दरक गया छोटे सिंह का सहकारिता पर बना सियासत का किला!

0

JNI NEWS : 08-02-2018 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics- Sapaa, Politics-BJP

फर्रुखाबाद: सहकारी संघों की प्रबंध कमेटी के सदस्यों के नामांकन में ही इसबार छोटे सिंह यादव का वर्षो से बनाया हुआ सियासी किला धरासाई हो गया| वह अपना व पुत्रबधू का नामांकन तक दाखिल नही कर सके| वही अधिकतर सहकारी संघ पर बीजेपी के प्रत्याशियों ने अपना नामांकन किया है|जनपद में 20 सहकारी संघ है|
अमृतपुर,खंडोली,राजेपुर,फतेहगढ़,बढ़पुर,कमालगंज,जहानगंज,मदनपुर,खिमसेपुर,गैसिंगपुर,पखना,सिरौली,शमशाबाद,चिलसरा,मंझना, कंपिल,बराखेड़ा,सिवारा,नवाबगंज व मोहम्मदाबाद पर नामांकन हुआ| नवाबगंज में ही सहकारिता के सियासी खिलाडी माने जाने वाले छोटे सिंह यादव का भी वोट है| 8 फरवरी को सभी 20 सहकारी संघो पर संचालन मंडल के लिये नामांकन हुये| सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक नवाबगंज में छोटे सिंह यादव अपनी पुत्रबधू मनोरमा के साथ पंहुचे| लेंकिन उनका नामांकन यंहा नही हो सका| नबाबगंज में पांच नामांकन हुये| जिसमे बीजेपी के मंडल अध्यक्ष कमल भारद्वाज, पंकज राठौर, प्रभाकर, अहिलकार व जगरानी के नाम शामिल है|
वही फतेहगढ़ सहकारी संघ पर सहकारिता के बीजेपी जिला प्रभारी की पत्नी रीना कटियार, रामपाल, मान सिंह, अरविन्द, मयंक कटियार, प्रवीन कुमार, सूर्यप्रकाश द्विवेदी ने अपना नामांकन किया है| छोटे सिंह वर्तमान में सहकारिता का उपाध्यक्ष है| बीते कई दशक से सहकारिता पर छोटे सिंह का कब्जा था| लेकिन माना जा रहा है कि इस बार उनके सियासी पत्ते सही नही खुल सके| जिससे वह बाजी हारते नजर आ रहे है|
एआर पंकज श्रीवास्तव ने जेएनआई को बताया की छोटे सिंह नवाबगंज आये थे| वह मतदाता सूची लेकर चले गये| उनका नामांकन नही हुआ है| किसी अन्य का कराया है|

Comments are closed.