मन्नत की कांवड़ यात्रा का गंगा-जमुनी संगम

0

फर्रुखाबाद:(कमालगंज) महाशिव रात्रि पर्व पर क्षेत्र के श्रंगीरामपुर घाट पर कबरियों का आना शुरू हो गया है| जिन्हें जलपान उपलब्ध कराने का जिम्मा लिया है निनौरा श्रंखलापुर के ग्राम प्रधान दिलशाद खां और उनकी टीम ने| वह लगातार तीन दिन से कांबरियों को जलपान की व्यवस्था कर रहे है| यह द्रश्य देखकर जिले की गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल आँखों के सामने घूम गयी|
कवयित्री मंजू जैन की शायरी की याद आ गयी| जिसमे उन्होंने कहा था की ‘जहां हिन्दू-मुस्लिम प्यार से मिलकर रहते हैं, उस देश को हिन्दुस्तान कहते हैं।’ ग्राम प्रधान दिलशाद खां ने टीम बनाकर कोटिया चौराहे पर टेंट लगाकर शिवरात्रि में जल भरने के लिये आने वाले श्रधालुओं को जलपान कराने की व्यवस्था की है| जलभरने के लिये दूर-दूर से शिवभक्त गंगा के घाटों पर पंहुच रहे है| लोगो का आना बीते दो दिन से ही शुरू हो गया था| लेकिन मंगलवार को यह संख्या कई गुना बढ़ गयी| जिन्हें प्रधान दिलशाद और उसने साथियों ने जलपान कराया और उनके गले मिले| साथी ही गंगा जमुनी तहजीब की मिशाल भी पेश की| जो समाज में सांप्रदायिकता फ़ैलाने वालों के मुंह पर तमांचा है|
इस दौरान प्रधान के साथ रामबाबू,महेश,अनीश, आरिफ, समीर, बलवीर, विनोद आदि ने व्यवस्था देखी|

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-