Featured Posts

सियासी आकाओं की परिक्रमा में जुटे टिकट के दावेदार! फर्रुखाबाद:लोक सभा की चुनावी आहट शुरू होने के साथ ही सियासी सरगर्मियां बढ़ गई है। जिले का सांसद बनने का सपना देखने वाले लोग अपने राजनैतिक आकाओं की परिक्रमा करने में जुट गये है। वैसे तो सपा,भाजपा,बीएसपी आदि के बैनर तले कई लोग चुनाव लड़ने के इच्छुक है मगर सबसे बड़ी फेहरिस्त...

Read more

गणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानेंगणतंत्र की वर्षगांठ का उल्लास,तिरंगे से सजी दुकानें फर्रुखाबाद:गणतंत्र दिवस को लेकर पूरा शहर तिरंगे रंग में रंगा नजर आ रहा है। गणतंत्र दिवस की वर्षगांठ की रौनक शहर में नजर आने लगी है। बड़े व्यवसायियों और ठेली व्यापारियों ने अपनी दुकान तिरंगे, दुपट्टों, मालाओं, पतंगों से रंग दिया है। बाजार में केसरिया, सफेद और हरे रंग से बने...

Read more

जेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों की डिमांडजेएनआई विशेष: कुम्भ में बढ़ी फतेहगढ़ सेन्ट्रल जेल के भगवा झोलों... फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ में बनने वाले झोले आदि सामान तो वैसे भी मजबूती के मामले में बेजोड़ माना जाता है| लेकिन आम जनमानस में इसकी खरीददारी को लेकर साधन उपलब्ध नही है| लेकिन इसके बाद भी उसको खरीदने की चाहत लोगों के जगन में रहती है| अब कारोबार कम है लेकिन...

Read more

महिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफामहिलाओं का प्रतिशत कम देख नोडल अधिकारी खफा फर्रुखाबाद: अपने निरीक्षण में महिलाओं की संख्या गाँव के पुरूषों से काफी कम देख नोडल अधिकारी खफा हो गये| उन्होंने कहा की सरकार बेटी-बचाओं और बेटी पढाओ पर अपना पूरा जोर दे रही है| लेकिन इस गाँव में पुरुष वर्ग की अपेक्षा महिलाओं का प्रतिशत चिंता का विषय है| उन्होंने अधिकारियों...

Read more

कोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकारकोटेदारों का खाद्यान्न उठाने से साफ़ इंकार फर्रुखाबाद:अपनी मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे जिले के कोटेदारों ने अब राशन उठान ने मना कर आन्दोलन की राह पकड़ ली है| जिसके चलते कोतेदारों ने साफ़ कह दिया की जब तक उनकी मांगो पर विचार नही होगा तब तक वह राशन नही उठायेंगे| नगर के ग्राम चाँदपुर में आयोजित हुई उचितदर विक्रेताओं...

Read more

छुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरीछुट्टा गोवंश के भरण-पोषण को 78.5 करोड़ की मंजूरी लखनऊ:छुट्टा गोवंश के रखरखाव के लिए चरागाह की जमीनों का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए ग्राम सभा की भूमि प्रबंधक समिति किसी गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) या कॉरपोरेट घराने से अनुबंध कर सकती है। वहीं पशु आश्रय स्थलों की स्थापना चरागाह की जमीन से हटकर अनारक्षित श्रेणी की भूमि...

Read more

सामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को मौत के घाटसामूहिक बलात्कार के बाद तीन दरिंदों ने उतारा था गोल्डी को... फर्रुखाबाद:(अमृतपुर)बीते दिन खेत में दुष्कर्म के बाद हत्या किये जाने की घटना ने पूरे जिले में सनसनी फैला दी थी| घटना के बाद से एसपी ने क्षेत्र में डेरा जमा लिया था| 24 घंटे के भीतर घटना करने के आरोपियों में से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया| जबकि एक फरार आरोपी पर ईनाम भी रखा...

Read more

खास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजीखास खबर:यह शख्स रोज करता परिंदों की मेहमान नवाजी फर्रुखाबाद:(दीपक शुक्ला)ऋषि-मुनि, संत-महात्मा सही कह गए हैं कि पशु-पक्षियों को दाना-पानी खिलाने से मनुष्य के ज‍ीवन में आने वाली कई परेशानियों से छुटकारा बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। एक ओर ईश्वर की भक्ति के कृपा पात्र बनते हैं वहीं हमें अच्छे स्वास्थ्य के साथ ही पुण्य-लाभ...

Read more

मिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वादमिक्सी ने मिस कर दिया सिल-बट्टा के मसालों का स्वाद फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)पुराने समय में खाना पकाने के लिए मसाले पीसने के लिए ओखली-मूसल और सिल बट्टा का इस्तेमाल किया करते थे। बेशक इन चीजों में मसाला पीसने में मेहनत और समय दोनों खर्च होते थे लेकिन खाने का जो स्वाद आता था, यब बात आपके परिजन अच्छी तरह जानते होंगे। आजकल लोगों...

Read more

मुख्यमंत्री के नाम पर पेच,राजस्थान में समर्थक ने बसों में की तोड़फोड़

Comments Off on मुख्यमंत्री के नाम पर पेच,राजस्थान में समर्थक ने बसों में की तोड़फोड़

Posted on : 13-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, Politics-CONG., जिला प्रशासन

नई दिल्ली:मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों में जीत के बाद कांग्रेस ने वापसी तो कर ली है, लेकिन इन राज्यों में मुख्यमंत्री किसे बनाया जाए, इसका फैसला कांग्रेस आलाकमान अभी नहीं कर पाया है। तीनों राज्यों में कांग्रेसी कार्यकर्ता अपने-अपने नेताओँ के समर्थन में नारेबाजी कर रहे हैं। भोपाल में कांग्रेस मुख्यालय के बाहर कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक आमने-सामने दिख रहे हैं। वहीं राजस्थान में कांग्रेस कार्यकर्ता उग्र होते दिख रहे हैं। सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग को लेकर कुछ कार्यकर्ताओं ने एनएच- 21 पर जाम लगा दिया है। रोडवेज की एक बस में तोड़फोड़ भी की गई है।
बतादें कि बुधवार को इन तीनों राज्यों में विधायक दल की बैठक के बाद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को सीएम का नाम फाइनल करने का प्रस्ताव दिया गया था। ऐसे में मुख्यमंत्री पर अंतिम फैसला पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को लेना था।
राफेल डील को लेकर कल आएगा सुप्रीम कोर्ट का फैसला
– ‘फैसला जल्द लिया जाएगा, चिंता करने वाली कोई बात नहीं है। थोड़ा इंतजार कीजिए, तीन राज्यों के मुख्यमंत्री पर अभी फैसला लिया जाना है, इसमें थोड़ा वक्त लगता है। पार्टी अध्यक्ष इस पर निर्णय लेंगे। मैं कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं कि वे शांत रहें। उन्होंने कड़ी मेहनत की है। जो भी निर्णय होगा वो हम सबको मान्य होगा।’ : अशोक गहलोत
– सचिन पायलट ने पार्टी कार्यकर्ताओं से शांति और शिष्टाचार बनाए रखने की अपील की है। पायलट ने एक बयान जारी कर कहा ‘मुझे नेतृत्व पर पूरा भरोसा है। राहुल जी और सोनिया जी जो भी फैसला लेंगे वो मुझे मान्य होगा। पार्टी के सम्मान को बनाए रखना हमारी जिम्मेदारी है। हम पार्टी के लिए समर्पित हैं।’
– सचिन पायलट को सीएम बनाने की मांग को लेकर कांग्रेसियों ने एनएच-21 जाम किया, बस में भी लगाई आग।
– राजस्थान के करौली में सचिन पायलट के समर्थकों ने रोड जाम किया।
– जयपुर में सचिन पायलट के घर के बाहर जुटे समर्थक, नारेबाजी कर रहे हैं।
– भोपाल में कांग्रेस दफ्तर के बाहर समर्थकों ने पोस्टर लगाकर कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनने की बधाई दी।
– भोपाल में कांग्रेस मुख्यालय के बाहर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की नारेबाजी, कमलनाथ और सिंधिया के समर्थक आमने-सामने
– राजस्थान में सीएम के पद को लेकर सस्पेंस बरकरार, अशोक गहलोत और सचिन पायलट को दिल्ली में रोका गया।
– सोनिया गांधी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के घर पहुंची।
– सूत्रों के मुताबिक राजस्थान के लिए गहलोत और मध्य प्रदेश के लिए कमलनाथ का नाम तय माना जा रहा है। उधर, सिंधिया को डिप्टी सीएम बनाए जाने की भी ख़बरें मिल रही हैं।
– सचिन पायलट और अशोक गहलोत के साथ राहुल गांधी की बैठक खत्म हो गई है। बैठक खत्‍म होने के बाद पहले राहुल के घर से बाहर सचिन पायलट निकले, उसके कुछ समय बाद अशोक गहलोत बाहर आए।
– राहुल गांधी ने सचिन पायलट और अशोक गहलोत को अपने आवास पर बुलाया है। राहुल दोनों नेताओं से भी उनकी दावेदारी पर बात करेंगे। उसके बाद ही कोई फैसला हो पाएगा। दोनों नेता राहुल गांधी के घर पहुंचे चुके हैं। जहां उनसे बातचीत जारी है।
– राजस्थान के निर्दलीय विधायक महादेव सिंह खंडेला ने अशोक गहलोत को सीएम बनाने की मांग की। खंडेला ने कहा, ‘राजस्थान की जनता अशोक गहलोत को सीएम देखना चाहती है। मैं भी यही चाहता हूं और मुझे लगता है कि हाईकमान भी यही फैसला लेगी।’
– राजस्थान के निर्दलीय विधायक राजकुमार गौड़ ने कहा, ‘अशोक गहलोत दो बार राजस्थान के सीएम रहे हैं। उनके पास अनुभव है। राजस्थान की जनता और विधायक उन्हें ही सीएम देखना चाहते हैं।’
– राजस्थान का सीएम किसे बनाया जाए, इसे लेकर राहुल गांधी और पर्यवेक्षकों के बीच मंथन जारी है। वहीं, दूसरी ओर निर्दलीय विधायकों के बयान आ रहे हैं। ज्यादातर विधायक अशोक गहलोत को सीएम देखना चाहते हैं।
– अशोक गहलोत और सचिन पायलट के समर्थक भी दिल्ली पहुंच गए हैं। दोनों के समर्थक कांग्रेस कार्यालय के बाहर अपने-अपने नेताओं को सीएम बनाने के लिए नारेबाजी कर रहे हैं।
– संसद के लिए जाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि विधायकों और कार्यकर्ताओं से राय ली जा रही है, सीएम पद पर जल्द ही फैसला हो जाएगा।
– राजस्थान के पर्यवेक्षक के.के. वेणुगोपाल राहुल गांधी से मिलने पहुंचे हैं। वहीं, मल्लिकार्जुन खड़गे भी राहुल से मिलकर छत्तीसगढ़ के सीएम के लिए अपनी राय जता चुके हैं। अब अंतिम फैसला राहुल गांधी करेंगे।
– राजस्थान में सीएम के दावेदार सचिन पायलट और अशोक गहलोत, राहुल गांधी से मिलने दिल्ली पहुंच चुके हैं। उधर, राहुल गांधी ने पर्यवेक्षकों को भी मुलाकात के लिए बुलाया है। दोनों से बातचीत के बाद ही राहुल गांधी, राजस्थान के सीएम की घोषणा करेंगे।
– अशोक गहलोत ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘पर्यवेक्षकों ने शांतिपूर्ण तरीके से सभी की राय ले ली है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को (राजस्थान के सीएम उम्मीदवार पर) निर्णय लेना है। पर्यवेक्षक दिल्ली पहुंच चुके हैं। आज बातचीत होगी और निर्णय लिया जाएगा।’
राजस्थान के दावेदार
राजस्थान में वसुंधरा सरकार को सत्ता से बेदखल कर कांग्रेस सहयोगियों की मदद से सरकार बनाने जा रही है। यहां पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत और युवा नेता सचिन पायलट मुख्यमंत्री रेस में हैं। दोनों नेताओं के बीच मुख्यमंत्री पद के लिए खींचतान की ख़बरें आ रही हैं, दोनों के समर्थक अपने नेता को सीएम देखना चाहते हैं।
छत्तीसगढ़ के दावेदार
छत्तीसगढ़ में सीएम पद की चुनौती से निपटने के लिए कांग्रेस आलाकमान ने मल्लिकार्जुन खड़गे को पर्यवेक्षक बनाया है। यहां सीएम पद की रेस में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल, पार्टी के वरिष्ठ नेता ताम्रध्वज साहू और प्रतिपक्ष के नेता टीएस सिंहदेव का नाम चल रहा है। इसके अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री चरणदास महंत का नाम भी सीएम पद के लिए लिया जा रहा है।
मध्यप्रदेश के दावेदार
मध्यप्रदेश में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का नाम सीएम के लिए लगभग तय है। इससे पहले यहां ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिया जा रहा था। हालांकि, कल विधायक दल की बैठक में सर्वसम्मति से कमलनाथ का नाम तय हुआ है और उस पर राहुल गांधी की मुहर बाकी है।
ये हैं इन तीन राज्यों के नतीजे
इन तीनों राज्यों में छत्तीसगढ़ को छोड़ दें तो कांग्रेस को बहुमत नहीं मिला है। मध्यप्रदेश में कांग्रेस को 230 में 114 सीटों पर जीत मिली है, जबकि राजस्थान में 200 में 199 सीटों पर हुए चुनाव में 99 सीटें पार्टी की झोली में आई हैं।
दोनों ही जगह पार्टी को सरकार बनाने के लिए बसपा और निर्दलियों का समर्थन मिल गया है। इस तरह कांग्रेस का दावा है कि उसके मध्यप्रदेश में 122 विधायकों और राजस्थान में 105 से ज्यादा विधायकों का समर्थन हासिल है। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने 90 में से 68 सीटों पर भारी बहुमत से जीत हासिल की है।

महिलायों को शिखाये नारी सशक्तिकरण के फार्मूले

Comments Off on महिलायों को शिखाये नारी सशक्तिकरण के फार्मूले

फर्रुखाबाद:सरकार द्वारा महिलायों को सशक्तिकरण बनाने के लिए चलायी जा रही योजनाओं के बारे में ग्रामीणों महिलाओं को जानकारी देकर उन्हें सशक्तिकरण के फार्मूले सिखाये|
विकास खंड शमसाबाद के ग्राम मिल्क सुल्तान पूर्व माध्यमिक व प्राथमिक विधालय की शिक्षिका दीपा शुक्ला व अनामिका ने गाँव में ही महिलाओं के साथ गोष्ठी का आयोजन किया| जिसमे सभी महिलाओं को सरकारी की डायल 102,108 व डायल 100 के विषय में अवगत कराया गया| इसके साथ ही महिलाओं से जुडी सरकारी की अन्य योजनाओ उज्वला योजना आदि के बारे में विस्तार से बताया गया|
इस दौरान आशा रिंकी देवी,रीना,कंचन,सुनीता देवी,पिंकी,कान्ति,सुनीता,गुड्डी,सोनी,बसंती,कुसमा व रामलली आदि रही|

संसद शहीदों की शहादत की 17 बरसी पर निकाला कैंडिल मार्च

Comments Off on संसद शहीदों की शहादत की 17 बरसी पर निकाला कैंडिल मार्च

फर्रुखाबाद:13 दिसम्बर 2001 को संसद पर हुए हमले में शहीद हुए लोगों की शहादत को याद करते हुए कैंडिल मार्च निकालकर उन्हें याद कर श्रद्धांजलि दी गयी|
प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) युवजन सभा के पदाधिकारियों ने संसद भवन के सभी शहीदों को याद कर उनको श्रद्धांजलि दी गयी| पहले पदाधिकारियों ने दुर्गा नारायण महाविधालय से विकास भवन तिराहे तक कैंडिल मार्च निकाला| इस दौरान सभी संसद शहीदों को याद कर उनकी आत्मा की शांति की दुआ की गयी|
इस दौरान शिखर सक्सेना,सुनील यादव,राजेन्द्र सिंह,शेर सिंह,सचेन्द्र प्रताप सिंह,मनीष मिश्रा,किशन शर्मा,गोविन्द पाठक,जोगेंद्र यादव,राजीव कटियार देवेश शर्मा आदि रहे|

संसद हमले में शहीद हुई थी फर्रुखबाद की बेटी व कन्नौज की बहू कमलेश कुमारी

Comments Off on संसद हमले में शहीद हुई थी फर्रुखबाद की बेटी व कन्नौज की बहू कमलेश कुमारी

Posted on : 13-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:(दीपक-शुक्ला)संसद हमले की 17वीं बरसी पर देश शहीदों को याद कर रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि शहीदों की वीरता को देश सदैव याद करेगा। आपको बताते चले की संसद में जो लोग शहीद हुए उनमे जनपद फर्रुखाबाद का नाम रोशन करने वाली साहसी कमलेश कुमारी भी थी| जिसने शहीद होकर देश की सबसे बड़ी पंचायत को बचाया ही साथ ही साथ फर्रुखाबाद का नाम भी संसद की दीवार पर हमेशा की लिए दर्ज करा दिया|
शहर के ग्राम नरायनपुर निवासी राजाराम के घर में पैदा हुई कमलेश कुमारी बचपन से ही होनहार थीं। कुछ कर गुजरने की तमन्ना और सकारात्मक सोच कमलेश के अंदर कूट कूट कर भरी हुई थी। अपने साथ साथ अन्य भाइयों का भी वह पूरा मार्गदर्शन किया करतीं थीं। जवान हुईं कमलेश के पिता राजाराम को उनकी शादी की फिक्र सता रही थी तभी उन्हें एक अच्छा रिश्ता हाथ लगा। पड़ोसी जनपद कन्नौज के सिकंदरपुर छिबरामऊ निवासी किशोरीलाल के पुत्र अबधेश के साथ शादी की बात पक्की हो गयी। दोनो जनपद यह नहीं जानते थे कि एक दिन फर्रुखाबाद की बेटी और कन्नौज की बहू राष्ट्रीय स्तर पर महिलाओं के लिए आदर्श बनेगी। खैर सन 1988 में अपने हाथों में मेहंदी सजाकर कमलेश अनेक तमन्नायें लिए अपनी ससुराल सिकंदरपुर आ गयीं। लेकिन शादी होने के बाद भी उनके सपनों व कुछ कर गुजरने की तमन्ना में फर्क नहीं पड़ा। 6 वर्ष बाद आखिर कमलेश को एक रास्ता नजर आया, जिसका उन्होंने बचपन से ही सपना देखा था। फतेहगढ़ में सन 1994 में सीआरपीएफ की भर्ती हुई तो वह अपने पति अबधेश के साथ अपने मायके नरायनपुर पहुंची और पिता राजाराम से सेना में भर्ती होने की इच्छा प्रकट की। पिता ने उनकी इस इच्छा का समर्थन किया और उसी दौरान कमलेश सेना के सुरक्षा बेडे में शामिल हो गयीं। ट्रेनिंग खत्म होने के बाद उन्हें संसद की सुरक्षा में लगाया गया। जहां वह अपने पति अबधेश व दो पुत्रियों स्वेता व ज्योती के साथ विकासपुरी कालोनी दिल्ली में रहने लगीं थीं।
अचानक 13 दिसम्बर 2001 को संसद भवन की खामोशी में गोलियों की गड़गड़ाहट गूंज उठी। पेड़ों पर बैठे पच्छी दहशत में ऊंचे आसमान पर दौड़े, सड़कों पर अफरा तफरी थी, हर तरफ गोलियां चलने की आवाजें आ रहीं थीं। जैस ए मोहम्मद आतंकी संगठन ने संसद भवन पर हमला बोल दिया। घटना को अंजाम देने आये अफजल गुरू के साथ एस आर गिलानी, अफसान गुरू, शौकत हसन गुरू आदि आतंकियों ने संसद को चारों तरफ से घेरा हुआ था। आखिर इन आतंकियों में से किसी एक की गोली कमलेश के शरीर में आ धंसी और वह बीरगति को प्राप्त हो गयी।

कन्नौज से अपहरण कर लाया गया व्यापारी बरामद

Comments Off on कन्नौज से अपहरण कर लाया गया व्यापारी बरामद

Posted on : 13-12-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(राजेपुर)बीते शनिवार को जनपद कन्नौज से अपहरण कर लाये गये आईसक्रीम व्यापारी को पुलिस ने बरामद कर लिया| घटना के सम्बन्ध में व्यापारी के परिजनों को सूचना दी गयी|
जनपद कन्नौज के कुसुपुर निवासी अब्दुल जब्बर पुत्र अब्दुल सत्तर ने बताया की उसका मुम्बई में आईस्क्रीम का बड़ा कारोबार है| बीते शनिवार को वह अपने घर रहा था| तभी कार सबार चार बदमाशों ने उसका अपहरण कर लिया और कार में डाल लिया| बदमाशों उसके हाथ पैर बांधकर मुंह में कपड़ा ठूंस दिया था| बदमाश उसे दो दिन तक कर में ही लेकर घूमते रहे| इसके बाद उसे किसी कमरें में बंद रखा| अब्दुल जब्बर ने बताया कि बदमाश उसके घर का नम्बर मांग रहे थे|
बीती रात बदमाश उसे लेकर थाना राजेपुर के ग्राम गाँधी के निकट हाई-वे पर पंहुचे| जंहा बदमाश गाडी से बाहर खड़े| उसी दौरान अब्दुल जब्बर ने अपने हाथ किसी तरह खोल लिए और भाग खड़ा हुआ| भागकर वह बीती देर रात लगभग 3 बजे ग्राम गाँधी में पंहुचा| जंहा उसने ग्रामीणों को पूरा मामला बताया| ग्रामीणों ने डायल 100 को फोन किया| जिसके बाद डायल 100 मौके पर आ गयी| उसे थाने पंहुचाया| थाना पुलिस ने कन्नौज पुलिस को सूचना दी| कन्नौज में अब्दुल जब्बर की रिपोर्ट दर्ज है| प्रभारी निरीक्षक राकेश कुमार ने बताया की जाँच की जा रही है| कन्नौज पुलिए को सूचना दी गयी है|

[bannergarden id="12"]