पालिका व तहसील की भूमि को लेकर विवाद

0

Posted on : 13-04-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:नया टिन सेट डालने को लेकर बार एसोसिएशन व नगर पालिका कर्मियों के साथ विवाद हो गया| जिसके बाद अधिकारी मौके पर पंहुचे उन्होंने जाँच पड़ताल कर फ़िलहाल मामला शांत करा दिया|
तहसील बार एसोसिएशन के सदस्य मंजेश सोमबंशी नगर पालिका टाउन हाल के सामने अपना बस्ता लगाने के लिए टिन सैट डाल रहे| तभी पालिका कर्मियों ने उन्हें रोंक दिया| जिससे विवाद की स्थिति बन गयी| पालिका कर्मियों ने सूचना ईओ रश्मि भारती को दी| जिसके बाद वह मौके पर पंहुची| उन्होंने अधिवक्ता मंजेश से कहा कि यह भूमि पालिका की है| जिसके बाद विवाद हो गया| ईओ ने सूचना आलाधिकारियों कों दी| जिसके बाद कई थानों की फ़ोर्स व तहसीलदार प्रदीप कुमार मौके पर आ गये|वही अधिवक्ताओं के समर्थन में बार एसोसिएशन महासचिव संजीब पारिया आदि तहसील पंहुच गये| जिसके बाद अधिकारियों ने वार्ता की|
पालिका ईओ का कहना था की भूमि नगर पालिका की है| जबकि अधिवक्ताओं का कहना था कि भूमि तहसील सदर की है| जिसके बाद फ़िलहाल काम रोंक दिया गया| अब भूमि की पैमाइश होने के बाद तय होगा की भूमि किसकी है|

24 घंटे बाद अग्निपीड़ितों के हाल जानने पंहुचे एसडीएम

0

फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन चूल्हे की चिंगारी से आग लगने के चलते आठ झोपड़ी जलकर राख हो गयीं थी| जिनका हाल जानने एसडीएम पंहुचे और उन्हें प्रशासनिक मदद का भरोसा दिया|
थाना क्षेत्र के गांव अलापुर भटौली में बीते दिन चूल्हे की चिंगारी से आग लगने के चलते आठ ग्रामीणों के आवास व कई मबेशी जल गये थे| जिसमे लाखों की क्षति हुई थी|जिसके बाद घटना के 24 घंटे के बाद एसडीएम बसंत कुमार गुप्ता अग्नि पीड़ितों से मिले और तहसीलदार राजू गुप्ता नायव तहसीलदार भानु प्रताप कानूनगो हरि किशोर को आवश्यक दिशा निर्देश दिये|
एसडीएम ने पूर्ति निरीक्षक संतोष कुमार वर्मा को निर्देश किये की प्रति परिवार को 10 किलो चावल उपलब्ध कराया जाये| इसके साथ ही त्रिपाल की व्यवस्था ना होने से एडीओ पंचायत अजीत पाठक को फटकार लगा दी|शिवरतन पुत्र तोले मनोज पुत्र राम तीरथ सुनील ,दीपू, अनिल ,सुधीर ,पुत्र गण जदूनाथ रामा देवी आदि पीडितों को जल्द आवश्यक मदद देनें का भरोसा दिया|

चुनावी मौसम में अब लीजिए ‘चौकीदार पराठे’ का मजा, जानिए- इसकी खूबियां

0

नई दिल्ली:लोकसभा चुनाव-2019  की तैयारी और प्रचार पूरे शबाब पर है, एेसे में चुनावी माहौल इस बार लोगों के भीतर देशभक्ति का जज्बा भी जगा रहा है। बातों से लेकर चाय की चुस्कियों में चुनावी जायका ढूंढ़ रहे हैं तो आपके लिए कुछ और जायकेदार मिलेगा कनॉट प्लेस स्थित एक आरडॉर 2.1 रेस्तरां में। देखने पर यह यहां पर चुनावी चर्चा का मंच भले ही न लगता हो लेकिन यह के भोजन में आपको देश भर की खुशबू मिलेगी। कैसे? देश के हर राज्य की विशेषता लिए भोजन से।
चौकीदार पराठा
यहां का पराठा खास है। चौकीदार परांठा मोदी के व्यक्तित्व को ध्यान में रखते हुए डिजाइन किया गया है। रेस्तरां की संचालक मेघा कालरा का कहना है कि मोदी के कभी सख्त तो कभी नर्म मिजाज को ध्यान में रखते हुए यह पराठा बनाया गया है। इसमें करारापन डालने के लिए मिर्च और सॉफ्टनेस के लिए पुदीने का इस्तेमाल किया गया है। लोगों को यह परांठा बेहद आकर्षित कर रहा है।
भारत के नक्शे पर उतरा 28 राज्यों का सुस्वाद
इस रेस्तरां में मिलने वाली थाली को एक प्लैटर का रूप दिया गया है। भारत के नक्शे के डिजाइन में बनी थाली में 28 राज्यों की विशेषता लिए हुए व्यंजनों को परोसा जा रहा है। यह थाली लगभग साढ़े पांच किलो से लेकर दस किलो तक की है। इसमें कश्मीर से लेकर तमिनाडु तक की डिशेज रखी गई हैं। पंजाब का बटर पनीर मसाला, बिहार का लिट्टी चोखा, गुजरात का ढोकला व खांडवी, गोंगूरा पचड़ी, वेज शाफले, आलू पोस्तो, हिमाचली छोले, बीसी बेले बाथ, दाल पचरंगी जैसी डिशेज वेज में हैं। नॉनवेज में पंजाबी चिकन बटर मसाला, हैदराबाद की नॉनवेज बिरयानी, कोशा मंगसो, लखनऊ का गलौटी कबाबा, मटन पेपर फ्राई, चिकन चेट्टीनाद, गोअन फिश करी जैसी डिशेज शामिल हैं। इसके अलावा डेजर्ट्स में भी अलग अलग राज्यों की खुशबू आएगी। राजस्थान का राजभोग व सागो खीर का स्वाद लिया जा सकेगा। इसके अलावा पुदीना चटनी, भांग की चटनी व रसम भी विशेष रूप से परोसा जाएगा।
11 अप्रैल से मिल रही थाली
मेघा का कहना है कि थाली को लॉन्च कर दिया गया है, लेकिन इसे आम पब्लिक के लिए 11 अप्रैल यानी कि पहले चुनाव के दिन से परोसा जा रहा है। उन्होंने बताया कि लोग आ रहे हैं और उन्हें इस प्रयोग के बारे में बताया जा रहा है।

बौद्ध भिक्षुओं ने ली मतदाता जागरूकता की शपथ

0

Posted on : 13-04-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, Politics, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(मेरापुर) मतदाता जागरूकता अभियान को लेकर शनिवार को ग्रामीणों के साथ ही बौद्ध भिक्षुओं को वोट देने और दूसरों को मतदान के लिए प्रेरित करने की शपथ दिलाई गई। बड़ी संख्या में बौद्ध भिक्षुओं भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए|
स्वीप कार्यक्रम के तहत मतदाता जागरूकता अभियान की टीम लीडर दीपिका त्रिपाठी के द्वारा मोहम्मदाबाद व मेरापुर आदि जगह टीम के साथ जाकर लोगो को मतदाता जागरूकता के लिए प्रेरित ही नही किया साथी ही साथ उन्हें मतदाता करने और कराने की शपथ भी दिलाई|
इस दौरान संकिसा अशोकाष्टमी में शामिल होने आये बौद्ध भिक्षुओं को भी इसकी शपथ दिलाई गयी| इस दौरान रंजना त्रिपाठी,समीर खान स्वच्छाग्रही व अमरपाल आदि रहे|

सिर्फ मक्खन पर ही नहीं, बल्कि पत्थर पर भी लकीर खींचता हूँ मै:पीएम मोदी

0

मंगलुरु:कर्नाटक की चुनावी रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निशाने पर फिर विपक्षी दल रहे। पीएम मोदी ने कहा कि इस बार का चुनाव कौन सांसद बने, कौन प्रधानमंत्री बने, कौन मंत्री बने या सिर्फ सरकार चुनने का चुनाव नहीं है, बल्कि 21वीं सदी का नया भारत कैसा होगा, ये तय करने का है। कांग्रेस, JDS और उन जैसे अनेक दलों की प्रेरणा परिवारवाद है और हमारी राष्ट्रवाद है। वो अपने परिवार के आखिरी सदस्य तक को सत्ता का लाभ देते हैं। हम समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति को आगे लाने के लिए मेहनत करते हैं।
पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं जब एयरपोर्ट से रैली स्‍थल की ओर आ रहा था, तब मैंने रास्‍ते में देखा कि मानव श्रृंखला नहीं, ‘लोगों की दीवार’ सड़क के दोनों ओर खड़ी थी। तब मैंने सोचा कि जब इतने लोग यहां हैं, तो वहां(रैली स्‍थल) कौन होगा? लेकिन यहां भी जहां तक मेरी नजर जा रही है, लोग नजर आ रहे हैं।’
उन्‍होंने कहा, ‘अभी-अभी हमारे विधानसभा के चुनाव हुए। थोड़ी-सी कमी रह गई। पूरा कर्नाटक बर्बाद हो गया कि नहीं। छोटी-सी गलती ने कितना बड़ा नुकसान कर दिया। क्‍या अब कर्नाटक फिर से ऐसा नुकसान होने देगा? पिछली बार जो कमी रह गई उसका ब्‍याज समेत पूरा करेंगे हम?’मंगलुरु की रैली में कांग्रेस पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने हमारा अंत्योदय एक चायवाले तक को प्रधानमंत्री बना देता है उनका दर्शन वंशोदय है, हमारा दर्शन अंत्योदय है। उनका वंशोदय अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को नजरअंदाज करता है। उनके वंशोदय से भ्रष्टाचार और अन्याय पैदा होता है। हमारे अंत्योदय से पारदर्शिता और ईमानदारी की प्रतिष्ठा बढ़ती है। उन्‍होंने कहा कि ये मोदी है, सिर्फ मक्खन पर ही नहीं, बल्कि पत्थर पर भी लकीर खींचता है।
पीएम मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति भवन में जब चप्पल पहने हुए एक बुजुर्ग को मैं गर्व के साथ पद्म सम्मान ग्रहण करते देखता हूं, तो मेरे मन में यही आता है कि यही मेरा भारत है, अपने सामर्थ्य पर भरोसा करने वाला भारत, अपने संसाधनों पर भरोसा करने वाला भारत।