लाठीचार्ज को लेकर सपा-बसपा का प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल से मिला

0

Posted on : 13-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, राष्ट्रीय

लखनऊ:अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से रोकने पर सपा, बसपा, आम आदमी पार्टी समेत कई विपक्षी राजनीतिक दलों ने ही नहीं अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद तक ने नाराजगी जताई। सपा मुखिया को रोकने, प्रदेश में सपाइयों पर लाठीचार्ज और गिरफ्तारी को लेकर आज सपा-बसपा के संयुक्त प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल रामनाईक से राजभवन में मुलाकात की। प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल के नेतृत्व में राज्यपाल से मिलकर उन्हें ज्ञापन सौंपा गया है। इसमें दोनों सदनों के सपा-बसपा विधानमंडल दल के नेता शामिल रहे।
उल्लेखनीय है कि मंगलवार को अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से रोकने को लेकर सपाइयों ने पूरे प्रदेश में उग्र प्रदर्शन किया था। इस मामले में धरना, प्रदर्शन, नारेबाजी, पुतला दहन, तोड़फोड़, पथराव जैसी तमाम घटनाएं सामने आईं। लखनऊ में सपा ने राजभवन के बाहर प्रदर्शन किया था। आज उसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए राजभवन में जाकर ज्ञापन दिया। ध्यान रहे कि सपा अध्यक्ष ने कहा है कि मेरे खिलाफ तो आज तक कोई मुकदमा दर्ज नहीं हुआ। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ तो खुद हिंसा फैलाने वाले रहे हैं। खुद उनके ऊपर तमाम मुकदमे हैं। प्रदेश में पहली बार हिंसा फैलाने वाला कोई व्यक्ति मुख्यमंत्री बना है। उन्होंने योगी के खिलाफ दर्ज मुकदमों की तख्तियां भी लहराईं।
अखिलेश को रोकने पर अखाड़ा परिषद खफा
अखिलेश को रोके जाने से उनके कार्यकर्ता और राजनीतिक दल ही नहीं अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने भी गहरी नाराजगी जताई है। परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि अखिलेश उनके कार्यक्रम में एक भक्त की तरह शरीक होने आ रहे थे। उन्हें रोकने से परिषद के संतों को तकलीफ है। मठ बाघंबरी गद्दी में प्रतिवर्ष अचला सप्तमी पर भंडारा होता है, जिसमें मुलायम सिंह के परिवार से कोई न कोई सदस्य शामिल होता है। इस बार अखिलेश इसमें शामिल होने आ रहे थे। वह राजनेता नहीं, एक भक्त के रूप में आ रहे थे।

फतेहगढ़ कोर्ट में राहुल गांधी,राज बब्बर,पीएल पुनिया व प्रियंका के खिलाफ परिवाद

0

फर्रुखाबाद:फतेहगढ़ कोर्ट में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी, प्रियंका सहित चार के खिलाफ परिवाद दर्ज कराया गया है| जिसमे आरोप लगाया गया है कि उन्होंने पीएम मोदी को चौकीदार चोर है के सम्बोधन किया है| जिससे उनकी छवि खराब करने का प्रयास किया गया है|
फ़तेहगढ़ के भोलेपुर नगला नैन निवासी विष्णु नारायण दीक्षित पुत्र राधेश्याम दीक्षित ने न्यायिक दंडाधिकारी के कोर्ट में परिवाद दायर किया है| जिसमे आरोप है कि 11 फरवरी को शाम लगभग 7:30 बजे एक न्यूज चैनल देखा| जिसमे लखनऊ की रैली के दौरान राहुल गाँधी पीएम को चौकीदार चोर से सम्बोधित कर रहे थे| उस समय राहुल गाँधी के साथ ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर,कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी,पीएल पुनिया भी इनके साथ थे|
पीएम ने 11 फरवरी को ही वृंदाबन की एक जनसभा में अपने को देश का चौकीदार बताया था| परिवाद में आरोपियों को सम्बन्धित धाराओं में तलब कर दंडित करने की अपील की गयी है|

61 बंदियों के साथ रिहा हुए शिव और अली ने पेश की गंगा-जमुनी तहजीब

0

Posted on : 13-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, JAIL, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:शासन के फरमान के बाद जेल से बन्दियो के रिहा होने का सिलसिला लगातार जारी है| अभी तक कुल 65 बंदियों को रिहा किया गया था| बुधवार शाम कुल 14 जिलों के 61 और बंदियों की सेन्ट्रल जेल से रिहाई कर दी गयी| इस दौरान जेल से रिहा हुए बंदी शिवबालक व अरबी अली ने एक दूसरे के गले मिल गंगा-जमुनी तहजीब की मिशाल पेश की|
बीते 9 फरवरी को कुल 35 बंदियों को रिहाई मिली थी| इसके तीन दिन के बाद 12 फरवरी को 30 और बंदी रिहा कर दिये गये थे| लेकिन शासन के फरमान पर लगातार उस मानक में आने वाले बंदियों की रिहाई का सिलसिला जारी है| बुधवार को एक बार फिर वह जेल के बाहर मिलने और बिछड़ने का सिलसिला सामने आया| जिसके तहत कुल 61 बंदियों को रिहाई मिल गयी|
जेल के बाहर घंटो से अपनों के छुटने का इंतजार कर रहे परिजन टकटकी लगाये जेल के मुख्य द्वार की तरफ निहार रहे थे| जैसे ही बंदी रिहा किये गये उनके परिजन आँखों में आंसू लिए गले में लिपट गये| लेकिन इससे पूर्व वर्षों तक जेल में रहे बंदियों साथियों के बिछड़ने का गम भी था| सो रिहा होने के बाद बंदियों ने एक दूसरे के गले मिल अलबिदा कहा|
इस दौरान जेल से रिहा हुए जनपद उन्नाव के बांगरमऊ मुस्तफाबाद निवासी शिवबालक पुत्र महावीर व कानपुर नगर नौबस्ता मजार मछरिया निवासी अरबी अली पुत्र जाहिर अली एक दूसरे के गले मिल गये और हिन्दू-मुस्लिम एकता की मिशल पेश की| इसके साथ ही साथ अन्य कई बंदियों ने भी एक दूसरे को अलविदा कहा| जिसमे औरैया,कन्नौज,फर्रुखाबाद,हरदोई,कानपुर नगर,कानपुर देहात,उन्नाव,मैनपुरी,रायबरेली,कानपुर देहात,जालौन,एटा,कन्नौज,कासगंज व इटावा के बंदी रिहा किये गये|
इस दौरान सेन्ट्रल जेल के अधीक्षक एसएचएम रिजवी,कारापाल पीके सिंह,उप कारापाल पीके मिश्रा,अरविन्द कुमार,डीके सिंह आदि रहे|

मोदी सरकार से भी उठ गया कारगिल शहीद के परिजनों का भरोसा!

3

Posted on : 13-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:कारगिल के युद्ध में पाकिस्तानी सेना के दांत खट्टे करने वाले शहीद लांस दफेदार मलेटरी सिंह आज के ही दिन 13 फरवरी 1999 को आपरेशन रक्षक में शहीद हो गये थे| परिजनों ने उनके चित्र पर माल्यार्पण व पुष्पांजलि अर्पित की| इसके बाद उन्होंने सरकार को कोसा और बोले मोदी सरकार में भी उन्हें उनका हक नही मिला| उन्हें मरणोपरांत सेना मेडल दिया गया था|
नगर के ग्राम नरायनपुर सेन्ट्रल जेल चौराहे पर रहने वाले शहीद मलेटरी सिंह का परिवार आज गमगीन था| शहीद की पत्नी गीता देवी ने अपनी पुत्री पूनम,पूजा,सुधीर,सुगीर,सुशील आदि के साथ चित्र पर पुष्पांजली अर्पित की| इसके साथ ही पुत्रों को मलेटरी सिंह की वीर गाथा से अवगत कराया|
शहीद की पत्नी गीता देवी पति के शहीद होने के बाद उनको मिलने वाले पेट्रोल पम्प को लेकर चिंतित है| सरकार के वायदों के बाद भी उन्हें अभी तक पम्प की दरकार है| लेकिन जब मोदी सरकार बनी तो कुछ उम्म्मीद जागी| लेकिन सरकार भी अब जाने को है लेकिन अभी तक गीता देवी को उनका हक नही मिल सका है|
अंकित,मोहित,प्रिंस राठौर,अक्षय प्रताप,पवन राजपूत,शिवराम राजपूत,अनुज यादव,नितिन राजपूत,रोहित कुमार,आदिल खां आदि रहे|

लोकसभा में बोले मुलायम सिंह-मोदी दोबारा बनें पीएम

0

Posted on : 13-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BJP

नई दिल्ली:लोकसभा चुनाव से पहले देश में जारी सियासी हो-हल्ले के बीच मुलायम सिंह यादव ने बड़ा बयान दिया है। पूर्व सपा सुप्रीमो और मैनपुरी से सांसद मुलायम ने लोकसभा में कहा है कि नरेंद्र मोदी को फिर से पीएम बनना चाहिए। बजट सत्र के आखिरी दिन उन्होंने यह बात कही। मुलायम ने जब यह बात कही, तब पीएम मोदी भी संसद में मौजूद थे। बकौल मुलायम, मेरी कामना है कि यहां जितने भी सदस्य हैं, वे फिर से चुनकर आएं। हम इतना बहुमत हासिल नहीं कर सकते हैं, इसलिए प्रधानमंत्री जी आप फिर प्रधानमंत्री बनकर आएं।
मुलायम सिंह के इस बयान के बाद ही सदन ठहाके और तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। जब मुलायम सिंह यादव यह बयान दे रहे थे तब यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी भी सदन में उनके साथ बैठीं थीं। मुलायम के इतना कहते ही पूरी लोकसभा जय श्री राम के नारों से गुंजायमान हो गया। उन्होंने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल के दौरान सभी को साथ लेकर चलने का प्रयास किया और इसमें काफी हद तक सफल भी हुए।
राहुल गांधी मुलायम के बयान से असहमत
वहीं लोकसभा में मुलायम सिंह यादव की पीएम मोदी पर की गई टिप्पणी पर राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, मुलायम सिंह यादव के इस बयान, ‘काश (पीएम मोदी) फिर से पीएम बन जाते’ पर मैं उनसे असहमत हूं। लेकिन राजनीति में मुलायम सिंह यादव जी की भूमिका है और मैं उनकी राय का सम्मान करता हूं।
सपा ने किया मुलायम के बयान का विरोध
मुलायम सिंह के इस बयान ‘पीएम मोदी दोबारा पीएम बनें’ पर सपा नेता रविदास मेहरोत्रा ने विरोध करते हुए कहा है कि मुझे यह जानकारी नहीं है कि नेता जी (मुलायम सिंह यादव) ने किस संदर्भ में यह बयान दिया है, लेकिन हम केंद्र सरकार की सत्ता में परिवर्तन चाहते हैं। इस बार पीएम मोदी खुद अपने ही लोकसभा क्षेत्र से चुनाव हारेंगे।
वहीं आपको यह भी बता दें कि जिस पीएम मोदी की मुलायम सिंह यादव इतनी प्रशंसा कर रहे हैं उन्हीं मुलायम के बेटे और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने पीएम मोदी को साल 2019 के लोकसभा चुनावों में रोकने के लिए अपने राजनीतिक दुश्मन बसपा से गठबंधन तक कर लिया है। मीडिया में आए दिन ही अखिलेश पीएम मोदी पर हमलावर रहते हैं। 2019 के चुनावी रण से पहले मुलायम सिंह यादव का यह बयान बहुत अहम है क्योंकि उनके बेटे और सपा के मौजूदा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पीएम मोदी के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। अखिलेश ने मायावती के साथ मिलकर विपक्ष को एकजुट करने का प्रयास कर रहे हैं।