Featured Posts

बेटियों को निशाना बनाने वाले राक्षसों को फांसी पर लटकाएंगे:मोदीबेटियों को निशाना बनाने वाले राक्षसों को फांसी पर लटकाएंगे:मोदी मंडला :पीएम मोदी ने मंडला में कहा कि केंद्र सरकार ने बच्चियों से दुष्कर्म करने वाले राक्षसी प्रवृत्ति के लोगों को अब फांसी पर लटकाने का कानून बनाया है। पीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने जनता की आवाज पर ऐसा कड़ा कानून बनाया है। उन्होंने ये भी कहा कि बेटियों को सशक्त बनाने के...

Read more

एकतरफा प्यार में आसिक ने खुद को चाकू से गोद डालाएकतरफा प्यार में आसिक ने खुद को चाकू से गोद डाला फर्रुखाबाद: एकतरफा प्यार में आसिक ने प्रेमिका को पहले अपने साथ चलने के लिये कहा जब वह नही मानी तो उसने खुद को चाकू से गोद डाला| भीड़ ने आसिक की पिटाई भी कर दी| मामले की सूचना पुलिस को नही दी गयी| शहर कोतवाली क्षेत्र के लाल दरवाजे स्थित रोडबेज बस अड्डे पर एक आसिक अपनी प्रेमिका...

Read more

एक्सप्रेस में आग की सूचना पर हांफी पुलिसएक्सप्रेस में आग की सूचना पर हांफी पुलिस फर्रुखाबाद:(कमालगंज) एक्सप्रेस में आग की सूचना पर पर एक पैर पर पुलिस दौड़ी| लेकिन तब तक ट्रेन जा चुकी थी| लेकिन जिले में सूचना का आदान-प्रदान बहुत तेज हुआ और ट्रेन की की आग की तरह नही बल्कि जंगल की आग की तरह सूचना सोशल मीडिया पर वायरल हुई| जो फर्जी निकली| थाना पुलिस को सूचना मिली...

Read more

हाई-वे पर तेज रफ्तार ट्रकों की भिंडत, दोनों चालको की मौतहाई-वे पर तेज रफ्तार ट्रकों की भिंडत, दोनों चालको की मौत फर्रुखाबाद:(राजेपुर) इटावा बरेली हाई-वे पर दो ट्रकों के बीच हुई आमने-सामने की भिड़ंत में दोनों ट्रकों के परखच्चे तो उड़ ही गये साथ ही साथ दोनों के चालकों की दर्दनाक मौत भी हो गई| हाईवे पर ट्रकों के खड़े होने से कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया| पुलिस ने कई घंटे की मशक्कत के बाद शवों...

Read more

बारात में दुल्हन के चाचा की गोली मारकर हत्याबारात में दुल्हन के चाचा की गोली मारकर हत्या फर्रुखाबाद:(कायमगंज) बीती देर रात बारात के दौरान बधू के चाचा की गोली मारकर हत्या कर दी गयी| हत्या होने से खुशियाँ मातम में बदल गयी| पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया| एक तरफ भतीजी की डोली उठी वही उसी घर से अर्थी उठायी गयी| कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला चौखड़िया...

Read more

कानून में संशोधन की तैयारी:12 साल तक के बच्चों से दुष्कर्म पर मिलेगी मौत की सजाकानून में संशोधन की तैयारी:12 साल तक के बच्चों से दुष्कर्म पर... नई दिल्ली:नाबालिगों से दुष्कर्म के मामले में केंद्र सरकार ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में एक रिपोर्ट सौंपी। इसमें कहा गया है कि 0-12 साल की उम्र के बच्चों से दुष्कर्म करने के मामलों में सरकार मौत की सजा का प्रावधान करने जा रही है। केंद्र ने रिपोर्ट के माध्यम से सुप्रीम कोर्ट...

Read more

उन्नाव कांड पर योगी के कानून मंत्री ने साधी चुप्पीउन्नाव कांड पर योगी के कानून मंत्री ने साधी चुप्पी फर्रुखाबाद: यूपी सरकार के विधि एवं न्याय, अतिरिक्त ऊर्जा श्रोत, राजनैतिक पेंशन के कैबिनेट मंत्री उन्नाव में हुये रेप कांड के विषय में चुप्पी साध गये| इसके साथ ही साथ उन्होंने कहा की योगी सरकार सूबे की कानून व्यवस्था को लेकर चिंतित है| जिसके लिये न्यायालयों को और अधिक मजबूत...

Read more

विश्व विरासत दिवस: हिन्दू,जैन बौद्ध और मुस्लिम काल की संस्कृति की गाथा पांचाल नगरविश्व विरासत दिवस: हिन्दू,जैन बौद्ध और मुस्लिम काल की संस्कृति... फर्रुखाबाद:पांचाल जनपद (वर्तमान समय फर्रुखाबाद) गंगा यमुना के दुआबे में बसा प्राचीन नगर साहित्य कला संस्कृति को सजाए हुए है| परंपरागत वैदिक काल,रामायण काल,महाभारत काल,जैन,बौद्ध और मुस्लिम काल की मुगल संस्कृति की परंपरागत भी इसमे बास करती है| जिनके चिन्ह जनपद में विभिन्य...

Read more

पूर्व जिला पंचायत प्रत्याशी के पति की ट्रेक्टर पलटने से मौतपूर्व जिला पंचायत प्रत्याशी के पति की ट्रेक्टर पलटने से मौत फर्रुखाबाद:(शमसाबाद) पूर्व जिला पंचायत सदस्य पद की प्रत्याशी रही अनीता जाटव के पति 45 वर्षीय विक्रम की ट्रेक्टर पलटने से मौत हो गयी| पुलिस ने मौके पर पंहुच शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा| थाना क्षेत्र के ग्राम हादीदादपुर नगला मुकुट निवासी 45 वर्षीय विक्रम पुत्र...

Read more

प्राथमिक शिक्षक संघ ने बीएसए कार्यालय पर दिया धरनाप्राथमिक शिक्षक संघ ने बीएसए कार्यालय पर दिया धरना फर्रुखाबाद: उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ ने फरवरी माह का वेतन ना मिलने से खफा होकर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया धरना दिया| शिक्षकों की नारेबाजी देख बीएसए अपने कक्ष से वित्त एवं लेखाधिकारी को साथ लेकर निकल आए और बिना अनुमति के धरना दिए जाने...

Read more

पंचायती राज नेहरु,राजीव व इंदिरा की देंन: कांग्रेस

0

फर्रुखाबाद:(मोहम्मदाबाद) कांग्रेस ने पंचायती राज को लेकर बीजेपी पर तीखा हमला बोला है| उन्होंने साफ कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में पंचायती राज पंडित जवाहरलाल नेहरू,इंदिरा गांधी व राजीव गांधी की देन है|
कस्बा स्थित भारतीय विद्यालय इंटर कॉलेज में कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष मृत्युंजय शर्मा ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने देश के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचा कर लोकतंत्र को जमीन तक पहुंचाने का काम किया, पंडित जवाहरलाल नेहरू इंदिरा गांधी और राजीव गांधी ने प्रमुखता व प्रबलता के साथ लागू किया था| देश व प्रदेश में भाजपा की सरकारें लोकतांत्रिक व्यवस्था को ध्वस्त करना चाहती हैं|
उन्होंने कहा कि आगामी 29 अप्रैल को केंद्रीय नेतृत्व द्वारा बुलाई गई रैली में बड़ी संख्या में पहुंचने कि कार्यकर्ता तैयारी कर रहे हैं| देश के जनतंत्र का हनन करने वाली शक्तियां नागरिकों के साथ खिलवाड़ कर रही हैं| उनकी जनविरोधी नीतियों व बढ़ रहे अपराधियों के विरुद्ध कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व के आवाहान पर दिल्ली में जोरदार प्रदर्शन होगा|
इस दौरान सोनी दीक्षित,राजेंद्र मिश्रा, बंटी गुप्ता,संजू अग्निहोत्री,दीक्षा सक्सेना,विधाभूषण शर्मा,देव शर्मा,वीरपाल सिंह,नीरज सक्सेना ओम प्रकाश आदि रहे|

दलों के साथ ही साथ दिलों का मिलाना भी जरूरी

0

Posted on : 14-04-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BSP

फर्रुखाबाद: डॉ०आंबेडकर के जन्मदिवस पर समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री नरेन्द्र सिंह यादव के पुत्र सचिन यादव आयोजित कार्यक्रम में कहा गया की जिस तरह से दोनों दल मिले उसी तरह से दिल भी मिलने जरूरी है| तभी आगामी 2019 के चुनाव मे बीजेपी की सरकार को उखाड़ फेंका जा सकेगा|
शहर के बढ़पुर स्थित एक गेस्ट हॉउस में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत ने कहा कि भीम राव आंबेडकर सभी धर्मो के विषय में सोचते थे| उन्होंने समतामूलक समाज की स्थापना के लिये संघर्ष किया| उन्होंने कहा की यदि देश के सभी दलित, पिछड़े व अतिपिछड़े मिल जाये तो देश में आगामी लोक सभा चुनाव में जीत से कोई रोंक नही सकता| उन्होंने कहा की दलों के साथ ही साथ दिलों को मिलाने की जरूरत है| पूर्व विधायक जमालुद्दीन सिद्दकी ने कहा की योगी सरकार केवल अल्पसंख्यको के पीछे पड़ी है| इस बार बीजेपी ने रेल बजट को ही गायब कर दिया| बीजेपी ड्रामेबाज पार्टी है| लेकिन सपा-बसपा गठबंधन ने उनका जीना हराम कर दिया है|
पूर्व सांसद छोटे सिंह यादव ने कहा कि जिले की चौकीदारी पार्टी सचिन यादव के हाथो में सौप दे जिससे दलित, शोषित समाज की रक्षा हो सके| उन्होंने कहा की आज जिलो ओ मजबूत रखवाले की आवश्यकता है| पूर्व विधानसभा प्रत्याशी सचिन सिंह यादव ने कहा की आज देश व प्रदेश के हालातों पर चर्चा करनी होगी| केंद्र सरकार संविधान से खिलवाड़ कर रही है| ईवीएम से छेड़छाड़ कर लोकतंत्र को खतरे में डाला जा रहा है| दलित एक्ट में छेड़छाड़ करने का प्रयास हो रहा है| उद्योगपति तरक्की कर रहे हैं| उन्होंने कहा कि सरकार की मदद से करोड़ों रुपए लोग बैंक से लोन लेकर भाग रहे हैं| आने वाले समय में दोनों दल मिलकर बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के संविधान की रक्षा करेंगे| उन्होंने कहा कि आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव में महागठबंधन से एक बड़ा परिवर्तन देखने को मिलेगा|
मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री नरेन्द्र सिंह यादव ने कहा की यूपी में दो विचारो का मिलन हुआ है| बीजेपी इस गठबंधन से अपनी कुर्सी खतरे में देख रही है| कुछ लोगों के सहारे देश रिपोर्ट की तरह चलाया जा रहा है| बीजेपी फुट डालो और राज्य करों की निति अपना रही है| लेकिन आगामी 2019 के लोक सभा चुनाव में इसका जबाब मिलेगा| यूपी की कानून व्यवस्था ध्वस्त है| सपा की पांच सालकी सरकार में जितने अपराध नही हुये उतने बीजेपी की एक साल की सरकार में हो गये| उन्होंने कहा की डॉ० आंबेडकर ने कहा था की मंदिरों की तरफ लाइन ना लगके जब विधालयों की तरफ लाइन लगेगी तभी देश का विकास होगा| आगामी लोक सभा चुनाव में दलित समाज अहम भूमिका निभायेगा|
पूर्व जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह राठौर,रामा नंद प्रजापति, रनवीर सिंह यादव, मुन्ना यादव आदि ने भी विचार व्यक्त किया| जितेन्द्र यादव (सिरोली वाले),रामजी वाजपेयी, अनिल श्रीवास्तव,मनमोहन मिश्रा आदि रहे| संचालन समीर यादव ने किया|

सपा-बसपा गठबंधन का अम्बेडकर जयंती पर दिखेगा असर

0

Posted on : 12-04-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BSP

फर्रुखाबाद: लोक सभा चुनाव नजदीक होने और इसके साथ ही सपा-बसपा के गठबंधन की गर्मी अम्बेडकर जयंती पर सपा के होने वाले अम्बेडकर के कार्यक्रम पर साफ नजर आयेगी| जिसके लिये पूर्व मंत्री नरेन्द्र सिंह के पुत्र व पूर्व लोकसभा प्रत्याशी सचिन सिंह यादव व सपा जिलाध्यक्ष नदीम फारुखी ने वार्ता कर जानकारी दी|
शहर के नई बस्ती स्थित आवास पर सचिन सिंह यादव ने कहा की वह डॉ० भीमराव अम्बेडकर की 127 वें जन्मदिवस पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन 14 अप्रैल को करेगे| जिसमे पार्टी व जनपद के लोगों के साथही साथ अलीगंज विधानसभा से भी लोग शामिल होंगे| उन्होंने कहा की सपा में कोई गुटबाजी नही है| वह पार्टी की जिला कमेटी के द्वारा आयोजित हो रहे कार्यकम में भी शामिल होंगे| उन्होंने कहा की जितनी अधिक से अधिक जगह जयंती मनायी जायेगी उतनी अधिक लोग विचार सुन सकेगे| उन्होंने कहा की सपा-बसपा गठबंधन का इस बार अम्बेडकर जयंती पर खास असर दिखेगा|
वही समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय आवास-विकास में जिलाध्यक्ष नदीम फारुखी ने भी पत्रकारों को बताया की 14 अप्रैल को पार्टी जिला कमेटी के माध्यम से अम्बेडकर जयंती पर कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा| इसके साथ ही उन्होंने कहा की आवास-विकास में लोहिया प्रतिमा के निकट अतिक्रमण गया है| जिसके लिये जिलाधिकारी से शिकायत की गयी है| जिसे जल्द मुक्त किया जाये| पूर्व मंत्री सतीश दीक्षित, जिला महासचिव मंदीप यादव, पुष्पेन्द्र सिंह यादव, अम्बेडकर जयंती कार्यक्रम प्रभारी महेन्द्र सिंह कटियार,जितेंन्द्र यादव (सिरोली वाले) आदि रहे|

उपचुनाव: गोरखपुर-फूलपूर में मुरझाया कमल, SP ने जीती दोनों सीटें

Comments Off on उपचुनाव: गोरखपुर-फूलपूर में मुरझाया कमल, SP ने जीती दोनों सीटें

Posted on : 14-03-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BJP, Politics-BSP

नई दिल्ली/ लखनऊ/ पटना(जेएनएन)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे से रिक्त हुई गोरखपुर और फूलपुर संसदीय सीट पर उपचुनाव में भाजपा चित हो गई। गोरखपुर में भाजपा के उपेंद्र दत्त शुक्ल को सपा के प्रवीण निषाद ने 21961 मत और फूलपुर में भाजपा के कौशलेंद्र पटेल को सपा के नागेंद्र पटेल ने 59613 मतों से हरा दिया। वहीं अररिया सीट पर राष्ट्रीय जनता दल के उम्मीदवार सरफराज आलम ने 61988 मतों से जीत हासिल की है।
मतदाताओं को सपा और बसपा का साथ पसंद आया। इस चुनाव परिणाम से सत्ताधारी भाजपा को करारा झटका लगा है।गोरखपुर संसदीय सीट पर 1991 से लगातार भाजपा की जीत के रिकार्ड को समाजवादी पार्टी ने ध्वस्त कर दिया है, जबकि फूलपुर में भी भाजपा को 2014 में मिली पहली जीत का स्वाद कड़वा कर दिया। खाता खोलने के बावजूद भाजपा फूलपुर में पांच वर्ष का अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सकी और बीच उपचुनाव में बाजी उसके हाथ से निकलकर सपा के पास चली गई। गोरखपुर में 1989, 1991 और 1996 में महंत अवेद्यनाथ और 1998 से 2014 तक योगी आदित्यनाथ को कोई चुनौती नहीं मिल सकी। पिछले लोकसभा चुनाव में योगी तीन लाख 12 हजार मतों से जीते थे लेकिन, जब उनकी सर्वाधिक कठिन परीक्षा थी तब भाजपा को मुंह की खानी पड़ी।
फूलपुर लोकसभा
फूलपुर सीट पर 22 उम्मीदवार मैदान में हैं। फूलपुर सीट उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य के विधान परिषद की सदस्यता ग्रहण करने के बाद त्यागपत्र देने के कारण खाली हुई थी। बता दें कि फूलपुर उपचुनाव के लिए 37.4 फीसदी मतदान हुआ है। जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में 50.2 फीसदी मतदान हुआ था। इस तरह इस बार 12.4 फीसदी वोटिंग कम हुई है। गौरतलब है कि आजादी के बाद पहली बार मोदी लहर में फूलपुर में भाजपा का 2014 के लोकसभा चुनाव में खाता खुला था। केशव प्रसाद मौर्य ने भाजपा प्रत्याशी के तौर पर जीत दर्ज की थी।

-31वें राउंड की मतगणना के बाद सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल को 3,37,683 वोट मिले। जबकि भाजपा उम्मीदवार कौशलेंद्र पटेल को कुल 2,80,535 वोट प्राप्त हुए। इस हिसाब से नागेंद्र पटेल इस राउंड तक 57,148 वोटों से आगे रहे।
-28वें राउंड की मतगणना के बाद सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल को 3,05,172 वोट मिले। जबकि भाजपा उम्मीदवार कौशलेंद्र पटेल को कुल 2,57,821 वोट प्राप्त हुए। इस हिसाब से नागेंद्र पटेल इस राउंड तक 47,351 वोटों से आगे रहे।
-25वें राउंड की मतगणना के बाद सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल को 2,71,752 वोट मिले। जबकि भाजपा उम्मीदवार कौशलेंद्र पटेल को कुल 2,33,254 वोट प्राप्त हुए। इस हिसाब से नागेंद्र पटेल इस राउंड तक 38,498 वोटों से आगे रहे।
-22वें राउंड की मतगणना के बाद सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल को 2,38,933 वोट मिले। जबकि भाजपा उम्मीदवार कौशलेंद्र पटेल को कुल 2,08,128 वोट प्राप्त हुए। इस हिसाब से नागेंद्र पटेल इस राउंड तक 30,805 वोटों से आगे रहे। वहीं, निर्दलीय उम्मीदवार अतीक अहमद को 33,818 और कांग्रेस के मनीष मिश्र को 11,934 वोट मिले।
-20वें राउंड की मतगणना के बाद सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल को 2,18,963 वोट मिले। जबकि भाजपा उम्मीदवार कौशलेंद्र पटेल को कुल 1,89,489 वोट प्राप्त हुए। नागेंद्र पटेल इस राउंड तक 29,472 वोटों से आगे रहे। वहीं, निर्दलीय उम्मीदवार अतीक अहमद को 29,150 और कांग्रेस के मनीष मिश्र को 10673 वोट मिले।
-16वें राउंड की मतगणना के बाद सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल 1,80,367 वोट मिले। जबकि भाजपा उम्मीदवार कौशलेंद्र पटेल को कुल 1,52,740 वोट प्राप्त हुए। इस हिसाब से नागेंद्र पटेल इस राउंड तक 27,000 वोटों से आगे चल रहे हैं। वहीं, निर्दलीय उम्मीदवार अतीक अहमद को 21,585 और कांग्रेस के मनीष मिश्र को 8.469 वोट मिले।

– फूलपुर में 15वें राउंड की मतगणना में सपा के नागेंद्र सिंह पटेल 22842 वोटों से आगे चल रहे हैं। यहां सपा को 167008 मत मिले हैं, जबकि भाजपा के कौशलेंद्र सिंह पटेल को 144166 मत मिले हैं।
-14वें राउंड की गिनती के बाद सपा के नागेंद्र पटेल 20495 वोटों से अागे चल रहे हैं। यहां सपा को 155314 तथा भाजपा को 134819 वोट मिले हैं।
– 11वें राउंड की गणना के बाद सपा नागेंद्र पटेल 15713 वोटों से अागे चल रहे हैं। यहां सपा को 122247 वोट अौर भाजपा के कौशलेंद्र सिंह पटेल को 106534 वोट मिले हैं।
-नौवें राउंड की मतगणना के बाद सपा उम्मीदवार नागेंद्र पटेल 12 231 वोट से अागे चल रहे हैं।
– अाठ राउंड की काउंटिंग पूरी। सपा को 87272 मत व भाजपा को 77348 मत मिले। यहां सपा को नागेंद्र पटेल 9924 वोट से अागे चल रहे हैं।
– समाजवादी पार्टी प्रत्याशी नागेंद्र पटेल 54,562 वोट तथा भाजपा प्रत्याशी कौशलेंद्र सिंह पटेल को 47631 वोट मिले हैं। यहां सपा 6931 वोट से अागे चल रही है।
-चौथे राउंड में फूलपर से सपा उम्मीदवार नागेंद्र पटेल 3607 वोटों से आगे।
– तीसरे राउंड की गणना के बाद सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल को मिले 33227 मत, भाजपा प्रत्याशी को 30786 मत, सपा प्रत्याशी नागेंद्र प्रताप सिंह पटेल भाजपा प्रत्याशी कौशलेंद्र पटेल से 2441 मतों से आगे चल रहे हैं। कांग्रेस प्रत्याशी मनीष मिश्रा को सिर्फ 1398 मत मिले हैं।

-फूलपुर में सपा नागेंद्र पटेल और भाजपा के कौशलेंद्र पटेल के बीच वोटों का अंतर बढ़ गया है।

गोरखपुर लोकसभा
गोरखपुर सीट के लिये 10 उम्मीदवार मैदान में हैं। गोरखपुर सीट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विधान परिषद की सदस्यता ग्रहण करने के बाद त्यागपत्र देने के कारण खाली हुई थी। यहां से भाजपा प्रत्याशी उपेंद्र शुक्ल बढ़त बनाए हुए हैं।

– 29वें राउंड की मतगणना के बाद सपा प्रत्याशी भाजपा उम्मीदवार से 24733 मतों से आगे चल रहे हैं।

-25वें राउंड की गिनती के बाद सपा उम्मीदवार 22,954 वोटों से आगे चल रहे हैं। यहां सपा के प्रवीण निषाद को 3,77,146 तथा भाजपा के उपेंद्र शुक्ला को 3,54,192 मत मिले हैं।

– 24वें राउंड की मतगणना में सपा को 363272 वोट मिले जबकि भाजपा को 338799 वोट मिले । सपा की बढ़त 24473 वोट है। इससे पहले 23 वें राउंड में सपा को 348616 वोट मिले जबकि भाजपा को 322452 वोट मिले ।

-22वें राउंड की गिनती के बाद सपा उम्मीदवार 25,870 वोटों से आगे चल रहे हैं। यहां सपा के प्रवीण निषाद को 3,34.463 तथा भाजपा के उपेंद्र शुक्ला को 3,08.593 मत मिले हैं।

-19वें राउंड की गिनती के बाद सपा उम्मीदवार 28737 वोटों से अागे चल रहे हैं। यहां सपा के प्रवीण निषाद को 293153 तथा भाजपा के उपेंद्र शुक्ला को 264416 मत मिले हैं

-17वें राउंड की गणना के बाद सपा उम्मीदवार 26960 वोटों से अागे चल रहे हैं। सपा प्रत्याशी प्रवीण निषाद को 262346 मत तथा भाजपा को उपेंद्र शुक्ला को 235836 मत मिले हैं।

-15वें राउंड की मतगणना के बाद सपा उम्मीदवार प्रवीण निषाद 23,130 वोटों से आगे हैं। इस राउंड तक सपा उम्मीदवार को कुल 229622 वोट मिले, जबकि भाजपा उम्मीदवार उपेंद्र शुक्ल को 2,06,492 वोट मिले। वहीं, कांग्रेस को 9742 वोट प्राप्त हुए।

– 14वें राउंड की गिनती के बाद सपा19201 वोटों से अागे चल रही है। सपा के प्रवीण निषाद को 212061 तथा भाजपा के उपेंद्र शुक्ला को 192860 मत मिले हैं।

– 12वें राउंड की गिनती के बाद सपा14668 वोटों से अागे चल रही है। यहां सपा के प्रवीण निषाद को 180155 तथा भाजपा के उपेंद्र शुक्ला को 165487 वोट मिले हैं।

-गोरखपुर में 11वें राउंड की गिनती के बाद सपा प्रत्याशी 13879 वोटों से अागे चल रहे हैं। यहां सपा के प्रवीण निषाद को 163941 वोट तथा उपेंद्र शुक्ला को 150062 वोट मिले हैं।

– 9वें राउंड में सपा प्रत्याशी 15 हजार वोटों से आगे चल रहे हैं।

– गोरखपुर में 8 राउंड की काउंटिंग पूरे होने के बाद सपा 10598 वोटों से अागे चल रही है। यहां सपा के प्रवीण कुमार निषाद को 119427 वोट व भाजपा के उपेंद्र नाथ शुक्ला को 108829 वोट मिले हैं।

-गोरखपुर में 7राउंड पूरे होने पर सपा 10 हजार वोट से आगे चल रही है।

-गोरखपुर में 6 राउंड पूरे होने के बाद समाजवादी पार्टी को बड़ी बढ़त, सपा उम्मीदवार करीब 7139 वोटों से आगे चल रहे हैं। यहां सपा के प्रवीण निषाद को 89950 तथा भाजपा के उपेंद्र शुक्ला को 82811 वोट मिले हैं।

-गोरखपुर में पांचवें राउंड तक सपा को 74377 और भाजपा को 70317 वोट मिले। सपा प्रत्याशी प्रवीण कुमार 4060 वोटों से अागे चल रहे हैं।

– चौथे राउंड की मतगणना के बाद सपा उम्मीदवार 2962 वोटों से अागे चल रहे हैं। यहां सपा उम्मीदवार प्रवीण निषाद को 59907 तथा भाजपा को उपेंद्र शुक्ला को 56945 वोट मिले हैं।

– तीसरे राउंड की मतगणना के बाद सपा उम्मीदवार प्रवीण निषाद 1523 वोटों से आगे चल रहे हैं। सपा उम्मीदवार को कुल 44979 वोट मिले हैं, जबकि भाजपा उम्मीदवार को 43456 मिले हैं।

– गोरखपुर में दूसरे राउंड की काउंटिंग पूरी। सपा के प्रवीण कुमार निषाद को 29218 व भाजपा को उपेंद्र दत्त शुक्ला को 29194 मत मिले।

– भाजपा प्रत्याशी उपेंद्र शुक्ला को 15577 अौर सपा प्रत्याशी प्रवीण कुमार निषाद को 13911 वोट मिले हैं। भाजपा उम्मीदवार अागे चल रहे हैं।

– चार राउंड की गिनती पूरी, सपा प्रत्याशी बढ़त बनाए हुए हैं।

-शुरुआती रुझान आने शुरू हो गए हैं और यहां से भाजपा के उम्मीदवार आगे चल रहे हैं। पहले चरण की काउंटिंग के दौरान भाजपा उम्मीदवार उपेंद्र शुक्ल 3200 वोटों से आगे हैं।

अररिया लोकसभा

वहीं बिहार में पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर सभी की निगाहें हैं। अररिया लोकसभा सीट आरजेडी उम्मीदवार सरफराज आलम के पिता और सांसद तस्लीमुद्दीन के निधन के बाद खाली हुई थी। बिहार की सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं क्योंकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के एनडीए के साथ आने के बाद यह पहला उपचुनाव है।

-22वें दौर की मतगणना के बाद अररिया सीट से आरजेडी के सरफराज आलम 57791 वोटों से आगे चल रहे हैं। सरफराज को 4,46,179 मत मिले हैं, जबकि भाजपा के प्रदीप सिंह को 3,88,388 मत मिले हैं।

– अररिया सीट से आरजेडी के सरफराज आलम 23187 वोटों से आगे चल रहे हैं। सरफराज को 333050 मत मिले हैं, जबकि भाजपा के प्रदीप सिंह को 309863 मत मिले हैं।

– अररिया सीट से अारजेडी के सरफराज अालम 12151 वोटों से अागे चल रहे हैं। यहां सरफराज को 257108 वोट अौर भाजपा के प्रदीप सिंह को 244957 वोट मिले हैं।

– अररिया सीट पर अारजेडी उम्मीदवार 4000 वोटों से आगे चल रहे हैं।

– बिहार की अररिया लोकसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार प्रदीप सिंह अब पिछड़ने के बाद एक बार फिर आगे आ गए हैं। चौथे चरण की मतगणना के बाद बीजेपी को 80,732 वोट मिले हैं, जबकि आरजेडी को 73489 वोट प्राप्त हुए हैं। इस हिसाब से भाजपा उम्मीदवार 7243 वोटों से आगे चल रहे हैं। दोनों के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिल रहा है।

-बिहार की अररिया लोकसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार प्रदीप सिंह अब पिछड़ गए हैं। एक बार फिर आरजेडी के सरफराज आलम आगे निकल गए हैं। दोनों के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिल रहा है। फिलहाल, सरफराज आलम 1300 वोटों से आगे हैं।

– अररिया सीट से भाजपा प्रत्याशी प्रदीप कुमार सिंह को 113169 वोट व अारजेडी प्रत्याशी सरफराज अालम को 104190 वोट मिले हैं। यहां भाजपा 8979 वोट से अागे चल रही है।

-अररिया सीट से भाजपा के प्रदीप कुमार सिंह 4203 वोटों से आगे चल रहे हैं। यहां आरजेडी के उम्मीदवार सरफराज आलम से उनकी कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है।

-बिहार की अररिया लोकसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार प्रदीप सिंह अब पिछड़ गए हैं। एक बार फिर आरजेडी के सरफराज आलम आगे निकल गए हैं। दोनों के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिल रहा है।

-अररिया सीट से भाजपा प्रत्याशी प्रदीप सिंह 5500 वोट से आगे चल रहे हैं।

-अररिया लोकसभा सीट की दूसरे राउंड की काउंटिंग पूरी। भाजपा उम्मीदवार प्रदीप सिंह 3780 वोट से आगे आगे चल रहे हैं।

-अररिया लोकसभा सीट पर आरजेडी के सरफराज आलम 2 हजार वोटों से आगे चल रहे थे। लेकिन पहले चरण की काउंटिंग के बाद भाजपा उम्मीदवार ने बढ़त बना ली है। इसके बाद फिर से सरफराज आलम ने लीड ले ली है।

-अररिया लोकसभा सीट की पहले राउंड की गिनती पूरी हो गई है। भाजपा उम्मीदवार प्रदीप सिंह आगे चल रहे हैं।

-अररिया में पोस्ट बैलेट की गिनती में आरजेडी के सरफराज आलम 2000 वोटों से आगे चल रहे थे।

-अररिया से राजद उम्मीदवार सरफराज आलम भाजपा उम्‍मीदवार प्रदीप सिंह से आगे चल रहे हैं।

यूपी में औसत मतदान

उत्तर प्रदेश में हुए लोकसभा उपचुनाव में मतदान का प्रतिशत कम रहा। इन सीटों पर हुए मतदान को आगामी आम चुनावों से पहले भाजपा के लिए एक इम्तिहान माना जा रहा है। उत्तर प्रदेश राज्य निर्वाचन कार्यालय से जारी बयान में कहा गया कि गोरखपुर में 43 फीसदी मतदाताओं ने जबकि फूलपुर में 37.39 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की साख दांव पर है।

जानिए क्या होगा असर
इन लोकसभा सीटों के नतीजे न सिर्फ यूपी बल्कि केंद्र की राजनीति के सियासी समीकरणों में भी बड़ा बदलाव लाएंगे। खासतौर पर गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव को राज्य के सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और सपा-बसपा की प्रतिष्ठा से जोड़कर देखा जा रहा है। गोरखपुर-फूलपुर उपचुनाव से पहले यूपी की राजनीति ने नई करवट ली है। मतदान से ठीक पहले जहां चिर प्रतिद्वंद्वी सपा-बसपा ने हाथ मिला लिया, वहीं राज्यसभा चुनाव में सपा-बसपा के साथ कांग्रेस भी भाजपा के खिलाफ एक मंच पर आ गई है।

जाहिर तौर पर अगर उपचुनाव के नतीजे सपा के पक्ष में रहे तो इन तीनों दलों के लोकसभा चुनाव से पूर्व एक मंच पर आने की संभावना और मजबूत हो जाएगी। चूंकि ये दोनों सीटें सीएम योगी और डिप्टी सीएम मौर्य के इस्तीफे से खाली हुई है, इसलिए इसे न सिर्फ भाजपा बल्कि योगी-मौर्य की प्रतिष्ठा से भी जोड़ कर देखा जा रहा है। अगर सत्तारूढ़ दल अपनी दोनों सीटें जीतने में कामयाब रहा तो सपा-बसपा-कांग्रेस के एक मंच पर आने की संभावनाओं पर ग्रहण लगने के आसार बनेंगे। सभी सीटों पर 11 मार्च को वोट डाले गए थे।

महागठबंधन? उप-चुनाव में BSP का SP को समर्थन

Comments Off on महागठबंधन? उप-चुनाव में BSP का SP को समर्थन

Posted on : 04-03-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BSP

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उप-चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को टक्कर देने के लिए बहुजन समाज पार्टी की तरफ से समाजवादी पार्टी को समर्थन देने पर बीएसपी सुप्रीमो ने अपना रुख साफ किया। मायावती ने कहा कि उनकी पार्टी किसी भी दल के साथ गठबंधन नहीं करने जा रही है।
लखनऊ में संवाददाता सम्मेलन के दौरान मायावती ने कहा- “मैं यह साफ करना चाहता हूं कि बीएसपी किसी भी राजनीतिक दल के साथ गठबंधन नहीं किया है। 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर बीएसपी और एसपी के बीच गठबंधन के कयास आधारहीन और गलत है।” मायावती ने इस बात का संकेत दिया कि लोकसभा चुनाव को लेकर किसी तरह का फैसला उसी दौरान लिया जाएगा और यह बीएसपी को प्रस्ताव देनेवाली सम्मानजनक सीटों की संख्या पर निर्भर रहेगी। गोरखपुर और फुलपुर उप-चुनाव में महज हफ्तेभर बचे हैं और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की बीएसपी ने अखिलेश यादव की अगुवाई वाली एसपी के समर्थन से उतारे गए उम्मीदवार को अपना समर्थन देने का ऐलान किया है।
मायावती ने कहा- “हमने लोकसभा फुलपुर और गोरखपुर उप-चुनाव के लिए किसी भी उम्मीदवार को मैदान में नहीं उतारा है। हमारे पार्टी सदस्य भाजपा उम्मीदवार को हराने के अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे।”
क्या मानते हैं राजनीतिक विश्लेषक
प्रेक्षक मानते हैं कि दोनों दलों के एक साथ आने पर पिछड़े, दलित और मुसलमानों का बेहतरीन ‘कॉम्बिनेशन’ बनेगा। इन तीनों की आबादी राज्य में करीब 70 फीसदी है। तीनों एक मंच पर आ जाएंगे तो भाजपा के लिए मुश्किल हो सकती हैं।
ज्ञात हो कि 2014 के लोकसभा चुनाव में बसपा को एक भी सीट नहीं मिली थी, जबकि सपा मात्र पांच सीटों पर जीत सकी थी। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में सपा केवल 47 सीटों पर जीती थी, जबकि बसपा 19 सीटों पर ही सिमट गई थी। उत्तर प्रदेश विधानसभा में कुल 403 और लोकसभा की 80 सीट हैं। 30 अक्टूबर और दो नवम्बर 1990 को अयोध्या में हुए गोलीकांड के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की काफी किरकिरी हुई थी। उसके कुछ महीने बाद 1991 में हुए विधानसभा के चुनाव में मुलायम सिंह यादव को करारी शिकस्त मिली थी।
भाजपा ने राज्य में पहली बार सरकार बनाई थी। कल्याण सिंह को मुख्यमंत्री बनाया गया था। छह दिसम्बर 1992 को कारसेवकों ने विवादित ढांचा ढहा दिया था। कल्याण सिंह सरकार बर्खास्त कर दी गई थी। वर्ष 1993 में बसपा के तत्कालीन अध्यक्ष कांशीराम और मुलायम सिंह यादव की पार्टी सपा ने मिलकर चुनाव लड़ा। इसका नतीजा रहा कि 1993 में सपा-बसपा गठबंधन ने सरकार बनाई और मुलायम सिंह यादव मुख्यमंत्री चुने गए। सरकार करीब डेढ़ साल चली कि इसी बीच दो जून 1995 को लखनऊ में स्टेट गेस्ट हाऊस कांड हो गया। बसपा अध्यक्ष मायावती के साथ सपा कार्यकर्ताओं ने दुर्व्यवहार किया था। इसके बाद गठबंधन टूट गया और भाजपा के सहयोग से मायावती पहली बार मुख्यमंत्री बन गईं, तभी से सपा और बसपा के सम्बंधों में खटास आ गई थी।

[bannergarden id="12"]