पत्नी से विवाद में युवक ने फांसी लगाकर जान दी

0

Posted on : 02-08-2018 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:(कमालगंज) पत्नी से विवाद में युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी| पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया|
थाना क्षेत्र के ग्राम कीरतपुर निवासी 35 वर्षीय सुनील पुत्र हरिओम का पत्नी नन्ही से विवाद हो गया था| जिसके बाद पत्नी मायके चली गयी| नन्ही अपनी पुत्री रोशनी को भी साथ ले गयी| पत्नी के मायके जाने के बाद उसने अपने पुत्र अनमोल को खाना खिलाया| खाना खाने के बाद अनमोल घर के बाहर खेलने चला गया|
जिसके बाद सुनील ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली| दोपहर के बाद जब अनमोल घर पर लौटा तो उसने पिता को कमरे के भीतर बंद पाया| पड़ोस के घर से कूदकर जब अनमोल भीतर पंहुचा तो उसने पिता को फांसी पर लटका पाया| जिसके बाद मौके पर भोजपुर चौकी इंचार्ज हरेंद्र सिंह पंहुचे| उन्होंने जाँच पड़ताल कर शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया|
चौकी इंचार्ज ने बताया की मृतक का पत्नी से विवाद हो गया था| जिसके चलते उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली| शव का पोस्टमार्टम कराया गया| अभी किसी प्रकार की तहरीर नहीं आयी| तहरीर मिलने पर कार्यवाही की जायेगी|

बाढ़ पीड़ितों के लिए भगवा पैकेटों में पंहुची राहत सामिग्री

0

फर्रुखाबाद: जनपद में बाढ़ दिन प्रतिदिन बढती जा रही है|दर्जनों गाँव बाढ की चपेट में है| जिसके चलते जिला प्रशासनकी मांग पर सरकार से राहत सामिग्री सभी तहसील मुख्यालयों पर पंहुच गयी| लेकिन राहत सामिग्री बाढ़ क्षेत्र को देखते हुए काफी कम है|
जनपद में तीन तहसीलें है| जिसमे अमृतपुर तहसील पूरी, कायमगंज तहसील लगभग आधी व सदर तहसील आंशिक रूप से बाढ़ से प्रभावित होती है| सदर तहसील में कटरी धर्मपुर, कटरी गंगपुर, कटरी शिकारपुर, कमालगंज क्षेत्र का ग्राम खेमरेंगाई,पंखीयों की मडैया, छोटी गुलरिया, बड़ी गुलरिया, हनुमंत की मडैया आदि मुख्य है|
वही अमृतपुर तहसील के भी दर्जनों गाँव बाढ की चपेट में आते है| सरकारी आंकड़े फ़िलहाल 13 गाँवो को बाढ़ की चपेट में बता रहे है| वही कायमगंज तहसील में भी गाँव बाढ़ से प्रभावित होते है| तीनो तहसीलों में बाढ पीड़ितों की संख्या कई हजारों में होती है| वही सरकार ने केबल 1000 बाढ राहत सामिग्री के पैकेट भेजे है| जिसमे सदर तहसील में कुल 200 पैकेट, अमृतपुर तहसील में कुल 500 पैकेट व कायमगंज में 300 पैकेट राहत सामिग्री के पैकेट भेजे गये है|
राहत सामिग्री के पैकेटों में बाढ़ पीडितों को मिलेगा क्या
बाढ राहत के लिए योगी सरकार ने भगवा पैकेट तैयार किये है| जिसके ऊपर पीएम मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का चित्र छपा है| इसके साथ पैकेट के भीतर 10 किलो चावल, 10 किलो आटा,2 किलो भूना चना, 2 किलो अरहर की दाल, 500 नमक, 250 ग्राम हल्दी, 250 ग्राम धनिया, 1 मोमबत्ती का पैकेट, 1 माचिस का पैकेट, 10 पैकेट बिस्किट, 1 लीटर रिफ़ाइन्ड मिलेगा| वही पैकेट के साथ अलग से 10 किलो आलू व 5 किलो लाई बाढ़ पीड़ितों को उपलब्ध करायी जायेगी|
तहसीलदार सदर ने बताया कि अभी फ़िलहाल 200 पैकेट राहत सामिग्री उपलब्ध हो गयी है| भविष्य में आवश्यकता पड़ने पर और मांग की जायेगी|

पुरुष का व्याभिचार में साथ देने वाली महिला अपराध में बराबर की जिम्मेदारःसुप्रीम कोर्ट

0

Posted on : 02-08-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, राष्ट्रीय, सामाजिक

दिल्ली:सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को व्याभिचार के लिए सिर्फ पुरुष को सज़ा देने वाली आईपीसी की धारा 497 पर सुनवाई हुई, जहां कोर्ट ने टिप्पणी किया कि शादी जैसी संस्था को बचाने और उसकी पवित्रता को बनाए रखने में दोनों पार्टनर बराबर जिम्मेदार होने चाहिए। अगर एक विवाहित महिला अपने पति के अलावा किसी दूसरे पुरुष के साथ संबंध बनाती है, तो ऐसे में केवल पुरुष को दंडित कैसे किया जा सकता है, जबकि महिला उस अपराध में बराबर की जिम्मेदार है।
कोर्ट ने आश्चर्य जताया कि कैसे संसद ने कानून में प्रावधान कर दिया कि अगर कोई विवाहित पुरुष किसी महिला के साथ उसके पति की मर्जी के बिना संबंध बनाता है, तो अपराध की श्रेणी में आएगा। कोर्ट ने कहा कि पति की इजाजत से महिला को दूसरे विवाहित पुरुष के साथ संबंध व्याभिचार को बढा़वा देता है। कोर्ट ने कहा कि कई मौकों पर देखा गया है कि महिला शादीशुदा होने के बावजूद पति से अलग रहती है। ऐसे में उसका किसी दूसरे पुरुष के साथ संबंध बनाना अपराध के दायरे में कैसे आ सकता है।
मामले में जस्टिस इंदू मल्होत्रा ने कहा कि धारा 497 के तहत पत्नी को पति की मर्जी से किसी दूसरे पुरुष के साथ संबंध बनाने को कानून छूट देना बकवास कानून है। क्या पत्नी के साथ एक संपत्ति की तरह बर्ताव किया जाना चाहिए। जस्टिस डीवाई चंद्रचूर्ण ने याचिकाकर्ता के खिलाफ तर्क देते हुए कहा कि धारा 497 शादी की पवित्रता का बचाव करती है। फिर भी अगर एक विवाहित पुरुष शादी से बाहर जाकर एक अविवाहित महिला के साथ संबंध बनाता है, जो कि इस कानून के दायरे में नहीं आता है। यह भी शादी की पवित्रता को बनाए रखने का काम करती है।
जस्टिस इंदू मल्होत्रा ने कहा कि भारत की पहली महिला जज जस्टिस अन्ना चंडी ने विवाहेत्तर संबंध को अपराध के दायरे में लाए जाने को लेकर लॉ कमीशन की रिपोर्ट पर आपत्ति जताई थी।जस्टिस अन्ना ने इस व्याभिचार की धारा को खत्म करने का प्रस्ताव दिया था। उन्होने बताया कि 42वें लॉ कमीशन की रिपोर्ट में पुरुष और महिला दोनों को दोषी बनाए जाने का प्रस्ताव दिया था।

20 लाख के सामान व जेबरात के साथ बाइकर्स गिरोह की महिला सहित पांच आरोपी गिरफ्तार

0

Posted on : 02-08-2018 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद:बाइकर्स गिरोह के द्वारा आये दिन लूट आदि की बारदातों को अंजाम दिया जा रहा था| जिसमे पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है| पुलिस ने महिला सहित गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके पास दो कारों सहित लगभग 20 लाख का जेबरात व अन्य सामान बरामद किया है| जबकि तीन आरोपी मौके से फरार हो गये|
पुलिस अधीक्षक अतुल शर्मा ने पुलिस लाइन सभागार में बताया कि पुलिस को सूचना मिली की आये दिन सड़क चलते लोगों को लूट लेने वाले शातिर कोतवाली मोहम्मदाबाद के बेबर रोड ढिलाबल मोड़ के निकट मौजूद है| सूचना पर स्वाट टीम प्रभारी कुलदीप दीक्षित, थाना मऊदरवाजा के प्रभारी निरीक्षक दधिबल तिवारी, प्रभारी निरीक्षक मोहम्मदाबाद अनूप निगम आदि ने घेरा बंदी कर दी| जिसके बाद पुलिस से बदमाशों की मुठभेड़ हो गयी| इस दौरान पुलिस ने मैनपुरी के नगलामुलू निवासी सभासद पुत्र दलवीर राजपूत पुत्र सुरेश चन्द्र,ममैनपुरी के किशनी रम्पुरा निवासी अनुज शाक्य पुत्र राजकुमार, नगला मुले मैनपुरी निवासी गोरे लाल उर्फ़ नेकराम पुत्र रामचन्द्र इसी गाँव के सुरेश चन्द्र पुत्र सियाराम राजपूत, मोहम्मदाबाद के नगला बीघा निवासी निर्मला पत्नी रामनरेश को पुलिस ने पकड़ लिया|
उनके पास से पुलिस को एक कार सिलेरियों, एक कार क्यूड, 3 तमंचा, 1 लूटी गयी बाइक, 6 चैन, 2 जोड़ी कान के कुंडल,1 जोड़ी कान के कुंडल, 1 पर्स, आधार कार्ड, पेन कार्ड, 5 अंगूठी जनानी, 1 करधनी, 1 अंगूठी, चार हजार की नकदी मिलाकर लगभग 20 लाख का सामान बरामद किया है| एसपी ने टीम को ईनाम देने की घोषणा की है|
एएसपी त्रिभुवन सिंह आदि रहे|

खनन के गड्डे में डूबकर किशोर की मौत

0

Posted on : 02-08-2018 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन, सामाजिक

फर्रुखाबाद: साथियों के साथ बकरी चराने गये किशोर की खनन के गड्डे में डूबकर मौत हो गयी| मौके पर एसडीएम व पुलिस ने जाकर जाँच पड़ताल की|
शहर कोतवाली क्षेत्र के नरायनपुर काली तलैया निवासी रामनिवास जाटव का 10 वर्षीय पुत्र आलोक अपने साथियों के साथ कोतवाली फतेहगढ़ के इटावा-बरेली हाई-वे पर स्थित मारुती शोरुम के पीछे बकरी चराने के लिए गया था| बकरी चराने के दौरान वह अपने दोस्तों के साथ भट्टे के लिये खोदी गयी मिट्टी से हुये गड्डे में नहाने लगा| नहाते समय अचानक वह गहरे पानी में चला गया| जिससे वह डूब गया| उसको डूबा देखकर साथियों ने सूचना घर आकर दी|
तत्काल आलोक की माँ सुधा जातव अपने परिजनों के साथ मौके पर पंहुची| सूचना मिलने पर पुलिस ने गोताखोर बुलाकर उसको बाहर निकलवाया| उसे लोहिया अस्पताल भेजा गया| जंहा डॉ० नीरज यादव ने मृत घोषित कर दिया| एसडीएम् सदर अजीत सिंह मौके पर जाकर लोहिया अस्पताल आये और परिजनों से बात की| मृतक के ताऊ पप्पू ने बताया की आलोक के चार भाई व चार बहन थी| पिता रामनिवास की मौत एक वर्ष पूर्व हो गयी थी| वह गाँव में ही प्राथमिक विधालय में कक्षा एक का छात्र था|
एसडीएम अजीत सिंह ने बताया की जाँच कर परिवार को सरकारी लाभ दिलाने का प्रयास किया जायेगा|