कांग्रेस तथा भाजपा विरोधी नेताओं के भाषण पर पाकिस्तान में बजती हैं तालियां:मोदी

0

Posted on : 16-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Narendra Modi, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय

रायबरेली:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र के पहले दौरे में ही आज रायबरेली को 1100 करोड़ की सौगात देने के साथ पहले की सरकारों पर निशाना साधा। जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी को निशाने पर रखा।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस के साथ ही भाजपा का विरोध करने वाली पार्टियों पर निशाना साधा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस रक्षा सौदों के लेकर इसलिए भड़की है क्योंकि उसमें ‘क्वात्रोची मामा’ या फिर क्रिश्चेन मिशेल अंकल’ नहीं है। उन्होंने कहा कि भाइयों-बहनों देश में स्वतंत्रता के बाद से ही कुछ लोगों का शासन रहा है। कोई किसी का मामा, रिश्तेदार सेंध लगाते रहे हैं। अब सब रुक गया है तो फिर दर्द होना स्वाभाविक है। उन्होंने कहा कि भाजपा विरोधी के साथ कांग्रेस के लोग देश को कमजोर करने वालों के साथ हैं। क्या कारण हैं कि भाजपा के खिलाफ यहां के नेता भाषण देते हैं और ताली पाकिस्तान में बजती है।आज कांग्रेस व विरोधी उनके साथ खड़े हैं जो देश को कमजोर करना चाहते हैं। आप बताइए देश को सेना ताकतवर होनी चाहिए या नही। पीएम मोदी ने कहा कि आज दो पक्ष हैं, एक पक्ष सरकार सच्चाई का है, एक पक्ष देश को कमजोर कर रहा है। यह सब लोग मोदी पर वो किसी भी तरह एक दाग लगा देना चाहते हैं, मैं सब जानता हूँ, मगर इसके लिए देश की सुरक्षा के साथ क्यों खिलवाड़ कर रहे है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारा एक ही मंत्र है। इसी मंत्र पर केंद्र के साथ ही उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार भी काम कर रही है। हम तो देश के सामान्य से सामान्य नागरिक के जीवन में हम परिवर्तन ला रहे हैं। रायबरेली में ही दो लाख महिलाओ को मुफ्त गैस कनेक्शन दिए। सरकार चाहे केंद्र की हो या योगी जी की हमारा एक ही मंत्र है, सबका साथ सबका विकास। कांग्रेस इनको दबा रही है, कांग्रेस की साजिश को हमारी सरकार अब घर घर जाकर पहुंचाएगी। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने देश के किसानों के साथ बड़ा धोखा किया है। कर्नाटक में सैकड़ों किसानों के वारंट निकल रहे हैं। कांग्रेस ने कर्ज माफी पर झूठे वादे किए। सौ रुपये में डेढ़ रूपये ज्यादा से ज्यादा पांच रूपये का प्रीमियम लिया गया। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से सरकार में किसानों की सारी समस्याओं को दूर किया। किसके दबाव में कांग्रेस ने यूरिया का शत प्रतिशत नीम कोटिंग किया। इस एक फैसले से हमारे देश के किसानों को 60 हजार करोड़ का फायदा होगा। खरीफ व रबी की 22 फसलों पर एमएसपी लागू किया गया। इनका जवाब कांग्रेस कभी नही देगी। किसके दबाव में एमएसपी को दाब दिया। कांग्रेस ने स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों को क्यों लागू नहीं किया।
प्रधानमंत्री ने कहा कि हम किसानों का संकट दूर करने का प्रयास कर रहे हैं। पहली बार 70 वर्ष में हमारी सरकार ने किसानों के लिए नीतियां बनाकर लागू किया। कांग्रेस के राज में किसी की कोई परवाह नहीं की। वन रैंक वन पेंशन हमने लागू की। जिस पार्टी के लोग सेना की सर्जिकल स्ट्राइक पर उंगली उठाते हैं, उनसे क्या उम्मीद करें। जिस पार्टी के लोग हमारे सेनाध्यक्ष को गुंडा कहते है और गुंडा को पार्टी में ऊंचे पद पर बैठाए हैं उनसे क्या उम्मीद कर सकते हैं। जब ईमानदारी से सौदे होते हैं तो कांग्रेस बौखला जाती है। एचएएल को 1400 करोड़ की मंजूरी दी गयी। हमने 2016 में 83 नए तेजस विमान खरीदने की स्वीकृति दी। इसे तेज करने की कोशिश नही हुई। इस साल अप्रैल में भारत की कंपनी एक लाख 16 हजार बुलेटप्रूफ जैकेट बना रही है। सरकार ने ऑर्डर दे दिया। हमने 2014 में सरकार बनने के बाद 2016 जैकेट दिए। हमारी सेना की सुरक्षा के प्रति कांग्रेस से 2009 में भारतीय सेना ने लाखों बुलेटप्रूफ जैकेट मांगे मगर 2014 तक नही खरीदा। सेना के लिए मैं कड़ें से कड़े फैसले लेने में पीछे नही हटूंगा। उन माताओं बहनों, बच्चों का मैं जवाबदार हूँ जिंनके घरवाले सेना में हैं। जान की बाजी लगाने वाले सैनिकों को कोई दिक्कत नहीं होने दूंगा। हम पूरा प्रयास कर रहे हैं कि भारत को सेनाएं किसी से कम न हों। जब देश की सुरक्षा की बात हो, सेना की बात हो, तब एनडीए सरकार सिर्फ राष्ट्रहित का ध्यान रखती है। जो सौदा भाजपा सरकार सुरक्षा के लिए कर रही है, उसमे कोई दाग नहीं है। इस घोटाले में कांग्रेस ने अपना वकील बचाने को भेज दिया। कांग्रेस सरकार के क्वात्रोची मामा बोफोर्स घोटाले वाले को देश माफ नहीं करेगा। करगिल युद्ध के बाद वायुसेना को मजबूत करने को जरूरत थी मगर कांग्रेस ने ऐसा नहीं किया। सेना के प्रति कांग्रेस सरकार का रवैया क्या रहा इसके लिए देश उन्हें माफ नही करेगा। हमारे लिए दल से बड़ा देश है और जीवन पर्यंत रहेगा। झूठ बोलने वालों पर सत्य बोलने वालों की विजय होती है। सच को श्रृंगार की जरूरत नहीं होती, झूठ चाहे जितना बोलो इसमें जान नहीं होती। इन लोगों के लिए हमारी सेना झूठी हैं, हमारी सेना की रक्षा मंत्री झूठी हैं, हमारे वायु सेना के अफसर भी झूठे हैं। झूठ की पंक्तियों को कुछ लोगों ने जीवन का मूल मंत्र बना लिया है। कांग्रेस के समय तेजस विमान से जुड़ी हर कड़ी को कमजोर किया गया। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस के पापों को बताने के लिए पूरा सपताह कम पड़ जायेगा।
पीएम मोदी ने कहा कि जिस भारत मां के नारों से गौरव होता है कुछ लोग इस जयघोष पर शर्मिंदगी महसूस करते हैं। मैं तो सेना के शौर्य समर्पण के प्रति प्रहरियों का गौरव गान करके नमन करता हूँ। युद्ध में शामिल हर सैनिक को मैं नमन करता हूँ। 1971 में आज के ही दिन भारत की सेना ने अराजकता व आतंक को धूल चटाई थी। देश के इतिहास में आज का दिन एक और वजह से विशेष है। आपलोग बताइए कि देश की सेना मजबूत होनी चाहिए कि नहीं। उन्होंने कहा कांग्रेस को उसमें भी दिक्कत है। रामचरितमानस में एक चौपाई है झूठै लेना झूठे देना झूठै भोजन झूठ चबेना। आज कुछ लोगों को सत्य हजम नहीं हो पा रहा है। भारत आज सबसे बड़ा देश है। आज जब मैं देश के सपने देखता हूँ। भाजपा पार्टी राष्ट्रहित में सोचती है। इसके लिए हमको कड़े से कड़े फैसले लेने में भी कोई हिचक नहीं है। उन्होंने कहा अगले वर्ष तक देश के सैनिकों को बड़ी संख्या में बुलेटप्रूफ जैकेट प्रदान की जाएगी। पीएम मोदी ने कहा कि देश को यह भी जानकारी देना चाहता हूं कि सेना के जवानों के लिए बुलेटप्रूफ जैकेट भी देश की कंपनी बना रही है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा किआप सोचिए 2007 में स्वीकृत हुई रेल कोच 2010 में फैक्ट्री बनकर तैयार हो गयी। इसके बाद भी उत्पादन शून्य था। इससे पता चलता है कि पहले की सरकारों ने देश के संसाधनों के साथ अन्याय किया। इसकी गवाही रेल कोच फैक्ट्री दे रही है। अब जिस गति से काम हो रहा है वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि यहां मंच पर आने से पहले रेल कोच मॉडर्न फैक्ट्री में था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब आने वाले समय में यहां से 5000 कोच प्रतिवर्ष बनाए जाएंगे।अभी तो प्रतिवर्ष तीन हजार कोच बनेंगे। मैं चाहूंगा अगले वर्ष दो गुना डिब्बे बनें। उन्होंने कहा कि यह हमारी सरकार के काम का नतीजा है कि बीते वर्ष 711 कोच बने। रायबरेली के नौ जवान बहुत अच्छे हैं। यहां के लोगों को यहां काम मिले, हम इसके प्रयास में लगे हैं। भाइयों बहनों मैं छोटा सोचने की आदत नहीं रखता। भाजपा सरकार में नई मशीन लगाई जा रही हैं। हमारी सरकार आने के तीन महीने के भीतर ऐसा कोच निकला जो पूरी तरह रायबरेली रेल कोच में बना हुआ था। हालत ये थी कि 2014 तक यहां की तीन प्रतिशत मशीन काम कर रही थे। चार साल तक इस फैक्ट्री में कपूरथला से लाकर पेंच कस रहे थे।
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज रायबरेली में 1100 करोड़ के प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया है। मैं तो रायबरेली के लोगों व भूमि को नमन करता हूं। इसी भूमि पर पण्डित अमोल शर्मा हुए। यह तो बीरा पासी, राणा बेनी माधव के बलिदान की भूमि है। आज मैं उस भूमि पर हूँ जिसने साहित्य, राजनीति सहित सबको दिशा दिखाई है। इस भूमि के साथ न्याय नहीं किया गया। प्रधानमंत्री ने रायबरेली में कोच फ़ैक्टरी में उत्पादित 900वें रेल डिब्बे व हमसफर रेक को हरी झंडी दिखा कर देश को समर्पित किया। एल्युमिनियम के हल्के कोच बनाकर देश दुनिया की सबसे बड़ी फैक्ट्री बनाना हमारा लक्ष्य है। रेलवे, हाइवे, एयरवे और मोटरवे आदि के लिए दिन रात काम हो रहा है। थोड़ी देर पहले ही बांदा तक जाने वाली सड़क का उद्घाटन किया है। रायबरेली भी स्वस्थ रहे और अपने आसपासो के लोगों को स्वस्थ्य रखें इस नाते मेडिकल कालेज समेत कई योजना दी गई है। हमारे पीएम आवास लोगों की खुशहाली पहुंचा रही है। उन्होंने कहा कि आज के दिन देश के वीर सपूतों ने वलिदान दिया था। उनके सम्मान में जयकारे लगवाए।
रायबरेली व अमेठी का वास्तविक विकास 2014 के बाद से हुआ : योगी आदित्यनाथ
योगी आदित्यनाथ ने कहा रायबरेली का वास्तविक विकास 2014 के बाद से ही हुआहै। प्रधानमंंत्री नरेंद्र मोदी ने बिना किसी भेदभाव के देश के साथ प्रदेश के हर जिले तथा गांव के विकास के बारे में योजना बनाकर उसका क्रियान्वयन किया। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अभी तक रायबरेली विकास के लिए तड़प रहा था। यहां 2014 के बाद से तेजी से विकास के नए आयाम गढ़े जा रहे हैं। यहां पर जुलाई में एम्स शुरू हुआ। सौभाग्य योजना में बिजली 1345 गांव पहुंचाई गई। केंद्र सरकार ने अमेठी और रायबरेली में भी पूरी ईमानदारी से काम किया है। कोई भेदभाव नहीं किया है। पहले की सरकारों ने कभी भी ईमानदारी से कार्य नहीं किया।
उन्होंने कहा कि रायबरेली में डेढ़ वर्ष में 23430 पीएम आवास बनाये गए है। आठ लाख 85 हजार पीएम आवास उत्तर प्रदेश में बन चुके हैं। पीएम आवास योजना ने मील का पत्थर स्थापित किया। स्वच्छ भारत मिशन में रायबरेली में 311858 तथा अमेठी में 214974 इज्जत घर बनाए गए हैं। हम अमेठी में 934 गांव के 5239 मजरों में विद्युतीकरण का कार्य कर रहे हैं।
रायबरेली में 7013 मजरों में विद्युतीकरण कर नि:शुल्क कनेक्शन दिये गए। रायबरेली के 3500 गांव सौर ऊर्जा से युक्त किये गए। सूबे के वीवीआइपी जनपद में सौभाग्य योजना में 1547 गाँव में विद्युतीकरण किया गया। सौभाग्य योजना से प्रत्येक घर में बिजली मिल रही है। उन्होंने कहा कि इससे पहले जाति के आधार पर लोगों ने बांटने का काम किया है। योगी आदित्यनाथ ने कहा रायबरेली की रेल फैक्ट्री नौजवानों को नौकरी दे रही है साथ ही मेक इन इंडिया के स्वरूप को भी साकार कर रही है। रायबरेली विकास के लिए तड़प रहा था। वहां 2014 के बाद से विकास के नए आयाम गढ़े जा रहे हैं। जुलाई में एम्स शुरू हुआ। सौभाग्य योजना में बिजली 1345 गांव पहुंचाई गई। उन्होंने, राज्यपाल, विधानसभा अध्यक्ष, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और क्षेत्रीय विधायक एमएलसी आदि का नाम लेकर उदबोधन शुरू किया।इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रायबरेली को 1100 करोड़ का तोहफा देने के साथ मार्डन रेल कोच फैक्ट्री का निरीक्षण किया। उन्होंने हमसफर एक्सप्रेस के 900वें मार्डन कोच का भी शिलान्यास किया। पीएम मोदी ने हमसफर एक्सप्रेस के 900वें कोच को राष्ट्र को समर्पित किया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीधे मार्डन कोच फैक्ट्री का रुख किया। उन्होंने कोच फैक्ट्री का निरीक्षण किया। इसके बाद यहां पर दो हजार रेल डिब्बों की उत्पादन क्षमता के लिए विस्तारीकरण कार्य का शुभारंभ करने के साथ कोच फैक्ट्री के इस वित्तीय वर्ष में उत्पादित 900वें रेल डिब्बे व हमसफर रैक को राष्ट्र को समर्पित किया। उनके साथ रेल मंत्री पीयूष गोयल भी हैं। रायबरेली में उनका पहला हेलीकॉप्टर 10.20, दूसरा 10:22 पर तथा तीसरा 10.23 पर रेल कोच के कारखाना परिसर में बने हेलीपैड पर पहुंचा। वहां पर उनकी अगवानी तथा स्वागत किया गया। उधर सभा स्थल पर जाने के लिए यहां पर जनसैलाब उमड़ा है। पांडाल के सभी प्रवेश द्वारों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था होने के कारण उत्साहित कार्यकर्ताओं और सतर्क सुरक्षाकर्मियों के बीच कई बार तकरार भी हुई। सुरक्षा बलों ने काली जैकेट पहने लोगो को वापस लौटाया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी कुर्सी संभालने के बाद आज पहली बार कांग्रेस के सनातन गढ़ रायबरेली में चुनावी शंखनाद करेंगे। पीएम मोदी के साथ यहां पर आधा दर्जन केंद्रीय मंत्री के साथ उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक व सीएम योगी आदित्यनाथ भी है।सोनिया गांधी और उनसे पहले नेहरू-गांधी परिवार का राजनीतिक दुर्ग रायबरेली का पीएम नरेंद्र मोदी का यह पहला दौरा होगा। पीएम नरेंद्र मोदी रायबरेली को लगभग 1100 करोड़ रुपये की सौगात देंगे। कांग्रेस का गढ़ रायबरेली को माना जाता रहा है। बीते साढ़े चार सालों में भाजपा ने इसे दरकाने की हर कोशिश की। उसे हल्की सफलता भी मिली। छह महीने पूर्व गांधी परिवार के करीबी कुनबे को साथ जोडऩे में सफल हुई। भाजपा अब आक्रामक मुद्रा में है। प्रदेश की सत्ता भी इस जिले पर पैनी निगाह रखे है। पांच राज्यों के आशा विपरीत चुनाव परिणाम के बाद पीएम जनसभा में जब बोलेंगे, तो कांग्रेस ही उनके निशाने पर होगी।प्रधानमंत्री मोदी का यह दौरा राजनीति के लिहाज से भी बहुत अहम है।
प्रदेश की इस लोकसभा सीट को गांधी परिवार और कांग्रेस का गढ़ कहा जाता है। यहां की सांसद यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी हैं और कभी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी इस क्षेत्र से चुनाव लड़ चुकी हैं। यहां की ही जनता ने एक बार इंदिरा गांधी को हरा भी दिया था। उसके बाद से सिर्फ दो बार ही यह सीट कांग्रेस के खाते में नहीं आई। प्रधानमंत्री का यहां आना महत्वपूर्ण है। इससे यह संदेश जाएगा कि भारत उसके कारखानों में तैयार डिब्बों के निर्यात के लिए प्रतिस्पर्धी बाजार में उतर रहा है। उनका यह दौरा इस लिहाज से काफी अहम है कि भारत की उच्च गुणवत्ता के रेल डिब्बों के विनिर्माण और निर्यात बाजार पर नजर है। रेलवे ने कुछ महीने पहले ही प्रस्ताव दिया था कि वह ऐसे देशों के लिए बुलेट ट्रेन के डिब्बे बनाने और निर्यात करने को इच्छुक है, जो तेज रफ्तार गलियारे का निर्माण कर रहे हैं। कारखाने को लेकर पहले ही कई देश अपनी रूचि दिखा चुके हैं। कोरिया, जापान, जर्मनी, चीन और ताइवान के अधिकारी कारखाने का दौरा कर चुके हैं। रेलवे के एक अधिकारी ने कहा कि कई देश कम उत्पादन लागत की वजह से भारत का इस्तेमाल विनिर्माण के प्रमुख केंद्र के रूप में कर सकते हैं। माडर्न कोच फैक्टरी (एमसीएफ)में पहली बार पूरे डिब्बे का विनिर्माण रोबोट ने किया है। एक किलोमीटर लंबी उत्पादन लाइन में रोबोट को समानांतर तौर पर काम में लगाया गया है, जहां वे डिब्बों पर कुछ-कुछ काम कर रहे हैं। वर्तमान में 70 रोबोट काम में लगे हुए हैं। यह पूरी तरह से ‘मेक इन इंडिया’ है।
भाजपा आम चुनाव 2019 से पहले कांग्रेस के शीर्ष नेताओं को उनके घर में ही घेरने की रणनीति पर तेजी से काम कर रही है। यही कारण है कि अमेठी में केंद्रीय नेतृत्व की सक्रियता के बाद बीते छह महीनों में कई बार भाजपा का शीर्ष नेतृत्व यहां आ चुका है। 21 अप्रैल को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शहर में रैली को संबोधित कर चुके हैं। उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आए थे। तबसे पार्टी नेताओं की सक्रियता बनी हुई है।पार्टी के प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक ने बताया कि रायबरेली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विकास की अलख जगाने आ रहे हैं। इससे यह साफ है कि भाजपा अपने विकास के एजेंडे पर ही पूरी मजबूती से चल रही है। भारतीय जनता पार्टी पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव में पार्टी हार से विचलित न होते हुए पूरा फोकस उत्तर प्रदेश पर कर रही है।
उत्तर प्रदेश से भाजपा को जहां 2014 में उसे 71 सीटों पर जीत मिली थी। प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी आज पहली बार रायबरेली दौरे पर पहुंच रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां एक जनसभा को संबोधित भी करेंगे। देश की सियासत के लिहाज से रायबरेली सदस्यीय सीट हमेशा से ही महत्वपूर्ण रही है। गांधी परिवार की इस सीट को अपने खाते में करने का सपना भाजपा और संघ का लंबे समय से रहा है।

कागजों में ही हो रहा गायों का स्वास्थ्य परीक्षण

0

फर्रुखाबाद: गौसदन की गायों की देखभाल कागजों में ही हो रही है| इसका खुलासा तब हुआ जब हिन्दू महासभा ने उपस्थिति रजिस्टर चेक किया| जिसमे कई जिम्मेदार गायब मिले और कई कई दिनों से गायब थे| जिनकी अनुपस्थिति दर्ज करायी गयी|
जेएनआई पर गौसदन के मुद्दे को समय-समय पर उठाया जाता रहा है| जिससे अधिकारी गौ सदन को लेकर शतर्क है| लेकिन अन्य कर्मी कुछ करना नही चाहते| डीएम के द्वारा डियूटी लगाये जाने के बाद भी पशु विभाग के कई अधिकारी और कर्मी मौके पर आये ही नही| रविवार को हिन्दू महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश मिश्रा,मंडल अध्यक्ष अंकित तिवारी आदि गौसदन कटरी धर्मपुर गये| जिसमे जो डियूटी रजिस्टर बनाया गया उसमे दर्ज कर कर्मी कभी आये ही नही| जिस पर पदाधिकारियों ने सीबीओ को सूचना दी| सूचना देने के बाद पशु चिकित्सक सदर डॉ० पीके शर्मा मौके पर आये जिससे सभी गैर मौजूद कर्मियों की अनुपस्थित लगायी गयी| जिसमे पशुधन प्रसार अधिकारी कौशलेन्द्र सिंह लगातार गायब मिले|

“दीप” के वार्षिकोत्सव पर विभूतियों को किया सम्मानित

0

Posted on : 16-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:साहित्यिक,सामाजिक व सांस्कृतिक संस्था “दीप” के द्वितीय वार्षिकोत्सव के अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में समाज के प्रति अपनी अहम भूमिका निभाने वाले लोगों को सम्मानित किया गया| इसके साथ ही साथ कवियों द्वारा का पाठ भी हुआ|
शहर के घुमना सब्जी मंडी स्थित एक धर्मशाला में आयोजित वार्षिकोत्सव के कार्यक्रम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेष योगदान देने पर डॉक्टर महेश चंद्र गुप्ता, चिकित्सा के क्षेत्र में डॉ महेश गंगवार, समाज सेवा के क्षेत्र में अपना योगदान देने वाले कमल अरोड़ा को सम्मानित किया गया| इसके साथ ही साथ डॉ० राजकुमार सिंह को जगदीश नारायण टंडन स्मृति सम्मान, डॉ० शिवओम अम्बर को दीपशिखा सम्मान से सम्मानित किया गया|
इस दौरान डीएसबीडी पब्लिक स्कूल पांचाल घाट के बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गये| ब्रजकिशोर सिंह किशोर, रामौतार शर्मा, कुलदीप ठाकुर,मुदित टंडन, दिलीप कश्यप आदि ने काव्य पाठ किया| संस्था के संरक्षक निमिष टंडन,राजीव मिश्रा,ठा० सर्वेन्द्र सिंह, संजय गर्ग,अरुण प्रकाश तिवारी ददुआ, अनिल प्रताप सिंह कैलाश चंद कटियार,डॉ० प्रभात अवस्थी व रामजी बाजपेयी आदि मौजूद रहे|

बूथ और सेक्टर मजबूत करें भाजयुमो पदाधिकारी

0

Posted on : 16-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(शमशाबाद) मंडल की भाजयुमो की बैठक में है कार्यकर्ताओं को सेक्टर व बूथ मजबूत करने की नसीहत दी गई| इसके साथ ही साथ बूथ और सेक्टर के कार्यकर्ताओं को उनकी जिम्मेदारी का भी बोध कराया गया|
कस्बे के रमापुर जसू के एक शिक्षण संस्थान में आयोजित युवा मोर्चा शमशाबाद मंडल की बैठक में अध्यक्षता हरि गोविंद सिंह ने की| जिला उपाध्यक्ष पियूष त्रिपाठी ने युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं से कहा कि वह सेक्टर से लेकर बूथ तक का गठन जल्द पूर्ण करें| हर सेक्टर एक-एक सेक्टर अध्यक्ष और दो-दो उपाध्यक्ष होंगे| पियूष त्रिपाठी ने कहा युवा मोर्चा सेक्टर से लेकर बूथ तक के कार्यकर्ता जोड़कर संगठन को मजबूत करें| जिससे आने वाले 2019 में युवा मोर्चा अपनी मुख्य भूमिका अदा कर सके|
जिला महामंत्री भाजयुमो अंकुर मिश्रा ने भी अपने विचार व्यक्त किये| इस दौरान संतोष कुमार,अनुज दीक्षित, शिवपाल, बृजेश कुमार आदि लोग मौजूद रहे|

एबीवीपी विधालयों में आयोजित करेगा युवा दिवस

0

फर्रुखाबाद:अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पदाधिकारियों ने आगामी जनवरी माह में होने वाले युवा दिवस को लेकर रणनीति बनायी| इसके साथ ही आयोजन को लेकर सभी को उनकी जिम्मेदारी भी दी गयी|
नगर के नुनहाई स्थित संघ कार्यालय में आयोजित बैठक में सहमंत्री अभिषेक बाथम ने कहा कि विद्यार्थी परिषद लगातार छात्र-छात्राओं को उनके आत्मविश्वास और राष्ट्र के प्रति उनकी जिम्मेदारी का बोध कराती है| जिला संयोजक आकाश बाजपेई ने कहा कि विद्यार्थी परिषद युवा पखवारे का आयोजन जनवरी माह में करती है| जो कि 12 जनवरी युवा दिवस से 23 जनवरी तक चलता है| यह सारे कार्यक्रम जिले के प्रत्येक विद्यालय में होने तय हुए हैं| प्रान्त सहमंत्री ने भी संगठन पर अपने विचार व्यक्त किये|
इस दौरान अनुराग दुबे,अजीत तिवारी,अभय तिवारी, ज्ञानेश दीक्षित व रोहित शर्मा आदि मौजूद रहे|

पुरानी पेंशन बहाली को लखनऊ कूच की तैयारी

0

Posted on : 16-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:पुरानी पेंशन बहाली के लिए संयुक्त संघर्ष संचालन समिति के द्वारा लखनऊ में विशाल धरना प्रदर्शन करने की रणनीति को अंतिम रूप दिया गया|
शहर के आवास विकास स्थित चंद्रशेखर आजाद पार्क में संगठन ने बैठक कर रणनीति को अंतिम रूप दिया| अध्यक्ष भूपेश पाठक ने कहा कि सभी साथी अपने-अपने विभागों के समस्त अध्यापकों और कर्मचारियों को प्रेरित कर अधिक से अधिक संख्या में 20 दिसंबर को पुरानी पेंशन बहाली अभियान के अंतर्गत यूको गार्डन लखनऊ में पहुंचे| जिससे सरकार पुरानी पेंशन बहाली पर जल्द से जल्द विचार करें| नरेंद्र राजपूत, मनोज कुमार ने भी अपने विचार व्यक्त किये|
इस दौरान राहुल गंगवार, सुधाकर मिश्रा, प्रवेश राठौर, राजेश यादव, आदेश अवस्थी, अश्विनी राजपूत, नरेंद्र राजपूत व प्रदीप चतुर्वेदी आदि लोग मौजूद रहे|

एक मात्र सार्वजनिक मूत्रालय,वह भी गंदगी के हवाले!

0

Posted on : 16-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, NAGAR PALIKA, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:स्वच्छ भारत अभियान प्रधानमंत्री की प्राथमिकताओं में भले ही शुमार हो, लेकिन नगर पालिका को इससे सरोकार नहीं। नगर पालिका के कर्मचारियों की मनमानी के चलते स्वच्छ भारत अभियान को पलीता लग रहा है। लोगों को परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है। जिसका जीता-जागता उदाहरण है नगर का एक मात्र सार्वजिक मूत्रालय जिसमे गंदगी का अंबार है| महीनों से उसे साफ़ नही किया गया|
नगर के रेलवे रोड पर एसबीआई की दीवार के निकट एक सार्वजनिक मूत्रालय पालिका द्वारा बनाया गया है| जिसमे महिलाओं और पुरुषों को लिए अलग-अलग मूत्रालय बनाया गया है| लेकिन आज की तिथि में वह गंदगी का अम्बार है| जिसे देखने वाला नही है| नतीजा यह हुआ है कि लोग खुले में ही गंदगी करने पर मजबूर है| नगर पालिका सफाई के नाम के होर्डिंग व बाल पेंटिग में लाखो रूपये का वजट खर्च कर रही है|

ताज हासिल करने को ऑनलाइन पसीना बहा रहीं सुंदरियां

1

Posted on : 16-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, सामाजिक

फर्रुखाबाद:युवा महोत्सव का ताज किसके सिर सजेगा, यह तो भविष्य के गर्भ में है लेकिन जनपद में होने वाले रूप-सौंदर्य के इस मेगा शो के लिए सुंदरियों ने जोर आजमाइश शुरू कर दी है। जिसके लिए संस्था सभी प्रतिभागियों का ऑनलाइन परखा जा रहा है| फ़िलहाल रविवार तक संस्था के पास कुल दो सैकड़ा आवेदन आ चुके है|
नगर में आगामी 17 जनवरी को 15 वें फर्रुखाबाद महोत्सव का आयोजन होना है| जिसके लिए महोत्सव की आयोंजन समिति ने लगभग सभी तैयारी पूर्ण कर ली है| कार्यक्रम का पूरा ग्राफ लगभग तैयार हो गया है| लेकिन अभी सुन्दरियों के आवेदन आने जारी है| संस्था के अध्यक्ष डॉ० संदीप शर्मा ने बताया कि आडिशन 30 दिसम्बर तक लिए जायेंगे| इसके बाद महोत्सव में प्रतिभाग के लिए प्रतिभागियों का चयन किया जायेगा| महोत्सव के कार्यक्रम 6 जनवरी से मेंहदी प्रतियोगिता के आयोजन के साथ ही शुरू हो जायेंगे| इस बार भुवनेशवर,रामगढ़,देहली,कलकत्ता व अम्बाला से आने वाली प्रतिभागियों में युवा महोत्सव में शामिल होने की तैयारी है| जिसमे डाक्टर,मास्टर,एडवोकेट,एमबीए,बीटीसी आदि करने वाली युवतियों शामिल होंगी| सभी आवेदकों के ऑनलाइन लिए जा रहे है और टेस्ट भी ऑनलाइन ही लिया जा रहा है|
तकरीबन दस तरह की आयोजित होंगी प्रतियोगिताएं
युवा महोत्सव में मिस,मिस्टर,मिसेज फर्रुखाबाद,कानपुर सीजन,यूपी,इंडिया,ग्रान्ड इंडिया,मिस टीन इंडिया,मिस मॉडल की प्रतियोगिता आयोजित होगी|
अप्सरा नही बन पायेंगी प्रतिभागी
इस बार आयोजन समिति ने अधिक समय खराब होने के चलते अप्सरा चरण को समाप्त कर कर दिया है|

ठंड की दस्तक के साथ संडे बाजार में बढ़ी गर्म वस्त्रों की बिक्री

0

Posted on : 16-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:मौसम में ठंड ने दस्तक दे दी है। तापमान में आई गिरावट से मार्केट में ऊनी कपड़ों की मांग बढ़ गई है। मौसम में हुए बदलाव से बच्चों के गर्म कपड़ों, ऊन, शाल व रुई आदि की दुकानों में भीड़ उमड़ने लगी है। इस बार गर्म कपड़ों के रेटों में भी पिछली सर्दी से काफी बढ़ोतरी हुई है। इनकी खरीददारी करने वाले लोग गर्म कपड़ों के रेट सुनकर जरूरी चीजों को लेकर सिर्फ काम चला रहे हैं।
बीते कुछ दिनों से अचानक ठंड बढ़ने से शहर के नेहरु रोड पर लगने वाले रविवार बाजार में ऊनी कपड़ों की मांग बढ़ गई है। लोगों बच्चों के लिए ऊनी कपड़ों की खरीददारी करते रविबार को नजर आये| इसके अलावा रुई और ऊन की भी मांग में बढ़ोत्तरी हो गई है। लोग रजाई की फर्द, गद्दे आदि को भरवाने के लिए रुई की भी खरीददारी करने लगे हैं। अचानक गर्म कपड़ों व रुई के ग्राहकों के बढ़ने से इनके दामों में भी तेजी आ गई है। नेहरु रोड पर कपड़ा व्यवसायी सचिन ने बताया कि इस बार शुरू में ही काफी मौसम में ठंड बढने से गर्म कपड़ों की बिक्री में तेजी आ गई है। इसके साथ ही शोरूमों में भी गर्म कपड़ों की बिक्री तेज हो गयी है|
पिछले साल की अपेक्षा इस बार ऊनी कपड़ों के दाम भी काफी बढ़े हुए हैं। लेकिन इस बार अभी से ठंड अधिक पडने से गर्म कपड़ों की अच्छी उठान होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि ठंड बढ़ने से गर्म कपड़ों की मांग काफी बढ़ गई है लेकिन दामों में तेजी होने से लोग सिर्फ काम चलाने के लिए ही खरीददारी कर रहे हैं। इसके अलावा रुई से बनने वाली चीजों की भी मांग बढ़ी हुई है।

विजय दिवस:एक तारीख जिसने बदल दी दो मुल्कों की किस्मत, इतिहास और भूगोल भी

0

Posted on : 16-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, राष्ट्रीय, सामाजिक

नई दिल्ली:1947 में भारत से अलग होने के बाद पाकिस्तान की किस्मत में एक और बंटवारा लिखा था। पश्चिमी पाकिस्तान की ओर से हो रही उपेक्षा और सियासी तिरस्कार से पूर्वी पाकिस्तान के लोगों में जन्मे आक्रोश ने पाकिस्तान के इतिहास और भूगोल को हमेशा-हमेशा के लिए बदल दिया। वो तारीख थी, 16 दिसम्बर 1971 और घटना थी – बांग्लादेश की मुक्ति की। मुक्ति पाक सेना के अत्याचारों से, उसके शोषण से, कलेजा फाड़ देने वाले उनके कुकृत्यों से, सियासी तिरस्कारों से। 16 दिसंबर को पाकिस्तान का पूर्वी हिस्सा आजाद हो गया और दुनिया के नक्शे पर एक नए मुल्क बांग्लादेश का जन्म हुआ।
दरअसल बांग्लादेश के जन्म की पृष्ठभूमि से जुड़ी बात ये है कि पाकिस्तान के तत्कालीन सैन्य तानाशाह याह्या खान ने आम चुनाव में विजयी रहने के बाद भी मुस्लिम लीग के नेता शेख मुजीब-उर-रहमान को पीएम नहीं बनने दिया। मुजीब-उर-रहमान ने संसद में बहुमत भी साबित कर दिया था। उन्हें पीएम बनाने के बजाए जेल में डाल दिया गया। पूर्वी पाकिस्तान के नेता के साथ हुई इस घटना ने सियासी तौर पर दरकिनार किए जाने वाले पाकिस्तान के पूर्वी इलाके में आक्रोश को जन्म दे दिया। इसे कुचलने के लिए जनरल टिक्का खान ने बल प्रयोग किया।
25 मार्च 1971 को पाक सेना और पुलिस ने पूर्वी पाकिस्तान में जमकर नरसंहार किया। लगभग आठ महीने तक चले अत्याचार के दौरान पाकिस्तानी सेना के हाथ मासूमों के खून से रंग गए। 14 दिसम्बर 1971 को पाक सेना और उसके समर्थकों ने 1000 से अधिक बंगाली बुद्धिजीवियों को मार डाला। रजाकर, अल बदर और अल शम्स जैसे संगठनों ने काफी कत्ल-ए-आम मचाया। बंगाली बुद्धिजीवियों को उनके घरों से खींचकर मार डाला गया। इनका मकसद था कि नए राष्ट्र में बुद्धिजीवियों की पीढ़ी खत्म कर दी जाए।
25 मार्च को नरसंहार के बाद ही पाक सेना में पूर्वी पाकिस्तान के तैनात जवानों ने बगावत कर दी और मुक्ति वाहिनी का गठन कर दिया और पाक सेना के अत्याचार के खिलाफ खड़े हो गए। मुक्ति वाहिनी को सबसे बड़ा साथ मिला पड़ोसी देश भारत का, तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने मुक्ति वाहिनी को समर्थन दिया और फिर भारत-पाकिस्तान के बीच 1971 की जंग शुरू हो गई। भारतीय सैनिकों की जांबाजी के आगे पाकिस्तान की हेकड़ी खत्म हो गई, 93 हजार से अधिक पाक सैनिकों ने बंदूकें डाल दी। भारतीय जनरल जगजीत सिंह के सामने पाकिस्तान के जनरल नियाजी ने भी आत्मसपर्पण कर दिया।
16 दिसम्बर 1971 को बांग्लादेश का जन्म हुआ और अवामी लीग के नेता शेख मुजीब बांग्लादेश के पहले राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री बने। लेकिन इस स्वतंत्रता में 30 लाख लोग पाक सेना की बर्बरता का शिकार होकर शहीद हो गए। पाक सेना ने महिलाओं और बच्चों तक को नहीं छोड़ा। पाकिस्तान के तत्कालीन तानाशाह यह नहीं समझ पाए कि मासूमों पर होने वाला जुल्म उनके ही मुल्क की किस्मत को बदल देंगे और उनका एक हिस्सा उनसे सदा के लिए आजाद हो जाएगा।