हनुमान जयंती पर निकली भव्य शोभायात्रा

0

Posted on : 19-04-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद: हनुमान जयंती के अवसर पर नगर के मुख्य मार्गों से भव्य शोभायात्रा निकाली गयी। जिसमें जगह-जगह पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया। शोभायात्रा में लोग भगवा झंडा लिए जय श्रीराम, बजरंग बली के नारे लगा रहे थे।
शोभायात्रा शहर के बाला जी मन्दिर रेलवे रोड से प्रारंभ होकर चौक,घुमना, नीवा चुअत, स्टेट बैंक से गुजर कर लोहाई रोड होते हुए पीपल वाले बाला जी खतराना में समाप्त हुई। सुन्दरकाण्ड पाठ मंच (हनुमान बगिया) के द्वारा निकाली गयी शोभायात्रा से पूर्व पीपल वाले बाला जी मंदिर में सुन्दरकाण्ड व हबन किया गया| पूजन-आरती के साथ ही आयोजित भंडारे में सैकड़ों श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।
शोभायात्रा में आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। लोगों की संख्या इतनी थी कि हर तरह हुजूम ही दिख रहा था। बुढ़े, युवक व बच्चों के साथ महिलाओं ने भी शोभायात्रा में भारी उत्साह के साथ शिरकत किया। शोभायात्रा में शामिल तमाम देवी-देवताओं की मनोरम झांकियां लोगों को आकर्षित कर रही थी।
शोभायात्रा के दौरान कन्या भोज का आयोजन भी हुआ| जिसमे बड़ी संख्या में कन्याओं से प्रसाद चखा|श्रीकांत दुबे,उमाकांत वर्मा,सचिन मिश्रा,टोनी मिश्रा,केदार शाह,अनुज पाठक,जितेन्द्र मिश्रा,नवीन मिश्रा आदि रहे|

सोशल मीडिया पर कांग्रेस प्रत्याशी का प्रचार करा रहे सपा नेता का वीडियो वायरल

0

Posted on : 19-04-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-CONG.

फर्रुखाबाद: समाजवादी पार्टी का इस समय बहुजन समाज पार्टी से गठबंधन चल रहा है| लेकिन जो वीडियो वायरल हुआ वह कुछ और ही हकीकत की कहानी कह रहा है| जिसमे सपा नेता कांग्रेस प्रत्याशी का चुनाव प्रचार करते नजर आ रहे है| जिसने गठबंधन में गदर काट दिया है| 
बीते 17 अप्रैल को सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव की अचरा में जनसभा के दौरान उनका भाषण सुनने आये लोगों को सभा के बाद प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के प्रत्याशी उदय पाल यादव ने शिवपाल जिंदाबाद के नारे लगवाये थे| उस मामले को जेएनआई में प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया गया था| अभी वह मामला ठंडा नही भी नही पड़ पाया था की सपा के एक नेता का वीडियो वायरल हो गया| 
जिसमे बसपा छोड़कर कुछ महीनों पहले सपा में शामिल हुए सुभाष पाल कांग्रेस प्रत्याशी की मीटिंग में दिख रहे है| वीडियो वायरल होने के बाद बाद सपा व बसपा खेमें में खलवली मच गयी है| सपा जिला महासचिव मंदीप यादव ने बताया कि वीडियो उन्होंने भी देखा है| सुभाष से इस सम्बन्ध में 24 घंटे के भीतर जबाब तलब किया गया है|यदि जबाब संतोष जनक नही हुआ तो कार्रवाही की जायेगी|

 

 

 

जेएनआई के नन्हे रिपोर्टर बोले- किसी को वोट देना, मगर वोट जरुर देना

0

Posted on : 19-04-2019 | By : पंकज दीक्षित | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: चुनाव आयोग के लाख प्रयास के बाबजूद वोट प्रतिशत उम्मीद के मुताबिक नहीं बढ़ रहा है| चुनाव आयोग को इस पर चिंतन करने की जरुरत है| जेएनआई के नन्हे रिपोर्टर भी जनता को अधिक से अधिक मतदान के लिए प्रेरित करते नजर आय- देखिये विडियो-

बीजेपी विधायक अशोक सिंह चंदेल समेत नौ को आजीवन कारावास, विधायक कोर्ट से फरार

0

Posted on : 19-04-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, लोकसभा चुनाव 2019

प्रयागराज: हमीरपुर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक अशोक सिंह चंदेल सहित नौ को पांच लोगों की हत्या के करीब 12 वर्ष पुराने मामले में आज आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है। उनको आज इलाहाबाद हाई कोर्ट ने इस मामले में यह सजा सुनाई है। सजा की घोषणा होते ही विधायक अशोक सिंह चंदेल कोर्ट परिसर से फरार हो गए हैं। हाईकोर्ट ने विधायक व अन्य को पुलिस कस्टडी में लेने का आदेश दिया। इस प्रकरण में सुनवाई पूरी होने के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित कर लिया था।
मीरपुर से भाजपा विधायक अशोक सिंह चंदेल समेत उनके कई साथियों को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। हमीरपुर के रोडवेज बस स्टैंड के पास करीब 12 वर्ष पहले भाजपा नेता राजीव शुक्ल के भाई राकेश समेत एक ही परिवार के पांच लोगों की निर्मम हत्या में विधायक चंदेल समेत नौ लोगों के खिलाफ मामला चल रहा था। अशोक सिंह चंदेल जमानत देने के साथ ही सत्र न्यायालय से रिहा करने वाले न्यायधीश को हाइकोर्ट पहले ही बर्खास्त कर चुका था। निचली अदालत ने विधायक को बरी कर दिया था। हाईकोर्ट ने विधायक को बरी करने वाले जज अश्विनी कुमार को जांच के बाद बर्खास्त कर दिया था। इसी मामले में विधायक का कार चालक रुक्कू पहले से ही आजीवन कारावास की सजा झेल रहा है।
जस्टिस रमेश सिन्हा व जस्टिस डी के सिंह की खंडपीठ ने विधायक अशोक सिंह चंदेल को सजा सुनाई है।कोर्ट ने विधायक व अन्य लोगों को पुलिस कस्टडी में लेने का आदेश दिया। विधायक अशोक सिंह चंदेल 26 जनवरी 1997 को हमीरपुर में दिनदहाड़े पांच लोगों की हत्या के मामले में आरोपी हैं। मृतकों में एक नौ साल का बच्चा भी शामिल था। राज्य सरकार ने निचली अदालत के फैसले के खिलाफ अपील दाखिल की थी। इसके साथ ही पीडि़त पक्ष से राजीव शुक्ला ने भी अर्जी दाखिल की थी।
भाजपा विधायक अशोक सिंह चंदेल सहित नौ लोगों को हमीरपुर में 1997 में पांच लोगों की हत्या और पांच को घायल करने के आरोप में आज कोर्ट नम्बर एक ने न्यायमूर्ति रमेश सिन्हा व न्यायमूर्ति डी के सिंह ने राज्य की अपील आंशिक रूप से स्वीकार करते हुए हत्या और हत्या के प्रयास करने के आरोप में आजीवन कारावास की सजा सुनाई। राज्य की ओर से अपर महाधिवक्ता कृष्ण पहल ने बहस की। इस गंभीर प्रकरण में ट्रायल कोर्ट ने सभी को दोषमुक्त किया था।
हमीरपुर में 26 जनवरी 1997 की शाम 7:30 बजे अभियुक्त नसीम की दुकान के सामने पीडि़त पक्ष की जोंगा रोककर पुरानी रंजिश के चलते राजेश शुक्ल, राकेश शुक्ल, अम्बुज उर्फ गुड्डा, वेद नायक और श्रीकांत पांडेय की हत्या कर दी थी। इस घटना में राजीव कुमार शुक्ल (वादी), रविकांत पांडेय, विपुल, चंदन और हरदयाल घायल हो गए थे। राजीव कुमार शुक्ल ने रात को 9:10 बजे इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।
विधायक कानपुर में भी हत्या के मामले में आरोपित
भाजपा विधायक अशोक चंदेल और उसके साथियों को हत्या में आजीवन कारावास की सजा सुनाए के बाद मामला पुरानी यादें फिर ताजा हो गई हैं। विधायक अशोक सिंह चंदेल तो कानपुर के किदवई नगर में कारोबारी रणधीर गुप्ता की दिनदहाड़े हत्या के मामले में भी आरोपित है। उसके ऊपर सीओ के साथ दबंगई दिखाने का मामला गोविंद नगर थाने में दर्ज है।

जनता कहिन-6 क्या कहते है कमालगंज, बढ़पुर और मोहम्दाबाद क्षेत्र के किसान

0

Posted on : 19-04-2019 | By : पंकज दीक्षित | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद: क्या कहती है जनता अपने नेता के बारे में| क्या है जनता के मूड में और अपने नेता से क्या है उम्मीदे? वर्तमान सांसद मुकेश राजपूत को मिलेगा दुबारा मौका या फिर मनोज मार ले जायेंगे बाजी, सलमान खुर्शीद के फिर से सांसद बनने के कितने है चांस| शिवपाल की पार्टी प्रगतिशील गठबंधन का नगर फर्रुखाबाद में क्या है बोलबाला? सब जानिये आज के एपिडोस में- फर्रुखाबाद नगर क्षेत्र बाहरी इलाके की जनता क्या कहती है….

गेस्ट हाउस कांड के बाद भी सपा से गठबंधन एक कठिन फैसला:मायावती

0

मैनपुरी:लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा को सबक सिखाने के मकसद से हुआ समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी व राष्ट्रीय लोकदल का गठबंधन रंग ला रहा है। गठबंधन आज दो दशक बाद मुलायम सिंह यादव व मायावती को एक मंच पर लाने में सफल रहा है।
मैनपुरी के क्रिश्चियन कॉलेज ग्राउंड में बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कहा कि मायावती ने कहा कि इस बार भाजपा को सबक दिलाने के लिए उत्तर प्रदेश में बसपा-सपा-आरएलडी का गठबंधन हुआ है। उन्होंने कहा कि आप लोग सोच रहे होंगे कि गेस्ट हाउस कांड के बाद भी हमने समाजवादी पार्टी से गठबंधन क्यों किया। 1995 में हुए गेस्ट हाउस कांड का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि उस न भूलने वाले कांड के बाद भी हम साथ चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कभी-कभी कठिन फैसले लेने पड़ते हैं। हमने देश के हालात को देखते हुए सपा व रालोद के साथ गठबंधन किया है।
विरोधी दल के नेता के साथ मीडिया हमारी एकता से हैरान है। मायावती ने कहा कि हमको विरोधी दलों के बहकावे में नहीं आना है। हमारी पार्टी सरकार में आती है तो हम गरीबों को नौकरी दिलाएंगे। भाजपा गठबंधन को लेकर जनता को गलत तरीके से बहका रही है, आपको उनके बहकावे में नहीं आना है। दो चरणों के ही चुनाव में भाजपा की हालत खराब हो गई है। मोदी क्या-क्या नहीं बोलते। मोदी जी सुनिए। आपने हमारे गठबंधन को सराब कहा है तो गठबन्धन को नशा चढ़ गया है। हम अब भाजपा को बाहर कर देंगे।
मायावती ने कहा कि मैनपुरी में भीड़ में जबरदस्त जोश है। आप लोगों ने मेरा निवेदन है कि मुलायम सिंह यादव को ऐतिहासिक जीत दिलाएं। बसपा मुखिया मायावती ने कहा कि पार्टी हित और देश हित में कुछ कठिन फैसले लेने पड़ते हैं। मुलायम सिंह यादव जी देश के काफी बड़े नेता हैं। यह जो कहते हैं वह करते हैं। यह मोदी की तरह पिछड़ों वर्ग के नकली नेता नहीं हैं। मायावती ने कहा मोदी खुद को पिछड़ा बताकर लोगो को गुमराह कर रहे हैं। मुलायम सिंह ने पिछड़ों का विकास किया। मायावती ने कहा कि इस बार चुनाव में आप लोग मुलायम सिंह यादव को जीत दिला देना। इस चुनाव में असली और नकली की पहचान कर लेना है। मायावती ने अपने सम्बोधन में गठबंधन प्रत्याशी मुलायम सिंह को जिताने की अपील की। जय भीम, जय लोहिया, जय भारत। मायावती ने कहा- मोदी की तरह नकली और फर्जी पिछड़े नहीं हैं मुलायम सिंह यादव
मुलायम सिंह यादव ने सभी समाज को जोड़ा है। पिछड़े समाज के सबसे बड़े नेता मुलायम सिंह यादव हैं। मुलायम ही पिछड़ा समाज के सबसे बड़े और असली नेता है। मोदी की तरह मुलायम नकली नेता नहीं हैं। मोदी ने तो सत्ता का दुरुपयोग किया है। अगड़ी जाति को मोदी ने पिछड़ी में शामिल कराया। मोदी पिछड़े वर्ग का कोई भला नहीं कर सकते। मायावती ने कहा कि आजादी के बाद ज्यादातर सत्ता कांग्रेस व भाजपा की रही। कांग्रेस को अपनी गलत नीतियों के कारण केंद्र ही नहीं  कई राज्यों में सत्ता खोनी पड़ी है। अब भाजपा को भी हटाना है। गलत नीतियों के कारण भाजपा भी कई राज्यों में हारी। चौकीदार कितनी भी ताकत लगाए, भाजपा हारेगी। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने तमाम वादे किये थे। क्या हुआ उनका।
मोदी पर माया का जुबानी हमला
मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी ने अपने आप को नकली पिछड़े वर्ग का बताकर लाभ लिया। काले धन पर मोदी को घेरा कि अभी तक उसका क्या हुआ। उन्होंने कहा कि चाहे जातिवाद या धार्मिक भावनाएं भड़का कर जनता को बहकाएं लेकिन जनता अब उनके छलावे में आने वाली नहीं। इस चुनाव में भाजपा की हालत खराब हो जाएगी। मतदाताओं को आगाह किया कि इनके किसी भी बहकावे में न आएं।
कांग्रेस पर निशाना
मायावती ने अपने संबोधन में कांग्रेस को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपने वादे पूरे नहीं किये। गरीबों का वोट पाने के लिए कांग्रेस पूरे देश में घूम रही है। थोड़ी सी मदद से किसी का भला होने वाला नहीं है। बसपा मुखिया मायावती ने मंच से कई बार मुलायम सिंह के नाम के आगे ‘श्री’ लगाते हुए उनके लिए वोट मांगे। मायावती ने जोर देकर कहा कि अखिलेश ही मुलायम सिंह के एकमात्र उत्तराधिकारी हैं। उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह ने मैनपुरी का काफी विकास किया है। अब उम्र का तकाजा है, फिर भी वो आखिरी सांस तक मैनपुरी सीट के विकास के लिए लड़ रहे हैं। नरेंद्र मोदी की तरह नकली सेवक बनकर नहीं बल्कि असली सेवक के रूप में कार्य कर रहे हैं।
अखिलेश यादव बोले- पीएम मोदी कागज पर पिछड़े, हम तो जन्म से पिछड़े
मैनपुरी के क्रिश्चियन कॉलेज ग्राउंड में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने संबोधन की शुरुआत में ही बसपा मुखिया मायावती का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि सबसे पहले मायावती जी का धन्यवाद। उन्होंने जनता से मुलायम सिंह यादव को जिताने की अपील की है। अखिलेश यादव ने कहा कि मायावती जी के सहयोग से हम सभी लोग मैनपुरी की जनता नेता जी को ऐतिहासिक जीत दिलाएंगे।
उन्होंने कहा कि देश नाजुक समय से गुजर रहा है। किसान दुखी हैं। खाद में चोरी की जा रही है। उन्होंने कहा कि हमारे किसान हमारी आत्मा हैं। उनके साथ धोखा हुआ है। उनके पैसों की चोरी हो गयी। किसानों को मिलने वाली खाद की बोरी में से भी भाजपा ने पांच किलो की चोरी की। नौजवान परेशान है। यह बड़ा चुनाव देश के भविष्य का है। भाजपा कहती है-नया भारत बनाना है। गठबंधन कहता है- नया पीएम बनाना है। गठबंधन कहता है कि अब देश मे नया प्रधानमंत्री बनाना है। युवाओं के हाथों में ही इसकी कमान है।
अखिलेश यादव ने कहा कि यमुना एक्सप्रेस वे सपा और बसपा की देन है। डायल 100 नम्बर को खराब कर दिया। बीमारी लग गई। चायवाले बनकर आये, पांच साल बाद पता चला कि चाय कैसी निकली। अब चौकीदार बन रहे हैं, जनता इनकी  चौकी छीन लेगी। मायावती ने सही पकड़ा। वो कागज में पिछड़े हैं, हम जन्म से पिछड़े हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि मैनपुरी में सिर्फ मुलायम सिंह यादव व समाजवादी पार्टी ने विकास कराया कराया है। हम सब मिलकर चौकीदार की चौकी छीननी है। भीड़ से पूछा बताओ चौकी छीनोगे या नहीं।
सबसे अंत में मंच पर बोलने आये अखिलेश यादव ने मुलायम की तरह ही बहुजन समाज पार्टी और इसकी राष्ट्रीय अध्यक्ष के सम्मान की बात दोहराई। मैनपुरी सीट से नेताजी को देश की सबसे बड़ी जीत दिलाने की अपील की। कहा कि मैनपुरी में यदि विकास किसी ने कराया है तो सिर्फ मुलायम सिंह और सपा ने। अखिलेश बोले कि देश के प्रधानमंत्री की चौकी छीननी है। गठबंधन कहता है कि देश में नया प्रधानमंत्री बनाना है। युवाओं के हाथों में ही इसकी कमान है। अखिलेश ने भी प्रधानमंत्री मोदी की जाति पर निशाना साधते हुए कहा कि वो कागज पर पिछड़े हैं और हम जन्म से पिछड़े हैं।
मायावती जी का हम सम्मान करते हैं-मुलायम सिंह यादव
मैनपुरी के क्रिश्चियन ग्राउंड में बसपा मुखिया मायावती आज समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी मुलायम सिंह यादव के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंची। उनसे पहले समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने माइक संभाला। उनको अखिलेश यादव पकड़कर माइक तक ले गए। मुलायम सिंह यादव अधिक देर तक नहीं बोले। मुलायम बोले ने कहा कि यह हमारा अंतिम चुनाव है। मैनपुरी से हमको भारी बहुमत से जिता देना।
उन्होंने कहा कि मायावती जी का हम सम्मान करते हैं। आप सब भी करना। उनका बहुत सम्मान करना आप लोग। मैं इनका बड़ा अहसान कभी नहीं भूलुंगा। आप लोग की इनकी इज्जत करना। मुलायम सिंह ने बेहद कम समय संबोधन किया। मुलायम सिंह पर उम्र का दबाव और अस्वस्थता साफ दिख रही थी। मंच पर मुलायम सिंह जब पहुंचे तो मायावती संकोच के साथ एक एक कदम आगे बढ़ाकर उन तक पहुंची और सपा संरक्षक को हाथ पकड़कर सहारा भी दिया। करीब खड़े होकर मायावती और मुलायम सिंह ने हाथ उठाकर सभा में मौजूद लोगों का अभिवादन किया। मुलायम को मंच तक लाने और कुर्सी पर बैठाते समय अखिलेश सपा अध्यक्ष से अधिक बुजुर्ग पिता को सहारा देते नजर आये।
नहीं आए अस्वस्थ अजित सिंह
अस्वस्थता के कारण राष्ट्रीय लोकदल के मुखिया अजित सिंह मंच पर मौजूद नहीं थे। पहले मंच पर उनके लिए भी कुर्सी लगाई गई थी लेकिन बाद में सिर्फ तीन कुर्सियां बचीं और मायावती मुख्य अतिथि के तौर पर बीच में व दाहिनी तरफ अखिलेश व बायीं तरफ मुलायम सिंह यादव बैठे।
सबसे पहले मुलायम सिंह ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बहुत दिनों के बाद हम और मायावती अब एक मंच पर हैं। आपसे कहना चाहते हैं कि हमें भारी बहुमत से जिता देना। मेरे भाषण आप बहुत सुन चुके हैं। ज्यादा नहीं बोलूंगा। आज महिलाओं का शोषण हो रहा है। इसके लिए हमने लोकसभा में सवाल उठाए। संकल्प लिया गया कि महिलाओं का शोषण नहीं होने दिया जाएगा। मुलायम ज्यादा नहीं बोले और उनके स्वर बेहद कमजोर थे।
मायावती के साथ मंच पर पहुंचे मुलायम सिंह यादव ने एक साथ हाथ हिलाकर जनता का अभिवादन किया। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ मायावती के भतीजे आकाश आनंद तथा सतीश चंद्र मिश्रा भी मंच पर हैं। मायावती ने आगे बढ़कर मुलायम को सहारा दिया। रैली के मंच पर जब मुलायम सिंह आए तो कुछ लोग उन्हें सहारा दिया। मायावती पहले ही पहुंच चुकी थीदिया। मुलायम सिंह के मंच पर पहुंचने पर मायावती खड़ी हुई और आगे बढ़कर कंधे पर हाथ रखकर सहारा दिया। तमाम कयास और पूर्वानुमान को झुठलाते हुए समाजवादी पार्टी के संरक्षक और बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने मैनपुरी में मंच साझा किया। 1995 में लखनऊ के चर्चित गेस्ट हाउस कांड के बाद से शुरू तनातनी शुरुआती हिचक और झिझक के बाद आज 24 साल बाद खत्म होता नजर आई। 1993 के बाद दोनों नेता 26 वर्ष बाद पहली बार एक साथ चुनावी मंच पर थे। प्रदेश के राजनीतिक समीकरण बदलने के लिए सपा और बसपा ने लोकसभा चुनाव की घोषणा से पूर्व ही हाथ मिला लिया था लेकिन गठजोड़ से सपा संरक्षक मुलायम सिंह खुद को दूर रखे हुए थे। माना जा रहा था कि सपा संरक्षक इस गठबंधन से खुश नहीं हैं लेकिन मैनपुरी के क्रिश्चियन कॉलेज मैदान में यह सोच पीछे रह गई। जनसभा में सपा मुखिया अखिलेश यादव, मायावती के भाई आनंद, भतीजा आकाश आनंद और बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश मिश्रा भी थे।
महागठबंधन प्रतिद्वंद्वियों को संदेश देने की कोशिश करेगा कि सभी दल भाजपा के खिलाफ एकजुट हैं। शुरू में ऐसी खबरें थीं कि मुलायम रैली में शामिल नहीं होंगे। उत्तर प्रदेश में 1993 में गठबंधन कर सरकार बनाने वाली सपा और बसपा के बीच 2 जून 1995 को लखनऊ में हुए गेस्ट हाउस काण्ड के बाद जबर्दस्त खाई पैदा हो गयी थी। इस बार लोकसभा चुनाव से पहले सपा से हाथ मिलाने के बाद मायावती स्पष्ट कर चुकी हैं कि दोनों पार्टियों ने भाजपा को हराने की खातिर गिले-शिकवे भुला दिये हैं।
मंच पर साथ दिग्गज
गठबंधन की रैली में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीशचंद्र मिश्रा, रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजित सिंह, सपा के मुख्य राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव के अलावा पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता भी मंच पर साथ थे।
कुछ अनमने से थे मुलायम
साझा रैली के लिए मुलायम कुछ अनमने से थे। उन्होंने एक अप्रैल को अपने नामांकन के दिन पत्रकारों के इस प्रश्न पर कि 19 अप्रैल की रैली के बारे में क्या कहना है, कहा था कि वो दिन अभी दूर है, देखेंगे। इसके बाद भी गाहे-बगाहे उनके अखिलेश के गठबंधन संबंधी निर्णय विरोधी बयान आते रहे। मैनपुरी सीट मुलायम का गढ़ माना जाता रहा है। इस बार मुलायम यहां से समाजवादी पार्टी के गठबंधन प्रत्याशी हैं।

लोकतन्त्र को बदलने का प्रयास कर रही भाजपा:बाबू सिंह

0

फर्रुखाबाद:(कायमगंज) कांग्रेस के प्रत्याशी सलमान खुर्शीद के समर्थन में जनसभा करने आये जन अधिकारी मंच के संस्थापक पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाह मोदी और भाजपा पर हमलावर रहे| उन्होंने कहा कि भाजपा लोकतंत्र को बदलने का प्रयास कर रही है| लेकिन हमे समय रहते सरकार को बदलना है| जिससे लोकतंत्र पर कोई आंच ना आये|
कायमगंज में सभा के दौरान पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाह ने कहा कि यूपी के सीएम योगी का रिमोंट कही और है| वह खुद अपने आप नही चलते| किसान,नौजवान व व्यापारी केंद्र सरकार से परेशान है| नोटबंदी ने लोगों की कमर तोड़ दी| लेकिन आने वाली 29 अप्रैल को मतदाता इसका जबाब जरुर देगा|
उन्होंने कहा कि मोदी ने सरकार में आने से पूर्व ना जाने कितने वायदे किये थे| उन्होंने कहा था कि दो करोंड लोगों को रोजगार मिलेगा| किसान की आमदनी दोगुनी होगी| पेट्रोल-डीजल के दाम कम होंगे| लेकिन कुछ भी नही किया| मोदी ने जनता से वादा खिलाफी की है| जब देश में मनमोहन सिंह की सरकार थी तो क्या पाकिस्तान भारत में घुस आया था|लेकिन जबसे मोदी सरकार बनी तभी से पाक-पाक कर मोदी वोट बैंक साधने का प्रयास कर रहे है| जबकि मनमोहन सरकार की तुलना में दो गुना सैनिक मोदी सरकार में शहीद हुआ|
उन्होंने कहा कि देश का लोकतंत्र किसी भी पार्टी ने बदलने का प्रयास नही किया| लेकिन भाजपा लोकतंत्र के साथ ही संबिधान भी बदलने का प्रयास कर रही है|उन्होंने बसपा पर भी सियासी तीर चलाये और कहा कि बसपा अपने मिशन से भटक गयी है| वह दलितों की हितैशी नही रही|

बाइक सबार बर्तन व्यापारी की मार्ग दुर्घटना में मौत

0

Posted on : 19-04-2019 | By : JNI-Desk | In : ACCIDENT, CRIME-प्रेम त्रिकोण, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद: बाइक से घर आ रहे बर्तन व्यापारी की मार्ग दुर्घटना में मौत हो गयी| पुलिस ने परिजनों को सूचना नही दी|
शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला घमंडी कूंचा निवासी 50 वर्षीय संदीप अग्रवाल पुत्र जवाहर लाल की लोहाई रोड पर वर्तन की दुकान है| शुक्रवार को वह कायमगंज बाईपास पर ग्राम खंदिया के निकट पीछे से आ रही तेज रफ्तार रोडबेज बस ने उन्हें कुचल दिया|
जिससे वह गम्भीर रूप से जख्मी हो गया| संदीप को एक पार्टी के प्रचार वाहन से घायल को आवास विकास के के निजी नर्सिंग होम में भर्ती किया गया| जंहा चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया|
परिजन पुलिस को सूचना दिये गये बिना ही शव लेकर चले गये| मृतक पत्नी जूली का रो-रो कर बुरा हाल हो गया| थानाध्यक्ष मऊदरवाजा ने बताया कि घटना की उन्हें जानकारी नही है|

मतदाताओं को रिझाने में प्रत्याशी लगा रहे”साम,दाम,दंड भेद”

0

Posted on : 19-04-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, सामाजिक

फर्रुखाबाद:ज्यों-ज्यों चुनाव की तिथि नजदीक आ रही है, चुनावी सरगर्मी तेज होती जा रही है। प्रत्याशी मतदाताओं को रिझाने के लिए कई तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। लेकिन मतदाता भी इस बार सोच समझ कर बैठा है|
रात होते ही कई प्रत्याशी मतदाताओं के सोने का इंतजार करते हैं ताकि दूसरा प्रत्याशी उस जगह से निकल जाए और वे मतदाता को किसी भी तरीके से रिझा सकें। वे मतदाताओं के घर से स्थानीय बाजारों तक उसका पीछा करते हैं। वहीं कई मतदाताओं को प्रत्याशी कपड़े भी बांट रहे हैं। कुछ प्रत्याशी  मतदाताओं को दावत कराकर अपने पक्ष में करने की जी-तोड़ कोशिश कर रहे हैं। एक मजेदार बात यह है कि कुछ मतदाता लगभग हर प्रत्याशी से कुछ न कुछ ले रहे हैं।
प्रत्याशी किसी भी हाल में चुनाव जीतने के लिए हर तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। कोई प्रत्याशी भ्रष्टाचार मुक्त समाज देने तो कोई शहर के संपूर्ण विकास का दावा कर चुनाव में अपनी जीत सुनिश्चित करना चाहता है। चुनाव के पहले सड़क पर अकड़ कर चलने वाले प्रत्याशी वोटरों के आगे अपनी सिर झुका हाथ जोड़कर वोट मांग रहे हैं।
कुछ ऐसे भी प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं जिन्हें अपनी हार अभी से ही दिखाई देने लगी है। नतीजतन वैसे प्रत्याशियों के व्यवहार में झल्लाहट की भी बू आ रही है। देखने-दिखाने की बात तो मतगणना के बाद होगा, फिलहाल मतदाता ही वैसे प्रत्याशियों को देख लेने का मन बना चुके हैं। जो मतदाता पद और पावर से नहीं झुक रहा, उन्हें पैसे से खरीदने की कोशिश की जा रही है। हर प्रत्याशी साम, दाम, दंड भेद की नीति अपना रहा है। कोई प्रत्याशी जाति-धर्म की दुहाई दे रहा है तो कोई समाज और रिश्ते के बल पर मतदाताओं को अपनी ओर आकर्षित करने में लगा है।

रैली के दौरान एक शख्स ने कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल के मारा थप्पड़

0

अहमदाबाद:लोकसभा चुनाव में जूते के बाद अब थप्पड़ मारने की घटना सामने आयी है। बीते वीरवार को बीजेपी हेडक्वार्टर में पार्टी प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद जीवीएल नरसिम्हा राव पर जूता फेंकने की खबर के बाद शुक्रवार को गुजरात के युवा नेता हार्दिक पटेल को भरी सभा में एक शख्स ने थप्पड़ मार दिया। हार्दिक पटेल ने इस मामले में शिकायत दर्ज करवा दी है।
हार्दिक पटेल उस समय एक चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। तभी एक शख्स मंच पर चढ़ा और इस युवा नेता को एक जोरदार थप्पड़ मार दिया। घटना के तुरंत बाद ही आरोपी को पुलिस ने पकड़ लिया।
मिली जानकारी के अनुसार चुनावी जनसभा में  हार्दिक पर वार करने वाले इस शख्स का नाम तरुण मिस्त्री है, ये गुजरात का ही रहना वाला है। इस घटना के बाद हार्दिक समर्थकों में इतना गुस्सा था कि उन्होंने थप्पड़ मारने वाले इस शख्स को पकड़कर उसकी जोरदार पिटाई कर दी जिससे उसके कपड़े फट गये और उसे चोटें भी आयी। हार्दिक पटेल ने बीच बचाव कर अपने समर्थकों को उस शख्स को पीटने से रोका और घायल युवक को अस्पताल भेज दिया।
इस घटना के समय कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल गुजरात के सुरेंद्र नगर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। तभी एक शख्स मंच पर चढ़ा और हार्दिक पटेल को एक जोरदार थप्पड़ जड़ दिया। गौरतलब है कि गुजरात में पटेल आरक्षण की मांग करने वाले युवा नेता हार्दिक पटेल को चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव लडऩे से मना किया है।