Featured Posts

फिर शुरू हुआ गौसदन में गायों की मौत का सिलसिला,जिन्दा गाय की आँखे नोच ले गए परिन्देंफिर शुरू हुआ गौसदन में गायों की मौत का सिलसिला,जिन्दा गाय की... फर्रुखाबाद:बीते दिनों कटरी धर्मपुर गौसदन में 70 से अधिक गायों की भूख से तड़प कर मौत हो गयी थी| जिस पर जेएनआई ने गायों की आवाज को शासन व प्रशासन तक पंहुचाने के लिए एक मुहीम छेड दी थी| लगातार कई दिनों तक समाचार प्रकाशित करने के बाद व्यवस्था दुरस्त हुई लेकिन बीते कुछ दिनों से गायों...

Read more

संसद हमले में शहीद हुई थी फर्रुखबाद की बेटी व कन्नौज की बहू कमलेश कुमारीसंसद हमले में शहीद हुई थी फर्रुखबाद की बेटी व कन्नौज की बहू... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)संसद हमले की 17वीं बरसी पर देश शहीदों को याद कर रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि शहीदों की वीरता को देश सदैव याद करेगा। आपको बताते चले की संसद में जो लोग शहीद हुए उनमे जनपद फर्रुखाबाद का नाम रोशन करने वाली साहसी कमलेश कुमारी भी थी| जिसने शहीद होकर...

Read more

मातम में बदली खुशियां:बहन की डोली से पहले उठी भाई की अर्थीमातम में बदली खुशियां:बहन की डोली से पहले उठी भाई की अर्थी फर्रुखाबाद:शादी की खुशियों में बिन बुलाए मेहमान की तरह जब मौत शरीक हुई तो मातम छा गया। बहन की डोली उठने से पहले भाई की अर्थी उठ गई। दरअसल बहन की शादी में काम कर रहेभाई को तेज रफ्तार ट्रैक्टर ने कुचल दिया| जिससे भाई की दर्दनाक मौत हो गयी| बहन शादी के जोड़े में अपने भाई के शव पर...

Read more

कन्नौज से अपहरण कर लाया गया व्यापारी बरामदकन्नौज से अपहरण कर लाया गया व्यापारी बरामद फर्रुखाबाद:(राजेपुर)बीते शनिवार को जनपद कन्नौज से अपहरण कर लाये गये आईसक्रीम व्यापारी को पुलिस ने बरामद कर लिया| घटना के सम्बन्ध में व्यापारी के परिजनों को सूचना दी गयी| जनपद कन्नौज के कुसुपुर निवासी अब्दुल जब्बर पुत्र अब्दुल सत्तर ने बताया की उसका मुम्बई में आईस्क्रीम...

Read more

निर्माणधीन बिजली घर चौकीदार नत्थू सिंह की हत्या में चार गिरफ्तारनिर्माणधीन बिजली घर चौकीदार नत्थू सिंह की हत्या में चार गिरफ्तार फर्रुखाबाद:फर्रुखाबाद: बीते 30 अक्टूबर की रात निर्माणाधीन बिजली घर में सो रहे चौकीदार की हत्या कर सिर पर सीमेंट की बोरी रख दी गयी थी| घटना के तकरीबन डेढ़ महीने बाद पुलिस ने हत्या का खुलासा किया| जिसमे पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है| थाना राजेपुर के ग्राम महमदपुर...

Read more

उपमुख्यमंत्री की सभास्थल से कुछ दूर हिन्दू महासंघ का धरनाउपमुख्यमंत्री की सभास्थल से कुछ दूर हिन्दू महासंघ का धरना फर्रुखाबाद: कटरी धर्मपुर गौसदन में गायों की दुर्दशा को लेकर विश्व हिन्दू महासंघ ने धरना दिया| धरने की सूचना पर एसडीएम सदर ने मौके पर जाकर ज्ञापन लिया और धरना समाप्त करा दिया| संगठन के जिलाध्यक्ष अविनाश दुबे ने नेतृत्व में पदाधिकारी रोडबेज बस अड्डे लाल दरवाजे के निकट स्वराज...

Read more

उपमुख्यमंत्री का काफिला रोंक अलीगंज को जिला बनाने की मांगउपमुख्यमंत्री का काफिला रोंक अलीगंज को जिला बनाने की मांग फर्रुखाबाद:उपमुख्यमंत्री केशब प्रसाद मौर्य का काफिला रोंककर अलीगंज को जिला बनाये जाने की मांग की गयी है | इस सम्बन्ध में एक पत्र भी डिप्टी सीएम को सौपा गया है| उन्होंने इस पर जल्द कार्यवाही की बात कही है| केशव प्रसाद मौर्य सभा समाप्त करके जब निरीक्षण भवन फतेहगढ़ पंहुचे वहां...

Read more

जिला उपाध्यक्ष की शिकायत पर उपमुख्यमंत्री ने दिये कार्यवाही के निर्देशजिला उपाध्यक्ष की शिकायत पर उपमुख्यमंत्री ने दिये कार्यवाही... फर्रुखाबाद:शमशाबाद नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष व वर्तमान में बीजेपी के जिला उपाध्यक्ष विजय गुप्ता ने उप मुख्यमंत्री मंत्री केशव प्रसाद मौर्य से फतेहगढ़ निरीक्षण भवन में मुलाकात की| उन्होंने आरोप लगाया कि क्षेत्राधिकारी कायमगंज के दबाव में उनकी माँ नगर पंचायत अध्यक्ष...

Read more

सपा,बसपा व कांग्रेस बिन दुल्हे की बारात: केशब प्रसाद मौर्यसपा,बसपा व कांग्रेस बिन दुल्हे की बारात: केशब प्रसाद मौर्य फर्रुखाबाद:जनपद आये उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जिले के 33 मार्गो के साथ ही रेलवे ओवरब्रिज के साथ कुल 15843.64 लाख की योजनाओं का बटन दबाकर शिलान्यास किया| इस दौरान वह पूरी तरह से विरोधियों पर हमलावर रहे| उन्होंने कहा आगामी लोकसभा चुनाव में मोदी फिर से पीएम बनेंगे| लेकिन...

Read more

सोशल मीडिया पर पीएम के खिलाफ अशोभनीय पोस्ट पर एनएसए के खिलाफ तहरीरसोशल मीडिया पर पीएम के खिलाफ अशोभनीय पोस्ट पर एनएसए के खिलाफ... फर्रुखाबाद:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभद्र पोस्ट करने के मामले में बीजेपी नेता भडक गये| उन्होंने नगर शिक्षा अधिकारी के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी| बीजेपी के फतेहगढ़ मंडल अध्यक्ष रामवीर चौहान के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ता कोतवाली पंहुचे| रामवीर...

Read more

मुख्यमंत्री के नाम पर पेच,राजस्थान में समर्थक ने बसों में की तोड़फोड़

0

Posted on : 13-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, Politics-CONG., जिला प्रशासन

नई दिल्ली:मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों में जीत के बाद कांग्रेस ने वापसी तो कर ली है, लेकिन इन राज्यों में मुख्यमंत्री किसे बनाया जाए, इसका फैसला कांग्रेस आलाकमान अभी नहीं कर पाया है। तीनों राज्यों में कांग्रेसी कार्यकर्ता अपने-अपने नेताओँ के समर्थन में नारेबाजी कर रहे हैं। भोपाल में कांग्रेस मुख्यालय के बाहर कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक आमने-सामने दिख रहे हैं। वहीं राजस्थान में कांग्रेस कार्यकर्ता उग्र होते दिख रहे हैं। सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग को लेकर कुछ कार्यकर्ताओं ने एनएच- 21 पर जाम लगा दिया है। रोडवेज की एक बस में तोड़फोड़ भी की गई है।
बतादें कि बुधवार को इन तीनों राज्यों में विधायक दल की बैठक के बाद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को सीएम का नाम फाइनल करने का प्रस्ताव दिया गया था। ऐसे में मुख्यमंत्री पर अंतिम फैसला पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को लेना था।
राफेल डील को लेकर कल आएगा सुप्रीम कोर्ट का फैसला
– ‘फैसला जल्द लिया जाएगा, चिंता करने वाली कोई बात नहीं है। थोड़ा इंतजार कीजिए, तीन राज्यों के मुख्यमंत्री पर अभी फैसला लिया जाना है, इसमें थोड़ा वक्त लगता है। पार्टी अध्यक्ष इस पर निर्णय लेंगे। मैं कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं कि वे शांत रहें। उन्होंने कड़ी मेहनत की है। जो भी निर्णय होगा वो हम सबको मान्य होगा।’ : अशोक गहलोत
– सचिन पायलट ने पार्टी कार्यकर्ताओं से शांति और शिष्टाचार बनाए रखने की अपील की है। पायलट ने एक बयान जारी कर कहा ‘मुझे नेतृत्व पर पूरा भरोसा है। राहुल जी और सोनिया जी जो भी फैसला लेंगे वो मुझे मान्य होगा। पार्टी के सम्मान को बनाए रखना हमारी जिम्मेदारी है। हम पार्टी के लिए समर्पित हैं।’
– सचिन पायलट को सीएम बनाने की मांग को लेकर कांग्रेसियों ने एनएच-21 जाम किया, बस में भी लगाई आग।
– राजस्थान के करौली में सचिन पायलट के समर्थकों ने रोड जाम किया।
– जयपुर में सचिन पायलट के घर के बाहर जुटे समर्थक, नारेबाजी कर रहे हैं।
– भोपाल में कांग्रेस दफ्तर के बाहर समर्थकों ने पोस्टर लगाकर कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनने की बधाई दी।
– भोपाल में कांग्रेस मुख्यालय के बाहर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की नारेबाजी, कमलनाथ और सिंधिया के समर्थक आमने-सामने
– राजस्थान में सीएम के पद को लेकर सस्पेंस बरकरार, अशोक गहलोत और सचिन पायलट को दिल्ली में रोका गया।
– सोनिया गांधी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के घर पहुंची।
– सूत्रों के मुताबिक राजस्थान के लिए गहलोत और मध्य प्रदेश के लिए कमलनाथ का नाम तय माना जा रहा है। उधर, सिंधिया को डिप्टी सीएम बनाए जाने की भी ख़बरें मिल रही हैं।
– सचिन पायलट और अशोक गहलोत के साथ राहुल गांधी की बैठक खत्म हो गई है। बैठक खत्‍म होने के बाद पहले राहुल के घर से बाहर सचिन पायलट निकले, उसके कुछ समय बाद अशोक गहलोत बाहर आए।
– राहुल गांधी ने सचिन पायलट और अशोक गहलोत को अपने आवास पर बुलाया है। राहुल दोनों नेताओं से भी उनकी दावेदारी पर बात करेंगे। उसके बाद ही कोई फैसला हो पाएगा। दोनों नेता राहुल गांधी के घर पहुंचे चुके हैं। जहां उनसे बातचीत जारी है।
– राजस्थान के निर्दलीय विधायक महादेव सिंह खंडेला ने अशोक गहलोत को सीएम बनाने की मांग की। खंडेला ने कहा, ‘राजस्थान की जनता अशोक गहलोत को सीएम देखना चाहती है। मैं भी यही चाहता हूं और मुझे लगता है कि हाईकमान भी यही फैसला लेगी।’
– राजस्थान के निर्दलीय विधायक राजकुमार गौड़ ने कहा, ‘अशोक गहलोत दो बार राजस्थान के सीएम रहे हैं। उनके पास अनुभव है। राजस्थान की जनता और विधायक उन्हें ही सीएम देखना चाहते हैं।’
– राजस्थान का सीएम किसे बनाया जाए, इसे लेकर राहुल गांधी और पर्यवेक्षकों के बीच मंथन जारी है। वहीं, दूसरी ओर निर्दलीय विधायकों के बयान आ रहे हैं। ज्यादातर विधायक अशोक गहलोत को सीएम देखना चाहते हैं।
– अशोक गहलोत और सचिन पायलट के समर्थक भी दिल्ली पहुंच गए हैं। दोनों के समर्थक कांग्रेस कार्यालय के बाहर अपने-अपने नेताओं को सीएम बनाने के लिए नारेबाजी कर रहे हैं।
– संसद के लिए जाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि विधायकों और कार्यकर्ताओं से राय ली जा रही है, सीएम पद पर जल्द ही फैसला हो जाएगा।
– राजस्थान के पर्यवेक्षक के.के. वेणुगोपाल राहुल गांधी से मिलने पहुंचे हैं। वहीं, मल्लिकार्जुन खड़गे भी राहुल से मिलकर छत्तीसगढ़ के सीएम के लिए अपनी राय जता चुके हैं। अब अंतिम फैसला राहुल गांधी करेंगे।
– राजस्थान में सीएम के दावेदार सचिन पायलट और अशोक गहलोत, राहुल गांधी से मिलने दिल्ली पहुंच चुके हैं। उधर, राहुल गांधी ने पर्यवेक्षकों को भी मुलाकात के लिए बुलाया है। दोनों से बातचीत के बाद ही राहुल गांधी, राजस्थान के सीएम की घोषणा करेंगे।
– अशोक गहलोत ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘पर्यवेक्षकों ने शांतिपूर्ण तरीके से सभी की राय ले ली है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को (राजस्थान के सीएम उम्मीदवार पर) निर्णय लेना है। पर्यवेक्षक दिल्ली पहुंच चुके हैं। आज बातचीत होगी और निर्णय लिया जाएगा।’
राजस्थान के दावेदार
राजस्थान में वसुंधरा सरकार को सत्ता से बेदखल कर कांग्रेस सहयोगियों की मदद से सरकार बनाने जा रही है। यहां पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत और युवा नेता सचिन पायलट मुख्यमंत्री रेस में हैं। दोनों नेताओं के बीच मुख्यमंत्री पद के लिए खींचतान की ख़बरें आ रही हैं, दोनों के समर्थक अपने नेता को सीएम देखना चाहते हैं।
छत्तीसगढ़ के दावेदार
छत्तीसगढ़ में सीएम पद की चुनौती से निपटने के लिए कांग्रेस आलाकमान ने मल्लिकार्जुन खड़गे को पर्यवेक्षक बनाया है। यहां सीएम पद की रेस में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल, पार्टी के वरिष्ठ नेता ताम्रध्वज साहू और प्रतिपक्ष के नेता टीएस सिंहदेव का नाम चल रहा है। इसके अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री चरणदास महंत का नाम भी सीएम पद के लिए लिया जा रहा है।
मध्यप्रदेश के दावेदार
मध्यप्रदेश में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का नाम सीएम के लिए लगभग तय है। इससे पहले यहां ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिया जा रहा था। हालांकि, कल विधायक दल की बैठक में सर्वसम्मति से कमलनाथ का नाम तय हुआ है और उस पर राहुल गांधी की मुहर बाकी है।
ये हैं इन तीन राज्यों के नतीजे
इन तीनों राज्यों में छत्तीसगढ़ को छोड़ दें तो कांग्रेस को बहुमत नहीं मिला है। मध्यप्रदेश में कांग्रेस को 230 में 114 सीटों पर जीत मिली है, जबकि राजस्थान में 200 में 199 सीटों पर हुए चुनाव में 99 सीटें पार्टी की झोली में आई हैं।
दोनों ही जगह पार्टी को सरकार बनाने के लिए बसपा और निर्दलियों का समर्थन मिल गया है। इस तरह कांग्रेस का दावा है कि उसके मध्यप्रदेश में 122 विधायकों और राजस्थान में 105 से ज्यादा विधायकों का समर्थन हासिल है। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने 90 में से 68 सीटों पर भारी बहुमत से जीत हासिल की है।

अखिलेश का एमपी में कांग्रेस को समर्थन देने का एलान

0

Posted on : 12-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-CONG.

लखनऊ:समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पांच राज्यों के चुनाव परिणाम के बाद लखनऊ में मीडिया से बातचीत में 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर चर्चा की। आम चुनाव के संभावित गठबंधन पर कहा कि अभी इस बारे में किसी से बात नहीं की। अभी बूथ स्तर पर सपा को मजबूत करने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह जनादेश का स्वागत करते हैं। बोले-हमारा प्रदर्शन खास नहीं रहा लेकिन समर्थन करने के लिए मध्य प्रदेश की जनता का धन्यवाद करते हैं। सपा ने मध्य प्रदेश में कांग्रेस को समर्थन करने का फैसला किया है।
जनता की एकजुटता ने भाजपा बेदखल
अखिलेश यादव ने कहा था कि मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव परिणामों से साफ हो गया है कि जनता भाजपा की जाति-संप्रदाय की राजनीति से ऊब चुकी है। अब उनके बहकावे में नहीं आने वाली है। अखिलेश ने कहा कि इन राज्यों में जनता की एकजुटता ने भाजपा को सत्ता से बेदखल किया। मतदाताओं ने यह भी जता दिया है कि जब एक और एक मिलकर ग्यारह होते हैं तब बड़े-बड़ों की सत्ता नौ दो ग्यारह हो जाती है।
भाजपा की समाज तोड़ने में लगी सारी ताकत
सपा नेता ने कहा कि भाजपा ने चुनावों में समाज को तोड़ने और नफरत फैलाने में ही अपनी सारी ताकत लगा दी थी। उसने जनता के बुनियादी मुद्दों से ध्यान भटकाने की साजिशें कीं। भाजपा सत्ता के अंहकार में इतनी डूबी थी कि उसने किसानों, गरीबों, नौजवानों की आकांक्षाओं को ही कुचलना शुरू कर दिया। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि इन चुनावों में जनता ने राज्य के सत्ता प्रतिष्ठानों के साथ केन्द्र और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ भी नाराजगी जताई है. इन चुनाव नतीजों का असर निश्चित रूप से अगले साल के लोकसभा चुनाव पर पड़ेगा। भाजपा की जनविरोधी, विकास विरोधी एवं साम्प्रदायिक राजनीति को सपा उत्तर प्रदेश में करारी शिकस्त देगी।
भाजपा की हार किसानों की नाराजगी
अखिलेश ने कहा कि मध्य प्रदेश, राजस्थान व छत्तीसगढ़ में भाजपा की हार किसानों व युवाओं की नाराजगी से हुई है। मीडिया को चाहिए कि वह किसानों की समस्या को अपने चैनल पर दिखाए। उन्होंने मोदी की जगह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आगे लाए जाने के सवाल पर हल्के-फुल्के अंदाज में कहा कि उन्होंने तो भगवान की भी जाति बता दी। योगी को बताना चाहिए कि किस भगवान ने उन्हें क्या दिया? ईवीएम से चुनाव करवाने पर उन्होंने कहा कि ये एक मुद्दा है जिसे देखने की जरूरत है। अमेरिका जैसे देशों ने भी ईवीएम को नहीं अपनाया। इस पर आगे बात करते रहेंगे।

मध्यप्रदेश:राज्यपाल ने कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल को कहा, पहले अपना नेता चुनें, फिर आएं

0

Posted on : 12-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, Politics-CONG.

भोपाल:मध्यप्रदेश में सरकार बनाने को लेकर तस्वीर पूरी तरह से साफ हो गई है। भाजपा द्वारा सरकार ना बनाने की बात कहने के बाद अब कांग्रेस मध्यप्रदेश में सरकार बनाने जा रही है,इसी सिलसिले में कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलने राजभवन पहुंचा। प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को 122 विधायकों के समर्थन का पत्र सौंपते हुए सरकार बनाने का दावा पेश किया। लेकिन राज्यपाल आनंदी बेन ने प्रतिनिधिमंडल को कहा कि पहले अपना नेता चुनकर आएं।
राज्यपाल ने अब तक कांग्रेस को औपचारिक तौर पर पार्टी बनाने के लिए न्यौता नहीं दिया है, इसे लेकर वे विधि विशेषज्ञों से सलाह ले रही हैं। हालांकि उन्होंने प्रतिनिधिमंडल को शपथ लेने के लिए समय बनाने का जरुर कहा है। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलने प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया और विवेक तन्खा सहित पार्टी के अन्य नेता भी पहुंचे थे। इसी बीच बड़ी संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता पार्टी का झंडा लेकर राजभवन के बाहर जमा हो गए थे। राज्यपाल से मुलाकात करने के बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से शिष्टाचार मुलाकात करने के लिए सीएम हाऊस पहुंचे।
बुधवार शाम चार बजे कांग्रेस विधायक दल की बैठक होने जा रही है, इस बैठक में विधायक दल का नेता चुना जाएंगा। बैठक में कांग्रेस को समर्थन करने वाले निर्दलीय प्रत्याशी भी शामिल होंगे। बैठक पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे द्वारा ली जाएगी, माना जा रहा है कि बैठक में कमलनाथ को विधायक दल का नेता चुना जाएगा।
प्रदेश की जनता ने इस बार किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं सौपा है। भाजपा को 108 सीटें मिली हैं और कांग्रेस को 114 सीटें मिली हैं, कुछ वक्त पहले तक भाजपा भी प्रदेश में सरकार बनाने का दावा कर रही थी। हालांकि हाल ही में सीएम शिवराज द्वारा प्रेस कांफ्रेस लेकर सरकार बनाने का दावा ना करने की बात कहते हुए स्थिति साफ कर दी है।

बीजेपी के ‘चाणक्य’ अमित शाह को ऐसे मिला ‘चौथा झटका’, कांग्रेस मुक्त भारत का सपना हुआ चकनाचूर!

0

Posted on : 11-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, Politics-CONG., राष्ट्रीय

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 से पहले राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को मिली जीत ने एक बार फिर से बीजेपी के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह की रणनीति पर सवाल उठने लगे हैं. हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब अमित शाह की रणनीति असफल रही है. बल्कि इससे पहले भी तीन बार अमित शाह की सारी रणनीति धरी की धरी रह गई थी. पांच राज्यों के चुनाव के नतीजों से पहले भी तीन राज्यों मसलन, कर्नाटक, दिल्ली और बिहार ने अमित शाह की चुनावी रणनीति को ध्वस्त कर दिया है.
विधानसभा चुनाव 2018:
राजस्थान और छत्तीसगढ़ में राजस्थान की सरकार बनती दिख रही है. छत्तीसगढ़ में रमन सरकार के विजय रथ को रोककर कांग्रेस ने बीजेपी का सूपड़ा साफ कर दिया. राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को बहुमत मिल गया है. हालांकि, मध्य प्रदेश में अब भी पेंच फंसा है. हालांकि, रुझानों में कांग्रेस और बीजेपी में आगे-पीछे की होड़ लगी है.
कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2018 :
कर्नाटक चुनाव के नतीजों में त्रिशंकु विधानसभा ने पेंच फंसा दिया था. कांग्रेस ने ऐसा चुनावी दांव चला कि येदियुरप्पा को कुर्सी से हटना पड़ा और वहां कांग्रेस-जेडीएस की सरकार बन गई. भाजपा 104 सीटों के साथ सबसे बड़े दल के रूप में उभरी लेकिन वह बहुमत के आंकड़े से 8 सीट पीछे रह गई. कांग्रेस को 78 सीटों पर जीत मिली, वहीं जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) 37 सीटें जीतने में सफल रही. वहीं जेडीएस की सहयोगी पार्टी बीएसपी को एक सीट मिली है. भाजपा जैसे ही बहुमत के आकड़े से दूर हुई, कांग्रेस ने 78 सीटों के बावजूद फुर्ती दिखाते हुए 37 सीटों वाले जेडीएस को समर्थन देने का दांव चल दिया. इसके बाद जेडीएस ने भी समर्थन और एचडी कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनाने की पेशकश मंजूर कर ली. इस तरह से वहां भी अमित शाह की रणनीति फेल हो गई.
दिल्ली विधानसभा चुनाव 2015:
विधानसभा चुनाव 2015 में आम आदमी पार्टी प्रचंड बहुमत के साथ दिल्ली की सत्ता में वापस लौटी थी. 2015 दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आप के पक्ष में आए और अरविंद केजरीवाल की पार्टी ने कांग्रेस के साथ ही बीजेपी को भी चारोखाने चित कर दिया. 70 सीटों वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव में AAP ने विधानसभा की 70 सीटों में से 67 सीटों पर कब्जा जमा लिया था. बीजेपी महज 3 सीटों पर ही विजय पताका फहराने में कामयाब हो सकी और कांग्रेस अपना खाता तक नहीं खोल पाई थी.
टिप्पणियांबिहार विधानसभा चुनाव 2015:
2015 के विधानसभा चुनाव में बिहार की 243 सीटों में से लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. आरजेडी को 80 सीटें मिलीं थीं. जेडीयू को 71 सीटें मिलीं थीं. तब भाजपा को 53 और लोजपा एवं रालोसपा को क्रमश: दो-दो सीटें मिलीं थीं. उस चुनाव में जेडीयू, राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) तथा कांग्रेस का महागठबंधन था. महागठबंधन की तीसरी पार्टी कांग्रेस को 27 सीटें मिलीं थी. इस चुनाव में भी अमित शाह की रणनीति को गहरा धक्का लगा था.

सपा,बसपा व कांग्रेस बिन दुल्हे की बारात: केशब प्रसाद मौर्य

0

Posted on : 10-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics- Sapaa, Politics-BJP, Politics-BSP, Politics-CONG.

फर्रुखाबाद:जनपद आये उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जिले के 33 मार्गो के साथ ही रेलवे ओवरब्रिज के साथ कुल 15843.64 लाख की योजनाओं का बटन दबाकर शिलान्यास किया| इस दौरान वह पूरी तरह से विरोधियों पर हमलावर रहे| उन्होंने कहा आगामी लोकसभा चुनाव में मोदी फिर से पीएम बनेंगे| लेकिन विरोधी महागठबंधन बना रहे है| लेकिन यह सभी जानते है विरोधी दल सपा,बसपा व कांग्रेस बिन दुल्हे की बारात है|
नगर के क्रिश्चियन कालेज मैदान में आयोजित शिलान्यास कार्यक्रम पंहुचकर उन्होंने कहा की पिछली सरकारों ने हाई-वे बनाये लेकिन गरीबों की तरफ नही देखा| लेकिन योगी सरकार ने पूरे सूबे में 1361 गाँव चिन्हित किये है| जिसमे से कुल 22 गाँव फर्रुखाबाद के भी है| जिन गाँवो को मुख्य मार्गों से जोड़ा जायेगा| अब सड़क कागजों पर नही मौके पर बनती है| जो अधिकारी निर्माण कार्य में धांधली करेंगे उनकी जगह जेल में होगी| उन्होंने सपा सरकार का नाम लिए बिना कहा की पहले केबल 5 जिलों का विकास होता था लेकिन योगी सरकार में 75 जिलों का विकास हो रहा है| प्रदेश में बेईमानी खत्म हो गयी| किसान व आम आदमी को बिजली लगातार मिल रहे है|
उन्होंने कहा की शिक्षा के क्षेत्र में भी अहम कार्य योगी सरकार ने किये है| प्रदेश के विधालयों को नकल मुक्त बनाया है| सरकार ने नकल रहित परीक्षा देखर जिन 20 सूबे के विधार्थियों ने अब्बल नम्बर हासिल किये उनमे से एक बच्चा फर्रुखाबाद का भी है|
उन्होंने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि सपा,बसपा व कांग्रेस मोदी हटाओ की बात कर रही है| लेकिन मोदी कह रहे है कि गरीबी हटाओं| यदि मोदी ने कुछ नही किया तो फिर विपक्ष महागठबंधन क्यों कर रहे है| मुद्दा बिहीन विपक्ष नही जानता की आगामी 2019 में मोदी ही देश के पुन:पीएम बनेंगे| उन्होंने कहा की सौ में 60 हमारा बांकी सब बटवारा| उन्होंने कहा की विपक्ष बिना बात के हल्ला कर रहा हैयह सभी जानते है की विपक्ष बिन दुल्हे की बारात है| एक दिन वो आयेगा जब पूरा विपक्ष जय श्रीराम बोलेगा|
रामलला की भूमि पर नही लगेगी बाबर के नाम की एक ईंट
उपमुख्यमंत्री ने कहा की अयोध्या श्रीराम की है| उस पर किसी बाबर के नाम पर एक ईंट भी नही लगेगी| अयोध्या में केबल राममन्दिर ही बनेगा|
बीजेपी कार्यकर्ताओं की बात को महत्व दें अफसर
उन्होंने कडे शब्दों में मंच से कहा कि बीजेपी का कार्यकर्ता किसी भी अधिकारी के पास जाता है तो उसकी शिकायत को प्रमुखता से ध्यान दिया जाये| यदि कोई अफसर कार्यकर्ताओं की नही सुनेगा तो उसके खिलाफ कार्यवाही अमल में लायी जायेगी|
सांसद मुकेश राजपूत,जिलाध्यक्ष डॉ० भूदेव राजपूत,विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी,सुशील शाक्य,अमर सिंह खटिक,नागेन्द्र सिंह राठौर,डॉ० रजनी सरीन,क्षेत्रीय उपाध्यक्ष सत्यपाल सिंह,दिनेश कटियार,पूर्व विधायक कुलदीप गंगवार,प्रांशु दत्त द्विवेदी,जिलाधिकारी मोनिका रानी,एसपी संतोष मिश्रा,सीडीओ अपूर्वा दुबे आदि मंच पर रहे|

[bannergarden id="12"]