सुप्रीमो बनते ही राहुल गांधी का बीजेपी पर हमला, बोले-वो आग लगाते हैं, हम बुझाते हैं

0

JNI NEWS : 16-12-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-CONG., राष्ट्रीय

नई दिल्‍ली:तमाम बड़े नेताओं की मौजूदगी में शनिवार को राहुल गांधी ने औपचारिक तौर पर 132 वर्ष पुरानी कांग्रेस पार्टी के अध्‍यक्ष पद का कार्यभार संभाल लिया। इस मौके को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जहां इतिहास का अहम दिन करार दिया वहीं पूर्व कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने भाजपा पर हमला बोलते हुए अपनी भड़ास निकाली। आखिर में बतौर अध्‍यक्ष पहले संबोधन में राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए भाजपा पर जोरदार हमला किया और कहा कि हम कांग्रेस को ग्रैंड ओल्‍ड व यंग पार्टी बनाने जा रहे हैं।
देश को पीछे ले जा रहे हैं पीएम
चुनाव प्राधिकरण के चेयरमैन और कांग्रेस नेता मुल्लापल्ली रामचंन्द्रन ने मंच पर पहुंच कर राहुल गांधी को सर्टिफिकेट सौंपा और राहुल ने कांग्रेस पार्टी की कमान संभाल ली। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने अपने पहले संबोधन में भाजपा पर निशाना साधा और कहा, कांग्रेस ने भारत को 21वीं सदी में पहुंचाया लेकिन प्रधानमंत्री हमें पीछे ले जा रहे हैं। उन्‍होंने कहा, हम भारत के लोगों के लिए प्रतिबद्ध हैं। एक बार आग लगाने के बाद बुझाना मुश्‍किल है। बीजेपी के लोगों ने देश में आग लगाई है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, हम भाजपा को भाई-बहन समझते हैं लेकिन हम उनसे सहमत नहीं हैं। वे आवाज को दबाते हैं लेकिन हम उन्हें बोलने का मौका देते हैं। वे हमारे उपर हमले करते हैं लेकिन हम उनका सम्मांन करते हैं। और यदि भाजपा को गलत कामों से कोई रोक सकता है तो वह कांग्रेस के प्या रे कार्यकर्ता और नेता हैं। हम कांग्रेस को ‘ग्रैंड ओल्ड और यंग पार्टी’ बनाएंगे। हम क्रोध की राजनीति से लड़ेंगे। लोगों की सेवा के लिए राजनीति होती है। आज लोगों को दबाने की राजनीति हो रही है। भारत महान देश है। भारत को कुछ लोग गरीब रखना चाहते हैं।

भाजपा पर तंज के साथ सोनिया ने राहुल को दी बधाई
इस मौके पर कांग्रेस की पूर्व कांग्रेस अध्‍यक्ष व मां सोनिया गांधी ने राहुल को बधाई व आशीर्वाद देते हुए कहा- बतौर अध्‍यक्ष यह मेरा आखिरी संबोधन है। बीस साल पहले मुझे आपने अध्‍यक्ष चुना था। उस वक्‍त मैंने इसी तरह संबोधित किया था। अब राहुल की अध्‍यक्षता में कांग्रेस के सामने नया दौर और नई उम्‍मीदें हैं। उन्‍होंने आगे कहा, राजीव जी से शादी के बाद राजनीति से परिचय हुआ इंदिरा जी ने मुझे बेटी की तरह अपनाया उनसे मैंने भारत की संस्‍कृति को सीखा। इंदिरा जी की मौत के बाद मां छीन गई। वह मेरे लिए बहुत मुश्‍किल दौर था। मेरे पति पर बहुत जिम्‍मेदारी थी। पति व बच्‍चों को राजनीति से दूर रखना चाहती थी। इंदिरा जी की हत्‍या ने मुझे बदल डाला।

हमने दी प्रगतिशील सरकार: सोनिया
सोनिया गांधी ने कहा, मैं राजनीति से दूर रहना चाहती थी। कांग्रेस कमजोर हुई तो मैं अध्‍यक्ष बनी पर बहुत डरी थी। सांप्रदायिक ताकतों को रोकने के लिए मैं अध्‍यक्ष बनी। पार्टी को एकजुट रखने की पूरी कोशिश की। हमने देश को जिम्‍मेदार और प्रगतिशील सरकार दी। हमने समाज के हर तबके का विकास किया। हमने देश के लिए अहम कानून बनाए। अपने संबोधन के आखिर में उन्‍होंने कहा, ‘राहुल मेरा बेटा है तारीफ करना सही नहीं लगता। राजनीति में आने पर राहुल पर भयंकर हमले हुए। लेकिन इन हमलों ने राहुल को मजबूत बनाया सत्‍ता, शोहरत और स्‍वार्थ हमारा मकसद नहीं है, हमारा मकसद देश है। यह नैतिक लड़ाई है। हम डरने और झुकने वाले नहीं है।‘बता दें कि कई कांग्रेसी नेता भी सालों से राहुल गांधी की ताजपोशी के इंतजार में थे। हालांकि पिछले दिनों जब राहुल गांधी को कांग्रेस अध्‍यक्ष चुना गया, तभी यह तय हो गया था कि अब ‘राहुल युग’ की शुरुआत होने जा रही है।

भय वाले राजनीतिक माहौल में राहुल के हाथों में कांग्रेस की कमान

कांग्रेस के इतिहास में अद्भुत दिन बताते हुए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि राहुल गांधी ने कांग्रेस अध्‍यक्ष का पद डर वाले राजनीतिक माहौल के बीच लिया है। उन्‍होंने कहा, ‘एक प्रतिष्ठित शिक्षाविद ने कहा है कि देश में उम्मीदों भरी राजनीति पर भय की राजनीति हावी होना खतरनाक है। राहुल जी हम उम्मीदों की राजनीति में परिवर्तन लाने और इसे बनाए रखने के लिए आप पर निर्भर हैं। पूर्व पीएम ने कहा कि राहुल गांधी को लंबे समय तक प्रशिक्षित किया गया और वह कई सालों से कांग्रेस की कई राजनीतिक गतिविधियों की देख रेख करते आए हैं। मनमोहन सिंह ने कहा कि राहुल साहस और विनम्रता के साथ समर्पण और प्रतिबद्धता, नेतृत्व की एक नई भावना साथ लाए हैं। कांग्रेस के इतिहास में यह एक अद्भुत दिन है कि सोनिया गांधी अपने बेटे को पार्टी की बागडोर सौंप रही हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 19 सालों के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में सोनिया गांधी ने एक दमदार नेतृत्व दिया।बता दें कि कई कांग्रेसी नेता भी सालों से राहुल गांधी की ताजपोशी के इंतजार में थे। हालांकि पिछले दिनों जब राहुल गांधी को कांग्रेस अध्‍यक्ष चुना गया, तभी यह तय हो गया था कि अब ‘राहुल युग’ की शुरुआत होने जा रही है।

कांग्रेस का हर दफ्तर सजा-संवरा
राहुल गांधी की ताजपोशी के लिए 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस दफ्तर पर एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें पार्टी के सभी वरिष्ठ नेताओं के अलावा अन्य राज्यों के प्रमुख लीडर और कार्यकर्ता शामिल हुए। राहुल की ताजपोशी का कांग्रेस में जुनून कुछ ऐसा है कि देश के अन्य राज्यों में भी कांग्रेस पार्टी के दफ्तरों को भी सजाया गया है। राहुल को बधाई देने का सिलसिला भी जारी है।

Comments are closed.