Featured Posts

सियासी आकाओं की परिक्रमा में जुटे टिकट के दावेदार! फर्रुखाबाद:लोक सभा की चुनावी आहट शुरू होने के साथ ही सियासी सरगर्मियां बढ़ गई है। जिले का सांसद बनने का सपना देखने वाले लोग अपने राजनैतिक आकाओं की परिक्रमा करने में जुट गये है। वैसे तो सपा,भाजपा,बीएसपी आदि के बैनर तले कई लोग चुनाव लड़ने के इच्छुक है मगर सबसे बड़ी फेहरिस्त...

Read more

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

गौवंश छोड़ने गये लेखपाल,सिक्रेटरी व प्रधान को बनाया बंधक

0

Posted on : 13-01-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:(मेरापुर) शासन के आदेश पर गौवंशों को छोड़ने गये ग्राम प्रधान लेखपाल,सिक्रेटरी को ग्रामीणों ने बंधक बनाया| तकरीबन तीन घंटे के बाद उन्हें छोड़ा| मौके [पर भीड़ लगी रही|
शासनके आदेश के बाद से जिलाधिकारी मोनिका रानी ने जिले के अफसरों व कर्मियों को काफी सतर्क कर दिया है| सभी को आवारा (अन्ना पशुओं)को पकड़बाने के कड़े निर्देश दिए गये है| इसी आदेश के अनुपालन में थाना नवाबगंज के ग्राम कनासी में सिक्रेटरी गिरंदसिह वर्मा,लेखपाल सुशील कुमार त्रिपाठी, प्रधान शेरसिह अवारा गौवंश छोडने आये| तभी ग्रामीणों ने उन्हें आवारा जानवरों सहित बंधक बना लिया| तकरीबन तीन घंटे के बाद उन्हें छोड़ा गया| ग्रामीणो ने आरोप गौचारा की जगह बिना चिन्हित किये लेखपाल,सिक्रेटरी, प्रधान गौवंश छोडने आये।
नवाबगंज प्रभारी निरीक्षक रविंद्र नाथ यादव ने बताया की उन्हें जानवरों को बंद करने की जानकारी है लेकिन कर्मचारियों को बंधक बनाने के संबंन्ध में जानकारी नहीं मिली है| जानकारी मिलने पर कार्यवाही की जायेगी|

रोडवेज बस-ट्रक की भिड़ंत में मां-बेटी समेत छह की मौत, 45 लोग घायल

0

Posted on : 13-01-2019 | By : JNI-Desk | In : ACCIDENT, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फतेहपुर:कल्यानपुर थाना क्षेत्र में हाईवे पर मोहार गांव के पास रविवार पूर्वाह्न ट्रक व बस की भिड़ंत में मां-बेटी समेत छह लोगों की मौत हो गई, वहीं करीब 45 लोग जख्मी हुए हैं। हादसे में ट्रक व बस पलटकर क्षतिग्रस्त हो गए और चीख पुकार मच गई। आसपास के गांवों से दौड़े लोगों ने बचाव कार्य शुरू किया है। कुछ देर में पुलिस भी पहुंच गई और कई सीएचसी से एंबुलेंस बुलाकर घायलों को अस्पताल भिजवाया। पुलिस व स्थानीय लोग राहत व बचाव कार्य में जुटे हुए हैं।
राजमार्ग पर कल्यानपुर थानांतर्गत मोहार गांव के सामने रविवार की सुबह 11 बजे पहिया बस्र्ट होने से मौरंग लदा ट्रक अनियंत्रित हो गया और डिवाइडर क्रास करते हुए सामने से आ रही फतेहपुर रोडवेज बस से भिड़ं गया। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि दोनों वाहन पलटकर क्षतिग्रस्त हो गए। इसी बीच कानपुर से कुंभमेला इलाहाबाद जा रही एक टूरिस्ट जीप भी चपेट में आ गई। हादसे में फतेहपुर शहर के मसवानी मोहल्ला निवासी शिखा त्रिपाठी (27) पत्नी विमलेश त्रिपाठी व उनकी बेटी आशी (5) वर्ष समेत छह लोगों की मौत हुई है। वहीं करीब 45 लोग जख्मी हुए हैं।बस सवार यात्रियों में चीख पुकार मच गई।
हादसा देखकर आसपास के गांवों से लोग बचाव के लिए दौड़ पड़े। घटना की जानकारी होते ही जिला प्रशासन भी हरकत में आ गया और पुलिस टीम पहुंच गई। सीएमओ ने खजुहा, देवमई, गोपालगंज और बिंदकी सेंटर की 108 एंबुलेस व हसवा, बहुआ व भिटौरा पीएचसी से डाक्टरों की टीम भेजी। जिला अस्पताल से एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम एंबुलेंस भेजी गई। घायलों को बिंदकी व गोपालगंज सीएचसी और जिला अस्पताल पहुंचाया गया। गंभीर घायलों को घटना स्थल से कानपुर के लिए भेजा जा रहा है। डीएम व एसपी ने जिला अस्पताल में अलर्ट जारी कर दिया। छुट्टी पर गए डाक्टरों को तुरंत अस्पताल बुलाया गया है।
हादसे में इनकी हुई मौत
1-शिखा पत्नी विमलेश त्रिपाठी निवासी पक्का तालाब मसवानी फतेहपुर ।
2-आशी पुत्री विमलेश त्रिपाठी।
3- अंकित तिवारी पुत्र उदयशंकर निवासी गंगापुर कालोनी नौबस्ता थाना यशोदानगर कानपुर ।
4-फैय्याज अहमद निवासी धनियापुर थाना बिल्हौर कानपुर।
5- वृंदावनलाल विश्वकर्मा पुत्र रामवचन निवासी देवपार वीरसिंहपुर थाना मदनपुर देवरिया ।
6-रतीराम पुत्र नन्हा निवासी पुराना शिवली रोड कल्याणपुर कानपुर।
ये हुए गंभीर घायल
1-रोडवेज बस चालक रावेंद्र मिश्रा निवासी आबूनगर फतेहपुर।
2- बस परिचालक जयकरन निवासी तांबेश्वरपुरम कालोनी फतेहपुर ।
3-रामचंद्र निवासी पथरावां बछरावां रायबरेली ।
4-विकास सोनी आढूपुर हथगाम, फतेहपुर ।
5-सुशील पटेल निवासी रम्मतपुरवा तालेग्राम कन्नौज ।
6-मुन्नालाल निवासी अढ़ैया खखरेरू फतेहपुर ।
7-वीरेंद्र कुमार निवासी करारी कौशांबी ।
8-सुनील कुमार निवासी करारी कौशांबी ।
9-काविश आलम निवासी करारी, कौशांबी ।
10-अंजुम फातिमा पत्नी सोहराब निवासी सिभुई सिराथू, कौशांबी ।
11-कंचल निवासी बेचू का पुरवा सुल्तानपुर घोष फतेहपुर ।
12-साहिल सिंह -सुल्ताननगर समशहां मलवां ।
13-आयुष्मान सिंह निवासी हंडिया प्रयागराज ।
14-अभय दुबे निवासी बर्रा कानपुर ।
15-धीरज द्विवेदी निवासी सरैला हुसेनगंज फतेहपुर ।
16-संजीव कुमार निवासी मकदूमपुर जरार हुसेनगंज फतेहपुर ।
17-लक्ष्मी यादव निवासी गजफ्फरपुर कानपुर ।
18-रवींद्र प्रसाद यादव निवासी कैंट कानपुर ।
19-मुन्ना निवासी खखरेडू फतेहपुर ।
20-आयुष निवासी महुआखेड़ा बिंदकी फतेहपुर ।
21-संगीता पत्नी विजयपाल निवासी बरेठा बिंदकी फतेहपुर।
22-शाहजहां पत्नी नवी अहमद निवासी खैरई खागा फतेहपुर ।
23-चंद्रमोहन सिंह निवासी कुंडा प्रतापगढ़ ।
24-दुर्गाप्रसाद निवासी कुसुंभी असोथर फतेहपुर ।
25-मइयादीन निवासी सुसवन धरमपुर फतेहपुर ।
26-रीतेश त्रिपाठी निवासी पक्का तालाब मसवानी फतेहपुर ।
27-रोहिंद्री मिश्रा निवासी अज्ञात ।
28-दो वर्षीय रोहिंद्री मिश्रा पता अज्ञात ।
29-संगीता पत्नी सुशील निवासी भावनाखेड़ा फतेहपुर ।
30-घायल पुरुष की पहचान नहीं, कानपुर रेफर ।
31-बृजनंदन निवासी बरेठर बुजुर्ग बिंदकी फतेहपुर ।
32-अभिषेक पुत्र विजयपाल निवासी बरेठर बुजुर्ग फतेहपुर।
33-बीरेंद्र कुमार निवासी फतेहपुर ।
34-हृदय साहू निवासी खाड़ेपुर नौबस्ता कानपुर ।
35-अवनिशा पुत्र विमलेश निवासी फतेहपुर ।
36-जयकरन सिंह निवासी कांधी मलवां फतेहपुर ।
37- कबीर पता अज्ञात।
जीप सवार घायल हुए लोग
1-किशनपाल मारवाड़ी
2-अजमेर मारवाड़ी
3-सोजीराम मारवाड़ी
4-रणजीत
5-प्रभूराम
6-कान्हाराम
7-अमरचंद्र
8-हृदयपाल
सभी निवासी किशनगढ़ जिला अजमेर प्रांत राजस्थान ।

कांग्रेस का बड़ा एलान,यूपी की सभी 80 सीटों पर अकेले लड़ेंगी चुनाव

0

Posted on : 13-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-CONG., राष्ट्रीय

लखनऊ:उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी व समाजवादी पार्टी के गठबंधन को लेकर कांग्रेस जरा भी परेशान या विचलित नहीं है। कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश की सभी 80 सीटों पर लोकसभा चुनाव लडऩे का मन बना लिया है।
कांग्रेस महासचिव व प्रदेश प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने पत्रकार वार्ता में सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ने की बात कहते हुए छोटे दलों के लिये रास्ते खुले होने का जिक्र भी किया। हम उत्तर प्रदेश की सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। हमारी तैयारी पूरी है। नतीजे चौंकाने वाले होंगे। रालोद या शिवपाल से बातचीत होने के सवाल पर मौन साधा। चुनाव के बाद प्रधानमंत्री कौन होगा सवाल को भी टाल गए। उन्होंने कहा कि भाजपा को राष्ट्रीय स्तर पर हराने की ताकत केवल कांग्रेस में है। भाजपा को हराने वाले दल कांग्रेस के साथ आये। हमनर गठबंधन के लिए सब का इंतजार किया। सपा बसपा गठबंधन पर चुप्पी साधी। गुलाम नबी आजाद ने कांग्रेस शासन में हुए कार्यों भी गिनाया।
लखनऊ में उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के दफ्तर में उत्तर प्रदेश के प्रभारी तथा राज्यसभा सदस्य गुलाम नबी आजाद ने कहा कि इस गठबंधन से हमारे ऊपर कोई फर्क नहीं पड़ रहा है। उत्तर प्रदेश में तो हमने 80 सीट पर चुनाव लडऩे की तैयारी भी शुरू कर दी है। देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने देश को एक बनाया था। कांग्रेस भी उसी राह पर चल रही है। हम सकारात्मक भाव से कोई भी काम करते हैं। अगर कोई हमारे साथ आता है तो हम स्वागत करते हैं, लेकिन कोई दबाव बनाने के प्रयास में रहता है तो हमारे ऊपर कोई फर्क नहीं पड़ता है।
गुलाब नबी आजाद ने कहा कि संसद का सत्र पूरा होने के बाद लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू हो गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सवाल उठाया कि 70 साल में कांग्रेस ने कुछ नहीं किया। कांग्रेस ने देश को आजाद कराने की जिम्मेदारी ली। दर्जनों नेता, किसान, मजदूर और महिलाओं ने देश की आजादी में योगदान दिया। आजादी के बाद पहले प्रधानमंत्री ने उस देश को एक भारत बनाया, जो सैंकड़ों टुकड़ों में बंटा हुआ था। ऐसा भारत बनाया गया, जिसमें ऐसी व्यवस्था दी कि नागरिकों को धार्मिक, राजनीतिक न्याय मिले, विचार रखने का अवसर मिले। हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई को अपने धर्म की पूजा-पाठ करने की पूरी आजादी मिले।
उन्होंने कहा कि भाजपा चुनाव में किया गया अपना एक भी वादा पूरा नहीं कर पाई। पांच साल में 10 करोड़ नौकरियां देने का वादा किया लेकिन नोटबंदी व जीएसटी के कारण लाखों लोग बेरोजगार हो गए। मध्यम व छोटे उद्योग बुरी तरह प्रभावित हुए। काला धन लाकर लोगों को 15-15 लाख रुपये देने का वादा किया था जो कि अभी तक पूरा नहीं किया। वहीं, ये पूछने पर कि सपा-बसपा गठबंधन ने अमेठी व रायबरेली में कोई प्रत्याशी न खड़ा करने का फैसला किया है तो क्या कांग्रेस जहां से मायावती व अखिलेश यादव चुनाव लड़ेंगे वहां अपने प्रत्याशी उतारेगी… पर आजाद ने जवाब दिया कि अभी ये ही तय नहीं है कि अखिलेश व मायावती चुनाव लड़ेंगे या नहीं। जब होगा देखा जाएगा।गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने अपना काम शुरू करने के पहले ही दिन कहा था कि सत्तर साल से शासन करने वाली कांग्रेस ने देश के लिए कुछ भी नहीं किया। जो पार्टी अपने स्वार्थ के लिए समाज को न बाटें, पार्टी वही होती है जो अपना नुकसान झेल ले, लेकिन देश को नुकसान न हो। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा की लड़ाई व्यक्तिगत नहीं है, सिद्धांतों की लड़ाई है। भारत को एक रखने की लड़ाई है। भारत को मजबूत करने और सभी को एक साथ रखने की लड़ाई है। यह पूरी दुनिया जानती है कि लोकसभा की लड़ाई भाजपा और कांग्रेस के बीच है। इसके बाद भी हम उन दलों का समर्थन जरूर लेंगे, जो हमारी मदद करेंगे। हम उन तमाम दलों का सम्मान करेंगे जो इसमें आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में तो बसपा व सपा ने चैप्टर ही बंद कर दिया है। गठबंधन फाइनल करने से पहले कम से कम हमसे बात तो कर लेते।
गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में अब तो कांग्रेस पार्टी पूरी शक्ति के साथ अपनी विचारधारा जो आजादी से पहले से अब तक पालन करते रहे हैं, उसका पालन करते हुए आगामी चुनाव लोकसभा में डटकर लड़ेंगे और भाजपा को हराएंगे। उन्होंने कहा कि यूपी में सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। जो दल इस लड़ाई में साथ देंगे हम उनका समर्थन लेंगे। अब तो लोकसभा की लड़ाई भाजपा कांग्रेस के बीच है। पार्टी राहुल गांधी के नेतृत्व में पूरी ताकत के साथ लोकसभा चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि हम लोग वोट बटोरने की खातिर लोगों को आपस में न तो लड़ते हैं और न ही बांटते हैं। हम तो अपने काम पर वोट पा जाते हैं। हम भाजपा और मोदी की तरह वदा खिलाफ नहीं है। राहुल गांधी ने हर जगह पर किसानों की आवाज को बुलंद किया है।
गुलाम नबी आजाद ने भाजपा पर भी जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि देश में सबसे बड़े घोटाले मौजूदा केंद्र सरकार के समय में हुए है। इसके बाद भी यह लोग मानने तो तैयार नहीं है। यह तो वही मिसाल हो गई कि चोरी तो चोरी, ऊपर से सीनाजोरी। उन्होंने कहा कि भाजपा को राष्ट्रहित नहीं अपनी सरकार बनाने और पार्टी हित की चिंता है। इसके विपरीत कांग्रेस ने कई बार पार्टी का नुकसान कर देशहित को ऊपर रखा। देश हित में हम तो कई बार सदन में दो कदम पीछे भी हटे हैं। कांग्रेस को ओबीसी के लिए 90 के दशक में आरक्षण बिल लाई। पंडित नेहरू जी की सरकार ने दलितों के लिए आरक्षण पर काम किया। देश में दलित के साथ सबसे गरीब और कमजोर की लड़ाई सदैव कांग्रेस से ही लड़ी है। कांग्रेस ने तो देश को आजाद कराने की लंबी लड़ाई लड़ी है। गांधी जी ने आजादी से पहले लंबी लड़ाई लड़ी। भारत का निर्माण गांधी जी और नेहरू जी के नेतृत्व में किया गया। आजादी के बाद के बाद पहले पीएम व कांग्रेस सरकार ने टुकड़ों में बंटे देश को भारत बनाया।
बैठक के फैसले
बैठक में लिए गए फैसले पर गौर करें तो यूपी में अब पार्टी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर दांव लगा रही है। प्रदेश में राहुल गांधी की 10 से ज्यादा रैलियां होगीं, जिसमें किसान, युवा और महिलाओं का मुद्दा अहम होगा। बताया जा रहा है कि राहुल की रैली यूपी में फरवरी के पहले हफ्ते से शुरू होगी। जिसका आगाज़ हापुड़ या लखनऊ से किये जाने की सम्भावना है। बैठक में मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के चुनाव नतीजों का जिक्र किया गया। पार्टी का मानना है लोकसभा चुनाव की अधिसूचना आने से पहले राहुल गांधी फरवरी महीने में रैलियां करके पार्टी के पक्ष में माहौल बना सकते हैं, ताकि चुनाव आने तक उत्तर प्रदेश में कांग्रेस कार्यकर्ता पार्टी के लिए मजबूती से काम करें।
उत्तरप्रदेश में सपा-बसपा ने गठबंधन करते हुए लोकसभा की 38-38 सीटों पर लडऩे का फैसला किया है, वहीं कांग्रेस को एक तरह से किनारे करते हुए महज दो सीटें दी हैं। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने दुबई से प्रतिक्रिया दी है कि कांग्रेस अपने दम पर लड़ेगी और चौंकाने वाले नतीजे आएंगे। इसके बाद आज लखनऊ में पार्टी के नेताओं की अहम बैठक है। गुलाम नबी आजाद की मौजूदगी में इस बैठक में पार्टी आगे की रणनीति का खुलासा हो गया है। कांग्रेस उत्तर प्रदेश में अकेले मैदान में उतरेगी। गठबंधन का ऐलान करते समय मायावती ने कहा था, उपचुनावों में भाजपा को हराकर हमने रोकने की शुरुआत कर दी थी। इस चुनाव में तो कांग्रेस के उम्मीदवार की तो जमानत जब्त हो गई थी। इसके बाद चर्चा शुरू हुई कि सपा बसपा साथ आ जाएं तो भाजपा को सत्ता में आने से रोका जा सकता है। उन्होंने यहा भी कहा कि कांग्रेस के राज में घोषित इमरजेंसी थी और अब अघोषित। सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर प्रभावी विरोधियों के खिलाफ गड़े मुकदमे उखाड़ कर परेशान कर रहे हैं। कांग्रेस के साथ सपा बसपा गठबंधन का कोई खास फायदा नहीं होता। हमारे वोट तो ट्रासंफर हो जाता है लेकिन कांग्रेस का वोट ट्रान्सफर नहीं होता या अंदरूनी रणनीति के तहत कहीं और करा दिया जाता है। इसमें हमारी जैसी ईमानदार पार्टी का वोट घट जाता है।
सपा-बसपा गठबंधन में कांग्रेस के न शामिल होने से मुस्लिम मतों के बंटने की आशंका है। ऐसे में गठबंधन के बावजूद सपा-बसपा को झटका लग सकता है। दरअसल, सूबे के तकरीबन 20 फीसद मुसलमानों पर चाहे सपा हो या बसपा या फिर कांग्रेस सभी की सदैव नजर रहती है। बसपा व सपा की सरकार बनाने में मुस्लिम मतों की सदैव बड़ी भूमिका देखी जाती है। भाजपा का मुकाबला करने के लिए गठबंधन की चर्चा शुरू होने पर माना जा रहा था कि सपा-बसपा के गठबंधन में कांग्रेस भी शामिल होगी। ऐसे में मुस्लिम, दलित और यादव सहित अन्य पिछड़ी जातियों के वोटों का विखराव न होने से गठबंधन को बड़ा फायदा होगा।
वैसे तो पिछले लोकसभा चुनाव में मतदाताओं का जो रुख था उससे तो यही लगता है कि गठबंधन का गणित, भाजपा पर भारी पड़ सकता है। पिछले चुनाव में जहां भाजपा और सहयोगी दल को सूबे में 42.65 फीसद वोट मिले थे वहीं बसपा को 19.77 फीसद और सपा को 22.35 फीसद वोट मिले थे जो कि 42.12 फीसद होता है। 0.86 फीसद वोट हासिल करने वाले रालोद के अलावा अन्य छोटे दलों के शामिल होने पर गठबंधन, भाजपा पर भारी नजर आता हैै। मात्र दो सीट जीतने वाली कांग्रेस को सिर्फ 7.53 फीसद वोट मिले थे।

दो पक्षों में मारपीट,लूट का आरोप

0

Posted on : 13-01-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:पुराने मुकदमे के विवाद में दो पक्षों में मारपीट हो गयी| घटना के सम्बन्ध में पुलिस को तहरीर दी गयी| पुलिस जाँच परताल कर रही है|
शहर के बड़ा खेल बजरिया निवासी राहुल भाटिया का सुतहट्टी निवासी अंशुल गुप्ता पुत्र राजूगुप्ता के साथ लोहाई रोड पर विवाद हो गया| देखते ही देखते दोनों पक्षों में मारपीट हो गयी| घटना के बाद राहुल ने कोतवाली पुलिस को तहरीर दी की उनके साथ मारपीट कर उनकी चेन आदि लूट ली गयी| राहुल ने आरोप लगाया की उनके साथ अंशुल के साथ ही राजू गुप्ता,गोपाल वाथम आदि ने भी मारपीट की| तहरीर लेने के बाद पुलिस जाँच पड़ताल कर रही है|
प्रभारी निरीक्षक राजेश पाठक ने बताया कि जाँच की जा रही है| जाँच के बाद कार्यवाही की जायेगी|

शिवपाल ने विश्वास को बनाया प्रदेश सचिव

0

Posted on : 13-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa

फर्रुखाबाद:प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के प्रदेश सचिव के पद पर विश्वास गुप्ता को मनोनीत किया है| जिससे विश्वास इ समर्थकों में ख़ुशी की लहर है|
समाजवादी पार्टी में लोहिया बाहिनी के प्रदेश महासचिव,युवजन सभा के प्रदेश महासचिव,पार्टी के महानगर अध्यक्ष पद पर पांच बार वर्ष 2006 से 2012 तक महानगर अध्यक्ष रहे विश्वास गुप्ता को शिवपाल का सपा के प्रदेश अध्यक्ष बनने पर वर्ष 2016 में जिलाध्यक्ष बनाया गया था|
लेकिन बाद में सपा से अलग हुए शिवपाल ने अपने नई पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया का गठन किया| इसके बाद विश्वास से भी सपा छोड़ दी| रविवार को प्रसपा के प्रदेश अध्यक्ष सुन्दर लाल लोधी ने विश्वास गुप्ता को प्रदेश सचिव के पद पर मनोनीत किया है| जिससे विश्वास के समर्थकों में ख़ुशी की लहर है|

[bannergarden id="12"]