समाजवादी पार्टी शासनकाल में हुए गोमती रिवर फ्रंट घोटाले में ईडी ने की तीन इंजीनियरों की संपत्ति अटैच

0

Posted on : 04-07-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

लखनऊ: समाजवादी पार्टी शासनकाल में हुए करोड़ों के गोमती रिवर फ्रंट घोटाले के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आरोपित तीन इंजीनियरों के खिलाफ कार्रवाई की है। ईडी ने इंजीनियरों की एक करोड़ की संपत्ति अटैच की है। आरोपित इंजीनियरों ने ठेकेदारों से हुई काली कमाई से भूखंड व फ्लैट खरीदे थे।

गोमती रिवर फ्रंट घोटाले के मामले में 19 जून, 2017 को लखनऊ के गोमतीनगर थाने में सिंचाई विभाग के तत्कालीन चीफ इंजीनियर गुलेश चंद (अब सेवानिवृत्त) सहित आठ अभियंताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। बाद में सीबीआइ ने इस घोटाले का केस दर्ज कर जांच शुरू की थी। ईडी ने फरवरी 2018 में रिवरफ्रंट घोटाले के मामले में मनीलांड्रिंग का केस दर्ज कर अपनी पड़ताल शुरू की थी।

ईडी के संयुक्त निदेशक राजेश्वर सिंह के निर्देश पर गुरुवार को आरोपित इंजीनियर रूप सिंह यादव, अनिल यादव व एसएन शर्मा के खिलाफ कार्रवाई की। बताया गया कि रूप सिंह यादव का नोएडा स्थित भूखंड, अनिल यादव के लखनऊ स्थित तीन भूखंड व एसएन शर्मा का गाजियाबाद स्थित फ्लैट अटैच किया गया है। ईडी ने बीते दिनों आरोपित इंजीनियरों को तलब कर उनसे पूछताछ की थी। रिवर फ्रंट के निर्माण काम से जुड़े कई ठेकेदारों से भी गहनता से पूछताछ की गई थी।

ईडी ने जनवरी माह में आरोपितों के लखनऊ, नोएडा, गाजियाबाद समेत नौ ठिकानों में छापेमारी भी की थी और अहम सुबूत जुटाये थे। सिंचाई विभाग के सेवानिवृत्त इंजीनियर रूप सिंह यादव के नोएडा स्थित आवास में भी छानबीन की गई थी। ठेकेदारों व इंजीनियरों के ठिकानों से बैंकों से जुड़े कई दस्तावेज भी मिले थे। सूत्रों का कहना है कि आरोपित इंजीनियरों व ठेकेदारों के बैंक खातों की पड़ताल में ईडी के हाथ अहम साक्ष्य लगे थे, जिनके आधार पर जांच एजेंसी ने आगे कदम बढ़ाये। आरोपित इंजीनियरों ने पत्नी व करीब रिश्तेदारों के नाम पर कई संपत्तियां जुटा रखी थीं।

विक्षिप्त किसान ने फांसी लगाकर की आत्म हत्या

0

Posted on : 04-07-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

फ़र्रुखाबाद: अमृतपुर तहसील के ग्राम हरिहरपुर निवासी जगन्नाथ ने घर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली| गुरूवार प्रातः सुबह 9 बजे करीब मृतक की पत्नी वीटोली देवी राजेपुर दवाई लेने गयी थी| उसके बाद जगन्नाथ ने कब कमरे के कुंडे में गमछा व रस्सी से फांसी लगा ली किसी को पता ही नही चला ।

पत्नी इधर उधर खोजती रही कि खेत मे पानी लगाने को कह रहे थे आज खाना खाने नही आये और भी पड़ोस की कई औरते आ गई किसी ने अचानक कमरे की खिड़की से अंदर देखा तो मृतक  फासी पर लटके थे ।

ग्रामीणों के मुताबिक जगन्नाथ सीधे स्वभाव के होने के साथ साथ मानसिक रूप से परेशान भी थे| इनके केवल दो पुत्रियां शकुना, मुन्नी, है दोनों विबाहित है। तीन बर्ष पूर्व मृतक ने अपनी दोनों पुत्रियो के नाम अपनी पूरी खेती करीब 15 वीघा बैनामा कर दिया था। उस के बाद जगन्नाथ ज्यादा ही परेशान रहने लगे थे । 8 जुलाई को उनके घर में भाई बैजनाथ की पुत्री मीनू की बरात आने वाली थी|

स्कूलों में कान पकड़कर रोजाना ‘सुपर ब्रेन’ योग करेंगे बच्चे, ये होगा फायदा

0

Posted on : 04-07-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

JNI DESK: हरियाणा के सरकारी स्कूलों में छात्र-छात्राएं जल्द ही रोजाना कान पकड़कर 14 बार उठक-बैठक करते नजर आ सकते हैं। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने प्रायोगिक तौर पर इसकी शुरुआत करने का फैसला लिया है।

शिक्षा बोर्ड के सचिव राजीव प्रसाद ने बताया कि सुपर ब्रेन योग की शुरुआत हिन्दुस्तान में बहुत पहले हुई थी और अब समय आ गया है कि हमारे देश की प्राचीन परंपराओं को एक बार फिर से जागृत किया जाए। उन्होंने कहा कि इसी के तहत बोर्ड के स्कूल में ‘सुपर ब्रेन’ (उठक-बैठक) योग शुरू करवाया जा रहा है।

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, शोध से पता चला है कि इस उठक-बैठक से दिमाग तेज चलने लगता है। बोर्ड ने कहा कि इसकी शुरुआत हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के डॉ. एस. राधाकृष्णन स्कूल में चार जुलाई से इसकी शुरुआत की गई है। गुरुवार को यह क्रिया केवल शिक्षकों ने ही की। अब स्कूल खुलने के बाद आठ जुलाई को स्कूल के बच्चों को योग और उठक-बैठक करवाई जाएगी।

बोर्ड प्रशासन का दावा है कि वैज्ञानिक तौर पर साबित हो चुका है कि सुपर ब्रेन योग यानि कान को पकड़कर उठक-बैठक करने से बुद्धि तेज होती है। 14 बार उठक-बैठक करने से फायदा होगा।

आपके नाम पर भी हो सकती है सड़क और योजना, बस करना है ये काम

0

Posted on : 04-07-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को संसद में 2018-19 की आर्थिक समीक्षा पेश कीं. मोदी सरकार ने मौजूदा वित्त वर्ष के लिए 7 फीसदी GDP ग्रोथ का अनुमान लगाया है. इस सर्वे में कई खास बातें हैं, जो मोदी सरकार का सराहनीय कदम है. मोदी सरकार ने टैक्सपेयर्स का हौसला बढ़ाने के लिए नया दांव चला है.

आर्थिक समीक्षा में बताया गया है कि पिछले पांच वर्षों के दौरान अमीरों को मिलने वाले लाभ के मार्ग गरीबों के लिए भी खोले गए हैं. प्रगति और वृहद अर्थव्यवस्था की स्थिरता का लाभ आखिरी पंक्ति के व्यक्ति तक पहुंचा.

इसके अलावा आर्थिक सर्वे में टैक्सपेयर्स को सम्मानित करने की सिफारिश की गई. सर्वेक्षण में कहा गया कि देश के टॉप 10 टैक्सपेयर्स को सम्मान किया जाए. आर्थिक सर्वे के मुताबिक, एक जिले के सभी टॉप 10 टैक्सपेयर्स को सम्मानित किया जाए ताकि लोगों में टैक्स जमा करने को लेकर उत्साह बढ़े.

दरअसल भारत जैसे देश में अगर किसी व्यक्ति को सामाजिक सम्मान मिलता है तो उससे पूरा समाज प्रेरित होता है. इसी को ध्यान में रखते हुए आर्थिक सर्वे में टॉप टैक्सपेयर्स को ज्यादा सम्मान देने की सिफारिश की गई है.

आर्थिक सर्वे में बड़े नेताओं और बड़ी हस्तियों की तरह टॉप टैक्सपेयर्स को एयरपोर्ट पर बोर्डिंग प्रिविलेज, सड़कों पर फास्ट लेन प्रिविलेज और स्पेशल डिप्लोमैट्स की तरह अलग इमिग्रेशन काउंटर जैसी सुविधाएं दी जाने की बात कही गई है.

इसके अलावा आर्थिक सर्वे में पिछले एक दशक में सबसे ज्यादा टैक्स चुकाने वाले टैक्सपेयर्स के नाम पर स्मारक, सड़क, ट्रेन, किसी योजना, स्कूल-यूनिवर्सिटीज, अस्पताल और एयरपोर्ट का नाम रखने की भी सलाह दी गई है.

कांवड़ यात्रा में डीजे-माइक के प्रयोग पर नहीं होगा प्रतिबंध: योगी

0

Posted on : 04-07-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, Politics, धार्मिक, सामाजिक

लखनऊ:सावन में होने वाली कांवड़ यात्रा को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ बीते वर्ष की तरह इस बार भी गंभीर हैं। उन्होंने कल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सभी डीएम तथा एसपी/एसएसपी को हर जगह पर सुरक्षा-व्यवस्था को चाक-चौबंद रखने का कड़ा निर्देश दिया। एक महीने तक चलने वाली कांवड़ यात्रा 17 जुलाई को शुरू होगी| 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांवड़ यात्रा के दौरान इस बार भी डीजे व माइक के प्रयोग पर प्रतिबंध नहीं होगा। डीजे पर भजन बजाने की ही अनुमति होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारी यह सुनिश्चित करायेंगे कि डीजे पर फिल्मी और अश्लील गाने न बजाये जायें। इसके साथ ही डीजे की ध्वनि मानक से अधिक न हो।
सावन माह में शुरू होने वाली कांवड़ यात्रा की सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर कल लोकभवन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर रहे मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोग माहौल बिगाडऩे की लगातार साजिश रच रहे हैं। ऐसे लोगों के मंसूबों को कतई कामयाब नहीं होने देना है। अराजकता फैलाने की कोशिश करने वाले लोगों को चिह्नित कर उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाये। योगी ने पुलिस व प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों से कहा कि इस कार्रवाई का दायरा अराजकता फैलाने वालों को संरक्षण देने वालों तक होना चाहिए। सभी अधिकारी कुंभ मेला की व्यवस्था से सीख लें। कांवडिय़ों की सुरक्षा की हेलीकॉप्टर से निगरानी के साथ ही उन पर पुष्प वर्षा भी का जाए। यह भी सुनिश्चित कर लिया जाए कि शिवालयों के पास मांस-मदिरा की दुकानें न हों। कांवड़ यात्रा के रास्तों में सफाई का खास ध्यान रखा जाए।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से कहा है कि कांवड़ यात्रियों पर हेलिकॉप्टर से फूल और पंखुड़ियां बरसाने का बंदोबस्त किया जाए। बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से उन परेशानियों को चिन्हित करने को कहा जो कांवड़ यात्रा के दौरान आड़े आ सकती हैं। कांवड़ यात्री बिना किसी परेशानी अपनी सुखद यात्रा पूरी कर सकें इसके लिए हरेक जोन, जिला और मंडल स्तर पर विभागीय बैठकें करने और आपस में तालमेल बिठाने का आदेश दिया गया है।
यात्रा के दौरान स्वच्छता का भी पूरा ख्याल रखा जाना है। मुख्यमंत्री ने अपने निर्देशों में स्पष्ट कर दिया है कि थरमोकोल और प्लास्टिक बैग के इस्तेमाल नहीं किए जाएंगे। यात्रियों की सुरक्षा हर हाल में सुनिश्चित करने की हिदायत दी गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रयागराज में अभी हाल में बीते कुंभ महोत्सव की तर्ज पर ही कांवड़ यात्रा की तैयारी की जाए। सभी अधिकारियों को उनके इलाके में शिव मंदिरों की पहचान करने और वहां पेयजल, स्वच्छता, बिजली और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। योगी आदित्यनाथ ने बैठक में अधिकारियों से कहा कि कांवड़ यात्रा मार्ग पर या जिस जगह कांवड़ यात्री ठहरते हैं, वहां शराब के ठेके और अवैध बूचड़खाने नहीं चलने चाहिए।
बकरीद से बढ़ी संवेदनशीलता भी 
इस साल बकरीद और कांवड़ यात्रा की अंतिम सोमवारी एक ही दिन 12 अगस्त को है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि उस दिन पशुओं के अवैध वध की इजाजत नहीं होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांवड़ यात्रा के दौरान बकरीद पडऩे से संवेदनशीलता ज्यादा होगी। लिहाजा अधिकारी यह सुनिश्चित करायें कि कहीं कोई नई परंपरा शुरू न हो। प्रतिबंधित श्रेणी का कोई पशु न काटा जाए।
शिवालयों में हो सभी सुविधाएं
मुख्यमंत्री ने सभी डीएम को प्रमुख शिवालयों की साफ-सफाई के साथ बिजली, पानी व अन्य बुनियादी व्यवस्थाएं समय रहते सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। स्थानीय स्तर पर स्वयंसेवियों को भी जोड़ा जाए। 
महिलाओं की सुरक्षा हो कड़ी 
मुख्यमंत्री ने खासकर महिलाओं की सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर कड़े निर्देश दिये। इसके लिए कड़े बंदोबस्त किये जायें। 
जेल व थानों का हो निरीक्षण 
मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिशिवालयों में हो सभी सुविधाएंस व प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी जेलों का नियमित निरीक्षण करें। सभी जिले में एसएसपी-एसपी प्रतिदिन एक थाने का निरीक्षण करें। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि डीएम व एसएसपी/एसपी दिनों के भीतर भ्रष्ट अधिकारियों व कर्मचारियों की सूची तैयार कर शासन को भेजें।

ADVERTISEMENT

P