पुलिस अधीक्षक संतोष मिश्रा का तबादला,अनिल नये एसपी

0

Posted on : 17-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

पुलिस अधीक्षक संतोष मिश्रा का शासन से तबादला कर दिया है| उनके स्थान पर अनिल मिश्रा को नया एसपी बनाया है| रविवार को योगी सरकार ने 28 आईपीएस अफसरों के तबादले किये| जारी सूची के अनुसार एसपी संतोष मिश्रा का फतेहगढ़ से इटावा का पुलिस अधीक्षक बनाया गया है| वही पुलिस अधीक्षक यूपी पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नत के पद पर तैनात अनिल कुमार मिश्रा को जनपद फर्रुखाबाद का एसपी बनाया गया है|

ढाई घाट गंगा में आधा दर्जन डूबे,एक लापता

0

Posted on : 17-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद:(शमसाबाद) गंगा में नहाने गये आधा दर्जन दोस्त अचानक गहरे पानी में डूब गये| लेकिन पांच को बचा लिया गया एक का पता नही चल सका| थाना नवाबगंज क्षेत्र के ग्राम कनासी निवासी ऋतिक पुत्र धीरेन्द्र गंगवार अपने पांच दोस्तों के साथ ढाई घाट गंगा नहाने गया था| गंगा नहाते हुए अचानक सभी दोस्त गहरे पानी में चले गये| जिसमे पांच को नाविकों ने बचा लिया लेकिन ऋतिक का कोई पता नही चला| घटना की सूचना पर प्रभारी निरीक्षक जयंती प्रसाद गंगवार फ़ोर्स के साथ मौके पर आ गये| उन्होंने तलाश करायी लेकिन कोई पता नही चला| इसके बाद उन्होंने शाहजंहापुर जिले की पुलिस की मदद मांगी गयी लेकिन उन्होंने मदद करने से मना कर दिया| इसके बाद प्रभारी निरीक्षक ने उच्चाधिकारियों को बताया| जिसके बाद शाहजंहापुर पुलिस ने अपने गोताखोर भेजे और लेकिन उसका पता नही चला| प्रभारी निरीक्षक ने बताया की जाँच की जा रही है| अभी पता नहीचला है|

दिन-प्रतिदिन बढ़ रहा पाक के खिलाफ लोगों में आक्रोश

0

Posted on : 17-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS
This image has an empty alt attribute; its file name is KAINDIL-12-2.jpg

फर्रुखाबाद: पुलवामा आतंकी हमले को लेकर लगातार देश की जनता में आक्रोश बढ़ रहा है| कोई शांति प्रिय तरह से तो कोई गाँधी गिरी से पाक की नापाक हरकत का विरोध हो रहा है| लोगों के दिन में अपने शहीदों प्रति आस्था है तो वही पाक के प्रति उतना ही गुस्सा| जिसके चलते कैडिल मार्च और पुतला जलाने का क्रम जारी है| रविवार को भी बूढ़े,बच्चे,जबान व महिलाओं ने भी सड़क पर उतर कर पाक के खिलाफ अपना आक्रोश अपने-अपने तरीके से प्रगट किया|
आवास विकास के सेक्टर एक में रविवार शाम को तकरीबन दो दर्जन से अधिक लोगों ने कैंडिल मार्च निकाला और शहीदों को श्रद्धांजलि  दी| उन्होंने कहा की उन्हें देश की सरकार पर भरोसा है कि पाक को मुंहतोड़ जबाब मिलेगा| कैंडिल मोहल्ले होकर सपा कार्यालय के सामने से होता हुआ आवास विकास तिराहे पर समाप्त हुआ| इस दौरान अनिल श्रीवास्तव,अनिल अग्निहोत्री,राकेश अग्रवाल,यतीश कुमार मिश्रा,डॉ0 केएम सचदेवा,राममोहन मिश्रा,एवं डॉ0 रेखा मिश्रा,मंजू मिश्रा,नीता श्रीवास्तव,दुर्गेश सिंह व रेखा अग्रवाल आदि रहे| कम्पिल में भी जगह-जगह पाकिस्तान के पुतले जलाये गये| क्षेत्र के ग्राम गौरखेडा,जिनौल,नगला खुमानी आदि में ग्रामीणों ने जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया| कमालगंज में जामा मस्जिद से असिर की नमाज अदा करने के बाद मुख्य मार्ग पर पाक के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन किया| इसके साथ ही पाक का झंडा जलाया| इस दौरान मो0 शमी,सलाउद्दीन खां,वसीम,कल्लू व ,मौलाना मुबीन आदि लोग रहे| जहानगंज में राजेपुर टप्पामंडल के युवाओ ने भाजपा युवा मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष कुंवर राजन सिंह के नेत्रत्व मे पाकिस्तानी आतंकवादियो का पुतला दहन किया| धीरू, बिल्टु,पंकज, आकाश, शिवम, राजन पाल सही दर्जनो युवा रहे|

कम्पिल में भी जगह-जगह पाकिस्तान के पुतले जलाये गये| क्षेत्र के ग्राम गौरखेडा,जिनौल,नगला खुमानी आदि में ग्रामीणों ने जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया| कमालगंज में जामा मस्जिद से असिर की नमाज अदा करने के बाद मुख्य मार्ग पर पाक के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन किया| इसके साथ ही पाक का झंडा जलाया| इस दौरान मो0 शमी,सलाउद्दीन खां,वसीम,कल्लू व ,मौलाना मुबीन आदि लोग रहे| जहानगंज में राजेपुर टप्पामंडल के युवाओ ने भाजपा युवा मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष कुंवर राजन सिंह के नेत्रत्व मे पाकिस्तानी आतंकवादियो का पुतला दहन किया| धीरू, बिल्टु,पंकज, आकाश, शिवम, राजन पाल सही दर्जनो युवा रहे|

बीजेपी ने आतंकवाद के विरोध में धरना देकर लिया संकल्प

0

Posted on : 17-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP

फर्रुखाबाद:पुलवामा हमले को लेकर जगह-जगह हो रहे विरोध प्रदर्शन के बीच बीजेपी ने भी धरना प्रदर्शन कर अपना विरोध जाहिर किया| इसके साथ पाकिस्तान के खिलाफ जबरदस्त गुस्सा दिखा| भाजपा नेताओं ने साफ कहा की पाक को उसका करार जबाब मिलेगा| आतंकबाद के मुद्दे पर पूरा देश एक जुट है|
शहर के लाल दरवाजे पर जिलाध्यक्ष डॉ0 भूदेव राजपूत की अध्यक्षता में “आतंकवाद के विरोध में संकल्प” कार्यक्रम को लेकर भाजपा ने धरना दिया| इस दौरान क्षेत्रीय अध्यक्ष सत्यपाल सिंह ने कहा कि देश की सरकार पर भरोसा रखें| सभी देश व भारत के साथ है| पाक की नापाक हरकत का जबाब मिलेगा| पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान आतंकवाद की फैक्ट्री है|
व्यापारी नेता अरुण प्रकाश तिवारी ददुआ ने कहा शास्त्र हमें शठे शाठ्यम समाचरेत् (जैसे को तैसा) का पाठ पढ़ाते हैं। अर्थात दुष्ट के साथ दुष्टता का ही व्यवहार उचित है। जो नक्सली, कम्युनिस्ट, माओवादी या आतंकवादी निरपराध लोगों को निशाना बना रहे हैं, उनके साथ भी उसी तरह से व्यवहार करने की जरूरत है| विधायक अमर सिंह खटिक व नागेन्द्र सिंह राठौर ने भी विचार रखे| सांसद मुकेश राजपूत ने कहा कि विश्व के कई देश आतंकवाद के मुद्दे पर भारत के साथ है| उन्होंने कहा की शहीदों का बलिदान व्यर्थ नही जायेगा| सभी लोग मिलकर आतंकवाद के विरोध में संकल्प लें| इसके साथ ही आतंकवाद का पुतला फूंका|चालन रुपेश गुप्ता ने किया|
इस दौरान पूर्व विधायक कुलदीप गंगवार,शैलेंद्र सिंह राठौर,प्रदीप सक्सेना,डॉ० प्रभात अवस्थी,ममता सक्सेना, बबीता पाठक, रजनी गुप्ता, हिमांशु गुप्ता,संजीव गुप्ता,पूर्व महामंत्री विमल कटियार,संजीव मिश्रा ‘बॉबी’, पूर्व शमशाबाद चेयरमैन विजय गुप्ता, सभासद श्यामसुंदर लल्ला,पूर्व महामंत्री विमल कटियार, राम आसरे दिवाकर, रामवीर सिंह चौहान, रामवीर शुक्ला,शिवांग रस्तोगी आदि रहे|

मोदी सरकार ने 5 अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा छीनी

0

Posted on : 17-02-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

श्रीनगर:पुलवामा आतंकी हमले के बाद मांग उठी थी कि भारत में रहकर, भारत से ही सुरक्षा पाने और पाकिस्तान का समर्थन करने वाले जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेताओं से सुरक्षा वापल ले ली जाना चाहिए। मोदी सरकार ने इस पर अमल शुरू कर दिया है। रविवार को स्थानीय प्रशासन ने मीरवाइज उमर फारुख समेत पांच अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा वापस ले ली।
उमर फारुख के अलावा अब्दुल ग़नी बट्ट, बिलाल लोन, हाशिम कुरैशी, शब्बीर शाह की सुरक्षा वापस ले ली गई है। पुलवामा हमले के बाद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस तरह का कदम उठाए जाने के संकेत दिए थे। मालूम हो, अलगाववादी नेता ही कश्मीरी युवाओं के दिमाग में अलगाववाद का जहर भरते हैं और उन्हें आतंकवादी बनने को प्रेरित करता है। अलगाववादी नेता ही पाकिस्तान से पैसे लेकर कश्मीरी युवाओं को देते हैं और इसी पैसे से आतंकवाद और पत्थरबाजी होती है।
एक रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसे अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा पर सरकार हर साल 10 करोड़ रुपए खर्च करती है। मीरवाइज उमर फारुख की सुरक्षा सबसे मजबूत है। उसकी सुरक्षा में डीएसपी रैंक के अधिकारी हैं। उसके सुरक्षाकर्मियों के वेतन पर पिछले एक दशक में 5 करोड़ रुपए से अधिक खर्च हो चुके हैं। इसके अलावा यासीन मलीक, सज्जाद लोन, बिलाल लोन , उनकी बहन शबनम, आगा हसन, अब्दुल गनी बट्‌ट और मौलाना अब्बास अंसारी को भी भारी सुरक्षा दी गई है।
आशंका
सुरक्षा छीने जाने के बाद अलगाववादी नेता अब्दुल गनी बट्ट ने कहा, उन्हें जम्मू-कश्मीर सरकार ने सुरक्षा दी थी, जिसकी उन्हें कोई जरूरत नहीं है। उनकी सुरक्षा तो जम्मू-कश्मीर के लोग करते हैं। उन्होंने आशंका जताई कि भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध की आशंका है।