Featured Posts

निर्माणधीन बिजली घर चौकीदार नत्थू सिंह की हत्या में चार गिरफ्तारनिर्माणधीन बिजली घर चौकीदार नत्थू सिंह की हत्या में चार गिरफ्तार फर्रुखाबाद:फर्रुखाबाद: बीते 30 अक्टूबर की रात निर्माणाधीन बिजली घर में सो रहे चौकीदार की हत्या कर सिर पर सीमेंट की बोरी रख दी गयी थी| घटना के तकरीबन डेढ़ महीने बाद पुलिस ने हत्या का खुलासा किया| जिसमे पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है| थाना राजेपुर के ग्राम महमदपुर...

Read more

उपमुख्यमंत्री की सभास्थल से कुछ दूर हिन्दू महासंघ का धरनाउपमुख्यमंत्री की सभास्थल से कुछ दूर हिन्दू महासंघ का धरना फर्रुखाबाद: कटरी धर्मपुर गौसदन में गायों की दुर्दशा को लेकर विश्व हिन्दू महासंघ ने धरना दिया| धरने की सूचना पर एसडीएम सदर ने मौके पर जाकर ज्ञापन लिया और धरना समाप्त करा दिया| संगठन के जिलाध्यक्ष अविनाश दुबे ने नेतृत्व में पदाधिकारी रोडबेज बस अड्डे लाल दरवाजे के निकट स्वराज...

Read more

उपमुख्यमंत्री का काफिला रोंक अलीगंज को जिला बनाने की मांगउपमुख्यमंत्री का काफिला रोंक अलीगंज को जिला बनाने की मांग फर्रुखाबाद:उपमुख्यमंत्री केशब प्रसाद मौर्य का काफिला रोंककर अलीगंज को जिला बनाये जाने की मांग की गयी है | इस सम्बन्ध में एक पत्र भी डिप्टी सीएम को सौपा गया है| उन्होंने इस पर जल्द कार्यवाही की बात कही है| केशव प्रसाद मौर्य सभा समाप्त करके जब निरीक्षण भवन फतेहगढ़ पंहुचे वहां...

Read more

जिला उपाध्यक्ष की शिकायत पर उपमुख्यमंत्री ने दिये कार्यवाही के निर्देशजिला उपाध्यक्ष की शिकायत पर उपमुख्यमंत्री ने दिये कार्यवाही... फर्रुखाबाद:शमशाबाद नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष व वर्तमान में बीजेपी के जिला उपाध्यक्ष विजय गुप्ता ने उप मुख्यमंत्री मंत्री केशव प्रसाद मौर्य से फतेहगढ़ निरीक्षण भवन में मुलाकात की| उन्होंने आरोप लगाया कि क्षेत्राधिकारी कायमगंज के दबाव में उनकी माँ नगर पंचायत अध्यक्ष...

Read more

सपा,बसपा व कांग्रेस बिन दुल्हे की बारात: केशब प्रसाद मौर्यसपा,बसपा व कांग्रेस बिन दुल्हे की बारात: केशब प्रसाद मौर्य फर्रुखाबाद:जनपद आये उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जिले के 33 मार्गो के साथ ही रेलवे ओवरब्रिज के साथ कुल 15843.64 लाख की योजनाओं का बटन दबाकर शिलान्यास किया| इस दौरान वह पूरी तरह से विरोधियों पर हमलावर रहे| उन्होंने कहा आगामी लोकसभा चुनाव में मोदी फिर से पीएम बनेंगे| लेकिन...

Read more

सोशल मीडिया पर पीएम के खिलाफ अशोभनीय पोस्ट पर एनएसए के खिलाफ तहरीरसोशल मीडिया पर पीएम के खिलाफ अशोभनीय पोस्ट पर एनएसए के खिलाफ... फर्रुखाबाद:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभद्र पोस्ट करने के मामले में बीजेपी नेता भडक गये| उन्होंने नगर शिक्षा अधिकारी के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी| बीजेपी के फतेहगढ़ मंडल अध्यक्ष रामवीर चौहान के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ता कोतवाली पंहुचे| रामवीर...

Read more

सरकार के अफसर ही कर रहे पीएम मोदी की फजीयत!सरकार के अफसर ही कर रहे पीएम मोदी की फजीयत! फर्रुखाबाद:सोशल मीडिया पर इन दिनों जिले के बेसिक शिक्षा विभाग के एक अफसर द्वारा डाली गयी पीएम मोदी की तस्वीर में कायदे से फजीयत करने का प्रयास किया गया है| लेकिन इसके बाद भी अभी एक सरकारी महकमे में कार्यवाही किये जाने को लेकर चर्चा तक शुरू नही हुई| यह सही है की लोकतन्त्र...

Read more

सरकारी पदों पर सामाजिक समीकरणों को ध्यान में रख हो तैनाती:अनुप्रिया पटेलसरकारी पदों पर सामाजिक समीकरणों को ध्यान में रख हो तैनाती:अनुप्रिया... फर्रुखाबाद:अपना दल की मासिक बैठक में हिस्सा लेने आयी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने साफ़ किया की उन्हें सरकारी पदों पर बराबरी का दर्जा चाहिए| उन्होंने कहा की सरकार पुलिस व प्रसासनिक पदों पर सामजिक समीकरणों का ध्यान रखकर नियुक्ति करे| शहर के...

Read more

दलाई लामा बोले करुणा सभी धर्मों का मूल उद्देश्यदलाई लामा बोले करुणा सभी धर्मों का मूल उद्देश्य मैनपुरी:तिब्बती धर्मगुरु दलाईलामा का मानना है कि व्यक्ति को खुद के अंदर सुधार कर धर्म की ओर अग्रसर होना चाहिए। शुद्ध आचरण करने से मन को मिलने वाली शांति आध्यात्म की ओर अग्रसर करती है। उन्होंने करुणा को सभी धर्मों का मूल उद्देश्य बताया है। 14 वें दलाईलामा तेनजिन ज्ञात्सो...

Read more

दलाई लामा के मंच पर पिस्टल लेकर पंहुचा अपर्णा यादव का सुरक्षाकर्मी,मचा हड़कम्पदलाई लामा के मंच पर पिस्टल लेकर पंहुचा अपर्णा यादव का सुरक्षाकर्मी,मचा... फर्रुखाबाद:बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा के मंच पर उस समय हड़कम्प मच गया जब पूर्व मुख्यमंत्री की पुत्रबधु का सुरक्षा कर्मी पिस्टल लेकर मंच पर चढ़ गया| यह देखकर पुलिस कर्मियों के हाथ पैर फूल गये| जिसके बाद उसे पुलिस अधिकारियों ने बाहर किया| दरअसल माजरा यह है की मैनपुरी के राजघाट...

Read more

मोदी का सीना 56 से 57 इंच हो गया लेकिन दम नही: शिवपाल

0

लखनऊ:प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) की जनाक्रोश रैली के सभामंच पर मुलायम सिंह यादव के पहुंचने से कार्यकर्ताओं में जोश भर गया। शिवपाल ने उनकी अगवानी की और हाथ का सहारा देकर रैली मंच पर ले गए। मुलायम की बहू अपर्णा यादव भी रैली में पहुंची। इस मौके पर उमड़ी भीड़ देखकर गदगद शिवपाल यादव ने कहा कि रैली देश से भाजपा को हटाने के लिए है। देश 51304 अरब के कर्ज है। 1086 वर्ग मील पर पाकिस्तान का और 37 हजार किमी पर चीन का कब्जा है। पीएम नरेंद्र मोदी कहते हैं कि उनका 56 इंच का सीना है। अब एकाध इंच बढ़कर 57 इंच हो गया होगा लेकिन आपके सीने में दम नहीं है। पाकिस्तान तक का कब्जा बढ़ता जा रहा है।
नेताजी से पूछकर बनाई पार्टी
शिवपाल ने कहा कि यहां नेताजी बैठे हैं। आपके साथ मैंने 40 साल काम किया है। हम तो नेताजी से साथ सपा में ही रहना चाहते थे। मुख्यमंत्री क्या मंत्री का भी पद नहीं मांगा। नेताजी ने जो आदेश दिया उसका पालन किया। परिवार में चाहे छोटा हो या बड़ा है सबकी बात सुनी। आप सब लोग थे रजत जयंती पर मैंने कहा था कि मुझे कोई पद नहीं चाहिये। मुझे तो बस सम्मान चाहिए था। नेताजी के सम्मान चाहिये था। नेताजी मैने बहुत इंतजार किया। आपने भी बहुत प्रयास किया। लेकिन यह सब चुगलखोर, चापलूसों और और जनाधार विहीन लोगों की वजह से हुआ। मैंने उनका भी सम्मान किया लेकिन नेताजी न आपकी सुनी गई और न मेरी सुनी गई। तब मैंने आपसे पूछकर पार्टी बनाई। भगवती सिंह, रामनरेश यादव गवाह है कि आपसे पूछा था। दुबारा भी आपसे पूछा तब पार्टी बनाई। देश को फिर से दंगे में झोंकने की साजिश है। नेताजी आप मुख्यमंत्री थे तब अक्टूबर 1989 में आपने बाबरी को बचाया था लेक़िन 1992 में क्या हुआ। हम देश को फिर दंगे में नही झोंकने देंगे।
मुलायम की छोटी बहू अपर्णां क्या बोलीं
मुलायम की छोटी बहू अपर्णां यादव ने कहा कि आज की रैली इस बात का सबूत है कि शेर को चोट नहीं देनी चाहिए। जब नेताजी (मुलायम) को चोट पहुंची तो वह शिक्षक से राजनेता बने। अब चाचा (शिवपाल) को चोट पहुंची है। देखिए क्या होता है? उल्लेखनीय है कि सपा से अलग होकर शिवपाल सिंह यादव आज अपनी पहली रैली के जरिए राजनीतिक ताकत का अहसास करा रहे हैं। उनके समर्थकों ने रैली को सफल बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक रखी है। जनाक्रोश रैली में भीड़ जुटी है। शिवपाल की रैली को सेक्युलर मोर्चा के बैनर से जुड़े 40 से अधिक छोटे दलों का भी समर्थन है।
मुलायम के पहुंचते ही कार्यकर्ताओं में जोश
अपर्णा ने जनाक्रोश रैली मंच से कहा कि भारत एक सेक्युलर देश है। हमें पानी, बिजली, सड़क सब चाहिए पर आज हमको ऐसा कुछ नहीं मिला। किसान, मजदूर, युवा, किसी की भी सुनवाई नहीं हो रही है। आज परिवर्तन का दिन है, 2019 में आप तय करिए कि आपको किसको चुनना है। मैं आभारी हूं कि चाचा ने मुझे बोलने का मौका दिया, मैं तन मन धन हर तरह से आपके साथ हूं। शिवपाल सिंह यादव हमेशा कहते रहे हैं कि बड़े भाई मुलायम सिंह यादव के आशीर्वाद से ही उन्होंने पार्टी बनाई है। आज मुलायम के रैली मंच पर पहुंचते ही कार्यकर्ताओं में जोश भर गया। समझा जाता है कि दूसरे दलों के कई प्रमुख नेता पार्टी की सदस्यता भी ग्रहण कर रहे है। जनाक्रोश रैली के जरिए जनसाधारण के आक्रोश को स्वर देने की बात कही गई है। गरीब, किसान, मजदूर के आक्रोश को स्वर देना इस आयोजन का इरादा है।
नए संदर्भों में सामाजिक न्याय के लिए संघर्ष
शिवपाल ने कह रखा है कि हम सामाजिक विकास में पिछड़ गए तमाम जातीय समूहों और वर्गो को अपने साथ जोडऩा चाहते हैं। पार्टी सामाजिक न्याय की लड़ाई को नए संदर्र्भों से जोड़ते हुए लड़ेगी। जनाक्रोश रैली के लिए रमाबाई अंबेडकर मैदान और आसपास का इलाका पार्टी के झंडों, बैनरों, होर्डिंग्स व पोस्टरों से सजाया गया था। यूपी के जेहन में सवाल, उम्मीद शिवपाल, फिर संघर्ष की मशाल, आपके लिए निकल पड़े शिवपाल, हजार सवाल और एक जवाब शिवपाल जैसे नारे लिखे होर्डिंग्स से राजधानी पटी नजर आती रही।
रैली में प्रदेश भर के शिवपाल समर्थक
शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी में उपेक्षा से क्षुब्ध होकर पहले समाजवादी सेकुलर मोर्चा और फिर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) बनाई और 75 जिलों में संगठनात्मक ढांचा खड़ा किया। इसके बाद आनुषांगिक संगठनों को सक्रिय किया। रैली के लिए शिवपाल के समर्थक प्रदेश के कोने-कोने से यहां पहुंचे हैं। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सीपी राय ने अभूतपूर्व रैली का दावा किया है।

साफ दिखने लगा है बीते चार वर्ष का विकास कार्य:पीएम मोदी

0

Posted on : 12-11-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Narendra Modi, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय

वाराणसी:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में देश का पहला अंतरदेशीय जल मार्ग राष्ट्र को समर्पित किया। इस अंतर्देशीय जलमार्ग टर्मिनल से बंगाल के हल्दिया से वाराणसी तक जलमार्ग संचालित किया जाएगा। इसके बाद उन्होंने एयरपोर्ट से वाजिदपुर का रुख किया। इस दौरान जनता ने हर-हर महादेव के नारे के साथ पीएम नरेंद्र मोदी का अभिवादन किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिंग रोड और लाल बहादुर शास्त्री एयरपोर्ट रोड का उद्घाटन किया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका बाद जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि वाराणसी को जो तोहफा आज मिल रहा है, वह तो दशकों पहले मिल जाना चाहिए थे। जो आज हुआ है वो दशकों पहले होना चाहिए था। जो की नहीं हुआ।उन्होंने कहा कि देश का प्रधानसेवक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- देश का प्रधानसेवक होने और वाराणसी का सांसद होने के नाते मुझे आज दोहरी ख़ुशी है। वाराणसी और देश, इस बात का गवाह बना है कि संकल्प लेकर जब कार्य समय पर सिद्ध किए जाते हैं, तो उसकी तस्वीर कितनी भव्य और कितनी गौरवमयी होती है।
पीएम मोदी ने कहा कि वाराणसी और देश, इस बात का गवाह बना है कि नेक्सट जनरेशन इंफ्रास्ट्रक्चर की अवधारणा तथा कैसे ट्रांसपोर्ट के तौर-तरीकों का कायाकल्प करने जा रही है। कुछ देर पहले मैंने नदी मार्ग से पहुंचे देश के पहले कंटेनरवेसल का स्वागत किया। आज मैं प्रफल्लित हूं कि देश ने जो सपना देखा था वो आज साकार हुआ है। उन्होंने कहा कि आज वाराणसी इस बात का भी गवाह है कि संकल्प लेकर जब कार्य समय पर सिद्ध किए जाते हैं तो तस्वीर भव्य और उज्जवल ही नहीं गौरवमय भी होती है। न्यू जनरेशन इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ कायाकल्प भी हो रहा है। प्रधान सेवक होने के साथ ही मेरे लिए दोहरी खुशी का मौका है। पवित्र भूमि से हर किसी का आध्यात्मिक संपर्क है। आज जल थल नभ तीनों को जोडने वाली नई ऊर्जा का संचार क्षेत्र में हुआ है। नदी मार्ग से पहुंचे देश के पहले कंटेनर वेसेल का स्वागत किया। मल्टीमॉडल टर्मिनल का लोकार्पण किया। दशकों लग गए मगर प्रफुल्लित आनंदिन हूं जो आज काशी की धरती पर सपना साकार हुआ है। कंटेनर वेसेल चलने का मतलब पूर्वी भारत भी बंगाल की खाड़ी के साथ जुड़ गया है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज यहां बाबतपुर हवाई अडडे से सड़क रिंग रोड और कनेक्टिविटी के साथ अन्य परियोजनाओं के साथ गंगा को प्रदूषण से रोकने वाली योजना का लोकार्पण व शिलान्यास किया गया है। यह बदलते बनारस की तस्वीर को और भव्य बनाएंगे। आपको पूरे पूर्वांचल को बधाई देता हूं। पहला अवसर है जब नदी मार्ग को कारोबार के लिए इतने व्यापक स्तर पर इस्तेमाल करने को सक्षम हुए। चार साल पहले बनारस हल्दिया को जलमार्ग से जोडने का प्रयास शुरू किया तो नकारात्मक बाते हुईं। मजाक उडाया गया। मगर जहाज के आने के साथ ही सबको जवाब मिल गया। यह पहला कंटेनर वेसेल माल ढुलाई नहीं न्यू इंडिया का जीता जागता सुबूत है। प्रतीक है जिसमें देश के संसाधनों और देश के सामथ्र्य पर भरोसा किया जाता है। आज कंटेनर वेसेल औद्योगिक सामान लेकर आया है वह खाद लेकर जाएगा। यानि प्रदेश में बना सामान सीधे पूर्वी भारत के बंदरगाहों तक पहुंच पाएगा। वह दिन दूर नहीं जब यहां होने वाली सब्जियां व अन्य उत्पाद इसी जलमार्ग से जाया करेगी। सोचिए यहां किसानों के लिए लाखों लोगों के लिए कितना बडा रास्ता खुल रहा है। कच्चा माल मंगाने और वैल्यू एडीशन कर बाहर भेजने में इसकी बडी भूमिका होगी।
पीएम मोदी ने कहा कि आपके उत्साह प्यार के लिए नौजवानों का आभारी हूं, 2019 में जरूरत पड़ेगी। बदलाव कैसे आने वाला है उसको बारीकी से समझाना चाह रहा हूं। रोरो सर्विस शुरू होगी तो लंबी दूरी तय करने के लिए नया विकल्प मिलेगी। सीधे जहाज से दूसरे शहरों तक वाहन पहुंच जाएंगे। सामान सड़क से लाया जाता तो 16 ट्रक लगते। प्रति ट्रक साढे चार हजार रुपये बचेंगे। कुल मिलाकर जलमार्ग से समय और पैसा बचेगा। जलमार्ग से कितनी मदद होने वाली है। भीड और ईंधन से राहत मिलेगी। प्रदूषण घटेगा। नदियों में जहाज चलते थे। मगर मार्ग मजबूत करने के बजाय उपेक्षा की गई। देश का नुकसान किया गया। आपसे प्रार्थना है बहुत लंबे समय से लोग इंतजार कर रहे थे। शांति बनाए रखोगे तो नई बात है काशी वासियों को यह जानना जरूरी है। आप सोचिए सामथ्र्य नदियों की शक्ति के साथ सरकारों ने अन्याय किया। इसे समाप्त करने का काम हमारी सरकार कर रही है। आज देश में सौ से ज्यादा वाटरवे पर काम हो रहा है।
वाराणसी से हल्दिया के बीच पांच हजार करोड खर्च कर सुविधा विकसित हो रही है। पूर्वी भारत को बड़ा फायदा मिलेगा। सामान ढुलाई ही नहीं बल्कि पूर्वी भारत के राज्यों नहीं एशियाई देशों से भी जोडेगा। समय के साथ टूरिज्म के लिए भी जाने जाएंगे। काशी की सभ्यता और संस्कार सब उसके अनुरुप होगा। आधुनिक स्वरूप के साथ ही विकास का नक्शा चलेगा।
पीएम मोदी ने कहा कि आधुनिक स्वरूप के साथ रास्ते नेचर कल्चर और एडवेंचर का संगम स्थल बनेगा। वाराणसी, भदोही और मीरजापुर कारपेट ही नहीं टेक्सटाइल का हब बन रहे हैं। इंडिया कारपेट एक्सपो की शुरूआत की थी। काशी से कोलकाता वाटरवे से उनको भी फायदा होगा। सुगमता का सुविधा से सीधा रिश्ता होता है। सेल्फी ले रहे हैं, सोशल मीडिया में बनारस छाया हुआ है। त्योहारों का समय है जो हवाई जहाज से घर आया होगा गर्व से भर गया होगा। बाहर गए लोग शहर आ रहे हैं तो उन्हें यकीन नहीं हो रहा है कि हरहुआ शिवपुर और तरना से गुजर रहे हैं। सडकें रुलाती थीं मगर अब स्थिति बदल गई है। बाबतपुर एयरपोर्ट को शहर से जोडने वाली सडक चार लेन की हो गई है। पर्यटकों को अपने ओर आकर्षित करने लगी है। जौनपुर सुल्तानपुर और लखनऊ की राह सुगम होगी। गोरखपुर लखनऊ व आजमगढ, अयोध्या जाने के लिए शहर में आने की जरूरत नहीं होगी। पूरा करने का प्रयास शुरू हुआ तो पूरा भी हुआ। दूसरे काम भी जल्द पूरे हो जाएंगे। बनारस में जाम की समस्या कम होगी और प्रदूषण भी घटेगा। सारनाथ जाना आसान होगा। हेलीपॉड से भी कनेक्टिविटी होगी। विश्वास भी लोगों में बढ़ जाता है। आज जितनी परियोजनाओं का शिलान्यास लोकार्पण हुआ है उससे रोजगार भी बढेगा।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार देश का विकास कर रही है। देश विकास की राजनीति चाहता है। वोट बैंक की राजनीति नहीं करती है। चार वर्षों में आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास साफ नजर आता है। नॉर्थ ईस्ट में भी रेल पहुंच रही है। नेशनल हाइवे एक्सप्रेस वे सरकार की पहचान बन गई है। सामान्य जरूरतों जैसे स्वच्छता और स्वास्थ्य पर भी काम किया है। दायरा जो पहले चालीस फीसद था अब 95 फीसद हो चुका है। गरीब से गरीब का भी अस्पताल में इलाज सुनिश्चित हुआ है। दो लाख से ज्यादा गरीबों का मुफ्त इलाज हो चुका है। हमारी नदियों को भी स्वस्थ रखने का फैसला लिया है। नमामि गंगे नए पडाव पर पहुंचा है। गंदे पानी के ट्रीटमेंट के लिए लोकार्पण शिलान्यास किए। दीनापुर में तीन प्लांट शहर की गंदगी को मां गंगा में मिलने से बचाएगा।
रामनगर प्लांट भी जल्द तैयार हो जाएगा। सरकार गंगा का पैसा पानी में नहीं बहा रही। बल्कि साफ करने में लगा रही है। नमामि गंगे परियोजना में पांच हजार करोड से काम चल रहा है। गांव ओडीएफ हो रहे हैं। गंगोत्री से गंगा सागर तक गंगा को निर्मल और अविरल बनाने का प्रयास चल रहा है। जन भागीदारी और जनभावना से काम हो रहा है। पुरानी सरकारों ने हजारों करोड़ बहा दिए। आज कुछ इलाकों में बिजली सुधार किया गया है। आइपीडीएस के तहत काम पूरा हो चुका है। जो तारों का जाल लटकता था अब अंडर ग्राउंड है। यह बड़ा कदम है। शहर के अन्य क्षेत्रों में भी इसे विस्तार दिया जाएगा। आपके प्रयासों ये काशी की यह तस्वीर देश दुनिया के सामने आ रही है। सहेजना है इसे ताकि गौरवगान होता रहे। प्रवासी भारतीय दिवस काशी के पावन भूमि पर होना है आपकी ही तरह ही देश दुनिया से आए लोगों के स्वागत के लिए मौजूद रहूंगा।
यह कंटेनर वेसल चलने का मतलब है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वांचल और पूर्वी भारत जलमार्ग से अब बंगाल की खाड़ी से जुड़ गया है। उन्होंने कहा कि आज यहां बाबतपुर हवाई अड्डे से शहर को जोडऩे वाली सड़क, रिंग रोड, कनेक्टिविटी से जुड़े प्रोजेक्ट, बिजली के तारों को अंडरग्राउंड करने से जुड़ी परियोजना, मां गंगा को प्रदूषण मुक्त करने के प्रयासों को बल देने वाली अनेक परियोजनाओं का भी लोकार्पण और शिलान्यास यहां किया गया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस बार मेरा सौभाग्य रहा कि मुझे दीपावली के दिन बाबा केदारनाथ के दर्शन करने का अवसर मिला। अब बाबा विश्वनाथ की नगरी में, आपसे आशीर्वाद लेने का मौका मिला है। उत्तराखंड में, मैं माता भगीरथी की पूजा करके धन्य हुआ, तो आज यहां, अब से कुछ देर पहले मां गंगा के दर्शन भी किए।कंटेनर वेसल चलने का मतलब है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वांचल और पूर्वी भारत जलमार्ग से अब बंगाल की खाड़ी से जुड़ गया है। इस जलमार्ग से समय और पैसा बचेगा। सड़क पर भीड़ भी कम होगी। ईंधन का खर्च भी कम होगा और गाड़ियों से होने वाले प्रदूषण से भी राहत मिलेगी।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 800 करोड़ रुपए की लागत से बाबतपुर एयरपोर्ट को शहर से जोड़ने वाली सड़क ना सिर्फ चौड़ी हो गई है, बल्कि देश-विदेश के पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करने लगी है। इस सड़क से काशी वासियों का, पर्यटकों का समय तो बचेगा ही, जौनपुर, सुल्तानपुर और लखनऊ तक की यात्रा भी सुगम हो जाएगी। बीते 4 वर्षों में कितनी तेजी के साथ आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास हुआ है, वो अब स्पष्ट दिखता है। दुर्गम स्थानों पर नए एयरपोर्ट। नॉर्थ-ईस्ट के दूर दराज के क्षेत्रों में पहली बार ट्रेन पहुंच रही। ग्रामीण सड़कों और शानदार हाईवे का जाल हमारी सरकार की पहचान बन चुका है।पीएम मोदी ने कहा नमामि गंगे मिशन के तहत अब तक 23 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाओं को स्वीकृति दी जा चुकी है। गंगा के किनारे के करीब-करीब सारे गांव अब खुले में शौच से मुक्त हो चुके हैं। ये प्रोजेक्ट्स गंगोत्री से लेकर गंगासागर तक गंगा को अविरल, निर्मल बनाने के हमारे संकल्प का हिस्सा हैं।
छठ पर्व की बधाई दी
पीएम नरेंद्र मोदी ने हर हर महादेव के साथ अपने भाषण की शुरूआत करते हुए लोगों को छठ पर्व की बधाई दी। उन्होंने कहा कि आस्था पवित्रता से भरे सूर्य उपासना के महापर्व पर माता बहनों को बधाई दी। पीएम मोदी ने कहा कि चार दिन के ई पर्व से हर घर परिवार मा सुख समृद्धि क कामना है। आप सब लोग दीवाली, भाई दूज और गोवर्धन पूजा और देव दीपापली के साथ सब पर्व के एक साथ बधाई। साथियों दशहरे और दीवाली के बाद आप सबसे मिलने का अवसर मिला है। मेरा सौभाग्य रहा कि मुझे दीपावली पर बाबा केदारनाथ के दर्शन का मौका मिला। एक हफ्ते में बाबा की नगरी में आशिर्वाद का मौका मिला। माता भगीरथी का दर्शन किया तो आज मां गंगा के दर्शन का सौभाग्य मिला। महामना की पुण्यतिथि भी है। उनको नमन करता हूं। काशी के लिए पूर्वांचल के लिए पूर्वी भारत के लिए आज का दिन एतिहासिक है। विकास का गवाह है जो दशकों पहले होना था लेकिन नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि दुनिया के सबसे प्राचीन शहर में सुविधा का ऐसा संगम हो कि आने वालों के मन में अमिट हो जाए। एक बार फिर सभी को तमाम सुविधाओं के लिए विकास योजनाओं के लिए बधाई। साथियों को भी छठ पूजा की शुभकामनाएं। जय छठी मैया। हरहर महादेव।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के दौरान मोदी-मोदी के नारे लगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दो बार भाषण रोकना पड़ा। मोदी ने नारे लगाने वालों के प्रति आभार प्रकट करते हुए मज़ाकिया अंदाज़ में कहा इस जोश को 2019 के लिए बचाने की बात कही।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाजिदपुर सभा स्थल पर मंच से भीड़ का अभिवादन स्वीकार किया। उनके साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पाण्डेय भी है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिंग रोड और लाल बहादुर शास्त्री एयरपोर्ट रोड का उद्घाटन किया।
2019 में फिर पीएम बनेंगे नरेंद्र मोदी : डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय
सभा को संबोधित करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि आज वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 15वां दौरा है। उनके हर बार के आगमन पर वाराणसी को नायाब तोहफे मिलते रहे हैं। देश को भरोसा है कि 2019 में काशी फिर से करवट लेगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनेगी।
प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र को समर्पित किया पहला अंतर्देशीय जलमार्ग टर्मिनल
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में देश का पहला अंतरदेशीय जल मार्ग राष्ट्र को समर्पित किया। इस अंतर्देशीय जलमार्ग टर्मिनल से बंगाल के हल्दिया से वाराणसी तक जलमार्ग संचालित किया जाएगा। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाथ जोड़कर गंगा नदी को नमन किया।
रामनगर बंदरगाह पर कोलकाता से आए जलपोत से कंटेनर रिसीव करने से पहले प्रधानमंत्री ने गंगा नदी में वाटरवे संख्या एक के रास्ते शुरू जल परिवहन की पूरी परियोजना के बारे में अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की। परियोजना के बारे में कैबिनेट मंत्री नितिन गडकरी ने भी पीएम मोदी को अवगत कराया। प्रधानमंत्री ने पूरी परियोजना का खाका लगभग पंद्रह मिनट तक देखने के बाद परियोजना पर आयोजित गोष्ठी में पूरी परियोजना पर डॉक्यूमेंट्री भी देखी। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद थे।
उन्होंने पहली बार देश में रामनगर स्थित बंदरगाह से गंगा के रास्ते जल परिवहन की शुरूआत की। इसके बनने से अब भारत बांग्लादेश के रास्ते पूर्वोत्‍तर तक जलमार्ग के रास्ते जुड़ सकेगा। पौराणिक काल में भगीरथ के पितरों को तारने के लिए धरती पर उतरी मां गंगा बाद में गंगा बेसिन में बसे लोगों के लिए जीवदायिनी हुईं और अब आज से वह जल परिवहन सेवा के जरिए उत्तर भारत के आर्थिक समृद्धि की भी संवाहक हो गई हैं। पीएम ने देश में जल परिवहन के नए युग का आगाज किया।
देश के पहले नेशनल वाटर वे टर्मिनल का उद्घाटन करने के बाद पीएम मोदी हेलीकाप्टर से सभास्थल वाजिदपुर के लिए रवाना। इससे पहले प्रधानमंत्री छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में चुनावी सभा को संबोधित करने के बाद वायुसेना के विमान से 2:45 बजे लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर पहुंचे।
एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी व सत्यपाल सिंह के साथ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय ने उनका स्वागत किया। इसके बाद वह हेलीकाप्टर से रामनगर में जेटी पर उतरे।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब पौने तीन बजे सेना के विमान से लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे, बाबतपुर पहुंचे। रामनगर के मल्टी मॉडल टर्मिनल के 200 मीटर लंबे 43 मीटर चौड़े जेटी पर मल्टी माडल टर्मिनल (बंदरगाह) का लोकार्पण किया। साथ ही हल्दिया से पेप्सिको का सामान लेकर आए जलपोत का स्वागत कर गंगा में जल परिवहन की शुरुआत की।
इनका लोकापर्ण
1- कचहरी से बाबतपुर तक फोर लेन सड़क, 17. 25 किमी; कीमत 812. 59 करोड़ रूपया।
2. रिंग रोड फेज 1 -हरुआ से आजमगढ़ मार्ग गोइठहां तक 17 किमी सड़क, कीमत : 759.36 करोड़ रुपया।
3. रामनगर राल्हूपुर मल्टी मॉडल टर्मिनल, कीमत 208 करोड़ रुपया।
4. तीन सीवेज पम्पिंग स्टेशन : 140 एमएलडी चौका घाट ,7.5 एमएलडी फुलवरिया और 3.7 एमएलडी सरैया। कीमत : 34 करोड़ रुपया।
5. दीनापुर एसटीपी : 140 एमएलडी। कीमत : 186.46 करोड़ रुपया।
6. इंटरसेप्शन सीवर और पंपिंग वर्क : वरुणा नदी पर और आसपास 28 किमी। कीमत : 155 करोड़ रुपया।
7. तेवर ग्राम पेयजल योजना: 15 बस्तियों में 6000 से ज्यादे आबादी को पेयजल मिलेगा। कीमत : 2 करोड़ 79 लाख रुपया।
8. आश्रय योजना के तहत लू ठण्ड से बचने वालो के लिए भवन। 1.54 करोड़।
9. कस्तूरबा गांधी बालिका विधालय देईपुर हॉस्टल। 1 . 70 करोड़।
10. आईपीडीएस फेज 2 -123 किमी अंडर ग्राउंड बिजली वायर सारनाथ और बौद्ध पर्यटन स्थली ,18 नए ट्रांसफार्मर, 372 किमी ओवरहेड तारों का जंजाल हटाने 139 करोड़।
इनका शिलान्यास
1. रामनगर में ड्रेन और ट्रीटमेंट वर्क। 9 नाले बंद होंगे जो गंगा में गिरते हैं। 13 एमएलडी क्षमता ट्रीटमेंट प्लांट -72 करोड़।
2. किला कटरिया मार्ग चौड़ीकरण व सौंदर्यीकरण -2 करोड़ 36 लाख।
3. एनएच – 7 पड़ाव से रामनगर टेंगरा मोड़ मरम्मत कार्य -3 करोड़ 16 लाख।
4. लहरतारा बीएचयू फुटपाथ मार्ग। निर्माण ,सुंदरीकरण -20 करोड़ 99 लाख।
5. करौदी में ड्राइवर प्रशिक्षण केंद्र -4 करोड़ 44 लाख।
6. सर्किट हाउस फस्र्ट फ्लोर मीटिंग हाल -3 करोड़ 24 लाख।
7. डोमरी रामनगर में हैलीपैड निर्माण कार्य -4 करोड़ 94 लाख।

सर्वे रिपोर्ट:पीएम के लिए मोदी ही देश की धड़कन

Comments Off on सर्वे रिपोर्ट:पीएम के लिए मोदी ही देश की धड़कन

Posted on : 02-11-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Narendra Modi, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय

नई दिल्ली:अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दोबारा सरकार बनाने की राह आसान होती लग रही है। एक ताजा ऑनलाइन सर्वे में 63 फीसद से अधिक प्रतिभागियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में अपना पूरा विश्वास जताया। जबकि पचास फीसद मतदाताओं का कहना है कि मोदी के लिए बतौर प्रधानमंत्री दूसरा कार्यकाल जनता के बेहतर भविष्य के लिए आवश्यक है।
नए पोर्टल ‘डेली हंट’ और डाटा एनालिटिक कंपनी नेलसन इंडिया के ताजा सर्वे में देश और विदेश के 54 लाख भारतीय प्रतिभागियों का ऑनलाइन सर्वे किया गया है। इस सर्वे में लोगों ने मोदी के प्रति वर्ष 2014 से अधिक का उत्साह दिखाया है। इसी साल मोदी पहली बार केंद्र की सत्ता में पूर्ण बहुमत से आए थे।सर्वे के मुताबिक 63 प्रतिशत से अधिक प्रतिभागियों ने मोदी के प्रति वर्ष 2014 जैसा ही या उससे भी ज्यादा गहरा विश्वास व्यक्त किया है। सर्वे के मुताबिक इन प्रतिभागियों ने पिछले चार साल में मोदी के नेतृत्व की क्षमताओं पर पूर्ण संतोष व्यक्त किया है।
एमपी, राजस्थान व छत्तीसगढ़ में मोदी पर भरोसा कायम
ऑनलाइन सर्वे में 50 फीसद से अधिक लोगों ने यह भी माना है कि प्रधानमंत्री मोदी को एक और कार्यकाल मिलने से जनता का भविष्य संवर जाएगा। वहीं पांच राज्यों में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव के नतीजों पर सर्वे में दावा किया गया कि मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में लोगों का मोदी पर भरोसा कायम है।
मिजोरम के ट्रेंड का जिक्र किए बगैर सर्वे में बताया गया कि तेलंगाना अकेला राज्य है जहां सत्ता में बने रहने के चलन से बाहर हो रहा है। उल्लेखनीय है कि तेलंगाना में फिलहाल तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) की सरकार है।
केजरी को राहुल से बेहतर माना
इस सर्वे में दावा किया गया है कि साठ फीसद प्रतिभागियों ने मोदी पर विश्वास जताया है। उनका यह भरोसा देश में लंबे समय से फैली भ्रष्टाचार की जड़ों को काटने में पीएम मोदी ने अच्छा काम किया है। सर्वे के मुताबिक भरोसे और विश्वास की इस श्रेणी में जनता आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से बेहतर मानती है।
राष्ट्रीय संकट में मोदी बेहतरीन
62 फीसद से अधिक लोगों ने माना कि किसी राष्ट्रीय आपदा या संकट के समय नरेंद्र मोदी देश के लिए सबसे बेहतर नेता हैं। राष्ट्रीय संकट के समय में इसके बाद राहुल गांधी (17 फीसद), अरविंद केजरीवाल (आठ प्रतिशत), अखिलेश यादव (तीन प्रतिशत) और मायावती (दो प्रतिशत) मुफीद या विश्वसनीय हैं।
35 वर्ष से अधिक के लोगों को मोदी पर सर्वाधिक भरोसा
इस सर्वे को कराने वाले ‘डेली हंट’ और नेलसन इंडिया ने स्पष्ट किया है कि सर्वे राजनीति से प्रेरित नहीं है। यह देश की जनता की आवाज को दर्शाता है। नेलसन (दक्षिण एशिया) के प्रेसिडेंट प्रसून बसु ने कहा कि वैज्ञानिक तरीके से इस शोध को अंजाम दिया गया है। यह सर्वे डेलीहंट के प्लेटफार्म पर अंग्रेजी और हिंदी समेत दस भाषाओं में कराया गया है। इसके प्रतिभागियों में किसी अन्य समूह से अधिक 35 वर्ष से अधिक के आयु वर्ग के लोगों ने पीएम मोदी पर सबसे अधिक भरोसा जताया है।
कांग्रेस ने सर्वे को फर्जी ठहराया
हालांकि कांग्रेस पार्टी ने इस सर्वे को बकवास और फर्जी ठहराया है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि मोदी सरकार ने जनता का विश्वास खो दिया है। आगामी पांच विधानसभा चुनावों में भाजपा को भारी नुकसान होने की उम्मीद है।कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि भाजपा अब अपने वित्तीय संसाधनों का इस्तेमाल करके फर्जी सर्वे के जरिए अपनी विश्वसनीयता साबित करने की कोशिश कर रही है। ऐसे बकवास सर्वे से सरकार खुद को बुलंद नहीं कर पाएगी जबकि जनता ने उसे पहले ही ठुकरा दिया है।

चार मीनार देखने के लिए भी लेना पड़ता वीजा यदि पटेल न होते:मोदी

Comments Off on चार मीनार देखने के लिए भी लेना पड़ता वीजा यदि पटेल न होते:मोदी

Posted on : 31-10-2018 | By : JNI-Desk | In : Delhi, FARRUKHABAD NEWS, Narendra Modi, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देशवासियों को विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा की सौगात दी। उन्होंने गुजरात के नर्मदा जिले के केवडिया में देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मी. ऊंची प्रतिमा का उद्घाटन किया। खास बात है कि आज सरदार पटेल की जयंती भी है। आद देश सरदार पटेल की 143वीं जयंती मना रहा है। उद्घाटन समारोह के दौरान पीएम मोदी ने लंबा भाषण भी दिया। उन्होंने अपने भाषण के दौरान सरदार पटेल की उपलब्धियों का जिक्र किया, साथ ही उन्होंने पटेल की प्रतिमा को लेकर विपक्ष पर राजनीति करने का आरोप भी लगाया। मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत “सरदार पटेल अमर रहे” के नारे के साथ की। उन्होंने कहा कि आज पूरा देश राष्ट्रीय एकता दिवस मना रहा है। देश की एकता और अखंडता के लिए युवा दौड़ रहे हैं। मैं उनके इस जज्बे को मैं नमन करता हूं।
आज का दिन ऐतिहासिक
मोदी ने कहा कि आज जो हुआ वो इतिहास में दर्ज हो गया है और इसे इतिहास से कोई मिटा नहीं पाएगा। आज जब धरती से लेकर आसमान तक सरदार सहाब का अभिषेक हो रहा है तब भारत ने न सिर्फ अपने लिए नया इतिहास रचा है बल्कि भविष्य के लिए प्रेरणा का गगनचुंबी आधार भी तैयार किया है। पीएम मोदी ने आगे कहा ‘सरदार की प्रतिमा को समर्पित करने का अवसर सौभाग्य की बात है। जब मैंने गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर इसकी कल्पना की थी, तो अहसास नहीं था कि एक दिन प्रधानमंत्री के तौर पर मुझे ही यह पुण्य काम करने का मौका मिलेगा। सरदार साहब के इस आशीर्वाद के लिए मैं खुद को धन्य मानता हूं।’
मुख्यमंत्री रहते की प्रोजेक्ट की कल्पना
पीएम मोदी ने बताया कि मुख्यमंत्री रहते ही उन्होंने इस प्रोजेक्ट की कल्पना की थी। मोदी ने कहा कि मुझे लोहा अभियान के दौरान लोहे का पहला टुकड़ा भी सौंपा गया है। मैं गुजरात के लोगों के प्रति कृतज्ञ हूं। मैं इन चीजों को यहीं पर छोड़ूंगा, ताकि देश इसे देख सके। उन्होंने कहा कि जब यह कल्पना मन में चल रही थी, तो मैं यहां के पहाड़ों को खोज रहा था।
मेरा विचार था कि नक्काशी कर सरदार साहब की प्रतिमा उस पर निकाली जाए। लेकिन जांच के बाद ऐसी कोई मजबूत चट्टान नहीं मिली। फिर विचार बदलना पड़ा। आज जो रूप आप देख रहे हैं, उसने वहीं से जन्म लिया। इस परियोजना की कल्पना मैंने तब की थी जब मैं गुजरात का मुख्यमंत्री था। इस प्रतिमा के निर्माण के लिए लाखों किसान साथ आए और अपने औजार और मिट्टी देकर अपने हिस्से का योगदान दिया।
निराशावादियों की किरण थे सरदार पटेल
निराशावादी उस जमाने में भी थे। निराशावादियों को भी लगता था कि भारत अपनी विविधताओं की वजह से बिखर जाएगा। निराशा के उस दौर में भी सभी को एक किरण दिखती है। और यह उम्मीद की किरण थे सरदार वल्लभ भाई पटेल। सरदार पटेल में कौटिल्य की कूटनीति और शिवाजी महाराज के शौर्य का समावेश था। उन्होंने पांच जुलाई 1947 को रियासतों को संबोधित करते हुए कहा था- विदेशी आक्रांताओं के सामने हमारे आपसी झगड़े, दुश्मनी, बैर का भाव हमारी हार की बड़ी वजह थी। अब हमें इस गलती को नहीं दोहराना है। और न ही दोबारा किसी का गुलाम होना है। सरदार साहब के इसी संवाद से एकीकरण की शक्ति को समझते हुए राजा-रजवाड़ों ने अपने विलय का फैसला किया। देखते ही देखते भारत एक हो गया।
सरदार साहब का सामर्थ्य तब भारत के काम आया था जब मां भारती साढ़े पांच सौ से ज्यादा रियासतों में बंटी थी। दुनिया में भारत के भविष्य के प्रति घोर निराशा थी। निराशावादियों को लगता था कि भारत अपनी विविधताओं की वजह से ही बिखर जाएगा। सरदार साहब के इसी संवाद से, एकीकरण की शक्ति को समझते हुए उन्होंने अपने राज्यों का विलय कर दिया। देखते ही देखते, भारत एक हो गया। सरदार साहब के आह्वान पर देश के सैकड़ों रजवाड़ों ने त्याग की मिसाल कायम की थी। हमें इस त्याग को भी कभी नहीं भूलना चाहिए।
..तो अपने देश में घूमने के लिए ही लेना पड़ता वीजा
सरदार साहब ने संकल्प न लिया होता, तो आज गिर के शेर को देखने के लिए, सोमनाथ में पूजा करने के लिए और हैदराबाद चार मीनार को देखने के लिए हमें वीजा लेना पड़ता। सरदार साहब का संकल्प न होता, तो कश्मीर से कन्याकुमारी तक की सीधी ट्रेन की कल्पना भी नहीं की जा सकती थी। सरदार साहब का संकल्प न होता, तो सिविल सेवा जैसा प्रशासनिक ढांचा खड़ा करने में हमें बहुत मुश्किल होती।
इंजीनियरिंग और तकनीकी सामर्थ्य है प्रतिमा
स्टैचू ऑफ यूनिटी हमारे इंजीनियरिंग और तकनीकी सामर्थ्य का भी प्रतीक है। बीते करीब साढ़े तीन वर्षों में हर रोज कामगारों ने, शिल्पकारों ने मिशन मोड पर काम किया है। राम सुतार जी की अगुवाई में देश के अद्भुत शिल्पकारों की टीम ने कला के इस गौरवशाली स्मारक को पूरा किया है। आज जो ये सफर एक पड़ाव तक पहुंचा है, उसकी यात्रा 8 वर्ष पहले आज के ही दिन शुरु हुई थी। 31 अक्टूबर 2010 को अहमदाबाद में मैंने इसका विचार सबके सामने रखा था। करोड़ों भारतीयों की तरह तब मेरे मन में एक ही भावना थी कि जिस व्यक्ति ने देश को एक करने के लिए इतना बड़ा पुरुषार्थ किया हो, उसको वो सम्मान आवश्य मिलना चाहिए जिसका वो हकदार है।
विपक्ष पर निशाना
सरदार पटेल की प्रतिमा के उद्घाटन के मौके पर पीएम मोदी ने विपक्ष को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि कई बार तो मैं हैरान रह जाता हूं, जब देश में ही कुछ लोग हमारी इस मुहिम को राजनीति से जोड़कर देखते हैं। सरदार पटेल जैसे महापुरुषों, देश के सपूतों की प्रशंसा करने के लिए भी हमारी आलोचना होने लगती है। ऐसा अनुभव कराया जाता है मानो हमने बहुत बड़ा अपराध कर दिया है। हमारी जिम्मेदारी है कि हम देश को बांटने की हर तरह की कोशिश का पुरजोर जवाब दें। इसलिए हमें हर तरह से सतर्क रहना है। समाज के तौर पर एकजुट रहना है।

बोले मोदी, जितना कीचड़ उछालोगे उतना कमल खिलेगा

Comments Off on बोले मोदी, जितना कीचड़ उछालोगे उतना कमल खिलेगा

Posted on : 25-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Narendra Modi, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय

भोपाल:मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा ने अपना चुनावी बिगुल फूंक दिया है। भाजपा महाकुंभ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विपक्ष को जमकर निशाने पर लिया और भाजपा के दृष्टिकोण की बात की। पीएम मोदी ने वोट बैंक की राजनीतिक को दीमक जैसा बताया, तो वहीं शाह और शिवराज ने भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को निशाने पर लिया।
पीएम मोदी का संबोधन
कार्यकर्ता महाकुंभ के दौरान पीएम मोदी ने कहा, ‘ हम कितने भाग्यवान है, पता नहीं किस जन्म में हमने कितने पुण्य किए होंगे कि हमें भी इस महान पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ता के रूप में मां भारती की सेवा करने का मौका मिला।’ उन्होंने कहा कि 19 राज्यों में भाजपा की सरकार होना गौरव की बात है। लेकिन उससे भी बड़ा गौरव इस बात से है कि ये विश्व की सबसे बड़ी पार्टी है।
कांग्रेस बन गई बोझ
पीएम मोदी ने कहा कि सवा सौ साल पुरानी पार्टी में कुछ नहीं बचा है, कांग्रेस बोझ बन गई है। ये पार्टी हिंदुस्‍तान में गठबंधन करने में सफल नहीं हो रही है इसलिए भारत के बाहर गठबंधन खोजा जा रहा है। दुनिया के देश अब तय करेंगे कि भारत में प्रधानमंत्री कौन होगा? कांग्रेस पार्टी क्‍या हाल हो गया है आपका? क्‍या सत्‍ता खोने के बाद अपना संतुलन भी खो दिया? डिक्शनरी में कोई ऐसी गाली नहीं जो कांग्रेस ने मुझपर इस्तेमाल नहीं किया हो, ऐसा कोई मौका नहीं मिला जब हम पर कीचड़ नहीं उछाला गया है। लेकिन जितना कीचड़ उछालोगे, उतना ही कमल खिलेगा। वोटबैंक की राजनीति की वजह से कांग्रेस तीन तलाक को खत्म नहीं होने देना चाहती है।
महात्मा गांधी, दीन दयाल, लोहिया को किया याद
पंडित दीन दयाल उपाध्याय को याद करते हुए उन्होंने कहा कि उनके विचार ही हमारी प्रेरणा है। साथ ही उन्होंने महात्मा गांधी, लोहिया और अटल जी को भी याद किया। उन्होंने कहा, ‘हमारे प्रिय अटल जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी, राजमाता सिंधिया जी और हमारे लाखों मेहनती कार्यकर्ताओं ने इस भूमि की सेवा करने का कोई मौका नहीं छोड़ा है। उनसे प्रेरणा लेते हुए, हम अपने देश के कल्याण की दिशा में काम करना जारी रखेंगे।’ उन्होंने कहा कि हम वो लोग है जिन्हें गांधी भी मंजूर है, राम मनोहर लोहिया भी मंजूर है और दीनदयाल उपाध्याय भी मंजूर है क्योंकि हम समन्वय, सामाजिक न्याय और सबका साथ, सबका विकास में विश्वास करते हैं।
वोट बैंक की राजनीति दीमक जैसी
प्रधानमंत्री ने 2014 में दिए अपने नारे का जिक्र करते हुए कहा, ‘सबका साथ सबका विकास ये सिर्फ चुनावी नारा नहीं है। उज्जवल भारत के लिए, कोटि-कोटि भारतीय आशा और आकांक्षाओं की पूर्ति के लिए सोच समझ के चुना हुआ ये हमारा मार्ग है।’ उन्होंने कहा, ‘हमारे देश में वोट बैंक की राजनीति ने समाज को दीमक की तरह तबाह कर दिया है और इसीलिए आज़ादी के 70 साल में जो बर्बादी आयी, उससे हमें देश को बचाना होगा। वोट बैंक की राजनीति के दीमक से देश को मुक्त कराना, ये भाजपा की विशेष जिम्मेवारी है।
अमित शाह का संबोधन
इस मौके पर भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर जीत का संकल्प लिया। उन्होंने कहा, ‘आज हम सब संकल्प लेकर जाए कि आने वाले पांच विधानसभा चुनावों और 2019 लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी का ध्वज फिर से ऊंचा करने का काम करें।’ उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को देश के हर बूथ और हर गांव तक पहुंचाने का काम हम सभी कार्यकर्ताओं को करना है। भाजपा की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘जो पार्टी 10 सदस्यों से शुरू हुई थी, आज वो 11 करोड़ कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बन गयी है या एक दृष्टि से देखें तो भारत के मानचित्र के 70 फीसद भू-भाग पर मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार है।’ शाह ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा,’ पूरे विश्व में देश का मान-सम्मान और गौरव बढ़ाने का काम देश के प्रधानमंत्री मोदी ने किया है।’ उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री ने कोई भी ऐसा काम नहीं किया है जिससे हमारे कार्यकर्ता का सर नीचा हो सके, पीएम मोदी और शिवराज जी ने इस प्रकार कार्य किया है कि हमारा कार्यकर्ता जनता के बीच सिर उठा के जा सके।
इस दौरान शाह ने कांग्रेस को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा, ‘ मध्य प्रदेश को बीमारू राज्य बना देनी वाली कांग्रेस पार्टी क्या राजा, महाराजा या फिर उद्योगपतियों के नाम पर जनता से वोट मांगेगी।’
मुख्यमंत्री का संबोधन
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पीएम मोदी और अमित शाह की तारीफ के साथ संबोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष दोनों एक साथ यहां मौजूद हैं, ये दुर्लभ संयोग है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यूपीए के समय प्रदेश को उसका हिस्सा 30 हजार करोड़ रुपए मिलता था लेकिन मोदी सरकार आने के बाद अब प्रदेश को 61 हजार करोड़ रुपए मिल रहे हैं। पहले रेलवे और सड़क के मामले में मप्र उपेक्षित था लेकिन आज हजारों करोड़ की परियोजनाएं मप्र में शुरू हुई। मोदी सरकार ने आयुष्मान भारत योजना शुरू की जिससे अब गरीब लोगों को इलाज मिल रहा है। पीएम मोदी किसानों के लिए फसल बीमा योजना लेकर आए हैं जिसका फायदा किसानों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी भगवान के वरदान के रुप में मिले हैं।
भाजपा ही बनाएगा देश विश्व गुरु
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ये नियति ने तय किया है कि भाजपा के नेतृत्व में ही देश विश्व गुरू बने।श्यामाप्रसाद मुखर्जी और दीनदयाल उपाध्याय की जोड़ी मिली। उसके बाद कुशाभाऊ ठाकरे, सुंदरलाल पटवा जैसा कुशल नेतृत्व प्रदेश को मिला। इसके बाद अटलजी, आडवाणीजी की जोड़ी आई। इस जोड़ी के नेतृत्व में पहली बार हमारी सरकार बनी। अब आई है मोदीजी और अमित शाह की जोड़ी जिन्होंने भाजपा को नई ऊंचाईयां दी। आज देश विश्व गुरू बनने की राह पर है।
राहुल को दिया करारा जवाब
मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कुछ दिन पहले ‘बाबा” भी यहां आए थे, लेकिन उस समय भीड़ केवल सड़कों तक सीमित रह गई। कांग्रेस ने सभा के लिए हिम्मत भी की तो दशहरा मैदान की। उन्होंने कहा- हमें लगा कि बाबा परिपक्व हो गए होंगे, लेकिन वो देश को मजाक और राजनीति को तमाशा समझते हैं। मोदीजी को गले लगाने के बाद उन्होंने आंखों से जैसी हरकत की उससे पूरा देश शर्मसार हुआ। मध्यप्रदेश में वो शिवभक्त बनकर आए। कैलाश गए तो वहां के फोटो, वीडियो वायरल करते हो, जब विदेश जाते हो तो वहां के फोटो क्यों नहीं वायरल करते।
राहुल तो फन मशीन हैं
सीएम यहीं नहीं रुके। उन्होंने कहा कि जिन्हें ये नहीं पता कि मूली जमीन के ऊपर उगती है या नीचे.. वो किसानों की बात कर रहे हैं। राहुल गांधी ने मुझे घोषणा मशीन कहा, लेकिन बाबा तो फन मशीन हैं। उन्होंने कहा – मैं घोषणा मशीन हूं लेकिन हम घोषणा के साथ पोषणा भी करते हैं। हमने सड़क, बिजली, किसान सबके लिए घोषणा की और उन्हें पूरा किया। घोषणा कौन करता है, जिसके दिल और दिमाग में जुनून हो वह घोषणा करता है।
हमने नर्मदा को क्षिप्रा से जोड़ने की घोषणा की थी, जिसे हमने पूरा किया। कांग्रेस के मुख्यमंत्री ने तो इस संभावना को सिरे से खारिज कर दिया था। हमने समृद्ध मध्यप्रदेश बनाने का संकल्प लिया है जिसे हम पूरा करने की दिशा में तेजी से काम कर रहे हैं। हमे बीमारू मध्यप्रदेश मिला था, लेकिन आज हमने इसे विकसित राज्य बनाया था। अगले 5 सालों में हम प्रदेश को समृद्ध मध्यप्रदेश बनाएंगे और देश के शीर्षस्थ राज्यों में पहुंचेंगे। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि 2018 के चुनावों में पार्टी को प्रचंड बहुमत से जिताएंगे और चौथी बार प्रदेश में भाजपा की सरकार बनाएंगे। फिर उसके बाद 2019 में प्रदेश की सभी 29 सीटें जीतकर पीएम मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष की झोली में डालेंगे।
स्टेट हैंगर पर स्वागत
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वायुसेना के विमान से और अमित शाह विशेष विमान से भोपाल पहुंचे। पीएम मोदी, अमित शाह और अन्य सभी नेता स्टेट हैंगर से ही हेलीकॉप्टर से जंबूरी मैदान पर बने हेलीपैड पहुंचे।
बता दें कि इस आयोजन को ‘कार्यकर्ता महाकुंभ’ का नाम दिया गया है। पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती के अवसर पर भोपाल के जंबूरी मैदान पर ‘कार्यकर्ता महाकुंभ’ का आयोजन किया गया है । इस मौके पर जंबूरी मैदान पर बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं के एकत्रित हुए हैं। इस सभा स्थल को देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की याद में ‘अटल महाकुंभ परिसर’ का नाम दिया गया है। अटल बिहारी वाजपेयी का इसी अगस्त महीने में दिल्ली में लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया था। सभा स्थल पर भाजपा के नेता स्वर्गीय अनिल माधव दवे के नाम पर एक प्रदर्शनी हॉल बनाया गया है। इस प्रदर्शनी में भाजपा के बड़े नेताओं की जीवन और उनकी उपलब्धियों को दिखाया गया है। इसमें अटल बिहारी वाजपेयी, पीएम मोदी और शिवराज सिंह चौहान शामिल हैं।
भाजपा के पांच स्तम्भों को दिखाया जाएगा
इस प्रदर्शनी में दीन दयाल उपाध्याय, श्यामा प्रसाद मुख़र्जी, अटल बिहारी वाजपेयी, राजमाता विजयाराजे सिंधिया और कुशाभाऊ ठाकरे को भाजपा के पांच स्तम्भों के रूप में दर्शाया गया है। सुरक्षा के भी पुख्ता इंतज़ाम किए गए हैं। लगभग 6000 सुरक्षाकर्मियों को पूरे आयोजन के लिए लगाया गया है। 6000 सुरक्षाकर्मियों में से 4000 सेंट्रल रिजर्व फोर्स के जवान हैं। कुल 22 आईपीएस अधिकारी सुरक्षा की कमान संभालेंगे। मध्यप्रदेश में इस साल के आखिरी में विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं। विधानसभा चुनावो को देखते हुए कांग्रेस और बीजेपी दोनों चुनावी तैयारी में जुट गए हैं।

[bannergarden id="12"]