Featured Posts

गंगा-जमुनी तहजीब की मिशाल बन रहा जेल में बंदियों का रोजागंगा-जमुनी तहजीब की मिशाल बन रहा जेल में बंदियों का रोजा फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला) रमजान का पवित्र माह शुरू हो गया। जहां एक ओर लोगों ने सुबह सहरी कर पहला रोजा रखा। वहीं सेन्ट्रल जेल में बंद बंदियों ने भी रोजे रखे। मुस्लिम समाज के करीब 175 कैदियों ने अल्लाह की रजा (खुशी) हासिल करने के लिए रमजान का रोजा रखा। जिनकी सहरी और इफ्तार की जिम्मेदारी...

Read more

सांसद करेंगे नरेन्द्र से नरेन्द्र तक पुस्तक का विमोचनसांसद करेंगे नरेन्द्र से नरेन्द्र तक पुस्तक का विमोचन फर्रुखाबाद: आचार्य ओम प्रकाश मिश्रा (कंचन) द्वारा लिखित पुस्तक नरेंन्द्र से नरेन्द्र तक का विमोचन सांसद मुकेश राजपूत के द्वारा किया जायेगा| जिसकी सभी तैयारी पूर्ण कर ली गयी है| शहर के कोटा पार्चा स्थित एशियन कम्प्यूटर सेंटर अपर आयोजित प्रेस वार्ता में आचार्य कंचन ने बताया...

Read more

खूनी जबड़ों के साये में जीने को मजबूर रतनपुर के ग्रामीणखूनी जबड़ों के साये में जीने को मजबूर रतनपुर के ग्रामीण फर्रुखाबाद:(जहानगंज) आदमखोर कुत्तों के साये में ग्रामीण व नैनिहाल अभी भी जी रहे है| डर भय का आलम यह है की गाँव के बच्चों ने विधालय जाना तकज छोड़ दिया दिया है| जिससे सरकारी विधालय की छात्र उपस्थिति लगातार कम होती जा रही है| परिजन खुद अपने बच्चों की लाठी-डंडो से लैस होकर सुरक्षा...

Read more

एक ही फंदे पर माँ-बेटे की झूलती मिली लाश,हत्या का आरोपएक ही फंदे पर माँ-बेटे की झूलती मिली लाश,हत्या का आरोप फर्रुखाबाद:(कंपिल) विवाहिता व उसके मासूम बेटे का शव फांसी पर लटका मिला| घटना की सूचना पर परिजन मौके पर पंहुचे| उन्होंने दहेज के लिये हत्या कर शव फांसी पर लटका दिये जाने का आरोप लगाया | कमरे में ही एक सुसाइड नोट भी मिला है| थाना क्षेत्र के ग्राम मेदपुर निवासी आनन्द उर्फ़ लालू...

Read more

निर्माणाधीन ओवरब्रिज की दो बीम गिरने से 25 लोगों की मौतनिर्माणाधीन ओवरब्रिज की दो बीम गिरने से 25 लोगों की मौत वाराणसी:पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में रेलवे स्टेशन के सामने बन रहे फ्लाई ओवर की दो बीम गिरने से 25 लोगों की मौत हो गई है। बीम गिरने के कारण बस सहित छह गाडिय़ां फंसी हैं। छह क्रेन बीम को उठाने में लगी हैं। घटनास्थल पर नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स की सात टीमें...

Read more

प्राथमिक शिक्षक संघ ने बीएसए कार्यालय पर दिया धरनाप्राथमिक शिक्षक संघ ने बीएसए कार्यालय पर दिया धरना फर्रुखाबाद: उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ ने फरवरी माह का वेतन ना मिलने से खफा होकर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया धरना दिया| शिक्षकों की नारेबाजी देख बीएसए अपने कक्ष से वित्त एवं लेखाधिकारी को साथ लेकर निकल आए और बिना अनुमति के धरना दिए जाने...

Read more

फरियादियों के फोन पर नही हो सकी एडीजी की बातफरियादियों के फोन पर नही हो सकी एडीजी की बात फर्रुखाबाद:(जहानगंज) एडीजी अविनाश चन्द्र ने थाने के निरीक्षण के दौरान पुलिस कर्मियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये| वही उन्होंने आगन्तुक रजिस्टर चेक किया| जिसके बाद उन्होंने उसमे दर्ज फरियादियों को फोन लगाया लेकिन बात नही हो सकी| सुबह एडीजी थाने का निरीक्षण एसपी मृगेंद्र...

Read more

एडीजी के जाते ही थाने से चली गयी उधार की हरियालीएडीजी के जाते ही थाने से चली गयी उधार की हरियाली फर्रुखाबाद:(जहानगंज) एडीजी के स्वागत के लिये थाना पुलिस ने कोई कोर कसर नही छोड़ी| यंहा तक की उन्हें खुश करने के लिये उधार की फुलवारी भी थाने में लाकर रखनी पड़ी| लेकिन जाने के बाद उसे पुलिस को वापस करना पड़ा| एडीजी अबिनाश चन्द्र के द्वारा थाने का निरीक्षण किया जाना पूर्व में ही...

Read more

मोर को शिकार के लिये ले जाते समय दबोचामोर को शिकार के लिये ले जाते समय दबोचा फर्रुखाबाद:(जहानगंज) शिकार करने के इरादे से ले जाए जा रहे जिंदा मोर व एक आरोपी को ग्रामीण ने दबोच लिया| जिसके बाद उसे पुलिस के हबाले कर दिया गया| मौके से दो आरोपी भागने में कामयाब रहे| मामले में पुलिस को तहरीर दी गयी है| कोतवाली मोहम्मदाबाद क्षेत्र ग्राम मुरास के निकट थाना...

Read more

पुलिस जीप से कूदकर भागा आरोपी दबोचापुलिस जीप से कूदकर भागा आरोपी दबोचा फर्रुखाबाद:(अमृतपुर) काफी समय से फरार चल रहे आरोपी को पुलिस न्यायालय ले जा रही थी| वही वह पुलिस जीप से कूदकर फरार हो गया| लेकिन पुलिस ने उसे कुछ दूर दौड़कर दबोच लिया| जिसके बाद उसे न्यायालय में पेश किया गया| जंहा से उसे जेल भेज दिया गया| थाना में आरोपी राजेश उर्फ़ जितेन्द्र पुत्र...

Read more

विधायक ने बल्लेबाजी के साथ किया टूनामेंट का शुभारम्भ

0

फर्रुखाबाद:(मोहम्मदाबाद) विधायक ने 10 दिवसीय क्रिकेट टूनामेंट का शुभारम्भ बल्लेबाजी केसाथ कर दिया| फाइनल मैच जितने वाली टीम को 21 हजार रूपये का पुरस्कार दिया जायेगा|
विकास खंड के ग्राम खिमसेपुर स्थित राज स्टेडियम मे प्रधान तारावती के द्वारा 10 दिवसीय क्रिकेट टूनामेंट का आयोजन किया गया| जिसमे पंहुचे भोजपुर विधान सभा के विधायक नागेन्द्र सिंह राठौर में पिच पर बल्लेबाजी कर दूनामेंट का शुभारम्भ किया गया| आयोजको ने बताया की 10 दिवसीय टूनामेंट में मैच में 12 ओवर का होगा| फाइनल जितने वाली टीम को 21 हजार व उप विजेता को 11 हजार रूपये का पुरस्कार दिया जायेगा|
टूनामेंट में फर्रुखाबाद, बेबर, मैनपुरी, भोगांव, अलीपुर खेड़ा,मोहम्मदाबाद, रोहिला, नबीगंज, करहल, खिमसेपुर व राठौर आदि की टीमें हिस्सा लेंगी| इस दौरान पूर्व प्रधान अरविन्द,शेरबहादुर, अनिल राठौर आदि रहे|

राज्य मंत्री को भोजन के लिये ढूंढे नही मिल रहे निष्ठावान कार्यकर्ता

0

Posted on : 18-05-2018 | By : JNI-Desk | In : Politics, Politics-BJP, सामाजिक

फर्रुखाबाद:जिले की राजनीति में बीते कई दिनों से योगी सरकार की राज्य मंत्री अर्चना पाण्डेय के कार्यक्रम को लेकर चर्चा का बाजार ग्राम है| पहले एक सपा नेता के घर भोजन का कार्यक्रम रखा गया| लेकिन मीडिया में सुर्खिया बनने के बाद उन्होंने कार्यक्रम में थोडा परिवर्तन जरुर कर दिया| लेकिन अब जिस नेता के घर मंत्री का भोजन रखा गया है वह वभी चर्चा का विषय बना है|
सरकार की राज्य मंत्री अर्चना पाण्डेय 19 मई को शमसाबाद के ग्राम बेला सराय गजा स्थित अंग्रेजी माध्यम विधालय का शुभारम्भ करने के साथ ही सरस्वती प्रतिमा का भी अनावरण करेंगी| पूर्व में मंत्री के भोजन का कार्यक्रम सपा नेता व जिला पंचायत सदस्य मनोज मिश्रा के घर पर था| लेकिन जब मीडिया ने इसको संज्ञान में लेकर समाचार प्रकाशित कर दिया| जिसके बाद मंत्री ने अपने कार्यक्रम में परिवर्तन कर दिया|
बीते दिन मिले आदेश के अनुसार मंत्री कार्यक्रम को समाप्त करने के बाद किसान मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष हेमचन्द्र राजपूत के आवास पर जायेगी| जंहा उनका भोजन का कार्यक्रम रखा गया है| विदित है की यह वही हेमचन्द्र राजपूत है जिनकी पत्नी सीता राजपूत चेयरमैंन का चुनाव बीजेपी प्रत्याशी के विरोध में लड़े थे| जिसके बाद उनके खिलाफ अनुशासनहीनता की कार्यवाही भी पार्टी ने की थी| पार्टी में रहकर पार्टी के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा करने वाले हेमचन्द्र राजपूत के घर राज्य मंत्री का भोजन का कार्यक्रम है| जिसको लेकर कार्यकर्ताओं में चक-चक चल रही है की क्या राज्य मंत्री को जिले में भोजन करने के लिये पार्टी का कोई निष्ठांवान कार्यकर्ताओं नही मिला|

कर्नाटक के नाटक के खिलाफ कांग्रेस का ज्ञापन

0

Posted on : 18-05-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, Politics, Politics-CONG.

फर्रुखाबाद:जिला कांग्रेस कमेटी से कर्नाटक के नाटक के खिलाफ राष्ट्रपति को ज्ञापन भेज कड़ी आलोचना की है | पूरे घटना क्रम को कांग्रेस ने लोकतंत्र पर कुठारा घात बताया|
कांग्रेस के जिलाध्यक्ष मृत्युंजय शर्मा के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर डीएम के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा है| दिए गए ज्ञापन में कांग्रेसियों ने कहा है कि केंद्र में भाजपा सरकार बनने के साथ ही राज्यों की गैर भाजपा सरकारों को अस्थिर करने या दबाव डालकर पाला बदलने को विवश करने का कृत्य प्रारंभ हो गया है| बिहार राज्य का घटनाक्रम इसका ज्वलंत प्रमाण है| मणिपुर, गोवा, मेघालय में इसी प्रकार लोकतंत्र का हनन कर सरकार बनाई गई| राज्यों की सरकारों को अस्थिर करने को लेकर न्यायालय ने भाजपा को जमकर फटकारा लेकिन उन्हें ना जन का भय है ना कानून की चिंता| जिसका उदाहरण भाजपा के प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक में प्रस्तुत कर रहे हैं|
कांग्रेस ने आरोप लगाया कि जो कृत्य भाजपा कर्नाटक में कर रही है वह लोकतंत्र पर कुठाराघात है| सत्ता तंत्र के पंजों में लोकतंत्र छटपटा रहा है| कांग्रेसियों ने राष्ट्रपति से इस मामले पर विचार करने की मांग की है| प्रदेश अध्यक्ष कौशलेन्द्र सिंह यादव, नगर अध्यक्ष नफीस हुसैन,पुन्नी शुक्ला,राजेंद्र नारायण मिश्रा, ,संतोष गुप्ता,राकेश सागर,डालचंद कठेरिया,प्रभात कटियार, अंकित कुमार,ओमप्रकाश बाथम,बंटी गुप्ता आदि रहे|

कल शाम 4 बजे होगा येद्दयुरप्पा सरकार का शक्ति परीक्षण,सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला,

0

नई दिल्ली:कर्नाटक को लेकर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला आया है, इस फैसले को भाजपा के लिए झटका भी कहा जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने कल यानि शनिवार शाम चार बजे येद्दयुरप्पा को कर्नाटक विधानसभा में बहुमत साबित करने को कहा है। कोर्ट का यह फैसला एक तरह से कांग्रेस और जेडीएस के लिए राहत लेकर आया है और कांग्रेस ने इस फैसले को ऐतिहासिक बताने में भी देर नहीं लगायी। हालांकि भाजपा की ओर से इसका विरोध करते हुए कुछ समय और मांगा गया, लेकिन कोर्ट ने इसके लिए इन्‍कार कर दिया। भाजपा के वकील सात दिन का समय चाहते थे।
कोर्ट ने यह भी साफ कर दिया कि जब तक शक्ति परीक्षण पास नहीं कर लेते, तब तक मुख्यमंत्री बीएस येद्दयुरप्पा कोई भी नीतिगत फैसला नहीं ले सकते। यही नहीं एंग्लो इंडियन सदस्य के मनोनयन को लेकर भी सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया है। कोर्ट ने कहा है कि विधायकों के शपथग्रहण से पहले एंग्लो इंडियन सदस्य को मनोनीत नहीं किया जा सकता है।
कोर्ट के फैसले को कांग्रेस ने बताया ऐतिहासिक
कर्नाटक के राजनीतिक विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए कांग्रेस ने इसे ऐतिहासिक बताया है। कांग्रेस नेता और वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। कोर्ट ने कई निर्देश जारी किये हैं। कोर्ट ने फ्लोर टेस्ट के लिए आज शाम (शुक्रवार) 4 बजे तक प्रोटेम स्पीकर नियुक्त करने का आदेश दिया है।’ उन्होंने कहा कि कोर्ट के अनुसार, कल फ्लोर टेस्ट से पहले सभी विधायकों का शपथ ग्रहण होगा और येद्दयुरप्पा कल तक कोई भी नीतिगत निर्णय नहीं ले सकेंगे।’
सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर नेताओं की प्रतिक्रिया
-सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बीएस येद्दयुरप्पा ने कहा, ‘हमने मुख्य सचिव से बात की है और शनिवार को असेंबली का सेशन बुलाया है। हमें 100 प्रतिशत विश्वास है कि हम पूर्ण बहुमत के साथ जीतेंगे।’ उन्होंने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार, हमें कल बहुमत साबित करने की पूरी उम्मीद है। हम राज्यपाल को कल सुबह 11 बजे विधानसभा सत्र बुलाए जाने के लिए अपनी फाइल भेज रहे हैं। हम बहुमत साबित करने जा रहे हैं।’
– वहीं, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर कहा, ‘भाजपा बहुमत परीक्षण के लिए तैयार है। हमें विश्वास मत जीतने का भरोसा है। सदन में होने वाले फ्लोर टेस्ट में हम बहुमत सिद्ध कर देंगे।’
राज्यपाल मामले में अलग से होगी सुनवाई
राज्यपाल के विशेषाधिकार और उसके तहत दिए गए आदेश की न्यायिक जांच के मामलों की कोर्ट दस हफ्ते बाद सुनवाई करेगा। बता दें कि कर्नाटक के राज्‍यपाल वजुभाई वाला ने भाजपा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिनों का समय दिया था। लेकिन कोर्ट के आदेश के बाद बीएस येद्दयुरप्‍पा के पास बहुमत साबित करने के लिए अब कुछ घंटों का समय शेष रह गया है। कांग्रेस और जेडीएस ने अपनी याचिका में राज्यपाल द्वारा येद्दयुरप्पा को सरकार बनाने का न्योता दिये जाने को चुनौती दी थी। यही नहीं एंग्लो इंडियन सदस्य मनोनीत किए जाने को भी कांग्रेस व जेडीएस ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी।
इन बिंदुओं पर SC में हुई चर्चा
– कर्नाटक मामले पर जस्टिस सीकरी के दो सुझाव दिये, पहला: 24 घंटे के भीतर बहुमत साबित करें और दूसरा शपथ ग्रहण की समीक्षा हो।
– जिसे न्योता मिला वो बहुमत साबित करे : जस्टिस बोबडे
– विधानसभा में ही आखिरी फैसले होना चाहिए : जस्टिस बोबडे
– हम राजनीतिक लड़ाई में नहीं पड़ रहे हैं : जस्टिस सीकरी
– बेहतर होगा कि कल बहुमत परीक्षण हो : SC
– कल बहुमत परीक्षण का प्रस्ताव दे सकते हैं? : SC
– जस्टिस सीकरी: जनादेश सबसे महत्वपूर्ण है
– जस्टिस सीकरी: किस आधार पर भाजपा को सरकार बनाने का न्योता दिया
– दोनों पार्टियों (कांग्रेस और जेडीएस) ने चुनाव के बाद गठबंधन किया : रोहतगी
– रोहतगी ने कहा नंबर दो और तीन की पार्टियां भाजपा से बहुत पीछे
– मुकुल रोहतगी ने कहा भाजपा कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी
– कर्नाटक मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू
सिंघवी की दलील
– नतीजे घोषित होने से पहले ही येद्दयुरप्पा का दावा
– राज्यपाल भाजपा को कैसे मौका दे सकते हैं?
– कांग्रेस-जेडीएस के पास बहुमत है
– कांग्रेस-जेडीएस कल ही बहुमत साबित करने के लिए तैयार है। कोर्ट को तय करना चाहिए की किसी बहुमत साबित करने का मौका मिले
भाजपा के वकील मुकुल रोहतगी, कांग्रेस नेता पी.चिदंबरम, राम जेठमलानी, शांति भूषण कोर्ट में मौजूद रहे। बता दें कि जस्टिस सीकरी, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस बोबडे की तीन जजों की बेंच ने मामले की सुनवाई की। दोनों दलों ने भाजपा को सरकार बनाने का न्योता देने के राज्यपाल के फैसले को चुनौती दी थी। सुनवाई शुरू होने से पहले भाजपा के वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि कर्नाटक में खरीद-फरोख्त का सवाल ही नहीं उठता। दरअसल, कांग्रेस भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगा रही है।
इससे पहले बुधवार को कांग्रेस-जेडीएस की याचिका पर रातभर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चली, हालांकि कोर्ट ने भाजपा नेता बीएस येद्दयुरप्पा के शपथ ग्रहण पर रोक लगाने से इन्कार कर दिया। बुधवार देर रात सवा दो बजे शुरू हुई सुनवाई गुरुवार सुबह पांच बजकर 28 मिनट तक चली। सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने यह स्पष्ट किया कि राज्य में शपथ ग्रहण और सरकार के गठन की प्रक्रिया उसके समक्ष लंबित मामले के अंतिम फैसले के दायरे में आएगी।
अभी तक का घटनाक्रम

-सुप्रीम कोर्ट ने कल यानि शनिवार शाम चार बजे येद्दयुरप्पा को कर्नाटक विधानसभा में बहुमत साबित करने को कहा है।
– बुधवार को राज्यपाल के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस और जेडीएस। देर रात शुरू हुई सुनवाई रातभर चली, सुबह साढ़े पांच बजे खत्म हुई।
– सुप्रीम कोर्ट ने येद्दयुरप्पा के शपथ ग्रहण पर रोक से इनकार कर दिया। कोर्ट ने शुक्रवार को सुनवाई तय की और भाजपा को अपने विधायकों लिस्ट लाने का निर्देश दिया।
– गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भाजपा नेता बीएस येद्दयुरप्पा ने राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वे तीसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने।
– येद्दयुरप्पा के शपथग्रहण के बाद भाजपा अब बहुमत साबित करने की तैयारी में है। येद्दयुरप्पा ने कहा कि मुझे यकीन है कि वे विधानसभा में विश्वासमत हासिल करेंगे।
– कांग्रेस ने भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया। विधायकों को इस टूट से बचाने के लिए कांग्रेस और जेडीएस अपने सभी विधायकों को हैदराबाद ले गई।
– इससे पहले कांग्रेस अपने विधायकों को केरल के कोच्चि ले जाने की तैयारी में थी। तीन चार्टर्ड प्लेन से विधायकों को कोच्चि ले जाना था, लेकिन कांग्रेस का आरोप है कि डीजीसीए ने चार्टर्ड प्लेन को उड़ान भरने की इजाजत नहीं दी।
– भाजपा ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस-जेडीएस ने राज्यपाल को विधायकों के समर्थन की जो चिट्ठी दी है, उसमें कई दस्तखत फर्जी हैं।
– कर्नाटक में 222 सीटों पर चुनाव हुए थे, जिसमे से भाजपा को 104, कांग्रेस को 78 और जेडीएस को 38 सीटें मिली थीं। वहीं, दो सीट निर्दलीय के पाले में हैं।

राज्य मंत्री का सपा नेता के घर जाने का कार्यक्रम निरस्त

0

फर्रुखाबाद: सपा नेता व जिला पंचायत सदस्य मनोज मिश्रा के घर पर भोजन के कार्यक्रम को मंत्री ने मीडिया में खबर प्रकाशित होने के बाद निरस्त कर दिया| अब वह बीजेपी नेता के घर भोजन पर जायेगी|
आगामी 19 मई को विकास खंड शमसाबाद के ग्राम बेला सरायगजा के जिला पंचायत सदस्य मनोज मिश्रा के द्वारा आयोजित लिये गये इंग्लिश माध्यम विधालय का लोकार्पण व सरस्वती प्रतिमा का अनावरण कार्यक्रम होना है| जिसमे राज्य मंत्री अर्चना पाण्डेय मुख्य अतिथि है| सपा समर्थक मनोज मिश्रा की पत्नी मेघा मिश्रा ग्राम प्रधान है|
मीडिया में प्रमुखता से इस खबर को प्रकाशित किया गया था| क्षेत्र में यह चर्चा का विषय रहा| सोशल मीडिया पर भी बीजेपी समर्थको व नेताओं ने जमकर वयान बाजी की| मीडिया की सुर्खियाँ बनने के बाद आखिर राज्य मंत्री के कार्यक्रम में परिवर्तन का पत्र मंत्री के निजी सचिव रामनरेश त्रिपाठी के माध्यम से जिलाधिकारी को प्राप्त हो गया| जिसमे उन्होंने मनोज मिश्रा के घर भोजन का कार्यक्रम निरस्त कर दिया| वही उन्होंने भोजन किसान मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ० हेमन्त राजपूत के घर पर तय कर दिया|

[bannergarden id="12"]