Featured Posts

सियासी आकाओं की परिक्रमा में जुटे टिकट के दावेदार! फर्रुखाबाद:लोक सभा की चुनावी आहट शुरू होने के साथ ही सियासी सरगर्मियां बढ़ गई है। जिले का सांसद बनने का सपना देखने वाले लोग अपने राजनैतिक आकाओं की परिक्रमा करने में जुट गये है। वैसे तो सपा,भाजपा,बीएसपी आदि के बैनर तले कई लोग चुनाव लड़ने के इच्छुक है मगर सबसे बड़ी फेहरिस्त...

Read more

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

फर्रुखाबाद की 305 वीं वर्षगांठ पर नबाब बंगश की मजार पर गुलपोशी

0

फर्रुखाबाद:फर्रुखाबाद की स्थापना का 305 वां स्थापना दिवस मनाया गया| फर्रुखबाद मोहत्सव समिति की देखरेख में आयोजित कार्यक्रम के तहत नवाब मोहम्मद खाँ बंगश की मजार पर गुलपोशी की गयी|
फर्रुखबाद मोहत्सव समिति की देखरेख में आयोजित वाब मोहम्मद खाँ बंगश वेलफेयर सोसायटी ने इस वर्ष जश्न ए फर्रुखाबाद का आयोजन किया। गुरुवार को सुबह नंगर मजिस्ट्रेट राम अक्षयवर चौहान के साथ कमेटी सदस्यों ने नवाब मोहम्मद खाँ बंगश के मकबरे पर मौजूद कब्र पर गुल व चादर पोशी की थाना मऊदरवाजा के पीछे स्थित नवाबिया धरोहर बारह दरी में जश्न ए फर्रुखाबाद का आयोजन किया गया। जिसमें सर्वधर्म सदभाव व हमारा इतिहास हमारी विरासत और हमारी फख्र नामक सेमिनार हुआ।
डॉ० रामकृष्ण राजपूत,भंते नागसेन,ज्ञानी गुरुवचन सिंह,मौलाना सदाकत हुसैन सैथली और श्रम विभाग उत्तर प्रदेश सरकार स्टेट नोडल अधिकारी सैय्यद रिजवान अली,जवाहर सिहं गंगवार,पप्पन मियां वारसी,राकेश सागर,डा0 मो0 शमशी,नबाव काजिम हुसैन,अनीस अहमद ने संबोधित किया।डॉ० अफजल हुसैन,डॉ० शाकिर अली मंसूरी,हाफिज पुत्तन मियाँ, अनीस ,सगीर,असद ,डॉ० खालिद सिद्दीकी,अनिल मिश्रा एडवोकेट, प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

तीन तलाक बिल लोकसभा में पास,पक्ष में 245 व विरोध में 11 वोट

0

नई दिल्ली:विपक्षी पार्टियों के विरोध के चलते लंबे अरसे से अटका तीन तलाक विधेयक लोकसभा से पास हो गया है। अब यह विधेयक राज्यसभा में भेजा जाएगा। वोटिंग से पहले इस बिल करीब पांच घंटे तक लंबी चर्चा हुई। विपक्षी और सत्ताधारी दलों के सांसदों ने अपने-अपने पक्ष रखे। वहीं, वोटिंग से पहले कांग्रेस, डीएमके समेत कई दलों ने सदन से वॉकआउट कर लिया। लोकसभा स्पीकर ने तीन तलाक बिल पारित होने के बाद लोकसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी।
लाइव अपडेट्स
– तीन तलाक विधेयक लोकसभा में पारित। विधेयक के पक्ष में 245 और 11 वोट पड़े।
– तीन तलाक में वोटिंग पर ओवैसी का प्रस्ताव गिरा। ओवैसी की तरफ से लाए गए प्रस्ताव को सदन से मंजूरी नहीं मिली। वोटिंग में ओवैसी के प्रस्ताव के समर्थन में 15 वोट पड़े जबकि 236 सांसदों ने प्रस्ताव का विरोध किया।
– तीन तलाक में संशोधन पर वोटिंग हो रही है। वोटिंग से पहले कांग्रेस, डीएमके और एआईएडीएमके समेत कई विपक्षी दलों ने सदन से वॉकआउट कर लिया है।
– ‘तीन तलाक से जुड़ा बिल महत्वपूर्ण है, इसका गहन अध्ययन करने की जरूरत है। यह संवैधानिक मसला है। मैं अनुरोध करता हूं कि इस बिल को ज्वाइंट सिलेक्ट कमेटी के पास भेज दिया जाए : मल्लिकार्जुन खड़गे
– कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सदन में किसी ने तीन तलाक का समर्थन नहीं किया, लेकिन बिल का विरोध जरूर किया। अगर तीन तलाक गलत है तो क्या संसद इस मुद्दे पर शांत रहेगी।
– इसे अपराध बनाने के खिलाफ कमेटी में भेजने की मांग की जा रही है। हमने बच्ची से रेप के मामले में फांसी की सजा का प्रावधान किया है तब किसी ने क्यों नहीं कहा कि फांसी के बाद दोषी के परिवार का क्या होगा। निर्भया कांड के बाद भी सख्त कानून इसी सदन से पारित किया गया था। दहेज कानून में भी सास, ननद, पति जेल जाते हैं, तब सवाल क्यों नहीं उठाए जाते हैं : रविशंकर प्रसाद
– यह पूरा मसला किसी कौम को निशाना बनाने का नहीं और न ही किसी संप्रदाय के वोट बैंक से जुड़ा है। कोर्ट के पांच जजों में से एक ने कुरान की भी व्याख्या की है। जो कुरान में पाप माना गया है वो कानून में कैसे ठीक हो सकता है : रविशंकर प्रसाद
– एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हिन्दुस्तान की मुस्लिम महिलाएं इस बिल का विरोध कर इसी खारिज करती हैं। उन्होंने कहा, ‘यह बिल संविधान के मूल्यों के खिलाफ है। हमारे समाज में समलैंगिकता को मान्यता दे दी गई लेकिन तीन तलाक को आप अपराध बना रहे हैं, उसकी वजह है कि वो कानून हमारे खिलाफ लागू होगा।’
– ओवैसी ने पूछा कि हिन्दुओं के तलाक में एक साल और मुस्लिमों के तलाक में तीन साल की सजा क्यों है। उन्होंने कहा कि कानून मंत्री बताएं कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले की किस लाइन में कहा गया कि तीन तलाक असंवैधानिक है।
– ‘विपक्ष कह रहा है कि तीन तलाक बिल गलत है। तीन तलाक देने वाले को सजा नहीं होनी चाहिए। आप पहले ये बताएं कि आप शिकार के साथ हैं या शिकारी के साथ?’ : प्रेम सिंह चंदूमाजरा, सांसद, अकाली दल
– केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि 477 महिलाएं कोर्ट के फैसले के बाद भी पीड़ित हैं। महिलाओँ को न्याय दिलाना हमारी जिम्मेदारी है। एक भी बहन के साथ अन्याय नहीं होना चाहिए। ईरानी ने कहा कि 1986 के कानून में ताकत होती तो सायरा बोनो को सुप्रीम कोर्ट में जाना नहीं पड़ता। उन्होंने आगे कहा कि इस देश ने वह मंजर भी देखा जब दहेज लेने का कुछ लोगों ने समर्थन किया, लेकिन सदन ने इसे अपराध माना, सती प्रथा को भी खत्म किया गया।
– एआईएडीएमके के अनवर राजा ने कहा कि भारत में शिक्षा और पिछड़ेपन के लिए तमाम सर्वे किए गए हैं, लेकिन किसी भी स्टडी में ट्रिपल तलाक को मुस्लिम समाज के पिछड़ेपन का कारण नहीं माना गया, इसलिए बिल की कोई जरूरत नहीं है। इस बिल से महिलाओं का कुछ भला नहीं होगा, बल्कि वे कमजोर हो जाएंगी। यह बिल मौलिक अधिकारों का हनन है, इससे मुस्लिम मर्दों का शोषण होगा और उनके परिवार बिखर जाएंगे।
– मीनाक्षी लेखी ने कहा कि हिंदुओं के कानूनों को जो लोग हवाला दे रहे हैं उन्हें पता होना चाहिए कि 1955 के कानून से पहले हिंन्दुओं में तलाक होता ही नहीं था।
– भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा कि जो लोग सबरीमाला का शोर मचा रहे हैं उन्हें बताना चाहती हूं कि सबरीमाला का मामला बिल्‍कुल अलग है। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने इस बात को माना है। कुरान में तीन तलाक़ का कोई भी उल्लेख और प्रावधान नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने भी इसे गैरसंवैधानिक माना है।
– रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘ये बिल किसी समुदाय, धर्म या उसकी आस्था के खिलाफ नहीं है। यह बिल महिलाओं के अधिकारों और उन्हें न्याय दिलाने के लिए है। प्रसाद ने पूछा कि अभी तक दुनिया के 20 इस्लामिक देश तीन तलाक पर रोक लगा चुके हैं तो भारत जैसा सेक्युलर देश क्यों नहीं लगा सकता?. प्रसाद ने कहा कि इस बिल पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।
– तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंधोपाध्याय ने लोकसभा में कहा, ‘हम भी ट्रिपल तलाक बिल को संयुक्त सेलेक्ट कमेटी के पास भेजे जाने का आग्रह करते हैं। समूचा विपक्ष यही चाहता है।’
– कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने ट्रिपल तलाक बिल पर लोकसभा में कहा, ‘यह बेहद अहम बिल है, जिस पर विस्तृत अध्ययन किया जाने की ज़रूरत है। यह संवैधानिक मामला भी है। इसीलिए अनुरोध करता हूं कि बिल को संयुक्त सेलेक्ट कमेटी के पास भेजा जाए।’
– दोपहर बाद सदन की कार्यवाही शुरू हो गई। जिसके बाद तीन तलाक बिल पर बहस हो रही है। फिलहाल, केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद बिल के पक्ष में दलील दे रहे हैं।
– हंगामा कम नहीं हुआ, जिसके बाद सदन को फिर से 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।
– सुबह सदन की कार्यवाही शुरू हुई, लेकिन हंगामे के चलते स्पीकर ने लोकसभा को 12 बजे तक स्थगित कर दिया गया।
तीन तलाक की है राजनीतिक अहमियत
तीन तलाक विधेयक राजनीतिक रूप से भी बहुत अहम है। भाजपा इसके जरिए महिलाओं की बराबरी के मुद्दे को ऊपर रखना चाहती है। वहीं पीड़ित मुस्लिम महिलाओं की मदद करने के लिए जमीनी स्तर पर महिला मोर्चा और युवा मोर्चा को तैनात किया गया है। इसे मुस्लिम महिलाओं को अपने पक्ष में करने की कवायद के रूप में भी देखा जा रहा है।
विपक्षियों के लिए मुश्किल बना तीन तलाक बिल
वहीं कुछ विपक्षी दलों के लिए यह मुश्किल का सबब बन गया है, क्योंकि उन्हें आशंका है कि इससे मुस्लिम वोट बैंक छिटक सकता है। यही कारण है कि पहले लोकसभा से पारित होने के बावजूद राज्यसभा में वह अटक गया था, जहां राजग का बहुमत नहीं है। सितंबर में सरकार को अध्यादेश लाकर तत्काल तीन तलाक को गैरकानूनी करार देना पड़ा था। इसमें तत्काल तीन तलाक देने वाले पुरुष के लिए तीन साल की सजा का प्रावधान भी है। उसी अध्यादेश की जगह लेने के लिए 17 दिसंबर को लोकसभा में विधेयक पेश किया गया था। माना जा रहा था कि विपक्ष राजनीतिक परिणाम को देखते हुए इस बार खुले दिल से इसका समर्थन करेगा। लेकिन, सदन में विधेयक पेश होते वक्त इसका विरोध कर कांग्रेस ने जता दिया था कि वह कुछ संशोधनों की मांग करेगी।
दरअसल, कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल सजा के प्रावधान के खिलाफ हैं। पिछली बार गैर जमानती गिरफ्तारी का भी प्रावधान था, जिसे इस बार हटा दिया गया है। इसके बावजूद तृणमूल कांग्रेस की ओर से इसका समर्थन किए जाने की उम्मीद कम है। पश्चिम बंगाल में मुस्लिमों की बड़ी संख्या है और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड भी इसका विरोध करता रहा है।

संस्कार भारती आयोजित करेगी ‘गंगा मनुहार’ कार्यक्रम

0

फर्रुखाबाद:कला एवं साहित्य की अखिल भारतीय संस्था संस्कार भारती गंगा मनुहार कार्यक्रम के तहत देश की सभी नदियों का जल लेकर प्रयागराज पंहुचेगी| कार्यक्रम का उद्देश्य जनमानस को जल एवं नदी संरक्षण के प्रति जागरूक करना है|कार्यक्रम के माध्यम से जनमानस तक संस्कार भारती विमलता,अभिराल,स्वच्छता का संदेश पंहुचायेगी|
नगर के नया कोठा पार्चा स्थित एशियन कम्प्यूटर सेंटर पर एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया| जिसमे संस्कार भारती के प्रांतीय महामंत्री सुरेन्द्र पाण्डेय ने बताया कि फर्रुखाबाद इकाई द्वारा यह कार्यक्रम 6 जनवरी को पांचाल घाट पर विधिविधान से पूजा आदि के साथ प्रारंभ होगा| उन्होंने बताया कि माँ गंगा ने देश भर की सभी नदियों व नद को मनुहार पत्रिका के माध्यम से त्रिवेणी जल के साथ आमंत्रण भेजा है| इस आमंत्रण को लेकर संस्कार भारती के कला साधक देश भर में कार्यक्रम आयोजित करेगी| संस्कार भारती की प्रांतीय बैठक में भाग लेकर चित्रकूट से फर्रुखाबाद लौटने पर उन्होंने बताया कि संस्कार भारती के संस्थापक व संरक्षक बाबा योगेंद्र एवं क्षेत्र प्रमुख के माध्यम से त्रिवेणी का जल व मनुहार पत्रिका प्राप्त हुई है|
पूरे प्रांत में यह कार्यक्रम भव्यता के साथ आयोजित होगा। 10 जनवरी को देश भर के कलाकार अपने अपने स्थान से जल कलश लेकर प्रयागराज पहुंचेंगे| वहां पर 11 व 12 जनवरी को एक भव्य कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा एवं देशभर की सभी नदियों के जल का गंगा में आमेलन किया जाएगा। संस्था की सचिव आकांक्षा सक्सेना ने बताया कि फर्रुखाबाद इकाई द्वारा यह कार्यक्रम 6 जनवरी दोपहर 1 बजे पांचाल घाट पर होगा| वहां पूजन के साथ नदी स्वरूप कन्या जल कलश लेकर चलेगी जो पंडाबाग तक एक भव्य शोभायात्रा का आयोजन होगा| फर्रुखाबाद से प्रयागराज के लिए दो नदियों गंगा व काली नदी के जल कलश जाएंगे| इस दौरान रविंद्र भदौरिया, विभाग संयोजक अरविंद दीक्षित, कार्यकारी अध्यक्ष संजय गर्ग, मीडिया प्रभारी अनुराग पांडेय आदि मौजूद रहे|

लुटेरे गिरोह के सात सदस्यों सहित,कार बरामद

0

Posted on : 27-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(मोहम्मदाबाद)पुलिस ने दबिश के दौरान लूट को अंजाम देने वाले गिरोह के सात सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है| उनके पास से एक ओमिनी कार भी बरामद हुई है|
मिली जानकारी के मुताबिक कोतवाली पुलिस ने जनपद मैनपुरी के बेबर में मारुती कार में कुछ लोग फर्रुखाबाद के लिए सबारी भर रहे थे| उसी समय एक युवक व युवती फर्रुखाबाद जाने के लिए कार में सबार हो गये| कार में पहले से ही सात लोग सबार थे| कार जब कोतवाली मोहम्मदाबाद क्षेत्र के इटावा-बरेली हाई-वे पर स्थित कारगिल पम्प के निकट पंहुची तो चालक ने कार रोंक दी और दोनों युवक-युवती के तमंचा लगा कर लूट लिया और फरार बेबर की तरफ फरार हो गये|
घटना की सूचना मिलने पर पुलिस आरोपियों की तलाश में बेबर की तरफ गयी| जब पुलिस बेबर से वापस आ रही थी तभी अचानक सामने से काली नदी के पास ओमनी कार दिख गयी| पुलिस ने ओमनी को रोंककर लुटेरों को दबोच लिया| उनके पास के तमंचा बरामद हुआ है| पुलिस कार व तमंचा सहित आरोपियों को कोतवाली ले आयी| पुलिस आरोपियों से पूंछतांछ कर रही है|
प्रभारी निरीक्षक डीबी तिवारी ने बताया कि जाँच की जा रही है| जाँच के बाद कार्यवाही की जायेगी|

पिकअप की टक्कर से बाइक सबार मिस्त्री सहित दो की मौत

0

Posted on : 27-12-2018 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, Politics, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(जहानगंज) बाइक से वाहन मिस्त्री व उसके साथी सहित दो की पिकअप की टक्कर से मौत हो गयी| पुलिस ने मौके पर पंहुच कर पिकअप को कब्जे में ले लिया| वही मृतको को पुलिस ने एम्बुलेंस से भेज दिया|
जनपद कन्नौज के छिबरामऊ के ग्राम मोहल्ला सुभाष नगर निवासी कार मिस्त्री 26 वर्षीय अंकित पुत्र विनोद कुमार व उसका साथी मोहल्ला नई बस्ती निवासी नसरुद्दीन वाहनों पर पेंट करने का कार्य करते थे| गुरुवार को वह शहर कोतवाली क्षेत्रों कादरी गेट निवासी मो० इस्लाम के यंहाकार पर पेंट करने के लिए आये थे| वह दोनों बाइक से घर वापस जा रहे थे| उसी दौरान थाना जहानगंज के ग्राम रूनी के निकट मुख्यमार्ग पर सामने से आ रही तेज रफ्तार पिकअप ने बाइक सबारों के जोरदार टक्कर मार दी| जिससे कार्य करके वापस जा रहे अंकित,नसरुद्दीन की मौके पर ही मौत हो गयी|
घटना की सूचना पर पंहुची पुलिस ने एम्बुलेंस से नसरुद्दीन को लोहिया अस्पताल भेजा| जिसे डॉ० प्रभात सेंगर ने मृत घोषित कर दिया| जबकि अंकित को पुलिस ने पोस्टमार्टम घर भेज दिया| अंकित के भाई नीलू ने जानकारी दी| अंकित का विवाह बीते तीन वर्ष पूर्व हालामऊ ठठिया कन्नौज निवासी शीलू के साथ हुआ था|
प्रभारी निरीक्षक ने संजीब राठौर ने बताया कि पिकअप को कब्जे में ले लिया गया है| चालक मौके से फरार हो गया| तहरीर आने पर मुकदमा दर्ज किया जायेगा|

[bannergarden id="12"]