धरने पर डटे सहकारी समिति के सचिव

0

Posted on : 23-10-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, जिला प्रशासन

फर्रुखाबाद: विभिन्न मांगों को लेकर यूपी सहकारी समिति के सचिवों ने धरना देकर प्रदर्शन किया| सचिवों का कहना है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होती, वह आंदोलन समाप्त नहीं करेंगे। आन्दोलन प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर किया गया|

यूपी सहकारी समिति कर्मचारी संघ के बैनर तले सचिव विकास भवन में एकत्रित हुये और उन्होंने विकास भवन के बाहर घरना प्रदर्शन किया| सोमवार को संगठन से जुड़े कर्मचारियों ने नारेबाजी कर धरना दिया। इस अवसर पर संगठन के जिलाध्यक्ष नरेश यादव ने कहा कि संगठन पांच सूत्रीय मांगे कर कर रहा है| जिसमे रुका सम्पूर्ण वेतन भुगतान जल्द किया जाये, समिति में नियमित कर्मचारी भर्ती किये जाये| उनका कमिशन बढ़ाया जाये| आदि पांच सूत्रीय मांगे रखी गयी|

इस दौरान जिला महामंत्री सतेन्द्र सिंह, विजेंद्र सिंह, संदीप यादव, राजीव दुबे, रवि दत्त दीक्षित आदि रहे|

सांसद-विधायक निधियों की भी होगी जांच: चेतन चौहान

0

फर्रुखाबाद: जिले में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक करने आये योगी सरकार के खेल,युवा कल्याण, व्यवसायिक शिक्षा और कौशल विकास मंत्री चेतन चौहान ने साफ़ कहा कि योगी सरकार निष्पक्षता से विकास कार्य करा रही है| योजनायें चला रही है| पार दर्शिता लाने के लिये वह सांसद व विधायको की निधि की भी जाँच करायेंगे|

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में मंत्री ने एंटी भू माफिया, वन विभाग, नलकूप , बिजली विभाग, बेसिक शिक्षा विभाग आदि की समीक्षा की| बैठक में बताया गया की एंटी भू-माफिया अभियान के तहत 641 शिकायत आयी जिसमे से 827 शिकायतों का निस्तारण किया गया| सांसद मुकेश राजपूत ने कहा कि निनौआ और रमन्ना गुलजार बाग में वन विभाग की भूमि पर पौधारोपण किया जाये| विधायक नागेन्द्र सिंह राठौर ने पोस्टमार्टम के समय चिकित्सको की हीलाहवाली पर रोष व्यक्त किया|

जिलाधिकारी मोनिका रानी ने कहा की शहर की ठंडी सड़क को जल्द वजट मिलने की सम्भावना है | समीक्षा के बाद उन्होंने मिडिया से वार्ता के दौरान कहा कि सबसे जांदा सड़क व बिजली की आयी है| उनकी जाँच कराकर कार्यवाही की जायेगी| वही उन्होंने साफ कहा की वह सांसद व विधायको की निधि की जाँच भी करायेंगे| सदर विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी,सुशील शाक्य,एसपी मोहित गुप्ता,सीडीओ अविनाश कुमार आदि रहे|

साउंड सर्विस मालिक की बंदरो के हमले से मौत

0

Posted on : 23-10-2017 | By : JNI-Desk | In : ACCIDENT, CRIME, FARRUKHABAD NEWS

फर्रुखाबाद:(मेरापुर0छत पर गये साउण्ड सर्विस के मालिक पर अचानक बंदरो ने हमला बोल दिया| जिससे वह छत से नीचे सड़क पर जा गिरा उसे गम्भीर हालत में सैफई रिफर कर दिया गया| जंहा उसकी मौत हो गयी|

थाना क्षेत्र के मेरापुर निवासी 40 विनोदकुमार सक्सेना पुत्र रामबाबबू अपने घर की छत पर बंदर भगाने के लिये गया था| अचानक बंदर हमलाबर हो गये| अपनी जान बचाने के लिये वह भागा और छत से सड़क पर जा गिरा| जिससे वह गम्भीर रूप से जख्मी हो गया| परिजन उसे लेकर लोहिया अस्पताल पंहुचे| जंहा हालत जादा गम्भीर होने पर उसे सैफई के लिये रिफर कर दिया गया|

सैफई में उसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी| विनोद की मेरापुर में ही साउण्ड सर्विस की दुकान है| घटना के बाद उसकी पत्नी सुषमा सक्सेना का रो-रो कर बुरा हाल हो गया|

दूसरे के हाथ आवेदन भेजने पर बैरंग लौटाया

0

Posted on : 23-10-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP

फर्रुखाबाद:(कंपिल) नगर पंचायत चुनाव में दावेदारी करने वालो के आवेदन लेने पंहुचे कंपिल प्रभारी व जिला महामंत्री विमल कटियार एक दावेदार के द्वारा अपने साथी से आवेदन देने पर भड़क गये| उन्होंने उसे वापस कर दिया| बाद में दावेदार के खुद आने पर आवेदन लिया गया|
निरीक्षण भवन पहुंचे जिला महामंत्री विमल कटियार ने कंपिल नगर पंचायत के चुनाव के लिए आवेदको के आवेदन प्राप्त किये। उन्हें कई घंटों तक आवेदन के लिए रुकना पड़ा। इस दौरान पूर्व मंडल अध्यक्ष नंदराम शाक्य, मंडल अध्यक्ष किशनु चतुर्वेदी के पिता रामोतार चतुर्वेदी, प्रधान शहाना बेबी, संतोष पाठक, पूर्व चेयरमैंन के पति छोटे शुक्ला, आदेश बर्मा , धीरज शाक्य , प्रेमचंद शाक्य, विमला बाथम पूर्व चेयरमैन, संतोष शाक्य, सुग्रीव शाक्य सहित 16 दावेदारों ने आवेदन किया|

वही चेयरमैंन पद के दावेदार संतोष शाक्य ने अपना आवेदन किसी और के हाथ से भेज दिया| जिसको देखकर विमल कटियार भड़क गये| उन्होंने कहा कि जब दावेदार को आवेदन करने का समय नही है तो वह जनता के लिये समय का निकालेगा| बाद में खुद संतोष शाक्य ने पंहुचकर आवेदन किया| नगर पंचायत कंपिल के वार्ड के दावेदारों ने 10 बार्ड के लिये लगभग 30 ने आवेदन किये|

फतेहगढ सेन्ट्रल जेल में कैदी की गला दबाकर हत्या

0

Posted on : 23-10-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, JAIL, POLICE

फर्रुखाबाद: सेन्ट्रल जेल में हत्या के आरोप में बंद आजीवन कारबास की सजा काट रहे कैदी की गला दबाकर हत्या कर दी गयी| जेल के अंदर से लगभग आठ घंटे के बाद शव बाहर निकाला गया| पुलिस ने पंचनामा भरकर सीएम की मौजूदगी में भेजा|
थाना मेरापुर के ग्राम नौली निवासी 69 वर्षीय हरिभान सिंह यादव पुत्र मुशीलाल यादव को हत्या के आरोप में बीते 20 अगस्त 2015 को आजीवन कारावास की सजा मिली थी| उसके साथ उसके भाई सत्यराम, मुखराम व वीरेन्द्र के साथ ही साथ तीन भतीजे को भी सजा मिली थी| जिसके बाद उसे जिला जेल भेज दिया गया था| जंहा से उसे बीते 31 दिसम्बर 2016 को केन्द्रीय कारागार में तबादला कर दिया गया| उन सभी को भी सेन्ट्रल जेल में ही तबादला कर दिया गया था|

वह सेन्ट्रल जेल की बैरक नम्बर दो में बंद था| उस बैरक में लगभग 145 कैदी बंद है| सोमबार को दो बजे उसका पानी फ़ैलने को लेकर कैदी 50 वर्षीय अमर सिंह पुत्र कृष्ण कुमार निवासी कालपी जालौन से विवाद हो गया| विवाद के दौरान हरिभान ने अमर सिंह पर चप्पल चला दी| जिससे आक्रोशित अमर सिंह ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी|
घटना की सूचना मिलने पर जेल विभाग में हड़कम्प मच गया| नगर मजिस्ट्रेट जैनेन्द्र जैन, कोतवाल दधिबल तिवारी, एसएसआई दीपक कुमार व सेन्ट्रल जेल चौकी इंचार्ज देवेन्द्र गंगवार पंहुचे| वही मृतक कैदी के परिजन भी सेन्ट्रल जेल पंहुच गये| तकरीबन आठ घंटे बाद लगभग आठ बजे शव को जेल से बाहर निकाल कर पंचनामा भरने के लिये भेज दिया गया|

सीएम जैनेन्द्र जैन ने बताया की आपस में हुये विवाद के चलते कैदी का गला पकड़कर उसे धक्का दे दिया| जिससे उसकी मौत हो गयी | उन्होंने बताया की पूरे मामले की न्यायिक जाँच के लिये लिखा गया है|

ताकतवर बैटरी वाले 5 स्मार्टफोन जो होते हैं मिनटों में चार्ज

0

Posted on : 23-10-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, FEATURED, राष्ट्रीय

नई दिल्ली:फ्लैगशिप स्मार्टफोन्स हो या मिड रेंज स्मार्टफोन्स सभी में यूजर्स को एक परेशानी हमेशा रहती है। वह है- बैटरी से सम्बंधित समस्याएं। रैम और कैमरा के अलावा अब स्मार्टफोन्स बैटरी फोकस्ड आने लगे हैं। यूजर्स भी ऐसे फोन्स को वरीयता देने लगे हैं। कुछ ऐसे स्मार्टफोन्स भी कंपनियों द्वारा पेश किए गए हैं जो कम बजट में हैवी बैटरी ऑफर करते हैं।

इन फोन्स की खासियत है की दमदार बैटरी के साथ ये कुछ ही मिनटों में चार्ज हो जाते हैं। इसी के साथ ये फोन्स कम बजट में भी उपलब्ध हैं। आइए जानें कौन- से हैं ये फोन्स:
क्विक चार्ज सिस्टम:
स्मार्टफोन की ज्यादा बैटरी होने के बावजूद हैवी यूसेज के कारण फोन की बैटरी ज्यादा नहीं चल पाती। ऐसे में बड़ी बैटरी के साथ अगर क्विक चार्जिंग सपोर्ट हो तो यूजर को बहुत फायदा हो जाता है।
Moto E4 Plus:
कीमत: 9999 रुपये

इस फोन की सबसे बड़ी खासियत इसकी बैटरी है। यह फोन 5000 एमएएच बैटरी से लैस है। साथ ही यह 10W रैपिड चार्जिंग के साथ आता है। इसके अलावा इसमें 5.5 इंच का एचडी डिस्प्ले दिया गया है जिसका पिक्सल रेजोल्यूशन 720×1280 है। यह फोन 1.4 गीगाहर्ट्ज स्नैपड्रैगन 427 प्रोसेसर और 3 जीबी रैम से लैस है। इसमें 32 जीबी की इंटरनल मैमोरी दी गई है जिसे मामेगापिक्सल का रियर कैमरा दिया गया है जो f/2.0 अपर्चर, ऑटो फोकस और एलईडी फ्लैश से इक्रोएसडी कार्ड के जरिए 128 जीबी तक बढ़ाया जा सकता है। यह फोन एंड्रायड नॉगट पर काम करता है। फोटोग्राफी के लिए इसमें 13 लैस हैं। वहीं, 5 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया गया है। इसका फ्रंट कैमरा f/2.2 अपर्चर और एलईडी फ्लैश से लैस है।
Smartron srt.phone:
कीमत: 11,999 रुपये

फोन को पावर देने के लिए इसमें 3000 एमएएच की बैटरी दी गई है, जो क्विक चार्ज 2.0 को सपोर्ट करती है। इसमें 5.5 इंच का फुल एचडी आईपीएस एलसीडी डिस्प्ले दिया गया है। यह फोन 1.44 गीगाहर्ट्ज ऑक्टा-कोर स्नैपड्रैगन 652 प्रोसेसर और 4 जीबी रैम से लैस है। इस फोन में माइक्रोएसडी कार्ड नहीं लगाया जा सकता है। कंपनी ने यूजर्स के लिए टी क्लाउड पर अनलिमिटेड स्टोरेज दी है। यह फोन एंड्रायड 7.0 नॉगट पर काम करता है। फोटोग्राफी के लिए इसके रियर कैमरा में एफ/2.0 अपर्चर, फेज डिटेक्शन ऑटो फोकस और बीआईएस सेंसर के साथ 13 एमपी कैमरा दिया गया है। वहीं, सेल्फी के लिए 5 एमपी का फ्रंट कैमरा दिया गया है।
Intex Aqua S3:
कीमत: 5590 रुपये

इंटेक्स का यह फोन 2450 mAh बैटरी और क्विक चार्जिंग सपोर्ट के साथ आता है। इसके अलावा इसमें 5 इंच का एचडी डिस्प्ले दिया गया है। फोन में 2GB रैम मौजूद है। साथ ही फोन में 64GB एक्सपेंडेबल स्टोरेज भी मौजूद है।

गुजरात में राजनीति गरमाई, पाटीदार नेता नरेंद्र पटेल ने बीजेपी पर लगाया 1 करोड़ का ऑफर देने का आरोप

0

Posted on : 23-10-2017 | By : JNI-Desk | In : FARRUKHABAD NEWS, Politics, Politics-BJP, Politics-CONG., राष्ट्रीय

अहमदाबाद: गुजरात की राजनीति गरमा हुई है. बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने पूरा जोर लगा दिया है और इसके लिए हर तरह के हथकंडे अपनाए जाने लगे हैं. देर रात पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक नरेंद्र पटेल ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. नरेंद्र पटेल ने कहा कि हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए वरुण पटेल ने उन्हें बीजेपी में शामिल होने के लिए 1 करोड़ रुपये की पेशकश की थी. मुझे पहले 10 लाख रुपये दिए जा चुके हैं. 1 करोड़ क्या रिजर्व बैंक भी मुझे खरीद नहीं सकता|

नरेंद्र ने ये भी बताया कि उन्हें एक करोड़ रुपये की पहली किस्त 10 लाख रुपये दी जा चुकी है, जिस वक़्त नरेंद्र मीडिया के सामने इसका खुलासा कर रहे थे उस वक्त ये 10 लाख रुपये कैश लेकर आए थे. बीजेपी के नेता वरुण पटेल हाल ही में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में पार्टी में शामिल हुए हैं. उनके साथ रेशमा पटेल में बीजेपी में शामिल हुई हैं. ये दोनों पाटीदार आंदोलन से लंबे समय से जुड़े थे. वहीं नरेंद्र पटेल पाटीदार आंदोलन के प्रमुख हार्दिक पटेल के करीबी हैं और वे मेहसाणा से आंदोलन समिति के संयोजक हैं|

कौन हैं नरेंद्र पटेल?
– पाटीदार आंदोलन के प्रमुख हार्दिक पटेल के क़रीबी
– पाटीदार आंदोलन के मेहसाणा के संयोजक
– गुजरात के बड़े ओबीसी नेताओं में से एक

बीजेपी के नेता वरुण पटेल ने इस मामले पर कहा कि 10 लाख नहीं 1 करोड़ रुपये लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस करनी चाहिए थी. राहुल गांधी की सभा में कोई पाटीदार जाने वाला नहीं है. राहुल गांधी की सभा को लेकर कांग्रेस बौखला चुकी है| वहीं गुजरात बीजेपी के प्रवक्ता भरत पांड्या ने कहा कि ये झूठा आरोप लगाया गया है. कांग्रेस के कहने पर नरेंद्र पटेल ने यह ड्रामा किया है| पहले बीजेपी में आने की बात कही और फिर यू-टर्न ले लिया|