95 बीघा चारागाह की भूमि पर दबंगो का कब्जा

0

फर्रुखाबाद: जिला अधिकारी मोनिका रानी ने कई गौशालाओं का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये| इस दौरान उन्हें 95 बीघा भूमि पर दबंगों के कब्जे की शिकायत मिली जिस पर उन्होंने तत्काल कार्यवाही के निर्देश अधिकारियों को दिये है|
डीएम ने याकूतगंज की गौशाला का निरीक्षण किया| जिसमे 9 बीघा भूमि पर स्थाई गौशाला का निर्माण कराया गया है| कुल 7 लाख 77 हजार का वजट खर्च हो गया है| गौरक्षक शिशुपाल ने बताया कि गौवंश आपस में लड़कर तारों के ऊपर से फरार हो जाते है| जिस पर जिलाधिकारी ने 6 फीट ऊँची जाली लगाने के निर्देश दिये|
सचिव ने जिलाधिकारी को बताया कि अभी तक कुल 58 गौवंश है| जिसमे 50 की टैगिंग की जा चुकी है| अस्थाई गौशाला भाऊपुर से 8, कीरतपुर से 15, महरूपुर सहजू से 14, ढिलाबल से 9, पिथुपुर से 5 गौवंश को याकूतगंज में शिफ्ट किये है| डीएम ने कहा की गौशाला में गाय और गौबंशों को अलग-अलग रखा जाये|
इसके बाद डीएम ने जनैया सठैया  में भी गौशाला को देखा| प्रधान ने जिलाधिकारी से कहा की चारागाह की 95 बीघा भूमि पर दबंग कब्जा किये है| डीएम ने कार्यवाही की निर्देश है| इसके साथ ही नेकपुर खुर्द की गौशाला को भी देखा|

बारिश के साथ गिरे ओले, गर्मी से मिली राहत

0

फर्रुखाबाद:(मोहम्मदाबाद) लगातार कई दिनों तक तेज धूप और गर्मी की तपन के बाद गुरुवार को एक दम मौसम बदला। दोपहर तक जहां धूप लोगों की त्‍वचा झुलसा रही थी वहीं दोपहर बाद आसमान में बादल छा गए। बादल छाने के साथ ही शाम होते होते तेज बरसात के साथ बड़े-बड़े ओले गिरे| बड़ी संख्या में ओले गिरने से गर्मी से काफी राहत मिली है|
गुरुवार तकरीबन पांच बजे के बाद मौसम में अचानक बदलाव हुआ| मौसम ने करवट बदली और बारिश की तेज फुहारें शुरू हो गई। तेज बारिश होने के कारण मौसम खुशनुमा हो गया और गर्मी से लोगों को राहत मिली। वही बरसात के साथ ही क्षेत्र में बड़ी मात्रा में ओलावृष्टि हो गयी| जिससे किसान की फसलों को काफी नुकसान हुआ| खेतों में इन दिनों तरबूज, उर्द, मक्का की फसल खड़ी है| ओले इन फसलों पर आफत बनकर गिरे| जिससे इन फसलों का काफी नुकसान हुआ है| गुरुवार को अधिकतम तापमान लगभग 40 डिग्री और न्‍यूनतम तापमान 30 डिग्री सेंटीग्रेट रहा| 

पर्यावरण बचाओ, एक पेंड जरुर लगाओं

0

Posted on : 05-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, कृषि, सामाजिक

फर्रुखाबाद: पर्यावरण दिवस पर युवाओं ने पेंड लगाकर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया और कहा की पर्यावरण बचाना है तो एक पेंड जरुर लगाना है|
नगर के टाउन हाल परिसर में वृक्षारोपण का कार्यक्रम मिस्टर फर्रुखाबाद शिवम दीक्षित के नेतृत्व में आयोजित किया गया| जिसमे सभी ने एक-एक पेंड लगाकर पर्यावरण बचाने का संदेश दिया| शिवम दीक्षित ने कहा कि आज प्रदूषण काफी बढ़ गया है| जिसको  कम करने के  लिए अधिक से अधिक पेंड लगाने की जरूरत है| 
प्रतिष्ठा सिंह, अमान खान, हर्षित मिश्रा, रश्मि अवस्थी, शुभम, शिव सिंह, आमना व शिवम आदि रहे| 

योगी सरकार का फरमान बेअसर:किसान की फसलों पर आवारा मबेशी डाल रहे डकैती

0

फर्रुखाबाद:(राजेपुर) ग्रामीण क्षेत्र में घुमंतू पशुओं की दिन प्रतिदिन बढ़ती संख्या किसानों बड़ी समस्या बनी है। इन पशुओं के झुंड जहां से भी गुजरते हैं वहां खड़ी फसल को मिनटों में बर्बाद कर रहे हैं। इन पशुओं में गाय व बछड़ों की ज्यादा संख्या है। इनको अपने क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में भगाने को लेकर किसानों के बीच आए दिन झगड़े भी होते रहते हैं। हालत ऐसी है कि किसान रात-दिन खेतों में पहरा देते हैं और मामूली लापरवाही होते ही ये पशु पूरी फसल का नष्ट कर देते हैं। यंहा
योगी सरकार के फरमान का कोई भी असर नही दिख रहा है| रेतीले क्षेत्र में नील गाय पहले से ही किसानों के लिए बड़ी चुनौती रही हैं और अब घुमंतू गायों की बढ़ती संख्या ने तो किसानों का सुख चैन ही छीन लिया है। प्रदेश सरकार ने नंदीशालाओं को खोलने का प्रयास किया लेकिन वह भी कागजों तक सीमित रह गया। विवाद से बचने के लिए ग्राम पंचायतें अपने क्षेत्र में नंदीशाला संचालन से पीछे हटने लगी है। जिससे हर गांव के लावारिस क्षेत्र या खेतों में इनके बड़े बड़े झुंड नजर आते हैं।
राजेपुर निवासी किसान धर्मेन्द्र कुमार का  कहना है कि खेतों में खड़ी फसलों की आवारा मबेशी बर्बाद कर रहे है| लेकिन जिला प्रशासन की तरफ से कोई कार्यवाही नही करना चाहता| गायों की सेवा केबल कागजों में कर फर्जी आंकड़े सरकार के सामने पेश किये जा रहे है| हर गांव में दर्जनों की संख्या में विदेशी नस्ल के गाय-बछड़े घूम रहे हैं जो मौका मिलते ही फसलों को रौंद देते हैं। इनमें से बहुत से पशु हिंसक भी हो गये है वह पालतु पशुओं व किसानों को जख्मी कर रहे हैं। 

मंडी चपरासी नें फर्जी गेट पास जारी कर किया लाखों का गबन

0

फर्रुखाबाद: काफी लम्बे समय से मंडी समिति का चपरासी फर्जी गेट पास जारी कर शासन को लाखों की चपत लगा रहा था| खुलासा होनें पर उसके खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया|
शहर कोतवाली क्षेत्र के सातनपुर मंडी समिति में तैनात चपरासी अभय प्रताप सिंह काफी लम्बे समय से फर्जी गेटपास बनाने का खेल खेल रहा था| फर्जी गेट पास जारी करके उसने लाखों रूपये का गबन कर शासन और सरकार को लाखों की चपत लगा दी|
मामला पकड़ में आने पर राज्य कृषि उत्पादन मंडी परिषद कानपुर संभागीय कार्यालय के उपनिदेशक प्रशासन एवं विपणन अधिकारी राजीव श्रीवास्तव नें कोतवाली पुलिस को तहरीर दी| पुलिस ने तहरीर के आधार पर धारा 409, 420, 467, 467, 468 व 471 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया|

मक्के व सिबाला के लिए आसमान से बरसा सोना

0

Posted on : 13-05-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, कृषि, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(अमृतपुर) बीते काफी दिनों से लू और भीषण गर्मी से परेशान किसान ने हल्की बरसात के बाद राहत की साँस ली| क्योंकि यह बरसात खेत में खड़ी मक्के व सिवाला के फसल के लिए सोने से कम नही|
सुबह से हो रहे बादल सोमबार की शाम आखिर अमृतपुर क्षेत्र में बरस ही पड़े| तकरीबन आधा घंटे तक हुई बरसी से किसानों ने  राहत की सांस ली है| यह बरसात मक्के व सिबाला की सूख रही फसल के लिए रामबाण साबित होगी|
बताया जा रहा है कि किसानों का मानना है कि बरसात होंने से तकरीबन तीन से चार दिन तक खेतों में पानी नही लगाना पड़ेगा| क्योंकि खेत पर्याप्त मात्रा में गीले हो गये है|

गर्मी बढ़ते ही तरबूज की बढ़ी डिमांड

0

Posted on : 13-05-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, कृषि, सामाजिक

फर्रुखाबाद: तरबूज का नाम आते ही लोगों को भीषण गर्मी में भी तरोताजगी दिलाने वाले विशेष फल की याद आ जाती है। गर्मी के इस खास फल ने बाजार में दस्तक दे दी है। भीषण गर्मी से राहत पाने को लोग इसकी जमकर खरीददारी कर रहे हैं। मांग अधिक होने से किसानों को अच्छे दाम मिल रहे हैं।
कई दिनों से भयंकर गर्मी और लू से जनजीवन बेहाल है। सुबह 11 बजते ही लोग घरों में दुबक जाते हैं। यह स्थिति शाम 5बजे तक चलती है। प्यास बुझाने के लिए लोगों को शीतल पेय पदार्थों का सहारा लेना पड़ रहा है। तरबूज की बाजार में बिक्री शुरू होने से लोग इसकी जमकर खरीददारी कर रहे हैं।
सोमवार को आवास विकास में तरबूज बेंच रहे दुकानदार संतोष व आलू मंडी रोड पर तरबूज बिक्री करने रहे प्रमोद ने बताया कि गर्मी के चलते तरबूज की डिमांड अधिक हो गयी है| तरबूज 15 रूपये किलो के भाव में बिक रहा है| करीब सामान्य रूप से तरबूज 40 रूपये से 100 रूपये की कीमत का पड़ रहा है| 

गौसन में बंद 9 गायों की मौत पर हंगामा

0

फर्रुखाबाद:गौसदन में बंद एक साथ नौ गायों की मौत की सूचना पर पंहुचे कुछ हिन्दू संगठन के नेताओं के साथ गौसदन के कर्मियो की नोकझोंक हो गयी|
थाना मऊदरवाजा क्षेत्र के ग्राम कटरी धर्मपुर में बने गौसदन में पालिका के द्वारा पकड़कर लायी गयी गायों और गौवंशो को बंद किया गया था| बीते कुछ माह पूर्व भी गौसदन में तकरीबन एक सैकड़ा गायों की मौत हो गयी थी| जिसके  बाद जेएनआई ने गौसदन के खिलाफ अभियान चलाया था| खबर के बाद मामला शासन तक चला गया और गौसदन में गायों को चारा,पानी और दवा की व्यवस्था दुरस्त की गयी थी|
लेकिन कुछ महीने बाद ही व्यवस्था फिर पुराने ढर्रे पर आ गयी| सोमबार को पुन: गौससदन में 9 गायों की मौत होजाने का मामला सामने आया है| सूचना मिलने पर गौरक्षा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष अतुल शर्मा पंहुचे तो उनकी गौसदन कर्मियों में नोकझोंक हो गयी| बताया जा रहा है कि गौसदन की गायों की मौत अनदेखी से होना बतायी जा रही है|

इंजन की चिंगारी से 25 बीघा गेंहू की फसल राख

0

Posted on : 14-04-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, कृषि, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(राजेपुर) जैसे-जैसे गर्मी बढ़ रही है तो खेतों में खड़े गेंहू की फसल पर भी खतरा बढ़ रहा है| आग लगने की घटनायें भी बढ़ रही है| रविवार को भी इंजन की चिंगारी से 25 बीघा गेंहू की फसल राख हो गयी|
थाना क्षेत्र के ग्राम भरखा निवासी रामप्रताप,अशोक,रामलखन,ओमप्रकाश,भानु,सूरजपाल,पिंटू,देवन्द्र व हर्ष आदि के खेतों में गेंहू की फसल खड़ी थी| वही रामप्रताप के खेत में मक्का की फसल में पानी इंजन से लगाया जा रहा था| तभी अचानक इंजन की चिंगारी ने गेंहू की फसल को आग का गोला बना दिया| देखते ही देखते ग्रामीणों की 25 बीघा गेंहू की फसल जलकर राख हो गयी|
घटना की जानकारी मिलने पर डायल 100 के साथ ही इंस्पेक्टर राकेश कुमार,एसडीएम वसंत कुमार गुप्ता आदि मौके पर पंहुचे| अमृतपुर लेखपाल पवन यादव ने नुकसान का आंकलन किया|
उप जिला अधिकारी ने बताया इंजन के चिंगारी से लगी आग बढ़ा हुआ नुकसान हुआ है|जाँच की जा रही है|

तेज बारिश के साथ पड़े ओले, ठंड बढ़ी

0

Posted on : 14-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, कृषि, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(राजेपुर/अमृतपुर)गुरुवार को हुई बरसात में जमकर ओले पड़े। ओलावृष्टि से की सड़के व खेत बर्फ की चादर बन गई। कुछ देर के लिए सड़कों पर केवल ओले ही नजर आए। ओलावृष्टि के बाद अचानक ठंड बढ़ गई है। सुबह से ही आकाश में बादल छाए रहे और कई बार बारिश हुई।
गुरुवार को सुबह से ही आकाश में काले बादल छाए रहे और बारिश शुरू हो गई। दोपहर तक आकाश में घने काले बादल फिर से छा गए और बारिश शुरू हो गई। कुछ देर बाद ही ओलावृष्टि शुरू हो गई। इतने मोटे-मोटे ओले पड़े की टप-टप की तेज आवाज गूंजने लगी। ओलावृष्टि जब रुकी तो सड़के सफेद बर्फ बन चुकी थी। ओले के बाद अचानक ठंड बढ़ गई है। ओलावृष्टि के यहां फसलों को नुकसानदायक बताया जा रहा है।
बारिश से मौसम में ठंडक बढ़ी
बारिश होने से मौसम में ठंडक बढ़ गई है। अमृतपुर व राजेपुर क्षेत्र के साथ ही जनपद के कई क्षेत्र में तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि होने से फसलों को भी नुकसान पहुंचा है। अमृतपुर व राजेपुर क्षेत्र में ओलों ने काफी सरसों व गेहू के साथ ही आलू को नुकसान दिया है| ग्राम हरसिंहपुर किसान राजीव,श्री नारायण,राजकुमार व सत्यप्रकाश आदि का कहना है कि तेज बारिश के साथ ओले पड़ने से क्षेत्र के किसानों की सरसों तथा गेंहू की फसल प्रभावित हुई है। ओले पड़ने से आलू की फसल का काफी नुकसान हुआ है।
पूरे दिन में रुक-रुककर बूंदाबांदी होती रही। बूंदाबांदी व ओलावृष्टि ने जहां ठिठुरन बढ़ी है, वहीं पर ईंधन गीला होने से कोल्हू बंद हो गए हैं। सुबह हल्की बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। हवा के साथ बारिश देखकर किसान की सांसें रुकी रही क्योंकि सरसों की फसल खेतों में तैयार खड़ी है। बारिश और ओलावृष्टि से फसल को नुकसान पहुंचा है।