सराफा की दुकान के एक दर्जन ताले तोड़ 7 लाख का सोना,चांदी चोरी

0

JNI NEWS : 04-10-2017 | By : JNI-Desk | In : CRIME, FARRUKHABAD NEWS, POLICE

फर्रुखाबाद: चोरों का आतंक दिनों दिन बढ़ता जा रहा है| आम जन मानस ना सड़क पर सुरक्षित महसूस कर रहा है और ना हो अपने बंद दरवाजों के पीछे| बुधवार को सराफा व्यापारी की दुकान के लगभग 1 दर्जन ताले तोड़कर लाखो के सोना-चांदी चोरी आकर लिया गया| सूचना मिलने पर भारी फ़ोर्स मौके पर पंहुचा और जाँच पड़ताल की|थाना मऊदरवाजा क्षेत्र के सूफी खां निवासी राजाबाबू पुत्र रामप्रकाश की शहर कोतवाली क्षेत्र के सेठ गली नीम वाली गली बैंक ऑफ बडौदा के निकट सराफा कारीगर की शान्या ज्वैलर्स के नाम से दुकान है| राजाबाबू ने बताया कि रविवार को वह दुकान की सफाई करने के लिये आये थे| दोपहर को सफाई करके दुकान बंद कर दी| सोमवार को वह अपने साले तिकोना निवासी अनुज के साथ दुकान पर आये और काम निपटा कर कुछ देर बाद ही चले गये |
बुधवार को जब सुबह वह दुकान खोलने आये तो देखा की तोजोरी खुली पड़ी है| तिजोरी में रखा लगभग तीन लाख का सोना व चार लाख की चांदी गायब थी| राजाबाबू के अनुसार चोर दुकान के सामने लाला रामभरोसे सराफा के खाली पड़े मकान पर चढ़े और छज्जे से राजाबाबू की दुकान की ऊपरी मंजिल का जंगला काटकर अंदर प्रवेश कर गये| उसके बाद लगभग ऊपर से जीने से दुकान व तिजोरी तक आने के लिये लगभग एक दर्जन ताले तोड़े गये| घटना की सूचना पर सराफा यूनियन नेता हरीशचन्द्र के साथ ही साथ सीओ शरद चन्द्र शर्मा, कोतवाल अनूप निगम व फिल्ड यूनिट की टीम ने जाँच पड़ताल की| अभी पुलिस को यह साफ नही हो पाया है की चोरी सोमबार की रात हुई या मंगलवार की रात| पुलिस ने तहरीर मिलने पर अज्ञात चोरो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है|
चोरों की गर्दन तक पंहुचा सकता है है बैंक का सीसीटीवी
जिस गली में दुकान से चोरी हुई उसके जाने के दो रास्ते है| एक रास्ते रात में ताला पड़ जाता है| घटना वाली रात भी ताला बंद था| चोर सेठ गली से बैक ऑफ बडौदा होते हुते हुये दुकान तक गये| बैंक गेट पर सीसी टीवी कैमरा है| पुलिस को पक्का यकीन है कि यदि चोर इधर से ही गुजरे तो वह सीसीटीवी में नजर आयेंगे| कोतवाल ने बताया की सोमवार व मंगलवार की सीसीटीवी पुलिस खंगालेगी| यदि उसमे कुछ मिला तो आरोपी जल्द पकड़ में होंगे|
फिल्ड यूनिट को मिले निशान
फिल्ड यूनिट की टीम ने खोली गयी तिजोरी व उसके आस-पास नमूने लिये| जाँच के दौरान उन्हें कुछ अँगुलियों के निशान मिले है| जिनके सहारे पुलिस आरोपी तक पंहुचने का प्रयास कर रही है| वही पुलिस को किसी करीबी के ही घटना में शामिल होने का शक है| क्योकि जिस तिजोरी को खोला गया उसका एक कोड नम्बर है वह नम्बर चोर को पता कैसे चला| पुलिस इस बिंदु पर भी जाँच कर रही है|

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-