मशाल जुलूस में जुट सके केबल आधा सैकड़ा भाजपाई

1

Posted on : 09-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, सामाजिक

फर्रुखाबाद:10 फरवरी को भारतीय जनता पार्टी के पूर्व मंत्री बृह्मदत्‍त द्विवेदी की पुण्‍यतिथि की पूर्वसंध्‍या पर मशाल जुलूस निकाला गया| जिसमे महज आधा सैकड़ा भाजपा नेता की शामिल हुए| जो चर्चा का विषय बना रहा|
शहर के पन्डाबाग मंदिर से निकाले गये मशाल जुलूस में अधिकतर युवा कार्यकर्ता नजर आये। युवाओं ने नारेबाजी के साथ निकाले गये मशाल जुलूस में कार्यकर्ताओं व समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की| पन्डाबाग मंदिर से निकला जुलूस रेलवे रोड,चौक, लोहाई रोड होता हुआ भारतीय पाठशाला में समाप्त हुआ। मशाल जुलूस में मेजर सुनीलदत्त द्विवेदी नजर नहीं आये। बीजेपी की सत्ता होने के बाद भी मशाल जुलूस में लगभग आधा सैकड़ा भाजपा नेता की नजर आये| जबकि सरकार ना होने के समय अधिक भीड़ नजर आती थी| 10 जनवरी को भारतीय पाठशाला में हबन का आयोजन किया जायेगा|
इस दौरान भास्कर दत्त द्विवेदी, भाजयुमो जिलाध्यक्ष मयंक बुंदेला,अजीत पाण्डेय,राजकुमार वर्मा,शिवम दुबे,पंकज पाल,अभय जनसेबक आदि रहे|

जहरीली शराब पीने से अब तक सहारनपुर में 61 की मौत

0

Posted on : 09-02-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, सामाजिक

सहारनपुर:गांव-गांव धधक रहीं देशी शराब की भट्टियों ने कल सहारनपुर में अपना रंग दिखाया है। जहरीली शराब कांड में मौतों का सिलसिला लगातार जारी है। सुबह 11 बजे तक मृतक संख्या 52 तक पहुंच गई है। कई की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है।
पोस्टमार्टम के बाद शव जैसे ही गांव पहुंच रहे हैं घरों में कोहराम मच रहा है। जहरीली शराब कांड को 24 घंटे से अधिक बीत चुके है। मृतकों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। 11 बजे तक यह आंकड़ा 52 तक पहुंच गई और बढ़ने के आसार बने हुए हैं। अस्पतालों में पीड़ित लोगों के भर्ती होने की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। डीएम आलोक पांडेय व एसएसपी दिनेश कुमार पी अस्पताल में ही जमे है।
उधर, मृतकों के अंतिम संस्कार शुरू कर दिए गए हैं। गांव सलेमपुर में पांच लोगों का अंतिम संस्कार कर दिया गया, जबकि खेड़ा मुगल में तैयारी चल रही है। यहां श्मशान घाट की जगह पर अवैध कब्जे को लेकर लोगों में आपस में कहासुनी भी हुई, लेकिन एसडीएम ने पहुंच कर मामला शांत कराया। दर्जनभर गांवों में मातम पसरा हुआ है। गांव शरबतपुर में पांचों लोगों का शुक्रवार देर रात अंतिम संस्कार कर दिया गया। इतनी बढ़ी घटना होने के बावजूद सरकार का कोई नुमाइंदा मौके पर या अस्पताल नहीं पहुंचा है। लोगों में इस बात को लकर रोष व्याप्त है। जिला प्रशासन ने अब तक 46 लोगों की मौत की पुष्टि तो की है लेकिन दावा किया जा रहा है कि शराब से 36 लोगों की ही मौत हुई है। एक दिन पूर्व भी जिला प्रशासन मौतों को लेकर लीपापोती में जुटा रहा था। मेरठ मेडिकल कालेज में भर्ती कई लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। यहां 18 लोगों की मौत हो चुकी है।
मेरठ मेडिकल कालेज में भर्ती सहारनपुर शराब पीडि़तों में चार की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। यहां पर कुल 25 लोगों को भर्ती कराया गया था जिनमें से 13 की रात में मौत हो चुकी थी। यहां भर्ती 12 में चार की हालत नाजुक बनी हुई है। जहरीली शराब प्रकरण में अब तक कुल 52 लोगों की मौत हो चुकी है। मेरठ मेडिकल के साथ ही सहारनपुर के कई अस्पतालों में शराब पीडि़तों का इलाज चल रहा है।
तेरहवीं के मृत्यु भोज में परोसी गई शराब से कल 12 गांवों के 36 लोगों की मृत्यु हो गई। इसके बाद देर रात तक इनकी संख्या बढ़ती ही गई। तड़के तक 44 लोगों की मौत हो गई थी। अभी भी एक दर्जन की हालत गंभीर बनी है। दिल दहला देने वाली इस घटना से उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश का पूरा सिस्टम हिल गया। आइजी शरद सचान और मंडलायुक्त सीपी त्रिपाठी पहले जिला अस्पताल, इसके बाद प्रभावित गांवों में पहुंचे। मृतकों में ज्यादातर लोग दलित समाज से हैं। पुलिस ने अपनी ओर से गागलहेड़ी और नागल थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।
सहारनपुर में कल सुबह थाना नागल के गांव उमाही में कई घरों में कोहराम मच गया। यहां ग्रामीण रोते-बिलखते परिजनों के पास पहुंचे तो पता चला कि जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत हो गई। इसके बाद गांव पहुंचे डीएम-एसएसपी मौका मुआयना कर ही रहे थे कि कुछ ही देर में मालूम पड़ा कि इसी क्षेत्र के गांव सलेमपुर में भी जहरीली शराब से पांच तो ताजपुरा में तीन ग्रामीणों की मौत हो गई। शवों की गिनती की जा रही थी कि थाना गागलहेड़ी क्षेत्र के गांव शरबतपुर से तीन, गांव माली से दो तथा गांव कोलकी कलां में चार ग्रामीणों के मौत की खबर और आ गई। शाम होते-होते थाना देवबंद के गांव डंकोवाला में दो, बिलासपुर, शिवपुर, आसनवाली व मायाहेड़ी से भी एक-एक ग्रामीण के मरने की सूचना पुख्ता हो गई। कुछ ही देर में खेड़ा मुगल के चार लोगों की मौत की खबर ने अधिकारियों के पैरों तले की जमीन खिसका दी।
भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने कहा, डीएम-कप्तान पर लगे रासुका
दोपहर करीब 12 बजे भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर जिला अस्पताल पहुंचे और वहां भर्ती शराब पीडि़तों का हाल जाना। सीएम के मृतकआश्रितों को दो लाख मुआवजे को नाकाफी बताते हुए कहा कि कम से कम 25 लाख मुआवजा मिलना चाहिए। चंद्रशेखर ने कहा कि शराब कांड के लिए डीएम और एसएसपी पर रासुका के तहत कार्रवाई होनी चाहिए। चंद्रशेखर ने जिला प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया। देशी शराब के जहरीली होने के कारण यहां के एक दर्जन गांव में बीते 24 घंटे में 52 लोगों की मौत हो गई है। अभी भी 24 लोगों का मेरठ के साथ सहारनपुर में इलाज चल रहा है। इनमें भी एक दर्जन से अधिक की हालत गंभीर बनी है।
मंदिर-मस्जिद से कराया एलान
जिला प्रशासन ने मंदिर-मस्जिद से अवैध शराब न पीने का एलान कराया। कहा, किसी के पास शराब है तो पुलिस के सुपुर्द कर दें या नष्ट कर दें।
इन पर गिरी गाज
जिला आबकारी अधिकारी अजय कुमार, थाना प्रभारी नागल हरीश राजपूत, दस पुलिसकर्मी और आबकारी के दो सिपाहियों को निलंबित कर दिया गया।
तेरहवीं में परोसी गई थी शराब
एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि हरिद्वार के थाना झबरेड़ा के गांव बालूपुर में ज्ञान सिंह के बड़े भाई की तेरहवीं में शराब परोसी गई थी। इसी के पीने से मौत हो रही है। तहरीर आने के बाद रिपोर्ट दर्ज कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पिंटू द्वारा शराब लाना बताया जा रहा है। उसकी भी शराब पीने से मौत हो गई।
देवबंद में 2009 में जहरीली शराब से हुई थीं 49 मौत
शराब पीने से हुई मौतों से प्रशासन में हड़कंप मचा है। देवबंद क्षेत्र में वर्ष 2009 में भी ऐसा ही भयानक हादसा हुआ था। इसमें 49 लोगों ने जहरीली शराब पीने से दम तोड़ दिया था। मौतों का यह सिलसिला जड़ौदा जट्ट गांव से शुरू हुआ था। जड़ौदा जट्ट में हुई मौतों के बाद यह सिलसिला देखते ही देखते क्षेत्र के गांवों घलौली, डेहरा, खजूरी, लबकरी, अंबेहटा शेखां, तल्हेड़ी बुजुर्ग, गंदासपुर जट्ट, भायला आदि कई गांवों तक पहुंचा और दर्जनों लोग अकाल मौत के मुंह में समा गए। इतना ही नहीं नगर के मोहल्ला मटकोटा और मोहल्ला कोटला में भी जहरीली शराब से मौतें हुई थी।
इस भयावह घटना में जड़ौदा जट्ट में नौ, खजूरी में 11 मौतें, तल्हेड़ी बुजुर्ग में दो, गंगदासपुर जट्ट में तीन, लबकरी में नौ और भायला में तीन मौतों समेत कुल 49 लोग अकाल मौत के गाल में समा गए थे। तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती ने भी मामले का संज्ञान लेते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए थे। इस मामले में आबकारी और पुलिस विभाग के 10 अधिकारियों को निलंबित किया गया था और शराब कांड में आरोपितों अवैध शराब गिरोह के सरगना इस्लाम समेत मनोज, चुग्गा, रतिराम, अम्बरीश त्यागी, ओमबीर, नेत्रपाल व मदन को न्यायालय सजा सुना चुका है। कई को दोषमुक्त भी किया गया।
उत्तर प्रदेश में बड़ा नेटवर्क
इस घटना के सामने के आने के बाद ऐसा लग रहा है कि जहरीली शराब बनाने वालों का नेटवर्क पूर्वी उत्तर प्रदेश से लेकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश तक फैला हुआ है। यह सब कुछ पुलिस की नाक के नीचे हो रहा है। जहरीली शराब जिस जगह पर बनाई जाती है कि उसकी गंध दूर-दूर तक जाती है। जब राज्य में अखिलेश यादव की सरकार थी तो उन्नाव और लखनऊ में जहरीली शराब पीने से 33 लोगों की मौत हो गई थी। उसके बाद सरकार और प्रशासन की ओर से बड़े-बड़े दावे किए गए थे और आदेश दिया गया था कि जिस इलाके में जहरीली शराब पाई गई वहां के पुलिस थाने के अधिकारी जिम्मेदार होंगे।
अब उत्तर प्रदेश में सरकार बदल गई है लेकिन ऐसी घटनाएं लगातार हो रही हैं। इससे जाहिर होता है कि जहरीली शराब का यह पूरा नेटवर्क बिना प्रशासन की मिलीभगत के नहीं चल सकता है। बीते साल के मई के महीने में उत्तर प्रदेश के कानपुर और कानपुर देहात में जहरीली शराब पीने से दस लोगों की मौत हो हुई थी। इस घटना के बाद से शराब दुकान मालिक के खिलाफ केस दर्ज कर दुकान को सील कर दिया गया था। इसी तरह बीते वर्ष जनवरी में बाराबंकी में जहरीली शराब पीने से नौ लोगों की मौत हो गई थी।

थाने पंहुचे एसपी से कच्ची शराब की बिक्री होने की शिकायत

0

Posted on : 09-02-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(मेरापुर)थाने पंहुचे एसपी संतोष मिश्रा ने नवनिर्मित कार्यालय का शुभारम्भ किया| उन्होंने इस दौरान एसपी से शिकायत की गयी और कच्ची शराब की बिक्री पर रोंक लगाने की मांग हुई| एसपी ने पुलिस को शराब माफियाओं पर सख्त कार्यवाही के निर्देश दिये|
शनिवार को एसपी थाने में पंहुचे| उन्होंने नवनिर्मित कार्यालय का शुभारम्भ करने के बाद थाना परिसर का निरीक्षण किया| उन्होंने थानाध्यक्ष आवास,पानी की टंकी व शौचालय आदि का जायजा लिया| इस दौरान एसपी से कोकापुर प्रधान सुरेन्द्र सिंह ने शिकायत कर कहा कि एटा सीमा पर टपुआ में कच्ची शराब बनती है| उसकी बिक्री पर रोंक लगाने की मांग की| उन्होंने इस सम्बन्ध में शराब माफियाओं पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये|
जिस समय एसपी थाने में प्रवेश कर रहे थे उसी समय तीन सिपाहियों के लम्बे बाल देख एसपी भडक गये| उन्होंने जीरो कटिंग कराने के निर्दश दिये| इस दौरान सीओ कायमगंज राजवीर सिंह,थानाध्यक्ष सुदीप मिश्रा आदि पुलिस कर्मी रहे|

घर के ताले तोड़कर नकदी,जेबरात चोरी

0

Posted on : 09-02-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद: बीते लगभग तीन दिन पूर्व विवाह समारोह में शमिल होने गये ग्रामीण के घर के ताले तोड़कर जेबरात व नकदी चोरी कर ली गयी| घटना की सूचना पुलिस को दी गयी| पुलिस जाँच पड़ताल कर रही है|
कोतवाली क्षेत्र के ग्राम भऊआ नगला नई बस्ती निवासी आसिफ खान ने बताया कि वह बीते 7 फरवरी को सुबह लगभग 9 बजे विवाह समारोह में शामिल होने शाहजंहापुर गये थे| 9 फरवरी को वह वापस लौटे| जिसके बाद उन्होंने मुख्य द्वार का ताला खोला तो देखा की भीतर के गेट का ताला टूटा पड़ा है| चोरों से अलमारी तोड़कर उसमे रखे 70 हजार रूपये की नकदी और जेबरात चोरी कर लिए| घटना की सूचना पांचाल घाट चौकी इंचार्ज देवेन्द्र गंगवार को दी गयी| जिसके बाद काफी समय बाद तक वह मौके पर नही आये| यह देखकर लोगों को आक्रोश दिखा| आरिफ ने पुलिस को तहरीर दी है| पुलिस जाँच पड़ताल कर रही है|

यूपी में मोदी के खिलाफ छोटे दलों से भी गठबधंन करेगी कांग्रेस

1

Posted on : 09-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BJP, Politics-BSP, Politics-CONG.

फर्रुखाबाद:काफी लम्बे समय के बाद जनपद आये पूर्व विदेश मंत्री व पूर्व सांसद सलमान खुर्शीद ने भाजपा के कमल को उखाड़कर फेंकने के लिए कांग्रेस के पंजे को मजबूत बताया| उन्होंने कहा जब से तीन राज्यों में कांग्रेस की सरकार बनी है तब से कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ गया है| आगामी लोक सभा चुनाव में यदि किसी क्षेत्र में आवश्यकता पड़ी तो छोटे दलों से भी गठबंधन करने के लिए कांग्रेस को परहेज नही है|
शहर के आवास विकास निवासी कांग्रेस के प्रदेश सचिव कौशलेन्द्र सिंह यादव के आवास पर पूर्व विदेश मंत्री पत्रकारों से काफी लम्बे समय के बाद रूबरू हुए| उन्होंने कहा कि गठबंधन से चुनाव लड़ने को लेकर बीजेपी चिंतित क्यों है| इस समय देश में जो हालात है उसे देखते हुए मोदी सरकार को जाना ही है| यदि दोबारा देश में बीजेपी की सरकार आ गयी तो देश का बड़ा नुकसान होगा|
उन्होंने कहा की यूपी में बसपा और सपा का गठबंधन है इस लिए कांग्रेस को यूपी में खुलकर चुनाव लड़ने की जरूरत है| इसके लिए कांग्रेस तैयारी कर रही है| वही यदि किसी क्षेत्र में कोई छोटा दल कांग्रेस के साथ गठबंधन के लिए अपनी सहमति देता है तो कांग्रेस इसके लिए तैयार है| कांग्रेस का एक मकसद है भाजपा की हार| उन्होंने कहा इस बार जो चुनावी घोषणा पत्र आने वाला है उसमें नौजवानों को रोजगार कैसे देंगे,किसानों के हालात कैसे ठीक होंगे इसका खुलकर जिक्र किया जायेगा| इसके साथ ही साथ कांग्रेस का मकसद है कि देश के मीडिया,न्यायालय और सीबीआई को सरकार के दबाब से मुक्ति दिलाना|
उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने देश में सर्जिकल स्ट्राक का खूब प्रचार किया था| लेकिन उन्हें नही मालूम यह देश की सेना और सुरक्षा से जुड़े हुए मामले है| फ़ौज के कामों को राजनीति के मंच पर उन्हें नही लाना चाहिए| उनहोंने साफ़ कहा लोकसभा चुनाव में यूपी में युवाओं को आगे रखा जायेगा उनके पीछे अनुभवी नेताओं का साथ होगा|
इस दौरान उन्होंने मोहम्मदाबाद में पूर्व आईजी भारत सिंह के घर पंहुच उनके परिजनों से भेट की और उनके हालचाल लिए| पूर्व विधायक लुईस खुर्शीद,जिलाध्यक्ष मृत्युंजय शर्मा,युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष शुभम तिवारी,अनुपमा शर्मा,राकेश सागर,बसीमुज्ज्मा खां,डॉ0 अरुण अग्निहोत्री,दीप्ती सिंह,दीपक मिश्रा आदि रहे|

जेल से रिहा होने की ख़ुशी से जादा अपनों के ना आने का गम

0

Posted on : 09-02-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, JAIL, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:शासन के आदेश पर सेन्ट्रल जेल से रिहा किये गये बंदी दोषा जब वर्षों के बाद जेल से बाहर निकला तो वह वृद्ध हो चला रहा था| आँखों से धुंधला दिख रहा था वही कानों से कम सुनाई पड़ रहा था| लेकिन इसके बाद भी धुंधली आँखे अपनों को तलाशने का प्रयास कर रही थी| लेकिन उसका कोई भी अपना नजर नही आया|
जनपद जालौन के कालपी गुलौली निवासी दोषा पुत्र अकबर सेन्ट्रल जेल में सजा काट रहा था| उसने जेल में लम्बी सजा काटी| शनिवार को जब शासन के आदेश पर 35 कैदियों को रिहाई दी गयी तो उनमे दोषा का नाम भी था| उसे भी जेल से रिहा किया गया| लगभग सभी बंदियों के परिजन पंहुचे थे| उनका वर्षो से दवा हुआ दर्द आंसू बनकर निकल पड़ा था|
वही वृद्ध दोषा अपना सामान झोले में भरकर एक किनारे बैठा था| जब उससे जेएनआई टीम ने पूंछा तो पता चला की उसके परिजन उसे लेने तक नही आये| उसके घर जाने की समस्या खड़ी हो गयी| इन्ही 35 रिहा किये गये बंदियों में से एक नाम और था जो दोषा के जालौन जिले का था| भारत पुत्र अशर्फीलाल निवासी सिकरी राजा जालौन के परिजन उसे लेनें आये| दोषा उन्ही के साथ अपने घर के लिए रवाना हो गया|

जेल में बंद रह कर रनवीर ने 23 व हरिनाम ने कमायें सर्वाधिक 17 हजार

0

Posted on : 09-02-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, JAIL, POLICE

फर्रुखाबाद:जीवन के महत्वपूर्ण वर्ष केन्द्रीय कारागार में रहकर बिताने वाले हरिनाम ने 17 हजार व रनवीर ने 23 हजार रूपये की कमायी की| जिसका उन्हें रिहाई के दौरान चेक के द्वारा भुगतान किया गया|
शासन के आदेश के बाद सेन्ट्रल जेल से रिहा हुए जनपद हरदोई के पिहानी छतैनिया निवासी रनवीर पुत्र सीतल बक्स ने बताया की उन्होंने सेन्ट्रल जेल में सजा के दौरान बागबानी का काम किया| लेकिन उन्होंने अपनी सरकारी मजदूरी नही ली| जिसके चलते रिहा होने के दौरान उसे 23 हजार 680 रूपये का चेक दिया गया|
वही जनपद हरदोई के कोतवाली देहात दनियागंज निवासी हरिनाम ने बताया कि उसने सेन्ट्रल जेल में आने के बाद भंडारे (भोजनालय) में कार्य किया| उसने भी जेल विभाग से अपनी सरकारी मजदूरी नही ली| जब वह रिहा हुआ तो उसे 17014 रूपये की चेक दी गयी| इसके साथ ही अन्य बंदियों को भी उनकी मजदूरी मिली| लेकिन हरिनाम व रनवीर को सर्वाधिक मजदूरी मिली|
जेल अधीक्षक एसएचएम रिजवी ने जेएनआई को बताया की बंदियों की काम के आधार पर मजदूरी दी जाती है| रिहा किये गये 35 बंदियों में से जिन-जिन की मजदूरी जमा थी उनका चेक से भुगतान किया गया| जिसमे हरिनाम को 17 हजार व रनवीर ने 23 हजार रूपये की चेक दी है|

रिहा बंदियों में सुनील ने काटी सर्वाधिक 25 वर्ष की सजा

0

Posted on : 09-02-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, JAIL

फर्रुखाबाद:शासन के आदेश के बाद सेन्ट्रल जेल में कुकर्म आदि के मामले में बंद बंदी सुनील माली ने सर्वाधिक 25 वर्ष की सजा काट कर खुली हवा में साँस ले पायी| इसके साथ ही प्रदीप कुमार ने 22 वर्ष व् जयकरन ने 20 वर्ष की सजा पूरी की|
केन्द्रीय कारागार फ़तेहगढ़ से शनिवार को जनपद जालौन के सिकरी निवासी भारत पुत्र अशर्फीलाल,मैंनपुरी के खरपरी निवासी प्रदीप कुमार,उन्नाव के पीपर खेड़ा परमसुख निवासी रामलाल,कानपुर देहात कुंबरपुर निवासी जयकरन,हरदोई के बेनीपुरवा नन्हेके उर्फ़ परमेश्वरदीन,हरदोई के अनेग बेहटा निवासी श्रीकान्त,मझिला सेजना निवासी मंगल,कानपुर नगर फेथफुलगंज निवासी सुनील माली,हूलागंज निवासी जितेन्द्र उर्फ़ टिल्लू,हरदोई के दनियागंज निवासी हरिनाम,कानपुर देहात सलारपुर निवासी राकेश कुमार,इटावा पक्का तालाब निवासी सुशील उर्फ़ टीटू,उन्नाव के मिर्जापुर निवासी रामनरेश,अलोपीखेड़ा निवासी कमला को रिहा किया गया|
हरदोई निवासी ईसाई का पुरवा निवासी अमरेश उर्फ़ कल्लन, कानपुर नगर के छोटी हिरणी निवासी सुगरी पाल,जालौन के गुलौली निवासी दोषा पुत्र अकबर,कासगंज के बाजनगर निवासी महिपाल उर्फ़ कबरा,एटा के पृथ्वीपुर निवासी कंचन,कानपुर नगर के मोतीपुर निवासी नत्थू सिंह,हरदोई के मोहल्ला हैदराबाद निवासी हीरालाल,हाथीपुर निवासी पहलवान,जिला हरदोई के ग्राम छतैना निवासी रणवीर,हरदोई के ग्राम गौसापुर निवासी रामेश्वर,हरदोई के पलिया गोपालपुर निवासी मुल्ला को रिहाई दी गयी|
फर्रुखाबाद के बिल्सडी निवासी रामऔतार,हरदोई के ग्राम पुरबा मजरा बेहटा निवासी शिवकुमार उर्फ़ सल्लू,फर्रुखाबाद नवाबगंज के ग्राम तियुरी रामखिलाबन,मैनपुरी भोगपुर निवासी चन्द्रभान, कानपुर नगर तिलसहरी बुजुर्ग निवासी ब्रजकिशोर,कानपुर देहात के ग्राम गुलौली निवासी बसंत सिंह,हमीरपुर चंदथोक निवासी श्याम सिंह,उन्नाव के ग्राम शंकरपुर सराय निवासी डॉ० सियाराम को रिहाई दी गयी|

जेल के बाहर अपनों को देखकर आंखों से छलक पड़े आंसू

0

Posted on : 09-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, JAIL, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:साल दर साल बीतते चले गए। उन्होंने रिहाई की उम्मीद ही छोड़ दी थी। जुर्म संगीन था। उम्रकैद की सजा पूरी करने वास्ते काल कोठरी में कैद थे। जेल ही उनका घर व आंगन बन चुका था। परिजन धीरे-धीरे बिसरते जा रहे थे। उनकी यादें धुंधली पड़ती जा रही थीं। किस्मत ने अंगड़ाई ली। रिहाई की उम्मीद जगी। जिसके चलते शासन के आदेश के बाद आखिर शनिवार को सेन्ट्रल जेल से 35 बंदियों की रिहाई की गयी| जेल के बाहर अपनों के साथ खुली हवा में आते ही रिहा हुए बंदियों के साथ ही उनके परिजन लिपट कर रो पड़े| यह नजारा देख हर किसी की आँखे नम हो गयी|
सेन्ट्रल जेल से बीते दिन 37 बंदियों के रिहाई के फरमान की खबर थी| लेकिन शासन ने 35 बंदियों को रिहा किया| दोपहर बाद जेल से बाहर कदम रखने वाले इन बंदियों के चेहरे पर वक्त की सिलवटें साफ नजर आ रही थीं। खुले आसमान में विचरण करने की आस में ना जाने कितनी स्याह रातें जेल में गुजार चुके ये बंदी जब बाहर आए तो एक तरफ साथी कैदियों से बिछड़ने का गम था, तो दूसरी तरफ अपनों से मिलने की बेइंतहा खुशी। अपने ही तो थे वे जिन्होंने सालों तक जेल में सुख-दुख में साथ दिया।
जेल से बाहर निकलते ही आंखें अपनों को निहार रही थीं। किसी के परिजन मिले तो आंसू छलक पड़े, तो कई की आंखें अपनों को निहार रही थीं। कोई खुशी खुशी घर गया, तो कोई भरे मन से बैग उठाकर घर की तरफ रवाना हुआ। इससे पूर्व बंदियों को काफी लम्बी कागजी कार्यवाही से गुजरना पड़ा| बताया जा रहा है कि बीते वर्ष 1999 के बाद से इतनी बड़ी रिहाई नही हुई| जेलर पीके सिंह आदि रहे|
सेन्ट्रल जेल अधीक्षक एसएचएम रिजवी ने जेएनआई को बताया की रिहा किये गये बंदियों में 16 साल की सजा काट चुके बंदी थे| इसमे में आयु को शामिल किया गया था| 70 वर्ष की आयु वाले बंदी को 12 वर्ष,80 वर्ष वालों को 10 वर्ष की सजा पूरी होने पर रिहा किया गया| अभी शासन में और बंदियों की रिहाई लम्बित है| आदेश आते ही उन्हें भी रिहा किया जायेगा|

30 जोड़ों को मिला अपना जीवन साथी

0

Posted on : 09-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(राजेपुर) विकास ब्लॉक कार्यालय में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत 30 जोड़ों को अपना जीवन साथी मिल गया| जिसमे दो मुस्लिम जोड़ों का भी निकाह पढ़ा गया|
विवाह समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में विधायक सुशील शाक्य पंहुचे| उप जिलाधिकारी ईशान प्रताप सिंह ने जोड़ों को साल वितरित की उप जिलाधिकारी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने सामूहिक विवाह योजना चलकर अच्छा कदम उठाया है| इसके साथ ही 20 हजार का चेक और बर्तन आदि सामान दिया गया| सामूहिक विवाह कार्यक्रम में मुस्लिम कन्याओं का अलका पुत्री रफी तुल्ला निवासी दौलतपुर चकई रमजाना पुत्री शमसाद दौलतपुर चकई का निकाह धूमधाम से कराया गया| शमशाबाद के 12 जोड़ों का विवाह संपन्न हुआ|
राजेपुर विवाह समारोह कार्यक्रम में सारथी निवासी करनपुर प्रमोद निवासी बढ़पुर फर्रुखाबाद का शादी समारोह में फेरे चल रहे थे| कि अचानक सारथी की मां अमिता पत्नी माता दी निवासी करनपुर दत्त के पर्स में रखे 10 हजार की नकदी व दो जोड़ी कुंडल, दो नाक के फूल चोरी हो गए|
वीडियो नजमा सिद्दीकी एडीओ पचायत अजीत पाठक एडीओ प्रवीण कुमार आदि लोग मौजूद रहे|