मकर संक्राति गंगा स्नान पर रहेगी कड़ी सुरक्षा

0

Posted on : 14-01-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, धार्मिक

फर्रुखाबाद:मकर संक्रांति के पावन पर्व पर उमड़ने वाली भीड़ के लिए प्रशासन चौकसी बरतने में जुटा है। मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था के लिए प्रशासन की तरफ से भारी पुलिस बल की व्यवस्था की गयी है| जो घाटों पर अपनी नजर रखेगी|
मंगलवार को मकर संक्रांति का पवित्र स्नान पर सभी घाटों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गयी है| जिसके चलते पांचाल घाट,बरगदिया घाट,कमालगंज के श्रंगीरामपुर,शमसाबाद के ढाई घाट,कंपिल के अटैना घाट पर पुलिस का कड़ा पहरा होगा| आधी रात से ही श्रधालुओं का आना प्रारंभ हो जायेगा| जिससे पुलिस को लगातार सक्रिय रहने के निर्देश दिए गये है|

गंगा पूजन कर दिलायी स्वच्छता की शपथ

0

Posted on : 14-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद:भारतीय जनता पार्टी नमामि गंगे समिति के द्वारा गंगा घाट पर पूजा-अर्चना कर स्वच्छता की शपथ दिलाई| जिसमे बड़ी संख्या में गंगा भक्तों ने भाग लिया|
नमामि गंगे के नगर संयोजक अनुभव सारस्वत के नेतृत्व में पांचाल घाट गंगा के तट पर विधिविधान से पूजन किया गया| इसके साथ ही साथ गंगा के तट पर मौजूद कल्प वासियों और गंगा भक्तो को एकत्रित कर सभी को समिति की तरफ से स्वच्छता की शपथ दिलाई गयी| इस दौरान जिला संयोजक रवि मिश्रा,जिला सहसंयोजक आचार्य प्रदीप नारायण शुक्ला,अजय दीक्षित,मोनू,मनोज,अभय नारायण,ओम प्रकाश दीक्षित आदि रहे|
वृद्धजनों को वितरित की खिचड़ी और गजक
भारत विकास परिषद पांचाल शाखा के द्वारा स्वामी विवेक नन्द की जयंती पर शहर के ग्राम नारायनपुर में स्थित वृद्ध आश्रम में खिचड़ी व कंबल वितरित किये| मुख्य अतिथि के रूप में जिला जेल अधीक्षक विजय विक्रम सिंह पंहुचे| विशिष्ट अतिथि के रूप में जेलर सेन्ट्रल जेल पीके सिंह व शाखा अध्यक्ष कन्हैया लाल जैन आदि रहे|
इस दौरान अतुल रस्तोगी,नीरज मिश्रा,अवनीश,जयवीर,राजेश,कन्हैया लाल,आलोक सक्सेना,अमर नाथ गुप्ता, अशोक गुप्ता,सुषमा गुप्ता,शिवम गुप्ता आदि रहे|

माटी के चूल्हों से रामनगरिया में रोजगार तलाश रही इंद्रा

0

Posted on : 14-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)चूल्हे की रोटी का स्वाद जिसने चख रखा हो, उसे मिट्टी की हांडी का बदल अच्छा नहीं लगता। मुझे बैलगाड़ी में बैठाकर गांव ले चलिए, घुटन होती है कारों में महल अच्छा नहीं लगता। यह कुछ लाइनें नाम चीन शायर अशोक साहिल की है| यह वेदना उस धुन की पक्की महिला को देखकर याद आ गयी जो उज्ज्बला योजना के युग में चूल्हे से दो वक्त की रोटी की जुगाड़ में लगी दिखी| उसका हौसला और उत्सुकता देखने लायक था| वह रामनगरिया में चूल्हे बिक्री करने के लिए तैयार कर रही थी|
चूल्हा और हांडी अब गुजरे जमाने की बात हो गए हैं। आधुनिक रसोई में चूल्हे के धुएं की सोंधी महक नहीं, बल्कि गैस की बू और सीटी की आवाज आती है। हालांकि मिट्टी के चूल्हे की जगह आज हाथों को गैस चूल्हा दिया गया| लेकिन जिसने चूल्हे की रोटी का स्वाद चखा होगा वह यह जानते होंगे की गैस और चूल्हे की रोटी के स्वाद में क्या फर्क है| आधुनिकता के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में भी चूल्हा का अस्तित्व लगभग बुझ गया।
लेकिन इसके बाद भी रामनगरिया मेले में आने वाले कल्पवासियों और शौक़ीन लोगों के लिए वृद्ध महिला इंद्रा को मिट्टी के चूल्हें बनाते देख रहा नही गया| उससे पूंछा की आज के युग में भी मिट्टी के चूल्हे पर रोटी कौन बनायेगा| मेरा सबाल शायद उसकी आने वाली उम्मीदों के सामने बहुत छोटा था| इंद्रा ने बताया जो चूल्हे की रोटी खाता है उसे गैस की रोटी किसी भी कीमत पर नही भाती| इंद्रा के चेहरे के भाव मै समझ गया| की इस आधुनिक युग में भी इंद्रा जैसे लोग अपने लिए एक रोचक रोजगार तलाश कर ही लेते है|
इंद्रा ने बताया की चूल्हे की कीमत 30 से 50 रूपये तक है| जो रामनगरिया में खूब बिक्री होंगे|
सहयोगी- प्रमोद द्विवेदी नगर प्रतिनिधि

बीजेपी ने प्रतिबंधित गिलासों में पिलाया समरसता का पानी

0

Posted on : 14-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, जिला प्रशासन

फर्रूखाबाद:नगर बीजेपी द्वारा समरसता भोज कार्यक्रम का आयोजन किया गया| जिसमे कार्यकर्ताओं को पंक्ति में बैठाकर खिचड़ी भोज परोसा गया|
नगर के सेक्टर बजरिया में बूथ नंबर 270 पर मुख्य अतिथि के रूप में जिलाध्यक्ष भूदेव राजपूत पंहुचे| जंहा मकर संक्रांति को “समरसता भोज कार्यक्रम” के रूप में मनाया। जिलाध्यक्ष ने कहा मकर संक्रांति भारतीय संस्कृति का यह मुख्य पर्व है यह पर्व एकता का संदेश देता है| इस बार इस पर्व को समरसता भोज कार्यक्रम के रूप में मनाया जा रहा है|
क्षेत्रीय उपाध्यक्ष सत्यपाल सिंह ने कहा यह पर्व भारतीय संस्कृति को दर्शाता है जहां पर एक साथ बैठकर सभी लोग खिचड़ी भोज का आनंद लेते हैं| हर वर्ग व हर समाज में भेदभाव खत्म होकर एकता का स्वरूप हो इस नीति के साथ केंद्र एवं प्रदेश की सरकारें कार्य कर रही हैं। इस दौरान भाजपा नगर अध्यक्ष हिमांशु गुप्ता,नगर महामंत्री नरेंद्र राठौर ,नगर उपाध्यक्ष रामकिशोर सैनी, संजू शर्मा, सरल त्रिवेदी, बूथ अध्यक्ष संजीव, महिला मोर्चा मीडिया प्रभारी मदीना बेगम, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष बबिता पाठक,राजकुमार वर्मा,संजीव कुमार गुप्ता, विकास गुप्ता,शिवांग रस्तोगी, नगर मीडिया प्रभारी विकास पाण्डेय आदि लोग मौजूद रहे|
प्रतिबंधित गिलासों में परोसा समरसता का पानी
योगी सरकार के फरमान के बाद प्रदेश में कम से कम कागजों में बंद हुए प्रतिबंधित गिलासों का प्रयोग बीजेपी के समरसता भोज कार्यक्रम में किया गया| इसमे तब ताज्जुब हुआ जब उन गिलासों का प्रयोग जिन्हें सरकार आम जनता को बंद करने की नसीहत दे रही है| उन्ही की पार्टी के लोग अपनी ही सरकार के आदेशों को ताक पर रखे है| जिलाध्यक्ष,क्षेत्रीय उपाध्यक्ष सहित अन्य पदाधिकारियों को उन्ही प्रतिबंधित गिलासों में पानी परोसा गया जो कागजों में जिला प्र्शासन बंद दिखा रहा है| मजे की बात है कि जिला कमेटी ने इस पर कोई आपत्ति नही की|

पूर्व विधायक के पुत्र के खिलाफ प्रधान ने दी तहरीर

0

Posted on : 14-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(राजेपुर) अन्ना पशुओं को सरकारी भूमि पर तारबंदी कर बंद करने से आक्रोशित हुए पूर्व विधायक के पुत्र ने ग्राम प्रधान के मना करने के बाद भी जानवरों को भगा दिया इसके साथ ही साथ ग्राम प्रधान को धमकी दी गयी|
थाना क्षेत्र के ग्राम महमदपुर गढिया के प्रधान जवाहर सिंह ने पुलिस को दी गयी तहरीर में कहा है कि शासन की मंशा के अनुरूप ही पुलिस व लेखपाल की मदद से 50 गौवंशों को ग्राम सभा की भूमि पर तारबंदी कर बंद कर दिया था| जिस पर पहले पूर्व विधायक महरम सिंह के पुत्र ग्राम गाँधी निवासी अन्नू सिंह अपना कब्जा किये गये थे| गौवंशों के उस भूमि पर बंद करने से अन्नू खफा हो गये| उन्होंने जबरन तकरीबन 10 गौवंश भगा दिये| मना करने पर धमकी दी|
घटना के सम्बन्ध में पुलिस को तहरीर दी गयी है| पुलिस जाँच कर रही है|

सोशल मीडिया पर पुलिस की पहरेदारी करेंगे डिजिटल वॉलंटियर

0

Posted on : 14-01-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:(राजेपुर)पुलिस सोशल मीडिया के जरिए अफवाह फैलाने वालों पर नकेल कसने के लिए लंबी चौड़ी फौज डिजिटल वॉलंटियर की तैयार कर ली गयी है| पुलिस का मानना है कि सोशल मीडिया पर झूठी खबरें फैलाकर कुछ लोग हिंसा भड़का देते हैं| इन दिनों सोशल नेटवर्क पर फेक वीडियो और फर्जी तस्वीरों की बाढ़ सी आ गई है| लिहाजा इससे निपटने के लिए पुलिस ने डिजिटल वॉलंटियर्स के साथ बैठक की| जिन्हें उनकी जिम्मेदारी याद दिलायी गयी|
डीजीपी के निर्देश पर थाना परिसर में कार्यवाहक प्रभारी थानाध्यक्ष ने क्षेत्र के लोगों और प्रधानों के साथ बैठक की| जिसमे बताया गया की पुलिस की सहायता के लिए डिजिटल वॉलंटियर्स तैयार किये है| जो थाने के व्हाट्स अप ग्रुप में जुड़े है| बैठक में बताया गया की यदि आकस्मिक घटना होने पर डिजिटल वॉलंटियर्स डायल 100 को फोन पर सूचना देंगे| क्षेत्र में किसी प्रकार की अफवाह फैलने पर उसकी सूचना पुलिस को देंगे| अबैध शराब,गांजा,स्मैक आदि के कारोबार के सम्बन्ध में पुलिस को जानकारी देंगे| सोशल मीडिया पर अफवाह फ़ैलाने पर उसका खंडन भी करेंगे|
कुल मिलाकर डीजीपी कार्यालय से डिजिटल वॉलंटियर्स के लिए 11 बिंदुओं का एक पत्र आया| जिसको बैठक में साझा कर सभी को पूरी तरह से समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी का निर्वाहन करने की सलाह दी गयी|

अनियंत्रित मैजिक पलटने से शिक्षक सहित एक दर्जन छात्र घायल

0

Posted on : 14-01-2019 | By : JNI-Desk | In : ACCIDENT, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:(कायमगंज) विधालय का अवकाश होने के बाद छात्रों को छोड़ने जा रही मैजिक अचानक स्टेरिंग फेल होने से खड्ड में पलट गयी| शिक्षक व चालक सहित एक दर्जन छात्र घायल हो गये| उन्हें सीएचसी भेजा गया| वही गम्भीर रूप से जख्मी छात्रों को लोहिया अस्पताल रिफर कर दिया गया|
कोतवाली क्षेत्र के कम्पिल मार्ग पर ग्राम घसिया चिलौली स्थित आरएस मेमोरियल स्कूल की मैजिक को छुट्टी होने के बाद चालक सुभाष अलीगंज की तरफ बच्चों को छोड़ने जा रहा था| उसी दौरान ग्राम ढमडेरा के निकट अचानक अनियंत्रित होकर मैजिक खड्ड में पलट गयी| जिससे उससे हड़कम्प मच गया| घटना की जानकारी होने पर मौके पर भीड़ लग गयी| मैजिक पलटने से मैजिक का चालक सुभाष व शिक्षक रामवीर श्रीवास्तव सहित एक दर्जन छात्र जख्मी हो गये| घटना के बाद ग्रामीणों की मदद से सभी घायलों को सीएचसी भेजा गया| घटना की सूचना मिलने पर एसपी संतोष मिश्रा व अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन सिंह,एसडीएम कायमगंज सीएचसी पंहुचे| गम्भीर रूप से जख्मी चार छात्रों को लोहिया अस्पताल रिफर कर दिया गया| एसपी ने बताया की जाँच करायी जा रही है|

मकर संक्रांति 14 से 15 जनवरी क्यों हुई,1700 साल पहले दिसंबर में मनाई जाती थी

0

Posted on : 14-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, धार्मिक, सामाजिक

नई दिल्ली:बीते कुछ वर्षों से मकर संक्रांति को लेकर काफी ऊहापोह की स्थिति बन रही है। मकर संक्रांति का त्योहार पहले 14 जनवरी को मनाया जाता था। अब पिछले कुछ वर्षों से मकर संक्रांति की तिथि (14 जनवरी या 15 जनवरी) को लेकर असमंजस की स्थिति बन रही है। कुछ लोग पुरानी मान्यताओं या कहें तिथि के हिसाब से 14 जनवरी को मकर संक्रांति मना रहे हैं, तो कुछ लोग 15 जनवरी को ये त्योहार मना रहे हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि कौन सी तिथि सही है और क्यों?
मकर संक्रांति के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। राशि बदलने के साथ ही सूर्य की दिशा भी बदल जाति है और ये दक्षिणायन से उत्तरायण में प्रवेश करता है। हिंदू धर्म में मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन से ही खरमास खत्म हो जाता है और शुभ कार्यों की शुरूआत हो जाती है। इसी के उपलक्ष्य में मकर संक्रांति का त्योहार मनाया जाता है। माना जाता है कि सूर्य के उत्तरायण काल ही शुभ कार्य के जाते हैं। सूर्य जब मकर, कुंभ, वृष, मीन, मेष और मिथुन राशि में रहता है, तब उसे उत्तरायण कहा जाता है। इसके अलावा सूर्य जब सिंह, कन्या, कर्क, तुला, वृश्चिक और धनु राशि में रहता है, तब उसे दक्षिणायन कहते हैं। इस वजह से इसका राशियों पर भी गहरा असर पड़ता है। इस वर्ष राशियों में ये परिवर्तन 14 जनवरी की देर रात हो रहा है, इसलिए इस बार मकर संक्रांति का पर्व 15 जनवरी को मनाया जाएगा। इसी वजह से प्रयाग में भी पहला शाही स्नान 15 जनवरी को होगा।
मकर संक्रांति का वैज्ञानिक आधार
इस पर्व का आध्यात्मिक महत्व तो है ही, साथ ही इसका वैज्ञानिक आधार भी है। भौति वैज्ञानिक प्रदीप जोशी के अनुसार हिंदू कैलेंडर विज्ञान पर आधारित है। इसे अंतरिक्ष में मौजूद ग्रह, नक्षत्र, सूर्य और चंद्रमा की स्थिति या कहें चाल के आधार पर तैयार किया जाता है। आध्यात्मिक गुरुओं के अनुसार हिंदू पंचांग में कैलेंडर दो प्रकार के होते हैं। एक सूर्य आधारित और दूसरा चंद्र आधारित। बाकी सभी पंचांग आधारित पर्व चंद्र आधारित कैलेंडर के अनुसार मनाए जाते हैं। इसलिए उनका अंग्रेजी कैलेंडर से उनकी तिथि निर्धारित नहीं होती है। मकर संक्रांति सूर्य आधारित कैलेंडर से मनाई जाति है। यही वजह है कि इसकी तिथि लगभग तय रहती है।
मकर संक्रांति पर होता है ये अनोखा वैज्ञानिक संयोग
मकर संक्रांति पर एक अनोखा वैज्ञानिक संयोग भी होता है, जो पूरे वर्ष और कभी नहीं होता। मकर संक्रांति पर दिन और रात लगभग बराबर होते हैं। इसके बाद से ही दिन बड़े और रातें छोटी होने लगती हैं। कुछ लोग इसे बसंत के आगमन के तौर पर भी देखते हैं, जिसका मतलब होता है फसलों की कटाई और पेड़-पौधों के पल्लवित होने की शुरूआत। इसलिए देश के अलग-अलग राज्यों में इस त्योहार को विभिन्न नामों से मनाया जाता है।
2030 तक बरकरार रहेगा ये असमंजस
मकर संक्रांति की तिथि को लेकर असमंजस 2015 से शुरू हुआ है। पिछले तीन साल से मकर संक्रांति लगातार 15 जनवरी को मनाई जा रही है। इसकी वजह भी सूर्य आधारित कैलेंडर ही है। इसमें लीप ईयर का भी अहम योगदान है। हर साल सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने का समय थोड़ा-थोड़ा बढ़ जाता है। मकर संक्रांति को लेकर 14-15 जनवरी का असमंजस वर्ष 2030 तक बरकरार रहेगा। इसके बाद तीन साल 15 जनवरी और एक साल 14 जनवरी को मकर संक्रांति मनाई जाएगी। फिर मकर संक्रांति की स्थाई तिथि 15 जनवरी हो जाएगी। इसी तरह कई सालों बाद मकर संक्रांति की तिथि 16 जनवरी और फिर एक-एक दिन आगे बढ़ती रहेगी।
22 दिसंबर को भी मनाई जाती थी मकर संक्रांति
वैज्ञानिकों के अनुसार पृथ्वी अपनी धुरी पर घूमते हुए 72 से 90 सालों में एक अंश पीछे रह जाती है। इससे सूर्य मकर राशि में एक दिन की देरी से प्रवेश करता है। यही वजह है कि करीब 1700 साल पहले मकर संक्रांति 22 दिसंबर को मनाई जाती थी। मकर संक्रांति का समय 80 से 100 सालों में एक दिन आगे बढ़ जाता है। सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने में होने वाली इस देरी की वजह से अब ये त्योहार दिसंबर की जगह जनवरी में मनाया जाने लगा है। 19वीं शताब्दी में भी मकर संक्रांति की तिथि को लेकर ऐसी ही असमंजस की स्थिति बनी थी। तब 13 जनवरी और 14 जनवरी को मकर संक्रांति की तिथि को लेकर असमंजस रहता था।

कुंभ में ऐतिहासिक होगा प्रवासी भारतीय दिवस:डॉ० रजनी सरीन

0

Posted on : 14-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP

फर्रुखाबाद:सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ इस बार कुम्भ मेले को भव्यता प्रदान करने में पूरी तरह से लग गये है| केंद्र से भी मेले को लेकर पीएम मोदी का निर्देश मिल रहा है| इस कुम्भ में इस बार प्रवासी भारतीय दिवस इस बार ऐतिहासिक रूप में मनाया जायेगा|
नगर के लोहाई रोड स्थित अपने आवास पर वार्ता के दौरान बीजेपी विदेश सम्पर्क विभाग की प्रमुख डॉ० रंजनी सरीन ने बताया की इस बार 70 देशों के लोग कुम्भ मेले में एकत्रित होंगे| पूरे विश्व में मेले को लेकर उत्साह है| इस बार 9 जनवरी को मनाया जाने वाला प्रवासी भारतीय दिवस कुम्भ मेले के चलते 9 जनवरी की जगह पर 21,22 व 23 जनवरी को काशी में होगा| जिसमे 21 जनवरी को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज,22 जनवरी को पीएम मोदी व 23 जनवरी को राष्टपति रामनाथ कोबिद शामिल होंगे|
इसके साथ ही साथ वहाँ खादी के परिधानों का फैशन शो होगा| जिससे खादी उद्योग को बढ़ावा मिलेगा| इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ० भूदेव राजपूत,संजय गर्ग,उदय वाथम आदि रहे|

सपा-बसपा गठबंधन बीजेपी की नजर में बेमेल विवाह

0

Posted on : 14-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, Politics-BSP, धार्मिक

फर्रुखाबाद:आगामी लोक सभा चुनाव में मोदी को पटखनी देंने के लिये हुए सपा-बसपा गठबंधन को बीजेपी ने बेमेल करार दे दिया है| बीजेपी का कहना है कि बसपा और सपा अपना भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने के लिए मजबूरी का गठबंधन कर रही है| इससे बीजेपी पर कोई फर्क नही पड़ेगा|
नगर आईटीआई रेलवे रोड स्थित अपने आवास पर बीजेपी सांसद मुकेश राजपूत ने प्रेस वार्ता का आयोजन किया| जिसमे उन्होंने बताया कि सपा सरकार में परिवारवाद और गुंडागर्दी हाबी रही| बसपा की सरकार में भी भ्रष्टाचार खूब हुआ| दोनों पार्टियों ने जनता का भला नही किया| बसपा-सपा को अब जनता जबाब देने जा रही है| अपना अस्तिस्त्व बचाने के लिए ही यह गठबंधन विपरीत विचारधारा का है| उन्होंने गठबंधन को बेमेल विवाह बताया|
सांसद ने कहा की भाजपा के सामने सारे गठबंधन फेल है| विरोधी दल जंग लगा हुआ लोहा है जबकि नरेंद्र मोदी पारस मणि है| उन्होंने वह किया जो कांग्रेस 60 वर्ष में नही कर पायी| सवर्णों को आरक्षण ऐतिहासिक फैसला है| अभी तक सपा-बसपा भी इस आरक्षण को आन्तरिक रूप से रोंकती रही| जो मोदी सरकार में नोटबंदी,सर्जिकल स्ट्राइक आदि बड़े फैसले लिए यह यदि यह फैसले कांग्रेस लेती तो देश बर्वाद हो जाता| बीजेपी सरकार ने किसानों के लिए यूरिया के दाम 35 रूपये कम कर दिये| उन्होंने साफ़ कहा कि सपा व बसपा गठबंधन होने से जनपद की बीजेपी पर कोई फर्क नही पड़ेगा| पूर्व में बीजेपी 1 लाख 51 हजार से जीती थी| इस चुनाव में 2 लाख 51 हजार मतों से बीजेपी विजय हासिल करेगी|
शिवसेना जिला प्रमुख के पक्ष में खड़े दिखे सांसद
शिवसेना प्रमुख आनन्द विक्रम सिंह व उनके भाईयों पर गुंडा एक्ट की कार्यवाही किये जाने के विषय में सांसद ने कहा की यदि कोई गलत काम करता है तो बीजेपी नेताओं पर भी मुकदमा दर्ज कराया जाता है| लेकिन यदि शिव सेना जिला प्रमुख पर गुंडा एक्ट की कार्यवाही फर्जी है तो इस सम्बन्ध में अधिकारीयों से बात कर सम्भव मदद की जायेगी|
इस दौरान नगर अध्यक्ष हिमांशु गुप्ता,जिला कोषाध्यक्ष संजीब गुप्ता,रमेश राजपूत आदि रहे|