पतंग देनें के बहाने बालक से कुकर्म का आरोप

0

Posted on : 02-05-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, सामाजिक

फर्रुखाबाद: पतंग देंनें के बहाने मासूम बालक के साथ कुकर्म करने का आरोप मोहल्ले के ही एक युवक पर लगा है| पुलिस को घटना के सम्बन्ध में तहरीर दी गयी है| पुलिस जाँच कर रही है|शहर कोतवाली क्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी आठ वर्षीय पीड़ित बालक के पिता ने पुलिस को तहरीर दी| तहरीर में जिक्र है कि बालक के साथ मोहल्ले के ही एक युवक ने पतंग देनें के बहाने कुकर्म किया| बालक ने घर आकर घटना की सूचना परिजनों को दी| परिजन जब शिकायत लेकर आरोपी के घर गये तो वह हमलावर हो गया|
शहर कोतवाली पुलिस तहरीर मिलने के बाद जाँच में जुट गयी है| प्रभारी निरीक्षक रवि श्रीवास्तव नें बताया कि अभी जाँच की जा रही है| जाँच के बाद कार्यवाही की जायेगी|

करवा चौथ की रात रुकने से प्रेमिका का इंकार,प्रेमी ने दी रूह कांपने वाली मौत

0

Posted on : 02-05-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

लखनऊ:सआदतगंज के रामनगर से छह माह पहले लापता हुई युवती रामजानकी का शव बरामद किया गया है। युवती की हत्या उसके प्रेमी ने की थी और शव को अपने घर के भीतर ही दफना दिया था। पुलिस ने आरोपित प्रेमी विजेंद्र कुमार यादव उर्फ मोटू को गिरफ्तार कर जमीन की खोदाई कराने के बाद शव को बाहर निकलवाया, जिसके बाद पूरा मामला सामने आया।
ये है पूरा मामला
एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी के मुताबिक, अक्टूबर 2018 में रामजानकी उर्फ रूबी घर से लापता हो गई थी। एक नवंबर को रूबी की मां ने सआदतगंज कोतवाली में बेटी की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। छानबीन के दौरान पुलिस को कोई अहम सुराग नहीं मिल रहा था। इस बीच पुलिस ने सर्विलांस के जरिए रूबी के मोबाइल फोन का ब्योरा निकाला तो विजेंद्र से उसकी नजदीकी का पता चला।
पुलिस ने विजेंद्र को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने हत्या की बात कबूल कर ली। पुलिस के मुताबिक, मानकनगर के मेंहदीखेड़ा निवासी विजेंद्र ने रूबी को 27 अक्टूबर को मिलने के लिए बुलाया था। बातचीत के दौरान दोनों में विवाद हो गया था। इससे नाराज होकर विजेंद्र ने रूबी के सिर पर ईंट से हमला कर दिया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी।
कमरे में खोदा तीन फीट गहरा गड्ढा
सिर पर प्रहार करने से रूबी लहूलुहान हो गई थी। आरोपित ने कमरे से खून साफ किया था। इसके बाद उसने करीब तीन फीट गहरा गड्ढा खोदा और रूबी के शव को उसी में दफना दिया था। पूछताछ में मामला उजागर होने के बाद पुलिस टीम एसीएम तृतीय के नेतृत्व में आरोपित के घर पहुंची और कमरे में खोदाई कर कंकाल बरामद किया।
करवा चौथ की रात में रुकने से इन्कार करने पर की हत्या
पुलिस के मुताबिक, आरोपित ने रूबी को करवा चौथ के दिन मिलने के लिए बुलाया था। आरोपित रूबी को रात में घर पर रुकने के लिए कहा था, लेकिन उसने इन्कार कर दिया था। इससे आरोपित नाराज हो गया और उसने रूबी की हत्या कर दी थी। एएसपी पश्चिम ने बताया कि रूबी के पति की दो साल पहले मौत हो चुकी थी। विजेंद्र और रूबी की मुलाकात गढ़ी कनौरा में रहने वाले तांत्रिक हरिश्चंद्र के घर पर हुई थी।
छह माह से मां को तलाश रहे थे बच्चे
रूबी का एक नौ साल का बेटा आशीष और पांच साल की बेटी पंखुड़ी है। दोनों बच्चे छह माह से अपनी मां की तलाश कर रहे थे। रूबी एक मेडिकल कॉलेज में काम कर परिवार का पालन पोषण करती थी। रूबी की मां सुमित्रा के मुताबिक 27 अक्टूबर की रात उनकी बेटी तांत्रिक के घर जाने की बात कहकर निकली थी। पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी, लेकिन सफलता नहीं मिल पा रही थी। सुमित्रा ने बेटी के शव की पहचान उसके एक पैर में पड़ी रॉड और हाथ के कड़े से की है। पुलिस के मुताबिक पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में एक पैर में रॉड पड़े होने की पुष्टि हुई है।
पहले किया गुमराह, फिर बताई सच्चाई
आरोपित विजेंद्र से पुलिस ने कई माह पहले पूछताछ की थी, लेकिन उसने सच्चाई नहीं बताई। वह पुलिस को गुमराह करता रहा। आरोपित ने बताया कि दो माह से वह परेशान था। वह पुलिस के पास जाकर अपना जुर्म कबूल करना चाहता था, लेकिन हिम्मत नहीं हो रही थी। इसी बीच मंगलवार को पुलिस ने आरोपित को पूछताछ के लिए बुलाया तो उसने सारी बात बता दी। आरोपित के खिलाफ पुलिस ने हत्या, साक्ष्य छिपाने और एससीएसटी एक्ट के तहत धारा में बढ़ोतरी की है।

बीएसए का फरमान ना मानने वाले स्कूलों की मान्यता होगी निरस्त

0

फर्रुखाबाद: भीषण गर्मी व लू के चलते बीएसए के द्वारा विधालयों का समय परिवर्तन करने के बाद भी कुछ विधालयों में मनमानी के चलते अपने हिसाब से विधालय खोले|जिस पर बीएस सख्त हो गयें है| उन्होंने फरमान ना मानने वाले विधालयों की मान्यता रद्द करने की चेतावनी दी है|
बीते दिन बेसिक शिक्षा अधिकारी रामसिंह ने जिले के सभी 1 से आठ तक के विधालय सुबह 7 बजे से दोपहर 11:30 बजे तक खोलने का आदेश जारी किया था| गुरुवार को कई विधालय अपनी हिसाब से ही खोले गये| जिसकी जानकारी बीएसए को मिली|
जानकारी मिलने पर बीएसए ने सभी खंड शिक्षा अधिकारीयों को आदेश दिये है कि अपने-अपने क्षेत्र में निरीक्षण करके पता करें की आदेश का अनुपालन हो रहा है या नही| जो विधालय मनमानी कर रहा है उसके खिलाफ विधालय की मान्यता रद्द किये जाने की आख्या भेजे|

देखें सीबीएससी टापरों की सूची

0

फर्रुखाबाद:जिले में सीबीएससी का परिणाम घोषित होने के बाद से मेधावियों के घर पर दीपावली जैसा माहौल है|शुभकामनाओं के साथ मुंह मीठा कराने का दौर भी चल रहा है| खुशी इतनी जिसका कोई अंत नही| देखें जिले में सीबीएससी के टापरों की सूची-
नवोदय विधालय रोहिला मोहम्मदाबाद में रजत शुक्ला 96.8 प्रतिशत अंक लाकर जिले में प्रथम,हर्ष बाबू के 93.2 प्रतिशत,अभिषेक राठौर 93.7,शिवम कुशवाह 93 प्रतिशत,अनुज राजपूत 91 प्रतिशत,मानसी चौरसिया 90 प्रतिशत अंक लेकर आयी| केन्द्रीय विधालय आरआरसी फतेहगढ़ की राना हिजाब ने 96.6 प्रतिशत अंक पाकर जिले में दूसरा स्थान बनाया|अजय शुक्ला ने 95.4 प्रतिशत,आकाश यादव 95 प्रतिशत,रिषभ शुक्ला 94.8 प्रतिशत अंक लेकर आये|
डॉ0 वीरेंद्र स्वरूप एजुकेशन सेंटर के दिव्यांश चौरसिया ने 95.6,हिमांशु गुलाटी 95.6,आयुष सक्सेना 94.6, कुमार यश 93.2 प्रतिशत अंक लेकर आये|
आर्मी विधालय फतेहगढ़ के अभिषेक राठौर ने 96.4 प्रतिशत अंक पाकर जिले में तीसरा स्थान बनाया|कुमारी शिवांगी के 96 प्रतिशत,नवीन कुमार 95.8 प्रतिशत,विकास शुक्ला 95.2 प्रतिशत व अंजली 95 प्रतिशत अंक लेकर आये|

नवोदय के रजत ने सीबीएससी इंटर में किया जिला टॉप

0

Posted on : 02-05-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद: उत्तर प्रदेश माध्यामिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड के 27 अप्रैल को कक्षा 10 व 12 का परिणाम जारी करने के चार दिन बाद आज सीबीएसई बोर्ड ने भी कक्षा 12 का परिणाम घोषित कर दिया है। जिसमे रजत कुमार शुक्ला ने जिला टॉप किया| रजत के जिला टॉप करने की जानकारी मिलने से उसके कालेज और घर में ख़ुशी का माहौल है|
जवाहर नवोदय विधालय में कुल 46 छात्र पढ़ाई कर रहे थे| जिसमे से 45 ने प्रथम श्रेणी से सीबीएससी की परीक्षा पास की| जिसमे रजत कुमार शुक्ला ने 96.8 प्रतिशत अंक पाकर जिला टॉप किया है| इसके साथ ही केन्द्रीय विधालय आरआरसी की छात्रा राना हिजाब ने जिले में दूसरा स्थान बनाकर 96.6 प्रतिशत अंक हासिल किये|इसके साथ ही साथ आर्मी स्कूल फतेहगढ़ के अभिषेक राठौर ने 96.4 प्रतिशत अंक हासिल कर अपनें विधालय और परिवार का नाम रोशन किया|
जिला टॉपर रजत के पिता ज्ञान प्रकाश शुक्ला इन दिनों दिल्ली में प्राइवेट नौकरी कर रहे है| जबकि रजत कोटा में कोचिंग कर रहा है|

गदर अवतार में दिखा सनी देओल का रोड शो,ट्रक पर चढ़कर किया प्रचार

0

Posted on : 02-05-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Narendra Modi, Politics, Politics-BJP, सामाजिक

गुरदासपुर:भाजपा प्रत्‍याशी सनी देआेल अपने चुनाव प्रचार में जुट गए हैं। वह गुरदासपुर लोकसभा क्षेत्र में रोड शो कर रहे हैं। उनका रोड शो बेहद खास अंदाज में चल रहा है और वह इसमें ट्रक लेकर निकले हैं। सनी अपनी सुपर हिट फिल्‍म ‘गदर’ की याद दिलाते हुए ट्रक की छत पर बैठकर रोड शो कर रहे हैं। उनका रोड शो दोपहर 12 बजे शुरू हुआ।
उन्‍होंने अपना चुनाव अभियान डेरा बाबा नानक से श्री गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन कर शुरू किया। इसके साथ ने रोड शो शुरू किया। उनका रोड शो गुरदासपुर के विभिन्‍न क्षेत्रों से गुजर रहा है। सनी देआेल ट्रक की छत पर सवार हैं और लाेगों से रूबरू हाे रहे हैं। जगह-जगह भारी संख्‍या में लोग उनका स्‍वागत कर रहे हैं। सनी देओल के प्रति युवाओं में विशेष दीवानगी नहीं है। उनका रोड रात करीब 10 बजे तक चलेगा। बताया जाता है कि यह पंजाब का सबसे बड़ा रोड शो है। डेरा बाबा नानक में सनी देओल ने कहा मोदी सरकार के प्रयास से बन रहे कारिडोर से क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
ट्रक से रोड शो निकालते बॉलीवुड स्‍टार सनी देओल।
सनी देओल ने गुरदासपुर के ध्यानपुर धाम में हाजरी लगाई। व गुरुद्वारा साहिब में चल रहे सुखमनी साहब पाठ में भी शामिल हुए। इसके बाद वह डेरा बाबा नानक में पहुंचे और वहां सीमा से पाकिस्‍तान में चार किलोमीटर दूर श्री गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन किए। इस मौके पर भाजपा के कई वरिष्‍ठ नेता भी मौजूद थे। दर्शन के बाद सनी लोगों से मुखातिब हुए। उन्‍होंंने कहा कि यह चुनाव देश के लिए बेहद अहम है। गुरदासपुर से भाजपा को जिताकर नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाएं।
उन्‍होंने करतारपुर कारिडोर की भी चर्चा की। उन्‍होंनेे कहा कि इस कारिडोर के बनने से पंजाब सहित पूरी दुनिया के सिखों की वर्षों पुरानी मांग पूरी हाेगी और श्रद्धालु श्री गुुरुद्वारा करतारपुर साहिब में नतमस्‍तक हो सकेंगे। इसके साथ ही क्षेत्र में रोजगार के अवसर पैदा होंगे।
इसके साथ ही सनी देओल अपने भाई बॉबी देओल के साथ चुनाव अभियान में जुट गए।  उनका 50 किलोमीटर लंबा रोड शो गुरदासपुर के काहनूवान से शुरू होकर पठानकोट में खत्म होगा। भाजपा ने रोड शो को सफल बनाने के लिए पूरी तैयारी की है। जगह-जगह सनी देओल के स्वागत का प्रबंध कर किया गया है।
सनी का कार्यक्रम
-श्री डेरा बाबा नानक में नतमस्तक होने के बाद श्री करतारपुर साहिब के दर्शन किया।
– ध्यानपुर धाम में माथा टेकेंगे।
-कलानौर शिवाला में नतमस्तक होंगे।
-11 बजे पंडोरी धाम में शीष झुकाएंगे।
रोड शो के दौरान सनी देओल
रोड शो का प्लान
12 बजे काहनूवान रोड से रोड शो शुरू । 2 बजे दीनानगर, 3 बजे परमानंद, 3.20 पर कानवां, 3.40 पर सरना, 4 बजे मलिकपुर चौक, पांच बजे शहीद भगत सिंह, 5.20 पर सलारिया चौक, 5.40 पर गाड़ी अहाता चौक, छह बजे डाकखाना चौक, 6.20 से गांधी, 6.40 पर वाल्मीकि चौक व 7 बजे पठानकोट के यू-नाइट पहुंचकर रोड शो खत्म  करेंगे।
सुखमणि साहिब के पाठ से चुनाव प्रचार का आगाज
सनी देओल चुनाव प्रचार शुरू करने से पहले डेरा बाबा नानक में श्री सुखमणि साहिब के पाठ करवाने के बाद श्री करतारपुर साहिब के दर्शन किया।

कलेक्ट्रेट पावर हॉउस में चिंगारी से लगी आग

0

फर्रुखाबाद:कलेक्ट्रेट परिसर में सरकारी अधिकारीयों के कार्यालयों में विधुत सप्लाई देनें के लिए पावर हॉउस बना है| जिसमे सुबह अचानक आग लग गयी| आग लगने की सूचना पर दमकल मौके पर पंहुची और आग पर काबू पाया|
फतेहगढ़ कलेक्ट्रेट और न्यायालय को विधुत सप्लाई देनें के लिए पावर हाउस बना है|गुरुवार को सुबह अचानक विधुत चिंगारी नीचे गिरी| चिंगारी से पावर हाउस में खड़ी घास से आग पकड़ ली| कुछ ही देर में लम्बी-लम्बी लपटें उठने लगी|आग लगने की सूचना पर हडकंप मच गया| जिसके बाद कलेक्ट्रेट के चौकीदार ने सूचना पुलिस को दी|
पुलिस ने दमकल को अवगत कराया| दमकल नें मौके पर आकर आग पर काबू पाया| आग से किसी प्रकार का कोई नुकसान नही हुआ|

मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित होने पर भाजपाईयों ने चलाई आतिशबाजी

0

फर्रुखाबाद: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित किए जाने से उत्साहित भाजपा नेताओं ने ख़ुशी का इजहार करते हुए आतिशबाजी चलायी|
नगर के चौक पर भाजपा जिला अध्यक्ष भूदेव सिंह राजपूत के नेतृत्व में कार्यकर्ता एकत्रित हुए| उन्होंने आतिशबाजी छुड़ाई इसी दौरान कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान मुर्दाबाद,मसूद अजहर मुर्दाबाद,हिंदुस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये|जिलाध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कूटनीति के कारण आज भारत को बहुत बड़ी सफलता हासिल हुई है मसूद अजहर जो कि पूरे देश का ही नहीं पूरे विश्व का सबसे खतरनाक आतंकी सरगना है भारत की पहल पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किया गया है|
जिला महामंत्री शैलेंद्र सिंह राठौर,नगर अध्यक्ष हिमांशु गुप्ता,जिला महामंत्री रूपेश गुप्ता,संजीव गुप्ता,बबिता पाठक,शिवांग रस्तोगी आदि रहे|
भोलेपुर में नगर अध्यक्ष भाजपा रामवीर चौंहान,युवा मोर्चा बढ़पुर अध्यक्ष शिवम दुबे,भाजपा नगर मंत्री गुंजन अग्निहोत्री आदि ने मिष्ठान वितरण कर आतिशबाजी चलायी|

बिजली करंट से झुलसे लाइन मैंन को सड़क पर रख लगाया जाम

0

फर्रुखाबाद: हाई टेंशन लाइन को ठीक करने के दौरान अचानक बिजली आने से उस पर चढ़ा लाइन मैंन गम्भीर रूप से झुलस गया|घटना के बाद परिजनों ने कई बार पुलिस से आरोपी जेई और एसएसओ आदि के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने का प्रयास किया लेकिन पुलिस ने मुकदमा दर्ज नही किया| जिसके बाद आक्रोशित परिजनों ने गम्भीर रूप से झुलसे लाइन मैंन को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया|
दरअसल बीते 4 अप्रैल को विधुत उपकेन्द्र सलेमपुर में लाइन मैंन दिलाराम पुत्र रामगुलाम  ग्राम कांधर कुईयां से केबल नगला के बीच 11 केबी उच्च विभव के डबल पोल पर बिधुत ठीक कर रहा था| उसका कहना है उसने अवर अभियंता अजय कुमार,एसएसओ नागेन्द्र पाल,लाइनमैंन राजवीर के निर्देश पर पोल पर चढ़ा था| कार्य करने के दौरान अचानक डेढ़ बजे सप्लाई चालू कर दी गयी| जिससे लाइनमैंन दिलाराम गम्भीर रूप से झुलस गया|
दिलराम के फूफा मुखराम ने बताया कि घटना के बाद दिलाराम का इलाज लोहिया अस्पताल में कराया और उसके बाद उसे हरदोई इलाज के लिए ले गये| उपचार के दौरान पैसे खत्म होने पर उसे पुन:लोहिया अस्पताल ले आये| जंहा से भी उसे निकाल दिया गया| आक्रोशित परिजनों ने शहर कोतवाली क्षेत्र आवास विकास तिराहे पर जाम लगा दिया| जाम लगने से दोनों तरफ लम्बी-लम्बी वाहनों की लाइनें लग गयी|काफी देर बाद आवास विकास चौकी इंचार्ज ज्ञानेश्वर सिंह,कादरी गेट चौकी इंचार्ज बलराज भाटी आदि मौके पर आ गये| उन्होंने समझाकर जाम खुलवा दिया और दिलाराम को लोहिया अपस्ताल में भर्ती कराया| जंहा से डॉ0 अभिषेक चतुर्वेदी ने उसे सैफई के लिए रिफर कर दिया|
राजेपुर थानाध्यक्ष राकेश कुमार ने बताया कि अभी मुकदमा दर्ज नही किया गया है| जाँच की जा रही है| एसडीओ शरद प्रताप सिंह ने बताया कि जितना हो सका इलाज कराया गया| मुआवजा के लिए पत्र भेजा गया है|

गर्मियों में जरुर पिए बेल का शरबत, पढ़े बेल के फायदे और नुकसान

0

Posted on : 02-05-2019 | By : पंकज दीक्षित | In : FARRUKHABAD NEWS

विशेष- बेल का पेड़ मूल रूप से भारत में ही पाया जाता है इसके साथ साथ एशिया के दक्षिणी भाग, श्रीलंका, थाईलैंड और अन्य क्षेत्रों में भी पाया जाता है। इस पेड़ की ऊंचाई 30 फीट तक बढ़ सकती है और इसके फल का माप 5cm-9cm तक का होता है। बेल की बाहरी कवच कठोर होती है और अंदर से भूरे रंग का गुदा होता है जिसमें छोटे सफेद बीज होते हैं। इस फल का गुदा कच्चा भी खाया जा सकता है पर आमतौर पर इसका उपयोग जेम को बनाने में किया जाता है। बेल के फल में टैनिन, कैल्शियम, फॉस्फोरस, फाइबर, प्रोटीन, आयरन आदि जैसे उपयोगी खनिज निहित हैं। इसके अलावा इसमें विटामिन बी और विटामिन सी की भी अच्छी मात्रा पाई जाती है। बेल वास्तव में एक जड़ी-बूटी है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यंत उपयोगी है। इसका हरेक अंश मानव-शरीर के लिए फायदेमंद होता है, चाहें वह इसका फल हों या फिर पत्तियां, तना, शाखाएं व जड़।

बेल के फायदे लाएं पाचन प्रक्रिया में सुधार – Bael Fruit for Digestion

बेल ना केवल पाचन प्रक्रिया में सुधार लाता है परंतु आंत में विकसित हानिकारक कीड़ों का भी नाश करता है और पाचन-सम्बंधित विकारों को शरीर से कोसों दूर रखता है। बेल के पेड़ की शाखाएं व तने में फेरोनिया गम (Feronia Gum) नामक पाएँ जाने वाला तत्व बहुत ही व्यापक रूप से डायरिया और डिसेंट्री के उपचार में इस्तेमाल किया जाता है। बेल का इस्तेमाल बवासीर के इलाज में भी किया जाता है। यह एक रेचक के रूप में कार्य कर कब्ज़ पर भी रोक लगाता है। इसके अतिरिक्त, बेल के कवकरोधी एवं परजीवी-विरोधी गुण, इसे पाचन प्रणाली के स्वास्थ के लिए एक उत्तम आहार बनाता है।

बेल फल के फायदे करें रक्त को साफ – Bael ke Fayde for Blood

शारीर में स्वच्छ रक्त, स्वस्थ जीवन जीने के लिए अनिवार्य होता है। तो यदि आप अपने शरीर को रक्त में उपस्थित हानिकारक एवं विषाक्त पदार्थों से पहुँचाने वाली क्षति से बचाना चाहते हैं तो 50 ग्राम बेल के जूस में गर्म पानी एवं शक्कर की मिठास मिलाकर पी लें।

यह स्कर्वी के उपचार के लिए भी लाभदायक है। स्कर्वी एक प्रकार का रक्त-रोग है जो जानलेवा भी साबित हो सकता है। यह शरीर में विटामिन सी की कमी की वजह से होता है और क्योंकि बेल विटामिन सी का एक प्रचुर स्रोत है।

बेल का पेड़ है कान दर्द में उपयोगी – Bael for Ear Pain

बेल के पेड़ की जड़ कानों के विकार के लिए बहुत ही उपयोगी होती है और उनमें हो रहे दर्द से राहत दिलाती है।

बेल के पत्तों को काटकर तिल के तेल में मिला कर गर्म करलें, अब अच्छे से उबलने के बाद पत्तों को छान लें और तेल को अलग करलें। इस तेल को कान में डालने की दवा के रूप में इस्तेमाल करें। इसके उपयोग से आपको कान के दर्द से जल्द राहत मिलेगी।

बेलपत्र के उपाय हैं मधुमेह के रोगी के लिए फायदेमंद – Bael Fruit for Diabetes

बेल के पेड़ में उपस्थित फेरोनिया गम इसे मधुमेह के रोगी के लिए उपयोगी बनाता है। यह तत्व मधुमेह के विपरीत कार्य करता है और शुगर के स्तर और इन्सुलिन के उत्पादन को नियंत्रित करता है। यह शुगर के स्तर में आने वाले मुख्य उतार-चढ़ाव को रोकता है जो जानलेवा भी साबित हो सकता है।

हर सुबह खाली पेट बेल के 4-5 पत्ते चबाएं। लंबे समय तक इस दिनचर्या को जारी रखने से मधुमेह को नियंत्रण किया जा सकता है।थोड़े से पानी में बेल के पत्तों को मिलाकर उसका रस बनाएं और सेवन करें। इस मिश्रण में चुटकी भर काली मिर्च पाउडर डालने से इसका शरीर पर और भी प्रभावशाली असर हो सकता है।

बेल के पत्ते का उपयोग बचाएं सर्दी से – Bel ke Patte Khane ke Fayde for Sore Throat

बेल की पत्तियां सर्दी के लिए बहुत ही उपयोगी होती है चाहें वो आम सर्दी हो या फिर पुरानी सर्दी (chronic cold)। यह श्वसन प्रणाली से बलगम को बाहर निकाल फेंकता है और सुचारू रूप से सांस लेने में सहयाता करता है। यह गल-शोथ (sore throat) का भी एक सफल उपचार है।

बेलपत्र के फायदे बढ़ाएं ऊर्जा स्तर – Bael Fruit for Boosting Immune System

रिसर्च द्वारा पाया गया है की बेल के फल का सेवन करने से यह आपके प्रतिरक्षा तंत्र को उत्तेजित करता है और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है। बेल के 100 ग्राम गूदे में 150 कैलोरी होती है और साथ ही में अनेक पोषक तत्व भी होते हैं जो शरीर की गतिविधियों में सुधर लाती है और उपापचयी (मेटाबॉलिक) क्रियाओं में सुधार ला आपको फुर्तीला महसूस कराती है। यह प्रोटीन का भी एक प्रचुर श्रोत है जो माशपेशियों के विकास को बढ़ाता है और घावों को जल्दी भरने में करता है।

बेल फल के लाभ हैं गुर्दों के लिए स्वास्थ्यवर्धक – Bael Good for Kidney Health

बेल किडनी से सम्बंधित विकारों के लिए सर्वोत्तम माना जाता है। यह शरीर से विषाक्त प्रदार्थों की निकासी कर किडनी के कार्य को उत्तेजित करता है और उससे सम्बंधित विकारों से छुटकारा दिलाता है। गुनगुने पानी में एक चमच सूखे बेल के पत्तों के चूरन को मिलाए और इसका सेवन नियमित रूक से करें। इसका उपयोग करने से आपको किडनी की कोई बिमारी नहीं होगी।

बेल के जूस के फायदे लाएं लीवर के स्वास्थ्य में सुधार – Bael Patra for Liver

रिसर्च द्वारा पाया गया है की बेल के पत्तों में जिगर के लिए रक्षात्मक प्रभाव होता है। जिगर के रोग आमतौर पर संक्रमण के कारण होते हैं। बेल बीटा-कैरोटीन का एक अच्छा श्रोत होता है और इसमें थिअमिने और राइबोफ्लेविन भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। यह तीनों तत्व लिवर के स्वास्थय के लिए अति महत्वपूर्ण होते हैं। बेल में एंटी-फंगल, एंटी-बैक्टीरिया, एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-वायरल गुण भी मौजूद होते हैं जो संक्रमण और चोट से जिगर की रक्षा करते हैं।

बेल के गुण करें मलेरिया से बचाव – Bel Patra ke Fayde for Malaria

बेल के पेड़ की शाखाएं एवं तना टनीन नामक एक तत्व से प्रचुर होता है जिसका काढ़ा पीने से मलेरिया से बचाव किया जा सकता है। विटिलिगो (vitiligo) के इलाज के लिए भी इस फल के गुदे का उपयोग किया जाता है। इसके अलावा आयुर्वेद में बेल का हरेक अंश सांप के डंक का इलाज करने में इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि, इस तरह के मामलों में यह सलाह दी जाती है की पहले आप डॉक्टर से संपर्क करें। थाई-म्यांमार क्षेत्र में अक्सर डेंगू और मलेरिया से प्रभावित लोगों की संख्या अधिक पाई जाती है और अध्ययनों के अनुसार बेल के गुदे को त्वचा पर लगाने से भी मलेरिया से बचा जा सकता है।

बेल का सेवन कैसे करें – 

•             आप इसके फल का भी सेवन कर सकते हैं।

•             आप पका हुआ बेल फल साबुत भी खा सकते हैं या फिर उसका रस भी पी सकते हैं।

•             कच्चा बेल खट्टा होता है तो आप इसकी चटनी बना कर खा सकते है।

•             इसकी पत्तियों का सेवन आप सलाद के रूप में कर सकते है।

•             बेल को सुखाकर और उसका चूरन बनाकर आप उसे दूध, मक्खन और अपने दैनिक आहार के साथ भी ले सकते हैं।

•             श्रीलंका में बेल के फल का सेवन आइसक्रीम के रूप में भी किया जाता है।

बेल के नुकसान निम्न हैं –

•             अधिक मात्रा में बेल का सेवन पेट में होने वाली सम्याओं का एक कारण बन सकता है।