लोक तंत्र पर खतरा था कांग्रेस का आपातकाल

1

JNI NEWS : 26-06-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, Politics-CONG.

फर्रुखाबाद: भाजपा ने आपात काल की 43 वीं बरसी पर लोकतंत्र सेनानियों को सम्मानित किया और कांग्रेस के खिलाफ जमकर बरसे| इसके साथ ही आपात काल से देश की जनता और लोकतंत्र पर क्या असर हुआ इसका भी विस्तार से वर्णन किया गया|
बढ़पुर के एक गेस्ट हॉउस में आयोजित कार्यक्रम में पंहुचे बीजेपी के प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य रमाकान्त शर्मा मुख्य अतिथि के रूप में पंहुचे| उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार द्वारा लगाया गया आपात काल एक काले अध्याय के रूप में याद किया जाता है| आपात काल हमारे सवैधानिक आदर्शों पर सीधा हमला था| उन्होंने कांग्रेस पार्टी सत्ता में बने रहने के लिये और अपने राजनैतिक हितों की खातिर लोकतंत्र की हत्या की थी| उच्च न्यायालय को मूक कर दिया था| वही मीडिया पर प्रतिबन्ध लगा दिया था| लेकिन देश की जनता ने कांग्रेस को सबक सिखाया|
सांसद मुकेश राजपूत ने कहा कि 1975 में लागू किया गया आपात काल भारतीय लोकतंत्र पर सबसे बड़ा हमला था| पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने लोक तंत्र को तानाशाही में तब्दील कर दिया था| आपात काल के दौरान लाखो लोग सलाखों के पीछे चले गये| वही प्रेस की आजादी पर भी अटैक हुआ था| जिलाध्यक्ष सत्यपाल सिंह ने कहा कि युवा पीढ़ी को आपात काल की जानकारी होनी चाहिए|
इस दौरान आठ लोकतंत्र सेनानियों को सम्मानित किया गया| पूर्व विधायक कुलदीप गंगवार, पूर्व चेयरमैंन विजय गुप्ता, जिला महामंत्री शैलेन्द्र सिंह राठौर, संजीव गुप्ता, वीरेन्द्र राठौर, डॉ० प्रभात अवस्थी, प्रदीप सक्सेना आदित्य वाथम व नगर अध्यक्ष हिमांशु गुप्ता, शिवांग रस्तोगी आदि रहे|

पाठक की प्रतिक्रिया (1)

चुनाव के वर्ष में आपातकाल याद आया।उस समय कम से कम रुपयों की कमी नहीं थी।आज भाजपा शासन में रुपयों पर आपातकाल दिख रहा है।बैंक ATM खाली।फिर भी वह समय आज से अच्छा था।

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-