सदर विधायक मेजर व पूर्व विधायक कुलदीप सहित चार सैकड़ा सदस्य बार मतदान से बाहर!

0

Posted on : 01-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद: जिला बार एसोसिएशन के चुनाव को लेकर सरगर्मी बढ़ गयी है| जिसके चलते अपना सदस्यता शुल्क जमा ना करने के चलते सदर विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी व पूर्व विधायक कुलदीप गंगवार सहित लगभग चार सैकड़ा सदस्यों को मताधिकार से बंचित रहना पड़ेगा|
बार के चुनाव अधिकारी डॉ० अनुपम दुबे, दीपक द्विवेदी व शिव प्रताप सिंह ने जारी सूचना में कहा है कि बीते 30 अगस्त तक बार के सदस्यों का सदस्यता शुल्क जमा होना था| कुल 1952 सदस्यों में से 1517 सदस्यों ने अपना शुल्क जमा कर दिया| जबकि सदर विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी, भाजपा के पूर्व विधायक कुलदीप गंगवार सहित लगभग चार सैकड़ा बार के सदस्यों को सदस्यता शुल्क जमा ना होने पर मताधिकार से बंचित रहना होगा| चुनाव अधिकारीयों ने शनिवार को 1517 सदस्यों की सूची का प्रकाशन कर दिया| इसके साथ ही आगामी 4 सितम्बर तक आपत्ति मांगी गयी है|
बार एसोसिएशन ने पूर्व में यह भी कहा था कि जो बार के सदस्य है लेकिन उन पर यदि कोई आपत्ति करता है कि वह सदस्या होने के साथ ही विधि व्यवसाय नही करता है तो उस सदस्य को प्रमाण के तौर पर तीन मुकदमे में लगा अपना वकालत नामा पेश करना होगा| चुनाव अधिकारी दीपक द्विवेदी ने बताया कि लगभग चार सैकड़ा सदस्यों में कुछ का शुल्क जमा है लेकिन भूलबस अंकित नही हो पाया तो उसे सुधार कर बैध सूची में शामिल कर लिया जायेगा|

जैन मुनि तरुण सागर की अंतिम यात्रा में श्रद्धालुओं के निकले आंसू

0

नई दिल्लीअहिंसा का मार्ग दिखाने वाले 51 वर्षीय जैन मुनि तरुण सागर महाराज ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। कृष्णा नगर स्थित राधेपुरी में जैन मंदिर के पास महाराज ने अपने चातुर्मास स्थल पर शनिवार सुबह 3 बजकर 18 मिनट पर देह त्याग दी। महाराज काफी लंबे समय से तेज बुखार और पीलिया की बीमारी से जूझ रहे थे। देह त्यागने से एक दिन पहले महाराज ने औषधि त्याग दी थी। अन्य जैन मुनियों के कहने पर गत शुक्रवार को उन्हाेंने थोड़ा बहुत आहार लिया था।
अंतिम यात्रा में भारी भीड़
महाराज की अंतिम यात्रा सुबह 8 बजे राधेपुरी से शुरु हुई जो शाहदरा, दिलशाद गार्डन होते हुए दोपहर बाद उत्तर प्रदेश के मुरादनगर स्थित जैन आश्रम में समाप्त हुई। महाराज का पार्थिव शरीर उनके सिंहासन पर रखा हुआ था, जिसे लोगों ने अपने कांधों पर उठाया हुआ था। इस अंतिम यात्रा में देश के अलग-अलग राज्यों से आए श्रद्धालु जिसमें बुजुर्ग, युवा, महिलाएं, बच्चें व जैन मुनि शामिल हुए।
फूट-फूटकर रो रहे थे श्रद्धालु
अंतिम यात्रा में महाराज अमर रहे के नारे गुंज रहे थे। हर किसी की अांखें नम थीं, बहुत से श्रद्धालु फूट-फूटकर रो रहे थे। श्रद्धालुओं ने कहा कि महाराज के जाने पर आसमान भी जमकर रोया। यमुनापार में तड़के सुबह से ही तेज बारिश हो रही थी, बारिश में ही अंतिम यात्रा निकाली गई। अंतिम यात्रा के कारण जगह-जगह जाम भी लगा।
कड़वे प्रवचन के लिए हुए मशहूर
गत शुक्रवार की रात करीब एक बजे महाराज का स्वास्थ्य काफी बिगड़ गया था, वह डॉक्टरों की देखरेख में थे। लेकिन महाराज ने पहले ही इच्छा जाहिर कर दी थी कि वह किसी भी प्रकार औषधि नहीं लेंगे और अंत में तीन बजे के आसपास उन्होंने देह त्याग दिया। इससे पहले तरुण क्रांति मंच की एक महत्वपूर्ण बैठक हुई, जिसमें यह तय किया गया कि महाराज का अंतिम संस्कार मुरादनगर के तरुण सागरम तीर्थ में होगा। बता दें महाराज ने हरियाणा व दिल्ली विधानसभा और लाल किले के मंच से भी कड़वे प्रवचन दिए थे।
राधेपुरी में किया जीवन का अंतिम चातुर्मास
महाराज ने अपने जीवन का अंतिम चातुर्मास राधेपुरी में जैन मंदिर के पास बने जैन समुदाय के घर में किया। जानकारी के अनुसार महाराज का गत 27 जुलाई से राधेपुरी में चातुर्मास चल रहा था। गत 13 अगस्त को उनके स्वास्थ्य का हाल चाल लेने के लिए योग गुरु बाबा रामदेव भी पहुंचे थे। गत वर्ष महाराज ने चातुर्मास राजस्थान के सीकर में किया था। इसी चातुर्मास के दौरान उनकी तबीयत खराब होनी शुरु हो गई थी।
अस्पतातल में कई दिनों तक रहे भर्ती
राधेपुरी में चातुर्मास के बीच महाराज की तबीयत ज्यादा बिगड़ने के कारण उन्हें श्रद्धालुओं ने वैशाली के मैक्स अस्पताल में भर्ती करवाया। करीब 15 दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहने के बाद भी हालात में कोई सुधार न होने के कारण पुन: राधेपुरी चार्तुमास स्थल पर 30 अगस्त को ले आया गया। उन्होंने अपने शिष्यों व श्रद्धालुओंं से इच्छा जाहिर की थी कि वह संथारा लेना चाहते। 31 अगस्त को उन्होंने खाना पीना छोड़ दिया था। जब यह सूचना अन्य जैन मुनियों को लगी तो वह राधेपुरी पहुंचे और उन्होंने महाराज को समझाया कि वह समाज को उनकी जरूरत है। वह इस तरह का फैसला अभी न लें। जैन मुनियों के समझाने पर उन्होंने थोड़ा बहुत खाना खाया था।

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स से डाकिया बैंक पंहुचाएगा आपके द्वार

1

Posted on : 01-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:मोदी सरकार देश भर में आज से ही इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आइपीपीबी) की शुरुआत कर रही है| जिसके चलते पीएम मोदी ने दिल्ली से इसका शुभारम्भ कर दिया| वही जनपद में सांसद मुकेश राजपूत के द्वारा इस सेवा का शुभारम्भ कराया गया और लोगों को उससे जुड़ने की अपील की|
नगर के ठंडी सड़क स्थित नवभारत सभा भवन में आयोजित कार्यक्रम का शुभारम्भ करने के बाद मौजूद डाककर्मियों व ग्राहकों को उसकी जानकारी दी गयी| कार्यक्रम में बताया गया कि इस बैंक के शुरू होने के साथ ही डाकिया बैंक की सुविधा हर घर तक पहुंचा देगा। बैंकिंग सुविधा की इस होम डिलिवरी के जरिये सरकार समाज में हाशिये पर खड़े आखिरी व्यक्ति को वित्तीय मुख्यधारा में शामिल करने में सफल होगी। इस योजना के शुरू होने के बाद चिट्ठी पहुंचाने वाला डाकिया आपके द्वार बैंकिंग सेवाएं भी पहुंचाएगा। डाकिया बैंक खाता खोलने से लेकर आपका पैसा जमा करने का काम करेगा।
क्या है योजना की खासियत
इस सेवा में जिले में एक शाखा होगी। जो डाकियों के माध्यम से बैंकिंग सेवाएं सीधे घर तक देगी। पोस्ट ऑफिस के वर्तमान खाताधारकों को भी इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की सुविधा स्वत: मिल जाएगी।इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक विश्व का सबसे बड़ा बैंकिंग नेटवर्क होगा जो विशेषत: ग्रामीण क्षेत्रों पर ध्यान देगा।आइपीपीबी द्वारा तीसरे पक्ष की तरफ से भी कई वित्तीय सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। इनमें छोटे कर्ज, बीमा, निवेश और डाकघर बचत खाता शामिल हैं। इसके साथ ही डाकिये के पास पीओएस (प्वाइंट ऑफ सेल) मशीन होगी, जिससे ग्राहक मोबाइल और डीटीएच रिचार्ज, बिजली, पानी एवं गैस आदि के बिल सहित बीमा आदि की किश्तों का भी भुगतान कर सकेंगे।
सभी को दिखाया गया योजना का सीधा प्रसारण
नवभारत सभा भवन में सांसद मुकेश राजपूत, जिलाध्यक्ष सत्यपाल सिंह, जिला महामंत्री विमल कटियार, रुपेश गुप्ता, धीरेन्द्र वर्मा, राहुल राजपूत सजीब मिश्रा बॉबी आदि के साथ ही बैंक कर्मियों व डाकघर ग्राहकों को सीधा प्रसारण दिखाया| जिस दौरान प्रसारण चला उस समय दर्शक दीर्घा मे कुर्सियां खाली बनी रही| इसके साथ ही सांसद ने आईपीपीबी शाखा के शिलापट का अनावरण भी किया|
डाकघर अधीक्षक मान सिंह ने अपने विचार रखे| सौरभ त्रिवेदी, सुजीत प्रधान, जनार्दन द्विवेदी, अभय अक्ग्निहोत्री, विनीत मिश्रा, राकेश अग्निहोत्री, बीपी द्विवेदी,आनन्द भदौरिया आदि रहे|

वोट कटवाने का कार्य कर रही बीजेपी: सपा

0

Posted on : 01-09-2018 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, Politics, Politics- Sapaa

फर्रुखाबाद:समाजवादी पार्टी ने लोक सभा चुनाव की तैयारी तेज कर ली है| जिसके चलते कार्यकर्ताओं को आगाह किया गया है कि बीजेपी वोट कटवाने का कार्य कर रही है इस लिये सभी मतदाता पुनरीक्षण के काम पर ध्यान देने की सलाह दी गयी है|
शहर के आवास विकास स्थित सपा के जिला कार्यालय पर मासिक बैठक जिलाध्यक्ष नदीम फारुखी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई| जिसमे जिलाध्यक्ष ने सभी कार्यकर्ताओ को मतदाता पुनरीक्षण के कार्य में तेजी से लगने को कहा| उन्होंने कहा जब हमारे मतदाता होंगे तभी लोक सभा का चुनाव जीता जा सकेगा|
पूर्व मंत्री सतीश दीक्षित ने कहा कि हम सभी का एक ही लक्ष्य होना चाहिए कि की आगामी चुनाव में सपा का प्रत्याशी ही जीते| उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी के लोग वोट कटवाने में लगे है| वह बेइमानी से चुनाव जीतने का कार्य करेंगे| इस पर सभी ध्यान रखे| सपा के महानगर अध्यक्ष विजय यादव ने कहा कि हम सभी को पूरी ताकत के साथ बूथों को मजबूत करने का कार्य करना है| इसमे पार्टी के युवा साथी तेजी से लगे| ताकि आगामी दिनों में जब लोक सभा का चुनाव हो तो सपा प्रत्याशी ऐतिहासिक मतो से चुनाव में जीतकर देश की सबसे बड़ी पंचायत में बैठकर जिले की जनता का नेतृत्व करे| इस दौरान मनमोहन मिश्रा, जिला प्रवक्ता पुष्पेन्द्र यादव, सरदार तोषित प्रीत सिंह आदि ने अपने विचार व्यक्त किये|
इस दौरान रजत क्रन्तिकारी, इलियास मंसूरी, रिंकू अग्निहोत्री, अमित कठेरिया, आफरोज मंसूरी,संजीब मिश्रा,सुरेन्द्र सिंह गौर आदि रहे|
4 सितम्बर से चलेगा छात्र जागरुकता अभियान
समाजवादी पार्टी के द्वारा 4 सितम्बर से 8 सितम्बर तक जनपद में छात्र जागरूकता अभियान चलाया जायेगा| जिसमे पार्टी विभिन्य विधालयों के छात्र व छात्राओं को पार्टी से जोड़ने का कार्य करेगी|

कृषि यंत्र की दुकान में नकब लगाकर लाखो की चोरी

0

Posted on : 01-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(मोहम्मदाबाद) बीती रात चोरों ने नकब लगाकर कृषि यंत्र की दुकान से नकदी चोरी कर ली| घटना की सूचना पर पुलिस ने मौके पर जाकर जांच पड़ताल की|
कोतवाली क्षेत्र के ग्राम वरचिया निवासी यूनिस खां की शास्त्री नगर में कृषि यंत्र की दुकान है| बीती रात यूनिस दुकान बंद कर घर चले गये| देर रात चोरों ने मकान मालिक सुनील दुबे की दूसरी दुकान में नकब लगा दिया| चोर दुकान में रहे लगभग 1.65 हजार की नकदी साफ कर दी| सुबह जब यूनिस दुकान खोलने आये तो उन्हें चोरी की जानकारी हुई है|
घटना की सूचना पर कस्बा इंचार्ज कौशलेन्द्र सिंह आदि मौके पर पंहुचे| उन्होंने जांच पड़ताल की|

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर बच्चें बने राधा-कृष्ण

0

Posted on : 01-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद: श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर छोटे-छोटे बच्चो ने श्रीकृष्ण व राधा के स्वरूप बनाकर मनमोहक मंचन किया गया| जिसमे विधालय के शिक्षकों ने अपना सहयोग दिया|
नगर के मदर्स प्राइड इंटरनेशनल स्कूल में जन्माष्टमी पर्व का आयोजन किया गया| इस अवसर पर छोटे-छोटे बच्चे राधा-कृष्ण बनकर विभिन्न लीला से सबका मन मोहा। बच्चों द्वारा बाल कृष्ण रूप में मटका फोड़ा गया। इस अवसर पर कार्यक्रम के माध्यम से श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के महत्व पर प्रकाश डाला और कहा कि समय-समय पर इस तरह का आयोजन होना चाहिए। जिससे बच्चे अपनी सभ्यता व संस्कृति को जाने-समझे इसलिए इस तरह का आयोजन होता है। इस दौरान अरनव, आर्यन, दैविक,वैभवी,वंश, पार्थ, अनाया, अद्रिका, अविका, नैमिष आदि बच्चों न्र प्रतिभाग किया|

कब्रिस्तान की भूमि पर शुलभ शौचालय बनाने पर विवाद

0

Posted on : 01-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद:नगर पालिका के द्वारा कब्रिस्तान की भूमि पर शुलभ शौचालय बनाये जाने के आरोप के चलते जमकर विवाद हुआ| मौके पर पंहुचे पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने फ़िलहाल काम बंद करा दिया है|
शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला बाग़ रुस्तम में दरगाह छोटे-बड़े साहब के निकट नगर पालिका के द्वारा शुलभ शौचालय का निर्माण कराया जा रहा था| उसी दौरान असलम कुरैशी ने कब्रिस्तान की भूमि पर शौचालय निर्माण कराने पर आपत्ति दर्ज करायी| मौके पर भीड़ लग गयी| घटना की सूचना पर एसडीएम निशांत प्रताप सिंह व चौकी इंचार्ज बनी सिंह मौके पर आ गये| उन्होंने फिलहाल काम बन करा दिया|
एसडीएम ने जेएनआई को बताया कि फिलहाल कार्य बंद करा दिया गया है| लेखापाल को पैमाईश के लिये कहा गया है| अभिलेख जाँच के बाद ही निर्माण होने दिया जायेगा|

छत की डाट गिरने से चार जख्मी,वृद्धा की मौत

0

Posted on : 01-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(कायमगंज) थाना मेरापुर के ग्राम सयानी निवासी 58 वर्षीय महिला विधा देवी पत्नी राधेश्याम की बीती रात छत की डाट गिरने से मौत हो गयी| घटना की सूचना पर तहसीलदार मौके पर पंहुचे|
महिला विधा देवी मूल रूप से जनपद कन्नौज के छिबरामऊ खडौली की निवासी थी| परिजनों ने विवाद के चलते बीते 10 वर्षो से सयानी निवासी अपनी पुत्री निशा पत्नी श्याम वीर के साथ रह रही थी| बीती रात वह कमरे में अपनी पौत्री 18 वर्षीय देवकी, 17 वर्षीय साधना, पौत्र 15 वर्षीय अतुल व 14 वर्षीय आकाश के साथ सो रही थी| रात तकरीबन 12 बजे अचानक पुरानी छत की डाट उनके ऊपर गिर गयी| जिससे सभी जख्मी हो गये|
विधा देवी की हालत जादा खराब हो गयी| गाँव के प्रधान श्याम दीक्षित ने 102 एम्बुलेस पर फोन किया| फोन करने के लगभग दो घंटे के बाद एम्बुलेंस मौके पर आ गयी| उसे लगभग तड़के 3 बजे सीएचसी में भर्ती किया गया| जंहा उसकी उपचार के दौरान मौत हो गयी| सीएचसी चिकित्सक डॉ० संदीप ने उपचार के बाद उसे लोहिया के लिये रिफर कर दिया| लेकिन उसी दौरान उसकी मौत हो गयी| मौत के बाद ग्राम प्रधान ने मृत प्रमाण पत्र बनाने को कहा| जिस दोनों का विवाद हो गया|
घटना की सूचना मिलने पर तहसीलदार गजेन्द्र सिंह व लेखपाल आशीष कुमार सीएचसी पंहुचे| उन्होंने परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से मुआबजा दिलाने की मांग की| तहसीलदार ने ही घटना की सूचना पुलिस को दी| प्रभारी निरीक्षक मेरापुर सुदीप मिश्रा ने बताया कि पंचनामा भरा जा रहा है| शव का पोस्टमार्टम कराया जायेगा|

कब मनाएं श्रीकृष्ण जन्माष्टमी? जानिए समाधान

0

Posted on : 01-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, धार्मिक, सामाजिक

फर्रुखाबाद:योगेश्वर भगवान श्रीकृष्ण का प्राकट्योत्सव जिसे श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कहते हैं, प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाएगा। लेकिन इस बार जन्माष्टमी को लेकर जनमानस में कुछ संशय है। संशय के पीछे मूल कारण है अष्टमी तिथि का दो दिन रहना। इस बार अष्टमी तिथि 2 एवं 3 सितंबर को रहेगी जिसके चलते श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मनाए जाने को लेकर विद्वानों में मतभेद है।
कुछ विद्वान रात्रिकालीन अष्टमी तिथि व रोहिणी नक्षत्र को मान्यता दे रहे हैं वहीं कुछ विद्वान सूर्योदयकालीन अष्टमी तिथि को मान्यता दे रहे हैं। इस मतांतर के कारण आम श्रद्धालुगण असमंजस में हैं कि आखिर वे श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का उत्सव किस दिन मनाएं… हम अपने पाठकों के लिए इस संशय के समाधान हेतु कुछ तथ्य रख रहे हैं जिसके आधार पर वे स्वयं इस निर्णय पर आसानी से पहुंच सकेंगे कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कब मनाई जाए।
शास्त्रोक्त व्यवस्था:
शास्त्रानुसार भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को बुधवार के दिन रोहिणी नक्षत्र में रात्रि के 12 बजे हुआ था। प्रतिवर्ष भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को भगवान श्रीकृष्ण का प्राकट्योत्सव मनाया जाता है। अत: भगवान श्रीकृष्ण के प्राकट्योत्सव के दिन रात्रि में अष्टमी तिथि व रोहिणी नक्षत्र का होना अनिवार्य है।
अष्टमी तिथि दो दिन:
इस वर्ष भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष में अष्टमी तिथि 2 एवं 3 सितंबर दोनों ही दिन रहेगी। इस वर्ष 2 सितंबर को रात्रि 8 बजकर 46 मिनट से अष्टमी तिथि का प्रारंभ हो जाएगी एवं 3 सितंबर को अष्टमी तिथि 7 बजकर 19 मिनट पर समाप्त होगी। वहीं रोहिणी नक्षत्र का प्रारंभ 2 सितंबर को रात्रि8 बजकर 48 से होगा एवं 3 सितंबर को रात्रि 8 बजकर 08 मिनट पर रोहिणी नक्षत्र समाप्त होगा।
अत: रात्रि के 12 बजे केवल 2 सितंबर को ही अष्टमी तिथि व रोहिणी नक्षत्र रहेगा। पंचांगों में भी स्मार्त (गृहस्थ) के लिए कृष्णजन्माष्टमी का व्रत 2 सितंबर को एवं वैष्णवों के लिए 3 सितंबर को निर्धारित किया गया है।इस प्रकार शास्त्रोक्त तथ्य यह है कि जन्माष्टमी का पर्व चूंकि वैष्णव परम्परा के अनुसार ही मनाया जाता है इसलिए देश में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी 3 सितंबर को ही मनाई जाएगी।
आचार्य सर्वेश कुमार शुक्ला
संगीताचार्य

राशि अनुसार श्रीकृष्ण को लगाएं भोग और करें श्रृंगार, मिलेगा मनचाहा वरदान

0

Posted on : 01-09-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, धार्मिक, सामाजिक

डेस्क:देवकीनंदन, यदुनंदन, राधाप्रिय भगवान श्रीकृष्ण जन्म-उत्सव भादौ कृष्ण पक्ष अष्टमी के दिन रात्रि 12 बजे मनाया जाता है। इस
दिन भगवान श्रीकृष्ण का पूजन विधि-विधानपूर्वक करना चाहिए।
भगवान श्रीकृष्ण के जन्म के दिन प्रात:काल स्नान करके घर को स्वच्छ करें। नाना प्रकार के सुगंधित पुष्पों से घर की सजावट करें व
गोपालजी का पालना सजाएं। तत्पश्चात भगवान को शुद्ध जल से स्नान कराएं फिर दूध, दही, घी, शहद, शकर व पंचामृत से स्नान
कराएं। सभी स्नान के बाद शुद्ध जल से स्नान कराके दूध से अभिषेक करें व भगवान को वस्त्र पहनाएं। आभूषण से सुशोभित कर केशर
या चंदन का टीका लगाएं तथा फिर भगवान को पालने में सुला दें। यदुनंदन की इस प्रकार से पूजा करने से आपको वे आनंददायक
पालने का सुख देंगे।
रात्रि 12 बजे तक भगवान के कीर्तन, भजन व जप करते रहें। रात्रि 12 बजे भगवान की जन्म आरती कर जन्मोत्सव मनाएं। राशि के अनुसार भगवान का पूजन करें तो अनन्य फल प्राप्त होता है।
मेष : लाल वस्त्र पहनाएं व कुंकुं का तिलक करें।
वृषभ : चांदी के वर्क से श्रृंगार करें व सफेद चंदन का तिलक करें।
मिथुन : लहरिया वाले वस्त्र पहनाएं व चंदन का तिलक करें।
कर्क : सफेद वस्त्र पहनाएं व दूध का भोग लगाएं।
सिंह : गुलाबी वस्त्र पहनाएं व अष्टगंध का तिलक लगाएं।
कन्या : हरे वस्त्र पहनाएं व मावे का भोग लगाएं।
तुला : केसरिया वस्त्र पहनाएं व माखन-मिश्री का भोग लगाएं।
वृश्चिक : लाल वस्त्र पहनाएं व मिल्क केक का भोग लगाएं।
धनु : पीला वस्त्र पहनाएं व पीली मिठाई का भोग लगाएं।
मकर : लाल-पीला मिश्रित रंग का वस्त्र पहनाएं व मिश्री का भोग लगाएं।
कुंभ : नीले वस्त्र पहनाएं व बालूशाही का भोग लगाएं।
मीन : पीताम्बरी पहनाएं व केशर-बर्फी का भोग लगाएं।