साधना हत्याकांड का खुलासा,बेटे को बीटेक कराने के लिये डकैती डाल किया था कत्ल

0

JNI NEWS : 18-02-2018 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद: पुलिस ने कायमगंज के साधना हत्याकांड व डकैती का खुलासा करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है| पुलिस ने हत्याकांड के मुख्य आरोपी नेपाली यादव उसकी पत्नी सहित 4 को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया| उनके पास से नकदी व जेवरात भी बरामद हुये है| एक आरोपी अभी पुलिस के चंगुल से दूर है|
बीते 15 फरवरी को कोतवाली कायमगंज क्षेत्र के पाठक कॉलोनी निवासी साधना पत्नी नरेश सिंह गौड़ की घर के अंदर हत्या कर नकदी व जेवरात लूटे गए थे| पुलिस की कई टीमें घटना के खुलासे में लगाई गई थी| सर्विलांस टीम भी पूरी तरह सक्रिय थी| पुलिस को मृतका के पड़ोसी तम्बाकू व्यवसायी अभिषेक सिंह के घर लगे सीसीटीवी कैमरे से महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगा| इसके आधार पर पुलिस ने जांच शुरु कर दी|
पुलिस ने शक के दायरे में आये साधना के घर के नौकर प्रवेश उर्फ नेपाली यादव पुत्र रामवीर सिंह निवासी उदयपुर कायमगंज को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की| पुलिस की पूछताछ में नेपाल यादव टूट गया| नेपाली ने पुलिस को बताया कि घटना उसने अपनी पत्नी विमलेश व दोस्त रवि उपाध्याय पुत्र अनिल उपाध्याय निवासी गायत्री नगर जहांगीराबाद बुलंदशहर के साथ ही शिवम शुक्ला उर्फ़ अनुपम पुत्र शिवदीन प्रकाश शुक्ला निवासी रेलवे कमरा न० 550 बहरा रेलबे कालौनी आलमबाग लखनऊ,वर्तमान पता शारदा नगर ज्वालापुर हरीद्वार उत्तराखंड के साथ मिलकर की|
मुख्य आरोपी नेपाली ने पुलिस को बताया कि घटना को अंजाम देने में सहयोग करने वाले अनुपम उर्फ शिवम शुक्ला के पड़ोस में कायमगंज में किराये पर रहा था| जंहा नेपाली और अनुपम की मित्रता हुई थी| हाल में ही अनुपम एक लडकी को भगा ले गया था| तभी से वह उत्तराखंड में रह रहा था| घटना को अंजाम देने के आठ दिन पहले नेपाली शिवम के घर उत्तराखंड गया| जंहा नेपाली, शिवम उर्फ़ अनुपम व रवि उपाध्याय ने साधना गौड़ के घर हत्या की योजना बनायी|
घटना को अंजाम देने के लिये अनुपम ने प्रवेश उर्फ़ नेपाली व रवि उपाध्याय को पहले कायमगंज भेज दिया| जिसके बाद अनुपम लगातार फोन पर सम्पर्क में रहा| चार दिन वह नेपाली के घर रुका और शी मौके की तलाश थी| मौका मिलते ही नेपाली ने अपने साढू के पुत्र आशीश यादव उर्फ़ लालू को भी बुला लिया| 12 फरवरी को तकरीबन दोपहर 2 बजे दवाई खाने के लिये पानी लेने साधना गौड़ के पास गया| साधना गौड़ जैसे ही पानी का गिलास वापस रखने रसोई में गयी| तभी अचानक उन्हें रवि ने पीछे से पकड़ लिया और उसी दौरान लालू भी आ गया| जिसकी मदद से साधना के हाथ-मुंह बाँध दिया और कमरे के भीतर डाल दिया| प्रवेश उर्फ़ लालू गेट पर रखवाली के लिये खड़ा हो गया|
जब दूध देने वाला आया तो नेपाली द्वारा अपनी पत्नी विमलेश को भेज दिया गया| और दूध वाले को बाहर से ही भेज दिया|जिसके बाद आरोपियों ने घटना को अंजाम दिया|
पुलिस ने आरोपी प्रवेश उर्फ़ नेपाली, उसकी पत्नी विमलेश, शिवम शुक्ला व रवि उपाध्याय को गिरफ्तार कर लिया| वही नेपाली का रिश्तेदार आशीष यादव फरार है| पुलिस अधीक्षक मृगेंद्र सिंह ने पुलिस लाइन सभागार में घटना का खुलासा किया|
पुलिस को क्या-क्या हुआ बरामद
एक करधनी, दो सोने के कड़े, चार सोने की चूड़ी, एक जोड़ी झुमकी, 4 सोने की चैन, एक मंगलसूत्र, 2 सोने के सिक्के, एक जोड़ी झाला, सोने के दाने, चांदी के सिक्के, एक करधनी, 26 हजार नकद, एक हीरोहोंडा बाइक, मृतका का चुनाव पहचान पत्र, एक वॉकमैंन पुलिस ने बरामद हुआ है| बरामद कुल माल की कीमत 12 लाख रूपये पुलिस ने बतायी है|
सपा के पूर्व विधायक का अंगरक्षक भी रह चुका है नेपाली
पूर्व में मुख्य आरोपी नेपाली समाजवादी पार्टी के कायमगंज क्षेत्र के एक पूर्व विधायक का निजी सुरक्षा कर्मी भी रहा है|
पुत्र की फ़ीस जमा करने के लिये रची साजिश
गिरफ्तार किये गये रवि उपाध्याय ने पुलिस को बताया कि उसने अपने पुत्र की बीटेक की फ़ीस जमा करने के लिये घटना को अंजाम को हामी भरी| उसे नही पता था की कानून का शिकंजा इतनी जल्दी उन तक नही पंहुचेगा| लेकिन पुलिस ने उसे दबोच लिया|

Comments are closed.