विशेष अभियान में भी बीएलओ नदारद, बूथों पर ताले

0

Posted on : 09-07-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद : मतदाता सूची पुनरीक्षण के विशेष अभियान के दौरान भी बीएलओ अपने बुथो से गायब रहे| अधितर बूथों पर ताले नजर आये| जादातर बीएलओ विशेष अभियान की जानकारी होने की बात से ही किनारा कर रहे है|

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले युवा मतदाताओं के नाम मतदाता सूची मे जोड़ने और वोटर लिस्ट में लिंग अनुपात को दुरुस्त करने के लिये 1 जुलाई से 31 जुलाई तक पुनरीक्षण अभियान चलाया जा रहा है। इसी अभियां को गति देने के लिये रविवार को विशेष अभियान चलाकर सभी मतदाता केन्द्रों पर केंद्र भी लगाने थे | लेकिन रविवार को बीएलओ के ऊपर अफसरों का कोई दबाब नजर नही आया| अधितर बूथों पर ताले लटक रहे थे|

हसीलदार आरके निगम ने बताया कि पर्यवेक्षणीय अधिकारियों से बंद बूथों के बारे मे रिपोर्ट ली जाएगी। अनुपस्थित बीएलओ के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

बीयरशाप में तोड़फोड़ करने में बैंक कर्मी के पुत्र सहित तीन गिरफ्तार

0

Posted on : 13-05-2017 | By : JNI-Desk | In : Corruption, CRIME, Election-2017, FEATURED, POLICE

फर्रुखाबाद : बीती रात शहर कोतवाली क्षेत्र के धुमना बाजार में स्थित बीयर की दुकान में अधिक मूल्य की में बिक्री करने के का आरोप लगाकर बैंक कर्मी के पुत्र सहित तीन युवको ने जमकर हंगामा किया| लेकिन बाद में पुलिस ने तीन को गिरफ्तार कर लिया| जिसमे बैंक कर्मी का पुत्र भी शामिल है|
बीयरशाप पर तीन युवक आये तो उन्होंने बीयर मांगी और अधिक डॉ बसूलने का आरोप लगाकर हंगामा कर दिया| जिसके बाद बीयर शॉप मालिक संजीब अग्निहोत्री ने 100 डायल पर फोन किया| 100 पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मोहल्ला नाला फिदाई खां निवासी महिला बैंक कर्मचारी नीरजा बाजपेई के पुत्र नानू बाजपेई, मोहल्ला नुनहाई कटरा निवासी पियूष दीक्षित व मदारवाड़ी निवासी सोनू पांडेय को गिरफ्तार कर लिया। बिटाना अग्निहोत्री ने घटना के सम्बन्ध में तहरीर दी|जिसमे जान से मारने की धमकी भी दी थी |

MCD चुनाव में जीत की केजरीवाल ने बीजेपी को दी बधाई, कहा- मिलकर करेंगे काम

0

दिल्ली: दिल्ली नगर निगम चुनावों की सभी 270 सीटों का रिजल्ट लगभग घोषित हो गया है। इसमें बीजेपी को 185, आम आदमी पार्टी को 45, कांग्रेस को 30 और अन्य को 10 सीटों पर जीत मिली है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तीनों नगर निगमों में जीत पर बीजेपी को दी बधाई दी। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के लिए मिलकर काम करेंगे। जैसे-जैसे रिजल्ट आते गए नेताअों के सुर भी बदलते गए। दिल्‍ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने कहा, ”हम दोनों (पीसी चाको और अजय माकन) ही एक तरह से अपनी जिम्‍मेदारी निभाने में नाकाम रहे। पार्टी को चीजें सही करने के लिए मौका देना चाहिए ताकि स्थिति सुधरे। चाको ने भी अपने इस्तीफे की पेशकश की है। आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने फिर ईवीएम में गड़बड़ी का राग अलापा है। उधर अन्ना हजारे ने कहा कि अगर ईवीएम में गड़बड़ी है तो उसे साबित करके दिखाअो। हजारे ने कहा कि उन्हें आम आदमी पार्टी की हार का दुख है। अरविंद केजरीवाल ने जो कहा वह नहीं किया। आप पर लोगों का भरोसा कम हो गया है। अन्ना हजारे ने कहा कि अगर दिल्ली मार्डन बन जाती है तो पूरा देश उसका अनुसरण करेगा। दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली वालों को धमकाया है।

आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा ने इस्तीफे की पेशकश की है। वहीं दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने हार की नैतिक जिम्मेदारी ली है। वहीं भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि यह मोदी सरकार के काम की जीत है। शाह ने कहा कि दिल्ली के परिणाम ने बीजेपी के विजय रथ को आगे बढ़ाया है। MCD चुनाव के लिए 23 अप्रैल को वोटिंग हुई थी। इसमें कुल 272 में से 270 वार्ड में वोटिंग हुई थी। जिन दो वार्ड पर फिलहाल वोटिंग नहीं हुआ है उसमें सराय पीपल थाला और मौजपुर शामिल है। दोनों सीटों पर अगले महीने चुनाव होगा।

राजेपुर ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव सहित उनके 26 साथियों पर मुकदमा दर्ज

0

Posted on : 17-04-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BJP

फर्रुखाबाद: ब्लाक प्रमुखी में अविश्वास प्रस्ताव लाने के प्रयास में लगे बीजेपी नेता को धमकाने के मामले में पुलिस ने राजेपुर ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव व उनके 26 साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं बीजेपी नेता को पुलिस सुरक्षा दी गयी है।

थाना क्षेत्र के ग्राम चाचूपुर निवासी रमेश राजपूत ने पुलिस अधीक्षक को तहरीर दी। तहरीर में कहा गया कि उनकी पत्नी अंजू बीडीसी सदस्य है। वह अपने क्षेत्र से ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रहा था। ब्लाक प्रमुख को इस बात की जानकारी हुई तो ब्लाक प्रमुख द्वारा 15 अप्रैल को बिना सदस्यों को एजेंडा व सूचना भेजे, असंवैधानिक रूप से क्षेत्र पंचायत राजेपुर में बैठक बुलायी। मेरे सदस्यों ने मिलकर इस बात का विरोध किया कि बिना ऐजेंडा बैठक कैसे होगी। जिसमें रमेश राजपूत के सदस्य बैठक में शामिल नहीं हुए। जब ब्लाक प्रमुख सुबोध को इस बात का पता चला तो वह अपने साथी देवेन्द्र उर्फ जग्गू व 20-25 अज्ञात साथियों के साथ मेरे घर गये और मेरी पत्नी अंजू से पूछा कि रमेश कहां हैं। मेरे खिलाफ वह अविश्वास प्रस्ताव ला रहा है। उसे समझा देना वर्ना उसे व तुम्हारे परिवार को जान से खत्म कर दूंगा। उस दौरान रमेश दहेलिया में बीडीसी सदस्य के घर पर था। कुछ देर बाद रमेश वहां से चले गये। पीछे से ब्लाक प्रमुख भी दहेलिया आ धमके और बीडीसी सदस्य से पूछा कि रमेश हस्ताक्षर कराने आया था। जब सदस्य ने हामी भर दी तो वह लोग रमेश के पीछे लग गये और सदस्यों को धमकाना शुरू कर दिया।

तहरीर पुलिस अधीक्षक को मिलने के बाद भी पुलिस हरकत में नहीं दिखी। बीजेपी नेताओं ने काफी प्रयास किया लेकिन पुलिस जांच कर कार्यवाही करने की बात समझाती रही। जिसके बाद खनन, आवकारी, मद्य निषेध मंत्री अर्चना पाण्डेय ने एसपी पर फोन से शिकंजा कसा और तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिये। जिसके बाद पुलिस हरकत में आयी। सोमवार सुबह ब्लाक प्रमुख के खिलाफ राजेपुर में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जांच दरोगा सीएल दिवाकर को दी गयी है। थानाध्यक्ष महेन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि ब्लाक प्रमुख के खिलाफ धारा 147 और 506 में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस जांच कर रही है।

सपा की चुनावी समीक्षा बैठक में नोकझोंक

0

Posted on : 05-04-2017 | By : JNI-Desk | In : EDUCATION NEWS, Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BJP

फर्रुखाबाद:(कमालगंज) विधान सभा भोजपुर के पूर्व विधायक जमालुद्दीन सिद्दीकी के कोल्ड में आयोजित चुनावी समीक्षा बैठक में सपा नेताओं की आपस में नोकझोंक हो गयी| नेताओ ने बैठक में चुनाव में करारी हार की समीक्षा की|

बैठक का संचालन सपा नेता सिराजुलआफाक मुन्ना कर रहे थे| उन्होंने सपा नेता सलाउद्दीन पहलबान को मंच पर बैठने के लिये नही बुलाया| जिसको लेकर उसका मुन्ना से विवाद हो गया| बाद में मामले को सफा-दफा किया गया| सपा नेताओ ने करारी हार की समीक्षा के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के सुर में सुर मिलाये और चर्चा कर कहा की इसी लिये केबल बीजेपी ही विधान सभा चुनाव में आगे रही|

पूर्व विधायक जमालुद्दीन ने कहा कि वह किसी कार्यकर्ता का उत्पीडन नही होने देंगे| चांहे उन्हें कुछ भी करना पड़े| इस दौरान जिलाध्यक्ष नदीम फारुखी, व्लाक प्रमुख राशिद जमाल सिद्दीकी, अरशद जमाल सिद्दीकी, पुष्पेन्द्र यादव, विमल सिंह, नरेन्द्र सिंह आदि मौजूद रहे|

योगी का राजतिलक होने पर छुड़ाई आतिशबाजी

0

Posted on : 19-03-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP

फर्रुखाबाद: योगी आदित्यनाथ को सूबे की कमान सौंपे जाते ही कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल है। जगह-जगह आतिशबाजी छुड़ाकर मिष्ठान वितरण कर खुशी का इजहार किया गया।

शहर के श्यामनगर में समाज कल्याण प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष मनोज राजपूत के आवास पर भाजपा नेता मोहन अग्रवाल की मौजूदगी में आतिशबाजी छुड़ाकर मिष्ठान वितरण किया गया। उत्साहित कार्यकर्ताओं ने कहा कि योगी के मुख्यमंत्री बनने के साथ ही साथ धर्मपाल सिंह को कैबिनेट मंत्री बनाये जाने की खुशी के चलते कार्यकर्ताओं ने मिष्ठान वितरण कर आतिशबाजी छुड़ायी। इस दौरान मोनू राजपूत, अंकुर वर्मा, रवी श्रीवास्तव, राहुल जैन, राजीव राजपूत, गोलू कटियार आदि मौजूद रहे।

वहीं लिंजीगंज से लेकर मन्नीगंज तक व्यापारी उत्साहित दिखे। युवाओं ने योगी के सीएम बनने पर एक दूसरे को मिठाई खिलाकर अपनी खुशी का इजहार किया। व्यापारियों ने कहा कि उन्हें नई सरकार पर भरोसा है। नई सरकार व्यापारियों के लिए नये रास्ते खोलेगी। इस दौरान विशू गुप्ता, अजीत कुमार, गोपाल सक्सेना, सुनील सागर, अनुज मेहरोत्रा आदि मौजूद रहे।

योगी को सीएम चुनने पर आतिशबाजी के साथ मिष्ठान वितरण

0

Posted on : 18-03-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP

फर्रुखाबाद: योगी आदित्यनाथ को यूपी का नया सीएम चुनने पर बीजेपी नेताओं में खुशी की लहर दौड़ गयी है। नेताओं ने पूरे शहर में आतिशबाजी के साथ ही साथ मिष्ठान वितरण किया।
शहर के लाल दरबाजे पर बड़ी संख्या में बीजेपी कार्यकर्ता व पदाधिकारी एकत्रित हुए। कार्यकर्ताओं ने योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुने जाने पर एक दूसरे को बधाई दी और मोदी व योगी के नारे बुलंद किये। कार्यकर्ताओं का कहना है कि अब प्रदेश अपराध व अपराधी मुक्त हो सकेगा। आम जनता हर तरह से अपने को सुरक्षित महसूस करेगी। जनता की अपेक्षाओं पर सरकार पूरी खरी उतरेगी। क्योंकि जनता ने दिल खोल कर बीजेपी को वोट दिया है। योगी के सीएम बनने की खुशी में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने चप्पे-चप्पे पर आतिशबाजी चलायी। इस दौरान जिलाध्यक्ष सत्यपाल सिंह, रूपेश गुप्ता, शिवम दुबे, गुंजन अग्निहोत्री, मयंक बुंदेला आदि मौजूद रहे। वही डॉ हरिदत्त द्विवेदी ने अपने समर्थको के साथ अपने आवास पर मिष्ठान वितरण किया और आतिशबाजी चलाई|
साधू संतो ने भी मनाया जश्न
अखिल भारतीय युवा जनसेवा संगठन की ओर से हनुमान मंदिर मे महंत बालक दास अन्य साधु संत के साथ ने भी योगी के सीएम चुने जाने पर मिष्ठान वितरण किया| इस दौरान सुमित सक्सेना,मोहित गुप्ता, पंकज प्रकाश, मुकेश कुमार, अकाश कुमार, रमन कटियार,रवि मिश्रा आदि मौजूद रहे|
बीजेपी की ऐतिहासिक जीत पर मना विजय दिवस
फर्रुखाबाद: शहर के सिकत्तर बाग स्थित विद्यालय में बीजेपी की एतिहासिक जीत को विजय दिवस के रूप में मनाया गया। जिसमें जिलाध्यक्ष सत्यपाल सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष भूदेव राजपूत, हिमांशु गुप्ता, शैलेन्द्र सिंह राठौर, रूपेश गुप्ता, अंकुर मिश्रा, राजकुमार राठौर आदि मौजूद रहे।

ब्रेकिंग-आरोपी के घर बंद कमरे में मिली डिस संचालक की लाश

0

Posted on : 16-03-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, Politics

फर्रुखाबाद: शहर कोतवाली क्षेत्र के पक्कापुल निवासी मुकेश पुत्र ओमप्रकाश के अपहरण का मुकदमा तकरीबन 10 दिन पूर्व परिजनों ने कोतवाली में दर्ज कराया था। गुरुवार की शाम आरोपी के घर के अंदर ही मुकेश की लाश मिलने से पुलिस पर सवालिया निशान लगने लगे हैं।

गुरुवार की शाम परिजनों को सूचना मिली कि मुकदमें में आरोपी दुर्गेश मिश्रा के कटरा नुनहाई स्थित मकान से बदबू आ रही है। सूचना मिलने पर परिजन मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। भनक लगते ही सीओ सिटी आलोक कुमार सिंह, एस एस आई नरेन्द्र गौतम आदि पुलिस बल के साथ मौके पर आ गये। पुलिस ने अंदर जाकर देखा तो मकान के पीछे बने कमरे में मुकेश का क्षति विक्षत शव पड़ा था। लाश काली पड़ चुकी थी। दरबाजा खुलते ही बदबू से आस पास का इलाका महक गया। मृतक के बदन पर आस्तीन की बनियान व पैन्ट थी। शव एक पुराने बैड़ पर पड़ा मिला। मृतक के परिजनों ने सपा के पूर्व सदर विधायक विजय सिंह के संरक्षण में आरोपियों के रहने का आरोप लगाया। कहा कि 25 फरवरी से मुकेश लापता था। 27 फरवरी को गुमशुदगी दर्ज की गयी। उसके बाद अपहरण का मुकदमा दर्ज किया गया। दुर्गेश मिश्रा सहित तीन आरोपी थे। पुलिस ने पूर्व सपा विधायक विजय सिंह के संरक्षण में होने की बजह से आरोपी के घर दबिश नहीं दी। जिससे आरोपी अपने मंसूबे में कामयाब हो गये। घटना के पीछे लेनदेन का विवाद सामने आ रहा है।

क्षेत्राधिकारी नगर आलोक सिंह ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जायेगा।

रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति अरेस्ट, 17 दिन से खोज रही थी पुलिस

0

Posted on : 15-03-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME-Dowry-Rape, Election-2017, Politics- Sapaa, Politics-BJP, राष्ट्रीय

लखनऊ: .रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति को लखनऊ पुलिस और एसटीएफ ने यहां बुधवार को अरेस्ट कर लिया है। वह करीब 17 दिन से फरार चल रहे थे। ऐसा कहा जा रहा कि लखनऊ के आलमबाग थाने में पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। मंगलवार को उनके दोनों बेटों अनुराग प्रजापति और अनि‍ल प्रजापति को पूछताछ के ल‍िए पुलिस ने रासत में ल‍िया था। गायत्री प्रजापति अखिलेश सरकार में मंत्री थे। उन्होंने अमेठी सीट से चुनाव भी लड़ा था। 27 फरवरी तक कैंपेन भी थी। इसके बाद वे फरार हो गए थे। बता दें कि फरवरी में सुप्रीम कोर्ट ने विक्टिम की पिटीशन पर गायत्री के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के ऑर्डर दिए थे। महिला ने क्या आरोप लगाए थे…
– बता दें, गायत्री के खिलाफ एक महिला ने आरोप लगाया था कि प्रजापति और उनके साथियों ने दो साल तक उसका गैंगरेप क‍िया। साथ ही उसकी बेटी का भी सेक्शुअल हैरेसमेंट भी किया।
– महिला ने इसकी श‍िकायत भी की थी, लेकि‍न उस पर कोई कार्रवाई नही हुई।
– इसके बाद पीड़‍िता सुप्रीम कोर्ट पहुंची। कोर्ट ने तुरंत मंत्री के खिलाफ रेप और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज करने का ऑर्डर दिया था। साथ ही, यूपी पुल‍िस से 8 हफ्ते में र‍िपोर्ट भी मांगी है।
यूपी पुलिस अरेस्ट नहीं कर पाई
– सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर के बाद भी पुलिस करीब एक महीने तक गायत्री प्रजापति को अरेस्ट नहीं कर पाई।
– इस दौरान वे अमेठी सीट से समाजवादी पार्टी के कैंडिडेट थे। वे जगह- जगह कैंपेन करते देखे।
– बाद में जब और सख्ती हुई उसके बाद गायत्री 27 फरवरी के बाद अंडरग्राउंड हो गए।
प्रजापति से 3 साल पहले हुई थी मुलाकात
– महिला ने अपनी शिकायत में कहा था कि गायत्री के एक करीबी ने उसकी मुलाकात करीब 3 साल पहले गायत्री से कराई थी। महिला का आरोप है कि मंत्री ने उसकी चाय में नशीला पदार्थ मिलाकर बेहोशी की हालत में उसके साथ रेप किया था।
– महिला ने आरोप लगाते हुए कहा था कि गायत्री ने घटना की तस्वीरें भी ली थीं। साथ ही, प्रजापति ने उसको कई बार तस्वीरों के जरिए ब्लैकमेल करते हुए रेप किया था।
गायत्री को अखिलेश ने किया था बर्खास्त
– सितंबर 2016 में सीएम अखिलेश यादव ने पहली बार करप्शन के आरोपों का सामना कर रहे गायत्री प्रजापति और राजकिशोर सिंह को बर्खास्त कर दिया था।
– दरअसल, गायत्री खनन मंत्री थे और उन पर खनन मंत्री रहते हुए अवैध खनन की गतिविधियों में शामिल रहने का आरोप है। गायत्री और खनन विभाग के अफसरों पर सीबीआई का शिकंजा कसने का संकेत मिलते ही सीएम अख‍िलेश ने उन्हें बर्खास्त कर दिया था।
– हालांकि, बाद में मुलायम सिंह यादव के कहने पर गायत्री की पार्टी में वापसी हो गई थी। बता दें कि प्रजापति को मुलायम सिंह यादव का करीबी माना जाता है।
बेटे पर भी रेप का आरोप
– अनुराग और अनिल की गिरफ्तारी के बाद जल्द ही गायत्री तक पहुंचना तय माना जा रहा है। दोनों बेटों के नाम 20 से ज्यादा कंपनियां हैं, जिसमें वे अरबों रुपए के मालिक हैं। दोनों बेटों की पढ़ाई अमेठी में ही हुई है। दोनों ने बीए किया है।
– बड़ा बेटा अनुराग पिता के साथ ही कमीशन एजेंट के तौर पर काम करने लगा। अनुराग पर भी अमेठी की रहने वाली एक लड़की ने 2014 में रेप का आरोप लगाया था। उसके ख‍िलाफ कार्रवाई करने की कई स‍िफारिशें की गईं, लेकिन गायत्री की हनक के चलते पुलिस ने एफआईआर तक नहीं दर्ज की। बताया जाता है ki बाद में परिवार पर दबाव बनाकर लड़की को शांत कराया गया।

अलवेला पंक्षी मुझको पथ की परवाह नहीं………….

0

Posted on : 12-03-2017 | By : JNI-Desk | In : Election-2017, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP

फर्रुखाबाद: एक जमाने में फर्रुखाबाद की राजनीति के करता धरता रहे पूर्व मंत्री स्वर्गीय ब्रह्मदत्त द्विवेदी प्रतिमा पर पहली बार विधायक बनने के बाद पहुंचे मेजर सुनील दत्त द्विवेदी की आंखें नम थीं। कार्यकर्ता उनमें ब्रह्मदत्त द्विवेदी की छवि देख रहे थे। पुष्पांजलि के दौरान ब्रह्मदत्त द्विवेदी द्वारा कही गयीं पंक्तियां याद आ गयीं। उन्होंने कहा था कि फूलों पर चलने वाला हूं, फूलों की चाह नहीं, अलवेला पंक्षी, मुझको पथ की परवाह नहीं।

सदर विधायक मेजर सुनीलदत्त द्विवेदी इस समय जिले के साथ-साथ प्रदेश की राजनीति में चर्चा का विषय बने हुए हैं। वर्षों बाद उन्हें ब्रह्मदत्त द्विवेदी की विरासत के साथ-साथ सत्ता में आने का मौका मिला है। उन्होंने निर्वाचित होने के ठीक बाद पांचाल घाट स्थित पूर्व मंत्री ब्रह्मदत्त द्विवेदी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। कार्यकर्ताओं ने ब्रह्मदत्त के साथ ही साथ मेजर सुनीलदत्त द्विवेदी के लिए नारे बुलंद किये। उस समय आत्म प्रकाश शुक्ल की कही हुई बात कि आने वाला काल खण्ड गाथा को दोहरायेंगे, ब्रह्मदत्त हम तुम्हें कभी भी भूल नहीं पायेंगे। याद आ गया। वर्षों बाद काल खण्ड की गाथा को मेजर सुनीलदत्त द्विवेदी के रूप में जनता ने दोहरा दिया। मेजर सुनीलदत्त द्विवेदी का कहना है कि उनके दरबाजे जनता के लिए हमेशा खुले रहेंगे। जन समस्याओं का निराकरण करना उनकी पहली प्राथमिकता होगी। जिले में बिजली, पानी, सड़क पर विशेष जोर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि अब जनता के अच्छे दिन आ गये हैं। इस दौरान धीरेन्द्र वर्मा, दिलीप भारद्धाज राजू पाण्डेय आदि मौजूद रहे।