Featured Posts

चांदी के जूते के बदले ईमान बेचते बेसिक शिक्षा के रिश्वतयोगी, अकेले चौहान क्या कर लेंगेचांदी के जूते के बदले ईमान बेचते बेसिक शिक्षा के रिश्वतयोगी,... एक मामूली से निजी स्कूल की छत की चारदीवारी गिरने से 20 बच्चो की घायल होने की खबर तो एक मात्र अनहोनी का सूचक है| ऊपर वाले की मेहरबानी से बच्चे बच गए वर्ना बेसिक शिक्षा कार्यालय के बाबू और अधिकारियो ने तो मौत की दीवार को चंद रिश्वत के टुकड़ो में पास कर ही दिया था| अखबारों के तीसरे...

Read more

बच्चो को बाटने के लिए रेडीमेड ड्रेसों का जखीरा तैयार, फर्जी नामांकन से लेकर नाप तक का खेल बच्चो को बाटने के लिए रेडीमेड ड्रेसों का जखीरा तैयार, फर्जी... फर्रुखाबाद: जिलाधिकारी भले ही लाख प्रयत्न कर ले मगर बेसिक शिक्षा में बच्चो को बाटने के लिए घटिया रेडीमेड ड्रेस वितरण से शायद ही रोक पाये| इसके लिए बाकायदा योजनावद्ध तरीके से खाने पीने का खाका तैयार हो चुका है| जिस अधिकारी के पास जितने ज्यादा चार्ज है वो उतना बड़ा ही हिस्सा...

Read more

लानत है- चकबंदी कार्यालय की हेराफेरी से नगर में लुटी नजूल की जमीने, निर्भया केंद्र खोलने को नहीं मिला कोई टुकड़ालानत है- चकबंदी कार्यालय की हेराफेरी से नगर में लुटी नजूल की... फर्रुखाबाद: बड़े ही अफसोस और लानत भरी बात है कि नगर में बस अड्डे से लेकर बढ़पुर मंदिर तक और लाल सराय और ठंडी सड़क पर हजारो वर्गमीटर नजूल की जमीन पिछले तीस साल में चकबंदी कार्यालय और भूमाफियो की मिलीभगत से हड़प ली गयी मगर एक छोटे से निर्भया केंद्र को खोलने के लिए जिला प्रशासन को...

Read more

गैस उपभोक्ताओं के लिए जरूरी खबरगैस उपभोक्ताओं के लिए जरूरी खबर फर्रुखाबाद: एक जनवरी से लखनऊ सहित प्रदेश भर में प्रस्तावित एमडीबीटीएल योजना के बाद सिलेंडरों पर मिलने वाली सब्सिडी राशि सीधे उपभोक्ता के बैंक खाते में पहुंचेगी। इसके लिए सभी उपभोक्ताओं को गैस कनेक्शन नंबर को आधार कार्ड बेस अथवा बैंक खाते से लिंकअप कराना जरूरी होगा।...

Read more

जिला निगरानी समिति का पुनर्गठन- पत्रकार सत्यमोहन पाण्डेय सहित पांच मनोनीतजिला निगरानी समिति का पुनर्गठन- पत्रकार सत्यमोहन पाण्डेय... फर्रुखाबाद: पहली बार केंद्र सरकार की योजनाओ पर निगरानी रखने के लिए पत्रकार को भी जिला निगरानी समिति में शामिल किया गया है| जिलाधिकारी की ओर से जनपद के वरिष्ठ पत्रकार सत्यमोहन पाण्डेय को नवगठित जिला निगरानी समिति में सदस्य बनाया गया है| सांसद मुकेश राजपूत की ओर से नामित...

Read more

सांसद विकास निधि के 2.5 करोड़ पहुंचे, मनपसंद कार्यदायी संस्था के चयन के आसार नहीं  सांसद विकास निधि के 2.5 करोड़ पहुंचे, मनपसंद कार्यदायी संस्था... फर्रुखाबाद: संसदीय क्षेत्र विकास योजना के तहत सांसदों को मिलने वाले 5 करोड़ प्रति वित्तीय वर्ष में पहली 2.5 करोड़ रुपये की क़िस्त जिला मुख्यालय पर पहुंच गयी है| जल्द ही जिला विकास अभिकरण से सांसद मुकेश राजपूत को विकास कार्य कराने के लिए सूची पेश करने का पत्र भेजा जायेगा| दूसरी...

Read more

विशेष: इंतजार की घडि़यां खत्म, दूल्हा दुल्हन पक्का करिये, जल्द गूंजेंगी शहनाइयांविशेष: इंतजार की घडि़यां खत्म, दूल्हा दुल्हन पक्का करिये, जल्द... डेस्क: इंतजार की घड़ियां खत्म। अब जल्द ही करीब चार माह के पावर ब्रेक के बाद शहनाइयां गूंजेगी। इसके लिए अब एक सप्ताह का इंतजार बाकी है। इस साल के दिसंबर माह के साथ-साथ नए साल के फरवरी माह में विवाह के शुभ मुहूर्त सबसे अधिक हैं। ऐसे में हर दूसरे दिन इस बार शादियां होंगी। उधर,...

Read more

यूपी में नौ महीने में 524 आईपीएस के तबादले यूपी में नौ महीने में 524 आईपीएस के तबादले डेस्क: भारत सरकार ने 28 जनवरी 2014 को आईपीएस कैडर संशोधन नियम 2014 पारित कर आईपीएस अफसरों की न्यूनतम तैनाती 2 वर्ष तय कर दी लेकिन यूपी में इस नियम का रोजाना उल्लंघन हो रहा है. आरटीआई कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर द्वारा प्राप्त सूचना के अनुसार इस नियम के बनने के बाद 30 जनवरी के अमिताभ...

Read more

बुलाया गया था बात करने, पर सुनना पड़ा भाषणबुलाया गया था बात करने, पर सुनना पड़ा भाषण डेस्क: सौतिक विश्वास (बीबीसी): मई में ऐतिहासिक चुनावी जीत के बाद नरेंद्र मोदी की मीडिया से मुलाक़ात कई वजहों से दिलचस्प रही। पहली बात, कुछ चुनिंदा पत्रकारों को शुक्रवार को टेक्स्ट मैसेज मिला, जिसमें कहा गया था कि यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री के साथ एक 'अनौपचारिक बातचीत' रहेगा। बाद...

Read more

कन्या भ्रूण हत्या का सूत्रधार अल्ट्रासाउंड केंद्र सीज कितने दिन रहेगा?कन्या भ्रूण हत्या का सूत्रधार अल्ट्रासाउंड केंद्र सीज कितने... सौ सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली है| अल्ट्रासाउंड केंद्र सीज हो गया तो स्वास्थ्य अधिकारियो पर भ्रष्टाचार के आरोप लगने लगे| अफसर बाकई दूध के धुले है ये अलग जाँच का विषय हो सकता है| आज नहीं तो कल सब कुछ सही हो ही जायेगा| मगर बात त्यौहार की है तो बिना इसके जिक्र किये बात अधूरी ही...

Read more

चांदी के जूते के बदले ईमान बेचते बेसिक शिक्षा के रिश्वतयोगी, अकेले “चौहान” क्या कर लेंगे

0

Posted on : 18-12-2014 | By : पंकज दीक्षित | In : EDITORIALS, FARRUKHABAD NEWS

Editorएक मामूली से निजी स्कूल की छत की चारदीवारी गिरने से 20 बच्चो की घायल होने की खबर तो एक मात्र अनहोनी का सूचक है| ऊपर वाले की मेहरबानी से बच्चे बच गए वर्ना बेसिक शिक्षा कार्यालय के बाबू और अधिकारियो ने तो मौत की दीवार को चंद रिश्वत के टुकड़ो में पास कर ही दिया था| अखबारों के तीसरे पन्ने खबरों से मासूमो के घायल होने की खबरों से सराबोर होंगे| प्रशासनिक अफसरों ने स्कूल संचालक के खिलाफ मुकदमा लिखाने के फरमान जारी कर दिया| हो सकता है की मुकदमा लिखा भी जाए मगर क्या इससे व्यवस्था में कुछ सुधार आ पायेगा? क्या अन्य वे स्कूल जो मासूमो की सुरक्षा से खिलवाड़ कर सिर्फ बच्चो की शिक्षा का व्यवसाय करने में जुटे है उन पर कोई लगाम लग पायेगी? शायद नहीं क्योंकि व्यवस्था सुधारने का माद्दा और सोच न तो प्रशासनिक अफसरों में है और न ही शिक्षा विभाग में| चापलूसी से लवरेज तारीफ सुनने का शौक रखने वाले अफसर चांदी के जूते के बदले अपना ईमान जो बेच रहे है| इन्हे न लाज है और न ही कोई शर्म|

संजय शर्मा के स्कूल के बच्चे घायल हो गए| संजय शर्मा पर अपराधिक मुकदमा लिखाने से पहले क्या यह पड़ताल नहीं होनी चाहिए कि इस स्कूल को गैर मानक से बने भवन में स्कूल चलाने के लिए किस किस अफसर और बाबू ने संस्तुति कर हस्ताक्षर किये थे| अपराध करने वाले के साथ साथ उसके सहयोगी बेसिक शिक्षा विभाग के अफसरों पर कार्यवाही क्यों नहीं होनी चाहिए| दो चार दिन अखबारों में सुर्खिया बटोरने के लिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के फरेबयुक्त बयान भी छपेंगे| मगर असल में होगा कुछ नहीं| बेसिक शिक्षा अधिकारी अपने अधीनस्थों को कई कड़ाईयुक्त पत्र लिख्नेगे, सूचना मांगेगे, और आदेश लिखेंगे| आखिर शासन और प्रशासन में अपनी खाल जो बचानी है| यही होता है सरकारी दफ्तरों में| जब अफसर पर बन आती है तब वो एक पत्र बैक डेट में अधीनस्थों को लिख मारता है ताकि शासन को जबाब दिया जा सके कि उसने तो समय पर कार्यवाही की थी और उस पत्र की एक प्रति भी भेज दी जाती है| ऐसे सैकड़ो हजारो पत्र फाइलों में सड़ते रहते है और उन पर इतनी धूल जमी होती है कि प्रधानमंत्री का स्वच्छता अभियान भी उसका बाल बांका बिगाड़ नहीं सकता|

बात स्कूल की एक दीवार गिरने भर नहीं है| शिक्षा विभाग का तो पूरा ही चरित्र गिरा हुआ महसूस होता है| बच्चो को बाटने वाली निशुल्क स्कूल ड्रेस से लेकर किताबो और दोपहर के भोजन तक पर गिद्ध निगाह स्कूल के अधिकांश मास्टरों से लेकर अफसरों की रहती है| शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के तहत पहले से चल रहे उन स्कूलों को जिनके भवन या अन्य मानक पूरे नहीं है उन्हें 2013 तक सभी मानक पूरे कर एक शपथ पत्र देना था उसके बाद ही वे स्कूल सचालित कर सकते थे| मगर लानत है कि जिले में ऐसे कोई शपथ पत्र जमा नहीं हुए और हुए तो फर्जी| इस सबंध में नियम विरुद्ध नगर शिक्षा अधिकारी का प्रभार लिए सर्व शिक्षा अभियान के समन्वयक अनिल शर्मा का कहना है कि इस नियम की जानकारी उनके संज्ञान में नहीं है| वे अब मामले की पड़ताल करेंगे| अपनी सफाई में श्री शर्मा ने कहा कि इस स्कूल की मान्यता पहले से ही है| हालाँकि स्कूल संचालक संजय शर्मा का कहना है कि उन्होंने इस वर्ष ही मान्यता का रिनोवाल कराया है| खैर काम के प्रति लापरवाही या अनदेखी और ऊपरी कमाई पर खास नजर रखने वाले अफसरों से इससे ज्यादा की उम्मीद ही वर्तमान में यूपी में रखी जा सकती है| श्री शर्मा कोई हटकर काम नहीं कर रहे है| दो चार चार्ज और मिल जाए इस बात के लिए लालायित रहने वालो से ज्यादा की उम्मीद भी जनता न करे| फिर भी सवाल तो बनता ही है|

किसी का घर जला तो किसी को जहाँ रोशन होने का गुमा हुआ-
स्कूल के बच्चे घायल हुए तो आवास विकास कॉलोनी में सरकारी अस्पताल के इर्द गिर्द जमे प्राइवेट नर्सिंग होम वालो की भी उड़ के लग आई| कहावत है कि “कसाई के कोसे पड़रा नहीं मारता” फिर भी हर शमशान घाट का महाब्राह्मण सुबह उठकर अपने दरवाजे पर लगे खूटे को तो ठोकता ही है इस उम्मीद के साथ कि दो चार लाश आ जाए तो दाल रोटी चले| हाल इससे इतर नहीं है आवास विकास में इलाज की मंडी के| सरकारी लोहिआ अस्पताल में इलाज के लिए आये बच्चे देर शाम ढलते ढलते चले गए| कुछ मामूली इलाज के बाद घर गए तो कुछ नर्सिंग होमो के दलाल उठा ले गए| सरकारी व्यवस्था में विश्वास की कमी के चलते कोई माँ बाप अपने बच्चे का इलाज लोहिआ अस्पताल में नहीं कराना चाहता| क्या यही समाजवाद है? क्या यही व्यवस्था है? क्या इसी के लिए लोग वोट डालते है? एक अकेले “चौहान” क्या पाएंगे यहाँ तो डकैतो कि पूरी फ़ौज खड़ी है| क्या समाज और क्या प्रशासन? ये दुनिया तो लुटेरो की बस्ती सी लगती है|

[bannergarden id=”8″] [bannergarden id=”11″]

विधालय प्रबन्धक व संस्थापक के खिलाफ मुकदमा

0

Posted on : 18-12-2014 | By : JNI DESK | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

SNJIV SHRMA TEACHERफर्रुखाबाद: विभाग ने अब अपनी साख बचाने के लिये विधालय के प्रबन्धक व सस्थापक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया है| लेकिन उसमे दोषी अन्य विभागीय लोगो पर हाथ क्यों नही डाला गया???

गुरुवार सुबह आवास विकास स्थित रामदीन स्मारक विधालय की दीवार गिरने से आधा दर्जन बच्चे घायल हो गये थे| जिसमे विभाग पर ही सबालिया निशान लगने लगे थे| की जब भवन मानक पूर्णनही था तो फिर उसका नवीनीकरण किस बिना पर किया गया| दोपहर बाद नगर शिक्षा अधिकारी नरेन्द्र शर्मा ने कोतवाली पुलिस को तहरीर दी| पुलिस ने तहरीर के आधार पर विधालय प्रबन्धक संजीव शर्मा पुत्र रामदीन व संस्थापक जगदीश नरायण के खिलाफ धारा 228, 337, 338 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शूरू कर दी है|

फर्रुखाबाद डीएसओ सहित तीन अधिकारी निलंबित, 27 के खिलाफ कार्रवाई के आदेश

0

Posted on : 18-12-2014 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

SCHIVफर्रुखाबाद:(कानपुर) : मुख्य सचिव आलोक रंजन की क्लास में गुरुवार को मंडल के 30 अधिकारी फेल हो गए। विकास कार्यो और कानून व्यवस्था की समीक्षा व निरीक्षण में पोल खुलने पर मुख्य सचिव ने कार्रवाई के आदेश कर दिये है। कहीं निर्माण कार्यो में गुणवत्ता नहीं मिली तो कई जगह अधिकारी कार्यो में रुचि ही नहीं ले रहे थे। समीक्षा में एक-एक करके कमियां सामने आई तो उन्होंने फर्रुखाबाद के डीएसओ समेत तीन अधिकारियों को निलंबित करने का फरमान सुना दिया। पांच अधिकारियों को पद से हटाने, दो सीओ सहित सात को चेतावनी और 15 अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई तथा प्रतिकूल प्रविष्टि देने का निर्देश दिया।

बाद में पुलिस लाइन में पत्रकारों से बातचीत के दौरान मुख्य सचिव ने एक बार फिर शासन की नीतियों को स्पष्ट करते हुए अधिकारियों को विकास कार्यो में रुचि लेने की नसीहत दी।

मुख्य सचिव आलोक रंजन, एडीजी कानून व्यवस्था मुकुल गोयल, गृह सचिव कमल सक्सेना, प्रमुख सचिव पीडब्लूडी किशन सिंह अटोरिया, प्रमुख सचिव समाज कल्याण सुनील कुमार, प्रमुख सचिव पंचायत राज चंचल तिवारी, प्रमुख सचिव चिकित्सा अरविंद नारायन मिश्र तथा सचिव ग्राम्य विकास रामबहादुर का काफिला सुबह करीब दस बजे पुलिस लाइन पहुंचा। मुख्य सचिव ने उर्सला अस्पताल तथा सदर तहसील का निरीक्षण किया जबकि एडीजी मुकुल गोयल रेल बाजार व कैंट थाने का निरीक्षण करने के लिए चले गये। दोपहर बारह बजे कानपुर मंडल के प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों के साथ होटल लैंडमार्क में विकास कार्यो व कानून व्यवस्था की समीक्षा की गयी। मुख्य सचिव ने गड़बड़ी और विभागीय कार्यो में रुचि न लेने के आरोप में फर्रुखाबाद के डीएसओ हिमांशु कुमार द्विवेदी, लोहिया ग्राम में खराब सड़क निर्माण के लिए आरईएस के अवर अभियंता एसपी सिंह तथा वादों के निस्तारण में रुचि न लेने पर कानपुर देहात के चकबंदी अधिकारी रमेश बाबू को निलंबित किया गया है। औरैया की जिला कार्यक्रम अधिकारी आभा सिंह, पीडब्लूडी के जेई आरके गुप्ता, अजीतमल के तहसीलदार देवेंद्र कुमार, एई पीडब्लूडी अर्जुन मिश्रा, कानपुर नगर में सीएसए के निर्माण इकाई के प्रभारी जेके सिन्हा, केसी गुप्ता, सहायक स्थानिक अभियंता विवेकानंद सिंह, उपअभियंता अविनेश चंद्र श्रीवास्तव, संतोष कुमार तथा नरेश बाबू, लेखा प्रभारी महेश कुमार रावत व आलेख कुमार श्रीवास्तव के खिलाफ विभागीय कार्रवाई, इटावा के बिजली विभाग के अधिशासी अभियंता आरबी सिंह, एसएचओ इकदिल राधा मोहन द्विवेदी, कानपुर नगर के सीओ कर्नलगंज पीके चावला, सीओ कलक्टरगंज ज्ञानवती तिवारी, एसओ रेल बाजार शाहिद सिद्दीकी तथा एसओ कलक्टरगंज डीपी शुक्ला को चेतावनी दी गयी है। जनता की शिकायत न सुनने तथा विभागीय कार्यो में लापरवाही के आरोप में बर्रा एसओ जयवीर सिंह, फर्रुखाबाद के कंपिल के एसओ आरके सिंह और कन्नौज के एसएचओ तिरहा वीके शुक्ला को पद से हटाने के लिए कहा गया है। जिला उद्योग केंद्र कानपुर के उपायुक्त सुधांशु तिवारी, उपसंचालक चकबंदी इटावा रोशन लाल को प्रतिकूल प्रविष्ट, औरैया के डीपीआरओ ओमप्रकाश राजपूत को प्रतिकूल प्रविष्टि के साथ स्थानांतरण किया गया है। मुख्य सचिव ने कहा कि विकास कार्यो के साथ किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अगली बार वह फिर आएंगे तब जहां भी गड़बड़ी मिली उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी। समाजवादी पेंशन के लिए उन्होंने अधिकारियों के सामने 31 दिसंबर तक की डेटलाइन तय की है। उन्होंने कहा कि शहर में विकास कार्यो में तेजी लाई जाएगी। इसके लिए मंडलायुक्त को अधूरे विकास कार्यो का सर्वे कराकर रिपोर्ट देने को कहा है, जिससे धन की कमी को पूरा किया जा सके। कानपुर मंडल में कानून व्यवस्था के सवाल पर कहा कि शतप्रतिशत एफआईआर दर्ज करने व उनका समय से निस्तारण करने के निर्देश दिए गये हैं। इसके बावजूद मंडल में चार हजार से अधिक विवेचनाएं लंबित हैं। आईजी जोन को विवेचनाओं का जल्द से जल्द निस्तारण कराने के लिए कहा गया है।

गजब! अर्थी से उठा ‘मुर्दा’, और फिर चल पड़ा

0

Posted on : 18-12-2014 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS, राष्ट्रीय, सामाजिक

creamtionnn630भीलवाड़ा: जहाजपुर में बुधवार को वो करिश्मा हुआ कि लोग दंग रह गए। यहां अर्थी पर लेटा एक बुजुर्ग उठ खड़ा हुआ। इस घटना से परिजन और इलाके के लोग हैरत में पड़ गए।

दरअसल, बुधवार को 72 साल के बाबूलाल गाडोलिया को परिजनों ने मृत मानकार अर्थी की तैयारी कर ली थी। उसे नहलाकर ले जाने की तैयारी के दौरान रोने की आवाज से बाबूलाल गाडोलिया एकदम उठ खड़ा हुआ। इसके बाद बाबूलाल को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उपचार के दौरान उसने गुरुवार सुबह दम तोड़ दिया।

बुधवार सुबह 10 बजे से बेहोशी में पड़े बाबूलाल को परिजनों ने मरा हुआ मान लिया था। अर्थी तैयारियां शुरू कर दी और परिजनों और आसपास के लोगों के एकत्र होकर वहां रोने के दौरान बाबूलाल अचानक उठ खड़ा हुआ। उसके जिंदा होने की खुशी में परिजनों की आंखों से आंसू भी छलक पड़े। लेकिन गुरुवार सुबह बाबूलाल ने अंतिम सांस ले ली। डॉक्टरों के मुताबिक बाबूलाल की मौत अत्यधिक शराब पीने के कारण लीवर कमजोर होने से हुई।

इस घटना के बाद कस्बे में हर कोई बाबूलाल के घर पहुंच रहा है। मृतक के भतीजे रामेश्वरलाल गाडोलिया ने बताया कि लंबे समय से बाबूलाल बीमार था। मृत मानने के बाद बाबूलाल अचानक जिंदा हो उठा था। इससे परिजनों में बहुत खुशी थी, मगर आज वह काल का शिकार हो गया।

दबंगों ने चलती बस में पीटा

0

Posted on : 18-12-2014 | By : JNI DESK | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

Marpitफर्रुखाबाद: गुरुवार को कुछ दबंग किस्म के लोगो ने चलती बस में मारपीट कर दी| घटना की तहरीर पुलिस को दी गयी है| लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई कार्यवाही नही की है| जिससे पीडितो में रोष है|
थाना जहानगंज क्षेत्र के कस्बा निवासी गौरव पुत्र फूलसिंह व रंजीत पुत्र संतराम राजपूत प्राइवेट बस में चढ़े| जिसमें बैठे मेडिकल संचालक जितेन्द्र यादव व उसके भतीजे उदयवीर से विवाद हो गया| आक्रोशित जितेन्द्र ने गौरव को जमकर मारापीटा जब इसका विरोध उसके साथी रंजीत ने किया तो उसे भी दोनों दबंग चाचा भतीजा ने मिलकर मारा| घटना के सम्बन्ध में थाना जहानगंज में पीडितो ने तहरीर दी है| पुलिस जाँच कर रही है|