Featured Posts

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

माटी के चूल्हों से रामनगरिया में रोजगार तलाश रही इंद्रामाटी के चूल्हों से रामनगरिया में रोजगार तलाश रही इंद्रा फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)चूल्हे की रोटी का स्वाद जिसने चख रखा हो, उसे मिट्टी की हांडी का बदल अच्छा नहीं लगता। मुझे बैलगाड़ी में बैठाकर गांव ले चलिए, घुटन होती है कारों में महल अच्छा नहीं लगता। यह कुछ लाइनें नाम चीन शायर अशोक साहिल की है| यह वेदना उस धुन की पक्की महिला को देखकर...

Read more

गठबंधन के पास PM के कई प्रत्याशी,भाजपा के पास नया नहीं:अखिलेश

0

Posted on : 21-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, धार्मिक, सामाजिक

लखनऊ:समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष तथा उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश सरकार से विचित्र मांग की है। प्रदेश में साधु-संतों को पेंशन देने की खबरों के बीच अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ सरकार से हर जगह पर रामलीला में काम करने वाले सभी कलाकारों को भी पेंशन देने की मांग कर दी है। इसके साथ ही गठबंधन के प्रधानमंत्री प्रत्याशी के बारे में कहा कि हमारे पास तो कई हैं, लेकिन भाजपा के पास कोई नया नाम नहीं है।
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष ने आज लखनऊ में पार्टी की छात्र इकाई के पदाधिकारियों से भेंट करने के बाद मीडिया को संबोधित किया। अखिलेश यादव आज लखनऊ में विभिन्न डिग्री कालेज में समाजवादी छात्रसभा के विजेता पदाधिकारियों से मिले और उनको शुभकामना दी। उन्होंने सपा-बसपा गठबंधन के नेता के बारे में कहा कि हमारे पास तो प्रधानमंत्री के कई दावेदार हैं, लेकिन भाजपा के पास कोई नया नाम नहीं है। गठबंधन तो अपना प्रधानमंत्री आसीन करने की तैयारी में लगा है।
महागठबंधन के नेतृत्व के बारे में उन्होंने कहा कि हमारे पास बहुत विकल्प हैं। हमारे देश में नेतृत्व जनता खुद तय कर लेती है। आने वाले समय में जल्दी ही महागठबंधन का नेता तय होगा। देश नया प्रधानमंत्री का बेसब्री से इंतजार कर रहा है। हम लोग भाजपा की सरकार को गिराने में लगे हैं और अपने प्रयास में सफल भी होंगे। अखिलेश यादव ने पत्रकार वार्ता में सपा बसपा गठबंधन की सीटों का विस्तृत ब्यौरा जारी करने की बात कही। रालोद व निषाद पार्टी को सीट देने के सवाल पर मौन रहे।
अखिलेश यादव ने कहा कि कहा जा रहा है कि दुनिया में भारत का डंका बज रहा है। इतना बड़ा झूठ बोलने में भी भाजपा को शर्म नहीं आ रही है। दुनिया में सबसे ज्यादा बेरोजगार भारत में ही रहते हैं। इसका भी डंका बज रहा है। हेल्थ इंडीकेटर्स पर जाएं और बीमारियों पर चर्चा करें तो कई स्टडी बताती हैं कि दुनिया में सबसे ज्यादा बीमारी भारत में फैल रही हैं। इसका भी डंका बज रहा है। कई रिपोर्ट बता रही हैं कि सबसे ज्यादा कैंसर पीडि़त भारत में ही है। इसके बाद आने वाले समय में सबसे ज्यादा कैंसर का खतरा भारतीयों को ही है।अखिलेश यादव ने कहा कि शिक्षा में क्या हाल है, तो डंका कैसे बज रहा है। दुनिया में कहीं भी भीड़ आदमी को मार रही हो। इसका भी तो डंका बज रहा होगा। दुनिया में सबसे ज्यादा झूठ भारतीय जनता पार्टी ने बोला है। उनकी राजनीतिक भाषा, व्यवहार जनता ने देख लिया है। अब उन्हें जनता बताएगी। अखिलेश यादव ने कहा कि कोई राजनीतिक दल यह ट्रेनिंग नहीं देता होगा कि क्या भाषा होगी। भाजपा के लोग जो भारतीय संस्कृति की दुहाई देते हैं, सोचिए उनकी भाषा क्या है। यह तो कहिए आज जमाना डिजिटल है। राजनीति में ऐसी भाषा का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए। भाजपा की विधायक ने जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है, वह राजनीति में कोई इस्तेमाल करता है क्या। अखिलेश ने कहा कि अभी तो चुनाव करीब आ रहा है। अभी कुछ लोगों की भाषा और निचले स्तर पर जाएगी।
जो लोग संस्कृति और समाज का ढंका पीटते हैं उनकी भाषा कल देखी आपने, बसपा की नेता आदरणीय मायावती जी के लिए जिस स्तर की घटिया भाषा का इस्तेमाल किया वह गलत है। इनके पास काम का कोई ब्यौरा नहीं है इसलिए इस तरह की भाषा का इस्तेमाल कर ध्यान हटाने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन इस बार चुनाव में जनता उन्हें जवाब देने के लिए तैयार बैठी है। उसी महिला विधायक ने सपा के बारे में क्या कहा यह देखा है। मायावती जी के लिए जो शब्द इस्तेमाल किये गए हैं, उससे तो लग रहा है कि यह लोग फ्रस्टेट हैं। आंखों के सामने अंधेरा है उनके। अपने काम ना बता कर दूसरी तरफ चुनाव ले जाना चाहते हैं। अभी इनकी भाषा और गिरेगी।
यूपी में घुमंतू पशुओं की समस्या आगरा के एक किसान की मौत का कारण बन गयी. भाजपा की गलत नीतियों से पहले से ही परेशान किसान की अब सिर्फ़ फ़सल ही नहीं बल्कि जान भी दाँव पर लग गयी है. युवाओं और व्यापारियों-कारोबारियों के बाद अब किसानों की निगाह में भी ये सरकार ‘टोटल फ़ेल सरकार’ है.अखिलेश यादव ने भाजपा के विकास कार्य पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि वह महिलाएं इंतजार कर रही हैं, जिन्हें सिलेंडर और चूल्हा दिया गया था। चुनाव आए तो बताएं सिलेंडर कैसे भरा जाता है। वाराणसी में प्रवासी सम्मेलन पर अखिलेश यादव ने कहा हमें उम्मीद है कि कुंभ में नहाने के बाद वह यूपी में इन्वेस्टमेंट करेंगे। यूपी में इन्वेस्टमेंट तो हुआ नहीं। मैं एनआरआई का स्वागत करता हूं, काशी देखें, कुंभ देखें, मैं चाहता हूं कि लौटते समय एक्सप्रेस वे पर भी जाएं. ताकि पता करें काम कौन कर रहा है।
अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में सभी साधु -संतों को कम से कम 20-20 हजार रुपया महीना पेंशन मिलनी चाहिए। इसके साथ ही सरकार रामलीला में काम करने वाले सभी कलाकारों को भी पेंशन दे। इनमें राम, सीता व लक्ष्मण का रोल करने वालों को भी शामिल किया जाए। उनको भी पेंशन मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके बाद सरकारी खजाने से कुछ बचे तो रावण को भी पेंशन मिले। अखिलेश यादव ने कहा कि कुंभ में दान होता है। भारत सरकार यूपी को संगम किनारे का किला दान कर दे।अखिलेश यादव ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि प्रवासी कुछ इन्वेस्ट करेंगे, कुम्भ देखकर मन बदलेगा। उन्हें भरोसा दिलाना होगा। ठोको नीति से उनका भरोसा नहीं जीता जा सकेगा। हमने पत्रकारों का सम्मान किया, लेकिन यह लोग उनकी पिटाई करवा रहे हैं।

मायावती के खिलाफ विवादित टिप्‍पणी पर बीजेपी विधायक पर मुकदमा

0

Posted on : 20-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, Politics-BSP

लखनऊ:बीएसपी प्रमुख मायावती के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देने के बाद बीजेपी विधायक साधना सिंह ने खेद जताया। साधना सिंह ने कहा कि मेरी मंशा सिर्फ यही थी कि 2 जून 1995 में गेस्ट हाउस कांड में बीजेपी ने मायावती जी की मदद की थी, उसे सिर्फ याद दिलाना था न कि उनका अपमान करना था। उन्‍होंने कहा कि किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का उद्देश्य नहीं था। मेरे शब्‍दों से किसी को दुख हुआ है तो मैं उसके लिए खेद प्रकट करती हूं। वहीं दूसरी ओर चंदौली में भाजपा विधायक साधना सिंह के खिलाफ बसपा के आजमगढ़ और वाराणसी के जोनल हेड रामचंद्र गौतम ने मामला दर्ज कराया है।
गौरतलब है कि मुगलसराय की विधायक साधना सिंह ने शनिवार को भाषण के दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती पर निशाना साधा। उन्होंने बसपा प्रमुख को गेस्ट हाउस कांड की याद दिलाते हुए कहा कि उन्होंने सत्ता के लिए चीरहरण करने वालों के साथ हाथ मिला लिया। साधना सिंह ने गेस्ट हाउस कांड का जिक्र करते हुए कहा, ‘जिस महिला का इतना बड़ा चीरहरण हो, वह सत्ता के लिए आगे नहीं आती है। इनका सबकुछ लुट गया लेकिन फिर भी इन्होंने कुर्सी के लिए अपमान पी लिया।’ साधना सिंह ने मायावती के बारे में कहा कि वह ना तो महिला लगती हैं और ना ही पुरुष लगती हैं। साधना सिंह यहीं नहीं रुकीं, उन्होंने यह भी कहा कि ऐसी महिला तो किन्नरों से भी बदतर हैं।
बयान की निंदा
साधना सिंह के बयान के बाद बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ने भी कहा कि भाजपा विधायक ने बसपा मुखिया मायावती के लिए जिस तरह के शब्द इस्तेमाल किए हैं, वह भाजपा के स्तर को दिखाता है। सपा-बसपा गठबंधन की घोषणा के बाद से ही बीजेपी नेताओं का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है। उन्हें आगरा और बरेली के अस्पतालों में भर्ती कराने की जरूरत है। ऐसे नेताओं को पागलखाने भेज देना चाहिए। सपा सुप्रीमो और पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने बीजेपी विधायक की इस टिप्पणी की निंदा करते हुए कहा कि बीजेपी विधायक ने जिस तरह के आपत्तिजनक अपशब्द मायावती जी के लिए प्रयोग किए हैं वे घोर निंदनीय हैं ये बीजेपी के नैतिक दिवालियापन और हताशा का प्रतीक है। ये देश की महिलाओं का भी अपमान है।

गाँव-गाँव कार्यालय खोलेगा लोक अधिकार मंच

0

Posted on : 20-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(कम्पिल)लोक अधिकार मंच के पांचवें कार्यालय का शुभारम्भ रविवार को विधि-विधान से हो गया| जिसके बाद सभी को केंद्र सरकार के द्वारा चलायी जा रही योजनाओं के विषय में अवगत कराया गया|
पांचवें कार्यालय के शुभारम्भ पर कंपिल पंहुचे लोक अधिकार मंच के जिलाध्यक्ष डॉ० अरविन्द गुप्ता ने कार्यालय का शुभारम्भ किया| इसके साथ ही उन्होंने कार्यक्रम में आये लोगों को सरकार की योजनाओं से अवगत कराया| उन्होंने कहा कि लोक अधिकार मंच वह मंच है जो जनता के अधिकारों के लिए प्रयास करता है| संगठन के द्वारा भारत सरकार द्वारा चलायी गयी विभिन्य योजनाओ को जन- जन तक पहुचाने का जो वीणा उठाया है उस को पूरा करने के लिए लोक अधिकार मंच को जनता का समर्थन मिल रहा है|
इसी सहयोग के चलते संगठन के पांचवें कार्यालय का शुभारम्भ किया गया है| लोक अधिकार मंच अब हर ग्राम में कार्यालय खोलेगा जिसके माध्यम से विभिन्य योजनाओं के निशुल्क फ़ार्म एवं साथ में दिशा निर्देश फ़ार्म भी प्राप्त मिलेगा|
जिलाध्यक्ष का जगह-जगह स्वागत किया| सचिन,रियंस शुक्ला,अभिषेक,विनोद,सागीर अहमद,गोविन्द राजकुमार,सुरेश चन्द्र, राजकिशोर,कृष्ण मुरारी,आमिर प्रताप सिंह,पुष्पेन्द्र व शिवम आदि रहे|

बड़ी खबर:जूना अखाड़े के नांगा संतों ने फिर किया शाही स्नान से इंकार

0

Posted on : 20-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद:बीते मकर संक्रांति पर जूना अखाड़ा के संतों ने गंगा में गिर रहे गंदे नाले बंद करने से आक्रोशित होकर शाही स्नान नही किया था| लेकिन इसके बाद भी जिला प्रशासन नही चेता| सोमबार को मेला रामनगरिया का शुभारम्भ है| इस दौरान भी नांगा साधुओं ने गंगा के गंदे पानी से शाही डुबकी लगाने से इंकार किया है| रविवार को भी नाले लगभग बंद नही हो सके|
योगी सरकार की मंशा को पूरा करने के चक्कर में जिले के आला अफसर अब बुरी तरह से फंसे है| गंगा में आ रहे गंदे नालों को इस लिए कागजों में बंद करना है की मेला रामनगरिया का शुभारम्भ होने जा रहा है| अस्थाई बांध बनाकर पानी रोकनें का दिखाबा किया जा रहा है| नाले में लगाये जाने बांध केबल देखने भर के है| दरअसल जिला प्रशासन ऊपर इस समय एक तरफ कुआँ दूसरी तरफ खाई की कहावत सटीक बैठ रही है| यदि नालों में बाँध ना लगें तो मेले में साधु आक्रोशित यदि बांध लगा दें तो पानी आस-पास के सैकड़ों बीघा खेतों की फसलों की जल मगन कर दे| किसान आन्दोलन के लिए तैयार खड़े| इस स्थित में जिला प्रशासन दोनों पले बजा रहा है|
अब वो दौर भी नही रह गया की जैसा पूर्व के वर्षों में हुआ| जिले के एक गणमान्य नेता जी ने मेला शुरू होने से पूर्व मीडिया कबरेज के लिए भैरव घाट पंहुच कर नाला गंगा में जाते देख तत्कालीन सरकार के अफसरों को कैमरों के सामने गरियाया और रामनगरिया में संतो के साथ धरना भी दिया| लेकिन अब तो सरकार भी बन गयी और खुद वह ही सरकार है लेकिन अब डर सता रहा है कि कैसे बोले अब तो अफसर से लेकर सरकार व खुद गंगा भी उनकी ही है|
अलबत्ता आलम यह है की सरकारी अफसर नालों को बंद करने में लगभग नाकाम दिख रहे है| मेला शुभारम्भ से एक दिन पूर्व ही पंच दसनाम जूना अखाड़ा के महंत संत सत्य गिरी महाराज ने नालों का पानी गंगा में समाहित होने से आक्रोशित होकर शाही स्नान से साफ इंकार कर दिया| उन्होंने बताया की कोई भी अखाड़े का नांगा संत गंगा के जल में शाही डुबकी नही लगायेगा|

अभिनेत्री करीना को इस शहर से लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्‍याशी बनाने की मांग

0

Posted on : 20-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-CONG., सामाजिक

भोपाल:लोकसभा चुनाव की तैयारियों को देखते हुए स्थानीय नेताओं ने क्षेत्र के प्रत्याशी चयन के पहले अपनी पसंद हाईकमान तक पहुंचाना शुरू कर दिया है।
भोपाल से पटौदी परिवार की बहू और अभिनेत्री करीना कपूर को प्रत्याशी बनाए जाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र भेजा गया है। स्थानीय कांग्रेस नेता अपनी इस मांग को लोकसभा चुनाव के लिए प्रभारी बनाए गए पूर्व सांसद रामेश्वर नीखरा के सामने भी रखेंगे। कांग्रेस में लोकसभा चुनाव के लिए पिछले सप्ताह प्रभारियों की नियुक्ति की गई थी, जिन्हें क्षेत्र में संगठन को सक्रिय करने के साथ ही चर्चा में चल रहे प्रत्याशियों के नामों की रिपोर्ट देना है। प्रत्याशी चयन की कवायद शुरू हो जाने से स्थानीय स्तर पर संभावित नामों की चर्चा भी शुरू हो गई है।
भाजपा के प्रभाव वाले भोपाल लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपनी पसंद बताना शुरू कर दिया है। नगर निगमपार्षद योगेंद्र सिंह चौहान गुड्डू ने अपनी पसंद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र के माध्यम से पहुंचा दी है। बताया जाता है कि पार्षद योगेंद्र सिंह ने भोपाल लोकसभा सीट से अभिनेत्री करीना कपूर को उतारे जाने की मांग की है। करीना भोपाल नवाब के नाती नवाब मंसूर अली खान पटौदी की पुत्रवधु हैं।
करीना के ससुर नवाब मंसूर अली खान पटौदी को भी 1991 में भोपाल लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रत्याशी बनाया गया था। उन्हें तब दो लाख छह हजार से ज्यादा वोट मिले थे, जबकि उनके सामने खड़े हुए भाजपा के सुशीलचंद्र वर्मा को तीन लाख आठ हजार से ज्यादा मत मिले।36 प्रत्याशी मैदान में थे, जिनमें स्वामी अग्निवेश भी शामिल थे। नवाब पटौदी के चुनाव प्रचार में तब राजीव गांधी ने भी सभा की थी। उनके अलावा क्रिकेटर कपिल देव और नवाब पटौदी की पत्नी शर्मिला टैगोर भी चुनाव प्रचार के लिए आई थीं।
लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिए स्थानीय नेताओं की मीटिंग लेंगे। चर्चा में संभावित प्रत्याशियों के रूप में जो भी नाम आएंगे, उनसे भी पार्टी हाईकमान को अवगत कराएंगे। – रामेश्वर नीखरा, पूर्व सांसद व भोपाल लोस क्षेत्र प्रभारी

[bannergarden id="12"]