जनपद के पर्यटन स्थलों को विकास की दरकार

0

फर्रुखाबाद:(कायमगंज) लोक अधिकार मंच के चौथे कार्यालय का शुभारंभ शनिवार को दीप प्रज्वलन के साथ हो गया| इस दौरान कार्यक्रम में आये लोगों को सरकार की योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी गई| साथ ही साथ जनपद के पर्यटन स्थलों का विकास ना हो पाने पर चिंता भी जाहिर की गई|
श्यामा गेट स्थित लोक अधिकार मंच के कार्यालय का जिलाध्यक्ष डॉ० अरविंद गुप्ता व रमेश रस्तोगी ने दीप प्रज्वलन कर व फीता काटकर शुभारंभ किया| इस दौरान उन्होंने कहा कि हमारे जनपद में रोजगार की कमी के कारण काफी युवा बेरोजगार है| फर्रुखाबाद को एक सही दिशा में ले जाने की जरूरत है| जिस में युवाओं की भागीदारी बहुत अधिक महत्वपूर्ण है| आज के युग में युवाओं का शिक्षित व रोजगार युक्त होना अति आवश्यक है| डॉ० अरविंद ने कहा कि जनपद में कई पर्यटन स्थल है उन पर्यटन स्थलों के विकास की जरूरत है| पर्यटन स्थलों का विकास होने से जिले में रोजगार की संभावनाएं होगी जब रोजगार होगा तब जो युवा दिशाहीन हो गए हैं उनको भी एक नई दिशा मिलेगी|
जनपद में रोजगार स्थापित करने की भी जरूरत है| इसके साथ ही साथ उन्होंने सरकार की 15 सरकारी योजनाओं के विषय में भी आम जनमानस को अवगत कराया| बाइक रैली भी निकाली गयी|संतोष गुप्ता,अमन सक्सेना,लकी गुप्ता, गोविंद,अभिषेक सनी राव आदि रहे|

समर्थको सहित धरने पर बैठे सदर विधायक के चाचा

0

Posted on : 05-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:गौशाला पर जबरन कब्जा करके अन्ना गायों को प्रवेश करने के बाद जिला प्रशासन के द्वारा कोई कार्यवाही ना करने से गौशाला कमेटी ने जमकर भड़ास निकाली गयी| आक्रोशित गौशाला कमेटी ने सामूहिक इस्तीफा देंने की घोषणा करने के साथ ही चौक बाजार पर जाम लगा दिया| विधायक के चाचा के धरने पर बैठने से जिला प्रशासन के हाथ पैर फूल गये|
सदर विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी के चाचा व भाजपा नेता प्रांशु दत्त द्विवेदी के पिता डॉ० हरिदत्त द्विवेदी थाना माधौपुर के गौशाला संरक्षक है| बीते दिनों क्षेत्र के कुछ दबंगों ने गौशाला में अपनी फसलों का नुकसान होने से आक्रोशित होकर दर्जनों गायों को जबरन गौशाला में प्रवेश करा दिया| जिसके बाद बीते पूरे दिन हंगामा होता रहा| लेकिन कोई समस्या का समाधान नही निकला|
जिससे अक्रोशित होकर गौशाला कमेटी के डॉ० हरिदत्त द्विवेदी सहित लगभग एक दर्जन लोगों ने गौशाला की जिम्मेदारी से इस्तीफा देने की घोषणा की और उसके बाद शाम को चौक बाजार पर जाम लगाकर हंगामा तो किया | इसके साथ ही सरकार और जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की| जाम लगाने से बाजार का चक्का जाम हो गया|
जाम लगाने की सूचना मिलने पर तहसीलदार सदर प्रदीप कुमार,सीओ सदर रामलखन सरोज मौके पर फ़ोर्स के साथ के साथ आ गये| उनकी मौके पर धरना दे रहे लोगों से नोकझोंक हो गयी| इसके बाद तहसीदार सदर ने उच्चाधिकारियों से बात की| इसके बाद उन्होंने भरोसा दिया की बीते तीन दिन के भीतर सभी गायों को निकाला जायेगा| इसके बाद धरना समाप्त किया गया|
डॉ० हरिदत्त द्विवेदी ने जेएनआई को बताया कि यदि तीन दिन में गौशाला को मुक्त नही किया गया तो वह तहसीलदार का घेराव करेंगे|
इस दौरान हिन्दूमहासभा के अंकित तिवारी,कृष्णा गुप्ता,बिल्लू,किशन मिश्रा,शुभम तिवारी आदि लोग भी धरने में रहे|

अपने ऊपर हमला करने वालों के साथ खड़ीं मायावती

0

फर्रुखाबाद:बीजेपी के प्रकल्प,प्रकोष्ठों,विभाग और मोर्चा की पहली समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया| जिसमे पंहुचे पदाधिकारियों को बीजेपी के आगामी कार्यक्रमों से अवगत कराकर जिम्मेदारी दी गयी|
नगर के पांचाल घाट पर स्थित नारायण आश्रम में आयोजित समीक्षा बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेश मंत्री व जिला प्रभारी प्रकाश पाल पंहुचे| उन्होंने बताया कि आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए सभी कमेटियों को चुनाव पूर्व ही दुरस्त कर लिया जाये|प्रकल्प,प्रकोष्ठों,विभाग और मोर्चा के द्वारा भाजपा व समाज में सेतु बनने का कार्य किया जाता है| आगामी 15 जनवरी व 3 मार्च तक पार्टी द्वारा कार्यक्रम तय किये गये है| 11 फरवरी को पंडित दीनदयाल उपाध्यय की पुन्य तिथि मनायी जायेगी|उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह यादव ने दोहरी रणनीति के तहत बीएसपी प्रमुख मायावती की पार्टी को समाप्त करना चाह रहे है| मायावती ने अपने ऊपर हमला करने वालों के साथ राजनैतिक लाभ के खडी है| बीजेपी इस गठबंधन का जबाब देगी|
जिलाध्यक्ष भूदेव राजपूत,क्षेत्रीय उपाध्यक्ष सत्यपाल सिंह,प्रदीप सक्सेना,संदीप शाक्य,बबिता पाठक, शैलेन्द्र सिंह राठौर,विजय गुप्ता,भास्कर दत्त द्विवेदी,अन्नू दुबे,नवनीत पाल,संजय गर्ग,शिवांग रस्तोगी आदि रहे| संचालन रुपेश गुप्ता ने किया|

सात से चलेगा सपा का सामाजिक न्याय कार्यक्रम

0

Posted on : 05-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:समाजवादी पार्टी जिला इकाई की मासिक बैठक शनिवार को कार्यालय में हुई। इसमें शीर्ष नेतृत्व के निर्देश पर 7 से 20 जनवरी तक चलने वाले समाजवादी विकास विजन एवं सामाजिक न्याय कार्यक्रम पर मंथन हुआ| इस दौरान कार्यक्रम के प्रभारी भी बनाये गये|
नगर के आवास विकास सपा के जिला कार्यालय पर मासिक बैठक का आयोजन किया गया| इसमें शीर्ष नेतृत्व के निर्देश पर 7 से 20 जनवरी तक चलने वाले समाजवादी विकास विजन एवं सामाजिक न्याय कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए विस्तार से चर्चा की गई। कार्यकर्ताओं का आह्वान किया गया कि गांव-गांव जाकर वर्तमान जन विरोधी सरकार के खिलाफ जनता को जागरूक करें। जिलाध्यक्ष नदीम अहमद फारुखी ने अपना दो वर्ष कार्यकाल पूर्ण होने पर बधाई देते हुए कहा कि केंद्र की सरकार ने कई बड़े वादे किए थे। साढ़े चार वर्ष बीत जाने के बाद भी कोई वादा पूरा नहीं हुआ। देश प्रदेश की जनता अच्छे दिन का इंतजार कर रही है। कहा कि 2019 के चुनाव में जनता जवाब देने को तैयार है। जनविरोधी सरकार में गरीबों, किसानों का शोषण हो रहा है। इसके साथ ही उन्होंने फ्रन्टल संगठनों की नियमति बैठक करने के निर्देश दिये|
इस दौरान पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह यादव ने पूर्व की सपा सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पंहुचाने की नसीहत दी| इस दौरान पूर्व मंत्री सतीश दीक्षित,महासचिव मंदीप यादव,महानगर अध्यक्ष विजय यादव,सचिन सिंह यादव,व्लाक प्रमुख कमालगंज राशिद जमाल सिद्दीकी,सुबोध यादव,जीतेंन्द्र यादव,विवेक यादव,जीतू यादव,पुष्पेन्द्र यादव आदि ने विचार रखे| इस दौरान अनिल मिश्रा,ज्ञानेंद्र शाक्य,इलियास मंसूरी आदि रहे| संचालन मुन्ना यादव आदि रहे|

यूपी में सपा-बसपा में ‘सैद्धांतिक सहमति’, कांग्रेस ने कहा- हम अकेले लड़ेंगे

0

Posted on : 05-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BJP, Politics-BSP, Politics-CONG.

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के बहुप्रतीक्षित गठबंधन के लिये दोनों दलों के शीर्ष नेतृत्व ने ‘सैद्धांतिक सहमति‘ कर दी है और गठजोड़ का ऐलान बहुत जल्द होगा. सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेन्द्र चैधरी ने बताया कि आगामी लोकसभा चुनाव में गठबंधन को लेकर ‘सैद्धांतिक सहमति‘ बन चुकी है और उम्मीद है कि इस गठजोड़ की औपचारिक घोषणा जल्द होगी| सम्भावना है कि इसी महीने इसका एलान हो जाएगा. उन्होंने बताया कि गठबंधन को लेकर पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है. गुरुवार को भी दोनों नेताओं के बीच दिल्ली में मुलाकात हुई थी. इस सवाल पर कि दोनों दलों के बीच उत्तर प्रदेश में सीटों के बंटवारे को लेकर क्या सहमति बनी है, सपा प्रवक्ता ने इसकी कोई जानकारी होने से इनकार किया लेकिन इतना कहा कि कुछ छोटे दलों को भी गठबंधन में शामिल करने के लिये बात हो रही है. उन्होंने स्वीकार किया कि गठबंधन में शामिल करने के लिये पश्चिमी उत्तर प्रदेश में असर रखने वाले राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) से भी बातचीत हो रही है| कांग्रेस को गठबंधन में शामिल किये जाने की सम्भावना पर चौधरी ने कहा कि इसका निर्णय तो अखिलेश और मायावती ही लेंगे|
बहरहाल, कांग्रेस के शीर्ष नेताओं राहुल गांधी और सोनिया गांधी के लिये क्रमशः अमेठी और रायबरेली सीटें छोड़ी जाएंगी. मालूम हो कि सपा और बसपा के बीच गठबंधन के बीज पिछले साल गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव के दौरान ही पड़ गये थे. इन दोनों सीटों पर बसपा ने सपा प्रत्याशियों को समर्थन दिया था और दोनों ही जगह उन्हें कामयाबी मिली थी. उसके बाद कैराना लोकसभा उपचुनाव में रालोद उम्मीदवार तबस्सुम हसन ने सपा के प्रत्यक्ष और बसपा के परोक्ष सहयोग से जीत हासिल की थी. सपा और बसपा को भरोसा है कि दोनों के साथ मिलकर चुनाव लड़ने से वे उत्तर प्रदेश में भाजपा को परास्त कर सकती हैं. वैसे, तो पिछले साल हुए उपचुनावों के नतीजों से संकेत मिले थे कि सपा और बसपा उत्तर प्रदेश में गठबंधन करके चुनाव लड़ेंगी, मगर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव खासतौर पर इस गठबंधन के लिये इच्छुक लगे. अखिलेश अक्सर अपने सम्बोधनों में बसपा के प्रति नरम रुख दिखाते रहे हैं. वह तो यहां तक कह चुके हैं कि अगर जरूरत पड़ी तो वह बसपा के लिये दो कदम पीछे हटने को भी तैयार हैं. उन्होंने हाल में गठबंधन के बारे में कहा था कि यह लोगों और विचारों का संगम होगा.
साल 2014 में ‘मोदी लहर‘ के बीच हुए लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में सपा का वोट प्रतिशत 22.35 था और उसे पांच सीटों पर ही कामयाबी मिली थी, जबकि बसपा 19.77 फीसद वोट हासिल करने के बावजूद एक भी सीट नहीं जीत सकी थी. यादव-मुस्लिम समीकरण पर काफी हद तक निर्भर रहने वाली सपा और दलितों में जनाधार रखने वाली बसपा के गठबंधन के परिणाम को लेकर तरह-तरह के कयास लगाये जा रहे हैं. सपा को विश्वास है कि बसपा के साथ उसका गठबंधन आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा के लिये मुसीबत पैदा करेगा. वहीं, भाजपा का मानना है कि इस गठजोड़ से कोई फर्क नहीं पड़ेगा. भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी का कहना है कि सपा और बसपा का गठबंधन नापाक और अवसरवादी गठजोड़ है. प्रदेश की जनता अब जाति की नहीं बल्कि विकास की सियासत को ही चाहती है और अगले लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा की गलतफहमी दूर हो जाएगी. वहीं दोनों पार्टियों के गठबंधन के बीच कांग्रेस के राज्यसभा सांसद पीएल पुनिया ने भी बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश में अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है. उन्होंने कहा, एक गठबंधन हमारे लिए महत्वपूर्ण नहीं है, हमारे कार्यकर्ता तैयार हैं. हमने किसी से भी गठबंधन की बात नहीं की है’.

2019 की आहट: वातावरण पर चढ़ने लगा सियासी रंग

0

Posted on : 05-01-2019 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, राष्ट्रीय

फर्रुखाबाद:बीते दिनों कई राज्यों में चुनाव नजदीक आते ही राजनीतिक पार्टियां अपना अपना वोट बैंक सहेजने की कवायद में जुट गई हैं। सियासी जमीन मजबूत करने के लिए लिट्टी चोखा व राजनीतिक भोज दम पकड़ने लगा है। लोकसभा चुनाव के बाद से गायब हुए खादीधारी महामहिम अब गांव की ओर रुख करने लगे हैं।
लोकसभा चुनाव की अधिसूचना अभी जारी नहीं हुई है लेकिन राजनीतिक पैंतरेबाजी जोर पकड़ने लगी है। गांव के प्रभावशाली लोगों तथा पूर्व व वर्तमान ग्राम प्रधानों के माध्यम से लिट्टी-चोखा पार्टियों का दौर शुरू हो गया है। कुछ लोग गांव के प्रतिष्ठित व्यक्ति के घर अपने खर्चे से पार्टी का आयोजन कर रहे है तो कुछ लोग ग्रामप्रधानों के सहयोग से रात्रि भोज का आयोजन कर राजनीतिक रोटी सेंकने की कवायद में जुटे हैं। शहर से लेकर गांव के चट्टी चौराहों पर होर्डिंग नजर आने लगे हैं। कोई पवोर् की बधाई देता दिख रहा है तो कोई अपने आप को सबसे बड़ा समाजसेवक साबित करने पर जुटा है। कुल मिलाकर लोकसभा चुनाव की आहट से वातावरण पर सियासी रंग चढ़ने लगा है।
उधर प्रमुख राजनीतिक दलों ने अभी अपने प्रत्याशियों की घोषणा नहीं की है। हालांकि कुछ नेता स्वयं को पार्टी का सबसे बड़ा दावेदार बताते हुए जनता के बीच पैठ बनाने के प्रयास में जुट गए हैं। इस दौरान बीच बीच में प्रदेश की राजधानी का दौरा भी हो रहा है।आलम यह है कि कभी जनता से सीधे मुंह बात न करने वाले नेता इन दिनों मीठी जुबान गुफ्तगू करते देखे जा रहे हैं।

परीक्षा कल, हाईकोर्ट ने तलब की टीईटी 2018 की ओएमआर शीट

0

प्रयागराज:इलाहाबाद हाईकोर्ट ने टीईटी 2018 के अभ्यर्थियों की अपील स्वीकार करने के साथ ही प्रदेश में कल होने वाली सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा को जारी रखने का निर्देश दिया है। बेसिक शिक्षा परिषद की कल होने वाली 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा अपने समय से होगी।
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आज अपने फैसले में आवेदक यानी याचियों को प्राविधिक रूप से सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में बैठने देने का निर्देश है। उनका रिजल्ट याचिका के फैसले के अधीन होगा। इसके साथ ही कोर्ट ने 11 जनवरी को टीईटी 2018 की ओएमआर सीट की तलब है। यह आदेश इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति पंकज मित्तल व न्यायमूर्ति आरआर अग्रवाल की खंडपीठ ने विशेष अपील की सुनवाई करते हुए दिया है। डबल बेंच ने कल फैसला सुरक्षित कर लिया था।
इससे पहले एकलपीठ के आदेश के खिलाफ विशेष अपील दाखिल करने पर डबल बेंच का निर्णय सुरक्षित रखा गया था। 69 हजार शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा के ऐन मौके पर यूपी टीईटी 2018 में पूछे गए सवालों के गलत जवाब का मामला फिर सतह पर आ गया है। एकलपीठ के आदेश के खिलाफ दाखिल विशेष अपील पर कल हाईकोर्ट की डबल बेंच ने फैसला सुरक्षित कर लिया था। आज अवकाश होने के बाद भी हाईकोर्ट ने इस मामले का फैसला सुनाया। इलाहाबाद हाईकोर्ट में विशेष अपील दाखिल कर एकलपीठ के उस आदेश को चुनौती दी गई है जिसमें कोर्ट ने 15 प्रश्नों पर विवाद के बजाए दो पर ही विशेषज्ञ राय लेने का आदेश दिया था। हिमांशु कुमार समेत दर्जनों अन्य अभ्यर्थियों की याचिकाओं पर सुनवाई न्यायमूर्ति पंकज मित्तल और न्यायमूर्ति रोहित रंजन अग्रवाल की खंडपीठ में हुई। याचीगण की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अशोक खरे और सीमांत सिंह का कहना था कि टीईटी 2018 में परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय की ओर से जारी उत्तर कुंजी से मिलान करने पर 15 सवालों के उत्तर अभ्यर्थियों ने गलत पाए। इसे हाईकोर्ट में चुनौती दी गई।
एकल पीठ ने बुकलेट सीरीज ‘ए’ के संस्कृत विषय के प्रश्न संख्या 66 और उर्दू विषय के प्रश्न संख्या 65 को ही इलाहाबाद विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों की राय लेने का आदेश दिया, बाकी 13 विवादित प्रश्नों पर कोर्ट ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी के विशेषज्ञों की राय मान ली। जबकि शीर्ष कोर्ट का आदेश है कि जिन प्रश्नों पर विवाद हो उनको विशेषज्ञ राय के लिए भेजा जाए।
पाठ्यक्रम से बाहर के प्रश्नों पर हुई बहस
अधिवक्ता ने बताया कि दाखिल विशेष अपील पर हुई बहस में पाठ्यक्रम के बाहर से पूछे गए प्रश्नों और जिन प्रश्नों के सभी उत्तर विकल्प गलत थे उनका मुद्दा भी प्रमुखता से उठाया गया। इन प्रश्नों के विवाद को परीक्षा नियामक प्राधिकारी के विशेषज्ञों ने नहीं माना था।

पांच दिनों में अन्ना पशु पकड़ने के आदेश

0

फर्रुखाबाद:जिलाधिकारी मोनिका रानी ने पशु पालन विभाग के चर्चित गौसदन का दौरा किया| उन्होंने कहा की हर हाल में 10 जनवरी तक अन्ना पशु पकड़कर गौसदन में बंद किये जाये| इसके साथ ही साथ चारे की व्यवस्था एक महीने भर की एक साथ ही करने के निर्देश दिये| यही वह गौसदन है जिसमे एक सैकड़ा से जादा गायों की मौत हो सकी है|
थाना मऊदरवाजा क्षेत्र के चर्चित कटरी धर्मपुर के गौसदन का निरीक्षण करने डीएम लाव लस्कर के साथ पंहुची| उन्होंने गौसदन से सम्बन्धित अभिलेख देखे और 30 बीघा और भूमि में चारा बोने के निर्देश दिए| पुलिस ने ही 42 बीघा में चारा बोया जा चुका है| उन्होंने गौसदन मैनेजर प्रमोद श्रीवास्तव को व्यवस्था दुरस्त रखने के निर्देश दिये| इसके साथ ही रात में दो होमगार्ड की डियूटी हर हाल में लगाये जाने के कड़े निर्देश दिये|
उन्होंने गौसदन की भूमि पर वन विभाग की पौधशाला खोले जाने कड़ी आपत्ति जाहिर की और पौधशाला को हटाकर उस भूमि पर भी चारा बोये जाने के निर्देश दिए| इस दौरान एडीएम विवेक श्रीवास्तव,तहसीलदार सदर प्रदीप कुमार,ईओ रमेश यादव आदि रहे|

डीएम को पालिका में मिले 55 बिना पंजीकरण के वाहन

0

फर्रुखाबाद:नगर पालिका में दशकों से बिना पंजीकरण के चल रहे वाहनों का फर्जीबाड़ा जिलाधिकारी मोनिका रानी को मिला| उन्हें कुल 55 वाहन एआरटीओ कार्यालय में बिना पंजीकरण के चलते मिले| जिस पर डीएम सख्त हो गयी| उन्होंने ईओ को जल्द सभी वाहनों के पंजीकरण कराने के निर्देश दिये|
शनिवार को अन्न पशुओं की व्यवस्था देखने के लिए गयी थी| उन्होंने टाउन हाल स्थित पालिका का स्टोर देखा| जंहा वह दर्जनों वाहनों को कबाड़ में देखकर दंग रह गयी| उन्होंने कहा की जो भी वाहन कबाड़ है उनको तत्काल चिन्हित कर नीलामी कर दी जाये| ताकि जगह खाली हो सके| इसके साथ ही उन्होंने स्टोर इंचार्ज महेश बाबू से पालिका के वाहनों के सम्बन्ध में बात की| जिस पर महेश बाबू ने जिलाधिकारी को बताया कि कुल छोटे बड़े 55 वाहन संचालित है जिनमे एक का भी पंजीकरण नही है| इस पर डीएम ने यात्री कर अधिकारी बीके आनन्द को मौके पर बुला लिया| पीटीओ ने मौके पर आकर कहा कि उन्होंने पालिका से एक वर्ष पूर्व कहा था लेकिन पालिका ने पंजीकरण के सम्बन्धित फाइल उपलब्ध नही करायी| जिससे पंजीकरण नही हो सके|
इसके बाद डीएम ने ईओ नगर पालिका रमेश यादव को तत्काल वाहनों के पंजीकरण कराने के निर्देश दिये|

बालू खनन कर जा रही दो ट्रैक्टर ट्राली सीज

0

Posted on : 05-01-2019 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(शमसाबाद) जिला प्रशासन के कड़े रुख पर एआरटीओ कार्यालय के अधिकारी सड़क पर चलने वाले वाहनों पर सख्त है| जिसके चलते शनिवार को दो अबैध रूप से चल रहे बालू खनन कर रहे ट्रैक्टरों को सीज किया गया है|
एआरटीओ कार्यालय के यात्री कर अधिकारी बीके आनन्द के नेतृत्व में प्रवर्तन दल ने थाने क्षेत्र के ढाई घाट पर छापेमारी की| जंहा उन्होंने दो अबैध रूप से संचालित रहे बालू लदी ट्रैक्टर ट्राली सीज कर दी| जिससे आस-पास क्षेत्र के बालू माफियाओं में हड़कम्प मच गया| जिसके बाद दोनों पकड़े गये ट्रैक्टरों को थानें के सुपुर्द कर दिया गया|
इस दौरान सिपाही मनवीर सिंह,महेंद्र सिंह,प्रवर्तन चालक किशन द्विवेदी आदि रहे|