राम गोपाल का पुलवामा हमले पर विवादित बयान, बोले-वोट के लिए जवान मार दिए गए

0

लखनऊ/ इटावा:जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले पर अब समाजवादी पार्टी के प्रमुख महासचिव राम गोपाल यादव ने विवादित बयान दिया है। सपा के वरिष्ठ नेता ने पुलवामा आतंकी हमले को सजिश करार देते हुए कहा कि वोट के लिए जवान मार दिए गए।
सैफई में होली मिलन समारोह के दौरान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की उपस्थिति में राम गोपाल ने कहा- ‘पैरामिलिट्री फोर्सेज सरकार से दुखी है। वोट के लिए जवान मार दिए गए। जम्मू-श्रीनगर के बीच में चेकिंग नहीं थी। साधारण बसों से जवानों को भेज दिया गया। यह साजिश थी। इस पर अभी नहीं कहना चाहता, जब सरकार बदलेगी तो इसकी जांच होगी और बड़े-बड़े लोग फंसेंगे।’
सरकार बदलेगी तब होगी मामले की जांच
इटावा के सैफई में होली पर आयोजित समारोह में समाजवादी पार्टी के प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव ने कहा कि मैनपुरी संसदीय सीट से नेता जी मुलायम सिंह यादव चुनाव लड़ रहे हैं लेकिन उनकी जानकारी में आया है, जहां पर सपा समर्थको की तादात है वहां वहां पर पैरामिलेट्री फोर्स की तैनाती की जा रही है लेकिन पैरामिलेट्री के अफसर बहुत ही दुखी हैं। प्रो. रामगोपाल ने 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर में पुलवामा हमले का जिक्र करते हुए कहा कि जम्मू-श्रीनगर के बीच चेकिंग नहीं की थी, जवानों को सादी बस में भेजा गया, ये साजिश थी। उन्होंने कहा कि इस साजिश के बारे में अभी कुछ नहीं कहना चाहता हूं लेकिन जब सरकार बदलेगी तब इस मामले की जांच होगी और बड़े-बड़े लोग फंसेंगे।
देश को बचाने के लिए सपा बसपा ने किया मेल
सपा के प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि देश की सरकार को दिल्ली से उतारने का काम यूपी करने जा रहा है। चंद लोगों को खुश करने की कोशिश है, नोटबंदी ने एक साथ पांच करोड़ लोगों को बेराजगार कर दिया है। देश को बचाने के लिए सपा बसपा ने मेल किया है। भाजपा देश में तानाशाही लाने के काम करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने पुरानी बातों का जिक्र करते हुए कहा कि तब सपा-बसपा ने एक होकर सरकार बनाई थी तब समाजवादी पार्टी का जनमत इतना नहीं था लेकिन आज ताकत बहुत अधिक हो चुकी है।
सबसे अधिक वोटों से जीतें नेताजी यही चाहत
प्रोफेसर रामगोपाल ने कहा कि देश में नेताजी (मुलायम सिंह यादव) की सबसे अधिक वोटों से जीत हो यही चाहत है। नेताजी के नाम की घोषणा के बाद मैनपुरी में उनका पुतला जलाया गया लेकिन किसी नेता ने निंदा भी नहीं की। इस बात का अफसोस है लेकिन यह कहने में कोई संकोच नही कि नेताजी के चुनाव के बाद वह लोग राजनीति करने लायक नही रहेेंगे। नेताजी तो मैनपुरी में सिर्फ नामांकन करने आएंगे और उनका चुनाव तो मैनपुरी वाले लड़ेंगे।
चुनाव के बीच सपा के वरिष्ठ नेता के ऐसे बयान से राजनीतिक गलियारे में हलचल पैदा कर दी है। राम गोपाल यादव सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के काफी करीबी माने जाते हैं। वह सपा के रणनीतिकार भी कहे जाते हैं। यह बयान पार्टी के लिए चुनाव से पहले मुसीबत खड़ी कर सकता है।जनता से माफी मांगें राम गोपाल : योगी
सपा नेता राम गोपाल यादव के बयान पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह बयान घटिया राजनीति का भद्दा उदाहरण है। उन्हें सीआरपीएफ के जवानों की शहादत पर प्रश्न खड़ा करने और देश के जवानों का मनोबल तोड़ने वाले इस बयान के लिए जनता से माफा मांगनी चाहिए।इससे पहले कांग्रेस नेता बीके हरिप्रसाद ने भी पुलवामा पर विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था, ‘यदि पुलवामा हमले के बाद के घटनाक्रम पर नजर डालेंगे तो पता चलता है कि पीएम नरेंद्र मोदी और इमरान खान के बीच मैच फिक्सिंग थी।’ इस पर भाजपा ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा था कि यह सब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इशारे पर हो रहा है।
गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवान शहीद हो गए थे। पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर अपनी विस्फोटकों से लदी एसयूवी सीआरपीएफ की बस से टकरा दी और उसमें विस्फोट कर दिया था। इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।

भाजपा विधायक को होली के दौरान मारी गई गोली, जख्मी

0

Posted on : 21-03-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, Politics, Politics-BJP, सामाजिक
लखीमपुर खीरी:लखीमपुर सदर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक योगेश वर्मा को होली के दौरान गोली मार दी गई। गोली उनके पैर में लगी है। इसके बाद उन्हें एक निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है। अभी वह खतरे से बाहर हैं।
बताया जा रहा है कि करीब तीन बजे विधायक रंग खेल कर लौट रहे थे। तभी लखीमपुर कोतवाली के गुरुनानक डिग्री कालेज के पास कार से आये हमलावरों ने पहले विधायक से होली मिली और फिर हमला कर दिया। हमलावर कार से भागने में सफल हो गए। हमलावर खनन माफिया बताये जाते हैं। डीएम और एसपी ने अस्पताल पहुंचकर विधायक का हालचाल लिया है।
विधायक के गनर को सस्पेंड कर दिया गया है। लखीमपुर की एसपी पूनम ने बताया कि अभी तक किसी पिंकी सक्सेना नाम के युवक का नाम सामने आया है, जिसकी तलाश में टीमों को रवाना कर दिया गया है। मामला दर्ज किया गया है, जांच चल रही है। लखीमपुर के जिलाधिकारी एस सिंह ने बताया कि विधायक योगेश वर्मा से कुछ लोगों से मुलाकात के दौरान उनकी बहस हो गई। उन्हीं लोगों में से एक ने उन्हें गोली मार दी। अस्पताल में भर्ती विधायक अभी सदमे में हैं। उनके ठीक होने पर बयान लिया जाएगा।
वर्ष 2017 में भी सदर विधायक योगेश वर्मा व उनके प्रतिनिधि पर खनन माफिया ने फायरिंग कर दी थी, जिसमें वह बाल-बाल बचे थे। विधायक का कहना था कि अवैध खनन के विरोध के कारण हमला करवाया गया था। इस मामले की मुकदमा भी दर्ज करवाया गया था।

रंग लगाने से मना करने में खूनी संघर्ष,तमंचे लहराये

0

Posted on : 21-03-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(राजेपुर)होली के त्यौहार पर दो पक्षों में हुए विवाद के बाद जमकर मारपीट के दौरान लाठी-डंडे चले| इस दौरान तमंचे भी लहराये गये|जिससे महिला सहित तीन गम्भीर रूप से जख्मी हो गये| उन्हें सीएचसी भेजा गया| महिला ने चेन लुटने का भी आरोप लगाया है|पुलिस जाँच पड़ताल कर रही है|
थाना क्षेत्र के ग्राम बदनपुर निवासी रणवीर का पुत्र अनुज व मनोज कुमार का पुत्र होली खेल रहे थे| उसी दौरान अनुज ने मनोज के पुत्र पर रंग डाल दिया|जिसके बाद दोनों में जमकर झगड़ा हो गया| रणवीर का कहना है कि जब वह इसकी शिकायत करने के लिए मनोज के घर गया तो उनके घर वाले हमलावर हो गये| उन्होंने लाठी-डंडो से जमकर पीट दिया|रणवीर उनकी पत्नी सुधा कृष्ण मुरारी घायल हो गये|
वही दूसरे मनोज पक्ष का कहना है कि आरोपियों ने मारपीट कर मनोज की माँ मुन्नी देवी की चेन लूट ली| दोनों पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले|इस दौरान तमंचे भी लहराये गये|घटना में रणवीर,सुधा,कृष्णमुरारी,मुन्नी देवी,लल्ला व उसकी पत्नी विमलेश घायल हो गये| घटना की सूचना पर प्रभारी निरीक्षक राकेश कुमार फ़ोर्स के साथ मौके पर आ गये|उन्होंने घायलों को सीएचसी में भर्ती कराया|
प्रभारी निरीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि तमंचा लहराने का मामला झूठा है|केबल झगड़ा हुआ है| जांच की जा रही है|

धूमधाम और उल्लास के साथ मनाया होली का पर्व

0

Posted on : 21-03-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, धार्मिक, सामाजिक
""

फर्रुखाबाद:रंगों का त्योहार होली जिले भर में परंपरागत तरीके से हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में रंग बरसै भीगे चुनर वाली रंग बरसै, होली के दिन दिल मिल जाते हैं|

शहर में होलिका दहन के साथ ही होली गीतों की धूम रही। इसके साथ शुरू होली गीतों का कार्यक्रम अपरान्ह 2 बजे तक चला। रंग का दौर थमने के बाद लोगों का एक दूसरे घरों आकर गले मिलने के सिलसिला शुरू हुआ, जो देर शाम तक चलता रहा। घरों में होली का मुख्य पकवान गुझिया के साथ तरह-तरह के व्यंजन  पकाए गए। इन्हीं व्यंजनों से आगंतुकों का स्वागत किया गया।
होली का पर्व उत्साह, उल्लास और उमंग के लिए जाना जाता है। इस बार होली में इन तीनों का ही अभाव दिखाई दिया। होली तो मनी लेकिन रश्मअदायगी को। महंगाई का दंश और समाज के मौजूदा हालात को देखते हुए ज्यादातर लोगों ने परिवार के साथ ही त्योहार का लुत्फ उठाना मुनासिब समझा। शायद यही वजह रही कि न सड़कें लाल हो सकीं और न ही राह चलते लोगोें पर छतों से रंगों की बरसात हुई।
शहर से लेकर गांवों तक होली का यही हाल रहा जबकि महज दशक भर पहले तक होली की रंगत इतनी चटख होती थी कि हफ्तों राह चलते लोगों के होली बीतने का अहसास कराती थी। अब यह बात नहीं रही है। गुरुवार होलिका दहन के बाद उड़ने वाली अबीर और गुलाल में कमी दिखाई दी। सड़कों पर रंग तो चला लेकिन एक दायरे तक। पिचकारी लिए बच्चे ही सड़कों में होली के रंग भरते नजर आए। छतों से बरसने वाला रंग भी इस बार देखने को कई मोहल्लों का भ्रमण करना पड़ा।