Featured Posts

निर्माणधीन बिजली घर चौकीदार नत्थू सिंह की हत्या में चार गिरफ्तारनिर्माणधीन बिजली घर चौकीदार नत्थू सिंह की हत्या में चार गिरफ्तार फर्रुखाबाद:फर्रुखाबाद: बीते 30 अक्टूबर की रात निर्माणाधीन बिजली घर में सो रहे चौकीदार की हत्या कर सिर पर सीमेंट की बोरी रख दी गयी थी| घटना के तकरीबन डेढ़ महीने बाद पुलिस ने हत्या का खुलासा किया| जिसमे पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है| थाना राजेपुर के ग्राम महमदपुर...

Read more

उपमुख्यमंत्री की सभास्थल से कुछ दूर हिन्दू महासंघ का धरनाउपमुख्यमंत्री की सभास्थल से कुछ दूर हिन्दू महासंघ का धरना फर्रुखाबाद: कटरी धर्मपुर गौसदन में गायों की दुर्दशा को लेकर विश्व हिन्दू महासंघ ने धरना दिया| धरने की सूचना पर एसडीएम सदर ने मौके पर जाकर ज्ञापन लिया और धरना समाप्त करा दिया| संगठन के जिलाध्यक्ष अविनाश दुबे ने नेतृत्व में पदाधिकारी रोडबेज बस अड्डे लाल दरवाजे के निकट स्वराज...

Read more

उपमुख्यमंत्री का काफिला रोंक अलीगंज को जिला बनाने की मांगउपमुख्यमंत्री का काफिला रोंक अलीगंज को जिला बनाने की मांग फर्रुखाबाद:उपमुख्यमंत्री केशब प्रसाद मौर्य का काफिला रोंककर अलीगंज को जिला बनाये जाने की मांग की गयी है | इस सम्बन्ध में एक पत्र भी डिप्टी सीएम को सौपा गया है| उन्होंने इस पर जल्द कार्यवाही की बात कही है| केशव प्रसाद मौर्य सभा समाप्त करके जब निरीक्षण भवन फतेहगढ़ पंहुचे वहां...

Read more

जिला उपाध्यक्ष की शिकायत पर उपमुख्यमंत्री ने दिये कार्यवाही के निर्देशजिला उपाध्यक्ष की शिकायत पर उपमुख्यमंत्री ने दिये कार्यवाही... फर्रुखाबाद:शमशाबाद नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष व वर्तमान में बीजेपी के जिला उपाध्यक्ष विजय गुप्ता ने उप मुख्यमंत्री मंत्री केशव प्रसाद मौर्य से फतेहगढ़ निरीक्षण भवन में मुलाकात की| उन्होंने आरोप लगाया कि क्षेत्राधिकारी कायमगंज के दबाव में उनकी माँ नगर पंचायत अध्यक्ष...

Read more

सपा,बसपा व कांग्रेस बिन दुल्हे की बारात: केशब प्रसाद मौर्यसपा,बसपा व कांग्रेस बिन दुल्हे की बारात: केशब प्रसाद मौर्य फर्रुखाबाद:जनपद आये उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जिले के 33 मार्गो के साथ ही रेलवे ओवरब्रिज के साथ कुल 15843.64 लाख की योजनाओं का बटन दबाकर शिलान्यास किया| इस दौरान वह पूरी तरह से विरोधियों पर हमलावर रहे| उन्होंने कहा आगामी लोकसभा चुनाव में मोदी फिर से पीएम बनेंगे| लेकिन...

Read more

सोशल मीडिया पर पीएम के खिलाफ अशोभनीय पोस्ट पर एनएसए के खिलाफ तहरीरसोशल मीडिया पर पीएम के खिलाफ अशोभनीय पोस्ट पर एनएसए के खिलाफ... फर्रुखाबाद:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभद्र पोस्ट करने के मामले में बीजेपी नेता भडक गये| उन्होंने नगर शिक्षा अधिकारी के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी| बीजेपी के फतेहगढ़ मंडल अध्यक्ष रामवीर चौहान के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ता कोतवाली पंहुचे| रामवीर...

Read more

सरकार के अफसर ही कर रहे पीएम मोदी की फजीयत!सरकार के अफसर ही कर रहे पीएम मोदी की फजीयत! फर्रुखाबाद:सोशल मीडिया पर इन दिनों जिले के बेसिक शिक्षा विभाग के एक अफसर द्वारा डाली गयी पीएम मोदी की तस्वीर में कायदे से फजीयत करने का प्रयास किया गया है| लेकिन इसके बाद भी अभी एक सरकारी महकमे में कार्यवाही किये जाने को लेकर चर्चा तक शुरू नही हुई| यह सही है की लोकतन्त्र...

Read more

सरकारी पदों पर सामाजिक समीकरणों को ध्यान में रख हो तैनाती:अनुप्रिया पटेलसरकारी पदों पर सामाजिक समीकरणों को ध्यान में रख हो तैनाती:अनुप्रिया... फर्रुखाबाद:अपना दल की मासिक बैठक में हिस्सा लेने आयी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने साफ़ किया की उन्हें सरकारी पदों पर बराबरी का दर्जा चाहिए| उन्होंने कहा की सरकार पुलिस व प्रसासनिक पदों पर सामजिक समीकरणों का ध्यान रखकर नियुक्ति करे| शहर के...

Read more

दलाई लामा बोले करुणा सभी धर्मों का मूल उद्देश्यदलाई लामा बोले करुणा सभी धर्मों का मूल उद्देश्य मैनपुरी:तिब्बती धर्मगुरु दलाईलामा का मानना है कि व्यक्ति को खुद के अंदर सुधार कर धर्म की ओर अग्रसर होना चाहिए। शुद्ध आचरण करने से मन को मिलने वाली शांति आध्यात्म की ओर अग्रसर करती है। उन्होंने करुणा को सभी धर्मों का मूल उद्देश्य बताया है। 14 वें दलाईलामा तेनजिन ज्ञात्सो...

Read more

दलाई लामा के मंच पर पिस्टल लेकर पंहुचा अपर्णा यादव का सुरक्षाकर्मी,मचा हड़कम्पदलाई लामा के मंच पर पिस्टल लेकर पंहुचा अपर्णा यादव का सुरक्षाकर्मी,मचा... फर्रुखाबाद:बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा के मंच पर उस समय हड़कम्प मच गया जब पूर्व मुख्यमंत्री की पुत्रबधु का सुरक्षा कर्मी पिस्टल लेकर मंच पर चढ़ गया| यह देखकर पुलिस कर्मियों के हाथ पैर फूल गये| जिसके बाद उसे पुलिस अधिकारियों ने बाहर किया| दरअसल माजरा यह है की मैनपुरी के राजघाट...

Read more

चार मीनार देखने के लिए भी लेना पड़ता वीजा यदि पटेल न होते:मोदी

Comments Off on चार मीनार देखने के लिए भी लेना पड़ता वीजा यदि पटेल न होते:मोदी

Posted on : 31-10-2018 | By : JNI-Desk | In : Delhi, FARRUKHABAD NEWS, Narendra Modi, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देशवासियों को विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा की सौगात दी। उन्होंने गुजरात के नर्मदा जिले के केवडिया में देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मी. ऊंची प्रतिमा का उद्घाटन किया। खास बात है कि आज सरदार पटेल की जयंती भी है। आद देश सरदार पटेल की 143वीं जयंती मना रहा है। उद्घाटन समारोह के दौरान पीएम मोदी ने लंबा भाषण भी दिया। उन्होंने अपने भाषण के दौरान सरदार पटेल की उपलब्धियों का जिक्र किया, साथ ही उन्होंने पटेल की प्रतिमा को लेकर विपक्ष पर राजनीति करने का आरोप भी लगाया। मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत “सरदार पटेल अमर रहे” के नारे के साथ की। उन्होंने कहा कि आज पूरा देश राष्ट्रीय एकता दिवस मना रहा है। देश की एकता और अखंडता के लिए युवा दौड़ रहे हैं। मैं उनके इस जज्बे को मैं नमन करता हूं।
आज का दिन ऐतिहासिक
मोदी ने कहा कि आज जो हुआ वो इतिहास में दर्ज हो गया है और इसे इतिहास से कोई मिटा नहीं पाएगा। आज जब धरती से लेकर आसमान तक सरदार सहाब का अभिषेक हो रहा है तब भारत ने न सिर्फ अपने लिए नया इतिहास रचा है बल्कि भविष्य के लिए प्रेरणा का गगनचुंबी आधार भी तैयार किया है। पीएम मोदी ने आगे कहा ‘सरदार की प्रतिमा को समर्पित करने का अवसर सौभाग्य की बात है। जब मैंने गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर इसकी कल्पना की थी, तो अहसास नहीं था कि एक दिन प्रधानमंत्री के तौर पर मुझे ही यह पुण्य काम करने का मौका मिलेगा। सरदार साहब के इस आशीर्वाद के लिए मैं खुद को धन्य मानता हूं।’
मुख्यमंत्री रहते की प्रोजेक्ट की कल्पना
पीएम मोदी ने बताया कि मुख्यमंत्री रहते ही उन्होंने इस प्रोजेक्ट की कल्पना की थी। मोदी ने कहा कि मुझे लोहा अभियान के दौरान लोहे का पहला टुकड़ा भी सौंपा गया है। मैं गुजरात के लोगों के प्रति कृतज्ञ हूं। मैं इन चीजों को यहीं पर छोड़ूंगा, ताकि देश इसे देख सके। उन्होंने कहा कि जब यह कल्पना मन में चल रही थी, तो मैं यहां के पहाड़ों को खोज रहा था।
मेरा विचार था कि नक्काशी कर सरदार साहब की प्रतिमा उस पर निकाली जाए। लेकिन जांच के बाद ऐसी कोई मजबूत चट्टान नहीं मिली। फिर विचार बदलना पड़ा। आज जो रूप आप देख रहे हैं, उसने वहीं से जन्म लिया। इस परियोजना की कल्पना मैंने तब की थी जब मैं गुजरात का मुख्यमंत्री था। इस प्रतिमा के निर्माण के लिए लाखों किसान साथ आए और अपने औजार और मिट्टी देकर अपने हिस्से का योगदान दिया।
निराशावादियों की किरण थे सरदार पटेल
निराशावादी उस जमाने में भी थे। निराशावादियों को भी लगता था कि भारत अपनी विविधताओं की वजह से बिखर जाएगा। निराशा के उस दौर में भी सभी को एक किरण दिखती है। और यह उम्मीद की किरण थे सरदार वल्लभ भाई पटेल। सरदार पटेल में कौटिल्य की कूटनीति और शिवाजी महाराज के शौर्य का समावेश था। उन्होंने पांच जुलाई 1947 को रियासतों को संबोधित करते हुए कहा था- विदेशी आक्रांताओं के सामने हमारे आपसी झगड़े, दुश्मनी, बैर का भाव हमारी हार की बड़ी वजह थी। अब हमें इस गलती को नहीं दोहराना है। और न ही दोबारा किसी का गुलाम होना है। सरदार साहब के इसी संवाद से एकीकरण की शक्ति को समझते हुए राजा-रजवाड़ों ने अपने विलय का फैसला किया। देखते ही देखते भारत एक हो गया।
सरदार साहब का सामर्थ्य तब भारत के काम आया था जब मां भारती साढ़े पांच सौ से ज्यादा रियासतों में बंटी थी। दुनिया में भारत के भविष्य के प्रति घोर निराशा थी। निराशावादियों को लगता था कि भारत अपनी विविधताओं की वजह से ही बिखर जाएगा। सरदार साहब के इसी संवाद से, एकीकरण की शक्ति को समझते हुए उन्होंने अपने राज्यों का विलय कर दिया। देखते ही देखते, भारत एक हो गया। सरदार साहब के आह्वान पर देश के सैकड़ों रजवाड़ों ने त्याग की मिसाल कायम की थी। हमें इस त्याग को भी कभी नहीं भूलना चाहिए।
..तो अपने देश में घूमने के लिए ही लेना पड़ता वीजा
सरदार साहब ने संकल्प न लिया होता, तो आज गिर के शेर को देखने के लिए, सोमनाथ में पूजा करने के लिए और हैदराबाद चार मीनार को देखने के लिए हमें वीजा लेना पड़ता। सरदार साहब का संकल्प न होता, तो कश्मीर से कन्याकुमारी तक की सीधी ट्रेन की कल्पना भी नहीं की जा सकती थी। सरदार साहब का संकल्प न होता, तो सिविल सेवा जैसा प्रशासनिक ढांचा खड़ा करने में हमें बहुत मुश्किल होती।
इंजीनियरिंग और तकनीकी सामर्थ्य है प्रतिमा
स्टैचू ऑफ यूनिटी हमारे इंजीनियरिंग और तकनीकी सामर्थ्य का भी प्रतीक है। बीते करीब साढ़े तीन वर्षों में हर रोज कामगारों ने, शिल्पकारों ने मिशन मोड पर काम किया है। राम सुतार जी की अगुवाई में देश के अद्भुत शिल्पकारों की टीम ने कला के इस गौरवशाली स्मारक को पूरा किया है। आज जो ये सफर एक पड़ाव तक पहुंचा है, उसकी यात्रा 8 वर्ष पहले आज के ही दिन शुरु हुई थी। 31 अक्टूबर 2010 को अहमदाबाद में मैंने इसका विचार सबके सामने रखा था। करोड़ों भारतीयों की तरह तब मेरे मन में एक ही भावना थी कि जिस व्यक्ति ने देश को एक करने के लिए इतना बड़ा पुरुषार्थ किया हो, उसको वो सम्मान आवश्य मिलना चाहिए जिसका वो हकदार है।
विपक्ष पर निशाना
सरदार पटेल की प्रतिमा के उद्घाटन के मौके पर पीएम मोदी ने विपक्ष को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि कई बार तो मैं हैरान रह जाता हूं, जब देश में ही कुछ लोग हमारी इस मुहिम को राजनीति से जोड़कर देखते हैं। सरदार पटेल जैसे महापुरुषों, देश के सपूतों की प्रशंसा करने के लिए भी हमारी आलोचना होने लगती है। ऐसा अनुभव कराया जाता है मानो हमने बहुत बड़ा अपराध कर दिया है। हमारी जिम्मेदारी है कि हम देश को बांटने की हर तरह की कोशिश का पुरजोर जवाब दें। इसलिए हमें हर तरह से सतर्क रहना है। समाज के तौर पर एकजुट रहना है।

SC/ST आरक्षण का लाभ सिर्फ एक ही राज्य में ले सकेंगे:सुप्रीम कोर्ट

Comments Off on SC/ST आरक्षण का लाभ सिर्फ एक ही राज्य में ले सकेंगे:सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली:सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली समेत केंद्र शासित राज्यों में आरक्षण के मुद्दे पर अहम टिप्पणी की है। कोर्ट की पांच सदस्यीय संवैधानिक पीठ ने कहा कि देशभर में आरक्षण की एक समान व्यवस्था अपनाई जाएं और इसी प्रक्रिया के तहत दिल्ली में अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों को नौकरी में आरक्षण का लाभ दिया जाए।
सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक, SC/ST आरक्षण के तहत सेवा या नौकरी में लाभ पाने वाला व्यक्ति किसी दूसरे राज्य में उसका फायदा नहीं ले सकता है। जबतक कि वहां उसकी जाति सूचीबद्ध न हो। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अनुसूचित जाति और जनजाति के लिये अखिल भारत स्तर पर आरक्षण का नियम विचार करने योग्य होगा। अनुसूचित जाति और जनजाति के लिये आरक्षण का लाभ एक राज्य या केन्द्र शासित प्रदेश की सीमा तक ही सीमित रहेगा।
एक राज्य के अनुसूचित जाति या अनुसूचति जनजाति समूह के सदस्य दूसरे राज्य के सरकारी नौकरी में आरक्षण के लाभ का तब तक दावा नहीं कर सकते जब तक उनकी जाति वहां सूचीबद्ध नहीं हो। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के सामने सवाल था कि एक राज्य में जो व्यक्ति अनुसूचित जाति में है तो क्या वह दूसरे राज्य में अनुसूचित जाति में मिलने वाले आरक्षण का लाभ ले सकता है। जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा है कि नहीं, ऐसा नहीं हो सकता।
इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ये भी आदेश दिया है कि कोई भी राज्य सरकार अपनी मर्जी से अनुसूचित जाति, जनजाति की लिस्ट में कोई बदलाव नहीं कर सकती है। ये अधिकार सिर्फ राष्ट्रपति का ही है। या फिर राज्य सरकारें संसद की सहमति से ही लिस्ट में कोई बदलाव कर सकती है। हालांकि, जो व्यक्ति राजधानी दिल्ली में सरकारी नौकरी करने वालों को अनुसूचित जाति से संबंधित आरक्षण केंद्रीय सूची के हिसाब से मिलेगा।आपको बता दें कि एक अन्य मामले में भी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। जिसमें ये तय होना है कि क्या सरकारी नौकरी में मिलने वाले प्रमोशन में भी एससी/एसटी वालों को आरक्षण मिलना चाहिए या नहीं।
सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ में शामिल पांच जजों में से चार जजों ने इस बात पर जोर दिया कि देशभर आरक्षण की व्यवस्था समान हो, और ये व्यवस्था दिल्ली और बाकी के केंद्र शासित प्रदेशों में लागू हो। वहीं पीठ के पांचवें जज ने अलग निर्णय दिया। उनके मुताबिक दिल्ली और अन्य केंद्र शासित प्रदेशों को एक राज्य के तौर पर माना जाएं और उसी के मुताबिक उन्हें अनुसूचित जाति और जनजाति के लिए अपनी अलग लिस्ट तैयार करने की इजाजत दी जानी चाहिए।

ऐसा करने वाले पहले भारतीय गेंदबाज बने अश्विन,विराट की कप्तानी में रचा इतिहास,

Comments Off on ऐसा करने वाले पहले भारतीय गेंदबाज बने अश्विन,विराट की कप्तानी में रचा इतिहास,

Posted on : 03-08-2018 | By : JNI-Desk | In : Delhi, FARRUKHABAD NEWS, राष्ट्रीय

नई दिल्ली:पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में भारत इस वक्त पहला मुकाबला इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम में खेल रहा है। इस टेस्ट मैच में अब तक भारत के लिहाज से सबसे बेहतरीन गेंदबाजी टीम के सीनियर स्पिनर आर अश्विन ने किया है। अश्विन ने पहली पारी में भी अपने स्पिन का जादू दिखाया था और दूसरी पारी में भी उनका ऐसा जलवा देखने को मिल रहा है। इस टेस्ट मैच के दौरान अश्विन ने विराट की कप्तानी में खेलते हुए एक जबरदस्त रिकॉर्ड अपने नाम किया जो अब तक किसी भी भारतीय गेंदबाज ने नहीं किया था।
विराट की कप्तानी में अश्विन ने टेस्ट में लिए 200 विकेट
टेस्ट क्रिकेट में ऐसा कई वक्त आया है जब अश्विन ने भारतीय टीम की जीत में कमाल की भूमिका निभाई है। अश्विन भारतीय टेस्ट टीम का अहम हिस्सा हैं और विराट की कप्तानी में उन्होंने अब तक शानदार प्रदर्शन भी किया है। इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के दौरान अश्विन ने विराट की कप्तानी में टेस्ट क्रिकेट में अपना 200वां विकेट लिया। अश्विन से पहले अन्य किसी भी भारतीय गेंदबाज ने ऐसी उपलब्धि हासिल नहीं की थी। एक नजर डालते हैं इस आंकड़े पर जिससे ये साफ हो जाएगा कि किस कप्तान की कप्तानी में किस गेंदबाज ने कितने मैचों में टेस्ट क्रिकेट में 200 विकेट लिए।
ऐसे ही नहीं हैं अश्विन दुनिया के नंबर एक टेस्ट गेंदबाज, जानिए ये कमाल के आंकड़े
आर अश्विन (34 टेस्ट)- विराट कोहली,मैलकम मार्शल (40 टेस्ट)- विवियन रिचर्ड्स
वनडे में अश्विन के भविष्य पर टर्बनेटर भज्जी ने कर दी ये भविष्यवाणी
एलन डोनाल्ड (40 टेस्ट)- हैंसी क्रोंजे,डेल स्टेन (40 टेस्ट)- ग्रेम स्मिथ
पहली पारी में छा गए अश्विन
पहली पारी में इंग्लैंड के खिलाफ आर अश्विन का प्रदर्शन काफी जबरदस्त रहा। उन्होंने मेजबान टीम के खिलाफ पहली पारी में 26 ओवर गेंदबाजी करते हुए 62 रन देकर 4 विकेट लिए। उन्होंने 2.38 की इकॉनामी रेट से गेंदबाजी की और सात ओवर मेडन भी फेंके। उन्होंने एलिएस्टर कुक, बेन स्टोक्स, जोस बटलर और स्टुअर्ट ब्रॉड जैसे बल्लेबाजों को आउट किया। पहली पारी में वो अश्विन ही थे जिन्होंने कुक के तौर पर भारतीय टीम को पहली सफलता दिलाई।
दूसरी पारी में भी प्रभावित कर रहे हैं अश्विन
अश्विन ने हाल ही में इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट खेला था और उन्होंने बताया कि यहां खेलने के बाद उन्होंने अपनी गेंदबाजी में काफी कुछ बदलाव किए और उसी का नतीजा है कि वो विकेट लेने में सफल रहे। अश्विन की बात बिल्कुल सही निकली। पहली पारी में तो वो प्रभावी रहे ही दूसरी पारी में भी उनका जलवा बरकरार है। खबर लिखए जाने तक अश्विन ने अब तक मेजबान टीम के तीन बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखा दिया है जिसमें कुक, जेनिंग्स और कप्तान कुक शामिल हैं। दूसरी पारी में भी अश्विन ने ही भारत को पहली सफलता दिलाई और उनका शिकार बने एलिएस्टर कुक जो अपना खाता भी नहीं खोल पाए।

सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत हर महीने 4 रुपये बढ़ेगी, सब्सिडी खत्‍म करना मकसद

Comments Off on सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत हर महीने 4 रुपये बढ़ेगी, सब्सिडी खत्‍म करना मकसद

Posted on : 01-08-2017 | By : JNI-Desk | In : Delhi, FARRUKHABAD NEWS, राष्ट्रीय

नई दिल्ली: सरकार ने सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत अगले साल मार्च तक हर महीने चार रुपये बढ़ाने की घोषणा की है. इसका मकसद मार्च, 2018 तक घरेलू सिलेंडरों पर मिलने वाली छूट को खत्‍म करना है. इस संबंध में पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को लोकसभा में कहा, ”पिछले साल सरकार ने ऑयल कं‍पनियों को सब्सिडी पर मिलने वाले सिलेंडरों के दाम हर महीने 2 रुपये बढ़ाने का ऑर्डर दिया था लेकिन अब वह बढ़ोतरी चार रुपये कर दी है.”

इस तरह अगले साल मार्च तक सिलेंडर की कीमत 32 रुपये बढ़ जाएगी. उल्‍लेखनीय है कि अभी हर एलपीजी सिलेंडर कनेक्‍शन पर साल भर में 12 सिलेंडर सब्सिडी रेट पर मिले हैं. उसके बाद उपभोक्‍ताओं को बाजार की दरों पर सिलेंडर को खरीदना पड़ता है. इसके मुताबिक कंपनियां 10 मौकों पर दाम बढ़ा सकती थीं| उन्‍होंने बताया कि इस संबंध में सरकार ने इसी मई में अपने ऑर्डर में कंपनियों से कहा है कि वो एक जून से लेकर मार्च, 2018 तक या अगले आदेश तक हर महीने प्रति सिलेंडर चार रुपये कीमत बढ़ा सकती हैं. उल्‍लेखनीय है कि जुलाई में लोगों को एक सिलेंडर पर 86 रुपये की सब्सिडी दी गई|

Jio जियो: मुफ्त में मिलेगा 4जी फोन, 24 अगस्त से होगी बुकिंग

Comments Off on Jio जियो: मुफ्त में मिलेगा 4जी फोन, 24 अगस्त से होगी बुकिंग

Posted on : 21-07-2017 | By : JNI-Desk | In : Delhi, FARRUKHABAD NEWS, राष्ट्रीय, सामाजिक

नई दिल्ली: अपने डाटा प्लान से दूरसंचार क्षेत्र में तहलका मचाने वाले रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने शुक्रवार को एक और धमाका किया। उन्होंने ‘इंटेलीजेंट स्मार्टफोन’ जियो फोन के लांच की घोषणा की। इसमें 4जी डाटा सुविधाएं होंगी, साथ ही जिंदगीभर मुफ्त वॉयस कॉल भी मिलेगी। कंपनी ने इसे पूरी तरह से भारतीय फोन करार दिया।
1) कितनी कीमत चुकानी होगी
जियो फोन की प्रभावी कीमत ‘शून्य’ रखी गई है यानी जियो फोन उपभोक्ताओं को मुफ्त मिलेगा। हालांकि जियो उपभोक्ताओं को सिक्योरिटी मनी के तौर पर 1500 रुपये चुकाने होंगे। ये धनराशि तीन साल बाद फोन लौटाने पर वापस भी मिल जाएंगे।
2) कब तक हाथ में आएगा
जियो फोन 15 अगस्त से प्रशिक्षण के लिए उपलब्ध होगा। इसकी बुकिंग 24 अगस्त से शुरू होगी। पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर सितंबर में इस फोन की डिलीवरी शुरू होगी। कंपनी का लक्ष्य हर हफ्ते 50 लाख लोगों तक फोन पहुंचाने का है।
3) क्या हैं इसके फीचर्स
अल्फान्यूमेरिक कीपैड, 4वें नेवीगेशन, कॉम्पैक्ट डिजाइन, फोन कॉन्टैक्ट्स, कॉल हिस्ट्री, 2.4” क्यूवीजीए डिस्प्ले, एसडी कार्ड स्लॉट-कैमरा, माइक्रोफोन और स्पीकर, हेडफोन जैक, रिंगटोन्स, टॉर्च, एफएम रेडियो, 4जी VoLTE तकनीक पर आधारित
4) क्या हैं इसकी खासियत
– टचस्क्रीन इसमें नहीं है लेकिन आप बोलकर गाने सुन सकेंगे
– इंटरनेट पर सर्फिंग के लिए भी वॉयस कमांड का इस्तेमाल
– संदेश भी आप बोल कर भेज सकते हैं। बस संदेश भेजने के लिए प्राप्तकर्ता का नाम बोलना होगा
– जियो के सारे एप इसमें प्रीलोडेड होंगे
– 22 भाषाओं में कमांड समझेगा फोन
5) आपातकालीन बटन
मुश्किल में होने पर 5 नंबर की बटन को थोड़ी देर दबाकर रखने से फोन में पहले से सुरक्षित कुछ नंबरों पर आपकी लोकेशन चली जाएगी। जल्द ही इस फीचर में स्थानीय पुलिस को भी जोड़ा जाएगा।
6) एनएफसी तकनीक भी जल्द
जियो आने वाले समय में इस फोन पर एनएफसी तकनीक भी शुरू करेगी। इसकी मदद से आप जनधन खाते, यूपीआई खाते, बैंक खाते और डेबिट-क्रेडिट कार्ड को जोड़ने के साथ-साथ भुगतान भी कर सकेंगे।
7) क्या हैं ऑफर
-जियोफोन पर उपभोक्ताओं को अनलिमिटेड डाटा की सुविधा मिलेगी
– जियो अनलिमिटेड धन धना धन प्लान सिर्फ 153 रुपये में उपलब्ध होगा
– फोन पर वॉयस कॉलिंग हमेशा मुफ्त रहेगी
– 24 रुपये का दो दिन का प्लान और 54 रुपये का साप्ताहिक प्लान भी लांच किया।

[bannergarden id="12"]