नंदी सेना प्रमुख को महिलाओं ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, वीडियो वायरल

0

Posted on : 30-04-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:  शराब ठेके पर विवाद होने पर नंदी संकल्प सेना प्रमुख को आक्रोशित महिलाओं नें दौड़ाकर पीट दिया|लेंकिन नंदी सेना प्रमुख ने महिलाओं के द्वारा मारपीट करने की बात को गलत बताया|  घटना के बाद पुलिस मौके पर पंहुची जाँच पड़ताल कर रही है|
मिली जानकारी के मुताबिक नंदी संकल्प सेना प्रमुख विक्रांत अवस्थी अपने दो साथियों के साथ शहर कोतवाली क्षेत्र के पराग दूध डेयरी के निकट भोलेपुर निवासी मनोज शुक्ला की बियर की दूकान पर बियर पीने गए थे|
 ठेके पर सेल्समैंन प्रदीप कुमार की जगह उसका भाई मोनू बैठा था| बियर की दुकान से विक्रांत और उनके साथियों ने बियर खरीदी और पीने के लिए गिलास माँगा लेकिन मोनू ने गिलास नही दिया| गिलास ना देनें पर विक्रांत व उसके साथी भडक गये| उन्होंने मोनू के साथ मारपीट कर दी| जिससे मोनू की आँख में गम्भीर रूप से चोट लगी| मोनू ने अपने घर पर फोन किया| सूचना मिलने पर मोनू के परिजन और दर्जनों महिलायें मौके पर आ गयी| उन्होंने विक्रांत को दौड़ाकर पीट दिया| घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर आ गयी| पुलिस ने जाँच पड़ताल की|
विक्रांत अवस्थी ने बताया कि उनके साथ महिलाओं ने मारपीट नही की| ना ही उनके साथ कोई साथी था| वह अकेले ही दुकान पर गये थे जंहा विवाद हो गया|प्रभारी निरीक्षक रवि श्रीवास्तव ने बताया दोनों तरफ से तहरीर मिल गयी है| जाँच के बाद कार्यवाही की जायेगी|

सास से विवाद में महिला ने पुल से लगायी छलांग

0

Posted on : 30-04-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(राजेपुर)महिला का ससुराल में सास से विवाद होनें से रामगंगा के पुल से कूद गयी| जिसके बाद उसे गम्भीर हालत में सीएचसी में भर्ती कराया| पुलिस जाँच कर रही है|
थाना क्षेत्र के कस्बा निवासी 30 वर्षीय महिला नीतू पत्नी पुष्पेन्द्र का ससुराल में सास से विवाद हो गया| मंगलवार को शाम लगभग 4 बजे सास से विवाद होनें पर नीतू इटावा-बरेली हाई-वे पर पंहुची और रामगंगा के पुल से छलांग लगा दी|
घटना की जानकारी मिलने पर थाना पुलिस मौके पर पंहुची और जाँच पड़ताल की| वही थानाध्यक्ष अल्लागंज दरोगा  शिव कुमार त्रिवेदी भी आ गये| घटना स्थल अल्लागंज का होने पर अल्लागंज पुलिस ने महिला को सीएचसी में भर्ती कराया|

दुष्कर्म मामले में आसाराम के बेटे नारायण साईं को उम्र कैद, एक लाख का जुर्माना

0

Posted on : 30-04-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

सूरत:गुजरात के सूरत स्थित आश्रम में दो बहनों से दुष्कर्म के मामले में निचली अदालत ने मंगलवार को आसाराम के बेटे नारायण साईं को उम्रकैद की सजा सुनाई है। साथ ही, एक लाख रुपये का जुर्माना भी किया है। नारायण के चार साथियों को भी सजा सुनाई गई है।मामला 11 साल पुराना है। शुक्रवार को ही अदालत ने नारायण साईं को दोषी करार दिया था। सूरत सत्र अदालत ने आसाराम के बेटे नारायण को 2013 के दुष्कर्म मामले में दोषी करार दिया था। 2013 से ही लाजपोर जेल में बंद 47 वर्षीय नारायण के अलावा दो महिलाओं सहित उसके चार सहयोगियों को विभिन्न अपराधों के लिए दोषी ठहराया गया था। नारायण को आइपीसी की धारा 376 (दुष्कर्म), 377 (अप्राकृतिक अपराध), 323 (हमला), 506-2 (आपराधिक भय) और 120-बी (साजिश) के तहत दोषी करार दिया गया था।
साईं की सहयोगी धर्मिष्ठा उर्फ गंगा, भावना उर्फ जमुना और पवन उर्फ हनुमान को साजिश का हिस्सेदार होने का दोषी पाया गया है। नारायण साईं के ड्राइवर राजकुमार उर्फ रमेश मल्होत्रा को आइपीसी की धारा 212 (अपराध रचने) का दोषी ठहराया गया है। साधिका कही जाने वाली गंगा और जमुना को पीड़िता को गैरकानूनी रूप से बंधक बनाने और साई के कहने पर पिटाई करने का दोषी पाया गया है। दोनों पर पीड़िता को साई के साथ संबंध बनाने के लिए ब्रेनवाश करने का भी आरोप है।
सूरत पुलिस ने 2014 में साई के खिलाफ 1100 पृष्ठों का आरोपपत्र दायर किया था। 2013 में राजस्थान में एक लड़की के साथ दुष्कर्म के आरोप में आसाराम की गिरफ्तारी के बाद सूरत की निवासी दो बहनों ने आसाराम और उसके बेटे पर यौन शोषण का आरोप लगाया था। बड़ी बहन ने आसाराम पर 1997 से 2006 के बीच यौन हमला करने का आरोप लगाया। उस दौरान वह अहमदाबाद में आसाराम के आश्रम में रहती थी। छोटी बहन ने साईं पर 2002 से 2005 के बीच यौन हमले करने का आरोप लगाया। उस दौरान वह आसाराम के सूरत के जहांगीरपुरा क्षेत्र में स्थित आश्रम में रहती थी।
रिश्वत देने की कोशिश का हुआ था पर्दाफाशसाईं के जेल में रहने के दौरान सूरत पुलिस ने पुलिस अधिकारियों, डॉक्टरों और यहां तक कि न्यायिक अधिकारियों को रिश्वत देने की साजिश का पर्दाफाश करने का दावा किया था। उसने अपने खिलाफ मामला कमजोर करने की साजिश रची थी।
जोधपुर दुष्कर्म मामले में आसाराम को हो चुकी है सजा
आसाराम को जोधपुर की अदालत दुष्कर्म के मामले में दोषी ठहरा चुकी है। सूरत की महिला की ओर से दर्ज कराए गए मामले की सुनवाई गांधीनगर कोर्ट में चली।
तीन गवाह मारे गए
आसाराम और उसके बेटे की गिरफ्तारी के बाद महत्वपूर्ण गवाहों पर हमले शुरू हो गए। करीबी सहयोगी रह चुके तीन गवाहों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी । राजकोट के आयुर्वेदिक डॉक्टर अमृत प्रजापति को उनकी क्लीनिक के बाहर गोली मारी गई। आसाराम का सहयोगी एक रसोइये अखिल गुप्ता की उनके गृह नगर मुजफ्फरनगर में गोली मारकर हत्या की गई। जोधपुर दुष्कर्म मामले के गवाह कृपाल सिंह की उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में गोली मारकर हत्या की गई। नारायण की पत्नी ने भी लगाए थे आरोप
नारायण साईं की पत्नी जानकी ने भी अपने पति और ससुर आसाराम पर प्रताड़ना के आरोप लगाए थे। उन्होंने इंदौर के खजराना पुलिस थाने में 19 सितंबर, 2015 को शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें कहा था कि 22 मई 1997 को उसकी शादी नारायण हरपलानी (नारायण साईं का असली नाम) से हुई थी। इसके बाद नारायण ने उसके सामने ही कई महिलाओं से नाजायज संबंध कायम किए, जिससे उसे मानसिक प्रताड़ना सहना पड़ी। साथ ही, उसे पत्नी मानने से भी इंकार कर दिया था।
नाबालिग से दुष्कर्म के केस में आसाराम को 2013 में इंदौर के आश्रम से गिरफ्तार किया गया था। जानकी ने आरोप लगाया था कि मेरे पति ने हमेशा धर्म के नाम पर ढोंग किया है। नारायण ने अपने आश्रम की एक साधिका से अवैध संबंध बनाए, जब यह साधिका गर्भवती हो गई तो उसने मुझसे कहा कि वह दूसरी शादी करना चाहता है। जानकी ने आरोप लगाया था कि नारायण साईं ने उससे तलाक लिए बगैर ही उस साधिका से राजस्थान में शादी कर ली और उस महिला से नारायण की एक संतान भी है।

युवक का शव आते ही मचा कोहराम

0

Posted on : 30-04-2019 | By : JNI-Desk | In : ACCIDENT, CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(अमृतपुर) बीते लगभग चार दिन पूर्व मार्ग दुर्घटना में जख्मी युवक की तीन दिन बाद उपचार के दौरान मौत हो गयी| उसका शव आते ही कोहराम मच गया|
थाना क्षेत्र के ग्राम कोलासोता हरपालपुर निवासी 25 वर्षीय जयपाल पुत्र जितेन्द्र अपनी दुकान राजपुर से बीते 27 अप्रैल को बाइक से घर आ रहा था| तभी पीछे से किसी अज्ञात वाहन ने उसको जोरदार टक्कर मार दी| जिससे वह गम्भीर रूप से जख्मी हो गया था| परिजन उसे इलाज के लिए दिल्ली ले गये|
दिल्ली में उपचार के दौरान रविवार की रात मौत हो गयी| उसका शव सोमबार देर रात घर आते ही कोहराम मच गया| मृतक की पत्नी संध्या का रो-रो कर बुरा हाल हो गया| जयपाल अपने पीछे 5 वर्षीय पुत्र मयंक,2 वर्षीय पुत्र अनिकेत है| विवाह को अभी 6 वर्ष का समय ही हुआ है| परिजनों ने मामले की सूचना पुलिस को दी|

 

वोटिंग में सदर विधान सभा फिसड्डी,कायमगंज अब्बल

0

फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)जिला प्रशासन के लाख प्रयास के बाद भी लोकसभा चुनाव में मतदान प्रतिशत 2014 की तुलना में कम हुआ| इसके साथ ही लोकसभा की पांचो विधानसभाओं में मतदान का प्रतिशत कम रहा|
192 कायमगंज विधान सभा में कुल 389211 मतों में से 234266 लोगों ने मतदान किया| जिससे कायमगंज विधानसभा मतदान करने के मामले में नम्बर बन रही| कायमगंज में कुल 60.19 प्रतिशत मत पड़े|
वही 193 अमृतपुर विधानसभा में कुल 305828 मत है| जिसमे से 181085 लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया| अमृतपुर में 59.21 प्रतिशत वोट पड़े| 194 सदर विधानसभा में कुल 365204 मत है|जिसमे से केबल 201832 लोगों ने मतदान किया| यंहा 55.27 प्रतिशत मतदान हुआ| 195 भोजपुर विधानसभा में 312199 मत है| जिसमे से 185566 लोगों ने मतदान किया| कुल 59.44 प्रतिशत वोट पड़े|
जनपद एटा की 103 अलीगंज विधानसभा में कुल 331484 मतदाता है| जिसमे से 197254 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया| यंहा कुल 59.51 प्रतिशत मतदान हुआ| कुल मिलकर पांचो विधान सभाओं में 1703926 मतों में से 1000003 लोगों ने अपने वोट डाले| मंगलवार को जिला निर्वाचन अधिकारी मोनिका रानी और प्रेक्षक ने सातनपुर गल्ला मंडी में प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर चुनाव में हुए मतदान की समीक्षा की|