Featured Posts

फर्रुखाबाद में फूटा सडकों पर गुस्सा,जगह-जगह से एक आबाज पाकिस्तान मुर्दाबादफर्रुखाबाद में फूटा सडकों पर गुस्सा,जगह-जगह से एक आबाज पाकिस्तान... फर्रुखाबाद: जनपद में शुक्रवार सुबह से लेकर शाम तक केबल पाक के खिलाफ आक्रोश ही सडकों पर नजर आया| शाम तक में कई जगहों पर पुलवामा आतंकी हमले पर लोगों का आक्रोश दिखा। लोगों ने जमकर पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए। कई स्थानों पर पाकिस्तान के पीएम का पुतला जलाया गया। पुलवामा...

Read more

बड़ी खबर:साइकिल सबार माँ-बेटे सहित तीन को गैस टेंकर ने कुचला,मौतबड़ी खबर:साइकिल सबार माँ-बेटे सहित तीन को गैस टेंकर ने कुचला,मौत फर्रुखाबाद:साइकिल से सबार होकर जा रहे माँ-बेटे सहित तीन को तेज रफ्तार गैस टेंकर ने कुचल दिया| जिसमे माँ-बेटे की मौके पर ही मौत हो गयी| जबकि घायल ने लोहिया अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया| थाना राजेपुर के ग्राम शेराखार गौटिया निवासी 50 वर्षीय उर्मिला पत्नी वेदराम जाटव...

Read more

वैलेंटाइन डे: फूलों की जुबाँ से कही गयी दिल की बातवैलेंटाइन डे: फूलों की जुबाँ से कही गयी दिल की बात फर्रुखाबाद:प्यार के इजहार के प्रेम दिवस पर फूल के बाजार सजे रहे| वेलेंटाइन डे पर फूलों की दुकानों पर व बाजारों में गुरुवार की सुबह से ही चहल कदमी दिखी। फूल विक्रेता कोलकाता व लखनऊ से गुलाब की भारी खेप मंगायी थी| बाजार में दिल की बात रखने के लिए कई तरह के गुलाब खास तौर पर मंगवाए...

Read more

30 रुपयें में किस फार्मूले से भरेगा गौ माता का पेट,प्रधान चिंतित30 रुपयें में किस फार्मूले से भरेगा गौ माता का पेट,प्रधान चिंतित फर्रुखाबाद:योगी सरकार ने खुले में विचरण कर रहे अन्ना मबेशियों को अस्थाई गौशालयों में बंद कराकर उसकी देखरेख की जिम्मेदारी प्रधानों को दे रखी है| पहले तो लगभग एक महीने तक पकड़े गये मबेशियों को खिलाने के लिए प्रधानों को फूटी कौड़ी नही मिली| वही काफी हो हल्ला मचने के बाद सरकार...

Read more

61 बंदियों के साथ रिहा हुए शिव और अली ने पेश की गंगा-जमुनी तहजीब61 बंदियों के साथ रिहा हुए शिव और अली ने पेश की गंगा-जमुनी तहजीब फर्रुखाबाद:शासन के फरमान के बाद जेल से बन्दियो के रिहा होने का सिलसिला लगातार जारी है| अभी तक कुल 65 बंदियों को रिहा किया गया था| बुधवार शाम कुल 14 जिलों के 61 और बंदियों की सेन्ट्रल जेल से रिहाई कर दी गयी| इस दौरान जेल से रिहा हुए बंदी शिवबालक व अरबी अली ने एक दूसरे के गले मिल गंगा-जमुनी...

Read more

Exactly why Almost Every thing Might Discovered About Online business Is Unsuitable and Precisely what You should consider Your supplier can be created in cable connections. Actually it could not basically in company that you enter to be able to observe a profitable business card holder. The necessary thing is in order to take care of an online business like a new tricky lending broker whose man or women types need to have routine maintenance along with notice a lot like any sort of machine. Follow the clean necessities up to the point your business has the ability to obtain the supplemental things. You don't need to struggle with learning how to perform your company entity, or the technique to promote it since the exact serious business is able to which. Which means that get began your link offering online...

Read more

रामनगरिया में अश्लील नृत्य से खफा नागा साधुओं ने मनोरंजन कर्मियों को दौड़ायारामनगरिया में अश्लील नृत्य से खफा नागा साधुओं ने मनोरंजन... फर्रुखाबाद:मेला रामनगरिया में पुलिस की सह पर ग्राहकों को लुभाने के लिए सर्कस आदि जगहों पर कराये जा रहे अश्लील डांस से खफा चल रहे नागा साधुओं के एक बड़े समुदाय ने मनोरजन कर्मियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीट दिया| साधुओ का रूद्र रूप देख मनोरजन कर्मी मौके से खिसक गये| पुलिस ने जैसे-तैसे...

Read more

वकीलों ने मांगों को लेकर किया प्रदर्शनवकीलों ने मांगों को लेकर किया प्रदर्शन फर्रुखाबाद:भारतीय विधिज्ञ परिषद द्वारा पारित प्रस्ताव के क्रम में सात सूत्रीय मांगों को लेकर जगह-जगह अधिवक्ताओं ने ज्ञापन देकर प्रदर्शन किया| जिलाधिकारी मोनिका रानी को जिला बार एसोसिएशन,तहसील सदर बार एसोसिएशन,अधिवक्ता संघ अमृतपुर में वकीलों ने ज्ञापन देकर अपनी मांग...

Read more

सेन्ट्रल जेल से एक साथ 37 कैदियों की होगी रिहाईसेन्ट्रल जेल से एक साथ 37 कैदियों की होगी रिहाई फर्रुखाबाद:जेलों में आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे कैदियों की समय पूर्व रिहाई को लेकर प्रदेश सरकार ने अपनी नीति घोषित की थी। जिसके तहत सेन्ट्रल जेल फ़तेहगढ़ में निरुद्ध 16 वर्ष से सजा काट रहे 37 बंदियों की रिहाई के आदेश जारी हो गये है| जिन्हें शनिवार को खुली हवा में साँस लेनें...

Read more

मनोरंजन की आड़ में अश्लीलता,संतों में आक्रोशमनोरंजन की आड़ में अश्लीलता,संतों में आक्रोश फर्रुखाबाद:मेला रामनगरिया में मनोरंजन की आड़ में खुलेआम अश्लीलता परोसी जा रही है। प्रशासन ने लोगों के मनोरंजन के लिए मेले की इजाजत दी है लेकिन मनोरंजन के नाम पर यहां जो परोसा जा रहा है वो आप खुद ही देख लीजिए। हुजूर आप भी देखिए मेले के नाम पर अश्लील डांस। जिससे मेले में कल्पवास...

Read more

जिओ लेकर आया ट्रेन यात्रियों के लिए खुशखबरी,एक क्लिक और टिकट यूं हो जाएगी बुक

0

Posted on : 28-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, जिला प्रशासन, सामाजिक

मुंबई:भारत को डिजिटल रूप से और ज्यादा सशक्त बनाने की दिशा में रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने एक और कदम आगे बढ़ाया है। रिलायंस जियोफोन और जियोफोन-2 यूजर्स के लिए ‘जियोरेल ऐप’ लेकर आया है। इस सर्विस की मदद से यूजर्स ट्रेन की टिकट बुक कराने से लेकर टिकट कैंसिल, PNR स्टेटस आदि की जानकारी हासिल कर सकेंगे। फिलहाल अभी JioRail ऐप जियोफोन और जियोफोन-2 यूजर्स के लिए ही है। इसके साथ ही देश में ऐसा पहली बार हुआ है, जब ग्राहक किसी फीचर फोन से रेल टिकट बुक करा पाएंगे।
जियोफोन यूजर्स के लिए खुशखबरी
इस ऐप को जियोफोन यूजर्स जियो स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। कंपनी के अनुसार, JioRail ऐप की मदद से यूजर डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और ई-वॉलेट के जरिए टिकट बुक और कैंसिल करा सकते हैं। इसके अलावा सिर्फ एक क्लिक पर PNR स्टेटस, ट्रेन की जानकारी, ट्रेन का समय, सीटों की उपलब्धता समेत कई अन्य जानकारियां भी हासिल कर सकेंगे।
जिनका IRCTC पर अकाउंट नहीं वे…
JioRail ऐप स्मार्टफोन के लिए बने IRCTC ऐप की तरह काम करेगा, जहां ग्राहक तत्काल बुकिंग भी कर सकेंगे। जिन ग्राहकों का IRCTC पर अकाउंट नहीं है, वह इस ऐप का इस्तेमाल कर नया अकाउंट भी बना सकते हैं। जियोरेल ऐप ट्रेन टिकट बुकिंग को काफी आसान बना देगा, क्योंकि इससे ग्राहकों को टिकट बुकिंग के लिए लंबी लाइनों में लगने और एजेंटों से मुक्ति मिलेगी।

सियासी आकाओं की परिक्रमा में जुटे टिकट के दावेदार!

0

Posted on : 23-01-2019 | By : JNI-Desk | In : Delhi, FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, Politics, राष्ट्रीय

फर्रुखाबाद:लोक सभा की चुनावी आहट शुरू होने के साथ ही सियासी सरगर्मियां बढ़ गई है। जिले का सांसद बनने का सपना देखने वाले लोग अपने राजनैतिक आकाओं की परिक्रमा करने में जुट गये है। वैसे तो सपा,भाजपा,बीएसपी आदि के बैनर तले कई लोग चुनाव लड़ने के इच्छुक है मगर सबसे बड़ी फेहरिस्त सपा व भाजपा की तरफ से दिखाई पड़ रही है। टिकट की चाहत रखने वाले अभी से दिग्गजों का सहारा लेने के फिराक में लगे बताये जा रहे है| कुछ तो अपने साथ सियासी व जातिगत आंकड़ों की गणित की फाइल साथ लेकर चल रहे है पता नही कहाँ उसकी जरूरत पड़ जाये|
टिकट की दावेदारी में सत्ताधारी भाजपा की तरफ से खामोशी नजर आ रही है मगर इस दल से चुनाव लड़ने वाले इच्छुक लोगों की संख्या सर्वाधिक सामने आ रही है। जो आये दिन दिल्ली की परिक्रमा लगाने में लगे है| राजनीतिक दलों ने चुनावी रणनीति बनानी शुरू कर दी है। कोई शक्ति प्रदर्शन की तैयारी कर रहा है तो जनसंपर्क में जुटा है। होर्डिंग और पोस्टर के जरिए दावेदार अपना माहौल बनाने में जुटे हैं। टिकट के लिए सभी प्रमुख दलों ने आवेदन मांगने शुरू कर दिए हैं, लेकिन सबसे ज्यादा मारामारी भाजपा व गठबंधन से चुनाव लड़ने जा रही सपा में है| कांग्रेस से तो पूर्व विदेश मंत्री का टिकट लगभग तय ही माना जा रहा है| अन्य दलों के दावेदार असमंजस में है|
बताया जा रहा है कि कई दलों के दावेदार टिकट न मिलने पर अपनी पार्टी छोड़कर दूसरे दल में भी शामिल होने की तैयारी में हैं। दलों में सियासी सरगर्मी बढ़ गई है।

बदलते मौसम में जानिए ये उपाय, ताकि आप सर्दी, खांसी और फ्लू की चपेट में न आएं

0

Posted on : 21-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, सामाजिक

डेस्क:मौसम में परिवर्तन होने पर सर्दी, खांसी और फ्लू का संक्रमण होना आम बात है। लेकिन यह समस्याएं ठीक होने में काफी वक्त लेती हैं, और कई बार तो आपके द्वारा किए गए सारे जतन इन पर नाकाम साबित होते होते हैं। ब्रिटिश शोधकर्ताओं के अनुसार, कोल्ड वायरस 37 डिग्री सेल्स‍ियस से कम तापमान पर सक्रिय हो जाते हैं, और खानपान पर ध्यान देकर, इन्हें आसानी से रोका जा सकता है। आइए जानते हैं, सर्दी, खांसी और फ्लू का संक्रमण होने पर किन बातों का रखें ध्यान –
क्या खाएं –
1 दिनभर खूब पानी पिएं, लेकिन पानी उबला हुआ हो इस बात का ध्यान रखें । कम से कम 6 से 7 ग्लास लिक्विड डायट जरूर लें।
2 लहसुन और मिर्च को भोजन में शामिल करें। लहसुन गर्म होने के साथ ही एंटीबैक्टीरियल होता है, और मिर्च में कैप्सैसिन नामक तत्व पाया जाता है, जो नेजल और साइनस कंजेक्शन ठीक करने में सहायक होता है।
3 विटामिन- सी युक्त फल और सब्जियों का प्रयोग अधिक से अधिक करें। मशरूम, नींबू और शहद को डायट में शामिल करें।
4 जिंक युक्त भोज्य पदार्थों का भरपूर प्रयोग करें। रेड मीट, अंडा, दही, साबुत अनाज को भोजन में शामिल करें।
5 अगर आप मांसाहारी हैं, तो चिकन सूप का प्रयोग जरूर करें। इसमें सिस्टाइन नामन तत्व पाया जाता है, जो कफ को ढीला करने में मदद करता है।
कब जाएं डॉक्टर के पास –
1 अगर हरे या पीले रंग का कफ निकलने लगे ।
2 सांस लेने में तकलीफ हो रही हो ।
3 उपाय करने के बावजूद बुखार 2 – 3 दिन से ज्यादा समय तक रहे ।
4 सिर, कान और मसूड़ों में तेज दर्द होने की स्थ‍िति में ।

100 सीसी टू-व्हीलर के इंश्योरेंस पर दें सिर्फ इतने पैसे, सरकार बदल चुकी है नियम

0

Posted on : 20-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, राष्ट्रीय, सामाजिक

नई दिल्ली:इंश्योरेंस को लेकर नए नियम बीमा नियामक इरडा (इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी) लागू कर चुकी है। इस नए नियम के चलते कार या टू-व्हीलर्स खरीदते समय ही 3 या 5 साल के लॉन्ग टर्म थर्ड पार्टी इंश्योरेंस को लेना अनिवार्य हो चुका है। यानी अब वाहन खरीदते समय खरीदारों को ज्यादा पैसे चुकाने होंगे। कई बार ऐसा होता है कि एजेंट गतल जानकारी देकर पॉलिसी बेच देते हैं।
ऐसे में अगर आपको कोई गलत जानकारी दे या फिर एक्स्ट्रा चार्ज ले तो आप उसकी शिकायत सीधे इरडा में कर सकते हैं। आज हम आपको अपनी इस खबर में थर्ड पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है वह तो आपको बताएंगे ही इसके साथ ही यह भी बताएंगे की नई गाड़ी खरीदते समय आपको कितने रुपये देने होंगे। साथ ही आप शिकायत कैसे कर सकते हैं।
क्या होता है थर्ड पार्टी इंश्योरेंस?
मोटर वाहन कानून के तहत थर्ड पार्टी बीमा का प्रावधान काफी पहले ही लागू किया गया है। इसे थर्ड पार्टी लायबिलिटी कवर के नाम से भी जाना जाता है। जैसा कि नाम से ही स्पष्ट पता चलता है कि यह तीसरे पक्ष के बीमा से संबंधित है। जब मोटर वाहन से कोई दुर्घटना होती है तो कई बार इसमें बीमा कराने वाला व बीमा कंपनी के अलावा एक तीसरा पक्ष भी शामिल होता है, जो प्रभावित होता है। यह प्रावधान इसी तीसरे पक्ष यानी थर्ड पार्टी के दायित्वों को पूरा करने के लिए बनाया गया है।
बाइक के लिए कितना होगा खर्चा?
75 cc इंजन तक की बाइक के लिए 1045 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
75 से 150 cc इंजन वाली बाइक के लिए 3285 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
150 से 350 cc इंजन वाली बाइक के लिए 13034 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
कार के लिए कितना होगा खर्चा?
नई पॉलिसी लागू होने के बाद 1000cc वाले इंजन की कार के इंश्योरेंस के लिए 5286 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
1000-1500 cc वाले इंजन की कार के लिए 9534 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
1500 cc से ज्यादा कैपेसिटी वाली इंजन की गाड़ी के लिए 24305 रुपये खर्च करने पड़ेंगे।
बता दें कि फोर-व्हीलर के लिए जहां इंश्योरेंस तीन साल का है, वहीं टू-व्हीलर के लिए यह 5 सालों का है।
कहां कर सकते हैं शिकायत
एजेंट द्वारा दी गई गलत जानकारी देकर पॉलिसी खरीदने के बचने के लिए आप इरडा में इसकी शिकायत कर सकते हैं। ऐसे में सबसे पहले आपको बीमा कंपनी के शिकायत निवारण अधिकारी से संपर्क जरूर करना चाहिए। यहां से समाधान न होने पर आप इरडा के शिकायत निवारण सेल के टोल फ्री नंबर – 155255 पर भी शिकायत कर सकते हैं। डॉक्युमेंट्स के साथ इरडा की email id – complaints@irdai.gov.in पर भी शिकायत भेज सकते हैं। यहां से भी अगर समस्या का हल न हो तो आप बीमा लोकपाल तक अपनी शिकायत पहुंचा सकते हैं।

जीएसटी रिटर्न नहीं भरा, तो नहीं मिलेगा ई-वे बिल

0

Posted on : 20-01-2019 | By : JNI-Desk | In : BUSINESS, FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, सामाजिक

नई दिल्ली:समय पर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) रिटर्न दाखिल नहीं करने वालों के लिए अब कारोबार आसान नहीं रह जाएगा। लगातार छह महीनों तक की अवधि के लिए जीएसटी रिटर्न दाखिल नहीं करने वाले कारोबारी जब ई-वे बिल निकालना चाहेंगे, तो सिस्टम खुद-ब-खुद उन्हें बिल जारी करने से इन्कार कर देगा।
अधिकारियों के मुताबिक इसका मकसद जीएसटी चोरी रोकना है। एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि जीएसटी नेटवर्क (जीएसटीएन) ऐसा आइटी सिस्टम तैयार कर रहा है। यह सिस्टम तैयार हो जाने के बाद उन सभी कारोबारियों के लिए ई-वे बिल निकालना असंभव हो जाएगा, जिन्होंने लगातार दो तिमाहियों का जीएसटी रिटर्न फाइल नहीं किया होगा। अधिकारी ने कहा कि जैसे ही यह सिस्टम विकसित हो जाएगा, इससे संबंधित अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। चालू वित्त वर्ष के शुरुआती नौ महीनों (अप्रैल-दिसंबर, 2018) में केंद्रीय टैक्स अधिकारियों ने जीएसटी की चोरी या नियम उल्लंघन के 3,626 मामले पकड़े हैं। अधिकारियों के मुताबिक ये मामले 15,278.18 करोड़ रुपये मूल्य के हैं।
गौरतलब है कि जीएसटी चोरी या करवंचना रोकने के लिए ही चालू वित्त वर्ष के पहले दिन यानी पहली अप्रैल, 2018 से ई-वे बिल सिस्टम लागू किया गया था। इसके तहत 50,000 रुपये से अधिक मूल्य के माल की एक से दूसरे राज्य में ढुलाई के लिए ई-वे बिल अनिवार्य किया गया। एक ही राज्य में माल ढुलाई के लिए ई-वे बिल की अनिवार्य जरूरत 15 अप्रैल, 2018 से लागू की गई। सरकार ने चालू वित्त वर्ष के प्रत्येक महीने में एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा जीएसटी राजस्व की उम्मीद लगाई थी। लेकिन अब तक का संग्रह औसतन 96,000 करोड़ रुपये मासिक ही रहा है।
अधिकारियों का कहना है कि जीएसटी से हासिल राजस्व में वृद्धि और कारोबारियों से इस व्यवस्था का पालन सुनिश्चित कराने के लिए कर चोरी के तंत्रों को मजबूती देनी होगी। इसी के तहत अधिकारी ई-वे बिल को भारतीय राष्ट्रीय राजर्मा प्राधिकरण (एनएचएआइ) के फास्टैग से जोड़ने की योजना बना रहे हैं। इस योजना पर क्रियान्वयन इस वर्ष पहली अप्रैल से होना है। जांच अधिकारियों को पता चला है कि कई कारोबारी एक ही ई-वे बिल पर कई चक्कर लगाकर सरकार को चूना लगाते हैं। ई-वे बिल को फास्टैग से जोड़ देने का फायदा यह होगा कि अधिकारियों को पता चल जाएगा कि किसी वाहन ने कितनी बार कोई टोल प्लाजा पार किया है।

[bannergarden id="12"]