Featured Posts

राजेपुर ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव सहित उनके 26 साथियों पर मुकदमा दर्जराजेपुर ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव सहित उनके 26 साथियों पर मुकदमा... फर्रुखाबाद: ब्लाक प्रमुखी में अविश्वास प्रस्ताव लाने के प्रयास में लगे बीजेपी नेता को धमकाने के मामले में पुलिस ने राजेपुर ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव व उनके 26 साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं बीजेपी नेता को पुलिस सुरक्षा दी गयी है। थाना क्षेत्र के...

Read more

अविश्वास प्रस्ताव- बिना दूल्हे की बारात में दहेज़ पर मसक्कत, सगुना ही रहेगी अध्यक्षा!अविश्वास प्रस्ताव- बिना दूल्हे की बारात में दहेज़ पर मसक्कत,... फर्रुखाबाद: जिला पंचायत में अध्यक्षा के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव बड़े ही ढोल पीट कर दे दिया गया है| मगर अगर अविश्वास प्रस्ताव आ गया तो अगला अध्यक्ष कौन बनेगा? अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित सीट है और दावेदार केवल पांच| एक वर्तमान में अध्यक्षा है और बाकी के चार के लिए...

Read more

आप संडे की छुट्टी मना रहे हैं, वहां योगी ने ले लिया बेहद सनसनीखेज फैसला, पूरे यूपी में मचा तहलकाआप संडे की छुट्टी मना रहे हैं, वहां योगी ने ले लिया बेहद सनसनीखेज... लखनऊ : उत्तर प्रदेश को अब उत्तम प्रदेश बनने से कोई नहीं रोक सकता, ऐसा हम नहीं कह रहे हैं बल्कि ऐसा तो आप खुद कहेंगे इस बेहद सनसनीखेज खबर को पढ़ने के बाद. सीएम योगी प्रदेश में कानूनों का सही तरीके से पालन हो इसके लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे हैं और अब इसी सिलसिले में योगी सरकार...

Read more

बंदियों ने जेल अधीक्षक का सिर फोड़ा, प्रभारी डीएम घायल, डाक्टर पर कार्यवाहीबंदियों ने जेल अधीक्षक का सिर फोड़ा, प्रभारी डीएम घायल, डाक्टर... फर्रुखाबादः जिला जेल फतेहगढ़ में रविवार सुबह से चल रहे बबाल में आक्रोषित बंदियों ने जेल अधीक्षक का सिर पत्थर मारकर फोड़ दिया। बंदियों की मांग पर जेल के चिकित्सक डा0 नीरज को उनके पद से हटा दिया गया। प्रभारी डीएम सीडीओ एनपी पाण्डेय को भी पत्थर मारकर बंदियों ने घायल कर दिया।...

Read more

ब्रेकिंग - जिला जेल में बंदीयों ने की तोड़फोड़ व पथरावब्रेकिंग - जिला जेल में बंदीयों ने की तोड़फोड़ व पथराव फर्रुखाबादः रविवार को सुबह किसी बात को लेकर जिले जेल के बंदी अचानक भड़क गये। जिसके चलते उन्होंने पथराव शुरू कर दिया। इसके साथ ही बंदियों ने काफी तोड़फोड़ कर दी। आगजनी का मामला भी सामने आया है। सूचना मिलने पर जेल में अलार्म व शायरन भी बजाया गया। लेकिन फिलहाल कोई असर दिखायी...

Read more

योगी मंत्रिमंडल की पूरी अधिकृत सूची- किसको मिला कौन सा विभागयोगी मंत्रिमंडल की पूरी अधिकृत सूची- किसको मिला कौन सा विभाग लखनऊ: उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक ने मुख्यमंत्री श्री आदित्य नाथ योगी के प्रस्ताव दोनों उप मुख्यमंत्रियों सहित सभी 22 मंत्री, 9 राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा 13 राज्यमंत्रियों को विभाग आवंटित करने पर अपना अनुमोदन प्रदान कर दिया है। मुख्यमंत्री ने गृह, आवास...

Read more

रिश्वत वसूली ऊपर वाले के लिए करनी पड़ती है...रिश्वत वसूली ऊपर वाले के लिए करनी पड़ती है... भाई साहब फाइल पर साहब का अप्र्रोवल लेना है खर्चा दो| दफ्तर के बाबू ने बड़ी शालीनता से ठेकेदार से रिश्वत की मांग अपने साहब के लिए कर दी| साथ ही ठेकेदार पर एहसान भी लाद दिया, आप तो घर के आदमी है मुझे कुछ नहीं चाहिए| रिश्वत कोई अपने लिए नहीं वसूलता है यहाँ सब ऊपर वाले के लिए रिश्वत...

Read more

ब्रेकिंग-आरोपी के घर बंद कमरे में मिली डिस संचालक की लाशब्रेकिंग-आरोपी के घर बंद कमरे में मिली डिस संचालक की लाश फर्रुखाबाद: शहर कोतवाली क्षेत्र के पक्कापुल निवासी मुकेश पुत्र ओमप्रकाश के अपहरण का मुकदमा तकरीबन 10 दिन पूर्व परिजनों ने कोतवाली में दर्ज कराया था। गुरुवार की शाम आरोपी के घर के अंदर ही मुकेश की लाश मिलने से पुलिस पर सवालिया निशान लगने लगे हैं। गुरुवार की शाम परिजनों...

Read more

रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति अरेस्ट, 17 दिन से खोज रही थी पुलिसरेप के आरोपी गायत्री प्रजापति अरेस्ट, 17 दिन से खोज रही थी पुलिस लखनऊ: .रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति को लखनऊ पुलिस और एसटीएफ ने यहां बुधवार को अरेस्ट कर लिया है। वह करीब 17 दिन से फरार चल रहे थे। ऐसा कहा जा रहा कि लखनऊ के आलमबाग थाने में पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। मंगलवार को उनके दोनों बेटों अनुराग प्रजापति और अनि‍ल प्रजापति को पूछताछ...

Read more

हम गायत्री मंत्र बोलते हैं, सपा वाले गायत्री प्रजापति मंत्र बोलते हैंहम गायत्री मंत्र बोलते हैं, सपा वाले गायत्री प्रजापति मंत्र... जौनपुर. काशी में शनिवार को रोड शो करने के बाद नरेंद्र मोदी ने जौनपुर में रैली की। उन्होंने कहा- "हम सबका साथ-सबका विकास का नारा देते हैं। सपा- कांग्रेस वाले कुछ का साथ-कुछ का विकास की ही बात कहते हैं। मैं आपको गारंटी देता हूं कि बीजेपी सरकार की पहली मीटिंग में किसानों का कर्जा...

Read more

डीएम कार्यालय में ही अनुपस्थित मिले 44 कर्मचारियों का वेतन कटा

0

Posted on : 29-04-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद: नवागंतुक जिलाधिकारी रावेन्द्र कुमार योगी सरकार को अमलीजामा पहनाने का पूरा प्रयास कर रहे हैं। लेकिन उनके अधीनस्थ कर्मचारी अपने को सरकार के इशारे पर चलाना नहीं चाहते। जिसका जीता जागता उदाहरण जिलाधिकारी को देखने को मिला। उनके निरीक्षण में खुद उनके कार्यालय में ही कार्यरत 44 कर्मचारी सुबह गायब मिले। जिस पर डीएम ने सभी का एक दिन का वेतन काटा है।

शनिवार सुबह 9 बजे डीएम अपने साथ एडीएम को लेकर कलेक्ट्रेट स्थित अपने कार्यालय के विभिन्न अनुभागों में निरीक्षण करने पहुंच गये। 9 बजे तक कार्यालयों के 44 कर्मचारी नदारद थे। जिस पर जिलाधिकारी का पारा चढ़ गया और उन्होंने अनुपस्थित बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी में एक कनिष्ठ सहायक, दो चपरासी, सहायक चकबंदी अधिकारी अंतिम अभिलेख के चकबंदी कर्ता, एक चकबंदी लेखपाल व एक चतुर्थश्रेणी कर्मचारी, निर्वाचन कार्यालय में एक वरिष्ठ सहायक, दो कनिष्ठ सहायक, एक कम्प्यूटर सहायक, एक सहायक निर्वाचन अधिकारी, जिला पूर्ति कार्यालय में एक लिपिक व पूर्ति निरीक्षक गायब मिले।

जिलाधिकारी के संयुक्त कार्यालय में राजस्व सहायक, न्याय सहायक, नगर निकाय लिपिक, सामान्य लिपिक, वेतन लिपिक, भूमि अध्याप्ति लिपिक, सहायक आयुध लिपिक, नगर निकाय लिपिक, टंकक प्रथम संयुक्त कार्यालय न्याय सहायक चतुर्थ, विविध लिपिक, मुख्य राजस्व लेखाकार, खनन लिपिक, संग्रह अमीन, न्याय अनुभाग में एडीएम पेशकार, सीएम पेशकार, सीएम अलहमद, एसडीएम पेशकार, एसडीएम अलहमद, भूलेख अनुभाग में तीन लेखपाल, अभिलेखालय राजस्व से अभिलेखपाल, सहायक अभिलेखपाल दो, अरेंजर दो, नकल नवीस, सहायक वेतन लिपिक, प्रपत्री व विनियमितीकरण लेखपाल अनुपस्थित मिले। जिनका जिलाधिकारी ने एक दिन का वेतन रोकने की कार्यवाही की है।

प्लेटफार्म पर रेल नीर के लिए तरसे डीआरएम

0

Posted on : 29-04-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, राष्ट्रीय

फर्रुखाबाद: मंडल रेल प्रबन्धक निखिल पाण्डेय ने फर्रुखाबाद रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया| जिमसे उन्हें लापरवाही और खामियां दोनों ही मिली| इसके साथ ही साथ डीआरएम के आने कि सूचना पर खानपान ठेकेदारों ने अबैध रूप से बेचे जा रहे पानी को गायब कर दिया| जिससे डीआरएम् को पानी कि एक बोतल तक नसीब नही हुई|

फ़तेहगढ़ स्टेशन का निरीक्षण करने के बाद सड़क मार्ग से डीआरएम निखिल पाण्डेय फर्रुखाबाद रेलवे स्टेशन पंहुचे| उन्होंने प्लेटफार्म नम्बर 5 का निरीक्षण किया | उन्हें पूंछतांछ के केंद्र पर लगे टेलीफोन खराब मिले| जिस पर उन्होंने टेलीकॉम इंजीनियर प्रदीप यादव कि जमकर क्लास लगा उन्हें निलंबित करने की चेतावनी दी|इसके बाद उन्होंने रेलवे ट्रेक को चेक किया| जिसमे उन्हें पैकिंग ठीक नही मिली| तो उन्होंने पैकिंग दोबारा कराये जाने के निर्देश दिये| इसके बाद उन्होंने प्लेटफार्म पर खानपान ठेकेदारों कि दुकानों पर रेल नीर माँगा| तो दुकानदारों ने रेल नीर होने से मना कर दिया| जिस पर उनका पाराचढ़ गया| उन्होंने ठेकेदारों को जमकर हड़का दिया और कहा जब तक रेल नीर बिक्री नही करोगे दुकान नही खुलेगी| उन्होंने सहायक स्टेशन मास्टर नरेन्द्र कुमार मिश्रा से रेलवे लाइन से सम्बन्धित कई सबाल किये| लेकिन कोई संतोष जनक जबाब नही मिला| जिस पर उन्होंने स्टेशन मास्टर उमा शंकर कि क्लास लगा दी | इसके बाद बीजेपी नेता विनोद दत्त दीक्षित व् एडवोकेट लक्ष्मण सिंह ने भी समस्याओ को लेकर ज्ञापन सौपा|

डीआरएम ने बताया कि आने वाले 2020 तक कानपुर से फर्रुखाबाद व् फर्रुखाबाद से कासगंज और कासगंज से मथुरा तक बिधुत लाइन तैयार कि जायेगी| तीन साल में कार्य पूर्ण किया जायेगा| उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व में बढ़पुर के निकट रेलवे लाइन के पेंडील लॉक उखड़ने के मामले में उन्होंने ऍफ़आईआर दर्ज करायी है| जाँच चल रही है| इस दौरान सीनियर डीसीएम आरसी श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे|

पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को जमानत देने वाले जज को हाइकोर्ट ने किया सस्पेंड

0

Posted on : 29-04-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, जिला प्रशासन

लखनऊ: जेल में बंद सपा नेता गायत्री प्रसाद प्रजापति को जमानत देने वाले जज ओम प्रकाश मिश्र को इलाहाबाद हाइकोर्ट के चीफ जस्टिस दिलीप बी भोंसले ने सस्पेंड कर दिया है. दरअसल राज्य सरकार ने पोस्को कोर्ट के इस आदेश को चीफ जस्टिस के सामने चुनौती दी थी. चीफ जस्टिस ने पोस्को कोर्ट के अतिरिक्त सेशन जज मिश्र को सस्पेंड करने के साथ ही प्रजापति को जमानत देने के ऑर्डर को अगले आदेश तक स्थगित करने का निर्देश दिया है|

चीफ जस्टिस ने अपने आदेश में लिखा ‘जिस तरह से जानकार जज ने अपराध की गंभीरता को अनदेखा करते हुए आरोपी को जमानत देने में जल्दबाज़ी दिखाई, उससे हमें इन न्यायाधीश की मंशा पर संदेह है जो खुद 30/4/2017 को रिटायर हो रहे हैं.’ इस मसले पर जस्टिस मिश्र ने जमानत देने के पीछे अपने आदेश में यह तर्क दिया था कि ‘प्रजापति मामले में पीड़ित महिला ने 2014-16 के दौरान बलात्कार की शिकायत नहीं की. इससे पीड़ित महिला के दावे पर संदेह होता है.’

गौर करने वाली बात यह है कि जमानत देने के मसले पर जांच अधिकारी आयोग ने जस्टिस मिश्र के सामने अपनी राय रखने के लिए कुछ वक्त मांगा था. इसके अलावा अतिरिक्त जिला परिषद ने लिखित में जस्टिस मिश्र से इस मामले पर अपनी बात रखने के लिए तीन दिन का समय मांगा था. लेकिन बावजूद इसके जस्टिस मिश्र ने एक दिन के भीतर की प्रजापति को ज़मानत दे दी|

बताते चलें कि कि यूपी के चित्रकूट जिले की एक महिला ने गायत्री प्रजापति पर अक्टूबर 2014 से लेकर जुलाई 2016 तक गैंग रेप करने का आरोप लगाया है. जब गायत्री ने महिला की बेटी के साथ कथित तौर पर दुर्व्यवहार करने की कोशिश की तो शिकायतकर्ता ने डीजीपी को चिट्ठी लिखी| इसके बाद 49 साल के इस पूर्व मंत्री और छह अन्य के खिलाफ महिला के साथ गैंग रेप और नाबालिग के साथ बलात्कार करने की कोशिश के मामले में एफआईआर दर्ज की गई|

गायत्री करीब एक महीने तक गिरफ्तारी से बचते रहे लेकिन इसी साल 15 मार्च को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. गायत्री के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी किया गया था और वह देश से भाग न जाए इसलिए सभी शहरों के हवाई अड्डों पर अलर्ट जारी कर दिया गया था| बताते चलें कि प्रजापति, मुलायम सिंह यादव के नज़दीकी बताएं जाते हैं और उन्हें 2016 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंत्री पद से हटा दिया था| हालांकि बाद में उनकी फिर से बहाली हो गई थी. प्रजापति ने हालिया हुए विधानसभा चुनाव अमेठी से लड़े थे जहां वह बीजेपी की गरिमा सिंह से हार गए|

नैनिहालो ने भी मनाया परशुराम का जन्मोत्सव

0

फर्रुखाबाद:भगवान परशुराम की जयंती अवसर पर कन्या प्राथमिक विद्यालय बुढ़नामऊ में भी परशुराम के जन्मोत्सव पर नौनिहालों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया| उनकी जीवन गाथा को को भी समझा|

विधालय के बच्चों को परशुराम के विषय में सहायक अध्यापक शिल्पी ने व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला इस दौरान प्रधानाध्यापक नानकचंद ने परशुराम जी के आदर्शों उनका अनुसरण करने की सलाह दीl बच्चों ने परशुराम के चित्र पर माल्यार्पण, पुष्पांजलि कर श्रद्धांजलि दी| इस दौरान नेहा मिश्रा, शिल्पी, फरजाना अंजुम सहायक अध्यापक, ग्रामीण पवन कटियार अनुज कटियार धन्य कटियार कल्लू कटियार पूर्व प्रधान रामविलास यादव, रसोईया राममूर्ति, चंद्रकांति आदि मौजूद रहेंगे

सीएम योगी का अफसरों को निर्देश- 9 से 6 दफ्तर में रहें, कभी भी लैंडलाइन पर कर सकते फोन

0

Posted on : 28-04-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, जिला प्रशासन

लखनऊ:यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ प्रदेश में कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए लगातार काम कर रहे हैं। सरकारी तंत्र और अधिकारी कानून व्यवस्था सुधारने के लिए सही तरीके से काम कर रहे हैं या नहीं इसपर उनकी पूरी नजर है। सीएम ने अफसरों को निर्देश जारी किया है कि वह सुबह 9 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक कभी भी लैंडलाइन पर फोन कर सकते हैं। अगर अधिकारी सीएम का फोन नहीं उठा पाते हैं तो उन्हें यह साबित करना होगा कि वह फोन क्यों नहीं उठा पाए। अगर फील्ड में थे तो बताना होगा कि कहां और किस लिए गए थे। अगर साबित नहीं कर पाते हैं तो कार्रवाई की जा सकती है।

सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर यह आदेश यूपी सरकार के वरिष्ठ मंत्री श्रीकांत शर्मा ने जारी किया है। सीनियर पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इस नियम का पालन करना उनके लिए थोड़ा मुश्किल होगा क्योंकि वह या तो फील्ड में होते हैं या अपने जूनियरों कि निगरानी में लगे होते हैं। मुख्यमंत्री की कहना है कि जब बड़े अधिकारी इसका पालन करेंगे तो जूनियर खुद पालन करने लगेंगे। सभी सीनियर अधिकारियों से कहा गया है कि वह घर में बने अपने ऑफिसों को तुरंत बंद करे दें।

गौरतलब है कि यूपी के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ सीएम की कुर्सी संभालते ही एक्शन मोड में आ गए थे। एक हफ्ते के अंदर योगी ने 50 से ज्यादा प्रशासनिक फैसले लिए थे। इसके साथ ही ब्यूरोक्रेसी (प्रशासन) और पार्टी कार्यकर्ताओं को भी कड़ा संदेश दिया। योगी ने अपने गोरखपुर दौरे के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था कि अगले दो साल बिना थके काम करना है। जो लोग 18-20 घंटे तक काम कर सकते हैं वे उनसें जुड़ सकते हैं, बाकी बचे लोग जा सकते हैं। मौज-मस्ती के लिए समय नहीं है। सीएम ने कहा था कि अगले दो महीने में साफ हो जाएगा कि एक राज्य सरकार कैसे काम करती है।

कचरा साफ करने का मौका मिला है। अवैध बूचड़खानों को बंद किए जाने, महिलाओं से छेड़छाड़ को रोकने के लिए एंटी रोमियो स्क्वैड, सरकारी कर्मचारियों का ऑफिस पहुंचने के लिए समय निश्चित करने जैसे फैसले को लेकर योगी आदित्यनाथ इन दिनों चर्चा में हैं।

[bannergarden id="12"]