जनता की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरी बीजेपी

0

Posted on : 07-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BJP

फर्रुखाबाद:(कमालगंज) सपा ने अपने समाजवादी विकास विजन एवं सामाजिक न्याय कार्यक्रम के तहत आयोजित बैठक में सूबे की केंद्र की बीजेपी सरकारों पर जमकर हमले किये| इसके साथ ही साथ सपा सरकार के समय किये गये कार्यों जनता के साथ साझा किये गये|
क्षेत्र के ग्राम अखमेलपुर व पाहला व आजादनगर व महरूपुर रावा आदि ग्राम पंचायतो.मे व्लाक प्रमुख राशिद जमाल सिद्दीकी के नेतृत्व में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया| समाजवादी विकास विजन एवं सामाजिक न्याय कार्यक्रम के तहत आयोजित बैठकों में सत्ताधारी पार्टी पर जमकर निशाना साधा गया| बैठकों में कहा गया कि नेतृत्व के निर्देश पर 7 से 20 जनवरी तक चलने वाले समाजवादी विकास विजन एवं सामाजिक न्याय कार्यक्रम में सपा सरकार के समय कराये गये शासन काल के विकास कार्यों को जनता को अवगत कराना है| कार्यकर्ताओं का आह्वान किया गया कि गांव-गांव जाकर वर्तमान जन विरोधी सरकार के खिलाफ जनता को जागरूक करें। बैठक में कहा गया कि बीजेपी ने छल करके झूठे वादे करके जनता को ठगा है| इस दौरान पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह यादव,सतीश दीक्षित, पूर्व सांसद मुन्नू बाबू, जिला महासचिव मंदीप यादव,व्लाक प्रमुख राशिद जमाल सिद्दीकी ने अपने विचार रखे|
इस दौरान जिला प्रवक्ता पुष्पेन्द्र यादव,मनोज यादव,नगर अध्यक्ष बल्लू यादव,सलामुद्दीन,प्रधान दिलशाद खां,नरेंद्र यादव व राजू आदि रहे| संचालन जुनैद खां ने किया|

थालों में दिखी श्रद्धा और संस्कृति की झलक

0

Posted on : 07-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद:15 वें युवा महोत्सव समिति की ओर से सोमवार को थाल सजाओ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमे आस्था और संस्कृति की झलक साफ़ नजर आयी|
नगर के स्टेट बैंक रोड स्थित एयरहोस्टेस एकेडमी में थाल सजाओ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। किसी ने भगवान गणेश को विराजमान कर फल व मिष्ठान सजाए तो किसी ने मां दुर्गा को थाल में विराजमान कर थाल सजाया। इस दौरान प्रतिभागियों ने पूजा थाल के महत्व के बारे में बताया। प्रतिभागियों नें विभिन्न देवी देवताओं को समर्पित पूजा के आकर्शक थाल सजाये। अपने अपने मान्य देवी देवताओं की मूर्ति को पूजा थाल में स्थापित किया।अपने घर्म और मान्यता के अनुसार प्रतिभागियों नें पूजा की विधि को निर्णायकों को बताया। प्रतिभागियों नें बताया कि सभी देवी देवताओं के आरती करनें का ढंग अलग अलग होता है।प्रियंका,सोनी गुप्ता,अपूर्वा गंगवार ,सौम्या अवस्थी व निषा तरन्नुम आदि ने प्रतियोगिता में हिस्सा लिया|
इस अवसर पर अध्यक्ष डा. संदीप शर्मा, वीरेंद्र त्रिपाठी,डॉ० कृष्ण कान्त अक्षर,मयंक मिश्रा,सुनील सक्सेना,हर्षित मिश्रा,विवेक चतुर्वेदी आदि रहे|

मुठभेड़ में दो बदमाशों की मौत, इंस्पेक्टर समेत कई जख्मी

0

बरेली:इज्जतनगर के अहलादपुर चौकी क्षेत्र में पुलिस की मुठभेड़ सुबह कोहाड़ापीर पर 15 लाख की लूट करने वाले आधा दर्जन बाइक सवार बदमाशों से हो गई। मुठभेड़ में पुलिस ने दो बदमाशों को घेराबंदी कर मार गिराया है। वहीं, करीब तीन या चार बदमाश मौके से फरार हो गए। इस दौरान कोतवाली इंस्पेक्टर गीतेश कपिल समेत सिपाही प्रवीन को लगी गोली। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मुठभेड़ के बाद एसएसपी मुनिराज जी समेत भारी फोर्स मौके पर मौजूद है। एडीजी प्रेमप्रकाश भी घटनास्थल पर पहुंच गए है। पूरे शहर में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। फरार बदमाशों की तलाश की जा रही है। हर चौराहे पर नाकाबंदी कर दी गई है। दोनों बदमाशों की अभी शिनाख्त नहीं हुई है। उनसे एक थैला भी मिला है जिसमें लूट की रकम बरामद होने की बात कही जा रही है। पुलिस घटना का खुलासा थोड़ी देर बाद करेगी।
सुबह ऑटो पर फायरिंग कर लूटे थे 15 लाख
मुठभेड़ में मारे गए दोनों बदमाशों समेत आधा दर्जन बाइक सवारों ने सुबह इज्जतनगर के व्यवस्त इलाके कोहाडापीर में ऑटो पर फायरिंग कर सर्राफ के भाई व नौकरों से 15 लाख रुपये लूट लिए थे। पुलिस के अनुसार, शास्त्री नगर में रहने वाले सर्राफ अनूप अग्रवाल की आलमगिरी गंज में दुकान है। तड़के 5.30 बजे उन्होंने चचेरे भाई बबलू, नौकर कांता प्रसाद और सुमित को घर बुलाया और दो बैग दिए। तीनों को आलाहजरत ट्रेन से दिल्ली जाना था। बकौल सर्राफ दोनों बैग में 7.50-7.50 लाख रुपये थे। ऑटो से तीनों लोग जंक्शन की तरफ जा रहे थे। जैसे ही वे कोहाडापीर के पास पहुंचे, अचानक दो बाइकों पर सवार आधा दर्जन बदमाशों ने ओवरटेक किया। वे कुछ समझ पाते इससे पहले बदमाशों ने ऑटो पर फायरिंग कर दी। इसके बाद बदमाशों ने ऑटो में पीछे रखे बैग लूट लिए। सुमित ने विरोध किया तो बदमाशों ने उसके माथे पर गोली मार दी। वारदात को अंजाम देने के बाद बाइक सवार बदमाश चंद मिनट में वहां से फरार हो गए। बबलू व कांता प्रसाद ऑटो को सीधे रामपुर गार्डन में एक अस्पताल में ले गए और सुमित को भर्ती कराया।
चेंकिंग अभियान के दौरान पुलिस से हुई मुठभेड़
सुबह-सुबह लूट की घटना से पुलिस में खलबली मच गई। एडीजी प्रेमप्रकाश, एसएसपी मुनिराज, एसपी सिटी अभिनदंन सिंह, सीओ कुलदीप कुमार व कोतवाली गीतेश कपिल ने मौके पर पहुंचकर जायजा लिया। घटना के बाद से पुलिस अफसरों ने बाइक सवार लुटेरों की तलाश में चेकिंग अभियान चला रखा था। इस दौरान इज्जतनगर थाना क्षेत्र के अहलादपुर में पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ हो गई। दोनों ओर से फायरिंग हुई। जिसमें पुलिस ने दो बदमाशों को मार गिराया। वहीं, अन्य बदमाश बचकर भाग निकले। उधर, मुठभेड़ में गोली लगने से कोतवाली इंसपेक्टर गीतेश कपिल व सिपाही प्रवीन भी घायल हो गए। मुठभेड़ की जानकारी होने पर एसएसपी मुनिराज जी कई थानों का फोर्स लेकर मौके पर पहुंच गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
पूरे शहर में अलर्ट, हर चौराहे पर नाकाबंदी
घटना के बाद पूरे शहर में अलर्ट जारी कर दिया गया है। मुठभेड़ के दौरान बचकर भागने वाले बदमाशों को पकड़ने के लिए पुलिस ने हर चौराहे पर नाकाबंदी कर दी है। शहर से आने-जाने वाले हर रास्ते पर चेकिंग की जा रही है।
पिछले दिनों डाली थी सर्राफ अनिल बॉस के घर डकैती
मुठभेड़ में मारे गए बदमाशों ने ही पिछले दिनों प्रेमनगर के गांधीनगर में विधायक आवास के पास सर्राफ अनिल बॉस के घर डकैती डाली थी। सर्राफ व उनकी पत्नी उमा अग्रवाल ने दोनों बदमाशों की पहचान की है। बता दें कि दो जनवरी को सफेद कार से पहुंचे वर्दीधारी बदमाशों ने सर्राफ दंपती को सरेशाम घर में बंधक बनाकर डकैती डाली थी। बदमाश ढ़ाई लाख कैश और दो मोबाइल लूट ले गए थे।

फतेहगढ़ महोत्सव कमेटी ने डीएम-एसपी को किया सम्मानित

0

Posted on : 07-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:फ़तेहगढ़ महोत्सव आयोजन कमेटी के द्वारा डीएम,एसपी व सीडीओ को सम्मानित किया गया| उन्हें कार्यक्रम में भरपूर सहयोग देने की बधाई दी गयी|
सोमबार को कमेटी के सदस्य रिजवान ताज व डॉ० शाकिर अली के साथ अन्य सदस्य जिलाधिकारी मोनिका रानी,एसपी संतोष मिश्रा के साथ ही मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा दुबे को उनके कार्यालय में जाकर सम्मान पत्र आदि प्रदान किये जाते| कमेटी ने महोत्सव में सहयोग करने के लिए बधाई| अधिकारीयों से अगले महोत्सव के लिए आवश्यक सलाह दी गयी|
इस दौरान ओम प्रकाश चौटाला,मनोज कुमार,आफाताब खां,सुल्तान,राजू सलमानी, अलीम अब्बासी,अल्द्दीन आदि रहे|

मोदी का मास्‍टर स्‍ट्रोक:सवर्णों को 10% आरक्षण को मंजूरी

1

Posted on : 07-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Narendra Modi, Politics, Politics-BJP, राष्ट्रीय

नई दिल्‍ली:मोदी सरकार ने लोकसभा चुनाव से पहले बड़ा कदम उठाया है। केंद्रीय कैबिनेट ने सवर्ण जातियों को 10 फीसद आरक्षण के फैसले पर मुहर लगा दी है। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कैबिनेट की बैठक के बाद ये जानकारी दी। एसएसटी एक्‍ट पर मोदी सरकार के फैसले के बाद सवर्ण जातियों में नाराजगी और हाल के विधानसभा चुनाव में तीन राज्‍यों में मिली हार के मद्देनजर इसे अगड़ों को अपने पाले में लाने की कोशिश के तौर पर देखा जा सकता है। ऐसा माना जा रहा है कि मंगलवार को मोदी सरकार संविधान संशोधन बिल संसद में पेश कर सकती है। बता दें कि मंगलवार को ही संसद के शीतकालीन सत्र का आखिरी दिन है।
राजनीतिक पंडितों ने अनुसार, मोदी सरकार के इस फैसले ने राफेल सौदे और किसानों की कर्जमाफी जैसे मुद्दों की हवा निकाल दी है। ऐसा माना जा रहा है कि इस फैसले के दूरगामी राजनीतिक परिणाम देखने को मिलेंगे। कुछ और जातियां भी लोकसभा चुनाव से पहले आरक्षण की मांग कर सकती है।बता दें कि इसके तहत आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को आरक्षण दिया जाएगा। केंद्र सरकार का यह एक ऐतिहासिक फैसला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सोमवार को कैबिनेट की बैठक में ये फैसला लिया गया है। बता दें कि कई राज्यों में सवर्ण आरक्षण की मांग करते आ रहे हैं। हाल में तीन राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भाजपा को मिली हार के बाद इस फैसले की अहमियत और बढ़ जाती है।
भाजपा नेता शहनवाज हुसैन ने इसे मोदी सरकार का ऐतिहासिक फैसला बताते हुए कहा कि गरीब स्वर्ण समुदाय लंबे समय से इसकी मांग कर रहा था। पीएम मोदी ने उनकी इस मांग को मानकर समाज को मजबूत करने की दिशा में कदम बढ़ाया है। गौरतलब है कि केंद्र और राज्यों में पहले ही अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 27 फीसदी और अनुसूचित जाति व जनजाति के लिए 22 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था है।
सरकार ऐसे देगी सवर्णों को आरक्षण
मोदी सरकार सवर्णों को आरक्षण देने के लिए जल्द ही संविधान में बदलाव करेगी। इसके लिए संविधान के अनुच्छेद 15 और अनुच्छेद 16 में बदलाव किया जाएगा। दोनों अनुच्छेद में बदलाव कर आर्थिक आधार पर आरक्षण देने का रास्ता साफ हो जाएगा। बता दें कि पिछले साल जब सुप्रीम कोर्ट ने SC/ST एक्ट में बदलाव करने का आदेश दिया था तब देशभर में दलितों ने काफी प्रदर्शन किया था। इसको देखते हुए केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला बदल दिया था। ऐसा माना जा रहा था कि मोदी सरकार के इस फैसले से सवर्ण काफी नाराज हो गए, दलितों के बंद के बाद सवर्णों ने भी भारत बंद का आह्वान किया था।
क्‍या कहता है अनुच्छेद 15
संविधान में अनुच्छेद 15 केवल धर्म, मूलवंश, जाति, लिंग, जन्म स्थान, या इनमें से किसी के ही आधार पर भेदभाव पर रोक लगाता है। अंशतः या पूर्णतः राज्य के कोष से संचालित सार्वजनिक मनोरंजन स्थलों या सार्वजनिक रिसोर्ट में निशुल्क प्रवेश के संबंध में यह अधिकार राज्य के साथ-साथ निजी व्यक्तियों के खिलाफ भी प्रवर्तनीय है। हालांकि, राज्य को महिलाओं और बच्चों या अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति सहित सामाजिक और ‘शैक्षिक रूप से पिछड़े वर्गों’ के नागरिकों के लिए विशेष प्रावधान बनाने से राज्य को रोका नहीं गया है। इस अपवाद का प्रावधान इसलिए किया गया है, क्योंकि इसमें वर्णित वर्गों के लोग वंचित माने जाते हैं और उनको विशेष संरक्षण की आवश्‍यकता है।
अनुच्‍देद 16 में ये हैं प्रावधान
अनुच्छेद 16 सार्वजनिक रोजगार के संबंध में अवसर की समानता की गारंटी देता है और राज्य को किसी के भी खिलाफ केवल धर्म, नस्ल, जाति, लिंग, वंश, जन्म स्थान या इनमें से किसी एक के आधार पर भेदभाव करने से रोकता है। किसी भी पिछड़े वर्ग के नागरिकों का सार्वजनिक सेवाओं में पर्याप्त प्रतिनिधित्व सुनुश्चित करने के लिए उनके लाभार्थ सकारात्मक कार्रवाई के उपायों के कार्यान्वयन हेतु अपवाद बनाए जाते हैं, साथ ही किसी धार्मिक संस्थान के एक पद को उस धर्म का अनुसरण करने वाले व्यक्ति के लिए आरक्षित किया जाता है।
इन सवर्णों को मिलेगा आरक्षण का लाभ
ये होंगे मानक जिनके तहत मोदी सरकार ये आरक्षण की सुविधा दी जाएगी।
1- सालाना आय 8 लाख से कम हो।
2- 5 एकड़ से कम खेती की जमीन हो।
3-1000 स्क्वायर फीट से कम का घर हो।
4- निगम की 109 गज से कम अधिसूचित जमीन।
5- 209 गज से कम की निगम की गैर-अधिसूचित जमीन हो और जो अभी तक किसी भी तरह के आरक्षण के अंतर्गत नहीं आते हो।

दो पक्षों में जमकर मारपीट के बाद कचेहरी परिसर बना छाबनी

0

Posted on : 07-01-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:कचेहरी में दो पक्षों में जमकर झडप मारपीट होने से बबाल हो गया| देखते ही देखते कचेहरी परिसर छाबनी में तब्दील हो गया| मौके पर पंहुची पुलिस के साथ भी धक्का मुक्की की गयी| पुलिस को घटना के सम्बन्ध में तहरीर दी गयी है|
थाना मऊदरवाजा क्षेत्र के मोहल्ला रकाबगंज निवासी अजय कुमार पुत्र सुरेश चन्द्र ने फतेहगढ़ पुलिस को दी गयी तहरीर में कहा है कि सोमबार को दोपहर तकरीबन 2:30 बजे वह अपने साथी अधिवक्ता अमित शुक्ला एवं सीनियर मुदित मिश्रा के साथ फैमली कोर्ट के सामने खड़े थे| उसी समय न्यायालय नई बिल्डिंग से जेल के अभियुक्त सुभाष एवं उनका पुत्र टार्जन आये| उन्होंने पकड़ कर जमीन पर पटक दिया और मारपीट करने लगे| उसी दौरान सुभाष की पत्नी शारदा व पुत्री ज्योति के साथ उनके दो तीन अज्ञात लोग भी आ गये| शारदा ने किसी नुकीली चीज से हमला किया| उसके पास से 700 रूपये छीन लिए| पिता पुत्र ने जान से मारने की कोशिश की|
अजय ने बताया की आरोपी पिता पुत्र के साथ उसका 307 का मुकदमा चल रहा है जिसमे वह वादी है| पुलिस ने मौके पर पंहुच शारदा व उसकी पुत्री ज्योति को पकड़ लिया|
वही बताते चले घटना की सूचना मिलने पर एएसपी त्रिभुवन सिंह,सीओ सदर रामलखन सरोज के साथ की कई थानों की फ़ोर्स भी आ गयी| पुलिस ने आरोपी माँ-बेटी को पुलिस की गाड़ी में बैठा लिया| जिस पर अधिवक्ता आक्रोशित हो गये| पुलिस ने धक्का-मुक्की हो गयी| एएसपी ने कार्यवाही का भरोसा दिया और तहरीर ली| इसके बाद अधिवक्ता शांत हुए| प्रभारी निरीक्षक रजनेश चौहान ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है| जाँच की जा रही है|

पुलिस पर हमला करने के दो आरोपी गिरफ्तार

0

Posted on : 07-01-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिनों घटना की सूचना पर गयी डायल 100 पुलिस मौके पर गयी थी| जिसमे कमांडर को लाठी डंडो से पीटकर लहुलहान कर दिया गया था| घटना के सम्बन्ध में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है|
बीते चार जनवरी को थाना क्षेत्र के ग्राम मंझा की मडैया निवासी महेंद्र पुत्र नत्थूलाल की झोपडी पड़ी थी| सचदेव पुत्र सुखराम निवासी करनपुरघाट ने अपना ट्रैक्टर लेकर निकला तो महेंद्र का इज्जतघर टूट गया| इस बात पर विवाद बढ़ गया| सचदेव ने विवाद होने पर अपने भाई जदुबीर उर्फ़ जादू,रामवीर,राजवीर उर्फ़ नेता,राजेश आदि को बुला लिया| आरोपियों ने टोकने वाले पृथ्वीराज को मारपीट करने लगे थे | जिसके बाद महेंद्र व नरेश पुत्र नत्थू लाल आदि लोगों के आ जाने पर मौके से आरोपी जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गये थे| घटना की सूचना पर पृथ्वीराज ने डायल 100 पर दी | जिसके बाद डायल 100 की गाड़ी 2669 मौके पर पंहुची| जिस पर कमांडर शिव सिंह,अमित,जितेन्द्र व चालक होमगार्ड मुकेश कुमार आदि पुलिस कर्मी आ गये| उन्होंने आरोपियों को पकड़ने का प्रयास किया| उसी दौरान आरोपी पुलिस पर लाठी-डंडे लेकर हमलावर हो गये| जिससे कमांडर शिव सिंह का सिर फट गया| जिससे वह लहुलुहान हो गये| घटना के सम्बन्ध में पुलिस ने रामवीरसिंह जदुवीर पुत्र सुखराम को गिरफ्तार कर लिया|

बीजेपी के दागी मंत्रियो पर भी हो कार्यवाही

0

फर्रुखाबाद:प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) ने मांग करते हुए कहा की जिस समय से बीजेपी के मंत्रियों के निजी सचिव भ्रष्टाचार ने लिप्त पाया गया था| लेकिन अभी तक उनके मंत्रियों पर कार्यवाही नही की गयी|
संगठन के अधिवक्ता सभा जिलाध्यक्ष शिखर सक्सेना के नेतृत्व में जिलाधिकारी मोनिका रानी से मिले और उन्हें ज्ञापन सौपा| जिसमे कहा गया कि यूपी सरकार के मंत्री अर्चना पाण्डेय के निजी सचिव एसपी त्रिपाठी,मंत्री ओम प्रकाश राजभर के निजी सचिव ओम प्रकाश जायसवाल व मंत्री संदीप सिंह के निजी सचिव संतोष अवस्थी एक स्टिंग आपरेशन में भ्रष्टाचार में लिप्त पाये गये| उनके खिलाफ एक पक्षीय कार्यवाही की गयी| संगठन ने मांग की है कि यदि निजी सचिव दोषी है तो फिर मंत्रियों पर भी कार्यवाही होनी चाहिए|
इसके साथ ही सीबीआई जाँच की जाये|
इस दौरान देवेन्द्र सिंह यादव,मनीष मिश्रा,किशन शर्मा,अम्बर गंगवार,अभय सिंह,योगेश कुमार,सचेन्द्र प्रताप सिंह आदि रहे|

सड़क पर उतर छपाई मजदूरों ने डीएम कार्यालय घेरा

0

Posted on : 07-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:छपाई कारखाने बंद होने से बेरोजगार हुए मजदूरों ने रैली निकालकर प्रदर्शन किया और जिलाधिकारी मोनिका रानी के कार्यलय का घेराव कर उन्हें ज्ञापन सौपा|
बीते कई दिनों से छपाई कारखानों की बंदी के बाद बेरोजगार हुए हजारों की संख्या में मजदूर सड़क पर आ गये| सोमबार को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत सर्वोदय मंडल के पूर्व महामंत्री लक्ष्मण सिंह के नेतृत्व में नगर के अंगूरीबाग़ से सैकड़ो की संख्या में मजदूर रैली में शामिल हुए| उन्होंने अंगूरीबाग़,घुमना,लाल दरवाजा,बढ़पुर,आवास-विकास,भोलेपुर,फतेहगढ़ चौराहे होते हुए कलेक्ट्रेट तक प्रदर्शन किया|
कलेक्ट्रेट गेट पर नगर मजिस्ट्रेट राम अक्षयवर चौहान,सीओ सिटी रामलखन सरोज आदि ने उन्हें भीतर जाने से रोंक दिया| जिससे नोकझोंक हो गयी| भीड़ अधिक होने से फ़ोर्स भी बुला लिया गया| एएसपी त्रिभुवन सिंह भी कलेक्ट्रेट पंहुचे| बाद में डीएम कार्यालय में लक्ष्मण सिंह के साथ लगभग एक दर्जन लोग गये और डीएम मोनिका रानी को ज्ञापन सौपा|
डीएम को दिये गये ज्ञापन में सर्वोदय मंडल ने चेतावनी दी है कि यदि 11 जनवरी तक मांगो पर विचार नही किया| जिला मुख्यालय पर अनिश्चितकालीन सत्याग्रह किया जायेगा|

कोहरे का मौसम आ रहा है,रात में वाहन चलाते समय बरतें सावधानी

0

फर्रुखाबाद:ठंड ने दस्तक दे दी है। अब रोज शाम ढलते ही कोहरा छाएगा। इसके चलते दृश्यता कम हो जाएगी। अगली सुबह तक आलम ऐसा ही रहेगा। आंखों को हर कुछ साफ नजर नहीं आएगा। ऐसे में सड़कों पर वाहन चलाना दुश्वार होगा। जोखिम होगा। जान के खतरे होंगे। सड़कों के किनारे भारी वाहन भी खड़े करना आम बात हो गई है। इससे ठंड के मौसम में घने कोहरे की वजह से दुर्घटना होने की आशंका और बढ़ जाती है। सो, कोहरे के कोहराम से बचना जरूरी है। यह ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि जान है तो जहान है। इसलिए आइए जानते हैं कि कोहरे में वाहन चलाते समय क्या करें, क्या न करें।
अक्सर देखा जाता है कि रात के समय हाइवे पर भारी वाहन सड़क किनारे खड़े कर दिए जाते हैं। कभी-कभी ऐसा भी होता है कि ट्रक समेत अन्य वाहन हाइवे पर खड़ा करके ड्राइवर कहीं दूसरी जगह आराम फरमाने लगते हैं। पीछे से तेज गति से आने वाले वाहन खड़े भारी वाहन में टक्कर मार देते हैं, जिससे कभी-कभी काफी जान-माल का नुकसान होता है।
अक्सर देखा जाता है कि नियमों की अनदेखी करते हुए ट्रक व लॉरी में लोहे की सरिया लोड कर ली जाती है तथा पांच से 10 फीट तक सरिया का पिछला हिस्सा बाहर निकला रहता है। उसमें लाल कपड़े भी नहीं बंधे होते हैं, जिससे कोहरे व अंधेरे में दिखाई नहीं देने से पीछे वाले वाहन का ड्राइवर जब आगे निकलने की कोशिश करता है, उस समय कभी-कभी बड़ी दुर्घटना घट जाती है।
हालांकि ट्रैफिक नियमों के लिहाज से देखा जाए तो नो पार्किंग जोन व अथवा नो इंट्री जोन में भारी वाहन खड़े नहीं किए जा सकते हैं। ट्रक व लॉरी में लोड सरिया एक-डेढ़ फीट से ज्यादा बाहर नहीं निकलनी चाहिए। इससे ज्यादा बाहर निकलना ट्रैफिक नियमों के खिलाफ है। एक-डेढ़ फीट से ज्यादा बाहर निकलने के दौरान पीछे वाले भाग पूरी तरह से कपड़े से बंधे होने चाहिए।
सावधानी से चलाएं वाहन
कुहारे के मौसम में चूंकि दृश्यता बहुत ही कम होती है इसलिए वाहन की गति हर्गिज तेज नहीं होनी चाहिए। कम व नियंत्रित होनी चाहिए, ताकि आगे की गतिविधियों के बारे में समय रहते जानकारी हासिल हो जाए। अगर सड़क के किनारे कोई भारी वाहन खड़ा है तो पीछे वाला ड्राइवर उसे देखकर अपनी गाड़ी को आसानी से नियंत्रित कर सकेगा। जबकि सड़क के किनारे वाहन में भी आगे तथा पीछे दोनों ओर इंडीकेटर जलता रहना चाहिए। इससे सामने वाले ड्राइवर को मालूम चल सके कि आगे कोई वाहन खड़ा है। तेज गति में आवश्यकता पर ब्रेक लगाते-लगाते भी बड़ी दुर्घटना हो जाती है। मगर कम गति में सबकुछ पर नियंत्रण संभव है।
सुरक्षित दूरी अपनाएं
एक वाहन से दूसरे वाहन के बीच सुरक्षित दूरी बनाए रखें। इससे, किसी अप्रत्याशित घटना के समय आपात स्थिति में बचाव हेतु पर्याप्त समय व स्थान मिल जाता है। सुरक्षित दूरी सुरक्षित रखती है। अगर सरिया लोड किया हुआ वाहन आगे जा रहा है तो पीछे वाला वाहन सीमित गति में चलता रहेगा तो उसे आगे वाले वाहन से टकराने का खतरा नहीं रहेगा। आपात स्थिति में सुरक्षा हेतु कम दूरी कम समय ही देती है।
इंडिकेटर का करें उपयोग
सड़क पर किसी भी मोड़ पर टर्न लेने से कुछ पहले से ही इंडिकेटर देना शुरू कर दें। अचानक से व बिना इंडिकेटर के टर्न कदापि न लें। अपने पीछे वाले वाहन के लिए पर्याप्त समय व सुरक्षित दूरी जरूर रखें।
यातायात पुलिस की सलाह
सड़क सुरक्षा के तहत हाइवे पर ट्रक अथवा किसी भी भारी वाहन को खड़ा नहीं किया जा सकता है। अगर बिना किसी खास वजह के भारी वाहन सड़क के किनारे खड़े किए जाते हैं, तथा ट्रैफिक पुलिस की नजर उस पर पडऩे पर उक्त वाहन के खिलाफ ट्रैफिक नियमों के मुताबिक कार्रवाई की जाती है। इसी तरह से सरिया भी ट्रक से एक से डेढ़ फीट बाहर नहीं निकलना चाहिए। इससे ज्यादा बाहर निकलने व निकले वाले भाग पर कपड़े नहीं बांधना नियम के खिलाफ है। ऐसी स्थिति में पकड़े जाने पर कार्रवाई की जाती है। इसलिए लोगों को चाहिए कि वाहन हमेशा नियंत्रण में चलाएं। सुरक्षित चलाएं। सुरक्षा के समस्त पैमाने अपनाएं।