बिना आधार राशन वितरण के लिए अफसर की मौजूदगी आवश्यक

0

Posted on : 14-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: सार्वजानिक राशन वितरण प्रणाली में आधार आधारित मशीन से वितरण के कारण कालाबाजारी पर काफी हद तक अंकुश लगा है मगर अभी भी जिले में लगभग एक सैकड़ा से अधिक कोटेदार ऐसे है जो किसी भी नियम कानून को नहीं मानते|इन्ही सब पर शिकंजा कसने के लिए आयुक्त खाद्य एवं रसद विभाग ने नया फरमान जारी किया है|अब प्रोक्सी प्रणाली (बिना आधार प्रमाणित किये)

राशन वितरण में इस्तेमाल होने वाली कभी ई-पाश मशीन की गड़बड़ी से लेकर सर्वर डाउन होने का बहाना तो कभी ग्राहक की अंगुली की छाप प्रमाणित होने का बहाना| कुछ न कुछ गणित निकली जा रही है| यही कारण है की जिले के लगभग 50 से ऊपर के कोटेदार तो 75 प्रतिशत वितरण बिना आधार परमिट किये ही राशन बाटना दिखा रहे है| इन्ही सब पर शिकंजा कसने के लिए आयुक्त खाद्य एवं रसद विभाग ने नया फरमान जारी किया है|मजबूरी के कारण जिन ग्राहकों को बिना आधार राशन देना भी है तो एक अफसर की मौजूदगी में ही राशन वितरण हो सकेगा| इस माह 21 जून से 25 जून के मध्य पहले से तय समय में ही ग्राहकों को प्रोक्सी के माध्यम से राशन वितरण होगा| वैसे मशीन से वे कभी भी ले सकते है| एक अफसर एक दिन में 5 दुकानों पर वितरण अपने समाख कराएगा और उसकी फोटो आयुक्त को भेजेगा| जिला पूर्ति अधिकारी ऐसी कम से कम 10 दुकानों का दिन में निरीक्षण कर रिपोर्ट भेजेंगे| यानि कुल मिलाकर राशन वितरण में भ्रष्टाचार कम करने के लिए जितना शिकंजा उत्तर प्रदेश में कसना पड़ रहा है शायद ही किसी राज्य में ऐसा हो रहा होगा|

बाकी सब तो ठीक है मगर फ़ूड कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया के गोदाम से राज्य भण्डारण निगम के गोदामों से कम वजन का राशन वितरण एक रोना अभी भी बना हुआ है| गोदाम से कोटेदार को अभी भी प्रति बोरा 2 से 7 किलो तक राशन कम मिलता है और उसके बाद वो ग्राहकों को इसके एवज में दुगना वजन कम करके देता है| खेल अभी बंद नहीं हुआ है| हाँ 100% की लूट अब 10 से 15 प्रतिशत पर आ टिकी है|

घर में बंधक बना किशोरी से दुष्कर्म

0

Posted on : 14-06-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:(कायमगंज) घर के भीतर बंद करके दवा लेकर जा रही किशोरी के साथ बलात्कार किया गया| घटना में पूर्व प्रधान के पुत्र पर आरोप लगा है| पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया|
थाना कंपिल क्षेत्र के एक गाँव निवासी 14 वर्षीय किशोरी के पिता ने कोतवाली में तहरीर दी| जिसमे कहा कि उसकी पुत्री कायमगंज के केशव मेडिकल ब्राहिमपुर जागीर दवा लेने गयी थी| जंहा से वह पैदल घर वापस आ रही थी| उसी दौरान रास्ते में जनपद एटा के मलावन नगला दयाराम निवासी प्रकाशवती पत्नी नेम सिंह उसे बहला-फुसला कर अपने भतीजे राजेश यादव के घर ले गयी और किशोरी को घर के भीतर कर बाहर से दरवाजा बंद कर दिया| घर के भीतर राजेश यादव के पुत्र आशुतोष उर्फ़ बंटी ने उसके साथ बलात्कार किया|
प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया है| किशोरी का मेडिकल परीक्षण कराया जा रहा है| मामला प्रेम प्रसंग का है| 

किसी भी समय गंगा में समा सकता विद्यालय

0

फर्रुखाबाद: (राजेपुर) गंगा का पानी यदि बढ़ा तो किसी भी समय लाखों की लागत से बना सरकारी विद्यालय पानी में समा सकता है| लेकिन जिला प्रशासन को इसकी भनक तक नही| अफसर अनजान बन रहे है|
विकास खंड राजेपुर के का गाँव तीस राम की मढैया दशकों से गंगा के कोप को झेलता चला आ रहा है| सरकार के पास गंगा में आने वाली बाढ़ से बचाने के लिए बजट भी जारी होता है| इसके बाद वह विकास केबल कागजों में ही रह जाता है|
फ़िलहाल गंगा किसी तरह प्राथमिक विद्यालय को अपनी जद में लेने को आतुर दिख रही है यह फोटो खुद बता रही है| यदि जल्दी कोई कार्यवाही ना हुई तो विद्यालय गंगा की गोद में समा सकता है|
उपजिलाधिकारी अमृतपुर बृजेंद्र कुमार ने बताया तत्काल जांच करवाकर कार्रवाई की जाएगी| विद्यालय यदि खतरें में है तो उसको बचाने का पूरा प्रयास किया जायेगा| 

अनावश्यक गर्भपात कराने वाले अस्पतालों पर कसेगी नकेल

0

Posted on : 14-06-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद: अनावश्यक गर्भपात कराने वाले अस्पतालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की तैयारी स्वास्थ्य विभाग कर रहा है| इस सम्बन्ध में एक कार्यशाला का आयोजन कर अनावश्यक गर्भपात ना कराने का सुझाव दिये गये| इसके साथ ही साथ सुरक्षित गर्भपात को लेकर विस्तार से चर्चा की गयी |
नगर के एक होटल में स्वास्थ्य विभाग व बात्सल्य और आई पास डेवलेपमेंट फाउंडेशन के सहयोग से सुरक्षित गर्भपात को लेकर सरकारी और निजी चिकित्सकों के साथ एक कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ दलवीर सिंह ने कहा कि जिले के निजी अस्पतालों में चल रहे मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेगनेंसी (एमटीपी) सेंटर पर अब अनावश्यक गर्भपात नहीं हो सकेंगे। शासन की वेबसाइट पर सेंटर संचालकों को पंजीकरण कराना होगा। प्रति माह रिपोर्ट भी सीएमओ कार्यालय को प्रेषित करनी होगी।
साथ ही यह भी कहा कि जिले के निजी अस्पतालों में दर्जनों की संख्या में मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेगनेंसी (एमटीपी) सेंटर चलाए जा रहे हैं। इन सेंटरों का लेखा जोखा फिलहाल मैनुअल है, जो सीएमओ कार्यालय के रिकॉर्ड में है। इन सेंटरों पर एमटीपी अधिनियम के तहत आवश्यकता पड़ने पर गर्भपात कराया जाता है।
लेकिन कई बार शिकायत यह भी मिलती है कि कुछ सेंटरों पर अनावश्यक गर्भपात भी कराया जा रहा है। इस समस्या से निजात पाने को उत्तर प्रदेश शासन द्वारा एक वेबसाइट लांच की गई है। अब सेंटर संचालकों को डब्लूडब्लूडब्लू.सीएसीउत्तरप्रदेश.इन पर पंजीकरण कराना होगा।
इसेक बाद अधिनियम अनुसार फार्म-ए सीएमओ कार्यालय में आवश्यक अभिलेखों के साथ जमा करना होगा। हर महीने अधिनियम अनुसार फार्म-2 की रिपोर्ट सीएमओ कार्यालय में प्रेषित करनी होंगी।
उन्होंने कहा कि  गर्भपात कराने के लिए अगर कोई आशा किसी महिला को लेकर आती है तो आशा को इसके लिए सरकार द्वारा 150 रूपए की धनराशि दी जाती है |एमटीपी एक्ट के तहत एक महिला अगर गर्भपात कराती है तो 12 हफ्ते से ज्यादा का गर्भ हो तो रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिश्नर की अनुशंसा की जरूरी होती है, वहीं अगर यह 12 से 20 हफ्ते का है, तो 2 रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिश्नर्स की अनुशंसा की जरूरत पड़ेगी। जिसके चलते महिलाएं असुरक्षित गर्भपात का रुख करती हैं।
इस दौरान अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० राजीव शाक्य, डॉ०अनुराग बर्मा जिला कार्यक्रम प्रबंधक कंचनबाला, आई पास डेवलेपमेंट फाउन्डेशन से आलोक चतुर्वेदी, बात्सल्य से हनी कश्यप,उत्तर प्रदेश तकनीकी सहयोग इकाई से शुभम राय, डॉ शोभा सक्सेना आदि रहे|

नक्सलियों ने झारखंड में किया हमला, पांच पुलिस कर्मी शहीद

0

जमशेदपुर: झारखंड में सरायकेला-खरसावां जिले तिरुलडीह थाना क्षेत्र के कुकुडू साप्ताहिक हाट में विधि व्यवस्था की पड़ताल करने गए छोटाबाबू समेत पांच पुलिसकर्मियों की नक्सलियों ने हमला कर दिया। इस दौरान नक्सली गोलाबारी में पांचों पुलिसकर्मी शहीद हो गए। घटना शुक्रवार की शाम करीब साढ़े छह बजे की है।
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि शुक्रवार को दो बाइक पर सवार पांच-छह लोग चाकू और हथियार के बल पर सभी पुलिसकर्मियों को अपने कब्जे में लेने के साथ ही गोली मारी। इसके बाद उनकी बंदूक लेकर पश्चिम बंगाल की ओर भाग गए। घटना के बाद हाट में भगदड़ मच गई।
नक्सलियों ने हाट से सरेआम भाजपा कार्यकर्ता का अपहरण कर की हत्या
लोकसभा चुनाव के बाद राज्य में नक्सली घटनाएं अचानक काफी बढ़ गई हैं। गुमला के बिशुनपुर थाना क्षेत्र के कटिया गांव में गुरुवार की शाम माओवादियों ने साप्ताहिक हाट से भाजपा कार्यकर्ता सह मुर्गा कारोबारी ब्रजेश साहु (38) का अपहरण कर लिया। यहां से कुछ दूर ले जाने के बाद ब्रजेश की गोली मारकर हत्या कर दी।
यहां से कुछ दूर माओवादियों ने एक और वारदात को अंजाम दिया। कटिया विद्यालय के समीप बीड़ी पत्ता से लदे ट्रक में आग ला दी, ट्रक धू-धू कर जल गया। घटनास्थल पर माओवादियों ने पर्चा फेंक कर हत्या की जिम्मेवारी ली और ब्रजेश को पुलिस का एसपीओ बताया। इन दोनों घटनाओं से ग्रामीणों में खौफ पसर गया और वे अपने घरों में कैद हो गया। आलम यह कि पुलिस को दूसरे घटना की जानकारी मिल पाई।
जानकारी के अनुसार, कटिया के साप्ताहिक हाट में ब्रजेश साहु मुर्गा का दुकान लगाए हुए था। गुरुवार की शाम साढ़े पांच बजे तीन सदस्यीय माओवादियों का दस्ता उसके पास पहुंचा और उसे दबोच लिया। उसके हाथ बांध दिए और अपहरण कर ले गए। बाजार से लगभग आधा किलोमीटर दूर माओवादियों ने उसे गोली मार दी। घटना स्थल पर ही ब्रजेश ने दम तोड़ दिया।
यहीं माओवादियों ने जिस ट्रक में आग लगाई वह सुबह आठ बजे तक सुलगता रहा। नक्सल खौफ से किसी को आग बुझाने की हिम्मत नहीं हुई। पुलिस शुक्रवार को घटनास्थल पर पहुंची और शव को पोस्टर्माटम के लिए गुमला सदर अस्पताल भेज दिया। मारा गया ब्रजेश भाजपा का बूथ संयोजक था। वह बानालात का ही रहने वाला था। गुमला में तीन वर्ष बाद माओवादियों ने किसी बड़ी घटना को अंजाम दिया है।
पीएलएफआइ का एरिया कमांडर गिरफ्तार
घाघरा थाना पुलिस ने गुमला थाना के खरका गांव से पीएलएफआइ के एरिया कमांडर उदयवीर गोप उर्फ चंदू उरांव को गुरुवार की रात गिरफ्तार कर लिया। उदयवीर पर सिसई, घाघरा और गुमला थाना में हत्या और लेवी के कई मामले दर्ज हैं। छापामारी दल में अवर निरीक्षक सुनील कुमार टुंडी शामिल थे।

चिकित्सकों ने काली पट्टी बांध जताया विरोध

0

Posted on : 14-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद: पश्चिम बंगाल में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल के समर्थन में शुक्रवार को लगभग पूरे जिले के चिकित्सकों में एकता दिखी| शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल का चौथा दिन था। जिसको जिले से भी समर्थन मिला| लोहिया अस्पताल में चिकित्सकों ने काली
पट्टी 
बांधकर अपना विरोध दर्ज कराया और काम पर रहे|
प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ के अध्यक्ष डॉ० वीरेंद्र कुमार दुबे के नेतृत्व में चिकित्सकों काली पट्टी बांधकर पश्चिम बंगाल में हुई घटना के सम्बन्ध में विरोध संकेतिक विरोध दर्ज कराया| डॉ० वीके दुबे  ने बताया कि फ़िलहाल एक दिवसीय विरोध प्रदर्शन किया गया है|
सीएमएस डॉ० एसपी सिंह, डॉ० राजेश तिवारी, डॉ० अशोक कुमार, डॉ० स्वास्ति वाजपेयी आदि रहे|

एसपी सहित 44 महादानियों ने किया रक्त दान

0

Posted on : 14-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद: विश्व रक्तदान दिवस के अवसर पर 44 महादानियों नें रक्तदान किया| जिसमे पुलिस अधीक्षक डॉ० अनिल कुमार मिश्रा का नाम भी शामिल है| वही जिलाधिकारी ने रक्तदान से किनारा कर लिया|
लोहिया अस्पताल में रक्तदान शिविर का शुभारम्भ जिलाधिकारी मोनिका रानी ने फीता काटकर किया| शिविर में पुलिस अधीक्षक डॉ० अनिल कुमार मिश्रा, राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के अध्यक्ष संजय तिवारी, सीओ मोहम्मदाबाद राजवीर सिंह, एसपी पीआरओ उपनिरीक्षक दिनेश गौतम, आवास विकास निवासी विमल राठौर आदि सहित शाम 7 बजे तक कुल 44 लोगों ने रक्तदान किया|
जिलाधिकारी ने इस बार भी किया रक्तदान से किनारा
बीते वर्ष विश्व रक्तदान दिवस पर भी जिलाधिकारी मोनिका रानी ने ही रक्तदान शिविर का शुभारम्भ किया था| लेकिन बीते वर्ष भी उन्होंने रक्तदान नही किया था| शुक्रवार को भी डीएम ने ही फीता काटकर रक्तदान शिविर का शुभारम्भ किया| लेकिन इस बार भी रक्तदान से जिलाधिकारी ने किनारा कर लिया|
इस दौरान लोहिया अस्पताल के रक्तकोष से डॉ० स्वस्ति वाजपेयी, ग्रीश कुमार, संजय सक्सेना, सौरभ मिश्रा, जीपी वर्मा, अमित मिश्रा, रोहित कटियार, दीपक अवस्थी आदि रहे|

संदिग्ध हालत में होटल कर्मी की मौत

0

Posted on : 14-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद: बीती रात पुलिस को अज्ञात युवक का शव सड़क किनारे पड़ा मिला| पुलिस ने उसे लोहिया अस्पताल भेज दिया| अस्पताल में उसकी शिनाख्त होटल कर्मी के रूप में हुई|
बीती रात पुलिस को क्रिश्चियन मैदान निवासी 27 वर्षीय सुनील गुप्ता पुत्र चन्द्रभान लाल दरवाजे के रोडबेज बस अड्डे के निकट एक होटल में कर्मचारी था| वह कई-कई दिनों तक घर नही जाता था| बीती रात उसका शव पुलिस को सड़क किनारे पड़ा मिला| मृतक शराब पीने का आदी था|
पुलिस ने उसके शव को लोहिया अस्पताल में रखा गया| मामले की जानकारी परिजनों को होने पर वह मौके पर पंहुचे और उन्होंने शिनाख्त कर ली| मृतक की पत्नी रचना का रो- रो कर बुरा हाल हो गया| पुलिस  ने शव  का पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया|

धरती बनी तवा जिस्म जला रही हवा

0

Posted on : 14-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद: भीषण गर्मी से इन दिनों लोग उबल रहे हैं। आम आदमी सड़क से लेकर घर तक झुलस रहा है। भीषण गर्मी से धरती तवा बनी हुई है और दोपहर में चलने वाली लू लोगों का जिस्म जला रही है। दस बजे तक सड़कें आग जैसी तपने लगीं। राहगीर इससे काफी परेशान हुए। जहां भी छाया पानी का प्रबंध दिखाई दिया वहीं पर बैठकर सुस्ताने लगते फिर भी उमस की वजह से बुरा हाल रहा। हर कोई पसीना पोंछता दिखाई दिया। पंखे कूलर की हवा भी काम नहीं कर रही थी।
पिछले कई दिनों से पारा बढ़ रहा है। दिन में चलने वाली लू के थपेड़े लोगों को घर में कैद कर रहे हैं, गर्मी में राहगीरों को सबसे अधिक दिक्कत हो रही है। भीषण धूप में चलना मुश्किल भरा साबित हो रहा है। मजबूरी में लोग किसी तरह से गर्मी का सामना कर यात्रा करने के लिए मजबूर हैं। शुक्रवार  को भी तेज धूप निकली। सुबह जल्दी ही भीषण गर्मी ने लोगों को अपना अहसास कराया।। जो लोग घरों से निकले वह अंगौछा तौलिया से सिर को ढके हुए थे।
दोपहर में गर्म हवाएं चलने से दिक्कत और भी बढ़ गई। सड़कें जलती सी महसूस हो रही थीं। राहगीर छायादार स्थान पर सुस्ताने के लिए बैठे दिखाई दिए। तेज गर्मी ने पशु पक्षियों के लिए भी मुश्किल खड़ी कर दी है।

अफसरशाही भ्रष्ट-बेलगाम, योगी आदित्यनाथ मेहनती व ईमानदार: शिवपाल

0

Posted on : 14-06-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

लखनऊ:समाजवादी पार्टी से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) का गठन करने वाले शिवपाल सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बेहद ईमानदार व मेहनती बताया है। आज लखनऊ में शिवपाल सिंह यादव ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करने के बाद विधानसभा चुनाव के लिए तैयारी करने का निर्देश दिया।
शिवपाल सिंह यादव ने पार्टी कार्यालय में आज बैठक के बाद मीडिया को भी संबोधित किया। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेहद ईमानदार तथा मेहनती है। वह हर क्षेत्र में काम कर रहे हैं, लेकिन उनकी मेहनत तथा ईमानदारी पर अफसरशाही पानी फेर रही है। उन्होंने कहा कि यहां के अफसर बेलगाम तथा भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। इनकी संख्या इतनी अधिक है कि यह लोग सीएम के साथ उनके मंत्रियों के आदेश को भी किनारे लगा देते हैं। पुलिस के अधिकारियों की तो अपराधियों से सांठ-गांठ है। इसी कारण अपराध चरम पर है और सरकार को कानून-व्यवस्था के मामले में मात मिल रही है।
समाजवादी पार्टी के साथ चैप्टर बंद
शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी के बारे में कहा कि अब तो उनके साथ हमारा चैप्टर बंद हो गया है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले हमने पहल की थी कि हमको भी गठबंधन में शामिल किया जाए। जब हमको अच्छा जवाब नहीं मिला तो हमने भी सभी सीटों पर अपने प्रत्याशी को खड़ा कर दिया। उन्होंने कहा कि अब तो समाजवादी पार्टी में शामिल होने या फिर उनके साथ कोई भी बात करने का सारा अध्याय समाप्त हो चुका है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में तीन महीना पुरानी हमारी पार्टी ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। सीट तो सौ साल पुरानी कांग्रेस और लंबे समय से उत्तर प्रदेश में राज करने वाली अन्य पार्टियों को भी नही मिली।
2022 में उत्तर प्रदेश में सरकार बनाएंगे
शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि हम हमारी पार्टी विधानसभा उप चुनाव के साथ ही 2022 के विधानसभा चुनाव पर फोकस कर रही है। कई दल के नेता हमारी पार्टी में शामिल होने के लिए संपर्क में हैं। समय आने पर उनको भी शामिल करेंगे। 2022 में हम उत्तर प्रदेश में सरकार बनाएंगे। लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद से ही मुलायम सिंह यादव समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और पार्टी से अलग हो चुके शिवपाल सिंह यादव को फिर से एक साथ लाने की कवायद में जुटे थे। मुलायम के इन अरमानों पर शिवपाल ने पूरी तरह से पानी फेर दिया है।शिवपाल यादव ने अपनी ‘घर वापसी’ को खारिज करते हुए कहा कि उनकी पार्टी का किसी भी राजनीतिक दल में विलय की कोई संभावना नहीं है और हमने तय किया है कि 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव जोरदार तरीके से लड़ेंगे। प्रगितशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने कहा कि हमने लोकसभा चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के साथ चार दिवसीय समीक्षा बैठक की थी। इसके बाद हमने तय किया है कि उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में हमारी पार्टी पूरी ताकत के साथ चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि हम चुनाव से पहले संगठन को मजबूत करना चाहते हैं ताकि हम अपने दम पर सरकार बना सकें। ऐसे में किसी भी राजनीतिक दल में हमारी पार्टी के विलय की कोई संभावना नहीं है।