Featured Posts

हुसैन की शहादत में किया खूनी मातमहुसैन की शहादत में किया खूनी मातम फर्रुखाबाद:मुहर्रम का चांद दिखाई देते ही शिया समुदाय गम में डूब गया। महिलाओं ने जेवर उतार कर सादा लिबास पहन लिया। मजलिसों का दौर भी शुरू हो गया। मातमी जुलूस निकाल कर या हुसैन, हाय हुसैन की सदाएं बुलंद की गई। इसके साथ ही साथ पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाये गये| शहर के मोहल्ला...

Read more

हुसैन की शहादत में किया खूनी मातमहुसैन की शहादत में किया खूनी मातम फर्रुखाबाद:मुहर्रम का चांद दिखाई देते ही शिया समुदाय गम में डूब गया। महिलाओं ने जेवर उतार कर सादा लिबास पहन लिया। मजलिसों का दौर भी शुरू हो गया। मातमी जुलूस निकाल कर या हुसैन, हाय हुसैन की सदाएं बुलंद की गई। इसके साथ ही साथ पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाये गये| शहर के मोहल्ला...

Read more

पूर्व व्लाक प्रमुख राजेपुर सहित 13 पर मुकदमापूर्व व्लाक प्रमुख राजेपुर सहित 13 पर मुकदमा फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बिजली विभाग ने एक लाख के बड़े बिल बकायेदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया| पुलिस जाँच पड़ताल में जुट गयी है| जिससे हडकंप मचा हुआ है| बिजली विभाग के जेई अजय कुमार यादव ने बिजली का बिल जमा ना करने के मामले में ग्राम करनपुर दत्त निवासी पूर्व व्लाक प्रमुख राजेपुर...

Read more

ग्राम पंचायतों में 20 प्रतिशत अधिक वजट की बनेगी कार्ययोजनाग्राम पंचायतों में 20 प्रतिशत अधिक वजट की बनेगी कार्ययोजना फर्रुखाबाद:कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधकारी मोनिका रानी कीअध्यक्षता में जीपीडीपी (ग्राम पंचायत विकास योजना) की जिला एवं क्रियान्वयन समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक में वर्ष 2018-19 की कार्य योजना बनाने पर चर्चा हुई। 2 अक्टूबर 2018 से समस्त ग्रामों में बैठक करो रोस्टर जारी करने...

Read more

विश्राम सिंह अध्यक्ष व पारिया का महासचिव पर कब्जाविश्राम सिंह अध्यक्ष व पारिया का महासचिव पर कब्जा फर्रुखाबाद: जिला बार एसोसिएशन चुनाव में अध्यक्ष पद पर विश्राम सिंह यादव व महासचिव पद पर संजीव पारिया ने कब्जा कर लिया| जिससे उसके समर्थको में ख़ुशी की लहर है| पारिया ने अपने प्रतिद्वंदी को 445 मतों से पराजित किया| फतेहगढ़ बार एसोसिएशन सभागार में मतगणना चुनाव अधिकारी डॉ० अनुपम...

Read more

रात भर चली बार चुनाव की मतगणनारात भर चली बार चुनाव की मतगणना फर्रुखाबाद:जिला बार एसोसिएशन चुनाव बाद शूरू हुआ मतगणना का दौर रात भर चला| प्रत्याशी व उसके समर्थक पूरी रात परिणाम आने के इंतजार में बैठे रहे| सुबह परिणाम घोषित किये गये| बुधवार को सुबह आठ बजे से मतदान प्रारम्भ किया गया था| जिसके बाद मतदान शाम पांच बजे तक चलता रहा| शांतिपूर्ण...

Read more

जीएचटी के अंतर्गत रखें जाये पेट्रोल-डीजल व गैसजीएचटी के अंतर्गत रखें जाये पेट्रोल-डीजल व गैस फर्रुखाबाद: जिला उद्योग व्यापार मंडल ने कलेक्ट्रट पंहुचकर पेट्रोलियम मंत्री को ज्ञापन सौपा| इसके साथ ही व्यापार मंडल ने पेट्रोल डीजल व गैस को जीएसटी के अंतर्गत लाने की मांग की गयी| संगठन के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल के नेतृत्व में व्यापारियों ने कलेक्ट्रेट पंहुचकर ज्ञापन...

Read more

विकास कार्य में रूचि ना लेने वाले अफसरों की बनेगी सूचीविकास कार्य में रूचि ना लेने वाले अफसरों की बनेगी सूची फर्रुखाबाद: जिले की क्या प्रदेश की राजनीति जिले की सदर विधान सभा से गर्म होती है उनमे विकास कार्य की अभी तक क्या प्रगति हुई इस पर बीजेपी के सदर विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी ने जेएनआई से खास बातचीत सुबह चने और चाय के नाश्ते के साथ की| जिसमे उन्होंने कहा कि यह साफ़ हो गया...

Read more

दरोगा को फटकार,दीवान को पुरस्कारदरोगा को फटकार,दीवान को पुरस्कार फर्रुखाबाद:(राजेपुर)पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्रा ने अचानक थाने का निरीक्षण किया| इसके साथ ही साथ उन्होंने पुलिस कर्मियों की फटकार लगायी| उन्होंने जल्द व्यवस्था दुरस्त करने के निर्देश दिये| एसपी ने समाधान दिवस में जाकर थाने का निरिक्षण किया| उन्होंने थाने का भवन देखा|...

Read more

सीएम योगी बोले:सबा करोड़ इज्जत घर बनने से स्वच्छता नये मुकाम परसीएम योगी बोले:सबा करोड़ इज्जत घर बनने से स्वच्छता नये मुकाम... फतेहपुर:मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज फतेहपुर में दीप प्रज्जवलित कर स्वच्छता ही सेवा अभियान शुरू किया। कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत के बाद वह सीधे प्रधानमंत्री मोदी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े। वीडियो कांफ्रेसिंग में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने...

Read more

हर बूथ को साफ़ करने का आभियान चलाने जा रही बीजेपी

0

Posted on : 21-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP

फर्रुखाबाद: बीजेपी आगामी लोक सभा चुनाव को लेकर अभी से लग गयी है| जिसके तहत कार्यकर्ताओं को बूथ मजबूत करने के निर्देश दिये गये है| इसके साथ ही हर बूथ पर स्वच्छता अभियान भी चलाये जाने की रणनीति बनायी जायेगी|
पार्टी के प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया ने नगर के पांचाल घाट स्थित नारायण आश्रम में कार्यकर्ताओं की बैठक ली| जिसमें उन्होंने मतदाता पुनरीक्षण अभियान , सदस्यता अभियान आदि के सम्बन्ध में चर्चा की| उन्होंने कहा की पिछली बार पार्टी की जीत बूथ मजबूत होने के कारण हुई थी| जिसके चलते अब फिर से बूथों को मजबूत करने में सभी जुट जाये|
उन्होंने कहा कि आगामी 7 सितम्बर से 25 सितम्बर तक चलने वाले सेवा सप्ताह कार्यक्रम के तहत हर बूथ पर सफाई अभियान चलाया जायेगा| जिला प्रभारी प्रकाश पाल ने बताया कि हर व्लाक स्तर पर ग्रामसम्पर्क अभियान व ग्राम स्वराज अभियान के तहत एक महीने में तीन चौपाल लगायी जायेगी| सांसद मुकेश राजपूत, जिलाध्यक्ष सत्यपाल सिंह, जिला महामंत्री विमल कटियार,भूदेव राजपूत, डॉ० प्रभात अवस्थी, शिवांग रस्तोगी आदि रहे|

557 करोड़ का काशी को मोदी का ‘रिटर्न गिफ्ट’

0

Posted on : 18-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Narendra Modi, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय

वाराणसी :प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी को बड़ा रिटर्न गिफ्ट देने के बाद जनसभा को संबोधित किया। बीएचयू के एम्फीथियेटर ग्राउंड में उन्होंने वाराणसी को पूर्वी भारत के गेट-वे के रूप में विकसित करने की अपनी योजना के बारे में भी बताया।
प्रधानमंत्री ने अपने करीब 48 मिनट के संबोधन में सियासी बातों से पूरी तरह परहेज किया। इस दौरान उन्होने बतौर सांसद सवा चार सालों में अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कराए गए विकास कार्यों का एक तरह से रिपोर्ट कार्ड पेश किया और कहा कि यह तो एक छोटी सी झलक है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीएचयू एम्फीथिएटर, में 557 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया।
उन्होंने कहा कि हम चार सवा चार साल पहले काशीवासी बदलाव के इस संकल्प को लेकर निकले थे। आज अंतर स्पष्ट दिखाई दे रहा है। उन्होंने जनसभा में बैठे लोगों से सवाल किया कि बदलाव नजर आ रहा या नहीं। उन्होंने कहा कि आज मुझे संतोष है कि बाबा विश्वनाथ के आशीर्वाद से वाराणसी को विकास की नई दिशा देने मे सफल हुए हैं। हमने वो दिनभी देखें हैं, जब यहां की व्यवस्था को देखकर बेहाल दिखता था। यह शहर भी बिजली के उलझे तारों की तरह अव्यवस्थाओं से उलझा हुआ था। आज काशी में हर जगह परिवर्तन होता दिख रहा है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमरे काशी का लोगन हमरा के एतना प्यार देलन की मन गदगद हो जाला। बार-बार काशी आवे के मन करैला। इसके साथ ही हर-हर महादेव।विकास के कार्य बनारस शहर ही नहीं, आसपास के गांवों से भी जुड़े हैं। बिजली, पानी जैसी मूलभूत आवश्यकताओं से जुड़ी परियोनाएं तो हैं किसानों, बुनकार की योजनाएं भी शामिल है। बनारस हिंदू विश्विविद्लय को 21 वी सदी का नॉलेज सेंटर बनाने की कई परियोजनाएं शुरू की गई है। फिर यााद दिलाया-हम काशी में जो भी बदलाव लाने की कोशिश कर रहे है, उसमें काशी की परंपराओं-पौराणिकताओं को बचाते हुए किया जा रहा है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यहां सांसद बनने से पहले बिजली के लटकते तारों को देखकर सोचता था इससे कब मुक्ति मिलेगी। देखिए आज शहर के एक बड़े हिस्से से बिजली के लटकते तार गायब हैं।वराणसी में चार साल के दौरान कराए गए विकास कार्यों की पूरी फेहरिस्त सुनाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वारणसी में हो रहे विकास के गवाह यहां एयरपोर्ट पर आ रहे लोग भी बन गए। टूरिस्टों की तादाद लागातार बढ़ रही है। बाबतपुर एयरपोर्ट पर आने वाले की संख्या प्रतिवर्ष आठ लाख से बढ़कर 11 लाख हो गई है। यह शहर ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक के बड़े हब के तौर पर उभरने वाला है।
उन्होंने कहा कि वाराणसी ही नहीं, पास के क्षेत्रों को हर पल बिजली मिलने वाली है। एक और बिजली केंद्र के साथ लो वोल्टेज की समस्या से छुटकारा मिलेगा। वाराणसी को पूर्वी भारत के रूप में विकसित करने का प्रयास हो रहा है। इसके तहत वाराणसी वर्ल्ड क्लास की सुविधा से जोड़ने की कोशिश की जा रही है। आज काशी की सड़कों पर रात में भी मां गंगा का प्रवाह सा दिखता है। एलईडी बल्बों से रोशनी तो दिखती है, बिजली के बिल में भी कमी आई है। बनारस में रिंग रोड की चर्चा हो रही थी, लेकिन काम फाइलों में दबा हुआ था। 2014 में सरकार बनने के बाद रिंग रोड की फाइल को फिर से निकाला गया। लेकिन यूपी की पहले की सरकार ने काम आगे नहीं बढ़ने दिया गया। उनको फिक्र सता रही थी कि यह काम हो गया तो मोदी की जय-जय हो जाएगी। काशी रिंग रोड के निर्माण से सिर्फ काशी ही नहीं, आसपास के जिलों को भी लाभ मिलने वाला है। वाराणसी शहर के भीतर और दूसरे राज्यों से जोड़ने वाली सड़कों का विस्तार किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर लोगों को खुशी में वाराणसी कैंट की तस्वीर पोस्ट करते हुए देखता हूं तो मेरी खुशी दोगुनी हो जाती है। स्वच्छता के मामले में भी काशी ने परिवर्तन देखा है, आज यहाँ के घाटों, सड़कों और गलियों में स्वच्छता स्थाई बनती जा रही है। वाराणसी में क्रूज सेवा की शुरुआत भी हो चुकी है। कैंट स्टेशन हो, मडुआडीह हो या फिर सिटी स्टेशन, सभी पर विकास के कार्यों को गति दी गई है, उन्हें आधुनिक बनाने का काम किया जा रहा है। रेल से काशी आने वालों को रेलवे स्टेशन पर आते नई काशी के दर्शन हो जाते हैं। इलाहाबाद-छपरा के रेल लाइन दोहरीकरण का कार्य प्रगति पर है। आधुनिक सुविधाओं वाली ट्रेनों ने भी लोगों का ध्यान खींचा है। आज काशी में न सिर्फ आना जाना आसान हो रहा है। बल्कि इसका सौंदर्य भी निखर रहा है। घाटों पर अब गंदगी नहीं रोशनी स्वागत करती है। पर्यटन से परिवर्तन का अभियान लगातार जारी है। काशी आज हेल्थ हब के रूप में उभरने लगा है। बीएचयू में आधुनिक ट्रॉमा सेंटर हजारों लोगों के जीवन को बचाने का काम कर रहा है। नए कैंसर और सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल लोगों को इलाज की आधुनिक सुविधाएं देंगे। बीएचयू ने एम्स के साथ एक वर्ल्ड क्लास हेल्थ इंस्टीट्यूट बनाने के लिए समझौता किया है। पीएम मोदी ने कहा कि आज यहां एक तरफ वैदिक विज्ञान केंद्र का शिलान्यास हुआ है तो दूसरी तरफ अटल इन्क्यूबेशन सेंटर की भी शुरुआत हुई है। हम सभी को जितना अपनी पुरातन संस्कृति और सभ्यता पर गर्व है उतना ही भविष्य की तकनीक के प्रति हमारा आकर्षण है।
पिछले चार साल ने कई देशों के नेताओं का काशी ने स्वागत किया है। इन नेताओं ने काशी के आतिथ्य को सराहा है। काशी में नए वर्ष की शुरूआत पर दुनियाभर की नजरें होंगी। दुनियाभर में बसे भारतीयों का कुंभ काशी में लगने वाला है। इसके लिए सरकार अपने स्‍तर पर काम कर रही है। लेकिन जनसहयोग जरूरी होगा। एक-एक काशीवासी को आगे आना होगा। हर नुक्कड-गली पर काशी का रस और रंग नजर आना चाहिए। प्रवासी भारतीय दिवस में आए लोग ऐसा अनुभव करके जाएं तो दुनिया में हमेशा के लिए काशी के ट्रेंड सेटर बन जाए।मां गंगा की सफाई के लिए गंगोत्री से लेकर गंगा सागर तक प्रबंध किए जा रहे हैं। इसके लिए 21 हजार से अधिक की 200 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं। मां गंगा की सफाई के लिए गंगोत्री से लेकर गंगा सागर तक प्रबंध किए जा रहे हैं। इसके लिए 21 हजार से अधिक की 200 परियोजनाएं स्‍वीकृत की गई हैं। यूपी में भाजपा की सरकार बनने के बाद विकास योजनाओं में तेजी आई है। आयुष्मान भारत योजना के क्रियान्वयन के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार को बधाई।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वाराणसी में ‘पर्यटन से परिवर्तन’ का अभियान निरंतर जारी है। बुद्धा थीम पार्क, सारंग नाथ तालाब, गुरुधाम मंदिर, मारकंडेय महादेव मंदिर जैसे अनेक स्थलों का सुंदरीकरण किया जा चुका है। काशी देश के चुनींदा शहरों में शामिल हैं, जहां घरों में पाइप से कुकिंग गैस की सुविधा मिलने जा रही है। वाराणसी शहर ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों को भी सड़क, बिजली, पानी जैसी सुविधाएं पहुंचाई गई हैं।
सांसद के रूप में जिन गांवों को विशेष रूप से विकसित करने का जिम्मा मेरे पास है, उनमें से एक नागेपुर गांव के लिए आज पानी के एक बड़े प्रोजेक्ट का लोकार्पण किया गया है। किसानों और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को भी गति देने का काम चार सालों में तेज हुआ है। हम सभी को जितना अपनी पुरातन संस्कृति और सभ्यता पर गर्व है उतना ही भविष्य की तकनीक के प्रति हमारा आकर्षण है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नई काशी नए भारत के निर्माण में योगदान का आह्वान। कहा-आप यूं ही स्‍नेह देते रहें। आपने भले प्रधानमंत्री बनाया है, लेकिन आप बतौर सांसद मुझसे चार साल में कराए गए कार्यों का हिसाब लेने के लिए जिम्‍मेदार है। आप हमारे मालिक है। आप हमारे हाई कमान हैं।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काशी के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक भावनात्मक रिश्ता है। उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के साथ प्रदेश को इतना दिया है, जितनी कल्पना नहीं की गई थी।इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने 557 करोड़ की परियोजना का शिलान्यास-लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काशी जनपद के हर घर तक बिजली लाइन पहुंचाने और हर घर को रौशन करने के लिए एक बड़े कार्यक्रम का आज शुभारंभ हो रहा है, इसके लिए भी मैं आदरणीय प्रधानमंत्री जी का अभिनंदन करता हूं।
पीएम मोदी का वाराणसी से भावनात्मक रिश्ता : योगी आदित्यनाथ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काशी के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक भावनात्मक रिश्ता है। उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के साथ प्रदेश को इतना दिया है, जितनी कल्पना नहीं की गई थी। उन्होंने कहा कि विगत एक वर्ष के दौरान उत्तर प्रदेश के अंदर के प्रधानमंत्री के नेतृत्व में 72 हजार मजरों का विद्युतीकरण कराया गया। जिन्हें बिजली सुलभ नहीं मिल पाती है, उन्हें सौभाग्य योजना के अंतर्गत नि:शुल्क बिजली मिल रही है। मोदी जी के नेतृत्व में बिना किसी भेदभाव के योजनाओं को लागू किया जा रहा है। चार वर्ष के दौरान काशी की जनता विकास की प्रक्रिया को लगातार देखा तथा महसूस किया है। पीएम के प्रयास से काशी में योजनाएं आगे बढी हैं। आइपीडीएस के अंतर्गत काशी में लटके तारों को केबलिंग के माध्यम से अंडर ग्राउंड करना भी शामिल है। विगत चार वर्षों के दौरान विद्युतीकरण का काम शुरू हुआ है, 52 लाख परिवारों को सौभाग्‍य योजना के तहत नि:शुल्क बिजली देने का कार्य भी हुआ है। जिन्‍हें बिजली सुलभ नहीं हो जाती थी उन्‍हें बिजली मिल रही है। प्रदेश के अंदर बिना भेदभाव के नरेंद्र मोदी ने योजनाओं को पहुंचाने का काम किया है। काशी के अंदर बीएचयू मालवीय जी की साधना स्थली है। बीएचयू में दो नए केंद्रों का उदघाटन हो रहा है जिससे विकास को गति मिलेगी। आंखों के उपचार की बात आती थी तो दक्षिण भारत के शंकर नेत्रालय की बात याद आती थी लेकिन अब नेत्र संस्थान को आधुनिक रूप मिलने जा रहा है।
इससे पहले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पाण्डेय ने पीएम मोदी को जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने भोजपुरी में कहा कि न बनारस अइसन आपन सांसद देखलस, ना अइसन प्रधानमंत्री देखलस। हे बाबा भालेनाथ, अइसन प्रधानमंत्री क लगातार जरूरत बा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वाराणसी को रिटर्न गिफ्ट देने वाराणसी के बीएचयू के एम्फीथियेटर ग्राउंड पहुंचे। वहां पर भाजपा अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कल अपना 68वां जन्मदिन मनाया है। बीएचयू की सभा के बाद पीएम मोदी वाराणसी से रवाना हो जाएंगे।
मिले तोहफे – लोकार्पण
-362 करोड़ : शहरी विद्युत सुधार कार्य, पुरानी काशी (आइपीडीएस)
-84.61 करोड़ : 3722 मजरो में विद्युतीकरण का काम
-9.90 करोड़ : सिंगल फेज के 90 हजार मीटर लगाने का काम
-2.80 करोड़ : 33 केवी विद्युत उपकेंद्र बेटावर का निर्माण
-2.58 करोड़ : 33 केवी विद्युत उपकेंद्र कुरुसातो का निर्माण
-2.74 करोड़ : नागेपुर ग्राम पेयजल योजना
-20 करोड़ : बीएचयू में अटल इन्क्यूबेशन सेंटर।
मिले तोहफे- आधारशिला
-14.10 करोड़ : बीएचयू में वैदिक विज्ञान केंद्र की स्थापना
-34 करोड़ : रीजनल इंस्टीट्यूट ऑफ आफ्थेल्मोलाजी
-23.08 करोड़ : 132 केवी विद्युत उपकेंद्र चोलापुर का निर्माण।
मिले तोहफे- बांटे रोजगार
-98 लाख : कुंभकारी उद्योग के तहत 260 विद्युत चालित चाक, आधुनिक भट्ठी
-53.25 लाख : हनी मिशन के तहत 500 मधुमक्खी बॉक्स
-7.50 लाख : खादी व सोलर वस्त्र के अंतर्गत 3 रेडीबार्प मशीन।

जन्मदिन खास: कैसे चायवाले से पहले सीएम और फिर पीएम बने नरेंद्र मोदी

0

Posted on : 17-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Narendra Modi, Politics, Politics-BJP, सामाजिक

लखनऊ:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को 68 वर्ष के हो गए। गुजरात के वडनगर स्टेशन पर चाय बेचने वाले बालक के हाथ में कभी देश की बागडोर होगी, इसका किसी को सपने में भी अंदाजा नहीं रहा होगा।मगर नरेंद्र मोदी ने करिश्मा कर दिखाया। चायवाले से देश के प्रधानमंत्री बनकर मोदी यह संदेश देने में सफल रहे कि लक्ष्य के प्रति समर्पण और जुनून के आगे कोई भी चीज असंभव नहीं है। उन्होंने आम जन के सपनों को उड़ान भी दी।
खास बात है कि जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री बने, उस वक्त उन्होंने एक अदना सा चुनाव भी नहीं लड़ा था। दिल्ली में बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन स्तर का कामकाज देखने के दौरान ही उन्हें पार्टी और संघ की ओर से गुजरात का मुख्यमंत्री बनाने का फैसला हुआ था। प्रधानमंत्री बनने से पहले नरेंद्र मोदी वर्ष 2001 से 2014( पीएम बनने से पहले) तक लगातार चार बार गुजरात के मुख्यमंत्री रहे। जानिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ी अनोखी बातें।
नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को गुजरात के मेहसाणा जिला स्थित वडनगर में हुआ। उनकी मां हीराबेन मोदी और पिता दामोदरदास थे। मोदी अपने मां-बाप की छह संतानों में तीसरे नंबर के थे। आठ वर्ष की अवस्था में ही बाल नरेंद्र मोदी का झुकाव संघ की तरफ हुआ तो शाखाओं में जाने लगे। 1967 में 17 साल की उम्र में हाईस्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने घर छोड़ दिया और अहमदाबाद पहुंचे और फिर उन्होंने आरएसएस की औपचारिक सदस्यता ग्रहण की।
नरेंद्र मोदी अहमदाबाद में संघ प्रचारकों के साथ काम करने लगे। जब 1975 में इंदिरा गांधी सरकार ने इमरजेंसी लगाई तो मोदी वेश बदलकर भूमिगत हो गए थे। उस समय वह संघ प्रचारकों को अंडरग्राउंड रहकर मदद करते थे। तीस वर्ष की अवस्था में नरेंद्र मोदी आरएसएस में संभाग प्रचारक बन गए। बतौर प्रचारक संघ के प्रचार-प्रसार में जोर-शोर से जुटे रहे।
1985 में मोदी मुख्य धारा की राजनीति से जुड़े, जब संघ ने आवश्यकता के मद्देनजर उन्हें बीजेपी में भेजा। लाल कृष्ण आडवाणी ने 1990 की सोमनाथ-अयोध्या रथ यात्रा निकाली तो नरेंद्र मोदी सारथी बने। इसी तरह वर्ष 1991 में बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी की कन्याकुमारी से श्रीनगर एकता यात्रा के आयोजन में भी मोदी ने बढ़चढ़कर भूमिका निभाई। जिससे मोदी खासे चर्चित हुए। बड़े नेताओं से जुड़े आयोजनों के सफल निर्वहन और संगठन के प्रति निष्ठा तथा लगन देख बीजेपी में नरेंद्र मोदी का 1995 में काफी बढ़ गया। जब पार्टी ने उन्हें राष्ट्रीय सचिव बनाया। इसके बाद मोदी दिल्ली मुख्यालय पहुंचे। इसके तीन साल बाद ही 1998 में उन्हें महासचिव (संगठन) बनाया गया। अक्टूबर 2001 तक मोदी इस पद पर रहे।
वर्ष 2001 में जब गुजरात में भूकंप आया तो भारी संख्या में जान-माल की क्षति हुई। 20 हजार से ज्यादा लोगों की जान गई। तब पार्टी ने केशुभाई पटेल को मुख्यमंत्री पद से हटाकर नरेंद्र मोदी को सीएम की जिम्मेदारी दी।मुख्यमंत्री बनने से पहले मोदी एक भी चुनाव नहीं लड़े थे। उन्होंने अक्टूबर 2001 में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। अभी सत्ता संभाले हुए पांच महीने ही हुए थे कि गुजरात के गोधरा में दंगा भड़क उठा। एक रिपोर्ट के मुताबिक गोधरा दंगे में दो हजार से ज्यादा लोग मारे गए। उस वक्त तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने गुजरात के दौरे के दौरान नरेंद्र मोदी को राजधर्म का पालन करने की नसीहत दी थी। कहा जाता है कि उस वक्त उन्हें सीएम पद से हटाने की भी बात चल रही थी, मगर लालकृष्ण आडवाणी के समर्थन की वजह से वाजपेयी को निर्णय बदलना पड़ा था।
दंगे के कुछ ही महीने बाद गुजरात में विधानसभा चुनाव हुए तो मोदी बहुमत से सत्ता में लौटे। खास बात रही कि दंगे में जो इलाके सर्वाधिक प्रभावित रहे, वहां पर बीजेपी को ज्यादा लाभ मिलता दिखाई दिया। इसके बाद नरेंद्र मोदी ने गुजरात की सत्ता की इस कदर नब्ज पकड़ी कि फिर प्रधानमंत्री बनने तक चार बार सीएम बने रहे|सितंबर 2013 में बीजेपी की नई दिल्ली में हुई संसदीय दल की बैठक में नरेंद्र मोदी को 2014 के लोकसभा चुनाव के लिए प्रधानमंत्री उम्मीदवार चुना गया। तब आडवाणी सहित कुछ अन्य वरिष्ठ नेताओं ने इसका विरोध किया था। भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने उनकी उम्मीदवारी की घोषणा की थी।
2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी 282 सीटों के साथ बहुमत से सत्ता में पहुंची। फिर 26 मई 2014 को कई पड़ोसी देशों के राष्ट्राध्यक्षों की मौजूदगी में नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। और अब तक नरेंद्र मोदी देश हित में कई महत्वपूर्ण फैसले ले चुके हैं।

मोदी के जन्मदिन पर 28 बीजेपी नेता ही हुए रक्तदान को राजी

0

Posted on : 17-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद:जिन प्रधानमंत्री की तारीफ़ के कसीदे पड़ने से बीजेपी नेता थकते नही है| उन्ही मोदी के जन्मदिन पर जब रक्तदान शिविर का आयोजन हुआ तो केबल 28 बीजेपी नेताओ ने ही अपना रक्तदान किया|
नगर के आवास विकास स्थित राममनोहर लोहिया अस्पताल में पहले पंडाल लगाकर नेताओं ने केक काट पीएम के जन्मदिन पर ख़ुशी का इजहार किया| इसके बाद लोहिया अस्पताल क्ले रक्त कोष में रक्तदान करने का कार्यक्रम था| जिसमे सांसद मुकेश राजपूत, विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी, पूर्व विधायक कुलदीप गंगवार सहित कुल 28 लोगों ने ही रक्तदान किया|
जबकि पूर्व बीजेपी नेता लगभग 2 सैकड़ा लोगों को रक्तदान करने की बात कर रहे थे| लेंकिन केबल 28 ही मोदी के जन्मदिन पर रक्त देने क राजी हुये| इस दौरान सीएमएस डॉ० राजेश तिवारी, रक्तकोष के पंकज कटियार,संजय सक्सेना, अनिल सिंह, शिवा चौंहान आदि रहे|

पिछड़ा वर्ग मोर्चा ने भी मनाया पीएम मोदी का जन्मदिन

0

Posted on : 17-09-2018 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(कंपिल)भाजपा के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज 68 वां जन्मदिन नगर के चौराहे पर बड़ी धूमधाम से मनाया गया।
पिछड़ा वर्ग मोर्चा ने केक काटकर माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का तिलक लगाकर जन्म दिन मनाया।भाजपा सरकार की उपलब्धियों को बताया गया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का 68 वां जन्मदिन कंपिल नगर के चौराहे पर डॉ० ब्रजेश राजपूत के आवास पर मनाया गया। भारतीय जनता पार्टी के पिछड़ा वर्ग मोर्चा के नव निर्वाचित कंपिल मंडल अध्यक्ष आकाश राजपूत ने भाजपा की उपलब्धियों के बारे में बताया ।कार्यकर्ताओं को चुनाव में अभी से जुट जाने को कहा। युवाओं की एकजुटता देखने को मिली।
इस दौरान पिछड़ा वर्ग मोर्चा जिलाध्यक्ष लालाराम शाक्य,कंपिल मंडल अध्यक्ष आकाश राजपूत (पिछड़ा वर्ग मोर्चा),जिला महामंत्री सतीश शाक्य (पिछड़ा वर्ग मोर्चा),कायमगंज मंडल अध्यक्ष अखिल शाक्य (पिछड़ा वर्ग मोर्चा),जिला मीडिया प्रभारी अम्बुज गंगवार(पिछड़ा वर्ग मोर्चा), स्वदेश राजपूत,शहाना बेबी,नंदराम शाक्य,अलोक राजपूत,देवेश राजपूत फरमान आदि लोग रहे।

[bannergarden id="12"]