Featured Posts

सवारियों के आगे रोडवेज की व्यवस्था धड़ाम,जगह नहीं मिलीसवारियों के आगे रोडवेज की व्यवस्था धड़ाम,जगह... सिकंदराबाद : बहन और भाई के त्योहार भैयादूज पर मुसाफिरों के उमड़ेे सैलाब से आगे रोडवेज की व्यवस्था की धड़ाम हो गए। मंगलवार को सुबह से लेकर शाम तक बसों की कमी के चलते मारामारी मचती रही। रोडवेज से...

Read more

बिजली गुल होने के बाद भी रोशनी से गुलजार रहेगा ककोड़, ककोड़ नगर को मिला तोहफाबिजली गुल होने के बाद भी रोशनी से गुलजार... सिकंदराबाद :  ककोड़ नगर में अब बिजली गुल होने के बावजूद अंधेरा नहीं रहेगा। ककोड़ नगर पंचायत इस बार जनता को दीपावाली की सौगात दी है। जिसके तहत अब नगर रात में रोशनी से गुलजार रहेगा।  नगर की स्ट्रीट...

Read more

नामावलियों की बढ़ी तारीख, 15 तक दाखिल होंगे दावे,दस नवंबर को अब एक ओर चलेगा विशेष अभियान नामावलियों की बढ़ी तारीख, 15 तक दाखिल होंगे... सिकंदराबाद :  निर्वाचन आयोग के निर्देश पर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की नामावलियों के विशेष पुर्नरीक्षण अभियान की तिथि आगे बढ़ा दी गई है। अब 15 नवंबर तक दावे व आपत्तियां दाखिल हो सकेगी। इसके...

Read more

सिकंद्राबाद में नगर पालिका बोर्ड की बैठक में हुआ जमकर हंगामा,घंटों चली बहस के बाद हुआ 2 करोड का प्रस्ताव पाससिकंद्राबाद में नगर पालिका बोर्ड की बैठक... सिकंद्राबाद में शनिवार को हुई बोर्ड की बैठक में सभासदों के माध्यम से लगा जनता की शिकायतों का अम्बार। एक मौहल्लें में सभासद द्वारा लगवाई गई स्ट्रीट लाईट को नगर पालिका कर्मचारियों द्वारा उतार...

Read more

सिकंदराबाद में हुआ अंहकारी रावण का अंत, मेले में उमड़ी भीड़सिकंदराबाद में हुआ अंहकारी रावण का अंत,... सिकंदराबाद : सिकंदराबाद में चौदस तिथि में बराही मेले के दौरान रावण दहन का आयोजन हुआ। श्रीराम के तीर से विशालकाय अहंकारी दशानन का पुतला धूं धूं कर जल उठा और पूरा मेला परिसर श्री राम के जयकारों से...

Read more

सिकंदराबाद में धूमधाम से मनाई गई राष्ट्रपिता की जयंती,नगर में आयोजित किए गए विभिन्न कार्यक्रमसिकंदराबाद में धूमधाम से मनाई गई राष्ट्रपिता... सिकंदराबाद :  नगर व क्षेत्र में राष्टपिता महात्मा गांधी की 144वीं जयंती पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। जिसमें वक्ताओं ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन परिचय पर प्रकाश डालते हुए उनके बताए गए मार्गों...

Read more

विवेकानन्द सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता के विजेता हुए सम्मानित,काका गल्र्स कालेज में आयोजित किया गया कार्यक्रमविवेकानन्द सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता... सिकंदराबाद :  स्वामी विवेकानन्द सार्थशती आयोजन समिति के तत्वावधान में विगत दो सितम्बर को आयोजित विवेकानन्द सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता के सफल प्रतिभागिओं को कार्यक्रम आयोजित कर पुरस्कृत किया...

Read more

गर्दन तोड़ रोग ने धान किसानों को रूलाया,कृषि विभाग के खिलाफ किसानों में रोषगर्दन तोड़ रोग ने धान किसानों को रूलाया,कृषि... सिकंदराबाद : बारिश न होने की मार झेल चुके धान किसानों को अब फसल में लगे रोगों ने खूंन के आंसू रूला दिया है। किसानों के अनुसार धान की फसल में एक नहीं दो-तीन रोगों ने हमला कर दिया है जिससे गांव में लाखों...

Read more

अमन चैन की शांति के लिए एसडीएम को सौंपा ज्ञापन,एसडीएम ने दिया हर संभव मदद का भरोसाअमन चैन की शांति के लिए एसडीएम को सौंपा... सिकंदराबाद : मुजफरनगर व आस-पास के क्षेत्रों में हिसा के बाद जनपद में कुछ स्थानो पर सामप्रदायिक तनाव होने के चलते जमीयत उलेमा पदाधिकारियो ने क्षेत्र मे शान्ति व्यवस्था आर अमन बरकरार रखने के लिए...

Read more

जननी सुरक्षा के चैक के लिए चक्कर काट रहे पात्र

Comments Off

Posted on : 17-07-2012 | By : HEMANT KUMAR | In : स्वास्थ्य

सिकंदराबाद : सरकार द्वारा राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में जननी सुरक्षा योजना के तहत बच्चे के जन्म पर दिए जाने वाली राशि के चैक के लिए पात्र कई दिनों से चक्कर काट रहे हैं। अस्पताल प्रशासन द्वारा उन्हें रोजाना टरका दिया जाता है। दूर दराज से आने वाले पात्रों को बिना चैक के ही वापस लौटना पड़ता है।
सरकार द्वारा जननी सुरक्षा योजना के अन्तर्गत राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में बच्चे के जन्म पर शहरी महिला के लिए एक हजार रुपए और ग्रामीण महिला के लिए 1400 रुपए पर चैक दिया जाता है। राजकीय संयुक्त चिकित्सालय सिकंदराबाद में दर्जनों महिलाएं जननी सुरक्षा योजना के तहत मिलने वाले चैक के लिए पहुंची, लेकिन उन्हें टरका दिया गया। पात्र रोशना बेगम तिलबेगमपुर, मंडपा निवासी रिहाना, जोखाबाद निवासी शकुन्तला, सरकारी कालोनी निवासी गीता, नया गांव निवासी आशा समेत दर्जनों महिलाओं ने आरोप लगाया कि अस्पताल स्टाफ में रोजाना चैक के लिए टरका रहा है। वे दूर दराज से चैक लेने के लिए अस्पताल आते हैं और कई घंटे इधर-उधर घूमने के बाद खाली हाथ वापस चली जाती हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि संबंधित क्लर्क रोजाना अगले दिन की कहकर उन्हें टरका देता है। जब इस बाबत चिकित्साधिकारी से जानकारी चाही तो उन्होंने बताया कि जननी सुरक्षा योजना से संबंधित बाबू अभी नए आए हैं। एक-दो दिन में सभी पात्रों को चैकों का वितरण कर दिया जाएगा।

स्वास्थ्य विभाग के अफसरों द्वारा पोलियो के संदिग्ध केस को दबाने की कोशिश,तीन माह पहले एक बच्ची में दिखाई दिए थे पोलियो के लक्षण

Comments Off

Posted on : 14-03-2012 | By : HEMANT KUMAR | In : स्वास्थ्य

सिकंदराबाद : सरकार पोलियो जैसी बीमारी को जड़ से नष्ट करने के लिए कई वर्षों से करोड़ों रुपए खर्च कर रही है। इस कार्य में उसे कई संगठन भी सहयोग कर रहे हैं। लेकिन स्थानीय स्वास्थ्य विभाग के अफसर गांव तिलबेगमपुर निवासी एक डेढ़ वर्षीय बच्ची में पोलियो के संदिग्ध केस को दबाने का प्रयास कर रहे हैं। ऐसा आरोप बच्ची के पिता ने लगाया है। पिता के अनुसार तीन माह से विभाग के डाक्टर जांच कर रहे हैं। जिससे उसे संतुष्टि नहीं हो रही।
औद्योगिक क्षेत्र स्थित गांव तिलबेगमपुर निवासी रहीस की डेढ़ वर्षीय पुत्री निश तीन माह पूर्व अचानक पैर से लगंड़ा कर चलने लगी। यह देख परिजनों को पोलियो होने का शक हुआ। रहीस के अनुसार वह निशा को लेकर सिकंदराबाद के सरकारी अस्पताल पहुंचा। वहां डाक्टरों ने पोलियो टीम को बुलाया। उसके बाद दूसरे दिन बच्ची को बुलंदशहर अस्पताल बुलाया और उसकी ब्लड, थूक और स्टूल जांच के लिए ले लिया। लेकिन अभी तक बच्ची का कोई इलाज शुरू नहीं किया। रहीस ने बताया कि उसने डाक्टरों से कई बार अपनी बच्ची को कही और दिखाने के लिए कहा क्योंकि उसके पैर का टेढ़ापन सही नहीं हुआ। लेकिन डाक्टरों ने ऐसा करने से रहीस से मनाकर दिया। रहीस चिकित्सकों के चक्कर काट रहा है कि उसकी बच्ची का इलाज हो जाए ताकि उसका जीवन बर्बाद न हो सके। आरोप है कि अफसर मामले को दबाने का प्रयास कर रहे हैं। सिकंदराबाद के चिकित्सा प्रभारी डा. भागर्व ने बताया कि पोलियो केस की जांच की रिपोर्ट तीन माह में आती है। विभाग तो संदिग्ध केस को प्राथमिकता के आधार पर लेता है और टीम जांच करती है। बच्ची को पोलियो के लक्षण नहीं होंगे।

सीएमओ के निरीक्षण से अस्पताल में हडक़ंप,जननी सुरक्षा योजना समेत किया निरीक्षण

Comments Off

Posted on : 19-12-2011 | By : HEMANT KUMAR | In : स्वास्थ्य

सिकंदराबाद : सीएमओ डा. एचएस दानू अचानक राजकीय संयुक्त चिकित्सालय पहुंचे। सीएमओ को अचानक अस्पताल में देख कर्मचारियों में हडक़ंप मच गया। प्रभारी चिकित्सक भी सीएमओ के बाद अस्पताल पहुंचे।
सीएमओ ने राजकीय संयुक्त चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने ओपीडी, इमरजेन्सी समेत सभी विभागों का निरीक्षण किया। उन्होंने डाक्टरों से कहा कि जो भी राष्ट्रीय कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं उनका कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए। किसी भी योजना के प्रति शिकायत आने पर संबंधित को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने जननी सुरक्षा योजना के रजिस्टर्ड, उपस्थित रजिस्टर्ड आदि का निरीक्षण किया। कर्मचारियों ने भी अपनी समस्याओं से भी सीएमओ को अवगत कराया। जिस पर उन्होंने कर्मचारियों को निदान का भरोसा दिलाया। इस मौके पर डा. अनिल कुमार, डा. भार्गव समेत सभी स्टाफ मौजूद रहा।

खाद्य निरीक्षक के छापों से मचा दुकानदारों में हडक़ंप

Comments Off

Posted on : 13-10-2011 | By : HEMANT KUMAR | In : स्वास्थ्य
सिकंद्राबाद : खाद्य निरीक्षक ने  अचानक दुकानों पर छापामार अभियान छेड़ दिया। निरीक्षक ने दो बेकरियों पर छापे मारे और सेंपिल भर कर जांच को भेज दिए। अचानक हुई इस छापामार कारवाई से खाद्य पदार्थ बेचने वाले दुकानदारों में हडक़ंप मच गया।
खाद्य निरीक्षक ए.के. सिंह अपनी टीम के साथ अचानक दनकौर रोड स्थित पवन बेकरी पर पहुंचे। निरीक्षक ने वहां रखी पेस्टी और पेटीज की जांच की और नमूना लिया। इसके बाद मोहल्ला खत्रीवाड़ा स्थित एक बेकरी  पर छापा मारा। एके सिंह ने बताया कि यहां भी पेटीज और पेस्टी का नमूना लिया गया। दोनों दुकानों पर रखा करीब आधा कुंतल दूषित पदार्थ नष्ट कराया। नमूने जांच के लिए लैब भेज दिए गए। बेकरी में काम करने वाले सभी लोग बिहार के जनपद वैशाली के हैं।

पोलियो रैली में बच्चों को पोलियो ड्राप पिलाने की अपील

Comments Off

Posted on : 13-11-2010 | By : HEMANT KUMAR | In : समाचार, सामाजिक, स्वास्थ्य

बुलंदशहर|| रविवार को आयोजित होने वाले पल्स पोलियो अभियान के लिए लोगों में जागरूकता पैदा करने को स्वास्थ्य विभाग ने रिक्शाओं में रैली निकाली। इसमें पांच साल तक की आयु के हर बच्चे को पोलियो ड्राप पिलाने की अपील की गई।

जिला चिकित्सालय में शुक्रवार को प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एचसी पिप्पल ने पल्स पोलियो रैली का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि पोलियो को समूल नष्ट करने के लिए जरूरी है कि पांच साल तक के हरेक बच्चे को पोलियो ड्राप पिलाई जाए।

उन्होंने कहा कि इसके पीने से बच्चों की सेहत को कोई नुकसान नहीं होता है, बल्कि बच्चा ताउम्र पोलियो जैसे वायरस की चपेट में आने से बचा रहता है। परिवार कल्याण के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. दिलीप सिंह ने बाल दिवस को पल्स पोलियो रविवार के मौके पर लोगों से हर बच्चे को पल्स पोलियो की ड्राप पिलाने की अपील की। इस अवसर पर उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. डीआर चौधरी, यूनीसेफ, डब्ल्यूएचओ के अधिकारी उपस्थित रहे।

रैली जिला अस्पताल से शुरू होकर काला आम, अंसारी रोड, मोती बाग, बूरा बाजार, ऊपर कोट, अंसारी रोड होती हुई जिला अस्पताल पर जाकर संपन्न हुई।

पोलियो के दो और संदिग्ध मामले मिले

Comments Off

Posted on : 27-09-2010 | By : HEMANT KUMAR | In : समाचार, सामाजिक, स्वास्थ्य

खुर्जा:: हर माह दो बूंद जिंदगी की पीने के बाद भी बच्चों में पोलियो के लक्षण मिलना जारी है। पहासू के बाद अब अरनिया क्षेत्र के दो बच्चों में पोलियो के लक्षण मिले हैं। बच्चों में पोलियो के लक्षण मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप की स्थिति है। मुनि पीएचसी पर जांच के बाद चिकित्सक ने बच्चों में पोलियो के लक्षण बताकर जिला अस्पताल में सूचना दी है।
लाख प्रयास के बाद भी पोलियो पर लगाम लगती नजर नहीं आ रही है। अरनिया क्षेत्र के गांव पचगाई निवासी विनित कुमार के तीन वर्षीय पुत्र दीपांशु को सप्ताह भर पहले बुखार आया था। बुखार के दौरान बच्चे का बायां पैर कमजोर होना शुरू हो गया। परेशान परिजनों ने निजी चिकित्सक के बच्चे का उपचार कराया, लेकिन लाभ नहीं हो सका। शनिवार को परिजन बच्चे को लेकर मुनि स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। चिकित्सक ने जांच के बाद बच्चे में पोलियो के लक्षण बताए।
उधर, गांव करौरा निवासी अली हसन के चार वर्षीय पुत्र सैफी का भी बुखार के बाद पैर कमजोर हो गया। जांच के बाद चिकित्सक ने बच्चे में पोलियो के लक्षण बताए। मुनि पीएचसी पर तैनात प्रभारी चिकित्सक डॉ. प्रवीण कुमार ने बताया कि बच्चों में पोलियो के लक्षण मिले हैं। जिला अस्पताल में बच्चों में लक्षण मिलने की सूचना दी है। शीघ्र टीम गांव आकर दोनों बच्चों का स्टूल लेकर जांच को भेजेगी।

अब गाड़ी से आएंगी बहनजी

Comments Off

Posted on : 14-08-2010 | By : HEMANT KUMAR | In : समाचार, स्वास्थ्य

बुलंदशहर: पंद्रह अगस्त से सूबे में लागू हो रही जच्चा-बच्चा सुरक्षा योजना के बाद ‘बहनजी’ (एएनएम) गाड़ी से गांवों में गर्भवती महिलाओं की जांच व टीकाकरण के लिए जाएंगी। शासन का उद्देश्य समय पर चिकित्सा सुविधा या सलाह से वंचित रहने पर होने वाली जच्चा-बच्चा की मृत्यु में कमी लाना है।

जच्चा-बच्चा सुरक्षा योजना 2010-11 के तहत शासन ने मातृ व शिशु मृत्यु दर में कमी लाने को गांव में एएनएम को आने-जाने के लिए चार पहिया गाड़ी उपलब्ध कराने का फैसला किया है। अब ब्लाक स्तर पर तैनात प्रत्येक एएनएम गांव में रहने वाली गर्भवती महिलाओं की जांच को गाड़ी से गांव जाएंगी। साथ ही हर सप्ताह बुधवार व शनिवार को टीकाकरण कार्यक्रम के लिए भी इन्हीं गाड़ियों से एएनएम गांवों में जाकर अभियान चलाएंगी। गाड़ी में एएनएम के साथ एक चिकित्सक, सभी आवश्यक दवाएं भी होंगी। यह जानकारी देते हुए परिवार कल्याण विभाग के जिला परियोजना अधिकारी डा. दिलीप सिंह ने बताया कि जनपद में प्रत्येक ब्लॉक पर मौजूद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर चार-चार गाड़ियों की व्यवस्था कर ली है।

ये गाड़ियां ब्लाक के किसी गांव में जाने के लिए चौबीसों घंटे तैयार रहेंगी। उन्होंने बताया कि सूचना मिलते ही एएनएम और अन्य चिकित्सा स्टाफ गर्भवती महिला, जच्चा-बच्चा के स्वास्थ्य की जांच को आवश्यक्ता वाले गांव के लिए रवाना हो जाएगा। एएनएम महिलाओं को गर्भवती होने व प्रसव के बाद स्वास्थ्य संबंधी सलाह देंगी, ताकि जच्चा-बच्चा स्वस्थ रहें। इस योजना का उद्देश्य सूबे में मातृ व शिशु मृत्यु दर कम करना है। यह योजना 15 अगस्त को पूरे सूबे में एक साथ लागू होगी।

प्रसव के लिए आई महिला को टरकाया

Comments Off

Posted on : 05-08-2010 | By : HEMANT KUMAR | In : अपराध, समाचार, स्वास्थ्य

खुर्जा (बुलंदशहर) : एक तरफ सरकार जननी सुरक्षा योजना के तहत विभिन्न सुविधाएं देकर महिलाओं को सरकारी अस्पताल में प्रसव के लिए प्रेरित कर रही है। दूसरी ओर स्वास्थ्यकर्मी सरकार की योजना को पलीता लगाने में जुटे हुए हैं। स्थानीय महिला अस्पताल में सोमवार को प्रसव के लिए आई महिला को समय से पूर्व आने की बात कहकर टरका दिया गया।

जिला कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक सैल के जिलाध्यक्ष युसूफ सलमानी ने सीएमओ और स्वास्थ्य मंत्री समेत विभिन्न वरिष्ठ अधिकारियों को भेजी गई शिकायत में कहा है कि उनके अधिवक्ता पुत्र कासिम एडवोकेट की पत्नी फरजाना को प्रसव पीड़ा होने पर परिजन स्थानीय महिला अस्पताल लेकर गए थे।

आरोप है कि यहां मौजूद महिला डाक्टर ने फरजाना का परीक्षण किया और यह कहकर टरका दिया कि वह उसे समय से पूर्व अस्पताल ले आए हैं। जबकि फरजाना प्रसव पीड़ा से कराह रही थी। परिजन उसे निजी अस्पताल ले गए।

यहां उसने उसी दिन एक बच्चे को जन्म दिया। उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों और स्वास्थ्य मंत्री से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है। इस संबंध में केन्द्र प्रभारी डा. ललित कुमार का कहना है कि यह मामला उनके संज्ञान में नहीं आया है।

पीड़ित को उनसे संपर्क कर उनसे शिकायत करनी चाहिए थी। वह मामले की जांच कराएंगे।

शुद्ध नहीं होता बोतल बंद पानी

Comments Off

Posted on : 24-06-2010 | By : HEMANT KUMAR | In : समाचार, स्वास्थ्य

शुद्घता की गारंटी देखकर अगर बोतल बंद पानी खरीद रहे हैं तो आप गुमराह हो रहे हैं। ऐसा मानना है भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) का, जिसने पैकेज्ड ड्रिंकिंग वाटर पर प्रकाशित स्वच्छता की गारंटी को सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती दी है। भारतीय मानक ब्यूरो बीआईएस क मानना है कि पानी पेट्रोल या तेल की तरह समरूप इकाई नहीं है। इसलिए इसे शुद्घ नहीं कहा जा सकता, यदि ऐसा किया जाता है तो वह झूठ है। भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) ने पेप्सिको के ब्रांड एक्वाफिना की बोतलों पर शुद्घता का दावा करने का विरोध जताते हुए कहा है कि उच्च न्यायालय की ओर से दी गई अनुमति उचित नहीं है। पानी में कई तरह के तत्व होते हैं। पेट्रोल या अन्य तेलों की तरह यह समरूप इकाई में नहीं होता, जिसकी शुद्घता की गारंटी दी जा सके। इसलिए गारंटी के प्रकाशन पर रोक लगाई जानी चाहिए। दिल्ली उच्च न्यायालय ने कंपनी को पानी की बोतलों में शुद्घता की गारंटी छापने की अनुमति दी थी।

बीआईएस का कहना है कि शुद्घ पानी सिर्फ डिस्टिल्ड वाटर है, जिसे बैटरियों में इस्तेमाल किया जाता है और यह मानव उपभोग के लायक नहीं होता। इसलिए बोतल बंद पानी के लिए शुद्घ और पवित्र शब्द का उपयोग करना झूठ के सिवा कुछ नहीं।

पैक करके बेचा जाने वाला पानी किसी भी स्रोत से प्राप्त किया जाता है। इसके बाद विभिन्न तरीकों से पानी का उपचार किया जाता है। याचिका के अनुसार रासायनिक और भौतिक तरीके अपनाकर कई विधियों के जरिए एक सीमा तक ही सूक्ष्म जीवों को कम किया जाता है। ताकि उपभोग में लाया जाने वाला बोतल बंद पानी नुकसानदेह न रहे। यह जरूर है कि ऐसे में खाद्य सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया जाता, लेकिन मानव उपभोग के पेयजल पर शुद्घता की गारंटी नहीं दी जा सकती। बीआईएस के अनुसार बहुराष्ट्रीय कंपनियां सुरक्षा और सावधानी का कर्तव्य निभाने को बाध्य हैं। इसलिए व्यापार में सही शब्दों का प्रयोग करना जरूरी और उचित है।

नशेडी ने अपना ही आशियाना फूक डाला

Comments Off

Posted on : 13-06-2010 | By : HEMANT KUMAR | In : समाचार, स्वास्थ्य

सिकंदराबाद : मोहल्ला खात्त्रिवारा में पत्नी की कहासुनी पर पति ने गुस्से में घर को आग लगा दी. आग से घर में रक्खा अधिकतर सामान जलकर रख हो गया, आस पास के लोगो में आग पर काबू पाया, मौके पर पुलिस पहुची. किसी ने कोतवाली में तहरीर नहीं दी है.