सीआरपीएफ जबान की हत्या में प्रधानाध्यापिका पत्नी व साला हिरासत में

0

JNI NEWS : 13-06-2018 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद:श्रीनगर में सीआरपीएफ सिपाही के पद पर तैनात जबान की हत्या कर शव जलाया गया था| जिसके बाद पुलिस जाँच पड़ताल में जुटी थी| मृतक के भाई की तहरीर पर बीती रात पुलिस ने उसकी शिक्षिका पत्नी व साले को गिरफ्तार कर लिया| पुलिस उससे पूंछतांछ कर रही है| लेकिन अभी रमा ने इस सम्बन्ध में कोई खुलासा नही किया है| रमा दिवाकर विकास खंड राजेपुर के ग्राम चाचूपुर के प्राइमरी स्कूल में प्रधानाचार्य पद पर कार्यरत है।
जनपद एटा थाना अलीगंज के ग्राम झकरई निवासी रमेश चंद ने बीती रात आखिर मृतक की पत्नी रमा दिवाकर व साले पर ही हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया| दर्ज कराये गये मुकदमे में कहा है कि 34 वर्षीय दिनेश कुमार केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल 75 बटालियन श्रीनगर में तैनात था| 6 जून को वह 15 दिन की छुट्टी लेकर घर भगुआ नगला आने के लिये निकला| 8 जून को मृतक दिनेश की पत्नी रमा दिवाकर का माँ के पास फोन आया और बताया की दिनेश 15 दिन की छुट्टी लेकर घर से निकले और अभी तक घर नही आया| 7 जून की रात 1 बजे फोन आया था तब से फोन भी बंद है|
10 जून को सभी परिजन भगुआ नगला आये और उसकी पत्नी रमा दिवाकर से बात की| लेकिन रमा को सहम कर बात कर रही थी | जिसके बाद सभी परिजन पांचाल घाट चौकी आये और पुलिस को पूरी बात से अवगत कराया | पुलिस के कहने से पोस्टमार्टम में जाकर शव की शिनाख्त कर ली| जिसके बाद बीती रात बड़े भाई रमेश ने मुकदमा दर्ज कराया| जिसमे शिक्षिका रमा दिवाकर उसका भाई चीनीग्रान निवासी राहुल पुत्र चन्द्र प्रकाश व उसके अज्ञात सहयोगियों के खिलाफ धारा 302 व 201 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया| मुकदमा दर्ज होने के बाद रमा व उसके भाई को पुलिस ने हिरासत में ले लिया| रमा को महिला थाने भेजा गया है|
पुलिस का कहना है कि रमा ने अपने पति की ही रिबाल्वर से प्रेमी थाना मेरापुर के ग्राम गुठना निवासी अनमोल पुत्र महेश चंद्र दिवाकर के साथ मिलकर दो गोली मार मौत के घाट उतारने का प्रयास किया जब गोली कें बाद भी वह नही मरा तो बिजली के तार से गला कसकर उसकी हत्या कर दी| इसके बाद पेट्रोल लाकर उसके शव को अपनी TVS गाडी में रख घर के निकट मैदान में जला दिया| उसका प्रेमी अनमोल ही मोबाइल व कपड़ो का बैग ले गया| पुलिस ने अनमोल की तलाश में उसके घर दबिश दी| लेकिन वह नही मिला| जिसके बाद पुलिस ने उसके दोस्त रामगोपाल पुत्र सुभाष चन्द्र को हिरासत में ले लिया| लेकिन अभी रमा ने किसी प्रकार की घटना करने के सम्बन्ध में पुलिस को कुछ नही बताया है|

Comments are closed.