Featured Posts

अविश्वास प्रस्ताव में चली गयी सगुना की कुर्सीअविश्वास प्रस्ताव में चली गयी सगुना की कुर्सी फर्रुखाबाद: जिला पंचायत अध्यक्ष सगुना देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव आने के बाद गुरुवार को एक बजे तक 21 जिला पंचायत सदस्यों ने अपना अविश्वास सगुना देवी में दिखा दिया| सगुना के पक्ष वाले 8 जिला पंचायत सदस्य उनके पक्ष में हाथ उठाने नही पंहुचे| अविश्वास लाने वाले जिला पंचायत...

Read more

राजेपुर ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव सहित उनके 26 साथियों पर मुकदमा दर्जराजेपुर ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव सहित उनके 26 साथियों पर मुकदमा... फर्रुखाबाद: ब्लाक प्रमुखी में अविश्वास प्रस्ताव लाने के प्रयास में लगे बीजेपी नेता को धमकाने के मामले में पुलिस ने राजेपुर ब्लाक प्रमुख सुबोध यादव व उनके 26 साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं बीजेपी नेता को पुलिस सुरक्षा दी गयी है। थाना क्षेत्र के...

Read more

अविश्वास प्रस्ताव- बिना दूल्हे की बारात में दहेज़ पर मसक्कत, सगुना ही रहेगी अध्यक्षा!अविश्वास प्रस्ताव- बिना दूल्हे की बारात में दहेज़ पर मसक्कत,... फर्रुखाबाद: जिला पंचायत में अध्यक्षा के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव बड़े ही ढोल पीट कर दे दिया गया है| मगर अगर अविश्वास प्रस्ताव आ गया तो अगला अध्यक्ष कौन बनेगा? अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित सीट है और दावेदार केवल पांच| एक वर्तमान में अध्यक्षा है और बाकी के चार के लिए...

Read more

आप संडे की छुट्टी मना रहे हैं, वहां योगी ने ले लिया बेहद सनसनीखेज फैसला, पूरे यूपी में मचा तहलकाआप संडे की छुट्टी मना रहे हैं, वहां योगी ने ले लिया बेहद सनसनीखेज... लखनऊ : उत्तर प्रदेश को अब उत्तम प्रदेश बनने से कोई नहीं रोक सकता, ऐसा हम नहीं कह रहे हैं बल्कि ऐसा तो आप खुद कहेंगे इस बेहद सनसनीखेज खबर को पढ़ने के बाद. सीएम योगी प्रदेश में कानूनों का सही तरीके से पालन हो इसके लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे हैं और अब इसी सिलसिले में योगी सरकार...

Read more

बंदियों ने जेल अधीक्षक का सिर फोड़ा, प्रभारी डीएम घायल, डाक्टर पर कार्यवाहीबंदियों ने जेल अधीक्षक का सिर फोड़ा, प्रभारी डीएम घायल, डाक्टर... फर्रुखाबादः जिला जेल फतेहगढ़ में रविवार सुबह से चल रहे बबाल में आक्रोषित बंदियों ने जेल अधीक्षक का सिर पत्थर मारकर फोड़ दिया। बंदियों की मांग पर जेल के चिकित्सक डा0 नीरज को उनके पद से हटा दिया गया। प्रभारी डीएम सीडीओ एनपी पाण्डेय को भी पत्थर मारकर बंदियों ने घायल कर दिया।...

Read more

ब्रेकिंग - जिला जेल में बंदीयों ने की तोड़फोड़ व पथरावब्रेकिंग - जिला जेल में बंदीयों ने की तोड़फोड़ व पथराव फर्रुखाबादः रविवार को सुबह किसी बात को लेकर जिले जेल के बंदी अचानक भड़क गये। जिसके चलते उन्होंने पथराव शुरू कर दिया। इसके साथ ही बंदियों ने काफी तोड़फोड़ कर दी। आगजनी का मामला भी सामने आया है। सूचना मिलने पर जेल में अलार्म व शायरन भी बजाया गया। लेकिन फिलहाल कोई असर दिखायी...

Read more

योगी मंत्रिमंडल की पूरी अधिकृत सूची- किसको मिला कौन सा विभागयोगी मंत्रिमंडल की पूरी अधिकृत सूची- किसको मिला कौन सा विभाग लखनऊ: उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक ने मुख्यमंत्री श्री आदित्य नाथ योगी के प्रस्ताव दोनों उप मुख्यमंत्रियों सहित सभी 22 मंत्री, 9 राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा 13 राज्यमंत्रियों को विभाग आवंटित करने पर अपना अनुमोदन प्रदान कर दिया है। मुख्यमंत्री ने गृह, आवास...

Read more

रिश्वत वसूली ऊपर वाले के लिए करनी पड़ती है...रिश्वत वसूली ऊपर वाले के लिए करनी पड़ती है... भाई साहब फाइल पर साहब का अप्र्रोवल लेना है खर्चा दो| दफ्तर के बाबू ने बड़ी शालीनता से ठेकेदार से रिश्वत की मांग अपने साहब के लिए कर दी| साथ ही ठेकेदार पर एहसान भी लाद दिया, आप तो घर के आदमी है मुझे कुछ नहीं चाहिए| रिश्वत कोई अपने लिए नहीं वसूलता है यहाँ सब ऊपर वाले के लिए रिश्वत...

Read more

ब्रेकिंग-आरोपी के घर बंद कमरे में मिली डिस संचालक की लाशब्रेकिंग-आरोपी के घर बंद कमरे में मिली डिस संचालक की लाश फर्रुखाबाद: शहर कोतवाली क्षेत्र के पक्कापुल निवासी मुकेश पुत्र ओमप्रकाश के अपहरण का मुकदमा तकरीबन 10 दिन पूर्व परिजनों ने कोतवाली में दर्ज कराया था। गुरुवार की शाम आरोपी के घर के अंदर ही मुकेश की लाश मिलने से पुलिस पर सवालिया निशान लगने लगे हैं। गुरुवार की शाम परिजनों...

Read more

रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति अरेस्ट, 17 दिन से खोज रही थी पुलिसरेप के आरोपी गायत्री प्रजापति अरेस्ट, 17 दिन से खोज रही थी पुलिस लखनऊ: .रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति को लखनऊ पुलिस और एसटीएफ ने यहां बुधवार को अरेस्ट कर लिया है। वह करीब 17 दिन से फरार चल रहे थे। ऐसा कहा जा रहा कि लखनऊ के आलमबाग थाने में पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। मंगलवार को उनके दोनों बेटों अनुराग प्रजापति और अनि‍ल प्रजापति को पूछताछ...

Read more

नसीमुद्दीन रहे मायावती के कलेक्शन अमीन: स्वामी प्रसाद

Comments Off on नसीमुद्दीन रहे मायावती के कलेक्शन अमीन: स्वामी प्रसाद

Posted on : 26-05-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, Politics-BSP, Politics-CONG.

फर्रुखाबाद: योगी सरकार के के श्रमसेवायोजन व समन्वय मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य बसपा सुप्रीमो व् नसीमुद्दीन पर आक्रामक दिखे| उन्होंने बसपा को मरी हुई पार्टी बताया और कहा कि नसीमुद्दीन मायवती के कलेक्शन अमीन रहे| एकत्रित की गयी दौलत के साथ मायवती बहुत जल्द देश के बाहर भाग सकती है|

शहर के आवास विकास स्थित बीजेपी नेता शैतान सिंह शाक्य के आवास पर आये स्वामी प्रसाद ने कहा कि उनके विभाग में पिछली सरकार ने जो योजनाये चलायी उनकी जाँच की जा रही है| सपा ने साइकिले केबल विधायको की सूची पर ही मजदूर मानकर रेबडी जैसी बाँट दी| अब सरकार मजदूरों के लिये विभिन्य योअनाये चला रही है| इस बाद पारदर्शिता के साथ साइकिल का वितरण किया जायेगा| पिछली सरकार में जागरूकता ना होने के कारण मजदूरों ने कम संख्या में पंजीकरण कराया था| अब अफसरों को रजिस्ट्रेशन की संख्या को बढ़ाने के निर्देश दिये गये है|

उन्होंने प्रदेश में बढ़ रही अपराधिक घटनाओ पर कहा कि सपा सरकार से कम योगी सरकार में अपराध हो रहा है| और जो अपराध आकर रहे है वह तत्काल जेल जा रहे है| उन्होंने मायावती पर तीखे हमले किये| श्री मौर्य ने कहा कि बसपा मरी हुई पार्टी है| आज नसीमुद्दीन पार्टी में नही लेकिन उन्होंने मायावती के लिये कलेक्शन अमीन की तरह कार्य किया| अब मायावती के पास इतनी दौलत है कि वह उसे लेकर बिदेश भी भाग सकती है|

बीएसपी ने पालिका चुनाव के लिये बनायी अलग से कमेटी

Comments Off on बीएसपी ने पालिका चुनाव के लिये बनायी अलग से कमेटी

Posted on : 16-05-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, PALIKA CHUNAV, Politics, Politics-BSP

फर्रुखाबाद: बहुजन समाज पार्टी ने अपनी नई कमेटी की घोषणा कर दी| इसके साथ ही साथ पालिका चुनाव को देखते हुये बीएसपी सुप्रीमो के निर्देश पर मुनकाद अली सांसद (राज्य सभा) ने पालिका चुनाव में सह और मात के खेल के लिये नगर पालिका की कमेटी का गठन किया है| जो पालिका चुनाव में अपनी अहम भूमिका अदा करेगी|

मुनकाद अली प्रभारी पश्चिमी उतर प्रदेश ने जिला कमेटी में जिलाध्यक्ष सुभाष गौतम, जिला उपाध्यक्ष पद पर जंगाली लाल वाथम की जगह जहागीर मंसूरी, जिला महासचिव दुर्गा प्रसाद की जगह पर सुदेश पाल, जिला सचिव के पद पर मो० ताहिर खां की जगह अरविन्द वाथम व जिला कोषाध्यक्ष कौशल शाक्य की जगह मोहित शुक्ला को मनोनीत किया है|

वही विधानसभा कायमगंज में अध्यक्ष पद परसुरेन्द्र राजपूत की जगह कौशल शाक्य, विधानसभा महासचिव सुरजीत सिंह दिवाकर व कोषाध्यक्ष हासिम मंसूरी को बनाया गया है| अमृत विधान सभा में अध्यक्ष पद पर राजकुमार गौतम, महासचिव राम किशन कश्यप व कोषाध्यक्ष पद पर संजय दीक्षित को मनोनीत किया है| सदर विधानसभा में अध्यक्ष नरेन्द्र जाटव, महासचिव अब्दुल रहमान, कोषाध्यक्ष पद पर सुशील चौहान व भोजपुर विधान सभा में अध्यक्ष पद के लिये रामनरेश गौतम व महासचिव अरविन्द बाथम व कोषाध्यक्ष के लिये अनंत सिंह राठौर को जगह मिली है|

बीएसपी ने इस बार पालिका पर कब्जा करने की रणनीति बनाई है| इसके लिये माया ने अपनी सेना भी तैयार की है| बीएसपी नगर पालिका कमेटी के नाम से बने समूह में अध्यक्ष शरद श्रीवास्तव, उपाध्याक्ष अफरोज आलम, सचिव लोकेन्द्र शाक्य व कोषाध्यक्ष पद पर राजेश दिवाकर को जगह मिली है| जिलाध्यक्ष सुभाष गौतम ने बताया कि बसपा वार्ड स्तर तक अपने प्रत्याशी लगायेगी|

भ्रष्टाचार की देवी हैं मायावती : स्वामी प्रसाद

Comments Off on भ्रष्टाचार की देवी हैं मायावती : स्वामी प्रसाद

Posted on : 13-05-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, Politics-BSP

बहराइच: उत्तर प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने बहराइच जिले में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती पर जमकर जुबानी हमला बोला। उन्होंने कहा कि मायावती महाभ्रष्ट हैं, अगर उनको ‘भ्रष्टाचार की देवी’ कहा जाए तो ये नाम भी छोटा पड़ जाएगा। मौर्य ने कहा कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी और मायावती दोनों एक ही थाली के चट्टेबट्टे थे। सिद्दीकी वसूल कर लाते थे और मायावती खुशी से ले लेती थीं। अब दोनांे में कोई बात खटक गई, जिसके चलते सिद्दीकी को बाहर जाना पड़ा।

बहराइच पहुंचे योगी सरकार के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “बसपा मुखिया मायावती का खेल तो उसी समय खत्म हो गया, जिस समय मैंने अपनी राजनीति से मायावती को बर्खास्त किया। जिस दिन मैंने इस्तीफा दिया, उसी दिन मायावती पहले पायदान से तीसरे पायदान पर चली गईं और उनका हाथी उसी दिन से कोमा में चला गया है, उस दिन से खड़ा नहीं हो पा रहा है।”उन्होंने कहा, “मायावती कांशीराम जी के विचारों की हत्या कर रही हैं। मेरे इस्तीफा देने के बाद मायावती का चिट्ठा लगातार खुलता जा रहा है, जिसके चलते मायावती जी पैदल हो चुकी हैं। मायावती को किसी से कोई मतलब नहीं। उनको जो भी नोट की गड्डियां देगा, वो मायावती की नाक का बाल होगा।”

वह यही नहीं रुके, उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, “मायावती कितनी महाभ्रष्ट है अगर उनको भ्रष्टाचार का देवी कहा जाए तो भी ये छोटा नाम पड़ जाएगा। नसीमुद्दीन सिद्दीकी मायावती के इतने करीबी थे कि उन्हें चाहे नाक का बाल कहिए, चाहे दाहिना हाथ कहिए। इसलिए वह मायावती के बारे में जो भी कह रहे हैं, सच कह रहे हैं और सच के सिवा कुछ भी नहीं है।” प्रभारी मंत्री ने सतीश चंद्र मिश्रा पर भी जमकर जुबानी हमला बोला। उन्हांेने कहा कि मिश्रा ‘अब सब बोले तो बोलबे करै, अब चलनियों बोले जेकरे बहत्तर छेद।’ वह हजारों करोड़ रुपये की लागत से मेडिकल कॉलेज बनाए हुए हैं। ऐसा तो कोई भी नहीं बना सकता।

नसीमुद्दीन ने मायावती पर लगाए बड़े आरोप

Comments Off on नसीमुद्दीन ने मायावती पर लगाए बड़े आरोप

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से निष्कासित नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि मुझे झूठे आरोप लगाकर पार्टी से निकाला गया. मायावती ने मुझे काफी उल्टा-सीधा कहा. मायावती ने कांशीराम के बारे में जो कहा मैंने उसका विरोध किया था. मैंने मायावती को हार के कारणों के बारे में बताया था जिस पर वह नाराज हो गई थीं. यही नहीं मायावती ने मुझसे पैसे की मांग की. पार्टी को 50 करोड़ रुपये की जरूरत है. मैंने कहा कि मैं कहां से लाऊं तो बोलीं अपनी प्रोपर्टी बेच दो. मैंने कहा कि अगर मैं अपनी प्रोपर्टी बेच भी दूंगा तो 50 करोड़ का चौथाई भी हो जाए तो बड़ी बात है. मैंने ये भी कहा कि नोटबंदी के बाद अगर प्रोपर्टी बेचूंगा तो भी कैश नहीं मिलेगा. लेकिन पार्टी हित के लिए मैं ये भी तैयार हूं. इसके बाद मैं अपने दोस्तो-रिश्तेदारों से कहा कि कुछ करें. पार्टी के लोगों से कहा कि मेरी प्रोपर्टी बिकवा दो. जब थोड़ा पैसा इकट्ठा हो गया तो मैंने बहनजी को कहा कि पैसा इकट्ठा हो गया है.
प्रेस कॉन्फ्रेंस में कही खास बातें
मैंने मायावती से कहा कि जिन कांशीराव ने पार्टी की नींव रखी, जिन्होंने आपको राजनीति सिखाई, उनके बारे में आपने गलत बोला. ये कार्यकर्ताओं को अच्छा नहीं लगा. इस पर मायावती ने कहा कि मैं तुम्हारे खिलाफ कार्यवाही करूंगी.
चुनावों में हार के बारे में पूछा तो मैंने मायावती को घोषणापत्र जारी करने की सलाह दी थी
हार का एक कारण मैंने उन्हें बताया था कि आपने मंच से किसी प्रत्याशी के लिए वोट नहीं मांगा
मैंने यह भी कहा कि आप लोगों से मिलती नहीं है, आपको लोगों से मिलना चाहिए
आपकी सुरक्षा का मैंने हमेशा ख्याल रखा, लेकिन जो अब हो रहा है वो कभी नहीं हुआ
आप पैन, घड़ी सब रखवा लेती हैं, सतीश चंद्र मिश्रा की गाड़ी के लिए तुरंत गेट खुल जाता
तलाशी हो रही है तो सबकी होनी चाहिए. मायावती नेताओं में भेदभाव करती हैं
मुझसे 50 करोड़ की मांग की गई
मायावती के अब राज्यसभा की सांसद बनने के भी लाले
मायावती खुद चाहती हैं कि पार्टी खत्म हो जाए ताकि कोई और पार्टी में खड़ा न हो पाए
मायावती नहीं चाहतीं कि कोई और दलित चेहरा सीएम बने
मुझे गलती बताए बिना सजा सुना दी गई
मायावती ने मेरा पक्ष सुने बिना ही सजा सुना दी
मैंने कौन सी पार्टी विरोधी गतिविधियां की बताओ तो सही

सिद्दीकी ने बयान में कहा है, ‘मैं समझता हूं कि इस निष्कासन से मेरे व मेरे परिवार की और मेरे सहयोगियों की बहुजन समाज पार्टी में 34-35 साल की कुबार्नी का सिला मुझे दिया गया है. मैंने इस मिशन के लिए और मायावती के लिए खासतौर पर इतनी कुबार्नी दी है, जिसकी मैं गिनती नहीं कर सकता.’ नसीमुद्दीन ने आरोप लगाया, ‘मायावती, उनके भाई आनंद कुमार और सतीश चंद्र मिश्रा द्वारा अवैध रूप से, अनैतिक रूप से और मानवता से परे कई बार ऐसी मांगें की गईं, जो मेरे बस में नहीं थीं. कई बार मुझे मानसिक प्रताड़ना दी गई, टार्चर किया गया. जिसके पुख्ता प्रमाण मेरे पास हैं.’ नसीमुद्दीन ने कहा, ‘2009 और 2014 के लोकसभा चुनाव और 2012 व 2017 के विधानसभा चुनाव में पार्टी को मायावती की गलत नीतियों के कारण सफलता नहीं मिली. उन्होंने मुसलमानों पर गलत झूठे आरोप लगाए.’ उन्होंने कहा, ‘2017 के चुनाव से काफी पहले से मैंने पार्टी के लिए जो प्रयास किए, उसी का नतीजा था कि बसपा को 22 प्रतिशत से अधिक वोट मिले. नहीं तो स्थिति और बदतर होती. शिकस्त के बाद मायवती ने मुझे बुलाया और अपर कास्ट, बैकवर्ड को बुरा-भला कहने के साथ ही खासतौर पर मुसलमानों के लिए अपशब्द कहे, जिसका मैंने विरोध किया था.’

मायावती ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके बेटे अफजल सिद्दीकी को पार्टी ने निकाला

Comments Off on मायावती ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके बेटे अफजल सिद्दीकी को पार्टी ने निकाला

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में करारी हार मिलने के करीब दो महीने बाद बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने बड़े नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके बेटे अफजल सिद्दीकी को पार्टी से बाहर कर दिया है. बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने पार्टी के सबसे बड़े मुस्लिम चेहरे और उनके बेटे को बाहर करने का फैसला लिया. इन दोनों पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है. बीएसपी महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बेनामी संपत्ति बना ली है. साथ ही इनके कई अवैध बूचड़खाने भी चल रहे हैं, जिसके चलते पार्टी की छवि खराब हो रही थी. सतीश चंद्र ने नसीमुद्दीन पर पार्टी के नाम पर अवैध वसूली का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने विधानसभा चुनाव में योग्य प्रत्याशियों को टिकट देने के बजाय ज्यादा पैसे देने वाले उम्मीदवारों को टिकट दिए, जिसका पार्टी को भारी नुकसान उठाना पड़ा|

जारी बयान में कहा गया है कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके बेटे अफजल सिद्दीकी को पार्टी के सभी पदों से बर्खास्त करने के साथ बाहर कर दिया गया है| पार्टी सूत्रों का कहना है कि यूपी विधानसभा चुनाव में बीएसपी की हार के बाद से नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर कार्रवाई का अंदाजा लगाया जा रहा था. चुनाव परिणाम आने के कुछ दिन बाद ही नसीमुद्दीन सिद्दीकी को बीएसपी के मध्यप्रदेश में संगठन की कमान दी गई थी. इस फैसले के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि बीएसपी नसीमुद्दीन को उत्तर प्रदेश की राजनीति से बाहर करने की तैयारी है|

मालूम हो कि यूपी चुनाव परिणाम आने के बाद मेरठ और मुरादाबाद में हुई पार्टी की समीक्षा बैठकों में भी कार्यकर्ता नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर पैसे लेकर टिकट बांटने का आरोप लगा चुके थे. यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान बीएसपी का सोशल मीडिया नसीमुद्दीन के बेटे अफजल सिद्दीकी की देखरेख में था|

बताया जा रहा है कि लोकसभा और यूपी विधानसभा चुनावों में पार्टी की करारी हार के बाद बीएसपी सुप्रीमो मायावती नए सिरे से पार्टी के संगठन को तैयार करने में लगी हैं. लोकसभा चुनाव में बीएसपी एक भी सीट नहीं जीती थी, वहीं यूपी विधानसभा चुनाव में बीएसपी 19 सीटों पर सिमट गई थी|

[bannergarden id="12"]