Featured Posts

सियासी आकाओं की परिक्रमा में जुटे टिकट के दावेदार! फर्रुखाबाद:लोक सभा की चुनावी आहट शुरू होने के साथ ही सियासी सरगर्मियां बढ़ गई है। जिले का सांसद बनने का सपना देखने वाले लोग अपने राजनैतिक आकाओं की परिक्रमा करने में जुट गये है। वैसे तो सपा,भाजपा,बीएसपी आदि के बैनर तले कई लोग चुनाव लड़ने के इच्छुक है मगर सबसे बड़ी फेहरिस्त...

Read more

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

Very Best Vpn Apps for Android Features

0

Posted on : 30-12-2018 | By : JNI-Desk | In : Free VPN

the Most Effective Vpn Apps for Android Chronicles

As the apps are an incredible innovation, they can be implemented poorly. Moreover, the app also offer energy meter to purchase its servers located in quite a few countries in order to in somewhere to comprehend that state’s VPN server offers you the very best speed. Wide range of VPN programs for android are flooded all over the industry. Most VPN apps offered for Android around the Play Store aren’t completely complimentary programs, they’re freemium broadly speaking.

The Android app is still super-cute and simple to top vpn app for android usage, even though a little light on info.   The Android app is also unusually userfriendly.   Therefore, it gets automatically imperative that you will find that an Android VPN program installed within your own device.   Hence, it becomes automatically important to get an Android VPN app set up on your own device.

https://www.whatismyip.com/what-is-a-vpn/ 

New Ideas Into Top Vpn Applications for Android Android No Time Before Unveiled

If it regards VPN, there’re many suppliers to choose from, each with a variety of features and various prices. VPN offers you that security whenever you’re performing a transaction or employing a people wi fi network. As it’s to do with picking the excellent VPN, you have a lot of alternatives. You might as well should install the best free VPN on mac os.

Top Vpn Apps for Android – the Conspiracy

If this is the case, subsequently VPN will address your problem. Setting up VPN on Android surely seems to function as an out standing idea.   Cost-free Android VPN have bandwidth limits that are normally very unreasonable.   A critically important factor you have to take into consideration when utilizing a no cost Android VPN is the fact that in the event that you’re not having to pay for it, then you’re the product. 

https://pixelprivacy.com/vpn/ 

पत्रिका देगी केंद्र व प्रदेश सरकार की योजनाओं की जानकारी:डॉ० अरविन्द

0

Posted on : 30-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(मोहम्मदाबाद) लोक अधिकार मंच का कार्यालय खुलने के बाद ग्रामीणों को सरकार की योजनाओं से संबंधित जानकारी दी गई| इससे साथ ही साथ उनके स्वास्थ्य को लेकर भी चर्चा हुई|
कस्बे में लोक अधिकार मंच के जिलाध्यक्ष डॉ० अरविंद गुप्ता ने फीता काटकर व दीप [प्रज्वलित कर कार्यालय का शुभारंभ किया| इस दौरान उन्होंने किसानों को सरकारी योजनाओं के द्वारा आम जनमानस की बचत के संबंध में जानकारी दी| उन्होंने कहा कि जल्द ही किसानों के लिए संगठन द्वारा किताब उपलब्ध कराई जाएगी, जिसमें सरकार से जुड़ी हुई तमाम योजनाओं की जानकारी होगी| उन्होंने कहा कि अच्छे स्वास्थ्य के लिए लोग अपनी दिनचर्या में बदलाव करें |उन्होंने पोस्टर भी बनवाए हैं|अभी तक 80 हजार घरों पर नागरिक जागरूकता के लिए उन्हें लगा जा चुका हैं| पूरे जिले में इस तरह से पोस्टर लगाने की योजना है| उन्होंने कहा कि कार्यालय खुलने से मोहम्मदाबाद के आसपास के क्षेत्रों को अत्यधिक लाभ होगा| इससे सरकारी योजनाओं की समस्त जानकारी व दिशा निर्देश मिल पायेगा| कार्यालय प्रभारी व दो सहायक हमेशा कार्यालय में मौजूद रहेंगे| इस दौरान जगदीश सिंह शाक्य, बलराम,अजीत,सुमित गुप्ता, आकाश, रोहित, हरनाथ सिंह, इज्जत सिंह, चंदन आदि ने डॉ० अरविन्द का स्वागत किया|

प्रो० रामगोपाल यादव के समधी दलगंजन सिंह का निधन

0

Posted on : 30-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa

फर्रुखाबाद:(मोहम्मदाबाद)सपा के राष्ट्रीय महासचिव प्रो० रामगोपाल के समधी पूर्व सपा जिलाध्यक्ष दलगंजन सिंह यादव का बीती रात निधन हो गया| उनके निधन होने से सपा नेताओं के साथ साथ अन्य राजनीतिक दलों में भी शोक की लहर दौड़ गई|
कोतवाली क्षेत्र के ग्राम नदौरा निवासी दल गंजन सिंह यादव एक जमाने में सपा के दिग्गज नेता माने जाते थे उन्हें सपा नेता ही नहीं बल्कि अन्य पार्टियों के नेता भी सम्मान देते थे| वर्तमान में सपा के राष्ट्रीय महासचिव प्रो० रामगोपाल यादव के समधी दल गंजन सिंह यादव का बीती रात निधन हो गया| यह समाचार जब सपा नेताओ को मिला तो उनमे शोक की लहर दौड़ गयी| रविवार को उनके आवास पर सपा के पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह यादव,पूर्व मंत्री सतीश दीक्षित,जिलाध्यक्ष नदीम अहमद फारुखी,जिला महासचिव मंदीप यादव,सचिन सिंह यादव,सुबोध यादव,पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव,जोगेंद्र सिंह यादव व जिला पंचायत सदस्य प्रदीप यादव आदि पंहुचे|
इसके बाद एसडीएम सदर अमित आसेरी,सीओ अमृतपुर सुरेन्द्र तिवारी आदि भी उनके आवास पर पंहुचे| जिसके बाद दलगंजन सिंह के पार्थिव शरीर को तिरंगे में लपेटकर गार्ड आफ ऑनर दिया गया जिला महासचिव मंदीप यादव ने बताया कि दलगंजन सिंह मिसा कानून के विरोध के दौरान जेल गये थे| उसी के लिए उन्हें गार्ड आफ आनर दिया गया|

खास खबर:सलाखों के पीछे दम तोड़ रहा कैदियों का हुनर!

0

Posted on : 30-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, JAIL, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)1868 में निर्मित केन्द्रीय कारागार फतेहगढ़ भी एक समय उद्योगों की खान हुआ करता था। एक से एक हुनरदार कैदी विभिन्न उद्योगों से करोड़ों रुपये की आमदनी जेल प्रशासन को देते थे। लेकिन समय की मार और शासन व सरकार की अनदेखी के चलते जेल के उद्योग भी बिलकुल बंद ही हो गये। कहीं न कहीं कैदियों का राजनीतिकरण और हुनरमंदों की कमी भी इसके आड़े आ गयी। कच्चा माल भी जेल प्रशासन को मुहैया नहीं हो पाया रहा है। सेन्ट्रल जेल में बनी हुई जूट व सूत का सामान आज भी बेहतरीन माना जाता है|
केन्द्रीय कारागार के इतिहास की तो अंग्रेजी शासनकाल में एच रावर्ट इण्डियन मेडिकल सर्विसेज के अंग्रेज अधीक्षक के साथ-साथ तीन यूरोपियन जेलर, आठ कार्यालय लिपिक, 25 बार्डर व 27 रिजर्व बार्डर, एक यूरोपियन मेट्रन की देखरेख में कारागार को शुरू किया गया था। एशिया की सबसे बड़ी मानी जाने वाले केन्द्रीय कारागार फतेहगढ़ 989 बीघे में फैली है। दर असल उसी समय से कारागार में कैदियों के हुनर को उत्पादों में बदलने का प्रयास किया गया। कारागार में सन 1882 में कपड़ा, तम्बू, लोहे का तसला, कटोरी बनाने का उद्योग प्रारंभ किया गया। सन 1908 में कारागार में दो लाख 15 हजार 72 रुपये की आमदनी इन उद्योगों से अर्जित की थी। आमदनी ठीक ठाक होने पर जेल प्रशासन ने इस पर पुनः जोर दिया। बढ़ते बढ़ते जेल के साथ-साथ देश भी अंग्रेजों के चंगुल से छूटा तो जेल के इन उद्योगों ने और अधिक तरक्की कर दी।
1982 में कारागार में इन्हीं उद्योगों में एक अच्छी सफलता हासिल की। कारागार ने एक करोड़ 34 लाख रुपये की आमदनी इन उद्योगों से की जो अपने आप में एक इतिहास है। जेल में बना तम्बू, लकड़ी इत्यादि का सामान, बाहरी दूसरी जेलों व अन्य पुलिस बलों को सप्लाई किया जाता था| तत्कालीन जेल अधीक्षक एच पी यादव उस समय तैनात थे। जिन्होंने जेल के उद्योग धन्धों में विशेष रुचि दिखायी और जेल में कैदियों की संख्या भी 15 सितम्बर 1983 को 4515 थी। एच पी यादव ने जेल में उद्योग धन्धों को बढ़ावा देने के लिए जेल के फार्म पर मछली पालन हेतु बहुत बड़े बड़े तालाब खुदवाये और सब्जी इत्यादि भी बड़े पैमाने पर पैदा होती थी। लेकिन समय की मार के चलते यह औद्योगिक जेल आज खुद दूसरों पर निर्भर हो गयी है। कभी कारागार के अंदर बन रहे कारीगरी के नमूनों को देश विदेश के लोग भी खरीदने आते थे। लेकिन अब सब कुछ खत्म सा हो रहा है। कमर टूटे इन जेल उद्योगों पर शासन को पुर्नविचार कर इन्हें गति देनी चाहिए।
जेल में दरी और जूट का सामान बेहतरीन
केन्द्रीय कारागार फतेहगढ़ में दरी का काम भी बेहतरीन है| बंदियों द्वारा निर्मित दरी की जादा मांग होती है| सूत से बनी दरी वर्षों तक प्रयोग में लायी जा सकती है| जेल में बनी दरी 6/4 फीट लम्बी 730 ,7/4 फीट लम्बी दरी 880,12/12 लम्बी दरी 3900 रूपये लगभग कीमत की केन्द्रीय कारागार से खरीदी जा सकती है| झोले लगभग 20 रूपये का एक,गार्डन छाता 4366 रूपये, शुद्ध जुट से बना हुआ आसन 180 रूपये का उपलब्ध है|
बंदियों को मिलता हुनर का ना के बराबर दाम
शासन ने जेल में काम करने वाले कारीगर बंदियों को प्रतिदिन की मजदूरी निर्धारित की है| जिसमे तीन तरह के बंदियों को शामिल किया गया है| जिसमे कुशल कारीगर बंदी,अर्द्ध कुशल कारीगर बंदी,अकुशल कारीगर बंदी शामिल है| कुशल कारीगर बंदियों को 40 रूपये.अर्द्ध कुशल कारीगरों को 30 रूपये व अकुशल कारीगर बंदियों को 25 रूपये का मानदेय दिया जाता है| जेल में जूट व सूत का कारीगर का काम करने वाले बंदियों की संख्या 40 से 45 है| जब बड़ी डिमांड आती है तो संख्या 150 बन्दियो तक पंहुच जाती है|
सर्वाधिक पीएसी में रहती थी जेल के तम्बुओं की मांग
जेल के तम्बुओं की मांग सिचाई विभाग,खनन विभाग,नहर विभाग व नलकूप विभाग में तम्बुओं की मांग रहती थी| सर्वाधिक पीएसी में जेल के तम्बू की मांग बनी रहती थी| लेकिन बीते दो वर्षो से जेल में तम्बू सप्लाई में भारी कमी आ गयी है| सेन्ट्रल जेल अधीक्षक एसएचएम रिजवी ने जेएनआई को बताया कि अभी वह नये आये हुए है| उन्हें पूरी जानकारी नही है| इस तरफ जल्द प्रयास किये जायेंगे|

संस्कार भारती ने किया विभूतियों को सम्मानित

0

Posted on : 30-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखबाद:अखिल भारतीय संस्था संस्कार भारती व राष्ट्रिय कवि संगम के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित जादूगर व साहित्यकार प्रोफेसर शिवेंद्र विजय स्मृति सम्मान समारोह का आयोजन किया गया| जिसमे विभिन्न कावियो ने पहुंच कर अपने अपने विचार रखे|
नगर के सरस्वती शिशु मंदिर सेनापति में आयोजित कार्यक्रम शुभारम्भ दीप प्रज्वलन के साथ हुआ| कार्यक्रम में साहित्यकार प्रोफ़ेसर शिवेंद्र विजय स्मृति सम्मान स्मृति अग्निहोत्री,जादूगर शिवेंद्र विजय स्मृति सम्मान जादूगर विष्णु शर्मा एवं दफेदार दीक्षित,अंचल स्मृति सम्मान गरिमा पांडेय को प्रदान किया गया|
कार्यक्रम इसके बाद सरस्वती वंदना और माँ सरस्वती के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की गयी| कार्यक्रम कि अध्यक्षता करते हुए भारती मिश्रा ने नारी के अस्तित्व से सम्बंधित कविता पड़ी| इंदू अंचल ने स्वर्गीय दफेदार दीक्षित कि स्मृति को अपने गीतों में ताजा किया| जादूगर करुणा शंकर गोगा व राधाकृष्ण श्रीवास्तव ने जादू कार्यक्रम में प्रस्तुत किये|कार्यक्रम कि अध्यक्षता कार्यकारी अध्यक्ष संजय गर्ग ने की|
इस दौरान हिंदी साहित्य सम्मलेन की पूर्व अध्यक्ष डॉ० रजनी सरीन,पूर्व प्राचार्य केएम सचदेवा,डॉ० आर के गुप्ता,डॉ० राजकुमार,डॉ० विनोद तिवारी,योगेंद्र शुक्ला,आदेश अवस्थी,सरस्वती शिशु मंदिर के प्रधानाचार्य हुकुम सिंह,सुरेंद्र पांडेय,अनुराग पांडेय,रविंद्र भदौरिया अनुभव सारस्वत आदि लोग उपस्थिति रहे|

[bannergarden id="12"]