गुमराह या स्वीकारिता- 69 फीसदी फीडिंग की फर्जी रिपोर्ट भेजी गयी डीएम को

0

Posted on : 15-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: जिलाधिकारी को यू डायस की फीडिंग की रिपोर्ट 69 फीसदी भेजी गयी है। फीडिंग के लिए शनिवार का ही समय बचा है जबकि अभी महज 25 फीसदी ही फीडिंग ही पूरी हो पाई है। बीएसए मीटिंग में लखनऊ गए हुए थे। वहीं कार्यालय में आपरेटर फीडिंग का काम कर रहे थे लेकिन बजट के बंदरबाट को लेकर नाराजगी जाहिर कर रहे थे।

शासन ने यू डायस के प्रपत्र वितरण, प्रशिक्षण व फीडिंग के नाम पर सभी ब्लाकों में 48 हजार रुपए का बजट हस्तांतरित किया गया था। प्रशिक्षण व प्रपत्र वितरण के नाम पर महज खानापूर्ति की गई। लेकिन जब फीडिंग का नंबर आया तो कार्यालय में हड़कंप मच गया। कार्यालय के आपरेटरों के साथ बीएसए ने बैठक की लेकिन आपरेटर फीडिंग को तैयार नहीं थे। ऐसे में बीएसए रामसिंह ने सभी खंड शिक्षाधिकारियों को नोटिस भेजकर शीघ्र ही फीडिंग कराने का निर्देश दिया था। वहीं प्रशिक्षण प्रभारी राजेश वर्मा ने भी फीडिंग को लेकर बीईओ से वार्ता की थी। बाद में तय किया गया कि सभी आपरेटर फीडिंग का काम करेंगे। जो शिक्षक बीआरसी पर आयेंगे उनकी फीडिंग का काम करा दिया जाएगा। 15 जून तक फीडिंग का काम पूरा करने का निर्देश दिया गया था। 13 जून को जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा विभाग में चल रही योजनाओं की समीक्षा की जिसमें बीएसए के द्वारा 69 फीसदी फीडिंग का काम पूरा बताया गया लेकिन वास्तविकता में यू डायस की फीडिंग का काम 25 फीसदी भी नहीं पूरा हो पाया है। ऐसे में फीडिंग देर से होने के कारण बजट भी देर से आएगा और योजनाएं धरी की धरी रह जाएंगी।

ब्लॉकवार यू डायस फीडिंग की स्थिति-

बढ़पुर 257 80

कमालगंज 603 80

कायमगंज 343 02

राजेपुर 352 25

मोहम्मदाबाद 460 32

नगर 333 04

शमसाबाद 360 26

नवाबगंज 318 24

लोकसभा चुनाव के बाद जोर का झटका- फैक्ट्री रेट पर घरेलु बिजली दरो का प्रस्ताव

0

Posted on : 15-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

लखनऊ:  लोकसभा चुनाव 2019 की प्रक्रिया पूरी होने के बाद अब प्रदेशवासियों को महंगी बिजली का तगड़ा झटका लगने वाला है। पावर कारपोरेशन प्रबंधन ने सभी श्रेणियों के लिए बिजली की मौजूदा दरों में जबरदस्त बढ़ोतरी का प्रस्ताव उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग में दाखिल किया है। घरेलू बिजली की दरें 6.20 से 7.50 रुपये प्रति यूनिट तक प्रस्तावित हैैं।

दरअसल, लोकसभा चुनाव में जनता की नाराजगी से बचने के लिए भले ही पिछले वर्ष से बिजली की दरों में इजाफा नहीं किया गया, लेकिन मई में चुनाव की प्रक्रिया पूरी होने के बाद अब बिजली की दरों में जबरदस्त बढ़ोतरी प्रस्तावित है। पावर कारपोरेशन प्रबंधन ने वर्ष 2019-20 के लिए नई बिजली की दरों का प्रस्ताव शुक्रवार देर शाम गुपचुप विद्युत नियामक आयोग में दाखिल भी कर दिया। हालांकि, उपभोक्ता संगठनों ने आयोग में दाखिल बिजली महंगी करने के प्रस्ताव पर सार्वजनिक सुनवाई के दौरान कड़े विरोध की चेतावनी दी है, लेकिन प्रस्ताव अमल में आने पर सबसे ज्यादा चोट गरीब परिवारों पर पडऩा तय है।

बिजली किस कदर महंगी करने की तैयारी है उसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि शहरी घरेलू उपभोक्ताओं की मौजूदा बिजली दरें 4.90 से 6.50 रुपये प्रति यूनिट है जिसे अब 6.20 से 7.50 रुपये तक करने का प्रस्ताव आयोग में सौंपा गया है। प्रस्ताव में जहां बीपीएल श्रेणी, ग्रामीणों और किसानों की बिजली दरों में व्यापक बढ़ोतरी प्रस्तावित है, वहीं कॉमर्शियल व इंडस्ट्रियल दरों में भी 10 से 15 फीसद तक इजाफे का प्रस्ताव है।

फिक्स्ड चार्ज भी बढ़ेगा

नियामक आयोग में बिजली कंपनियों ने शहरी घरेलू बिजली उपभोक्ताओं का प्रति किलोवाट फिक्स्ड चार्ज 100 से बढ़ाकर 110 रुपये करने का प्रस्ताव दिया है, वहीं बीपीएल श्रेणी के घरेलू उपभोक्ताओं का फिक्स्ड चार्ज भी 50 से बढ़ाकर 75 रुपये प्रस्तावित किया गया है।

बीपीएल की यूनिट आधी

कारपोरेशन ने प्रस्ताव में घरेलू बीपीएल कनेक्शनों की रियायती दरों वाली यूनिट की संख्या आधी करने की बात कही है। अभी बीपीएल परिवारों को तीन रुपये की दर पर 100 यूनिट मिलती थीं, अब इसे 50 यूनिट करने की तैयारी है। इसी तरह घरेलू ग्रामीण अनमीटर्ड कनेक्शनों पर भी 25 फीसद की वृद्धि का प्रस्ताव है। बिना मीटर वाले ग्रामीण परिवारों को अभी 400 रुपये प्रति किलोवाट की दर पर बिजली दी जा रही है। अब इसे बढ़ाकर 500 रुपये करने का प्रस्ताव है। अनमीटर्ड किसानों के लिए निजी नलकूप की दरें भी 150 रुपये प्रति बीएचपी से बढ़ाकर 170 रुपये करने की तैयारी है।

फैक्ट्री के बराबर घर की बिजली दर

उप्र राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से प्रस्तावित वृद्धि को वापस लेने की मांग करते हुए जन आंदोलन की चेतावनी दी है। परिषद अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने कहा कि सरकार अब घरेलू बिजली दरों को कारखानों के बराबर करने जा रही है। इसे जनता के साथ धोखा ठहराते हुए वर्मा ने कहा कि प्रस्तावित दरों की सार्वजनिक सुनवाई में तथ्यों के साथ विरोध की भी तैयारी शुरू कर दी गई है।

आधा दर्जन ने खरीदे हैलमेट, 7 का चालान

0

Posted on : 15-06-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(जहानगंज) थाना पुलिस ने शनिवार को हेलमेट को लेकर विशेष अभियान छेड़ा। इसमें पुलिस बिना हेलमेट पहने पकड़े जा रहे बाइक सवारों से जुर्माना नहीं वसूल रही, बल्कि उन्हें मौके पर ही हेलमेट खरीदने के लिए बाध्य कर रही है। जिससे लोगों  ने तत्काल हेलमेट खरीद कर लगा लिया|
थानाध्यक्ष अंगद सिंह ने वाहन चेकिंग के दौरान एक अनोखी पहल की| जिससे हेलमेट लगाने के लिए लोग जागरुक तो हुए ही उन्होंने कार्यवाही के भय से हेलमेट मौके पर ही खरीद लिया| इस
अनोखी पहले के पहले दिन पुलिस ने पहले दिन आधा दर्जन हेलमेट बाइक सवारों को मौके पर ही दिलाये| इसके साथ ही कुल 12 सौ रूपये सम्मन शुल्क बसूला गया| एक बुलेट बाइक सीज की गयी| पुलिस का चेकिंग अभियान देखकर कुछ बिना हेलमेट पहले बाइक सवारों ने भागने की कोशिश की। पर पुलिस जवानों ने दौड़कर इन्हें पकड़ लिया।
थानाध्यक्ष ने बताया कि इस अनोखी पहल से लोग हेलमेट के लिए जागरूक होंगे| 

आग लगने से एक दर्जन गरीबों की झोपड़ी जलकर राख

0

Posted on : 15-06-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद: शनिवार शाम अचानक आग लगने से एक ही गाँव के एक दर्जन झोपडी जलकर राख हो गयी |दमकल ने मौके पर जाकर आग पर काबू पाया|
थाना मऊदरवाजा क्षेत्र के पंखियन की मढैया में शनिवार शाम अचानक आग लग गयी|आग लगने से नसीम पुत्र मुन्ना, भूरा पुत्र मेहदी हसन, अली हसन पुत्र नासीर, मो० हुसैन पुत्र फजल हुसैन, करीम पुत्र हुसैन, मुन्नी बेगम पत्नी अली दराज, मतीन पुत्र अली दराज, अंसार पुत्र काले खां सहित कुल एक दर्जन झोपडी आग की चपेट में आने से जल गयी| आग लगने की जानकारी होनें पर मौके पर ग्रामीणों की भीड़ लग गयी| ग्रामीणों ने पम्प आदि चलाकर आग पर काबू पाने का प्रयास किया| जिसके बाद दमकल मौके पर आ गयी| दमकल ने कड़ी मसक्कत के बाद आग पर काबू पाया| घटना की सूचना पर तहसीलदार सदर प्रदीप कुमार व बीबीगंज चौकी इंचार्ज उदय नारायण शुक्ला आदि मौके पर पंहुचे और जाँच पड़ताल की |चौकी इंचार्ज ने बताया कि आग लगने का कारण पता नही चला है| जाँच की जा रही है|

फर्रुखाबाद का नाम पांचाल नगर करने की मांग ने पकड़ा जोर

0

Posted on : 15-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: जनपद का नाम फर्रुखाबाद से पांचाल नगर करने की मांग ने जोर पकड़ लिया है|सांसद को इस सम्बन्ध में एक और ज्ञापन सौपा गया|
हिन्दू युवा वाहिनी के नगर अध्यक्ष रोहित कश्यप ने सांसद मुकेश राजपूत के ठंडी सड़क स्थित आवास पर मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन सौपा| जिसमे फर्रुखाबाद का नाम पांचाल नगर करने की मांग की गयी है|इससे पूर्व शहीद क्रन्तिकारी प० रामनारायण आजाद के पौत्र बॉबी दुबे भी  बीते दिनों ज्ञापन दे चुके है|फर्रुखाबाद: जनपद का नाम फर्रुखाबाद से पांचाल नगर करने की मांग ने जोर पकड़ लिया है|सांसद को इस सम्बन्ध में एक और ज्ञापन सौपा गया|इस दौरान मनीष दुबे,आदर्श शर्मा, शिवम राठौर, मोहित शाक्य आदि रहे|

कुठला झील में खुले आम चल रहा अबैध खनन का खेल

0

Posted on : 15-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: कुठला झील जिले की ऐतिहासिक झील है|जिसमे विदेशी पक्षियों का आवागमन होता है| लेकिन बीते कुछ वर्षो से यह झील केबल काली कमाई का जरिया मात्र बन गयी है| जिसमे सरकारी वजट से लेकर अबैध खनन कर काली कमाई का खेल चलता है| मजे की बात यह है की अधिकारी सब जानते हुए भी कार्यवाही नही करते|
जनपद के बदायूं फर्रुखाबाद मार्ग के किनारे स्थित कुठला झील तहसील अमृतपुर के निकट स्थित है| जिसमे इन दिनों अबैध खनन का खेल जोरों पर है| तहसील के कुछ कर्मियों के नाम भी प्रकाश में आये है जो इस काम को अंजाम देनें में अपनी अहम भूमिका अदा कर रहे है| तहसील अमृतपुर में बैठने वाले एक स्टांप विक्रेता का नाम भी स्थानीय ग्रामीणों ने उजागर किया जो अबैध खनन कराता है| दिनदहाड़े खनन का खेल खेलने वाले माफिया बेख़ौफ़ है|सुबह होते ही कई ट्रैक्टर ट्राली आकर खनन में लग जाती है| लेकिन अधिकारी अंजान बने है|
उपजिलाधिकारी अमृतपुर बृजेंद्र कुमार ने बताया अबैध खनन की जाँच कराकर मुकदमा दर्ज किया जायेगा|

दिवंगत आत्माओं की शांति के लिये रेल कर्मियों ने रखा मौन

0

Posted on : 15-06-2019 | By : JNI-Desk | In : ACCIDENT, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, सामाजिक

फर्रुखाबाद: रेलवे कर्मियों के नेता के परिवार के सदस्यों की मार्ग दुर्घटना में मौत होंने पर उनकी आत्मा की शांति हेतु रेल कर्मियों ने दो मिनट का मौत रख उन्हें श्रद्धांजलि दी|
फतेहगढ़ रेलवे स्टेशन पर एनई रेलवे मजदूर यूनियन के द्वारा एक बैठक का आयोजन किया गया| जिसमे एआईआरएम के महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा की पत्नी प्रभावती मिश्रा, पौत्री इरिशा, पुत्र गौरव मिश्रा की भोपाल में मार्ग दुर्घटना में मौत हो जाने पर शोक व्यक्त किया गया|
केन्द्रीय उपाध्यक्ष अनिल द्विवेदी, कोषाध्यक्ष परमेशवर दयाल, शाखा मंत्री अनुज गंगवार आदि ने विचार रखे| बृजेश कुमार, अवनीश यादव, संतोष कुमार गुप्ता, प्रदीप यादव, कुलदीप राठौर,
गौरव कुमार सैनी व महताब आलम आदि रहे|

पॉलिथीन रखने में 2000 रुपये की चपत लगी, पॉलिथीन जब्त हुई सो अलग

0

Posted on : 15-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: नगर में पॉलिथीन बंद करने के लिए इन दिनों अफसरों की टीम निकल रही है| अचानक छपा मारने पहुची टीम ने लालगेट बस अड्डे से लेकर बढ़पुर मंदिर के आसपास दुकानों पर देर शाम दुकानों से पॉलिथीन जब्त की| इस दौरान बढ़पुर मंदिर के सामने एक कोल्ड ड्रिंक की दूकान से पॉलिथीन के साथ साथ 2000 रुपये का जुर्माना भी पड़ा|
वैसे तो जनता और दुकानदार को स्वतः पॉलिथीन का उपयोग बंद कर देना चाहिए मगर पर उपदेश कुशल बहुतेरे की तर्ज पर झोला लेकर कोई नहीं चलेगा और दुकानदार से पॉलिथीन में पैक की हुई ब्रेड के लिए भी एक अलग से पॉलिथीन की मांग करेगा| इन दिनों प्रशासनिक अफसर पॉलिथीन जब्त कर जुर्माना वसूल रहे है| सबसे बड़ा सवाल ये है कि थोक में पॉलिथीन आखिर जिले में किसके पास है और कैसे आ रही है| अगर पॉलिथीन आना ही बंद हो जाए तो रोक सम्भव है| जिस दुकानदार के पास पॉलिथीन मिली है उससे ही सुरागरसी करके थोक विक्रेता तक पंहुचा जा सकता है|

बिगड़ सकती है कानून व्यवस्था- 4 दिन से पालिका का ट्यूबवेल ख़राब, पानी के लिए हा-हा कार

0

Posted on : 15-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: नगरपालिका फर्रुखाबाद के घूमना में स्थापित टयूबबेल की मोटर ख़राब होने से 4 दिन से पानी की सप्लाई बंद है| इस टयूबबेल से खतराना, नालामछरट्टा, सुतहट्टी सहित कई मुहल्लों को पानी सप्लाई होता है| इसी के साथ गुरूवार को आईटीआई स्थित टयूबबेल भी ख़राब हो गया| चार दिन से भीषण गर्मी में पानी की सप्लाई बंद होने से जहाँ जनता में आक्रोश बढ़ता जा रहा है वहीँ पालिका के लिए मोटर रिपेयरिंग भी एक संकट बन गया है| जल्द ही समस्या का समाधान न हुआ तो नागरिक सडको पर उतर सकते है|
खबर ये है कि मोटर रिपेयरिंग  करने वाले ठेकेदार ने भी मोटर रिपेयरिंग से मन कर दिया है| उसका पिछला भुगतान न हो पाने के कारण वो मोटर रिपेयरिंग में हीला हवाली कर रहा है| लोगो का आरोप है कि चूँकि अब चुनाव आसपास है नहीं वर्ना तो रातो रात रिपेयरिंग हो जाती| उधर स्थानीय लोगों ने आंदोलन की चेतावनी दी है। शहर के मोहल्ला खतराना, हाता मंगल खां, साहबगंज चौराहा, सुतहट्टी के लोगों के सामने गर्मी में पानी की समस्या खड़ी हो गई है। घुमना मंडी स्थित टयूबबेल से पानी की सप्लाई इन मोहल्लों में मिलती है। यह एक सप्ताह से बंद चल रही है। इसको लेकर नगर पालिका के कर्मचारियों व अधिकारियों से बातचीत की गई। मगर कोई हल नहीं निकला।

आश्रम में अनाचार : वीरेंद्र देव दीक्षित के खिलाफ दुष्कर्म मामले में आरोप पत्र पेश

0

Posted on : 15-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

दिल्ली: बलात्कार मामले में फरार चल रहे बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित पर सीबीआई का शिकंजा कस गया है। सीबीआई ने वीरेंद्र देव दीक्षित के खिलाफ गुरुवार को अदालत में आरोपपत्र दाखिल किया है। आरोपपत्र में दीक्षित के खिलाफ देश के कई शहरों में अध्यात्म की शिक्षा के नाम पर महिलाओं व लड़कियों के साथ बलात्कार का आरोप लगाया है। ज्ञात हो कि बाबा का मुख्यालय फर्रुखाबाद के कम्पिल में स्थित है|

राउज एवेन्यू अदालत में दाखिल आरोपपत्र में सीबीआई ने कहा है कि आध्यात्मक विश्वविद्यालय के प्रमुख वीरेंद्र देव दीक्षित के खिलाफ कई पीड़िताएं सामने आई हैं। उन्होंने वीरेंद्र देव के कुकर्मों का काला-चिठ्ठा खोला है। सीबीआई के अनुसार यह आरोपपत्र एक लड़की शिकायत पर दाखिल किया गया है। नाबालिग लड़की ने वर्ष 1999 में उत्तर प्रदेश व दिल्ली के आश्रम में वीरेंद्र देव द्वारा बलात्कार करने की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। आरोपपत्र में बताया गया है कि अप्रैल में सीबीआई ने दीक्षित पर पांच लाख रुपये का इनाम का ऐलान किया था। पिछले साल 26 मार्च को वीरेन्द्र देव दीक्षित के खिलाफ एक सूचना के आधार पर नेपाल में ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी किया था। इसके बाद 21 फरवरी को उसके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी हुआ था।

आरोप है कि आध्यात्मिक विश्वविद्यालय की आड़ में वीरेंद्र देव दीक्षित अय्याशी के आश्रम चलाता था। उसने कई लड़कियों को जबरन बंधक बनाकर रखा था और वह उनका यौन शोषण करता था।

3 जनवरी 2018 को मामला दर्ज किया था

पेश मामले में दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई ने 3 जनवरी 2018 को दीक्षित के खिलाफ मामला दर्ज किया था। जांच में सीबीआई ने पाया कि दीक्षित आश्रम का प्रमुख था और जिस पीड़िता ने शिकायत की थी, वह बलात्कार के वक्त नाबालिग थी। दीक्षित ने उत्तर प्रदेश और फिर दिल्ली के विजय विहार इलाके में जून 1999 में उसके साथ बलात्कार किया था। सीबीआई का कहना था कि वीरेंद्र देव दीक्षित को तलाशने की कोशिश की गई। लेकिन अभी तक वह जांच एजेंसी के हाथ नहीं लगा है।