Featured Posts

मेजर और विजय समर्थकों की भिड़न्त की खबर पर छावनी बना लोहाई रोडमेजर और विजय समर्थकों की भिड़न्त की खबर पर छावनी बना लोहाई रोड फर्रुखाबाद: शहर के लोहाई रोड स्थित कनौडिया इण्टर कालेज बूथ के बाहर मेजर व विजय समर्थकों में भिड़न्त व नारेबाजी होते ही लोहाई रोड छावनी में तब्दील हो गया। पुलिस ने दोनो नेताओं के समर्थकों को तितर बितर कर दिया। मेजर समर्थकों का आरोप है कि सदर के विधायक व सपा प्रत्याशी विजय...

Read more

पर्ची बंटने के बावजूद नहीं घटी बस्तों की अहमियतपर्ची बंटने के बावजूद नहीं घटी बस्तों की अहमियत फर्रुखाबाद: चुनाव आयोग द्वारा भले ही घर-घर मतदाता पर्ची पहुंचाने की व्यवस्था की गयी हो लेकिन अभी भी बस्तों की अहमियत नहीं घटी। यह नजारा आज हो रहे विधानसभा चुनाव में साफ देखने को मिला। जहां पर प्रत्याशियों द्वारा अपने अपने बस्ते लगवाये गये। किसी पर भीड़ दिखायी दी तो कोई...

Read more

यूपी चुनाव LIVE: तीसरे चरण का मतदान खत्म, करीब 65 फ़ीसदी हुआ मतदानयूपी चुनाव LIVE: तीसरे चरण का मतदान खत्म, करीब 65 फ़ीसदी हुआ मतदान उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण का मतदान शुरू हो गया है. इस फेज में 12 जिलों की 69 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं. यह चरण इसलिए अहम है, क्योंकि इसमें सपा के गढ़ इटावा, मैनपुरी, कन्नौज, बाराबंकी और फर्रुखाबाद में मतदान हो रहे हैं. इस चरण में कुल 826 प्रत्याशी मैदान में हैं और...

Read more

विधानसभा अमृतपुर: ईवीएम खराब होने से कई जगह मतदान रुकाविधानसभा अमृतपुर: ईवीएम खराब होने से कई जगह मतदान रुका फर्रुखाबाद: (राजेपुर)लाख प्रयास के बाद भी आखिर ऐन मौके पर कई ईवीएम मशीने धोखा दे गयीं। जिससे विधानसभा क्षेत्र अमृतपुर के राजेपुर व ग्राम कड़क्का की ईवीएम मशीनें खराब होने से मतदान रुका। विधानसभा के ग्राम कड़क्का के बूथ संख्या 56 पर ईवीएम मशीन खराब होने से मतदान तकरीबन आधा...

Read more

राजनीति का खंजर- केवल चार बचेंगेराजनीति का खंजर- केवल चार बचेंगे पांच साल तक नेताओ के हाथ में रहने वाला राजनैतिक खंजर एक दिन मतदाताओ के हाथ में रहता है| मतदान के दिन ये खंजर किस किस पर कैसे कैसे चलेगा ये वोटिंग मशीन में ही गुप्त रूप से दर्ज हो जायेगा| बात उत्तर प्रदेश के आम विधानसभा चुनाव 2017 के जनपद फर्रुखाबाद की चार विधानसभाओ के परिपेक्ष्य...

Read more

बूथों पर अव्यवस्था के शिकार हुए मतदान कर्मीबूथों पर अव्यवस्था के शिकार हुए मतदान कर्मी फर्रुखाबाद: चुनाव आयोग के लाख प्रयास के बाद भी कहीं न कहीं खामी रह ही गयी। इसे किसके सर मड़ा जाये यह तो प्रशासन और चुनाव आयोग ही तय करे। लेकिन जब कई बूथों पर पोलिंग पार्टियां पहुंचीं तो उन्हें अव्यवस्था के शिकार हो गये। शनिवार शाम तक पोलिंग पार्टियां रवाना हुईं और जब बूथों...

Read more

मतदान के लिये फ़ोर्स ने कमर कसी,अधिकारियों ने दिये टिप्समतदान के लिये फ़ोर्स ने कमर कसी,अधिकारियों ने दिये टिप्स फर्रुखाबाद : विधान सभा सामान्य निर्वाचन-2017 के लिये आगामी 19 फरवरी को मतदान को आयोग की मंशा के अनुसार निष्पक्ष, स्वतंत्र एवं शान्तिपूर्वक रूप से सम्पन्न कराने के लिये जिला प्रशासन विभिन्न तैयारियॉ की जा रही है| मतदान को शान्तिपूर्वक सम्पन्न कराने में पुलिस फोर्स की बहुत...

Read more

बादशाह झूठा नहीं होता, झूठा हो तो बादशाह नहीं होता: आजम खानबादशाह झूठा नहीं होता, झूठा हो तो बादशाह नहीं होता: आजम खान फर्रुखाबाद: (कमालगंज/जहानगंज ) भोजपुर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम जरारी में सपा प्रत्याशी के समर्थन में समाजवादी पार्टी के स्टार प्रचारक मंत्री आजम खान ने जनसभा को सम्बोधित किया। इस दौरान आजम खान ने प्रधानमंत्री मोदी जी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्होंने जनता से झूठा वादा...

Read more

कन्नौज में पीएम मोदी बोले, आपके प्यार को विकास के रूप में लौटाऊंगाकन्नौज में पीएम मोदी बोले, आपके प्यार को विकास के रूप में लौटाऊंगा फर्रुखाबाद : सपा के गढ़ कन्नौज में परिवर्तन संकल्प महारैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इतना प्यार 2014 में दे दिया होता तो कितना अच्छा होता। आपने आंख की शर्म के कारण जिन पर कृपा की वह एक कुनबा टूट गया, लेकिन मैं आपसे वादा करता हूं अबकी बार आपके प्यार...

Read more

यूपी चुनाव LIVE: दूसरे चरण का मतदान खत्म, 65.5 फीसदी लोगों ने डाले वोटयूपी चुनाव LIVE: दूसरे चरण का मतदान खत्म, 65.5 फीसदी लोगों ने डाले... उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में दूसरे चरण के लिए 11 जिलों की 67 सीटों पर मतदान बुधवार को संपन्न हो गया. इसी के साथ सभी 721 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला भी ईवीएम में बंद हो गया. जो मतदान केंद्र के अंदर बच गए थे उन्हें शाम 6 बजे तक मतदान के अधिकार का इस्तेमाल करने दिया गया. चुनाव...

Read more

JNI की खबर पर मुहर- ज्ञान देवी के मुकाबले सगुना के पक्ष में है गृह दशा

1

Posted on : 07-01-2016 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS, PANCHAYAT ELECTION, राषिफल-ज्‍योतिष

HOROSCOPEजेएनआई की खबर पर एक बार फिर से मुहर लगी है| 4 नवम्बर 2015 को ही जेएनआई पर एक आर्टिकल प्रकाशित हुआ था- “ज्ञान देवी के मुकाबले सगुना के पक्ष में है गृह दशा” जिस पर आज 7 जनवरी 2016 को मुहर लग गयी|
बिना किसी छेड़छाड़ के पढ़े पिछली प्रकाशित खबर-

जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर इस बार दलित महिला आसीन होगी| ग्रहो की चाल सत्ता की चाबी दिलाने में निर्णायक भूमिका भले ही अदा न करती हो मगर प्रभावित जरूर करती है| जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी तक जाने के लिए जिन जिन प्रत्याशियों ने चुनाव लड़ा है वे ग्रहो की चाल और दशा के शिकार हो सकते है|

जिले की प्रथम महिला के सहारे जिला पंचायत की चाबी हथियाने के लिए सगुना, ज्ञान देवी को चुनाव मैदान में उतारा गया है| दोनों ही निरक्षर है| राजनीति से लेकर जिला पंचायत के मायने तक नहीं जानते मगर चुनाव में जीते है| कमालगंज वार्ड 2 से जीती अनपढ़ रिंकी ने तो ग्रेजुएट अंजुला देवी को चुनावी मैदान में पटखनी दी है| नवाबगंज तृतीय से जीती सगुना देवी कम से कम राजनैतिक परिवार से तो है| उनके पति अजीत कठेरिया कायमगंज से विधायक है मगर रिंकी और ज्ञान देवी तो मात्र मोहरे भर है जिला पंचायत सदन में काम करने के लिए| हालाँकि शैक्षिक योग्यता में सगुना भी अनपढ़ है जैसा की परचा दाखिल करते समय इन लोगो ने बताया है| इन सबके इतर एक और नाम है सुरभि सिंह का| नवाबगंज प्रथम से सुरभि ने नवाबगंज प्रथम के कुल मतदाताओ का केवल 6.7 फ़ीसदी मत पाकर जिला पंचायत में अपनी एक कुर्सी पक्की की है मगर चुनाव लड़ने तक जिला पंचायत अध्यक्ष जैसा ख्वाव उनके पति अजीत गंगवार ने नहीं देखा था| मगर ग्रहो की चाल सियासत के नए मायने गढ़ती है ये पौराणिक सत्य है वर्ना किसने सोचा था कि देश में वो भी प्रधानमंत्री बन सकता है जिसकी पार्टी के केवल दो ही सांसद थे और सबसे ज्यादा सांसद वाली पार्टी BJP विपक्ष में बैठी थी|

तो बात फर्रुखाबाद के जिला पंचायत की कुर्सी को लेकर राजनैतिक से लेकर ज्योतिषीय आंकड़ों की है| और इसमें स अक्षर से शुरू होने वाली सगुना देवी और सुरभि के पक्ष में गुरु, शनि और सूर्य नजरे गड़ाए है| ज्ञान देवी को अध्यक्ष की कुर्सी तक पहुचने के लिए मंगल रास्ते में रोड़े अटका रहा है| वैसे भी संख्या बल में कम समर्थको के जीतने के कारण दावा कमजोर ही रहेगा| फिलहाल सगुना और ज्ञान देवी को प्रत्याशी बनाने के लिए दोनों के चाणक्यो ने लखनऊ में डेरा डाला हुआ है और सपा से प्रत्याशी बनाने के लिए जोर लगाया जा रहा है| एक बात ग्रहो की दशा से साफ़ है कि अगर सपा हाई कमान ने सगुना को प्रत्याशी नहीं बनाया तो सुरभि सिंह के सितारे जिला पंचायत की कुर्सी तक पहुचने के लिए सबसे बुलंद होंगे| इसके पीछे तार्किक राजनैतिक सोच भी है और एकता भी|

फिलहाल जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए भाजपा और बसपा के पास तो प्रत्याशी तक नहीं मगर अध्यक्ष उनका भी बन सकता है| चौकाने वाली बात हो सकती है| मगर इस जुगाड़ के देश में कुछ भी हो सकता है| जहाँ अंगूठा छाप ग्रेजुएट को हरा रहा हो वहां ये भी हो सकता है| अगर सगुना को सपा ने प्रत्याशी नहीं बनाया तो सुरभि लगभग एक दर्जन समर्थित वोटो के साथ या तो भाजपा प्रत्याशी बनेगी या फिर बसपा जिनके पास तीन और चार सदस्य ही है| बाकी का जुगाड़ तो हो ही जाता है इस भ्रष्ट और कलंकित लोकतंत्र में| ज्ञान देवी को सपा प्रत्याशी बनाये जाने के हालात में सुरभि सिंह के सितारे बुलंदी पर होंगे| ज्ञान देवी का वक्री मंगल रास्ता भटकायेगा वहीँ सुरभि के प्रबल शनि उन्हें सत्ता तक पहुचाने में ताकत लगा रहा होगा| मगर ये सब तब होगा जब सगुना देवी को सपा प्रत्याशी नहीं बनाएगी जिसके आसार कम ही लगते है क्योंकि गणित के हिसाब से अब तक सबसे ज्यादा जीते हुए सदस्य सगुना के पक्ष में ही दिख रहे है और अन्य ज्यादातर सदस्य भी अपने राजनैतिक भविष्य के लिए जिला पंचायत की ताकत को जिले के बाहर नहीं भेजना चाहेंगे| लखनऊ में पड़े नेताओ की वापसी से पहले ही काफी कुछ तस्वीर साफ़ होने लगेगी| वैसे दिवाली तो चारो की चमकदार बीतने वाली है| राजनीति के ककहरे से अज्ञान चारो दावेदार जिले के प्रथम नागरिक बनने की लाइन में जो खड़े है|

[bannergarden id="12"]