहुल गांधी

Comments Off on जनता को राफेल मामले में गुमराह कर रहे राहुल गांधी

फर्रुखाबाद: भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं का एक प्रतिनिधिमंडल बुधवार को जिलाधिकारी से मिला। कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी को राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन देकर राफेल खरीद समझौते मामले में तथ्यहीन, बेबुनियाद एवं अतार्किक प्रश्न खड़े करने वाले कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को लोक सेवक पद से मुक्त करने की मांग की है।
भाजपा के जिलाध्यक्ष डॉ० भूदेव सिंह राजपूत के नेतृत्व में राष्ट्रपति को संबोधित जिलाधिकारी को दिए ज्ञापन में कार्यकर्ताओं ने बताया कि राफेल खरीद समझौते मामले में सर्वोच्च न्यायालय में चार याचिकाएं दाखिल की गई थी। सर्वोच्च न्यायालय की सुनवाई के दौरान पूरी प्रक्रिया को पारदर्शी एवं नियमों के अनुरूप पाया गया। न्यायालय ने सभी याचिकाओं को खारिज करते हुए स्पष्ट किया कि राफेल समझौते में संदेह का कोई ठोस आधार नजर नहीं आता। न्यायालय ने स्पष्ट किया है कि इस मामले में लोगों की निजी धारणा कोई मायने नहीं रखती। बावजूद इसके कांग्रेस अध्यक्ष इस पर बेबुनियाद दुष्प्रचार कर रहे है। उनका आचरण असंवेदनशील एवं देशहित के खिलाफ है। उन्होंने राष्ट्रपति से राहुल गांधी को लोकसेवक पद से मुक्त करने की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में क्षेत्रीय उपाध्यक्ष सत्यपाल सिंह,रुपेश गुप्ता,पूर्व विधायक कुलदीप गंगवार,प्रदीप सक्सेना,संदीप शाक्य,नगर अध्यक्ष हिमांशु गुप्ता,विमल कटियार,जिला उपाध्यक्ष विजय गुप्ता,ममता सक्सेना,राजकुमार वर्मा,मंडल अध्यक्ष रामवीर चौहान,भाजयुमो जिलाध्यक्ष मयंक बुंदेला,शिवांग रस्तोगी,मंडल अध्यक्ष भाजयुमो शिवम दुबे शामिल रहे।

[bannergarden id="12"]