साक्षी महाराज पर आचार संहिता उलंघन का मुकदमा

0

Posted on : 09-04-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, लोकसभा चुनाव 2019

उन्नाव:नामांकन के दौरान ताकत दिखाने के चक्कर में भाजपा प्रत्याशी एवं सांसद साक्षी महाराज आचार संहिता के उल्लंघन में फंस गए। नामांकन जुलूस में अनुमति से कहीं अधिक वाहनों के शामिल होने पर उनके खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन की रिपोर्ट दर्ज की गई है।
शनिवार को सादगी के साथ एक सेट पर्चा भरने वाले सांसद साक्षी महाराज ने सोमवार को नामांकन जुलूस के साथ दूसरा सेट दाखिल किया था। जुलूस के लिए केवल 13 वाहनों की अनुमति दी गई थी लेकिन, जब वह निकले तो वाहनों का लंबा काफिला था। जुलूस में सौ से अधिक वाहन शामिल हुए। गदनखेड़ा चौराहे के पास पुलिस ने उनके काफिले को रोक लिया। ललऊखेड़ा चौकी प्रभारी जितेंद्र कुमार ने साक्षी से अनुमति दिखाने के लिए कहा तो वह महज 13 वाहनों की अनुमति दिखा सके।
चौकी प्रभारी ने इसकी जानकारी अधिकारियों को दी, जिसके बाद वीडियो रिकार्डिंग व्यूवर टीम को आचार संहिता उल्लंघन की तस्दीक करने को कहा गया। सुबह से शाम तक पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों में मंथन चलता रहा। वीडियो रिकार्डिंग व्यूवर टीम ने देर रात आचार संहिता उल्लंघन की पुष्टि की। इसके बाद ललऊखेड़ा चौकी प्रभारी ने आचार संहिता के उल्लंघन की एनसीआर सदर कोतवाली में दर्ज कराई।

भाजपा के काफिले पर नक्‍सली हमला, विधायक की मौत, चार जवान शहीद

0

Posted on : 09-04-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय, सामाजिक

दंतेवाड़ा:छत्तीसगढ़ के अतिसंवेदनशील नक्सल प्रभावित जिले दंतेवाड़ा में मंगलवार की शाम नक्सलियों ने एक बड़ी घटना को अंजाम दिया। नक्सलियों द्वारा लगाए गए आईईडी की चपेट में आने से हमले में भाजपा विधायक भीमा मंडावी की मौत हो गई। उनके साथ ही घटना में सुरक्षा में तैनात चार जवान भी शहीद हो गए। इस घटना के बाद छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल ने हाइ लेवल मीटिंग बुलाई है। पीएम मोदी ने हमले की निंदा की है। उन्‍होंने कहा कि भीमा मांडवी भारतीय जनता पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता थे। मेरी संवेदनाएं विधायक के परिवार के साथ है।स्थानीय सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भीमा मंडावी कुआकोण्डा ब्लॉक के श्यामगिरी गांव में चुनावी सभा को संबोधित करने के बाद वापस नकुलनार लौट रहे थे, तभी सड़क पर नक्सलियों द्वारा लगाए गए लैंडमाइन्‍स (आइडी) के ऊपर से उनका बुलेट प्रूफ वाहन गुजरा और विस्‍फोट हो गया।
विस्‍फोट में वाहन पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। घटना मंगलवार शाम करीब चार बजे की बताई जा रही है। इस हमले में विधायक भीमा मंडावी की मौके पर ही मौत हो गई।वाहन में विधायक की सुरक्षा में तैनात चार जवान भी सवार थे, जो इस घटना में शहीद हो गए। श्यामगिरी में आज वार्षिक मड़ई मेले का भी आयोजन किया गया था। इसी मेले के दौरान आयोजित जनसभा को संबोधित करने वे जिला मुख्यालय से करीब 70 किलोमीटर दूर स्थित इस गांव में गए थे। बता दें कि पांच साल पहले ठीक इसी जगह पर नक्सलियों ने हमला किया था, जिसमें एक जवान शहीद हुआ था।
भीमा मंडावी साल 2008 में दंतेवाड़ा सीट से पहली बार विधायक बने थे। साल 2013 के चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा के हाथों हार हुई थी। साल 2018 में वे वापस चुनाव जीतकर आए और बस्तर संभाग से भाजपा के इकलौते विधायक थे। विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष भी और भाजपा के आदिवासी युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी थे।
कौन थे भीमा मंडावी
भीमा मंडावी विधानसभा में भाजपा विधायक दल के उपनेता हैं। मंडावी दूसरी बार विधायक चुने गए हैं। दंतेवाड़ा जिले के गदापाल निवासी मंडावी 2008 में विधायक चुने गए थे। 2013 का विधानसभा चुनाव वे देवती कर्मा से हार गए थे, लेकिन 2018 में पार्टी ने फिर से उन्हें टिकट दिया।इस बार उन्होंने देवती कर्मा को 2071 वोटों से मात दी थी। भीमा को कुल 37 हजार 744 वोट मिले थे, जबकि देवती को 35 हजार 673 वोट। 2002 में स्नातक की डिग्री हासिल करने वाले भीमा पेशे से किसान थे। भीमा के परिवार में माता- पिता और पत्नी ओजस्वी मंडावी के अलावा एक पुत्र खिलेंद्र मंडावी है।
भीमा मंडावी की हत्या के बाद भाजपा ने आपात बैठक बुलाई है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह भाजपा ने नेताओं को भी राजधानी तलब किया है। विधायक भीमा मंडावी की हत्या के बाद केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुब्रत साहू से रिपोर्ट मांगी है। रिपोर्ट चुनाव तैयारी और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर मांगी गई है। 11 अप्रैल को राज्य में प्रथम चरण के तहत बस्तर में मतदान होने वाला है।
इससे ठीक दो दिन पहले इस बड़ी घटना को नक्सलियों ने अंजाम दे दिया। बावजूद इसके तय तिथि को ही बस्तर में मतदान होंगे। निर्वाचन आयोग ने स्पष्ट किया है कि बस्तर में नक्सल हिंसा के बीच लोकतंत्र नहीं झुकेगा और तय तिथि को ही यहां मतदान कराया जाएगा।
यहां सुरक्षा व्यवस्था की फिर से समीक्षा होगी। शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न् कराने के लिए बस्तर में अतिरिक्त सुरक्षा बल भी भेजा सकता है। भीमा मंडावी की मौत के बाद पीएमओ और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के कार्यालय से भी रिपोर्ट तलब की गई है।

सभी स्कूल सफ़ेद होने चाहिए- जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी रामसिंह

0

Posted on : 09-04-2019 | By : पंकज दीक्षित | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: सत्ता बदलने के साथ ही सरकारी संस्थानों में कई बार रंग बदल दिए जाए है| सरकारी कर्मचारी और अधिकारी कई बार सत्ता को खुद के करीब दिखाने के लिए ये कदम उठा बैठते है| उत्तर प्रदेश में परिवहन निगम इसका जीता जागता नमूना है| अगर कोई प्रदेश के बाहर से उत्तर प्रदेश में घूमने आये और उसे प्रदेश में किस पार्टी की सत्ता चल रही है ये जानना है तो उसे परिवहन निगम की बसों का रंग देख लेना चाहिए|

समाजवादी पार्टी की सत्ता आते ही बसों का रंग लाल सफ़ेद किया गया, बसपा की सरकार आने पर उन्हें नीला सफ़ेद पोता गया| स्लोगन बदल गए| लोहिया से बहुजन हिताय हो गया| कमाल की रंगत है चाटुकारों की| सरकारों के बदलने के साथ व्यवस्था में सुधर आय न आय रंग बदल जाना चाहिए| जबसे से सूबे में भाजपा की सरकार आई है तमाम स्कूल और थानों की दीवारे तक भगवा रंग में पोती गयी मगर इन रंगों में राजनैतिक झंडे का रूप दिखता हो ऐसा भी नहीं है| फिर भी भगवा रंग में रंगी स्कूल की दीवारों को सफ़ेद पोतने का आदेश किया गया है| इस मामले में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी रामसिंह का रुख भी साफ़ है| उन्होंने जेएनआई को बताया कि उनकी इच्छा चले तो सभी सफ़ेद करा दे| इसके पीछे वे तर्क भी देते है कि सफ़ेद रंग सरस्वती का रंग है और वो ज्ञान/विद्या की माता है| मगर ये सम्भव नहीं है और भगवा रंग को सफ़ेद में बदलने के लिए बजट भी नहीं है| इसलिए चुनाव चिन्ह प्रतीकों को स्कूलों में हटवा या ढकवा किया गया है| रातो रात भगवा रंग को सफ़ेद करना सम्भव नहीं है|

नगर शिक्षा अधिकारी का आदेश- भगवा रंग में रंगे स्कूलों को तत्काल सफ़ेद करे

0

Posted on : 09-04-2019 | By : पंकज दीक्षित | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: चुनाव आचार संहिता का अनुपालन कराने के क्रम में नगर शिक्षा अधिकारी संजय शुक्ला ने भगवा रंग में रंगे बेसिक शिक्षा परिषद् के स्कूलों को आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए उन्हें सफ़ेद रंग में पोतने का आदेश किया है| हालाँकि फगवा रंग किस प्रकार से आचार संहिता का उल्लंघन कर रहा है इसे समझाने में वे नकामयाब है| वहीँ भाजपा के मंत्री ने आरोप लगाया है कि संजय शुक्ला भाजपा विरोधी है जो विपक्षियो के लिए काम कर रहे है|

जनपद फैजाबाद के मौलिक अधिकार पार्टी की प्रत्याशी कंचन यादव ने निर्वाचन आयोग नई दिल्ली को एक शिकायत प्रेषित की जिसमे 13 बिन्दुओ लिखकर विभिन्न प्रकार के आचार संहिता उल्लंघन के मामले दर्शाते हुए उन्हें हटाने या मिटाने की मांग की| उस पत्र में 1 से 3 बिन्दुओ के मामले बेसिक शिक्षा विभाग से सम्बन्धित है| इसमें उन्होंने स्कूलों में राजनैतिक पार्टियों के रंगों में रंगे भवन उनमे बच्चो को पढ़ाने के लिए अंकित प्रतीक चिन्ह भी अगर चुनाव चिन्ह से मेल खाते है तो उन्हें हटवा दिया जाए| अगर किसी दिवार पर हाथी या कमल बाना है टो उसे भी हटाया जाए| इसी पत्र का सन्दर्भ लेते हुए जिला निर्वाचन कण्ट्रोल रूम एवं शिकायत प्रभारी ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को परिषदीय स्कूलों में आचार संहिता का अनुपालन कराने के लिए निर्देशित किया| जिसके सापेक्ष जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी में खंड शिक्षा अधिकारियो को निर्देशित करते हुए पत्र लिख दिया| अब जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के आदेश का अनुपालन कराने के लिए नगर शिक्षा अधिकारी ने एक कदम आगे बढ़ाते हुए रातो रात भगवा स्कूलों को सफ़ेद पोतने के आदेश कर दिए| जेएनआई द्वारा ये पूछे जाने पर कि भगवा रंग किस पार्टी या पार्टी से सम्बन्धित झंडे का है तो वे सिरे से नकार गए कि उन्होंने कोई आदेश ही नहीं किया|

कार में हूटर बजाकर जा रहे भाजपा नेता पर मुकदमा

0

Posted on : 09-04-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, लोकसभा चुनाव 2019

फर्रुखाबाद: लोकसभा चुनाव को लेकर उडन दस्ते ने हूटर लगाकर बजाकर निकल रही भाजपा नेता की गाड़ी को पकड़ लिया| उसके खिलाफ आचार संहिता उलंघन का मुकदमा दर्ज किया गया है|
फतेहगढ़ पशु चिकित्साधिकारी डॉ0 देवेन्द्र कुमार ने देवरामपुर क्रासिंग में उडन दस्ते की टीम के साथ वाहन चेकिंग कर रहे थे| उसी दौरान उन्होंने बुलेरो कार को हूटर बजाते हुए रोंक लिया| जिसमे उन्होंने गाड़ी चला रहे हरनाम सिंह पुत्र नानक चन्द्र को भी हिरासत में ले किया और कोतवाली ले आये| 
मामले की सूचना मिलने पर भाजपा प्रत्याशी व सांसद मुकेश राजपूत के प्रतिनिधि अनूप मिश्रा कोतवाली आ गये| उनकी उड़न दस्ता प्रभारी डॉ0 देवेन्द्र कुमार से तीखी नोकझोंक हो गयी| बाद में टीम प्रभारी ने गाड़ी सीज ना करके हूटर सीज कर पुलिस को आचार संहिता उलंघन की तहरीर दी| पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया|