Featured Posts

दीये बिक्री हो तभी तो मने अंशिका की दीवालीदीये बिक्री हो तभी तो मने अंशिका की दीवाली फर्रुखाबाद :(दीपक-शुक्ला)अब से ढाई दशक पहले दीपावली के त्योहार पर लोग मिट्टी के दीये से घर को रोशन करते थे लेकिन धीरे-धीरे इनका स्थान अब बिजली की झालरों और रंगबिरंगी मोमबत्तियों ने ले लिया है। जिसके चलते मिट्टी के दीये सगुन बनकर रह गये हैं। लोग पूजा पाठ में ही इनका प्रयोग...

Read more

दिग्गजों के वार्ड में 10 वर्षो से चुनाव हार रही बीजेपीदिग्गजों के वार्ड में 10 वर्षो से चुनाव हार रही बीजेपी फर्रुखाबाद:वर्षो से प्रदेश में बीजेपी की सरकार नही बनी| तो निकाय चुनाव में भी किसी ने कोई दमखम नही दिखाया| लेकिन अब केंद्र से लेकर प्रदेश की कुर्सी का भगवा करण होने के बाद बीजेपी के छोटे-बड़े सुरमा अपना दांव अजमाने में लगे है| जगह-जगह बैठके आयोजित हो रही है| बीजेपी वार्डो का...

Read more

प्रेम प्रसंग के शक में ग्रामीण की गोली मारकर हत्याप्रेम प्रसंग के शक में ग्रामीण की गोली मारकर हत्या फर्रुखाबाद: बीते कई वर्षो से विवाहिता से प्रेम प्रसंग के शक में विवाहिता के परिजनों ने ग्रामीण की गोली मारकर हत्या कर दी गयी| पुलिस ने घटना के बाद शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा दिया| मृतक के भाई ने घटना के सम्बन्ध में तहरीर दी| थाना मऊदरवाजा क्षेत्र के ग्राम...

Read more

1,989 परीक्षार्थीयों ने किया टीईटी परीक्षा से किनारा1,989 परीक्षार्थीयों ने किया टीईटी परीक्षा से किनारा फर्रुखाबाद: रविवार को हुई टीईटी परीक्षा के लिये प्रशासन ने पूरी सख्ती दिखाई| जिससे परीक्षा शांतिपूर्ण तरीके से निकट गयी| लेकिन वही दोनों पालियों में 14 केंद्रों पर 11590 परीक्षार्थी परीक्षा मे से 1,989 परीक्षार्थीयों ने किनारा कर लिया| शिक्षक पात्रता परीक्षा(टीईटी) पहली पाली...

Read more

सोशल मिडिया को चुनावी हथियार बनायेगी बीजेपीसोशल मिडिया को चुनावी हथियार बनायेगी बीजेपी फर्रुखाबाद: आगामी निकाय चुनाव में बीजेपी ने सोशल मिडिया को हथियार बनाने का खका तैयार कर लिया है| इसके लिये बैठक कर दिशा निर्देश भी जारी किये गये है| नगर के सिकत्तरबाग में डॉ० महिपाल सिंह के विधालय में आयोजित आईटी विभाग की बैठक में जिलाध्यक्ष सत्यपाल सिंह ने कहा कि नगर निकाय...

Read more

आजीवन सदस्यता वाले ही कर सकेंगे सपा से दावेदारीआजीवन सदस्यता वाले ही कर सकेंगे सपा से दावेदारी फर्रुखाबाद: नगर पालिका अध्यक्ष की टिकट सामान्य होने के बाद से अब दावेदारों की एक लम्बी लिस्ट हर पार्टी के सामने आ गयी है| कुछ प्रत्यक्ष रूप से तो कुछ पर्दे के पीछे से अपनी राजनितिक शतरंज में गोट फिट करने में लग गये है| फ़िलहाल सपा ने आवेदन लेने भी शुरू कर दिये है| समाजवादी...

Read more

मासूम की मौत पर डॉ० भल्ला के खिलाफ मुकदमामासूम की मौत पर डॉ० भल्ला के खिलाफ मुकदमा फर्रुखाबाद: पैसे ना होने से बच्चे का उपचार ना करने से मासूम की मौत पर जिलाधिकारी मोनिका रानी ने सख्त कार्यवाही कर दी| उन्होंने जाँच के आदेश के साथ ही चिकित्सक भल्ला के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करा दिया| कोतवाली मोहम्मदाबाद क्षेत्र के ग्राम खिमसेपुर निवासी नन्हे लाल के 6 माह...

Read more

दो वर्षो में तीसरी बार बम से घटना को अंजाम देने की साजिशदो वर्षो में तीसरी बार बम से घटना को अंजाम देने की साजिश फर्रुखाबाद: जिले की सुरक्षा एजेंसी किस तरह से कार्य कर रही है| एलआईयू व स्वाट टीम किस पर शिकंजा कर रही है| जब दो वर्षो में तीसरी बार घटना को अंजाम देने की नाकाम शाजिश रची गयी| मजे की बात तो यह है कि पुलिस से लेकर एटीएस तक बम बरामद के मामले में जाँच पड़ताल कर चुकी है| लेकिन अभी तक...

Read more

सेंट लारेंस स्कूल के पीछे मिला संदिग्ध बमसेंट लारेंस स्कूल के पीछे मिला संदिग्ध बम फर्रुखाबाद: शहर में दीपावली के त्योहार को देखते हुये पुलिस जितनी अलर्ट है अपराधी उनसे एक कदम आगे नजर आ रहे है| जिसके चलते एक साजिश के तहत विधालय के पीछे बम मिलने से सनसनी फ़ैल गयी| मौके पर पुलिस ने पंहुचकर जाँच पड़ताल की| शहर कोतवाली क्षेत्र के श्याम नगर में सेंट् लारेन्स स्कूल...

Read more

सूची जारी: दो महिला नगर पंचायत अध्यक्ष बनना तयसूची जारी: दो महिला नगर पंचायत अध्यक्ष बनना तय फर्रुखाबाद: काफी लम्बे इंतजार के बाद आखिर नगर पंचायतो का आरक्षण जारी कर दिया गया| जिसको लेकर कही ख़ुशी तो कही गम का माहौल हो गया है| कई की योजनाओ को पलीता लगा तो कई को नया रास्ता नजर आ गया| वही दो महिला नगर पंचायत अध्यक्ष बनना तय हो गया है| नगर विकास अनुभाग लखनऊ से जारी नगर पंचायतो...

Read more

JNI की खबर पर मुहर- ज्ञान देवी के मुकाबले सगुना के पक्ष में है गृह दशा

1

Posted on : 07-01-2016 | By : JNI DESK | In : FARRUKHABAD NEWS, PANCHAYAT ELECTION, राषिफल-ज्‍योतिष

HOROSCOPEजेएनआई की खबर पर एक बार फिर से मुहर लगी है| 4 नवम्बर 2015 को ही जेएनआई पर एक आर्टिकल प्रकाशित हुआ था- “ज्ञान देवी के मुकाबले सगुना के पक्ष में है गृह दशा” जिस पर आज 7 जनवरी 2016 को मुहर लग गयी|
बिना किसी छेड़छाड़ के पढ़े पिछली प्रकाशित खबर-

जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर इस बार दलित महिला आसीन होगी| ग्रहो की चाल सत्ता की चाबी दिलाने में निर्णायक भूमिका भले ही अदा न करती हो मगर प्रभावित जरूर करती है| जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी तक जाने के लिए जिन जिन प्रत्याशियों ने चुनाव लड़ा है वे ग्रहो की चाल और दशा के शिकार हो सकते है|

जिले की प्रथम महिला के सहारे जिला पंचायत की चाबी हथियाने के लिए सगुना, ज्ञान देवी को चुनाव मैदान में उतारा गया है| दोनों ही निरक्षर है| राजनीति से लेकर जिला पंचायत के मायने तक नहीं जानते मगर चुनाव में जीते है| कमालगंज वार्ड 2 से जीती अनपढ़ रिंकी ने तो ग्रेजुएट अंजुला देवी को चुनावी मैदान में पटखनी दी है| नवाबगंज तृतीय से जीती सगुना देवी कम से कम राजनैतिक परिवार से तो है| उनके पति अजीत कठेरिया कायमगंज से विधायक है मगर रिंकी और ज्ञान देवी तो मात्र मोहरे भर है जिला पंचायत सदन में काम करने के लिए| हालाँकि शैक्षिक योग्यता में सगुना भी अनपढ़ है जैसा की परचा दाखिल करते समय इन लोगो ने बताया है| इन सबके इतर एक और नाम है सुरभि सिंह का| नवाबगंज प्रथम से सुरभि ने नवाबगंज प्रथम के कुल मतदाताओ का केवल 6.7 फ़ीसदी मत पाकर जिला पंचायत में अपनी एक कुर्सी पक्की की है मगर चुनाव लड़ने तक जिला पंचायत अध्यक्ष जैसा ख्वाव उनके पति अजीत गंगवार ने नहीं देखा था| मगर ग्रहो की चाल सियासत के नए मायने गढ़ती है ये पौराणिक सत्य है वर्ना किसने सोचा था कि देश में वो भी प्रधानमंत्री बन सकता है जिसकी पार्टी के केवल दो ही सांसद थे और सबसे ज्यादा सांसद वाली पार्टी BJP विपक्ष में बैठी थी|

तो बात फर्रुखाबाद के जिला पंचायत की कुर्सी को लेकर राजनैतिक से लेकर ज्योतिषीय आंकड़ों की है| और इसमें स अक्षर से शुरू होने वाली सगुना देवी और सुरभि के पक्ष में गुरु, शनि और सूर्य नजरे गड़ाए है| ज्ञान देवी को अध्यक्ष की कुर्सी तक पहुचने के लिए मंगल रास्ते में रोड़े अटका रहा है| वैसे भी संख्या बल में कम समर्थको के जीतने के कारण दावा कमजोर ही रहेगा| फिलहाल सगुना और ज्ञान देवी को प्रत्याशी बनाने के लिए दोनों के चाणक्यो ने लखनऊ में डेरा डाला हुआ है और सपा से प्रत्याशी बनाने के लिए जोर लगाया जा रहा है| एक बात ग्रहो की दशा से साफ़ है कि अगर सपा हाई कमान ने सगुना को प्रत्याशी नहीं बनाया तो सुरभि सिंह के सितारे जिला पंचायत की कुर्सी तक पहुचने के लिए सबसे बुलंद होंगे| इसके पीछे तार्किक राजनैतिक सोच भी है और एकता भी|

फिलहाल जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए भाजपा और बसपा के पास तो प्रत्याशी तक नहीं मगर अध्यक्ष उनका भी बन सकता है| चौकाने वाली बात हो सकती है| मगर इस जुगाड़ के देश में कुछ भी हो सकता है| जहाँ अंगूठा छाप ग्रेजुएट को हरा रहा हो वहां ये भी हो सकता है| अगर सगुना को सपा ने प्रत्याशी नहीं बनाया तो सुरभि लगभग एक दर्जन समर्थित वोटो के साथ या तो भाजपा प्रत्याशी बनेगी या फिर बसपा जिनके पास तीन और चार सदस्य ही है| बाकी का जुगाड़ तो हो ही जाता है इस भ्रष्ट और कलंकित लोकतंत्र में| ज्ञान देवी को सपा प्रत्याशी बनाये जाने के हालात में सुरभि सिंह के सितारे बुलंदी पर होंगे| ज्ञान देवी का वक्री मंगल रास्ता भटकायेगा वहीँ सुरभि के प्रबल शनि उन्हें सत्ता तक पहुचाने में ताकत लगा रहा होगा| मगर ये सब तब होगा जब सगुना देवी को सपा प्रत्याशी नहीं बनाएगी जिसके आसार कम ही लगते है क्योंकि गणित के हिसाब से अब तक सबसे ज्यादा जीते हुए सदस्य सगुना के पक्ष में ही दिख रहे है और अन्य ज्यादातर सदस्य भी अपने राजनैतिक भविष्य के लिए जिला पंचायत की ताकत को जिले के बाहर नहीं भेजना चाहेंगे| लखनऊ में पड़े नेताओ की वापसी से पहले ही काफी कुछ तस्वीर साफ़ होने लगेगी| वैसे दिवाली तो चारो की चमकदार बीतने वाली है| राजनीति के ककहरे से अज्ञान चारो दावेदार जिले के प्रथम नागरिक बनने की लाइन में जो खड़े है|

[bannergarden id="12"]