बदला लेने को हुई थी कंटेनर चालक की हत्या,पुलिस ने किया खुलासा, एक आरोपी गिरफ्तार

0

JNI NEWS : 02-03-2013 | By : HEMANT KUMAR | In : अपराध

सिकंदराबाद : कोतवाली क्षेत्र के ककोड़ रोड पर विगत दिनों हुई चालक की हत्या व कैंटर लूट का पर्दाफाश करने का पुलिस ने दावा किया है। कोतवाली पुलिस ने चैकिंग के दौरान एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। जबकि दो आरोपी फरार होने में कामयाब हो गए। पुलिस ने पकड़े गए आरोपी के कब्जे से एक बाइक, एक तमंचा बरामद हुई है। पुलिस पकड़े गए आरोपी से फरार साथियों के बारे में पूछताछ कर रही है।
गौरतलब है कि विगत 2३ फरवरी की सुबह ककोड़ रोड पर झाडिय़ों में शव मिलने से सनसनी फैल गई थी। शव पर गोलियों के निशान और गले में बेल्ट पड़ी होने से ग्रामीणों ने हत्या कर शव फेंकने की पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर पुलिस में हडक़ंप मच गया। घटना स्थल पर मिले लाइसेंस से मृतक की पहचान लोनी क्षेत्र के ग्राम मेवला भट्टी निवासी मुकेश बैसला पुत्र अजीत के रूप में हुई। पुलिस ने मृतक के परिजनों को सूचना दी। मृतक के भाई पूर्व प्रधान महेश ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ कैंटर लूट व हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। कैंटर लूट व हत्या की जघन्य घटना से पूर्व 50 लाख के मीट से भरा कंटेनर लूट की घटना पुलिस के लिए चुनौती बन गई थी। पुलिस ने दोनों घटनाओं के आरोपियों को पकडऩे के लिए विशेष दौड़ घूप की। कोतवाली प्रभारी जितेन्द्र सिंह कालरा एसआई विनय कुमार आजाद, एसआई दौलत राम मीणा, कांस्टेबल लेखराज सिंह, वीरसैन आदि के हमराह दनकौर रोड पर चैकिंग कर रहे थे। तभी पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि मुकेश की हत्या कर कैंटर लूटने वाले बदमाश मोटरसाईकिल से दनकौर रोड पर कोई वारदात करने की फिराक में घूमते देखे गए हैं। सूचना पाकर कोतवाल जितेन्द्र कालरा ने पुलिस गश्त बढ़ा दी। इस दौरान  दनकौर रोड स्थित निजामपुर बम्बे पर संदिग्ध आरोपियों की चैकिंग के दौरान ककोड़ रोड की तरफ से एक मोटरसाईकिल पर तीन व्यक्ति आते हुए दिखाई दिए। जो पुलिस टीम देखकर पीछे मुडक़र भागने लगे। पुलिस ने पीछा करके ककोड़ रोड नहर की पटरी पर एक बदमाश को पकड़ लिया। जबकि उसके दो साथी भागने में सफल रहे। पुलिस पूछताछ में पकड़े गए बदमाश ने अपना नाम अरूण पुत्र सतीश वाल्मीकि निवासी ग्राम इमलिया थाना कासना गौतम बुद्ध नगर बताया। कड़ी पूछताछ के बाद आरोपी ने अपने साथी के नाम सोनू पुत्र धर्मवीर वाल्मीकि तथा सोनू पुत्र रमेश वाल्मीकि बताए। पुलिस ने अरूण की निशानदेही पर लूटा गया कैंटर, भट्टा पारसौल से लूटी गई मोटरसाईकिल, हत्या में प्रयुक्त तमंचा तथा कारतूस बरामद करने का दावा किया है। बकौल पुलिस पकड़े गए बदमाश ने बताया कि कुछ दिन पूर्व चौधरी ट्रांस्पोर्ट कंपनी पर सोनू पुत्र धर्मवीर की कैंटर चालक मुकेश से किसी बात लेकर कहासुनी हो गई थी। उसने मुकेश को सबक सिखाने की धमकी दी। मुकेश को सबक सिखाने की योजना के अनुसार गत 22 फरवरी को चौधरी ट्रांस्पोर्ट सूरतपुर से मुकेश की गाड़ी यूपी 16एटी 0643 बहाना बनाकर सिकंदराबाद के लिए 2000 रुपए में बुक कराई गई थी। जिसे अरूण और सोनू वाल्मीकि लेकर सिकंदराबाद की ओर चले। थोड़ी दूर पर स्थिति पैट्रोल पंप से उन्होंने 500 रुपए का तेल डलवाया। पुलिस के अनुसार मार्ग में मुकेश और सोनू को उनका साथी सोनू भी मिला। तीनों गाड़ी खेरली नहर के पास पहुंचे। वहां पहुंचकर उन्होंने तमंचा लगाकर मुकेश को कब्जे में कर लिया और ककोड़ रोड स्थित एक मंदिर के निकट गाड़ी रोककर सोनू और मुकेश में कहासुनी और मारपीट होने लगी। इस बीच अरूण और सोनू पुत्र धर्मवीर ने अपने-अपने तमंचों से मुकेश के गोली मार दी तथा सोनू पुत्र रमेश ने मुकेश की बैल्ट से उसका गला दबा दिया। मुकेश की हत्या होने के बाद उन्होंने शव को झाडिय़ों में फेंक दिया और कैंटर को कटवाने के लिए मेरठ चले गए।
कोतवाली प्रभारी जितेन्द्र कालरा ने बताया कि पकड़े गए आरोपी अरूण के साथ घटना स्थल दौरा कर घटना की जानकारी हासिल की। पकड़े गए आरोपी ने नोएडा व आसपास क्षेत्र से एक दर्जन से अधिक मोटरसाईकिलें लूटने की बात भी स्वीकारी है।

No related posts.

Related posts brought to you by Yet Another Related Posts Plugin.

Comments are closed.