बार अनुशासन समिति ने सादा वकालत नामों पर कसा शिंकजा

0

Posted on : 01-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:जिला बार एसोसिएशन की अनुशासन समिति ने सादा तरीके से लगाये जाने वाले वकालत नामों पर नकेल कस दी है| अनुशासन समिति ने शिकंजा कस्ते हुए जनपद के सभी पेशकारों और स्टांप वेंडरो को शख्त हिदायत दी है|
अनुशासन समिति के सदस्य डॉ० अनुपम दुबे,दीपक द्विवेदी व शिव प्रताप सिंह ने जारी किये गये पत्र में कहा है कि जनपद न्यायालय व कलेक्ट्रेट में कार्यरत सभी स्टांप वेंडर विक्रय किये जाने वाले वकालत नामों व पर्चा एडवोकेट केबल जिला बार एसोसिएशन द्वारा निर्गत या प्रदत्त होने वाला ही विक्रय करे| यदि यह नही हुआ और सादा वकालत नामा बिक्री होता मिला तो कार्यवाही होगी|
इसके साथ ही समिति ने जनपद के सभी न्यायालयों में कार्यरत पेशकारों को भी कड़ी हिदायत दी है मुकदमो आदि में पैरवी हेतु लगने वाले वकालतनामे केबल बार एसोसिएशन द्वारा ही निर्गत होने चाहिए| यदि कोई अधिवक्ता इस निर्देश का पालन ना करे तो इसकी सूचना अनुशासन समिति को दें| इसके साथ ही पेशकार अपनी मर्जी से भी सादा वकालत नामा नही लगा सकता है|

मोदी के बजट का पिटारा देखनें को टीवी से चिपके रहे लोग

0

फर्रुखाबाद:मोदी सरकार का बजट देखने के लिए लोग टीवी से चिपक गए। सदन में बजट की प्रक्रिया शुरू हुई। लोगों में सरकार के इस आखिरी बजट से खासी उम्मीदें हैं।
नरेंद्र मोदी सरकार के पांचवें बजट को लेकर लोगों में गजब की जिज्ञासा देखी गई। जैसे ही वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अपने बजट का पिटारा खोलना शुरू किया लोग काम धंधा छोड़ कर टेलीविजन से चिपक गए। बाजार में खरीदारी करने वाले लोग भी टीवी दुकान पर जाकर बजट सुनने लगे। नगर में कई जगह टेलीविजन शो रूम में तो इतनी भीड़ हो गई कि कई बार दुकानदार को लोगों को किनारे करना पड़ा। जैसे ही इनकम टैक्स में स्लैब की बात नहीं आई तो कुछ के चेहरे मुरझा गए लेकिन स्वास्थ संबंधी योजना की बात सुनकर कई लोग खिल उठे।
छोटे व्यापारियों में भी बजट को लेकर उत्सुकता देखी गई लोगों ने टेलीविजन की दुकानों को घेर लिया और बजट भाषण सुनने लगे। कई युवक भी बजट भाषण सुन रहे थे। उनके हाथ में खरीदारी के लिए थैले थे लेकिन निगाहें टेलीविजन पर चिपकी थी। कई दुकानों पर लगी टीवी पर बजट सुनने का आनन्द लेनें के लिए दुकानदार और ग्राहक सब कुछ भूलकर केबल टीवी की तरफ टकटकी लगाये नजर आये| कई नौकरीपेशा लोग भी बाजार आए थे और समय हो जाने पर वे भी बजट भाषण सुन रहे थे। उन्हें उम्मीद थी की सरकार इस चुनावी बजट में आयकर की सीमा में बड़े छूट की घोषणा करेगी जैसे जैसे वित्त मंत्री का भाषण बढ़ रहा था उनको उम्मीद भी जग रही थी। लेकिन कुछ लोग खाद एवं किसानों की बात सुनना चाह रहे थे।
सबकी अपेक्षाएं अलग थीं। टेलीविजन देखने के दौरान ही लोग बजट के लाभ हानि पर चर्चा करने लगे। कुछ लोग कह रहे थे कि हाईवे सेस ठोकने से महंगाई बढ़ेगी। पेट्रोल-डीजल पर मूल्य नियंत्रण के लिए कोई उपाय नहीं किया गया है। जबकि कुछ लोग स्वास्थ्य योजनाओं को सरकार की बड़ी उपलब्धि बता रहे थे। उनका कहना था कि इससे मध्यमवर्ग को इलाज कराने में सुविधा होगी। उनके जीवन की रक्षा हो सकेगी। जबकि नौकरीपेशा लोग बजट को निराशाजनक बता रहे थे।

——————

मोदी के बजट से विरोधी पार्टियाँ नाखुश,व्यापारी खुश

0

Posted on : 01-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा पेश किये गये बजट को लेकर विरोधी पार्टियों ने केबल चुनावी जुमला बता दिया है| विरोधी दलों नें केबल चुनाव को देखते हुए लोकलुहाबन बजट पेश करने की बात कही है| सपा,बसपा व कांग्रेस बजट को लेकर असंतुष्ट दिखे|
समाजवादी पार्टी पूरे तरह से नये बजट को किसानों और गरीबों के साथ मजाक बता रही है| सपा जिलामहासचिव मंदीप यादव,महानगर अध्यक्ष विजय यादव व प्रदेश अल्पसंख्यक सभा के सचिव सरदार तोषित प्रीत ने बजट पर तीखी प्रतिक्रिया दी| उन्होंने कहा केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा पेश किया गया बजट केबल चुनावी बजट है| चार साल सरकार रही तब इस तरह का बजट क्यों नही दिया| किसानों को 6000 हजार रूपये वार्षिक देंने की बात बजट में की गयी है लेकिन उन किसानों को मिलेगा जिनके पास 2 हेक्टेयर भूमि होगी | जिन किसानों के पास दो हेक्टेयर भूमि नही है उनका क्या| जो किराये पर भूमि लेकर खेती करतें है उन्हें क्या मिलेगा|
वही कांग्रेस के प्रदेश सचिव कौशलेन्द्र सिंह यादव,जिलाध्यक्ष मृत्युंजय शर्मा ने भी बजट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की| कांग्रेस नेताओं ने कहा कि सरकार का बजट केबल जुमला है| भाजपा केबल सत्ता बचाने के भय से लुहाबना बजट लेकर आयी है| लेकिन यह बीजेपी का यह अंतिम बजट है| बसपा जिलाध्यक्ष विजय भास्कर ने भी बजट पर हमला बोला इस बजट को गौर से देखें तो गरीबों के लिए क्या दिया गया है| गरीब किसानों के लिए बजट आया ही नही|
व्यापारियों ने बजट का किया स्वागत
नेहरु रोड पर संजय बन्धु फर्नीचर के मालिक कपिल गुप्ता व लाइसेंसी बंदूक के व्यापारी सरदार बंटी सरदार ने बताया की बजट व्यापारियों के लिए बजट बहुत अच्छा आया है| उन्होंने बताया की पांच लाख की आमदनी तक कोई टेक्स नही लगेगा इससे छोटे व्यापारी खुश है| भाजपा पहली बार इस तरह का बजट लेकर आयी है जिसमे सभी के फायदे का सौदा है| व्यापारी नेता इस्लाम चौधरी ने कहा कि बजट ठीक है| सरकार ने इनकम टेक्स में बहुत अच्छी छुट दी है| सरकार ने व्यापारी और किसान के साथ ही माध्यम वर्ग को काफी फायदा दिया है|

शोभायात्रा में आस्था के उल्लास की झलक

0

फर्रुखाबाद:माघ मेला रामनगरिया में शुक्रवार को संतों द्वारा निकाली गई शोभायात्रा में आस्था का उल्लास छाया रहा। कल्पवासियों ने पुष्पवर्षा कर संतों से कृपा बरसाने का आशीर्वाद लिया। गंगा तट पर शोभायात्रा के पहुंचने पर जय गंगे मइया व जय शिवशंकर का उद्घोष हुआ तो भागीरथी तट श्रद्धा की फुहार से नहा गया। मेला थाने के निकट पुलिस ने साधू -संतों का फुल मालाओं से स्वागत किया|
शोभायात्रा में आध्यात्मिक ऊर्जा से ओतप्रोत संतों के साथ ही कल्पवासी व श्रद्धालु भी शामिल थे। सबसे आगे धर्म ध्वजाएं लेकर संत चल रहे थे। संतों के पीछे महिलाओं और बच्चों की भीड़ थी। शोभायात्रा चार नंबर सीढ़ी से बंधा मार्ग पहुंची। बंधा मार्ग से प्रशासनिक द्वार पहुंचने पर मेला व्यवस्थापक संदीप दीक्षित व मेला कोतवाली प्रभारी द्वितीय अंगद सिंह ने स्वागत किया। हर हर गंगे- जय शिव शंकर, जय गंगे मइया तथा प्राणियों में सछ्वावना हो-विश्व का कल्याण हो के नारे भी गूंजते रहे। गंगा मइया के गीतों पर महिलाएं व बच्चे झूमे|मार्ग के दोनों ओर खड़े कल्पवासियों ने शोभायात्रा पर फूल बरसाए।
इस दौरान दंडी स्वामी बुदेस्वरा नंद महाराज,प्रकाश नन्द स्वामी,भूदेव नंद,देवा नंद,राजेश्वर नंद आदि रहे|

एसपी को टॉप 10 अपराधियों के नाम नही बता सके “मुंशी जी”

0

Posted on : 01-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:दिन भर थाने में बैठकर थाने की पुलिस और थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले अपराधियों का लेखाजोखा रखने वाले मुंशी जी पुलिस अधीक्षक को टॉप 10 अपराधियों के नाम नही बता सके| जिससे एसपी खफा दिखे| उन्होंने व्यवस्था दुरस्त करने के निर्देश दिए|
एसपी संतोष मिश्रा शुक्रवार दोपहर बाद थाना मऊदरवाजा में वार्षिक निरीक्षण करने के लिए पंहुचे| उन्होंने थानें में सलामी ली| इसके बाद उन्होंने थाने के रखे शस्त्र आदि चेक किये| इसी दौरान उन्होंने थाने में निरीक्षण के लिए रखे कुछ कारतूस उठाकर अपनी जेब में रख लिए और मुंशी हेड मोहरर ग्रीश चन्द्र उपाध्यय ने सबाल किया की उन्हें बचे हुए कारतूस गिनकर बतायें की कितने कारतूस उन्होंने उठा लिए| इसके बाद नये भवन देखे और प्रभारी निरीक्षक वेद प्रकाश पाण्डेय से कहा की जो भी पुलिस कर्मी कमरों में रह रहे है उसके बाहर अपनी नेम प्लेट लगायें|
इसके बाद क्षेत्र के सक्रिय अपराधियों की सूची के बारे में एचएम ग्रीश से पूंछा लेकिन वह नही बता सके| मुंशी प्रमोद कुमार से टॉप 10 अपराधियों के बारे में पूंछा लेकिन उन्हें जबाब नही दे सके| कम्प्यूटर आपरेटर नितिन मिश्रा के जबाब से वह संतुष्ट दिखे| एसपी ने अधिक से अधिक विवेचनों को निपटानें के निर्देश दिए| मौके पर मौजूद प्रधानों और व्यापरियों से वार्ता की और इसके बाद उनसे कानून व्यवस्था के सम्बन्ध में जानकारी ली| इसके साथ सीओ सिटी रामलखन सरोज आदि रहे|

राष्ट्रीय पक्षी का शिकार करने में एक को दबोचा,एक फरार

0

Posted on : 01-02-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(मोहम्मदाबाद)राष्ट्रीय पक्षी मोर का शिकार करने के दौरान ग्रामीणों ने एक आरोपी को ग्रामीण ने दबोच कर जमकर पीट दिया| इसके साथ ही उसे पुलिस के हबाले कर दिया| पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया|
कोतवाली क्षेत्र के ग्राम तकीपुर निवासी रमेश सिंह का दामाद नन्हे पुत्र प्रेम चन्द्र निवासी सराय प्रयाग गुरसहायगंज कन्नौज बीते एक महीने उनके घर रह रहा था| शुक्रवार को नन्हे की ससुराल के ही हवी पुत्र मंत्री को साथ लेकर नन्हे मोर का शिकार करने के लिए गया| जब वह मोर का शिकार ग्राम कुम्हौली ताजपुर भट्टे के निकट कर रहे थे| उसी दौरान सतीश कुमार ने उन्हें देख लिया| इसके बाद ग्रामीणों ने घेराबंदी करके उन्हें पकड़ लिया| लेकिन आरोपी हवी मौके से चकमा देकर फरार हो गया|
आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोपी नन्हे की जमकर खातिरदारी कर दी| इसके बाद नन्हे को पुलिस को सौप दिया| आरोपी के पास से पुलिस ने तीन मोर एक मृत एक जिन्दा बरामद किये| जिन्दा मोर के भी पैर टूटे हुए थे| जिसके बाद पुलिस ने उसका उपचार कराया|
प्रभारी निरीक्षक डीबी तिवारी ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है| घायल मोर का उपचार कराकर वन विभाग को सौप दिया जायेगा|

मध्यमवर्ग को बड़ी राहत, 5 लाख तक कोई इनकम टैक्स नहीं, समझें पूरा गणित

0

Posted on : 01-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, राष्ट्रीय, सामाजिक

नई दिल्ली: बजट 2019 में आम आदमी के लिए सबसे बड़ा ऐलान यह रहा कि 5 लाख रुपए तक की आय तक अब इनकम टैक्स नहीं लगेगा। पहले यह सीमा 2.50 लाख रुपए सालाना थी। अगर इसमें आयकर की धारा 80सी के तहत मिलने वाली छूट को जोड़ दिया जाए, तो यह दायरा बढ़कर 6.5 लाख रुपए से अधिक हो जाएगा। यानि आप बचत करते हैं तो टैक्स की यह छूट 6.50 लाख हो जाएगी। इससे तीन करोड़ मध्यमवर्गीय परिवारों को फायदा होगा।
ऐसे समझें कि कैसे उठा सकते हैं फायदा
भविष्‍य निधि, विशेष बचतों, बीमा आदि में निवेश करने वाले वे लोग, जिनकी कुल आमदनी 6.50 लाख रुपए तक है, उन्‍हें आयकर भुगतान नहीं करना होगा। इसके साथ ही दो लाख रुपए तक के आवास ऋण के ब्‍याज, शिक्षा ऋण पर ब्‍याज, राष्‍ट्रीय पेंशन योजना में योगदान, चिकित्‍सा बीमा, वरिष्‍ठ नागरिकों की चिकित्‍सा पर होने वाले खर्च आदि जैसी अतिरिक्‍त कटौतियों के साथ उच्‍च आय वाले व्‍यक्तियों को भी कोई कर नहीं देना होगा।इससे स्‍व नियोजित, लघु व्‍यवसाय, लघु व्‍यापारियों, वेतनभोगियों, पेंशनरों और वरिष्‍ठ नागरिकों सहित मध्‍यम वर्ग के करीब 3 करोड़ करदाताओं को करों में 18,500 करोड़ रुपए का लाभ मिलेगा।
दूसरा बड़ा ऐलान यह रहा कि एफडी के 40 हजार रुपए तक के ब्याज पर भी कोई टैक्स नहीं लगेगा। बैंक/डाकघर में जमा राशि पर मिलने वाले ब्‍याज पर टीडीएस सीमा को 10,000 रुपए से बढ़ाकर 40,000 रुपए कराने का प्रस्‍ताव किया गया है। इससे छोटे बचतकर्ताओं और गैर-कामकाजी लोगों को लाभ मिलेगा।वहीं, स्टैंडर्ड डिडक्शन 40 हजार से बढ़ाकर 50 हजार किया गया है। एचआरए पर टैक्स छूट 1.80 लाख से बढ़ाकर 2.40 लाख रुपए किया गया है। इससे 3 करोड़ वेतनभोगियों और पेंशनधारकों को 4,700 करोड़ रूपये का अतिरिक्‍त कर लाभ मिलेगा।बजट भाषण के दौरान जैसे ही कार्यवाहक वित्तमंत्री पीयूष गोयल ने टैक्स पेयर्स को बड़ी राहत देते हुए 5 लाख तक आय पर कोई टैक्स नहीं लगने की घोषणा की, सदन में मोदी के समर्थन में नारे लगे। सरकार की इस घोषणा का लाभ साढे तीन करोड़ टैक्स पेयर्स को मिलेगा।
आवासीय घरों को अधिक राहत
वित्‍त मंत्री ने कहा कि अपने कब्‍जे वाले दूसरे मकान के अनुमानित किराए पर लगने वाले आयकर शुल्‍क में छूट का प्रस्‍ताव किया गया है। उन्‍होंने कहा कि वर्तमान में यदि एक व्‍यक्ति के पास एक से अधिक अपना घर है, तो उसे अनुमानित किराये पर आयकर का भुगतान करना होता है।गोयल ने कहा कि अपनी नौकरियों, बच्‍चों की शिक्षा और माता-पिता की देखभाल के लिए दो स्‍थानों पर परिवार रखने के कारण मध्‍यम वर्गीय परिवारों को होने वाली कठिनाइयों को देखते हुए इस राहत की घोषणा की।
सस्ते घर के लिए योजना को एक साल और बढ़ाया
सस्‍ते आवास के अंतर्गत और अधिक आवास उपलब्‍ध उपलब्‍ध कराने के लिए आयकर अधिनियम की धारा 80-आईबीए के अंतर्गत लाभों को एक और वर्ष के लिए विस्‍तारित किया जा रहा है। यानी यह 31 मार्च 2020 तक स्‍वीकृत आवासीय परियोजना पर लागू होगा।
रीयल एस्‍टेट क्षेत्र पर विशेष ध्‍यान देते हुए वित्‍त मंत्री ने बिना बिके हुए घरों/फ्लेटों के अनुमानित किराये पर कर-शुल्‍क से छूट की अवधि को परियोजना पूर्ण होने के वर्ष के अंतिम समय के एक वर्ष से बढ़ाकर दो वर्ष तक करने का प्रस्‍ताव किया है।
दो करोड़ रुपए तक के पूंजीगत लाभ वाले करदाता को भी छूट
वित्‍त मंत्री ने 2 करोड़ रुपए तक के पूंजीगत लाभों को प्राप्‍त करने वाले एक करदाता के एक आवासीय घर से दूसरे आवासीय घर में निवेश के लिए आयकर अधिनियम की धारा 54 के अंतर्गत पूंजीगत लाभों में वृद्धि का प्रस्‍ताव किया है। हालांकि इस लाभ को जीवन में एक बार ही प्राप्‍त किया जा सकता है।
पीयूष गोयल ने ये कहा।
– कर अदायगी को आसान बनाने के लिए कदम उठाए गए हैं।
– टैक्स कलेक्शन का आंकड़ा 12 लाख करोड़ पहुंचा।
– टैक्स रिटर्न भरने वाले बढ़कर 6.85 करोड़ हुए।
– टैक्स कलेक्शन का पैसा गरीबों के विकास में खर्च हुआ।
– टैक्स कलेक्शन का पैसा गरीबों के विकास में खर्च हुआ।
– 99.94 फीसद रिटर्न बिना स्क्रूटनी के पास हुए।
– घर खरीदने पर जीएसटी घटाने पर फैसला विचाराधीन। इसके लिए काउंसिल फैसला करेगी।
यह भी पढ़ें: 26 हफ्तों की मैटरनिटी लीव, जानिए महिलाओं के लिए इस बजट में क्या है खास
GST को लेकर पीयूष गोयल ने ये कहा
– काले धन को खत्म करेगी सरकार।
– काले धन के लिए सरकार कड़े कानून लाई।
– सोर्स ऑफ इनकम घोषित करने का दबाव बनाया।
– नोटबंदी के बाद पहली बार एक करोड़ से ज्यादा टैक्स पेयर बढ़े।
– 3 लाख 38 हजार शेल कंपनियां बंद की।
-पहली बार बजट में सरकार ने अगले दस साल का विजन पेश किया
– अगले पांच साल में हम पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएंगे।
– हमारी कोशिश है कि अगले 8 सालों में हम 10 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनें।
– 40 लाख टर्नओवर तक जीएसटी नहीं।
– स्डेंडर्ड डिडक्शन 40 हजार से बढ़ाकर 50 हजार किया गया।
– बचत करने पर 6.5 लाख तक टैक्स नहीं।

बजट:महिलाओं को 8 करोड़ मुफ्त गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य

0

Posted on : 01-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय

नई दिल्ली:पीयूष गोयल ने आज संसद में अंतरिम बजट 2019-20 पेश करते हुए महिलाओं को खास तोहफे दिए हैं। मातृत्व अवकाश को 26 सप्ताह करने और गर्भवती महिलाओं के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना से महिलाएं सशक्त हो रही हैं। उन्होंने कहा कि इन पहलों से महिलाओं को वित्तीय मदद मिली है और उनका सशक्तिकरण हुआ है।
अंतरिम बजट 2019-20 में महिला सुरक्षा और सशक्तिकरण मिशन के लिए 1330 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। मिशन के लिए 2018-19 के संशोधित अनुमान की अपेक्षा 174 करोड़ रुपए की बढ़ोतरी की गई है।
उज्जवला योजना के तहत एलपीजी कनेक्शन
सरकार ने उज्ज्वला योजना के तहत 8 करोड़ निःशुल्क एलपीजी कनेक्शन देने का लक्ष्य निर्धारित किया है। 6 करोड़ कनेक्शन दिए जा चुके हैं और शेष कनेक्शन अगले वर्ष तक वितरित कर दिए जाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के 70 प्रतिशत से अधिक महिलाएं लाभांवित हैं, जिन्हें अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए रियायती दर पर और बिना प्रतिभूति के ऋण दिए जा रहे हैं।

नई पेंशन योजना की घोषणा, हर महीने मिलेंगे 3000 रुपए

0

नई दिल्ली:असंगठित क्षेत्र में कार्यरत 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को प्रतिमाह 3000 रुपए पेंशन की घोषणा बजट में की गई है। वित्त मंत्री वे बताया कि सरकार प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन नाम की पेंशन योजना लॉन्च करेगी।
वित्त मंत्री पीयूष गोयल कहा प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन नाम से मेगा पेंशन योजना के तहत 15 हजार से कम वेतन वालों के लिए न्यूनतम 3000 रुपए की पेंशन मिलेगी। उन्हें 100 रुपए प्रति महीने का अंशदान करना होगा और इतना ही योगदान सरकार की तरफ से होगा। असंगठित क्षेत्र के 10 करोड़ कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा।60 साल पूरे होने के बाद हर महीने 3000 रुपए मिलेंगे। ये पेंशन योजना इसी वित्तीय वर्ष में शुरू होगी। पेंशन योजना के लिए शुरुआत में 500 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया।
उन्होंने कहा जिनका पीएफ कटता है, उनका 6 लाख का इंश्योरेंस होगा। श्रमिक की मौत पर अब छह लाख रुपए का मुआवजा दिया।

मोदी सरकार ने खोला पिटारा,किसानों को खेती के लिए हर साल मिलेगा 6 हजार रुपया नकद

0

Posted on : 01-02-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP

नई दिल्ली:उम्मीद के मुताबिक ही सरकार ने अंतरिम बजट में ग्रामीण अर्थव्यवस्था और किसानों को तरजीह दी है। किसानों के लिए सीधी राहत की घोषणा करते हुए सरकार ने 2 हेक्टेयर जमीन वाले किसानों को सालाना 6 हजार रुपये की मदद दिए जाने का एलान किया है। किसानों को यह रकम सीधे उनके खाते में दी जाएगी।
किसान सम्मान निधि योजना का एलान करते हुए गोयल ने कहा कि एक दिसंबर 2018 से यह रकम किसानों के खाते में डाली जाएगी।
वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार की इस योजना से 12 करोड़ किसान परिवार को फायदा मिलेगा और इस योजना पर सरकार को 75 हजार करोड़ रुपये का खर्च उठाना पड़ेगा और इसका पूरा खर्च सरकार उठाएगी।वित्त मंत्री ने कहा कि यह राशि एक साल के भीतर तीन किस्तों में दी जाएगी और प्रत्येक किस्त की राशि 2,000 रुपये होगी। इस तरह की योजना तेलंगाना और ओडिशा में पहले ही शुरू की जा चुकी है।
वित्तमंत्री ने कहा कि मौजूदा वित्त वर्ष के लिए प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत 20,000 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा प्राकृतिक आपदा से प्रभावित किसानों के लिए दो फीसदी इंटरेस्ट सबवेंशन यानी ब्याज में दो फीसदी की छूट देने की घोषणा की गई है। इसके अलावा फसल ऋण का समय से भुगतान करने पर तीन फीसदी का इंटरेस्ट सबवेंशन भी प्रदान करने की घोषणा की गई है।
ग्रामीण रोजगार पर बढ़ा फोकस
मोदी सरकार ने बजट 2019-20 में रोजगार गारंटी को प्राथमिकता दी है। वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि सरकार ने अगले वित्त वर्ष के लिए मनरेगा को 60,000 करोड़ रुपये का आवंटन देने का फैसला किया है। पिछले बजट के मुकाबले यह रकम 9 फीसद अधिक है।
पिछले बजट में सरकार ने इस योजना को 55,000 करोड़ रुपये का आवंटन किया था। वहीं 2017-18 में इस योजना के लिए 48,000 करोड़ रुपये दिए गए थे। रोजगार गारंटी योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को एक साल के भीतर 100 दिनों की रोजगार गारंटी दी जाती है।