बीजेपी सांसद सावित्री बाई फूले बोली: अयोध्या में महात्मा बुद्ध का मंदिर बने श्रीराम का नहीं

0

JNI NEWS : 09-11-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP

गोंडा:संत-महात्मा के साथ ही भाजपा नेताओं के अयोध्या में श्रीराम का भव्य मंदिर बनाने की मांग के बीच भाजपा की ही एक सांसद ने अनोखी मांग की है। बहराइच से भारतीय जनता पार्टी की सांसद सावित्री बाई फूले ने अयोध्या में श्रीराम के स्थान पर महात्मा बुद्ध का मंदिर बनाने की मांग की है।
गोंडा में आज गोंडा तथा बहराइच के बीच रेल यात्रा फिर से संचालित होने के दौरान मौजूद भाजपा सांसद सावित्री बाई फूले ने कहा कि अयोध्या में श्रीराम के मंदिर के स्थान पर महात्मा बुद्ध का मंदिर बनाना चाहिए। उन्होंने इस पर तर्क दिया कि सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक अयोध्या में साक्ष्यों के तौर पर भगवान बुद्ध के प्रमाण मिले थे।
बीते करीब एक वर्ष से लगातर पार्टी लाइन के विपरीत बयान देकर चर्चा में रहने वाली भाजपा सांसद सावित्री बाई फूले ने अयोध्या को लेकर एक अलग राग अलापा है। गोंडा जंक्शन पर गोंडा बहराइच बड़ी रेललाइन के शुभारंभ के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी की बहराइच सांसद सावित्री बाई फूले ने कहा कि अयोध्या में श्रीराम के मंदिर के स्थान पर महात्मा बुद्ध मंदिर बने तो अच्छा होगा। राम मंदिर पर सवाल में सावित्री बाई फूले ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक अयोध्या मे साक्ष्यों के तौर पर भगवान बुद्ध के प्रमाण मिले थे। अयोध्या में तथागत के अवशेष मिले थे इसलिए अयोध्या में गौतम बुद्ध की प्रतिमा स्थापित हो। उन्होंने कहा कि भारत बुद्ध का था। अयोध्या भी बुद्ध का स्थान था तो अयोध्या में तथागत गौतम बुद्ध की मूर्ति की स्थापना होनी चाहिए। वहां पर महात्मा बुद्ध की मूर्ति तथा मंदिर का निर्माण होना चाहिए।
उन्होंने कहा अयोध्या की विवादित भूमि पर खुदाई की दौरान बुद्ध की कई प्रतिमाएं मिल चुकी हैं। इतना ही नहीं रिसर्च में भी यह बात सामने आई है कि विवादित स्थल बौद्ध धर्म से संबंधित है। सावित्री बाई ने कहा कि हम मांग करते हैं कि अयोध्या के विवादित स्थल पर राम मंदिर नहीं भगवान बुद्ध का विशाल मंदिर बनाया जाए। यहां पर खुदाई के दौरान बुद्ध की प्रतिमाएं मिली हैं। शैक्षिक रिसर्च में भी पता चला है कि वह स्थान बौद्ध धर्म से जुड़ा रहा है। बौद्ध धर्म ही एकलौता ऐसा धर्म है जो जाति या वर्ग के आधार पर भेदभाव नहीं करता है।
अपनी ही पार्टी के खिलाफ आए दिन बयानबाजी करने वाली भारतीय जनता पार्टी की सासंद सावित्री बाई फूले ने एक बार फिर पार्टी लाइन से हटकर बयान दिया है। सावित्री बाई फूले ने कहा है कि अयोध्या की विवादित भूमि पर बुद्ध का मंदिर बनाना चाहिए। फूले ने कहा कि भाजपा ने मुझे 2014 के लोकसभा चुनाव में इसलिए टिकट दिया क्योंकि उन्हें जिताऊ उम्मीदवार चाहिए था। मैं अपने संघर्ष और समर्पण से चुनाव जीती। मेरी जीत में भाजपा का कोई हाथ नहीं है। अब आरएसएस और भाजपा संविधान में बदलाव चाहती है।

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-